गर्भावस्था में डाइट चार्ट – Pregnancy Diet chart in Hindi

गर्भावस्था में डाइट चार्ट - Pregnancy Diet chart in Hindi
Written by Akansha

Pregnancy Diet chart in Hindi गर्भावस्था के समय गर्भवती महिलाओं को यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता होती है कि उनका आहार बच्चे को ठीक से विकसित होने और बढ़ने के लिए पर्याप्त पोषक तत्व और ऊर्जा प्रदान कर पा रहा है या नहीं। उन्हें यह भी सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि जो बदलाव उनके शरीर में हो रहा है, उससे निपटने के लिए उसका शरीर काफी स्वस्थ है की नहीं। क्योकि एक स्वस्थ गर्भावस्था के लिए, माँ के आहार को संतुलित और पौष्टिक बनाने की आवश्यकता होती है जिसके लिए इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और वसा का सही संतुलन शामिल होना चाहिए, और सब्जियों, और फलों जैसे विभिन्न प्रकार के पौधों का सेवन करना भी बहुत जरुरी है।

इसलिए आज इस लेख में हम आपको गर्भावस्था में आपको क्या आहार लेना और आपको पहली दूसरी और तीसरी तिमाही में क्या आहार लेना है उसे डाइट चार्ट के माध्यम से बतायेंगे।

  1. गर्भावस्था की पहली तिमाही में क्या खाएं और क्या ना खाएं – 1st Trimester Of Pregnancy What To Eat & What To Avoid in hindi
  2. गर्भावस्था की दूसरी तिमाही में क्या खाएं और क्या ना खाएं – 2nd Trimester Of Pregnancy What To Eat & What To Avoid in hindi
  3. गर्भावस्था की 3 तिमाही में क्या खाएं और क्या ना खाएं – 3rd Trimester Of Pregnancy What To Eat & What To Avoid in hindi

गर्भावस्था की पहली तिमाही में क्या खाएं और क्या ना खाएं – 1st Trimester Of Pregnancy What To Eat & What To Avoid in Hindi

यदि आप पहले सप्ताह में ही गर्भावस्था के शुरुआती संकेतों को नोटिस कर लेती हैं, तो अब आपको उस भोजन के बारे में भी सोचना चाहिए जो आपको खाना चाहिए और उस भोजन के बारे में भी जो आपको गर्भावस्था के पहले तिमाही में खाने से बचना चाहिए।

प्रेगनेंसी के पहले महीने में क्या खाना चाहिए – 1st month pregnancy diet in Hindi

प्रेगनेंसी के पहले महीने में क्या खाना चाहिए - 1st month pregnancy diet in Hindi

पहले महीने के लिए जिन खाद्य पदार्थों को आपको अपने आहार में शामिल करने की आवश्यकता है उनमें शामिल है कुछ हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक और शतावरी, फल जैसे संतरे, आम और अनार और दालें जैसे मसूर की दाल, सेम और मटर हैं। ये खाद्य पदार्थ आवश्यक पोषक तत्वों, विटामिन और खनिजों के अच्छे स्रोत माने जाते हैं।

अनपाश्चुरीकृत पनीर और कच्चे दूध के उत्पादों का सेवन करने से बचें।

गर्भावस्‍था के दूसरे महीने में क्या खाएं – 2nd month pregnancy diet in Hindi

गर्भावस्था के दूसरे महीने में गर्भवती महिला के लिए एक और महत्वपूर्ण चरण की शुरुआत होती है। यह तब होता है जब भ्रूण तंत्रिका ट्यूब को विकसित करना शुरू कर देता है, जो बाद में मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी में बदल जाता है। इसलिए फोलेट और आयरन से भरपूर भोजन अवश्य लें। इसमें आप हरी पत्तेदार सब्जियों, एवोकाडो और नट्स का विकल्प चुन सकती हैं।

पैकेज्ड फूड, कच्चे अंडे, कच्ची मछली और प्रोसेस्ड मीट का सेवन करने से बचें।

प्रेगनेंसी के तीसरे महीने में क्या खाना चाहिए – 3rd month pregnancy diet in Hindi

गर्भावस्था के तीसरे महीने में आते ही शिशु के विकास के लिए एक उचित आहार योजना बनाना और उसे लेना वास्तव में बहुत ही महत्वपूर्ण है। गर्भावस्था के तीसरे महीने के दौरान एक संपूर्ण संतुलित आहार में अंडे, हरी पत्तेदार सब्जियां और फल जैसे खाद्य पदार्थ शामिल होते हैं। अपने आहार में कार्ब्स के स्रोत के रूप में साबुत अनाज को शामिल करना जरुर सुनिश्चित करें।

जंक फूड, टिनडेड फूड और अनपश्चराइज्ड दूध का सेवन करने से बचें।

(और पढ़े – गर्भावस्‍था के पहली तिमाही में क्‍या खाना चाहिए और क्‍या नहीं…)

गर्भावस्था की पहली तिमाही का डाइट चार्ट – Pregnancy diet chart for first trimester in Hindi

Monday

Breakfast – रामदाना दलिया, तरबूज के बीज के साथ, नारियल पानी

Snacks – चीकू

Lunch – सोया और आलू करी, भिन्डी की सब्ज़ी, दही , चपाती / चावल

Snacks – नींबू पानी, मिश्रित नट्स और, किशमिश

Dinner – मूंग दाल, अरबी और, मेथी की सब्ज़ी, चपाती / चावल

Tuesday

Breakfast – हरा चना (हरी मूंग अंकुरित), परांठे, छाछ

Snacks – केला

Lunch – पालक मक्का करी, आलू और गोभी, की सब्ज़ी, चपाती / चावल

Snacks – जल जीरा, रेवड़ी

Dinner – मटर पुदीना सूप, पास्ता के साथ टमाटर सॉस

Wednesday

Breakfast – मशरूम, पूरे गेहूं का टोस्ट, केले का मिल्कशेक

Snacks – पपीता

Lunch –  मिश्रित (मिलीजुली) दाल, गाजर और मटर की सब्ज़ी, दही, बाजरे की रोटी

Snacks – आम पन्ना, भुना हुआ, मूंगफली

Dinner – कढ़ी, जीरा आलू की  सब्ज़ी, चपाती / चावल

Thursday

Breakfast – टमाटर खीरा सैंडविच पुदीने की  चटनी के साथ, अनानास रस

Snacks – सेब

Lunch – काले चने (उड़द) की दाल, बैंगन का भर्ता, दही, चपाती / चावल

Snacks – नारियल पानी, भुने हुए, चने

Dinner – पालक पनीर, खस्ता कमल का तना, (कमल काकड़ी), ज्वार के आटे की रोटी

Friday

Breakfast – सूजी का चीला, मिश्रित सब्जियों के साथ, चाय

Snacks – तरबूज

Lunch – मसूर की दाल मेथी और आलू की सब्ज़ी, चुकंदर सलाद, चपाती / चावल

Snacks – भारतीय करौंदा या आंवला का रस, उबले हुए हरा चने (हरि मूंग) अंकुरित

Dinner – राजमा, करेले की सब्जी, दही, चपाती / चावल

Saturday

Breakfast – साबूदाना, मूंगफली उपमा, मौसम्बी का रस

Snacks – अंगूर

Lunch – सरसों, का साग, गुड़ और दही, मिश्रित आटा (मिस्सी) रोटी

Snacks – लस्सी, भुना हुआ मकई (भुट्टा)

Dinner – काले चने की करी, शिमला मिर्च और, फूलगोभी की सब्ज़ी बाजरा (रागी), रोटी

Sunday

Breakfast – मसाला डोसा के साथ सांभर और, नारियल की चटनी, अदरक वाली चाय

Snacks – आम

Lunch – सब्जी की खिचड़ी, प्याज और पुदीना रायता, भुने हुए पापड़

Snacks – अनार का रस, ओट्स उपमा

Dinner – मटर और आलू, करी, कद्दू की सब्ज़ी, पूड़ी

गर्भावस्था की दूसरी तिमाही में क्या खाएं और क्या ना खाएं – 2nd Trimester Of Pregnancy What To Eat & What To Avoid in Hindi

गर्भावस्था की दूसरी तिमाही भी शुरुआती महीनों की तरह ही महत्वपूर्ण होती है। दूसरी तिमाही के दौरान भी इस पर बहुत ध्यान दिया जाना चाहिए की एक स्वस्थ आहार बनाए रखना उन महत्वपूर्ण चीजों में से एक है, जिन पर आपको गर्भावस्था के इस चरण में ध्यान केंद्रित करना चाहिए। यहां हम आपको एक डाइट प्लान बता रहे है जिसे आपको गर्भावस्था के अगले तीन महीनों के दौरान पालन करने की आवश्यकता है।

प्रेगनेंसी के चौथे महीने में क्या खाना चाहिए – 4th month pregnancy diet in hindi

प्रेगनेंसी के चौथे महीने में क्या खाना चाहिए - 4th month pregnancy diet in hindi

गर्भावस्था के चौथे महीने के दौरान, आपको अपने दैनिक आहार में ताजे पानी की मछली, अंडे और मौसमी फल जैसे खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए। इस स्तर पर बच्चे के उचित विकास के लिए आहार सभी तरह के आवश्यक घटक होने चाहिए।

आप यह भी सुनिश्चित करें कि गर्भावस्था के इस चरण के दौरान सूखे मेवे और नरम पनीर जैसे खाद्य पदार्थों को लेने से बचें।

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में आहार – 5th month pregnancy diet in Hindi

गर्भावस्था का पांचवा महीना शिशु के विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप ऐसे भोजन का सेवन करें जो शिशु और आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा हो। गर्भावस्था के पांचवें महीने में कुछ खाद्य पदार्थ जिन्हें आपको अपने आहार में शामिल करना चाहिए, वे हैं फल, सब्जियां और आवश्यक प्रोटीन स्रोत। कार्बोनेटेड खाद्य पदार्थों का सेवन, धूम्रपान करने और शराब पीने से बचें

प्रेगनेंसी के ६ मंथ में क्या खाना चाहिए – 6th month pregnancy diet in Hindi

गर्भावस्था के इस चरण में, आपका पेट भी दिखना शुरू हो जाता है। यह वह समय है जब आपके बच्चे के पोषण की आवश्यकता बहुत बढ़ जाती है। कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन और आवश्यक खनिजों के अपने सेवन को बढ़ाना सुनिश्चित करें। कैफीन के सेवन से बचें और मसालेदार भोजन से दूर रहें।

(और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान खाये जाने वाले आहार और उनके फायदे…)

प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही का डाइट चार्ट – Pregnancy diet chart for third trimester in Hindi

Monday

Breakfast – तिल आलू, पूरे गेहूं का टोस्ट, आम मिल्कशेक

Snacks – अंगूर

Lunch – मूंग की दाल, बीन्स की  सब्ज़ी, दही, प्याज का परांठा

Snacks – नींबू पानी मकई (मक्का) चाट

Dinner – मिक्स्ड वेजिटेबल, खिचड़ी, पुदीना रायता, भुने हुए पापड़

Tuesday

Breakfast – बेसन चीला, पुदीना धनिया की चटनी, छाछ

Snacks – सेब

Lunch – सोया करी, तोरी की सब्ज़ी, अनार रायता, चपाती / चावल

Snacks – नारियाल पानी, चपटा चावल (पोहा) के साथ मिश्रित सब्जियां

Dinner – मसूर की दाल, टिंडा की सब्जी, मूली गजर, सलाद, रागी रोटी

Wednesday

Breakfast – टूटा हुआ गेहूं का दलिया, अखरोट किशमिश और दूध के साथ

Snacks – चीकू

Lunch – मसालेदार छोले, भिन्डी की सब्ज़ी, दही, कुलचा / पाव

Snacks – आम पन्ना, अखरोट

Dinner – मशरूम और मटर की करी, करेले की सब्जी, चपाती / चावल

Thursday

Breakfast –  पनीर सैंडविच, संतरा का रस

Snacks – तरबूज

Lunch – मिलीजुली दाल, बैंगन की सब्जी, खीरा रायता

Snacks – जल जीरा, गाजर और खीरे की फांक

Dinner – सोया चंक्स करी, मेथी आलू की  सब्ज़ी, चपाती / चावल

Friday

Breakfast – ओट्स उपमा, सेम और मूंगफली के साथ नारियल पानी

Snacks –  पपीता

Lunch – अरहर / तुअर की दाल, चुकंदर की सब्जी, प्याज का रायता, चपाती / चावल

Snacks – सत्तू ड्रिंक

Dinner – लौकी कोफ्ता करी, बीन्स की सब्ज़ी, मिश्रित आटा (मिस्सी) रोटी

Saturday

Breakfast – रवा इडली के साथ गाजर,नारियल की चटनी, कॉफ़ी

Snacks – केला

Lunch – पालक पनीर करी, कमल काकड़ी की सब्ज़ी, चपाती / चावल

Snacks – बादाम का दूध, मखाने

Dinner – लोबिया, कद्दू की सब्जी, दही, चपाती / चावल

Sunday

Breakfast – मेथी के परांठे, लस्सी

Snacks – मौसंबी जूस

Lunch – राजमा फूलगोभी और मटर की सब्ज़ी, दही, जीरा चावल

Snacks – नींबू पानी बादाम अखरोट और किशमिश

Dinner – मूंग की दाल, हरी प्याज और आलू की सब्ज़ी, चपाती / चावल

गर्भावस्था की 3 तिमाही में क्या खाएं और क्या ना खाएं – 3rd Trimester Of Pregnancy What To Eat & What To Avoid in hindi

गर्भावस्था के अंतिम तीन महीने शिशु के विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण चरण होते हैं। गर्भावस्था के इस चरण में अपने और बच्चे के लिए उचित पोषण होना आवश्यक है। इस चरण में आपको स्वस्थ आहार को बनाए रखने के लिए डाइट चार्ट पता होना चाहिए।

गर्भावस्था के सातवें महीने में आहार – 7 month pregnancy diet in Hindi

गर्भावस्था के सातवें महीने में आहार - 7 month pregnancy diet in Hindi

यह गर्भावस्था का एक बहुत ही महत्वपूर्ण चरण है। इस स्तर पर, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप अपने बच्चे को सबसे अच्छा पोषण दें ताकि वह अंतिम चरण के लिए तैयार हो जाए। बहुत सारा पानी पीना सुनिश्चित करें ताकि आपके शरीर से अतिरिक्त तरल पदार्थ निकल सके। आयरन, मैग्नीशियम और कैल्शियम से भरपूर आहार लें। सोडियम और उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचें। शराब के सेवन से बचें।

प्रेगनेंसी के 8 वें महीने में क्या खाना चाहिए – 8 month pregnancy diet in Hindi

जैसे जैसे आप अपनी तीसरी तिमाही के अंत के करीब आती हैं, आपको इस बारे में सतर्क रहने की जरूरत है कि आप अपने बच्चे को सही आहार दे रही है या नहीं। हो सकता है कि आपको इस अवस्था में भूख न लगे। हालांकि, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप केवल उन खाद्य पदार्थों को लें जो आपके और आपके बच्चे के लिए स्वस्थ हों। इस अवस्था में फल, सब्जियां और आयरन युक्त भोजन लें। अधपके अंडे, कच्ची मछली और अनपचुरेटेड दूध जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचें।

9वें महीने के लिए स्वस्थ गर्भावस्था आहार – 9 month pregnancy diet in Hindi

गर्भावस्था के अंतिम महीने में फोलिक युक्त प्राकृतिक भोजन ही लें। सुनिश्चित करें कि आप अपने शरीर को पर्याप्त आयरन और विटामिन सी का आहार दें। नरम चीज, कैफीन और शराब जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचें।

(और पढ़े – गर्भावस्था में आहार जो देगा माँ और बच्चे को पूरा पोषण…)

गर्भावस्था की तीसरी तिमाही का डाइट चार्ट – 3rd Trimester Of Pregnancy Diet Chart in Hindi

Monday

Breakfast – ओट्स दलिया, शहद के साथ सेब का रस

Snacks – चीकू

Lunch – आलू और प्याज का परांठा, दही, धनिया और पुदीना की चटनी

Snacks – आम पन्ना, अंकुरित, हरा चना, (हरी मूंग) चाट

Dinner – सोया और मशरूम करी भिन्डी की सब्ज़ी, खीरा और, गाजर सलाद, चपाती / चावल

Tuesday

Breakfast – ग्रिल्ड किया हुआ पनीर सैंडविच, चाय

Snacks – अमरुद

Lunch – राजमा करी, शिमला मिर्च और फूलगोभी की सब्ज़ी, खीरा का रायता, चावल

Snacks – बादाम दूध

Dinner – मसूर की दाल, बीन्स की सब्ज़ी, चपाती / चावल

Wednesday

Breakfast – गेहूं का दलिया, खजूर और दूध के साथ

Snacks – अंगूर

Lunch – आलू और मटर  करी, कद्दू की सब्ज़ी, चपाती

Snacks – छाछ, ढोकला

Dinner – पालक का साग, परांठा, चुकंदर रायता

Thursday

Breakfast – साबूदाना उपमा, मूंगफली के साथ, कॉफ़ी

Snacks – अंजीर

Lunch – सब्जी की खिचड़ी, अनार रायता भुने हुए पापड़

Snacks – नारियल पानी, भुना हुआ मकई (भुट्टा)

Dinner – लौकी कोफ्ता करी, कमल काकड़ी की सब्ज़ी, बाजरा रोटी

Friday

Breakfast – सूजी और मिश्रित, सब्जी चीला, छाछ

Snacks – आम

Lunch – उड़द दाल, टिंडे की सब्ज़ी चने का आटा (बेसन) की रोटी

Snacks – अनानास लस्सी, भुने हुए मुरमुरे के साथ मूंगफली

Dinner – काला, चना करी, मटर पुलाव, प्याज और टमाटर रायता

Saturday

Breakfast – मेथी के परांठे, लस्सी

Snacks – पपीता

Lunch – मूंग दाल, गाजर और मटर की सब्ज़ी, चपाती / चावल

Snacks – जल जीरा, शकरकंद की चाट

Dinner – लोबिया करी, मूली की सब्जी, बथुआ रोटी, दही

Sunday

Breakfast – पूरे गेहूं का टोस्ट, मशरूम के साथ, केला मिल्कशेक

Snacks – अनार

Lunch – छोले की सब्जी, करेले की सब्ज़ी, प्याज, टमाटर और खीरा रायता, चपाती / चावल

Snacks – नींबू पानी, मिश्रित नट और किशमिश

Dinner – पास्ता में टमाटर सॉस, भाप से पकी हरी फूल गोभी की फांक

नोट – आप अपने डॉक्टर के निर्देशानुसार अपने ब्रेकफास्ट और डिनर में मांस, मछली, चिकन आदि भी शामिल कर सकती है।

(और पढ़े – गर्भावस्था के लिए बेस्ट ड्राई फ्रूट्स और उनके फायदे…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration