शकरकंद के फायदे और नुकसान – Sweet Potato (Shakarkandi) benefits and side effects in hindi

शकरकंद के फायदे और नुकसान - Sweet Potato (Shakarkandi) benefits and side effects in hindi
Written by Sneha

Sweet Potato benefits in hindi जैसे सब्जियों का राजा आलू माना जाता है और आलू लोगों में बहुत लोकप्रिय भी है। ऐसे ही आप सबने एक नाम और सुना होगा जो लोगों में बहुत ही पसंदीदा है और उसका नाम है शकरकंद (स्वीट पोटैटो)। शकरकंद अपने स्वाद के कारण लोगों में बहुत ही ज्यादा पसंदीदा है। आज आप जानेंगे शकरकंद खाने के फायदे और नुकसान के बारें में (Shakarkandi ke fayde aur nuksan in hindi)।

इसे आप कच्चा और पक्का कर दोनों रूप में खा सकते हैं। कुछ लोग इसे आग में पकाते हैं और उसके बाद खाते हैं। इसकी बहुत सारी किस्म आप को दुनिया भर में आसानी से मिल जाएंगे। जो शकरकंद लाल किस्म के होते हैं उसके गूदे सूखे और ठोस होते हैं और जो शकरकंद सफेद और पीले रंग के होते हैं। उनके गूदे के अंदर बहुत ज्यादा रस होता है। जो शकरकंद (Sweet Potato) लाल किस्म के होते हैं उनकी खुशबू अलग ही होती है। जब आप उन्हें उबाल कर खाते हैं तो आपको और भी ज्यादा पोषक तत्व मिल जाते हैं। इसके अंदर बीटा कैरोटीन की मौजूदगी होती है। चलिए आज हम आपको शकरकंद के फायदे और नुकसान दोनों के बारे में विस्तारपूर्वक बताते हैं।

शकरकंद के फायदे Sweet Potato ke fayde in hindi

शकरकंद के फायदे – Sweet Potato ke fayde in hindi

शकरकंद के फायदे मधुमेह के उपचार में Sweet potato for diabetes in hindi

जैसा कि हम सब जानते हैं कि जिन्हें डायबिटीज (diabetes) की प्रॉब्लम होती है उन्हें मीठी चीज नहीं खानी चाहिए। परंतु आपको जानकर हैरानी होगी कि मीठा आलू डायबिटीज वालों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यह शरीर में उचित स्त्राव और कार्य में काफी सहायक होता है। जिसकी वजह से रक्त शर्करा (Blood sugar) का स्तर हमेशा संतुलित रहता है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों के लिए यह बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। अगर आप चाहे तो आप कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन या चावल की जगह इसका इस्तेमाल करें तो आपके शरीर को इससे कोई नुकसान नहीं होगा।

शकरकंद के फायदे पेट के अल्सर के उपचार में – Sweet potato for stomach ulcer in hindi

स्वीट पोटैटो पेट और आंतों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके अंदर बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं। जैसे कि विटामिन बी कॉन्प्लेक्स, विटामिन सी, कैरोटीन, पोटेशियम, बीटा कैरोटीन और कैल्शियम इत्यादि। इसकी वजह से आपके पेट में अगर अल्सर (stomach ulcer ) है तो वह भी ठीक हो जाएगें। अगर आप शकरकंद खाते हैं तो इससे आपको कब्ज और एसिडिटी की भी शिकायत नहीं रहेगी। इसकी वजह से आपको अल्सर होने की संभावना भी कम हो जाएगी।

(और पढ़े – एसिडिटी के कारण, लक्षण और बचाव के घरेलू उपाय)

शकरकंद खाने के फायदे हाइड्रेटेड रखने में – Shakarkandi ke fayde hydrate rakhne me

स्वीट पोटैटो के अंदर फाइबर (Fiber) होता है। जिसकी वजह से शरीर में पानी की कमी  (डिहाइड्रेशन) कभी भी नहीं होती है। शकरकंद पानी की मात्रा को बनाए रखने में सहायक होता है। इसके अलावा यह आपके शरीर में हाइड्रेट बनाए रखने में और आपकी कोशिकाओं को अच्छे से काम करने में मदद करता है।

(और पढ़े – डिहाइड्रेशन से बचने के घरेलू उपाय)

शकरकंद खाने के फायदे वजन बढ़ाने में – Sweet potatoes for weight gain in hindi

अगर आप चाहते हैं कि आपके शरीर में वजन की मात्रा बढ़ जाए तो इसके लिए शकरकंद बहुत ही अच्छा भोजन है। क्योंकि इसके अंदर बहुत ही अच्छी मात्रा में स्टार्च होता है और इसके अलावा इसमें विटामिन, खनिज और कई तरह के प्रोटीन भी पाए जाते हैं। शकरकंद बहुत ही आसानी से पच भी जाता है और आपको अधिक उर्जा भी देता है। इसलिए यह वजन बढ़ाने (Weight gain) में भी काफी सहायक होता है।

शकरकंद खाने के फायदे प्रतिरक्षा प्रणाली की मजबूती में – Sweet potatoes for immunity in hindi

आपको विटामिन बी कॉन्पलेक्स, आयरन, विटामिन सी और फ़क़स्फरोस मिलता है। जिसकी वजह से आपके अंदर रोगों से लड़ने की शक्ति भी बढ़ जाती है। अगर आप इसका सेवन सही मात्रा में करते हैं तो आपके शरीर में जितनी भी बीमारियां हैं वह सब शकरकंद की वजह से दूर हो जाती है।

शकरकंद खाने के फायदे ब्रोंकाइटिस में – Sweet potato for bronchitis in hindi

ब्रोंकाइटिस जैसी बीमारी अगर किसी को है उसे शकरकंद जरूर खाना चाहिए। क्योंकि इसके अंदर विटामिन सी, आयरन और कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं। जिसकी वजह से यह बीमारी का खात्मा हो जाता है। अगर आप मीठा आलू खाते हैं तो यह आपके शरीर को गर्म रखता है जिसकी वजह से आपके शरीर का तापमान बराबर रहता है। अगर आपके फेफड़े में कफ जमा हुआ है तो यह उसे निकालने में भी मदद करता है।

(और पढ़े – ब्रॉन्काइटिस कारण लक्षण और बचने के उपाय)

शकरकंदी के फायदे पाचन में उपयोगी – Sweet potato for digestion in hindi

जो आप आम आलू खाते हैं उसके हिसाब से इस शकरकंद में फाइबर बहुत ही ज्यादा होता है। इसके अलावा इसके अंदर मैग्नीशियम भी होता है। जिसकी वजह से आपको पचाने में काफी सहायक करता है। शकरकंद के अंदर स्टार्च (Starch) पाया जाता है। इसलिए पचने में किसी भी तरह की परेशानी पैदा नहीं करता है। यह पेट और आंतों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।

स्वीट पोटैटो के फायदे कैंसर में – Sweet potato benefits for cancer in hindi

अगर आप चाहते हैं कि आप अन्य बीमारियों के साथ-साथ कैंसर जैसी भयानक बीमारी से भी बचे रहे, तो उसके लिए आपको शकरकंद अपने रोजाना जिंदगी में इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। क्योंकि इसके अंदर बीटा-कैरोटीन एंटीऑक्सीडेंट (Anti-Oxidants ) और एंटी कार्सिनोजेनिक (Carcinogenic) पदार्थ होते हैं। शकरकंद के फायदे से कैंसर जैसी बीमारियों से भी आप को राहत मिल सकती है।

शकरकंद खाने के फायदे गठिया के उपचार में – Sweet Potato for arthritis in hindi

यह बात हम सब जानते हैं कि इंसान को किसी न किसी तरह की बीमारी घेरे ही रहती है। आपको इस दुनिया में कोई भी ऐसा इंसान नहीं मिलेगा, जिससे कोई भी बीमारी ना हो। उन्हीं में से एक बीमारी लोगों को आम समस्या की तरह घेरे रहती है, वह बीमारी है गठिया (Arthritis) की बीमारी। अगर आपको गठिया की बीमारी है यानि कि आपको जोड़ो में दर्द रहता है तो जिस पानी में आप शकरकंद को उबालते हैं। उस पानी को जोड़ो पर लगाएं। शकरकंद के फायदे से आपको गठिया का दर्द भी कम हो जाएगा और उसके दर्द से काफी राहत भी मिलेगी।

(और पढ़े – गठिया (आर्थराइटिस) कारण लक्षण और वचाब)

शकरकंद के लाभ अस्थमा के लिए – Sweet Potato ke fayde asthma me

अगर आपके स्वाश नली और फेफड़ों में कफ जमा है। तो उसके लिए आपको शकरकंद का सेवन करना चाहिए। इसके इलावा आपको अस्थमा जैसी बीमारी से भी राहत दिलाने में शकरकंद के फायदे बहुत ही मददगार साबित होता है।

शकरकंद के नुकसान – shakarkandi ke nuksan in hindi

शकरकंद के नुकसान - shakarkandi ke nuksan in hindi

  • ज्यादा शकरकंद खाने से आपके गुर्दे में पथरी होने का भी खतरा बढ़ जाता है। क्योंकि इसके अंदर आपको ऑक्सलेट, कैल्शियम-ऑक्सलेट मिलता है जिसकी वजह से आपके गुर्दे में पथरी बनने की संभावना बढ़ जाती है।
  • शकरकंद उन लोगों को नहीं खाना चाहिए जिनके गुर्दे खराब है। ऐसे लोगों को शकरकंद डॉक्टर के परामर्श लेने के बाद ही खाना चाहिए।
  • कुछ लोगों को पेट दर्द की शिकायत हमेशा ही बनी रहती है या फिर उनका पेट बहुत ही जल्दी खराब हो जाता है। ऐसे लोगों को शकरकंद का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • शकरकंद को मैनिटोल युक्त पदार्थ भी कहा जाता है। अगर आपको मैनिटोल युक्त पदार्थ से एलर्जी है तो आपको इसका सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration