रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय – Increase Immunity power in Hindi

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय - Increase Immunity power in Hindi
Written by Pratistha

अक्सर आपने लोगो से ये कहते सुना होगा की मेरी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है या कम होती जा रही है आखिर ऐसा क्या है रोग प्रतिरोधक क्षमता में जिससे हमें इसकी इतनी अधिक जरुरत पढ़ती है आपने देखा होंगा कि, समान परिस्थिति में भी कुछ व्यक्ति अक्सर जल्दी बीमार हो जाते है तो वहीं कुछ व्यक्ति अच्छी रोग प्रतिरोधक शक्ति होने की वजह से लम्बे समय तक बीमार नहीं होते है। इसके पीछे का कारण यह है की हमारे शरीर के आस पास हर समय बैक्टीरिया (Bacteria) और वायरस (Virus) मौजूद होते है। और हमारे शरीर कि रोग प्रतिरोधक शक्ति (Immune System) इन खतरनाक बैक्टीरिया और वायरस से हमारे शरीर कि रक्षा करती है। इसलिए आपको रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय जानना बहुत जरुरी हो जाता है।

वैसे तो रोग प्रतिरोधक क्षमता (immune system) हर रोग के खिलाफ लड़ने में बहुत ही अच्छा कार्य करती है। लेकिन कभी कभी इसके कार्य करने की क्षमता कम होती चली जाती है जिस वजह से रोगाणु बैक्टीरिया और वायरस हमारे शरीर में प्रवेश करने लगते है और हम गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाते हैं।

हमारे शरीर कि रोग प्रतिरोधक क्षमता कई चीजो पर निर्भर करती है जैसे कि हमारा खान-पान और हमारी जीवनशैली। तो आज हम आपको रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय और स्वस्थ जीवनशैली से संबंधित कुछ ज़रूरी जानकारी देने वाले हैं।

हमारे शरीर की रोग रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय निचे दिए गए है:

1. रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या होती है – What is  immunity in hindi
2. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय – How to increase immunity in Hindi
3. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए अपनाएं उचित दिनचर्या – Lifestyle to increase the immunity
4. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आहार -Immunity Boosting Foods in Hindi

रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या होती है – What is  immunity in Hindi

रोग प्रतिरोधक क्षमता (immune system) का मतलब होता है हमारे शरीर को किसी भी बाहरी कारक से बचा के हमे स्वस्थ्य बनाये रखने के लिए शरीर के अंदर जो रक्षा प्रणाली होती है उसे ही हम रोग प्रतिरोधक क्षमता (immune system) कहते है और अगर आपका इम्यून सिस्टम (immune system) सही है तो आपको छोटे मोटे रोगों से कोई परेशानी नहीं होगी और होती भी है तो एक दो दिन में आप ठीक हो जाते है।

लेकिन अगर आपको मौसम के साथ होने वाले जुकाम और मौसम बदलने के साथ ठीक नहीं रहने की समस्या होती है या आपको थोड़े से काम करने से थकान और आलस महसूस होता है तो आप कह सकते है कि हो सकता है मेरा इम्यून सिस्टम दुरुस्त नहीं हो। इसलिए आज हम इस बारे में कुछ बात करते है और जानते है कि कैसे आप रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity power) को कैसे बढ़ा सकते है –

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय – How to increase immunity in Hindi

असल में हमारे शरीर के immune system को सही से काम करने के लिए बहुत सारे पोषक तत्वों की जरुरत होती है आपने देखा होंगे कि, संतुलित आहार लेने वालो कि तुलना में कुपोषित बच्चे जल्दी बीमार पड़ जाते है। हमारे शरीर को सही से कार्य करने के लिए विटामिन , मिनरल के साथ एंटीओक्सिडेंट की जरुरत होती है औरअध्ययन के अनुसार फलों और सब्जियों को अधिक मात्रा में खाने वाले लोगो का प्रतिरक्षा तंत्र उन लोगो की तुलना में अच्छा होता है जो खाने में ज्यादा सब्जियां और फल नहीं खाते है।  शरीर कि रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने के लिए Zinc, Iron, Selenium, Copper, Folic acid और Vitamin A, B6, C, E जैसे Micro-nutrients और Anti-Oxidants कि जरुरत होती है।

1. सही आहार से बढ़ाएं रोग प्रतिरोधक क्षमताDiet to Increase Immunity in Hindi

Anti-Oxidants: शरीर कि रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने के लिए योग्य प्रमाण में एंटीऑक्सीडेंट लेना जरुरी है। एंटीऑक्सीडेंट हमारे शरीर के ख़राब सेल को ठीक करते है और बुढ़ापे को दूर भगाते है। आप निचे दिए हुए आहार लेकर या अपने डॉक्टर कि सलाह अनुसार एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन (Vitamin) युक्त दवा ले सकते है।

बीटा कैरोटीन(Beta Carotene)– यह खुबानी (Apricot), हरी फूलगोभी (Broccoli), चुकंदर (Beet), पालक (Spinach), टमाटर (Tomatoes), मका (Corn) और गाजर (Carrots) में पाया जाता है।

सेलेनियम (Selenium)– यह जौ (Oats), प्याज (Onions), सूरजमुखी फूल के बीज (Sunflower seeds), मशरुम (Mushroom), भूरे चावल (Brown Rice), अंडा (Eggs), मछली (Fish) और मटन (Meat) में पाया जाता है। यह कई प्रकार के Cancer से शरीर को बचाने में मदद करता है।

विटामिन A– यह शक्कर कंद (Sweet Potato), गाजर (Carrots),  खुबानी (Apricot), हरी सब्जिया (Green Vegetables), लाल मिर्च (Red Pepper), Cantaloupe (खरबूजा) में अधिक पाया जाता है।

Vitamin B2–  यह पालक (Spinach), बदाम (Almonds), सोयाबीन (Soyabeans), मशरूम (Mushroom), गाय का दूध (Cow’s Milk) में पाया जाता है।

विटामिन B6– यह पालक (Spinach), केला (Banana), आलू (Potato),  सूरजमुखी फूल के बीज (Sunflower seeds) में पाया जाता है।

Vitamin C– यह संत्रा (Oranges), टमाटर (Tomatoes), पपीता (Papaya), स्ट्रॉबेरी (Strawberry), पत्तागोभी (Cauliflower) में पाया जाता है।

विटामिन E– यह  गाजर (Carrots), पपीता (Papaya),  पालक (Spinach), सूरजमुखी फूल के बीज (Sunflower seeds), बादाम (Almonds) में पाया जाता है।

Vitamin D– यह दूध (Milk),  मशरूम (Mushroom), अंडा (Eggs), सालमन (Salmon), सार्डिन मछली (Sardines) में पाया जाता है।

जिंक Zinc– यह लौकी के बिज (Pumpkin seeds), तिल (Sesame seeds),  जौ (Oats), दही (Yogurt), झींगा (Shrimp),  ऑयस्‍टर (कस्तूरी या सीप) (Oysters), मटन (Meat) में पाया जाता है।

2. पानी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए – Drink Water to increase  immunity in Hindi

पानी / Water – दिन भर में कम से कम 8 ग्लास पानी लेना चाहिए। सही और निरंतर अन्तराल में पानी पिने से शरीर को बल प्राप्त होता है और पाचन ठीक से होता है। पानी शरीर के अनावश्यक पदार्थो को शरीर से बाहर निकलता है।इसलिए खाने के साथ अपने पानी पीने पर भी ध्यान दें।

(और पढ़े – पानी पीने का सही समय जानें और पानी पीने के लिए खुद को प्रेरित कैसे करें)

3. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए अपनाएं उचित दिनचर्या – Lifestyle to increase the immunity in Hindi

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आहार के साथ साथ हमारे दिनचर्या में बदलाव करना भी जरुरी है। अगर हम अपनी कुछ बुरी आदते बदल दे तो, कुछ बीमारियो से बच सकते है और अपनी रोग प्रतिकार शक्ति भी बढ़ा सकते है।

(और पढ़े – मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय)

4. वजन को नियंत्रण में रख बढ़ाएं इम्युनिटी पावर – Control Weight for Increase Immunity in Hindi

आज के युग में मोटापे कि समस्या ने चारो तरफ एक महामारी की तरह जल फेला लिया है। मोटापा आते ही वो अपने साथ कई गम्भीर बीमारियो को भी ले आता है। मोटापा असल में बिभिन्न बीमारियों का घर है और हर तरह की पेट से सम्बन्धित बीमारियों और थकान के साथ आलस की शिकायत उन लोगो में अधिक होती है जो जरुरत से ज्यादा मोटे होते है।

आपको बता दें कि मोटापे से होने वाली परेशानियों में से एक दिक्कत यह भी है कि मोटापे की वजह से श्वेत रक्त  सेल्स (white blood cells) बनने में समस्या आती है और वो बढ़ नहीं पाती है white cells हमारे शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करती है और कुछ जरुरी एंटीबाडीज के निर्माण में भी मोटापा परेशानी बनता है इसलिए आपको सबसे पहले अपने मोटापे के बारे में सोचे और उसके बाद रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) को बढ़ाने के बारे में ध्यान दें।

(और पढ़े – तेजी से वजन घटाने के तरीके)

5. शरीर की रोग रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय गहरी वाली नींद लें  – good Sleep for Increase immunity in Hindi

दिन भर काम करने के बाद आपके मन और शरीर के लिए रोजाना 7 से 8 घंटे कि नींद जरुरी है। जो लोग अपने मन और शरीर को पर्याप्त आराम देते है वे अधिक कार्यक्षम और निरोगी रहते है। पर्याप्त नींद के अपने फायदे है इस से आप खुद को फ्रेश महसूस करते है अभी हल ही के अध्यन से पता चला है की कम नीद के कारण मोटापे की समस्या सबसे जादा बढ़ रही है जो आपकी प्रतिरोधक शक्ति को भी प्रभावित करती है इसलिए काम के साथ साथ एक बेहतर नींद आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) के लिए वरदान साबित हो सकती है।

(और पढ़े – सोने का सही तरीका और उनके फायदे)

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आहार – Immunity Boosting Foods in Hindi

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर ग्रीन टी जो बढ़ाये इम्युनिटी – Green Tea for Increase Immunity in hindi

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर ग्रीन टी भी लाभप्रद है।

(और पढ़े – ग्रीन टी पीने के फायदे और नुकसान, बनाने की विधि)

रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए खाएं लहसुन – Garlic for Increase Immunity in hindi

लहसुन शरीर और दिमाग दोनों के लिए ही फायदेमंद है अपने खाने में रोजाना लहसुन का सेवन अवश्य रूप से करे।

(और पढ़े – जानिए लहसुन के चमत्कारी स्वास्थ्यवर्धक गुणों के बारे में)

प्रतिरोधक तंत्र मजबूत करे मशरूम – Mushroom for Increase Immunity in hindi

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए मशरूम का सेवन किया जाता है। इसमें सेलेनियम नामक मिनरल, एंटीऑक्सीडेंट तत्व ,विटमिन-बी, रिबोफ्लैविन और नाइसिन जैसे  तत्व पाए जाते हैं जो शरीर के इम्यून सिस्टम (Immune System) को सुचारू रूप से काम करने में मदद करता है।  प्रतिदिन मशरूम का सेवन सलाद, सूप आदि के रूप में करने से फायदा मिलता है।

(और पढ़े – मशरूम के फायदे और नुकसान)

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए च्यवनप्राश – Chyawanprash for Increase Immunity in hindi

आयुर्वेद के अनुसार रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए च्यवनप्राश का सेवन किया जाता है, इसको खाने से स्ट्रेस कम होता है, शरीर की कमजोरी दूर होती है आदि| इसके अतिरिक्त यह और भी कई परेशानिया जैसे भूख ना लगना से निजाद मिलती है।

(और पढ़े – च्यवनप्राश के फायदे उपयोग और नुकसान)

विटामिन सी से भरपूर फल से बढ़ाएं अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को – Fruit rich in vitamin ‘C’ for Increase Immunity

संतरे, स्ट्रॉबेरी और अनानास जैसे खट्टे फलो में विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है, इसलिए यह फल कई तरह से संक्रमणों से लड़ने में मदद करते है। इनसे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता सक्रिय होती है| इसीलिए रोजाना भोजन में खट्टे फलो का सेवन अवश्य करना चाहिए।

ऊपर आपने जाना रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय के बारे में आप दिए गए आहार, दिनचर्या और व्यायाम संबंधी सलाह का अनुकरण कर आप अपनी रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ा सकते है और साथ ही निरोगी और स्वस्थ जीवन का आनंद उठा सकते है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration