चुकंदर खाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ – Beetroot benefits and side effects in Hindi

चुकंदर खाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ - Beetroot benefits and side effects in Hindi
Written by Sneha

चुकंदर को ज्यादातर लोग इसके लाल रंग के कारण खून बढ़ाने के लिए उपयोग करते हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि चुकंदर जो कि एक सुपरफूड है कई तरह की बीमारियों को ठीक करने का कार्य करता है। चुकंदर का सेवन अक्सर लोग सलाद और जूस के रूप में करते हैं। आज हम आपको इस लेख में चुकंदर खाने के फायदे और उनसे होने वाले स्वास्थ्य लाभ के बारे में बताने वाले हैं।

चुकंदर आयरन का अच्छा स्रोत माना जाता है क्योंकि इसमें फोलिक एसिड पाया जाता है जो कि खून बढ़ाने के लिए आवश्यक होता है। इसके साथ ही इसमें बीटानिन (betanin) नामक पिगमेंट पाया जाता है जो इसे पिंक कलर प्रदान करता है। इसके साथ ही चुकंदर में नाइट्रेट, मैग्नीशियम, सोडियम, पोटेशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम, आयोडीन, विटामिन बी1, बी2 और विटामिन सी पाया जाता है इन सभी तत्वों के साथ चुकंदर एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्रोत माना जाता है।

चुकंदर (Beetroot) का उपयोग ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में, स्टेमिना बढ़ाने में मसल्स को मजबूत करने में और कई प्रकार के रोगों को दूर करने में किया जाता है आइए जानते हैं चुकंदर खाने के फायदे क्या है।

चुकंदर खाने के फायदे – Chukandar khane ke fayde in Hindi

चुकंदर खाने के फायदे – Chukandar khane ke fayde in hindi

हेल्‍थ को बेहतर बनाए रखने के लिए कुछ सुपर फूड्स खाने की सलाह दी जाती है। चुकंदर भी एक ऐसा ही सुपर फूड है जो हमें कई प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचाने में मदद कर सकता है। आइए जाने चुकंदर खाने के फायदे क्‍या हैं।

चुकंदर पोषण तथ्य – Beetroot nutrition facts in Hindi

Beetroot \चुकंदर में पाए जाने वाले पोषण संबंधी जानकारी को विस्तार से देखें

सिद्धांतपोषक मूल्यआरडीए का प्रतिशत
ऊर्जा45 कैल2%
कार्बोहाइड्रेट9.56 ग्राम7%
प्रोटीन1.61 ग्राम1%
कुल वसा0.17 ग्राम0.5%
कोलेस्ट्रॉल0 मिलीग्राम0%
फाइबर आहार2.80 ग्राम7%
विटामिन
folates109 ग्राम27%
नियासिन0.334 मिलीग्राम2%
पैंटोथैनिक एसिड0.155 मिलीग्राम3%
ख़तम0.067 मिलीग्राम5%
राइबोफ्लेविन0.057 मिलीग्राम4%
थायमिन0.031 मिलीग्राम2.5%
विटामिन ए33 आईयू1%
विटामिन सी4.9 मिलीग्राम8%
विटामिन ई0.04 मिलीग्राम0.5%
विटामिन K0.2 माइक्रोग्राम0%
इलेक्ट्रोलाइट्स
सोडियम78 मिलीग्राम5%
पोटैशियम325 मिलीग्राम7%
खनिज पदार्थ
कैल्शियम16 मिलीग्राम1.5%
तांबा0.075 मिलीग्राम8%
लोहा0.80 मिलीग्राम10%
मैगनीशियम23 मिलीग्राम6%
मैंगनीज0.329 मिलीग्राम14%
जस्ता0.35 मिलीग्राम3%
पादप पोषक तत्वों
कैरोटीन-ß20 माइक्रोग्राम
बीटेन128.7 मिलीग्राम
Lutein-zeaxanthin0 माइक्रोग्राम

चुकंदर के पौष्टिक महत्व के बारे में जाना। और अब चुकंदर के स्वास्थ्य लाभ के बारें में जानते है

चुकंदर खाने के फायदे रक्तचाप को कम करने में – Benefits of  beetroot reducing blood pressure in Hindi

रक्तचाप को कम करने के लिए चुकंदर खाना बेहद लाभदायक माना जाता है। क्योंकि चुकंदर मैं सोडियम और वसा कम होती है जो उच्च रक्तचाप को कम करने में सहायता करती है। बीटरूट और ब्लड प्रेशर के बीच संबंध को बताने के लिए लंदन के सीन मेरी विश्वविद्यालय में किए गए एक अध्ययन के अनुसार बीटरूट का 200 मिलीलीटर जूस 4 हफ्तों तक पीने से ब्लड प्रेसर के स्तर में कमी पायी गई।

रक्तचाप को कम करने के साथ-साथ अगर आप बीटरूट का नियमित सेवन करते हैं तो यह हृदय के जोखिमो को भी कम करने में सहायता करता है। अगर आप अपने रक्तचाप को स्थिर रखना चाहते हैं तो रोजाना 200 mm बीटरूट का सेवन करें।

(और पढ़ें – उच्च रक्तचाप के लिए घरेलू उपचार)

चुकंदर खाने के फायदे हृदय के लिए – Beetroot Benefits For Heart In Hindi

अपने ऊपर देखा कि चुकंदर किस प्रकार रक्तचाप को कम करने के लिए लाभदायक है। इसी को आगे बढ़ाते हुए चुकंदर का नियमित सेवन आपके हृदय को स्वस्थ रखने में आपकी मदद कर सकता है। जिससे यह हृदय रोग के खतरे को कम करते हैं और स्ट्रोक जैसे जोखिम को भी दूर करता हैं।

एक अध्ययन के मुताबिक नियमित चुकंदर के जूस का सेवन 1 सप्ताह तक करने पर दिल की विफलता के जोखिम में कमी आई है और उनके रक्तचाप में सुधार देखा गया है।

एक अन्य अध्ययन में पता चला है कि चुकंदर मांस पेशियों तक ऑक्सीजन पहुंचाने की क्षमता में सुधार करता है। आपको पता होगा कि अगर मांसपेशियों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिलती तो वह कमजोर हो जाती हैं। जिससे हमें थकान और कमजोरी महसूस होती है और हमारी शारीरिक गतिविधि में कमी आती है और ऑक्सीजन की कमी से अंत में हृदय से संबंधित रोग होने की संभावना बढ़ जाती है।

(और पढ़ें – हार्ट अटैक से बचने के उपाय)

चुकंदर खाने के फायदे कैंसर को रोकने में – Beetroot Good For Fighting Cancer In Hindi

बीटरूट का नियमित सेवन करने से स्तन और प्रोस्टेट कैंसर को रोका जा सकता है इसके लिए चुकंदर में पाए जाने वाला बेटासायनिन (betacyanin) की उपस्थिति को माना जाता है।

वॉशिंगटन की हावर्ड विश्वविद्यालय में किए गए एक अन्य अध्ययन में फेफड़े और त्वचा के कैंसर को रोकने के लिए चुकंदर को प्रभावी माना गया है।

आप चुकंदर के रस का सेवन गाजर के जूस के साथ कर सकते हैं। यह उपाय ल्यूकेमिया के उपचार में सहायक होता है।

ऐसे बहुत सारे अध्ययन किए जा चुके हैं जो चुकंदर के कैंसर विरोधी गुणों का समर्थन करते हैं और कैंसर सेल को बढ़ने से रोकते हैं।

और पढ़े – कैंसर क्या है कारण लक्षण और बचाव के उपाय

चुकंदर खाने के फायदे लीवर को स्वस्थ रखने में – Chukandar Good For The Liver in Hindi

लीवर को स्वस्थ रखने के लिए चुकंदर का नियमित सेवन लाभकारी होता है क्योंकि चुकंदर में कैल्शियम विटामिन B, लोहा और एंटीऑक्सीडेंट की उपस्थिति सर्वाधिक होती है। जिससे यह जिगर के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है

नियमित रूप से चुकंदर का सेवन जिगर से पित्त के स्त्राव को बढ़ाता है और जिगर से विषाक्त पदार्थों को खत्म करने में मदद करता है। चुकंदर में फाइबर की मात्रा अधिक होती है जो कि लीवर के स्वास्थ्य के लिए जरूरी मानी जाती है।

(और पढ़ें – लीवर को मजबूत करने के लिए क्या खाना चाहिए)

चुकंदर खाने के फायदे ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में – Beetroot Boosts Energy Levels in hindi

अध्ययनों से पता चला है कि चुकंदर मांसपेशियों को अधिक देर तक ईंधन उपलब्ध कराने का कार्य करता है जिससे ताकत में बढ़ोतरी होती है!

एक अध्ययन में 19 से 38 वर्ष के उम्र के पुरुष को शामिल किया गया जो व्यायाम के तौर पर साइकिल को चलाते थे! उन्होंने 1 दिन में लगभग आधा लिटर बीटरूट जूस लिया जिसे उन्हें 16 प्रतिशत लंबे समय तक व्यायाम करने की छमता प्राप्त हुई।

वैज्ञानिकों का मानना है कि चुकंदर में पाया जाने वाला नाइट्रेट, रक्त के प्रवाह, सेल सिग्नल और हार्मोन को बेहतर बनाने में मदद करते हैं और यह सभी मिलकर ऊर्जा को बढ़ाने में मुख्य भूमिका निभाते हैं।

बीटरूट एडीनोसेंट ट्राई फास्फेट के मांसपेशियों के द्वारा उपयोग किए जाने के स्तर को कम करता है। एटीपी जो कि शरीर का मुख्य ऊर्जा स्रोत माना जाता है ऊर्जा को बनाए रखने का कार्य करता है और एक लंबे समय तक सक्रिय रहने में हमारी मदद करता है।

बीटरूट के फायदे महिलाओं के लिए भी उतने ही है जितने पुरुषों के लिए। महिला एथलीटों के द्वारा दो बार में 70 मिलीलीटर चुकंदर के जूस का सेवन करने से उन्हें अपने प्रदर्शन के स्तर में बढ़ोतरी देखी गई।

इस प्रकार चुकंदर का सेवन आप को अधिक देर तक व्यायाम करने की उर्जा प्रदान करता है और व्‍यायाम करते समय ऑक्सीजन की लागत को कम करने का कार्य भी करता है। जिससे आप अपने स्टेमिना को बनाए रख पाते हैं और प्रदर्शन में सुधार कर पाते हैं।

(और पढ़ें – शरीर की ताकत बढ़ाने के घरेलू उपाय)

चुकंदर के रस के फायदे मस्तिष्क को तेज बनाने में Beetroot Benefits For Brain In Hindi

चुकंदर के रस के फायदे मस्तिष्क को तेज बनाने में Beetroot Benefits For Brain In Hindi

बीटरूट जूस मस्तिक स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है मस्तिक क्षेत्र के डिमेंशिया के शुरुआती चरणों में आमतौर पर चुकंदर के जूस को प्रभावी माना गया है। यह मस्तिष्क तंत्रिकाओं में सुधार करने के लिए जाना जाता है।

चुकंदर के रस में नाइट्रेट पाया जाता है जो कि हमारे शरीर के अंदर नाइट्रिक ऑक्साइड में बदल दिया जाता है। यह नाइट्रिक ऑक्साइड मस्तिष्क कोशिकाओं को एक दूसरे के साथ संवाद करने की अनुमति  प्रदान करते है। जिससे हमारा मस्तिष्क अधिक तेज और स्वस्थ बन जाता है।

चुकंदर के रस का सेवन अल्जाइमर को रोकने के लिए भी लाभदायक होता है। कई अध्ययनों में पाया गया है कि चुकंदर के रस को पीने वाले व्यक्ति के पास स्वस्थ दिमाग और संज्ञानात्मक कार्य करने की क्षमता अधिक होती है।

एक अन्य UK के अध्ययन के मुताबिक आहार में नाइट्रेट मस्तिष्क के रक्त प्रभाव में सुधार कर सकता है जिससे मस्तिष्क के कामकाज को बढ़ाया जा सकता है।

(और पढ़ें – दिमाग तेज करने के उपाय)

चुकंदर खाने के फायदे रक्त शर्करा को कम करने में – Beetroot For Diabetes In Hindi

बीटरूट जूस (चुकंदर के रस) का सेवन करने से मधुमेह को कम किया जा सकता है। एक अध्ययन के अनुसार चुकंदर में पाया जाने वाला फाइबर हाइपोग्लाइसीमिया को कम कर सकता है। अध्ययन के मुताबिक दोपहर या रात के भोजन के बाद चुकंदर के रस का सेवन करने पर रक्तचाप में कमी आई जो की गिलाईसेमियां को कम करने के लिए जाना जाता है।

(और पढ़ें – मधुमेह को कम करने वाले आहार)

चुकंदर खाने के फायदे पाचन में सुधार के लिए – Beetroot For Digestion In Hindi

नियमित रूप से चुकंदर खाने के फायदों में पाचन सुधार एक मुख्य रूप से जाना जाता है। दैनिक रूप से चुकंदर का सेवन पाचन और रक्त की गुणवत्ता में सुधार के लिए जाना जाता है।

अध्ययन में पाया गया है कि सफेद चुकंदर का रस यकृत और प्लीहा के अवरोधों को खत्म कर देता है।

लाल चुकंदर खाने से पाचन तंत्र और रक्त से संबंधित बीमारियों के उपचार में सहायता प्राप्त होती है

जब पेट के स्वास्थ्य की बात आती है तो चुकंदर का इसमें प्रमुख स्थान होता है क्योंकि चुकंदर का उपयोग सदियों से कब्ज और अन्य पेट से संबंधित बीमारियों का इलाज करने के लिए किया जाता है। चुकंदर फाइबर का अच्छा स्रोत होता है जो आंत की सफाई करने का कार्य करता है और साथ ही साथ पाचन तंत्र में सुधार के साथ समग्र स्वास्थ्य को बढ़ाता है।

(और पढ़ें – मानव पाचन तंत्र कैसा होता है, और कैसे इसे मजबूत बनायें)

चुकंदर खाने के फायदे खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में – Benefits of eating beet sugar in reducing bad cholesterol in Hindi

एक अध्ययन से पता चला है कि नियमित रूप से चुकंदर का अर्क लेने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी आई है। और अच्छे कोलेस्ट्रॉल में वृद्धि हुई है। हालांकि इस अध्ययन में अभी और शोध करना बाकी है अध्ययन के लोगों का मानना है कि चुकंदर में घुलनशील फाइबर होने के कारण यह खराब कोलेस्ट्रोल को कम करने में सहायता कर सकते हैं। चुकंदर उन खाद्य पदार्थों में से एक है जो कि कैलोरी में कम है और इसमें कोलेस्ट्रोल की मात्रा भी शून्य होती है।

(और पढ़ें – जानें कि क्या होता है अच्छा (HDL) एवं बुरा (LDL) कोलेस्ट्रॉल)

चुकंदर के लाभ गर्भावस्था में – Chukandar Benefits In Pregnancy In Hindi

बीटरूट में पाए जाने वाले नाइट्रेट के कारण यह गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद होता है। चुकंदर फोलिक एसिड से समृद्ध होती है जो गर्भवती महिलाओं के लिए अपने आहार में शामिल करने का एक बहुत अच्छा कारण माना जाता है। फोलिक एसिड बच्चे में न्यूरल ट्यूब दोष को रोकने में मदद करता है।

(और पढ़े – गर्भावस्था के समय क्या न खाएं)

चुकंदर खाने के फायदे एनीमिया को दूर करने में – Chukandar Ke Labh  for anemia in Hindi

जैसा की हमने ऊपर आपको बताया कि चुकंदर में आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है और एनीमिया का मुख्य कारण लोहे की कमी है। इसलिए एनीमिया को दूर करने के लिए चुकंदर सब्जियों की तुलना में सबसे समृद्ध स्रोत में से एक माना जाता है। क्योंकि चुकंदर का सेवन करने से लोहे का अवशोषण अन्य सब्जियों की तुलना में बेहतर तरीके से होता है। यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड मेडिकल सेंटर की एक रिपोर्ट के मुताबिक चुकंदर आयरन का अच्छा स्रोत है और एनीमिया से निपटने में मदद कर सकता है। क्योंकि चुकंदर में फोलेट पाया जाता है जो एनीमिया को ठीक करने के लिए जाना जाता है।

(और पढ़ें – क्या है एनीमिया? कारण, लक्षण और आहार)

चुकंदर खाने के फायदे यौन स्वास्थ्य में – Beetroot benefits for men Sexual Health in Hindi

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि प्राचीन समय से चुकंदर को एक कामोद्दीपक के रुप में इस्तेमाल किया जा रहा है। चुकंदर में अच्छी मात्रा में बोरॉन होता है जो सीधे सेक्स हार्मोन के उत्पादन से संबंधित खनिज है।

यौन स्वास्थ्य के साथ साथ चुकंदर में बोरोन पाया जाता है जो आपके दिमाग को आराम देता है और ट्रिपटोफैन जो की खुशी के लिए जाना जाता है दोनों ही ख़ुशी देने में मदद करते हैं।

एक अध्ययन के मुताबिक चुकंदर का जूस भी यौन कमजोरी का इलाज करने में मदद करता है।

(और पढ़ें – यौन कमजोरी दूर करने के उपाय)

चुकंदर खाने के फायदे हड्डियां मजबूत बनाने में – Beetroot For Stronger Bones And Teeth in Hindi

कैल्शियम की कमी से हड्डियां और दांत कमजोर हो जाते हैं चुकंदर का नियमित सेवन कैल्शियम की कमी को दूर करता है। क्योंकि चुकंदर में कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जिससे चुकंदर खाने से हड्डियां मजबूत बनती हैं

(और पढ़े – कैल्शियम युक्त भोजन)

चुकंदर खाने के फायदे वजन घटाने में – Benefits of beetroot for weight loss in hindi

अगर आप वजन कम करने के बारे में सोच रहे हैं तो चुकंदर आपका अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। चुकंदर का वजन घटाने में प्रयोग मुख्य रूप से कृत्रिम स्वीटनर को हटाने में किया जा सकता है। क्योंकि चुकंदर मैं अपनी एक प्राकृतिक मिठास होती है जिससे आप अपने भोजन में अतिरिक्त चीनी को कम कर सकते है और अपना वजन कम कर सकते हैं।

चुकंदर में फाइबर की मात्रा अधिक होती है जिससे यह वजन घटाने के अन्य पदार्थों में सबसे अच्छा माना जाता है चुकंदर के रस के बारे में बताते हुए कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि यह अन्य विकल्प से बेहतर है। क्योंकि आपका शरीर चुकंदर के रस के साथ पोषक तत्वों को बेहतर तरीके से अवशोषित कर सकता है।

इस प्रकार यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो प्रतिदिन एक गिलास चुकंदर का जूस का सेवन करें।

(और पढ़ें – वजन कम करने के लिए क्या नहीं खाना चाहिए)

चुकंदर खाने के फायदे एंटी एजिंग के रूप में – Beetroot benefits for skin in hindi

उम्र के बढ़ने के साथ त्वचा का ढीलापन एक आम समस्या होती है लेकिन आप इस समस्या को चुकंदर का सेवन कर दूर कर सकते हैं। चुकंदर में विटामिन ए और कैरोटीन होते हैं जो आपको अंदर से लाभ पहुंचाते हैं। इसके अलावा चुकंदर में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं जो आपके फ्री रेडिकल और झुर्रियों को कम करने में मदद करते हैं।

एक अध्ययन के मुताबिक चुकंदर में उत्कृष्ट एंटी एजिंग गुण हैं। चुकंदर में पाए जाने वाले गुण उम्र बढ़ने के साथ त्वचा के ढीलेपन का विरोध करती हैं और आपको अधिक सुंदर और निखरी त्वचा प्रदान करते हैं।

(और पढ़े – चेहरे की झुर्रियों के कारण और झुर्रियां कम करने के घरेलू उपाय)

चुकंदर के फायदे बालों के लिए – Beetroot benefits for hair in hindi

आप चुकंदर का उपयोग अपने बालों और सिर की खुजली को दूर करने के लिए भी कर सकते हैं। चुकंदर उन चुनिंदा घरेलू उपायों में से एक है जो आपके सिर की खुजली को दूर कर सकता है। चुकंदर का उपयोग करने के लिए आप कुछ चुकंदर के टुकड़ों को लेकर पानी के साथ उबाल लें और इस उबले हुए पानी से अपने सिर की मसाज करें।

इसके साथ आप एक अन्य तरीके में कुछ चुकंदर के टुकड़ों के साथ सेब के सिरके और कुछ अदरक के टुकड़ों को मिला सकते हैं और अपने सिर पर लगा सकते हैं। इस प्रकार बने पेस्ट को सिर पर लगाने के 20 मिनट बाद इसे अच्छे पानी से धो लें।

(और पढ़े – रूसी दूर करने के घरेलू उपाय)

चुकंदर खाने के नुकसान और सावधानियां – Chukandar Ke Nuksan In Hindi

चुकंदर खाने के नुकसान और सावधानियां - Chukandar Ke Nuksan In Hindi

आपने ऊपर जाना चुकंदर खाने के फायदे बहुत अधिक है किंतु इसका यह मतलब नहीं है कि आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करें चुकंदर का एक निश्चित मात्रा में सेवन लाभदायक होता है आइए जानते हैं चुकंदर खाने के नुकसान क्या हैं

  • प्रतिदिन चुकंदर की एक निश्चित मात्रा का सेवन करना ही लाभदायक होता है
  • आप इसे सलाद के रूप में खा सकते हैं या फिर आप इसे जूस के रूप में लेते हैं तो प्रतिदिन लगभग 200 से 250 मिलीलीटर ही लेना लाभदायक होता है।
  • जो व्यक्ति कम रक्तचाप की समस्या से परेशान है उन्हें चुकंदर के सेवन से बचना चाहिए।
  • चुकंदर का ज्यादा सेवन करने से आपके यूरिन का कलर लाल या पिंक हो सकता है यह कंडीशन विटुरिया के नाम से जानी जाती है इसलिए अधिक मात्रा में चुकंदर का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • यदि आपको कैल्शियम ऑक्सलेट से संबंधित पथरी की कोई समस्या है तो आपको चुकंदर के जूस का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि चुकंदर में ऑब्जेक्ट की मात्रा अधिक होती है। जो आपके यूरिन में पथरी के निर्माण को बढ़ा सकती है।
  • चुकंदर में फाइबर की मात्रा अधिक होती है इसलिए अधिक मात्रा में चुकंदर का सेवन करने से मितली और दस्त और कब्ज की समस्या हो सकती है

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration