उल्टी और मतली को रोकने के उपाय – Remedies to prevent vomiting and nausea in Hindi

उल्टी और मतली को रोकने के उपाय - Remedies to prevent vomiting and nausea in Hindi
Written by Pratistha

Vomiting Home Remedies in hindi आज के लेख में हम आपको उल्टी रोकने के घरेलू उपाय, उल्‍टी क्‍या है, उल्टी होने के कारण,उल्‍टी को कैसे रोकें, उल्टी रोकने का घरेलू उपाय Stop Vomiting in hindi के बारे में बताने जा रहे हैं। उल्टी आमतौर पर कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या नहीं है। यह अस्थायी विकारों से जुड़ी शरीर की महज एक प्रतिक्रिया है। उल्टी होने के कई कारण होते हैं और उल्टी होने से शरीर की ऊर्जा कम हो जाती है और शरीर में पानी की कमी हो जाती है, इसके बाद व्यक्ति को कमजोरी महसूस होने लगती है। आज हम आपको उल्टी और मितली रोकने के घरेलू उपाय  बताने जा रहें हैं (Home Remedies To Stop Vomiting and nausea in hindi)

हानिकारक भोजन, अधिक शराब के सेवन सहित अन्य विभिन्न कारणों से जी मिचलाता है और उल्टी होती है। अगर अचानक इस तरह की परेशानी महसूस हो तो घरेलू उपायों के जरिए भी इनसे निजात पाया जा सकता है।

1. उल्‍टी क्‍या है – What is Vomiting in Hindi
2. उल्टी होने के कारण – Causes of Vomiting in Hindi
3. उल्‍टी को कैसे रोकें – How to Stop Vomiting Naturally in Hindi
4. उल्टी रोकने के घरेलू उपाय – gharelu nuskhe for vomiting in hindi
5. उल्‍टी रोकने के लिए व्यावहारिक तरीके – Practical Ways to Stop Vomiting in hindi

उल्‍टी क्‍या है – What is Vomiting in Hindi

सामान्‍य तौर पर देखा जाता है कि जब हमे बेचैनी होती है या हमें लगता है कि हमारी सेहत खराब होने वाली है, तब एक अप्रिय धटना हमारे साथ होती है जिसमें हमारे शरीर में होने वाले विकारों के कारण हम खाए हुए भोजन मुंह के द्वारा वाहर निकाल देते है, जिसे उल्‍टी कहते है। उल्‍टी शब्‍द सुनते ही आपके के मन घृणा की भावना आ जाती है।यह एक ऐसी धटना होती है जो हमारे पेट होने वाले विकारो के कारण होने वाली अव्‍यवस्‍था से होती है । जो हमें कमजोरी का एहसास दिलाती है क्‍योंकि ऐसी स्थिति में हमारे द्वारा अत्‍याधिक ऊर्जा का उपयोग किया जाता है ।

उल्टी होने के कारण – Causes of Vomiting in Hindi

आपको बता दें कि उल्टी कई बीमारियों का लक्षण है, लेकिन यह अपने आप में कोई बीमारी नहीं है। उल्टी होने के कई कारण होते हैं। हम यहां मितली और उल्टी (Causes of Vomiting) होने के कुछ मुख्य कारणों के बारे में बता रहे हैं।

  • गर्भावस्था का शुरूआती चरण
  • फूड प्वॉइजनिंग
  • अधिक भोजन करने से(Overeating)
  • पेट के संक्रमण से
  • दवाओं के प्रभाव से
  • अचानक दर्द उठने से
  • तनाव और डर से
  • पित्ताशय (Gallbladder ) के रोग से
  • अल्सर से
  • गंध से
  • अधिक देर तक खाली पेट रहने से
  • अधिक मात्रा में एल्कोहल का सेवन करने से

इसके अलावा हार्ट अटैक, मस्तिष्क में चोट, मस्तिष्क में ट्यूमर (brain tumor) और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियां होने पर भी मितली और उल्टी की समस्या हो सकती है।

उल्‍टी को कैसे रोकें – How to Stop Vomiting Naturally in Hindi

उल्‍टी होना एक सामान्‍य बात होती है, लेंकिन जरूरत से ज्‍यादा या बार बार उल्‍टी होना आपके लिए खतरनाक हो सकता है। इसलिए उसकी रोकथाम करना जरूरी होता है, उल्‍टी को कम करने और मतली से राहत देने के लिए यहां कुछ सर्वोत्‍तम घरेलू उपचार दिए जा रहे है जिनका उपयोग कर हम उल्‍टी और उल्‍टी से होने वाले नुकसान से बच सकते है।

आइये आपको इन सभी उपाय के बारे में विस्तार से बताते है की इनका उपयोग उल्टी रोकने में कैसे किया जा सकता है

उल्टी रोकने के घरेलू उपाय – gharelu nuskhe for vomiting in hindi

मितली रोकने का घरेलू उपाय अदरक – Ginger for Vomiting in hindi

एक चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच अदरक का जूस (ginger juice) मिलाकर दिन में कई बार सेवन करने से मितली और उल्टी बंद हो जाती है। अदरक प्राकृतिक एंटी-इमेटिक होता है जो पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है और उल्टी को रोकता है। उल्टी रोकने के लिए ताजे अदरक के टुकड़ों को शहद के साथ भी खाया जा सकता है या अदरक को चाय के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

उल्टी का घरेलू उपचार है चावल का पानी – Rice Water to stop Vomiting in hindi

अगर पेट में गैस बनने के कारण उल्टी या मितली आ रहो हो तो चावल के पानी का सेवन करने से उल्टी आनी बंद हो जाती है। एक कप चावल को पानी में उबालें और चावल आधा उबलने के बाद चावल के पानी को एक बर्तन में निकाल लें और इसे ठंडा करके पीयें। मितली या उल्टी नहीं आयेगी।

उल्टी रोकने के लिए प्याज के रस का सेवन – Onion Juice for Vomiting in hindi

प्राकृतिक एंटीबायोटिक गुणों से युक्त होने के कारण प्याज उल्टी और मितली की समस्या को दूर करने में बहुत फायदेमंद होता है। एक  चम्मच प्याज के रस में एक चम्मच अदरक का रस मिलाकर प्रतिदिन सेवन करने से उल्टी की समस्या से निजात मिलता है। इसके अलावा आधे कप प्याज के रस में दो बड़े चम्मच शहद मिलाकर सेवन करने से भी उल्टी नहीं आती है।

उल्‍टी रोकने के लिए पुदीना – Mint for Vomiting in hindi

पुदीना आपने पेट को शांत करने,उल्‍टी की भावना को कम करने गर्मी से राहत दिलाने का काम करता है। पुदीने में मौजूद पोषक तत्‍व हमारे शरीर के तापमान को नियंत्रित करते है साथ साथ होने बाली घबराहट को भी कम करते है।

सामान्‍य तौर पर हम पुदीने का सेवन ठंडे शीतल पेय के साथ , अन्‍य मसालों के साथ मिलाकर चटनी के रूप में कर सकते है।

(और पढ़े – पुदीना के फायदे  गुण लाभ और नुकसान)

उल्टी रोकने का घरेलू उपाय है नमक और चीनी का घोल – Sugar and Salt Water for Vomiting in hindi

कभी-कभी शरीर में सोडियम, पोटैशियम जैसे लवणों का स्तर असंतुलित हो जाने के कारण भी उल्टी की समस्या उत्पन्न हो जाती है। इस स्थिति में नमक और चीनी के घोल का सेवन करने से शरीर की क्रिया सामान्य हो जाती है। नमक और पानी का घोल इलेक्ट्रॉल का काम करता है और उल्टी रोकने में मदद करता है।

संतरे के जूस से रूकती है उल्टी – Orange Juice to overcome vomiting in hindi

शरीर में खनिज (mineral), विटामिन और पोषक तत्वों की कमी हो जाने पर मितली आने लगती है। इस स्थिति में ताजे संतरे के जूस का सेवन करने से उल्टी की समस्या दूर हो जाती है। संतरे का रस ब्लड प्रेशर के स्तर को भी सामान्य रखता है और मिचली को रोकता है।

उल्टी रोकने का घरेलू उपाय है बेकिंग सोडा – Baking Soda for Vomiting in hindi

यह उल्टी के दौरान बढ़े हुए पेट और मुंह के अम्ल को निष्क्रिय कर देता है और उल्टी में राहत प्रदान करता है। एक गिलास पानी में बेकिंग सोडा मिलाकर पीने से मिचली दूर हो जाती है। इसके अलावा यह उल्टी के बाद मुंह के स्वाद को ठीक करने में भी मदद करता है।

मितली रोकने के लिए नींबू का सेवन करें – Lemon For Vomiting in hindi

एक चम्मच शहद में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर सेवन करने से उल्टी की समस्या दूर हो जाती है। उल्टी दूर करने के लिए यह अधिक लोकप्रिय घरेलू उपाय है। नींबू में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो पेट को साफ रखने में मदद करता है। विटामिन सी इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाता है और उल्टी के लक्षणों को खत्म कर देता है।

उल्टी रोकने का तरीका है दालचीनी का सेवन – Cinnamon For Vomiting in hindi

पेट को शांत रखने और पाचन क्रिया खराब होने के कारण उल्टी या मितली को दूर करने के लिए दालचीनी का सेवन एक सर्वात्तम उपाय है। एक कप उबलते पानी में एक चम्मच दालचीनी पावडर (cinnamon powder) डालकर कुछ देर उबालें और इस पानी को छानकर हल्का ठंडा होने पर इसमें शहद मिलाकर पी लें, उल्टी की समस्या दूर हो जाएगी।

उल्टी के इलाज के लिए घरेलू नुस्खा है विनेगर – Vinegar For Vomiting in hindi

पेट से विषाक्त पदार्थों (toxins) को शरीर से बाहर निकालने और पेट को शांत रखने के लिए एप्पल साइडर विनेगर फायदेमंद होता है। इसमें एंटी माइक्रोबियल गुण पाया जाता है जिसके कारण यह मितली और उल्टी की समस्या को भी दूर कर देता है। एक गिलास पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर और एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में कई बार इसका सेवन करने से उल्टी नहीं आती है।

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान)

जी मिचलाने और उल्टी रोकने के लिए लौंग – Clove For Vomiting in hindi

पाचन को दुरूस्त रखने और उल्टी की समस्या से निजात दिलाने में लौंग बहुत सहायक होता है। विशेषरूप से यह गैस के कारण उत्पन्न उल्टी और मितली को दूर करने में प्रभावी होता है। उल्टी से राहत पाने के लिए लौंग की कुछ कलियां चबाएं या लौंग का सेवन चाय के रूप में करें। इसके अलावा अधिक उल्टी महसूस होने पर लौंग के पावडर में शहद मिलाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है।

उल्टी रोकने का घरेलू उपाय है सौंफ का सेवन – Fennel For Vomiting in hindi

भोजन को आसानी से पचाने और मितली (nausea)की समस्या को दूर करने में सौंफ बहुत फायदेमंद होता है। सौंफ में एंटी-माइक्रोबियल गुण पाया जाता है जो पेट को संक्रमण से बचाता है और उल्टी को रोकने में मदद करता है। एक चम्मच सौंफ पावडर को एक कप पानी में दस मिनट तक उबालें और फिर इस पानी को छानकर ठंडा होने के बाद दिन में दो बार इसका सेवन करें। सौंफ चबाने से भी उल्टी की समस्या दूर हो जाती है।

(और पढ़े – सौंफ खाने के 10 फायदे)

जीरे का सेवन मितली रोकने के लिए – Cumin For Vomiting in hindi

एक कप पानी में आधा चम्मच जीरा उबालकर पीने से उल्टी और मितली की समस्या दूर हो जाती है। उल्टी से बचने का यह सबसे सर्वोत्तम घरेलू ऊपाय है। जीरा अग्नाशय के एंजाइम के स्राव को उत्तेजित((stimulate) करता है और पाचन को ठीक रखता है। इसके अलावा एक चम्मच जारी पावडर एक चम्मच इलायची पावडर को एक  चम्मच शहद में मिलाकर सेवन करने से भी उल्टी नहीं आती है।

(और पढ़े – जीरा के फायदे जानकर हैरान रह जायेगें आप)

उल्‍टी रोकने के लिए व्यावहारिक तरीके – Practical Ways to Stop Vomiting in hindi

उल्‍टी व मतली को रोकने के लिए अन्‍य व्‍यवहारिक तरीके हैं, जिनके उपयोग से आपको मदद मिल सकती है ।

  • खुले वातारण में जाकर ताजी हवा का अनुभव करे और गहरी सांस लें।
  • उन विशेष जगहों से बचे जहां भोजन की गंध या सुगंध आ रही हो।
  • आप अपने पैरो के नीचे तकीया या अन्‍य ऊंचाई वाली वस्‍तुओं को रखकर लेट जाए।
  • फैटी या मसाले दार भोजन से बचें।

यह विशेष रूप से ध्‍यान में रखें कि लगातार उल्‍टी से शरीर में पानी की कमी हो सकती है, इसलिए ऐसी स्थिति में पानी का भरपूर उपयोग करें। पानी पीने के लिए सबसे अच्‍छा तरल है, लेकिन अगर आपकी उल्‍टी बंद नही हो रही हो तो आपको अपने शरीर में लवण और खनिजों के लिए अन्‍य पेय जो आपको पोटेशियम और सोडियम की कमी की पूर्ती कर सके उदाहरण के लिए स्‍पोर्ट ड्रिंकस जैसे ORS को लेना चाहिए।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration