फोड़े को पकाने का घरेलू उपाय - Home Remedies for Boils in Hindi
uncategorized default घरेलू उपाय

फोड़े को पकाने का घरेलू उपाय – Home Remedies for Boils in Hindi

फोड़े को पकाने का घरेलू उपाय - Home Remedies for Boils in Hindi

फोड़े लाल, मवाद से भरे दाने होते हैं, जो त्वचा के नीचे बनते हैं और बेहद दर्दनाक होते हैं। फोड़ा तब तक ठीक नहीं होता, जब तक कि यह पक न जाए और मवाद पूरी तरह से बाहर न निकल जाए। अतः फोड़े होने की स्थिति में फोड़े या गांठ को पकाने का तरीका खोजना और इसे जल्द से जल्द साफ़ करना प्रत्येक व्यक्ति के लिए आवश्यक होता है।

यह लेख फोड़े को पकाने के बारे में है, जिसमें आप फोड़े को पकाने के घरेलू उपाय के बारे में जानेगें।

विषय सूची

फोड़े क्यों होते हैं – Why do boils happen in Hindi

फोड़े अक्सर बड़े पिंपल्स की तरह दिखते हैं। यह वास्तव में एक संक्रमित हेयर फॉलिकल (infected hair follicle) के परिणामस्वरूप उत्पन्न होते हैं। यह संक्रमण आमतौर पर शरीर के उन स्थानों पर होते हैं, जहां बाल होते हैं और जहां से पसीना आ सकता है। यदि फोड़े का इलाज समय पर और ठीक तरीके से नहीं किया जाता है, तो यह आस-पास के क्षेत्रों को संक्रमित कर सकता है या संक्रमण त्वचा की अधिक गहराई में जाकर और अधिक फोड़े उत्पन्न होने का कारण बन सकता है।

यदि किसी व्यक्ति को लगता है कि उसे फोड़ा हुआ है तो उसे जल्द से जल्द घरेलू उपचार प्राप्त करना चाहिए। फोड़े की पहचान के लिए कुछ सामान्य लक्षणों पर ध्यान देना चाहिए, जैस-

  • फोड़े बड़े और लाल होते हैं, आमतौर पर बीचों बीच एक पीला या सफेद सिरा दिखाई देता है जहां से मवाद निकल सकती है।
  • फोड़ा आमतौर पर समय के साथ बड़ा होता जाता है और मवाद से भर जाता है।
  • जब शरीर संक्रमण से लड़ता है तो सम्बंधित व्यक्ति को एक बड़े फोड़े के साथ बुखार का अनुभव भी कर सकता है।

(और पढ़ें: फोड़े फुंसी का घरेलू उपचार, उपाय और नुस्खे)

फोड़े को पकाने का घरेलू उपाय – Home Remedies for Boils in Hindi

ऐसे अनेक उपाय मौजूद हैं, जिनकी मदद से बिना चिकित्सकीय इलाज के घर पर ही फोड़े का इलाज किया जा सकता है। फोड़े का घरेलू इलाज करने के लिए आप निम्न में से किसी भी तरीके को अपना सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

फोड़े का आयुर्वेदिक इलाज हल्दी और सरसों का तेल – Turmeric and Mustard Oil for Ayurvedic Treatment of Boils in Hindi

फोड़े का आयुर्वेदिक इलाज हल्दी और सरसों का तेल - Turmeric and Mustard Oil for Ayurvedic Treatment of Boils in Hindi

फोड़े को पकाने का सबसे असरदार तरीका हल्दी और सरसों के तेल का उपयोग करना है। इस आयुर्वेदिक इलाज को अपनाने के लिए सर्वप्रथम हल्दी को सरसों के तेल में मिलाकर एक पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को फोड़े से प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं रखें। इससे सूजन कम होती है। फोड़ा नरम होकर जल्दी पक जाता है, और आसानी से मवाद निकल जाती है, जिससे दर्द कम हो जाता है। इसके अलावा आप हल्दी और अदरक के पेस्ट को भी दिन में दो बार फोड़े पर लगा सकते  हैं।

अरंडी का तेल फोड़े को पकाने का बेहतर घरेलू इलाज – Home Remedies for Boils Castor oil in Hindi

अरंडी का तेल फोड़े को पकाने का बेहतर घरेलू इलाज - Home Remedies for Boils Castor oil in Hindi

अरंडी का तेल शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी (anti-inflammatory) और जीवाणुरोधी गुणों के कारण फोड़े का घर पर सफलतापूर्वक इलाज करने का प्रभावी प्राकृतिक उपाय है। अरंडी के तेल को फोड़े के ऊपरी भाग पर लागायें। इसे आप दिन में 4 बार ट्राई करें। इससे फोड़ा नरम हो जाएगा और फोड़ा जल्दी फूट जाएगा। अतः यह फोड़े को पकाने का आसान घरेलू उपाय हो सकता है।

फोड़े को पकाने का तरीका एलोवेरा और हल्दी लेप – Aloe Vera and Turmeric Paste for boils home treatment in Hindi

फोड़े को पकाने का तरीका एलोवेरा और हल्दी लेप - Aloe Vera and Turmeric Paste for boils home treatment in Hindi

एलोवेरा और हल्दी में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो कि फोड़े के घरेलू इलाज के लिए काफी लाभदायक है। एलोवेरा (ग्वारपाठा) की गुदा में हल्दी मिलाकर लेप बानाएं। अब इसे फोड़ा पर दिन में तीन बार लगायें। इस उपाय को आजमाने से फोड़ा जल्दी पककर फूट जाएगा। फोड़ा फूटने पर इसकी मवाद को अच्छी तरह से गर्म पानी से साफ करें।

फोड़े फुंसी को पकाने का उपाय नीम और तुलसी – Neem and Tulsi remedy for boils in Hindi

 

फोड़े फुंसी को पकाने का उपाय नीम और तुलसी - Neem and Tulsi remedy for boils in Hindi

नीम और तुलसी के एंटीसेप्टिक, एंटी बैक्टीरियल और रोगाणुरोधी गुण के कारण इसे फोड़े फुंसी के इलाज के लिए रामबाण उपाय माना जा सकता है। जो व्यक्ति फोड़ों को लेकर परेशान हैं और जल्द से जल्द इनसे छुटकारा पाना चाहते हैं, तो वह नीम और तुलसी को पीसकर उसका लेप बनाएं और उसे फोड़े प्रभावित क्षेत्र पर दिन में 3-4 बार अच्छी तरह लगाएं। कुछ ही समय में आपको चोकने वाले नतीजे देखने को मिलेगें। इस उपाय को अपनाने से 2 दिन के भीतर फोड़े में जलन और दर्द से छुटकारा मिल जाएगा।

फोड़े को पकाने का घरेलू उपचार हीटिंग पैड – Heating pad to get rid of a boil in Hindi

बालतोड़ या फोड़े से छुटकारा पाने में मदद करने के लिए फोड़े की गर्म सिकाई करना आवश्यक होता है। गरम सिकाई और हीटिंग पैड का उपयोग करने से फोड़ा आसानी से पकने और साफ़ होने में मदद मिलती है। आप एक नम तौलिये के ऊपर एक हीटिंग पैड रखकर इसे प्रभावित क्षेत्र पर रख सकते हैं। इस उपाय द्वारा फोड़ा खुलने और मवाद निकलने में एक सप्ताह से कम समय लग सकता है। फोड़ा खुलने के बाद तीन दिनों तक, हीटिंग पैड या गर्म सेक को आजमाते रहें।

फोड़े को पकाने की दवा जीरा पानी पेस्ट – Boil medicine cumin water paste in Hindi

जीरा और पानी का एक पेस्ट बनाकर इसे प्रभावित जगह पर लगाने से फोड़ा जल्दी पकता है और दर्द से छुटकारा मिलता है। दिन में दो से तीन बार इस पेस्ट को लागएं और फोड़े से जल्दी निजात पायें।

प्याज और लहसुन फोड़े को पकाने का अचूक घरेलू उपाय – Home treatment for boils onion and garlic in Hindi

प्याज और लहसुन फोड़े को पकाने का अचूक घरेलू उपाय - Home treatment for boils onion and garlic in Hindi

यदि कोई व्यक्ति फोड़े को लेकर परेशान है और इसका घरेलू इलाज ढूढ़ रहा है, तो उसके लिए प्याज और लहसुन का उपयोग करना सही होगा। प्याज और लहसुन पीसकर पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को फोड़े पर लगाएं। इस उपाय को अजमाने पर आपको जल्द से जल्द मवाद और सूजन से छुटकारा मिलेगा।

फोड़ा पकने का घरेलू उपाय एप्सम नमक – Epsom salt home remedy for boils in Hindi

फोड़ा पकने का घरेलू उपाय एप्सम नमक - Epsom salt home remedy for boils in Hindi

सेंधा नमक (एप्सम सॉल्ट) केवल दर्द से आराम ही नहीं देता है, बल्कि यह फोड़े के इलाज में भी मदद कर सकता है। नमक मवाद को सुखाने में मदद कर सकता है, जिससे फोड़ा जल्दी ठीक हो जाता है। गर्म पानी में एप्सम सॉल्ट को घोल लें और फिर इससे 20 मिनट तक फोड़ा प्रभावित क्षेत्र की सिकाई करें। इस उपाय को रोजाना कम से कम तीन बार, तब तक आजमाना चाहिए जब तक कि फोड़ा खुल न जाए।

फोड़े को पकाने का घरेलू नुस्खा टी ट्री ऑयल – Boil home remedy tea tree oil in Hindi

फोड़े को पकाने का घरेलू नुस्खा टी ट्री ऑयल - Boil home remedy tea tree oil in Hindi

टी ट्री ऑयल में एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो कि फोड़े पैदा करने वाले जीवाणु संक्रमण का इलाज करने में मदद कर सकते हैं। टी ट्री ऑयल को सीधे स्किन पर नहीं लगाना चाहिए, क्योंकि इससे स्किन पर जलन पैदा हो सकती है। टी ट्री ऑयल की पांच बूंदें एक चम्मच नारियल या जैतून के तेल में मिलाकर इसका इतेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा पतले टी ट्री ऑयल को रुई के सहारे फोड़े पर दिन में दो या तीन बार लगाना चाहिए। यह उपाय तब तक अपनाएं, जब तक कि फोड़ा पूरी तरह से न निकल जाए।

(और पढ़ें: प्राइवेट पार्ट पर हो गया बालतोड़, जानिए इसके घरेलू उपाय)

फोड़े को पकाने का घरेलू उपाय (Home Remedies for Boils in Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration