जैतून के तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान – Olive oil Benefits in Hindi

जैतून के तेल के फायदे और उपयोग - Olive oil Benefits in Hindi
Written by Sneha

जब भी हम तेल के बारे में सोचते है तो जैतून के तेल का नाम सबसे पहले आता है आखिर ऐसा क्या है इसमें जो इसे इतना खास बनाता है जैतून का तेल जैतून के पेड़ से निकला जाता है जो जादातर भूमध्य एरिया में पाए जाते है इसका उपयोग खाने और त्वचा पर लगाने दोनों ही रूप में किया जाता है जैतून के तेल के फायदे कई है और जैतून के तेल की कई वैराइटी आती है जिसमे सबसे अच्छी किस्म एक्स्ट्रा वर्जिन olive oil की होती है

जैतून के तेल के कई स्वास्थ्य लाभ के साथ सुन्दरता में भी योगदान होता है इसका उपयोग विभिन्न तरीको से किया जाता है जैतून के तेल के कई नाम है ओलिव ऑइल / Olive oil को हिंदी में “जैतून का तेल“, तेलगु में “जीता तैलम”, तामिल में “अलिव एन्ने”, कन्नड़ में “ओउदल एन्ने”, मराठी में “जैतून तेल”, मलयालम में “ओलियेन्न” और बंगाली में “जोलोपाई तेल” कहाँ जाता है। तो आइये जानते है जैतून के तेल के फायदे और नुकसान के बारें में-

जैतून तेल के बारे में जानकारी – jaitun tel ke bare me jankari in Hindi

हम सभी जानते हैं कि जैतून के तेल का उपयोग सामान्‍य रूप से खाद्य तेल के रूप में किया जाता है। लेकिन जैतून तेल बस इतना ही नहीं है क्‍योंकि इसमें ऐसे पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ उच्‍च मात्रा में होते हैं जो हमारे स्‍वास्‍थ्‍य और सौदर्य के लिए फायदेमंद होते हैं। जैतून का तेल जैतून के फलों से प्राप्‍त औषधीय तेल है। जैतून का वैज्ञानिक नाम ओलिया यूरोपोपिया (Olea Europaea) है जो कि ओलियासी (Oleaceae) परिवार से संबंधित है। जैतून के फलों से आवशवन विधि द्वारा जैतून का तेल प्राप्‍त किया जाता है। यह प्रक्रिया बहुत ही लंबी है जो सामान्‍य रूप से घर में उपयोग नहीं की जा सकती है। इसलिए इसे बाजार से ही खरीदा जा सकता है।

जैतून के तेल की तासीर क्‍या है – Jaitun ke tel ki taseer kya hai in Hindi

औषधीय गुणों वाले जैतून के तेल की तासीर ठंडी होती है। स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने के लिए जैतून के तेल का कई प्रकार से उपयोग किया जाता है। जैसे भोजन पकाने, शारीर की मालिश करने के लिए बॉडी आयल के रूप में, बालों को स्‍वस्‍थ रखने के लिए हेयर ऑयल के रूप में, सौंदर्य समस्‍याओं को दूर करने के लिए सीधे ही त्वचा में लगाने आदि। जैतून के तेल की ठंडी तासीर होने के कारण इसका उपयोग मानसिक तनाव को कम करने और मस्तिष्‍क कोशिकाओं को आराम दिलाने में भी सहायक होता है। आइए जाने जैतून का तेल कितने प्रकार का होता है।

जैतून के तेल के प्रकार – Jaitun ke tel ke prakar in Hindi

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि जैतून का तेल जैतून के पेड़ से प्राप्‍त होता है। पहले के समय में जैतून के फलों को कुचला जाता था और फिर आगे की प्रक्रिया को अपनाया जाता था। लेकिन अब जैतून के तेल को निकालने के लिए फैक्‍ट्रीयों में बड़ी-बड़ी मशीनों का उपयोग किया जाता है। हालांकि उपयोग के आधार पर जैतून के तेल को अलग-अलग प्रकार से बनाया जाता है। जिससे जैतून के तेल के उपयोग और प्रकार भी अलग-अलग हो जाते हैं। सामान्‍य रूप से जैतून के तेल 3 प्रकार के होते हैं। आइए विस्‍तार से जाने जैतून के तेल के इन प्रकारों के बारे में।

परिष्‍कृत जैतून तेल –Refined Olive Oils in Hindi

प्राकृतिक रूप से मिलने वाले जैतून के तेल का स्‍वाद कुछ कसैला और तीखा होता है। लेकिन तेल के निर्माण के दौरान इस स्‍वाद को कम करने के लिए इसे परिष्‍कृत किया जाता है। जिसमें इस तेल को गर्म करना और वि‍लयन (heat and solvents) बनाना आदि विधियों का उपयोग किया जाता है। जिससे जैतून के तेल के उन गुणों को दूर किया जाता है जो उपयोग के लिए अच्‍छे नहीं होते हैं।

अपरिष्‍कृत जैतून का तेल – Unrefined Olive Oils in Hindi

इस प्रकार के तेल को बनाते समय किसी भी प्रकार की रासायनिक प्रक्रिया को नहीं अपनाया जाता है। इसलिए जैतून का तेल बनाने वाले निर्माता अपरिष्‍कृत जैतून तेल के लिए अच्‍छी गुणवत्‍ता वाले फलों का उपयोग करते हैं। इसके अलावा अपरिष्‍कृत जैतून का तेल वर्जिन या अतिरिक्‍त वर्जिन हो सकता है।

एक्‍सट्रा वर्जिन जैतून का तेल – Extra Virgin Olive Oil in Hindi

इस प्रकार के तेल में जैतून के फलों का स्‍वाद बना रहता है। इस प्रकार के तेल का उत्‍पादन करने के दौरान विशेष सावधानी रखी जाती है। एक्‍सट्रा वर्जिन जैतून के तेल को सबसे शुद्ध जैतून तेल माना जाता है। इसमें जैतून तेल के अन्‍य प्रकारों की अपेक्षा अधिक पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ होते हैं।

कोल्ड प्रेस्‍ड ऑलिव आयल क्‍या होता है – Cold Pressed Olive Oils kya hota hai in Hindi

व्‍यापारिक स्‍तर पर जैतून के तेल का उत्‍पादन करने के लिए नई-नई तकनीकों का उपयोग किया जा रहा है। आधुनिक स्‍टील प्रेस के साथ जैतून के फलों को दबाकर प्राप्‍त तेल को कोल्ड प्रेस्‍ड ऑलिव ऑयल कहा जाता है। इस तेल में विटामिन, एंटीऑक्‍सीडेंट और इसके स्‍वाद को बरकरार रखा जाता है। जिसका मतलब यह है कि इस प्रकार के तेल का सेवन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए सबसे अधिक फायदेमंद होता है। कोल्‍ड प्रेस्‍ड प्रक्रिया विलायक निष्‍कर्षण और रासायनिक शोधन की प्रक्रिया से बिल्‍कुल अलग होती है।

जैतून तेल के पोषक तत्‍व – Jaitun tel ke Poshak Tatva in Hindi

बहुत से लोगों द्वारा जैतून तेल के पोषक तत्‍व की उच्‍च मात्रा के कारण उपयोग करने की सलाह दी जाती है। जैतून के तेल में असंतृप्‍त वसा अम्‍ल लगभग 73 प्रतिशत तक होता है जो कि इसका प्रमुख घटक है। जैतून के तेल में ऑलिव नामक एक एसिड पाया जाता है जो स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। जैतून के तेल का 24 प्रतिशत हिस्‍सा संतृप्‍त वसा, ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड होता है। इसके अलावा जैतून तेल में एनर्जी भी अधिक मात्रा में होती है। 100 ग्राम जैतून तेल में लगभग 884 कैलोरी होती है। जैतून के तेल में संतृप्‍त फैटी एसिड के रूप में मोनोअनसैचुरेटेड फैटी होता है। इसके अलावा जैतून का तेल में विटामिन E और विटामिन K के साथ ही एंटीऑक्‍सीडेंट से भरा है जो प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

जैतून के तेल के फायदे – Olive Oil Benefits in Hindi

जैतून का तेल स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहतद फायदेमंद होता है। गलत खान-पान और पर्याप्‍त पोषक तत्वों वाले खाद्य पदार्थों का सेवन हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक होते हैं। लेकिन आप अपने द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों में पोषक तत्‍वों की कमी को पूरा करने के लिए जैतून के तेल का उपयोग कर सकते हैं। आइए जाने जैतून तेल को आहार में शामिल करने से कौन से स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त होते हैं।

बालों के लिए जैतून के तेल के फायदे – Olive Oil for hair in Hindi

जैतून के तेल से आप दोमुहे और घुंघराले बालो को भी सही कर सकते है जैतून के तेल  को थोडा गर्म कर अच्छे से अपने बालो में लगाकर मालिश करें और किसी कपड़े से अपने बालो को 30 मिनिट्स के लिए ढक ले और फिर उन्हें रातभर के लिए खुला छोड़ दे आप सुबह उठकर अपने बालो को शेम्पू से धो ले, ऐसा आप हफ्ते में एक से दो बार कर सकते है इससे आपके बल सिल्की मुलायम और घने हो जायेगे |

जैतून के तेल के फायदे उच्च रक्तचाप में – Olive Oil for High Blood Pressure in Hindi

एक शोध के अनुसार जो लोग हाई बीपी की दवाइयाँ ले रहे है यदि वो अपने खाने में जैतून के तेल का इस्तेमाल करते है तो वो अपने रक्तचाप के बढ़े हुए level को कम करने में सक्षम हो सकते हैं शोधकर्ताओं का मानना है कि जैतून के तेल में ओलिक एसिड आसानी से शरीर में अवशोषित हो जाता है, और इस प्रकार से यह रक्तचाप को कम करता है। यह तेल स्वस्थ मोनोसैचुरेटिड फैट की उपस्थिति के कारण हृदय की उम्र को भी बढ़ा देता है। जैतून के तेल का उपयोग आप खाना पकाने और स्वस्थ सलाद बनाने दोनों ही रूप तेल का उपयोग करें। जैतून के तेल खाने से शरीर का रक्त परिसंचरण सुधरता है। जिससे उच्च रक्तचाप (high BP) की समस्या दूर होती है

जैतून के तेल के लाभ त्वचा के लिए – olive oil for skin in Hindi

अगर आपकी त्वचा रुखी है और उसमे नमी की कमी है तो आप जैतून के तेल की मालिश से अपनी त्वचा को फिरसे जावा कर सकते है इसके लिए आपको आपको हलके गीले चेहरे पर जतुन के तेल से मालिश करनी है और 15 मिनिट्स के बाद चेहरे को धो लेना है जैतून के तेल में भरपूर मात्रा में विटामिन E होता है। एंटीऑक्सीडेंट होता है जो त्वचा को इन्फेक्शन से बचाये रखता है। जैतून के तेल को मोइस्चराइजर के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

अगर आपके चेहरे पर झुर्रिया होने लगी है तो olive oil आपके कम आ सकता है सबसे पहले आप थोडे से जैतून के तेल से अपने चहरे की मालिश करे। फिर बचे हुए तेल और नमक को मिला ले जिस से आपको एक्स्फोलिफ़्ट मिलेंगा। अब इसमें निम्बू का रस मिलाये, जिससे आपको ताजगी मिलेंगी। फिर इसे अपने चहरे के उस हिस्से पर लगाये जो रुखी और सुखी है। जैतून का तेल त्वचा के लिए एक अच्छा विकल्प है क्योकि यह चहरे को मोइस्चराइज रखता है। जिस से झुर्रियाँ नही आती।

जैतून के तेल के फायदे से मधुमेह का उपचार – Olive Oil for Diabetes in Hindi

वर्जिन ओलिव आयल शुगर की बीमारी के उपचार में सहायक है अगर इसका सेवन सही तरीके से किया जाये तो यह मधुमेह को होने से रोकता है यह इन्सुलिन की कार्यप्रणाली को बढ़ाता है जैतून का तेल, कम वसा वाले भोजन की तुलना में लगभग 50 प्रतिशत तक टाइप 2 मधुमेह के खतरे को कम कर सकता हैं। अमेरिकन जर्नल ऑफ़ क्लिनिकल न्यूट्रीशन का मानना है की जैतून के तेल का सेवन करने से महिलओं में डायबिटीज होने की सम्भावना बहुत कम होती है। अपने मुध्मेह के खतरे को कम क्जरने के लिए आपको अपने भोजन में जैतून के तेल को जरुर शामिल करना चाहिए प्रतिदिन 2 चम्मच जैतून के तेल का सेवन आपको टाइप 2 डायबिटीज के खतरे से बचाएगा तो आज से ही इसका सेवन चालू कर दें |

ऑलिव ऑयल का उपयोग करे कोलेस्ट्रॉल को कम – Olive Oil for Cholesterol in Hindi

जैतून तेल का सेवन आपके एलडीएल (LDL- low-density lipoproteins) कोलेस्ट्राल को कम करने में मदद करता है और एचडीएल (HDL- high-density lipoproteins) को बढ़ाता है इसका नियमित सेवन आपको ह्रदय रोगों से बचायेगा, जैतून के तेल का उपयोग dil को मजबूत बनता है और दिल के दौरे से बचाता है |

ऑलिव ऑयल वजन घटाने के लिए  – Olive Oil Helps  Weight loss in Hindi

जैतून के तेल को सही मात्रा में लेकर वजन घटाया जा सकता है। इसमें ज्यादातर स्वस्थ, मोनोसैचुरेटिड फैट होता हैजो फट को शरीर में जमने नहीं देता है, जिससे वजन और पेट की चर्बी को कम करने में मदद मिलती हैं। इसका उपयोग आप सलाद के ऊपर डालकर कर सकते है, हर दिन शुद्ध जैतून के तेल के 1 से 2 चम्मच तेल का सेवन आपको मोटापे से बचायेगा |

कैंसर से बचाव के लिए जैतून के तेल के फायदे – olive oil to prevent cancer in Hindi

ओलिवा आयल को कैंसर से बचाव के लिए मददगार माना जाता है। जैतून के तेल में युक्त पोलीफेनॉल्स (polyphenols) एंटीऑक्सिडेंटस जो सूजन को कम करने के रूप में काम करते हैं जो कैंसर सेल्स से लड़ने में प्रभावी है। स्पेन में किये गए एक अध्ययन के अनुसार जो महिलाए खाने में इस तेल का सेवन करते है उन्हें ब्रैस्ट कैंसर होने की  62% कम सम्भावना होती है। जैतून का तेल प्रोस्टेट, श्वसन तंत्र और कोलोरेक्टल कैंसर के खतरे को भी कम कर सकता हैं। कैंसर से बचने के लिए आप शुद्ध जैतून के तेल (extra-virgin olive oil) का सेवन करें |

जैतून के तेल का सेवन हड्डियाँ रखे मजबूत – olive oil for strong bones in Hindi

एक खोज में पता चला है की जो लोग जैतून के तेल में पका हुआ खाना खाते है उनकी हड्डियाँ मजबूत होती है। उनके खून में ओएस्तोकल्सिन की मात्रा ज्यादा होती है जो हड्डियों को मजबूत रखते है। आप इसका उपयोग खाना के साथ या ऊपर शरीर के किसी हिस्से की मालिश करने भी कर सकते है |

जैतून का तेल दिलाए कब्ज से छुटकारा – olive oil for constipation in Hindi

कब्ज़ के इलाज के लिए जैतून का तेल एक रामबाण घरेलू उपाय है। इसके सेवन से हमारी पाचन शक्ति बेहतर होती है और हमारी आंतो में चिकनाई होने से खाना आसानी से आगे सरकता है जिससे कब्ज़ बनने की सम्भावना कम होती है। इस तेल में ओमेगा 3 एसिड, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन इ होते है जो पाचन तंत्र के विकार को ठीक करके पाचन क्रिया बेहतर बनाते है। जिससे कब्ज़ का इलाज में मदद मिलती है।

जैतून के तेल के फायदे तेज दिमाग के लिए – Olive Oil for Brain in Hindi

ओलिव आयल खाने से दिमाग अपर अच्चा असर होया है इसी स्मरण सकती बढती है जो दिमाग को तेज करने में सहायता करती है जैतून का तेल हमें अल्जाइमर (भूलने की बीमारी ) से बचाता है जैतून के तेल में ओलेओकन्थल पदार्थ होता है जिससे वह अल्जाइमर बीमारी को रोकता है। और दिमाग की कमजोरी को दूर करने में मदद करता है olive oil का सेवन डिप्रेशन के ख़तरे से भी बचाता हैं।

जैतून तेल के उपाय अल्‍सर के लिए – Jaitun tel ke upay Ulcer ke liye in Hindi

ओलिव आयल अल्‍सर और विशेष रूप से अल्‍सरेटिव कोलाइटिस के लक्षणों को कम करने में सहायक होते हैं। जैतून के तेल में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। जिसके कारण यह अल्‍सर को रोकने और शरीर की कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाने में सहायक होते हैं। यदि आप भी अल्‍सर या इस तरह की अन्‍य समस्‍याओं से प्रभावित हैं तो जैतून तेल के लाभ प्राप्‍त करने पर विचार कर सकते हैं।

जैतून के तेल के फायदे गैलस्टोन को रोके – Jaitun ke tel ke fayde Gallstone ko roke in Hindi

यदि आप पित्‍त पथरी (Gallstone) की समस्‍या से परेशान हैं तो जैतून के तेल का प्रयोग आपके लिए फायदेमंद होता है। नियमित रूप से जैतून के तेल का सेवन करने के दौरान जैतून तेल के पोषक तत्‍व इस स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या के लक्षणों को प्रभावी रूप से कम कर सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि जैतून के तेल में लगभग सभी प्रकार के विटामिन और खनिज पदार्थों की अच्‍छी मात्रा होती है। साथ ही इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में भी सहायक होते हैं। आप भी गैलस्‍टोन के घरेलू उपचार के लिए जैतून तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

जैतून के तेल के लाभ डिप्रेशन कम करे – Jaitun tel ke labh Depression kam kare in Hindi

यदि आप तनाव और अवसाद जैसी समस्‍याओं से ग्रसित हैं तो घरेलू उपचार के रूप में जैतून के तेल का उपयोग कर सकते हैं। क्‍योंकि जैतून के तेल के फायदे तनाव को कम करने में सहायक होते हैं। जैतून के तेल में सेरोटोनिन (serotonin) नामक एक घटक होता है जो न्‍यूरोट्रांसपीटर के स्‍तर को बढ़ाने में सहायक होता है। इसका प्रमुख कार्य मूड और व्‍यवहार को विनियमित करना है। शरीर में सेरोटोनिन के स्‍तर में वृद्धि का सीधा म‍तलब तनाव और अवसाद आदि के स्‍तर में गिरावट आना। आप भी अपने तनाव और डिप्रेशन को कम करने के लिए अपने नियमित आहार में जैतून के तेल को शामिल कर सकते हैं।

जैतून के तेल के प्रयोग स्‍वस्‍थ पाचन के लिए – Jaitun ke tel ka pryog swasth Pachan ke liye in Hindi

पाचन संबंधी अनियमितताओं को दूर करने में जैतून का तेल प्रभावी होता है। नियमित रूप से सेवन करने के दौरान जैतून का तेल पाचन प्रक्रिया और आंत्र की कार्यप्रणाली में सुधार करने में मदद करता है। यदि आप भी पाचन संबंधी समस्‍याओं से परेशान हैं तो सामान्‍य रूप से जैतून के तेल को अपने आहार में शामिल करें। क्‍योंकि जैतून के तेल के लाभ पाचन तंत्र को मजबूत करने में प्रभावी माने जाते हैं।

जैतून के तेल से करें गठिया का इलाज – Jaitun ke tel se kare gathiya ka ilaj in Hindi

एक अध्‍ययन के अनुसार लोगों को जैतून के तेल का सेवन करने की सलाह दी जाती है। विशेष रूप से जैतून का तेल गठिया के रोगियों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। गठिया के रोगी को एक्‍स्‍ट्रॉ वर्जिन ऑलिव ऑयल का सेवन करना चाहिए। जैतून के तेल में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। जिसके कारण जैतून का तेल जोड़ों के एक ऑटोइम्‍यून रोग को रोकने में प्रभावी होता है। जैतून के तेल से गठिया का उपचार करने के लिए आप जैतून के तेल को आहार के रूप में सेवन कर सकते हैं। इसके अलाव आप जैतून के तेल को किसी अन्‍य तेल जैसे बादाम, नारियल या सरसों के तेल के साथ मिलाकर प्रभावित क्षेत्र की मालिश भी कर सकते हैं। ऐसा करने पर आपको गठिया की सूजन और दर्द दोनो से राहत मिल सकती है।

ऑलिव ऑयल बेनिफिट्स फॉर फेस – Olive Oil benefit for Face in Hindi

स्‍वास्‍थ्‍य लाभ होने के साथ ही जैतून तेल के फायदे आपके चेहरे और सुंदरता के लिए भी होते हैं। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि जैतून का तेल एंटीऑक्‍सीडेंट से भरा होता है। जिसके कारण यह त्‍वचा कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाता है। आइए विस्‍तार से जाने जैतून तेल के फायदे त्‍वचा के लिए क्‍या हैं।

जैतून तेल के लाभ त्‍वचा को मॉइस्‍चाइज करे – Olive Oil for Skin Moisturizer in Hindi

आप अपने चेहरे की त्‍वचा को प्राकृतिक रूप से मॉइचराइज रखने के लिए जैतून के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। नियमित रूप से त्‍वचा में जैतून का तेल उपयोग करने से यह त्‍वचा में आसानी से गहराई तक अवशोषित कर लिया जाता है। जिससे यह त्‍वचा को लंबे समय तक नरम और कोमल बनाए रखता है। आप भी अपने चेहरे पर रासायनिक मॉइस्चराइजर के स्‍थान पर प्राकृतिक जैतून के तेल का उपयोग कर सकते हैं।

जैतून तेल शुष्‍क त्‍वचा का उपचार करे – Jaitun tel Dry Skin ka Upchar kare in Hindi

जैसा कि आप ऊपर जान चुके हैं कि जैतून के तेल में मॉइस्‍चराइजिंग गुण होते हैं। इस कारण यह उपयोग करने पर त्‍वचा की शुष्‍कता को भी दूर करने का सबसे अच्‍छा विकल्‍प बन जाता है। जिन लोगों को शुष्‍क त्‍वचा संबंधी समस्‍याएं होती हैं उन्‍हें ड्राई स्किन के उपचार के लिए जैतून के तेल का इस्‍तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

जैतून तेल का प्रयोग मेकअप हटाने के लिए – Jaitun tel ka prayog makeup hatane ke liye in Hindi

लगभग सभी महिलाएं अपनी सुंदरता को बढ़ाने के लिए मेक‍अप का उपयोग करती हैं। लेकिन कुछ देर के बाद यह मेकअप उनकी समस्‍या बन जाता है। क्‍योंकि मेकअप आसानी से नहीं साफ होता है। लेकिन आप अपने चेहरे के मेकअप को हटाने के लिए जैतून के तेल का उपयोग कर सकते हैं। जैतून के तेल में रूई को भिगोएं और उससे अपने चेहरे को धीरे-धीरे पोछें। आप अपनी आंख के नीचे के मेकअप को हटाने के लिए भी जैतून के तेल का ही उपयोग कर सकते हैं। लेकिन इस बात का ध्‍यान दें कि यह तेल आपकी आंखों में ना जाए। क्‍योंकि जैतून का तेल बहुत ही शक्तिशाली तेल होता है जिससे आपकी आंखों में जलन हो सकती है।

जैतून का तेल फटी एड़ीयों के लिए लाभकारी – Olive Oil for Healing Skin of cracked heel in Hindi

बहुत सी महिलाओं को एड़ीयों के फटने संबंधी समसयाएं होती हैं। लेकिन आप इस प्रकार की समस्‍या का समाधान जैतून के तेल से कर सकते हैं। जैतून के तेल में मॉइस्‍चराइजिंग गुण होते हैं जो एड़ी की कठोर त्‍वचा को नरम बनाने में सहायक होते हैं। जिससे ए‍ड़ी के फटने जैसी समस्‍याओं से बचा जा सकता है।

जैतून का तेल बालों के लिए लाभकारी – jaitun ka tel balo ke liye Labhkari in Hindi

ओलिव आयल औषधीय गुणों से भरपूर होता है जो स्‍वास्‍थ्‍य और सौंदर्य समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होता है। आपके बाल भी आपकी सुंदरता बढ़ाने में सहायक होते हैं। साथ ही यह आपके शरीर के अभिन्‍न हिस्‍सों में से एक है। आप अपने बालों को स्‍वसथ और सुंदर बनाने के लिए भी जैतून के तेल का प्रयोग कर सकते हैं। आइए जाने जैतून का तेल बालों के लिए किस प्रकार लाभकारी होता है।

जैतून का तेल बालों को लंबा करे – Jaitun ka tel balo ko lamba kare in Hindi

उम्र बढ़ने के साथ ही बालों में वृद्धि कम होने लगती है। लेकिन यदि युवा अवस्‍था में ही बालों में वृद्धि कम हो जाए तो इसका उपचार किया जाना चाहिए। यदि आप भी बालों में होने वाली वृद्धि से संतुष्‍ट नहीं हैं तो जैतून के तेल का उपयोग करें। जैतून का तेल सिर से सीबम को हटाने में मदद करता है। सीबम एक प्राकृतिक पदार्थ है लेकिन इसका अधिक उत्‍पादन बालों की वृद्धि में रूकावट बन सकता है। इसके अलावा जैतून के तेल को बालों में लगाने से यह बालों को उचित और पर्याप्‍त विट‍ामिन प्रदान करते हैं। जिससे आपके बाल मजबूत होते हैं।

जैतून का तेल बालों को नरम बनाएं – jaitun ka tel balo ko naram Banaye in Hindi

महिला हो या पुरुष सभी की इच्‍छा होती है कि उनके बाल नरम और चमकदार हों। यदि आप भी ऐसा ही चाहते हैं तो बालों में जैतून के तेल का उपयोग करें। इसके लिए आप जैतून के तेल को हल्‍का गुनगुना करें और इससे अपने सिर की मालिश करें। ऐसा करने से यह बालों की गुणवत्‍ता को सुधारने और उन्‍हें नरम रखने में सहायक होता है।

ऑलिव ऑयल फॉर डैंड्रफ – Olive Oil for Dandruff in Hindi

बालों की सबसे बड़ी समस्‍या रूसी या डैंड्रफ होती है। जिससे हर कोई छुटकारा चाहता है। डैंड्रफ का इलाज करने के लिए भी जैतून का तेल इस्‍तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए आप जैतून के तेल में ताजा नींबू के रस की 1-2 बूंदे मिलाएं। इस तेल से अपने सिर की मालिश करें। नींबू और जैतून तेल के एंटीऑक्‍सीडेंट मिलकर डैंड्रफ और सिर में मौजूद बैक्‍टीरिया को दूर करने में सहायक होते हैं। इसके अलाव इन दोनों घटकों के पोषक तत्‍व बालों की जड़ को मजबूत करने में मदद करते हैं।

जैतून का तेल बच्‍चों की मालिश के लिए अच्‍छा है – Olive Oil Good for baby massage in Hindi

ओलिव आयल से मालिश करने पर मांसपेशियों की थकान को दूर करने में मदद मिलती है। इसके अलावा अपने शौम्‍य गुणों के कारण जैतून का तेल बच्‍चों की मसाज के लिए बहुत ही अच्‍छा माना जाता है। इस तेल से मालिश करने के दौरान यह तनाव को नियंत्रित करने वाले हार्मोन को उत्‍तेजित करने में सहायक होता है। इसके अलावा जैतून का तेल एक्जिमा जैसी अंतर्निहित त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को भी प्रभावी रूप से दूर कर सकता है। आप भी अपने छोटे शिशुओं की मालिश के लिए जैतून के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – नवजात शिशु की मालिश करने के बेहतर तरीके)

जैतून के तेल के नुकसान – Olive Oil Side Effects in Hindi

  • जैतून के तेल से किसी को एलर्जिक रिएक्शन हो सकती है तो इस बात का ध्यान रखे।
  • त्वचा पर जैतून का तेल का ज्यादा इस्तेमाल मुँहासे का कारण बन सकता है।
  • अगर त्वचा oily है, तो इसके चिपचिपेपन से जैतून का तेल इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।
  • जैतून का तेल बहुत ज़्यादा ही शुष्क त्वचा (dry skin) के लिए एक अच्छा विकल्प नहीं है।
  • ओलिव आयल की अधिक खपत रक्तचाप में भारी गिरावट पैदा कर सकती है।
  • जैतून के तेल की उच्च वसा की मात्रा पाचन विकार उत्पन्न कर सकती है और दस्त जैसे समस्याओं को पैदा कर सकती है।
  • जैतून की अधिक मात्रा में सेवन अनावश्यक वजन बढ़ने के प्रमुख दुष्प्रभावों में शामिल है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration