अगर चाहिए परीक्षा के समय तेज दिमाग तो बच्चों के आहार में सामिल करें इन चीजो को – Healthy food during exam in hindi

अगर चाहिए परीक्षा के समय तेज दिमाग तो बच्चों के आहार में सामिल करें इन चीजो को - Healthy food during exam in hindi
Written by Sneha

एग्जाम यानि की परीक्षा के समय बच्चों को सही आहार देना बहुत ही ज्यादा जरूरी हैं। परीक्षा में बेहतर परिणाम पाने के लिए सिर्फ पढ़ाई ही नहीं, बल्कि खानपान भी महत्व रखता हैं। परीक्षाएं शुरू होने के साथ छात्रों के सामने यही टेंशन होती है कि कैसे समय भी बर्बाद न हो और कुछ ऐसा खाया जाए जिससे तेज दिमाग हो और दिमाग को पोषण और ऊर्जा भी मिले। इस बार अपने स्टडी प्लान में पढ़ाई के अलावा अच्छा और पौष्टिक खाद्य पदार्थ भी शामिल करें और परिणाम में फर्क पाएं।

परीक्षाओं का दौर शुरू होने के साथ ही बच्चों में घबराहट व तनाव का स्तर भी तेज़ी से बढ़ने लगता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों और मनोचिकित्सकों के मुताबिक परीक्षा में अच्छे प्रदर्शन के लिए इस तनाव को कम करने के साथ-साथ उनको एक बेहतर लाइफ और पौष्टिक खान-पान देने की जरूरत होती है। तो सुनिश्चित करें कि आपके बच्चे को पर्याप्त पोषण मिले, तनाव का सामना उसे कम-से-कम करना पड़े और वह परीक्षा में अपना सबसे श्रेष्ठ प्रदर्शन कर सके।

आज हम जानेंगे की परीक्षा के समय बच्चों के आहार को किस प्रकार मेन्टेन रखना चाहिए? परीक्षा के समय विद्यार्थियों के आहार में किन चीजो को सामिल करना चाहिए?

परीक्षा के समय तेज दिमाग के लिए डाइट प्लान- Healthy food during exam in hindi

प्रोटीन देगा लम्बे समय तक पढ़ने की उर्जा – Protein will give long-term reading energy in hindi

प्रोटीन के सेवन से हमें लम्बे समय तक उर्जा की प्राप्ति होती हैं। इसलिए अगर आपका बच्चा परीक्षा दे रहा हैं तो उसके आहार में प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थो को जरूर शामिल करे। जैसे की आप बच्चे को सुबह के नाश्ते में अंडे, पोहा, इडली या डोसा खिलाएँगी तो बच्चा दिनभर उर्जावान रहेगा।

(और पढ़े: किशोरावस्था की शुरुआत और पैरेंट्स की ज़िम्मेदारियाँ)

परीक्षा में टॉप करना चाहते हैं तो खाएं कार्बोहाइड्रेट्स  top in exam then eat Carbohydrates in hindi

कार्बोहाइड्रेट्स हमारे शरीर में किसी इंधन की तरह की काम करते हैं। कम समय में ज्यादा एनर्जी लेने के लिए कार्बोहाइड्रेट्स लेना ज्यादा लाभकारी होता हैं। क्योंकि यह ग्लूकोज़ को उर्जा में परिवर्तित करके दिमाग तक उसे पहुचाते हैं। इससे एकाग्रता बनाये रखते में सहायता मिलती हैं। कार्बोहाइड्रेट्स को आप केला,  गाजर, सलाद, आलू, सेब, जामुन और ब्राउन ब्रेड से प्राप्त कर सकते हैं। एक्‍जाम से पहले केला खाना अच्‍छा माना जाता है क्योंकि इसमें पाए जाने वाला पोटैशियम तेज दिमाग करने और दिमाग को हमेशा अलर्ट रखने में हेल्प करता है।
केला विटामिन बी6 का अच्‍छा स्त्रोत होता है, जो नर्वस सिस्टम को मजबूत करता है। याददाश्त और दिमाग को तेज करता है।
इसमें ट्राईप्टोफान एमिनो एसिड होता है, जो हार्मोन उत्पन्न करता है। इससे तनाव दूर रहता है और दिमाग को ठंडा रखता है।

ओमेगा-3 फैटी एसिड से दिमाग होगा तेज – Brain-intensifier Omega-3 fatty acids in hindi

परीक्षा के समय बच्चों को ओमेगा-3 फैटी एसिड की अत्यधिक जरूरत होती हैं। यह दिमाग को सही काम करने और फोकस करने में मदद करता हैं। इसकी मदद से बच्चे की याद करने की शक्ति में बढ़ोतरी होती हैं, जिससे बच्चा किसी भी पाठ को आसानी से याद कर लेता हैं। मछली में ओमेगा थ्री फैटी एसिड होते हैं, जो हमारे मस्तिष्‍क को बेहतर काम करने में मदद करते हैं।

हमारा शरीर स्‍वयं इन फैटी एसिड का निर्माण नहीं कर सकता। तो, ऐसे में आपको ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए, जिनमें ये तत्‍व मौजूद हों। सालमन, ट्रॉट, मैक्‍रेल और हेरिंग आदि मछलियों में यह तत्‍व भरपूर मात्रा में पाया जाता है।  ऑयली मछलियाँ ओमेगा-3 फैटी एसिड का सबसे बेहतरीन स्रोत मानी जाती हैं। इसके अलावा ओमेगा-3 फैटी एसिड ओलिव ऑयल, अलसी के बीज, सोयाबीन ऑयल, कद्दू के बीज, अखरोट के तेल और सोयाबीन के माध्‍यम से भी ओमेगा फैटी थ्री एसिड प्राप्‍त कर सकते|

आयरन और विटामिन बी बढ़ाये मानसिक और शारीरिक उर्जा – Iron and vitamin B increases mental and physical energy in hindi

इससे बच्चे के शरीर में मानसिक और शारीरिक उर्जा बनी रहती हैं और पढ़ाई के दौरान उन्हें आराम मिलता हैं। आपने भोजन में विटामिन बी और आयरन युक्त  आहार जैसे दाल, पालक, सोयाबीन, मछली, रेड मीट ,अनाज, अंडा शामिल  करें। यह आपको मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ बनाए रखने में मदद करेगा। जबकि विटामिन बी आपको बादाम, अनाज, गेंहू के बीज और अंडे से आसानी से मिल जायेगा।

विटामिन या आयरन की गोलियां खाने की बजाय इससे युक्त फल और अनाज खाएं। जैसे विटामिन सी की गोली लेने की जगह संतरा, नींबू या रसीले फल खाएं। ये न केवल विटामिन सी से भरपूर होते हैं बल्कि इनमें फाइबर, बीटा कैरोटीन या अन्य खनिज भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।

(और पढ़े: क्या आपके बच्चे का वजन अधिक है ?आप वजन कम करने में बच्चे की मदद कर सकते हैं)

जिंक है याददाश्‍त बढ़ाने में मददगार Zinc is helpful in enhancing memory in hindi

बच्चे के विचार करने की शक्ति और याददाश्त को जिंक जैसे खनीज लवण की सहायता से बढ़ाया जा सकता हैं। लेकिन हमारे शरीर को इसकी ज्यादा मात्रा की जरूरत नहीं पड़ती हैं। इसे आप सी फ़ूड, अंकुरित चने आदि के जरिये आप प्राप्त कर सकते हैं।

जिंक हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को भी दुरुस्त रखने में मदद करता हैं। कद्दू के बीज में जिंक काफी प्रचुर मात्रा में होता है। रोज इनका सेवन करने से मस्तिष्‍क की कार्यक्षमता में इजाफा होता है। जिंक याददाश्‍त बढ़ाने और सोचने-समझने की शक्ति बढ़ाने में काफी मददगार होता है।

(और पढ़े: ये है वो 8 फूड्स जिनको बच्चों को खिलाने से जल्दी बढ़ेगी हाइट)

नट्स का सेवन करे मानसिक क्षमता में इजाफा – Nuts increase mental capacity in hindi

अमेरिकन जर्नल ऑफ एपिडेमिओलॉजी के अनुसार विटामिन सी का पर्याप्‍त सेवन से मानसिक क्षमता में इजाफा होता है। नट्स विटामिन ई के उच्‍च स्रोत होते हैं। इसके साथ ही हरी पत्‍तेदार सब्जियां, पालक, ऑलिव, बीज, अंडे, ब्राउन राइस और साबुत अनाज में भी भरपूर मात्रा में विटामिन ई होता है। तेज दिमाग करने के लिए नट्स का सेवेन जरुर करना चाहिए |

कॉफ़ी या किसी एनर्जी ड्रिंक के अधिक सेवन से बचें – Avoid excessive consumption of coffee or any energy drink in hindi

कॉफ़ी में कैफीन की बहुत ज्यादा मात्रा पाई जाती हैं जिसकी वजह से फोकस करने में मदद तो मिलती हैं, लेकिन यह हमारी भूख को कम कर देती हैं। जिससे धीरे-धीरे हमारे शरीर का एनर्जी लेवल भी कम हो जाता हैं। और तो और कॉफ़ी को पीने से आपको डिहाइड्रेशन की समस्या भी हो सकती हैं।

तेज दिमाग के लिए तनावरहित रहे, इसके लिए काफी और मीठे स्नैक्स से दूर रहें। प्रोटीन और विटामिन युक्त भोजन के अलावा पानी खूब पिएं। तेज दिमाग पाने के लिए परीक्षा के समय के दौरान विशेष रूप से खान-पान का ध्यान रखना जरूरी है। इसलिए चाकलेट, कार्बोहाइड्रेट वाले स्नैक्स, बिस्कुट, मीठा, स्क्वैश या कोल्ड ड्रिंक पीने से बचें। यह एकाग्रता में बाधक हैं। इससे रिवीजन में भी परेशानी महसूस होती है। चाय, काफी या किसी एनर्जी ड्रिंक के अधिक सेवन से बचें। दोपहर को भरपेट खाने, जंक फूड, पिज्जा, मैगी, चिप्स या सैंडविच खाने से बचे। इनसे आलस आता है। केक, पेस्ट्री, या तैलीय चीजें भई न खाएं। यह नसों से दिमाग तक संदेश पहुंचने की प्रक्रिया को धीमा कर देते हैं। इससे पढ़ी हुई बात को याद रखने में परेशानी आती हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration