कब्ज के कारण और घरेलू इलाज - Constipation cause and treatment in hindi
बीमारी

कब्ज के कारण और इलाज – Constipation cause and treatment in hindi

कब्ज के कारण और इलाज - Constipation cause and treatment in hindi

kabj in hindi आमतौर पर मल त्यागने में कठिनाई होने की स्थिति को कब्ज कहा जाता है। पेट में कब्ज होने से मल सूख जाता है या कठोर हो जाता है, जिसके कारण व्यक्ति को अन्य परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। कब्ज की समस्या प्रत्येक व्यक्ति में भिन्न-भिन्न होती है।

उम्र बढ़ने के साथ ही लोगों में कब्ज की समस्या भी तेजी से उत्पन्न होती है और मलोत्सर्ग (bowel movements) की क्रिया भी धीमी पड़ जाती है। प्रतिदिन कम से कम एक बार मल त्यागना जरूरी होता है, लेकिन ज्यादातर लोग अनियमित रूप से मल त्यागते हैं और इस कारण उनके पेट में कब्ज बनना शुरू हो जाता है। कब्ज के कारण जी मिचलाना, उल्टी और पेट में भारीपन की भी समस्या हो सकती है। अतः आज इस लेख में आप कब्ज के कारण, लक्षण और कब्ज दूर करने के लिए घरेलू इलाज के बारे में जानेगें।

कब्ज होने के कारण – causes of constipation in Hindi

kabj hone ke karan in Hindi आमतौर पर पेट में कब्ज कई कारणों से होता है। कब्ज होने के कुछ प्रमुख कारण निम्न हैं;-

  • पर्याप्त पानी न पीना या भोजन में फाइबर शामिल न करने से कब्ज की समस्या हो सकती है।
  • अत्यधिक मात्रा में डेयरी उत्पादों के सेवन से कब्ज होता है।
  • शारीरिक कार्य न करने से भी यह समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • अधिक तनाव (stress) एवं कुछ विशेष दवाओं जैसे नशीली दवाओं (narcotics)  और दर्द निवारक एवं आयरन की गोलियां खाने से भी कब्ज हो सकता है।
  • कब्ज का एक प्रमुख कारण अधिक देर तक खाली पेट रहने और अस्वस्थ भोजन करना भी हो सकता है।
  • पाचन तंत्र की तंत्रिकाओं एवं मांसपेशियों में कोई परेशानी होने पर कब्ज हो सकता है।
  • गर्भावस्था के दौरान भी कब्ज का कारण बन सकती है।
  • अच्छी नींद न लेना और पर्याप्त मात्रा में तरल का सेवन न करना कब्ज होने का कारण बनता है।
  • कोलन कैंसर (colon cancer), न्यूरोलॉजिकल विकार जैसे पर्किंसन और हाइपोथॉइरायडिज्म के कारण भी कब्ज की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

कब्ज के लक्षण – symptoms of constipation in Hindi

कब्ज की समस्या उत्पन्न होने पर कई तरह की परेशानियां उत्पन्न होने लगती हैं। इस समस्या के उत्पन्न होने का एक प्रमुख लक्षण मल का कठोर (hard stool) होना या मल त्यागने में परेशानी होना है। इसके अलावा कब्ज के दौरान निम्न लक्षण देखने को मिलते हैं, जैसे:-

कब्ज का घरेलू इलाज – Constipation home treatment in Hindi

कब्ज का घरेलू इलाज - Constipation home treatment in Hindi

kabj ka gharelu ilaj in hindi कब्ज एक ऐसी बीमारी है, जिसका इलाज घर पर ही किया जा सकता है। आइये जानें कि कब्ज होने पर कौन-कौन से घरेलू इलाज फायदेमंद होते हैं।

कब्ज दूर करने के लिए नींबू पानी का सेवन – Lemon water for constipation in Hindi

कब्ज दूर करने के लिए नींबू पानी का सेवन - Lemon water for constipation in Hindi

प्रतिदिन नींबू पानी का सेवन कब्ज को दूर करने का घरेलू प्रभावी उपाय है। नींबू में पाया जाने वाला साइट्रिक एसिड पाचन तंत्र को उत्तेजित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और शरीर से विषाक्त पदार्थों (toxins) को बाहर निकालकर कब्ज में राहत प्रदान करता है। एक गिलास पानी में नींबू निचोड़कर प्रतिदिन सुबह पीयें या नींबू की चाय (lemon tea) बनाकर पीने से कब्ज की समस्या दूर की जा सकती है। इसके अलावा नींबू-पानी का सेवन करने से भी कब्ज दूर हो जाता है।

(और पढ़े – नींबू पानी पीने के फायदे जानकर आप अपने दिन की शुरुआत इसे पीकर ही करेंगे)

कॉफी पीने से नहीं होता कब्ज – Coffee for constipation in Hindi

कॉफी पीने से नहीं होता कब्ज - Coffee for constipation in Hindi

बृहदान्त्र (colon) को उत्तेजित करने में कॉफी बहुत सहायक होती है। यह पेशाब की गति को तीव्र करती है और शरीर से हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालती है। हॉट ड्रिंक और हर्बल चाय का सेवन भी कब्ज की दवा के रूप में किया जाता है।

कब्ज दूर करने के लिए खाएं किशमिश – Raisins for constipation in Hindi

कब्ज दूर करने के लिए खाएं किशमिश - Raisins for constipation in Hindi

किशमिश में टार्टरिक एसिड और उच्च मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो कब्ज का उपचार करने में मदद करता है। स्टडी में पाया गया है कि प्रतिदिन किशमिश का सेवन करने से पाचन तंत्र मजबूत होता है और इसमें मौजूद फाइबर भोजन को आसानी से पचा देता है जिससे कि कब्ज की समस्या नहीं होती है।

(और पढ़े – किशमिश के फायदे और नुकसान)

अरंडी के तेल से नहीं होता कब्ज – Castor oil for constipation in Hindi

अरंडी के तेल से नहीं होता कब्ज - Castor oil for constipation in Hindi

कब्ज की आयुर्वेदिक दवा के रूप में अरंडी के तेल बहुत लोकप्रिय है। खाली पेट 1 या 2 चम्मच अरंडी के तेल (Castor oil) का सेवन करने से कब्ज दूर हो जाता है। अरंडी के तेल में इस तरह के यौगिक पाये जाते हैं जो बड़ी और छोटी आंत को उत्तेजित करते हैं और पेट साफ न होने के कारण उत्पन्न कब्ज की समस्या को दूर करने में प्रभावी रूप से कार्य करते हैं।

(और पढ़े – अरंडी के तेल के फायदे त्वचा और बाल में)

एक्सरसाइज है कब्ज का घरेलू इलाज – Exercise for constipation in Hindi

प्रतिदिन करीब 15 मिनट टहलने या एक्सरसाइज करने से पाचन तंत्र बेहतर होता है। यदि ज्यादा खाने के बाद आपको कब्ज या भारीपन महसूस होता है तो आप लेटने की बजाय थोड़ी देर टहल सकते हैं इससे पाचन की क्रिया बेहतर होती है और पेट में कब्ज की समस्या नहीं होती है।

कब्ज होने पर पर्याप्त पानी पीयें – Water for constipation in Hindi

कब्ज होने पर पर्याप्त पानी पीयें - Water for constipation in Hindi

अधिक पानी पीते रहने से शरीर में पाचन की क्रिया आसान हो जाती है और यह मांसपेशियों के कार्यों को भी बेहतर बनाने में मदद करता है। जब शरीर में पर्याप्त मात्रा में पानी होता है तो यह पाचन तंत्र (digestive tract) में पोषक तत्वों को संसाधित करता है और विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालता है। इसलिए कब्ज की समस्या का इलाज करने के लिए प्रतिदिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए।

(और पढ़े – डिहाइड्रेशन से बचने के घरेलू उपाय, जानलेंगें तो कभी नहीं होगी पानी की कमी )

कब्ज होने पर खाएं बीन्स – kabj hone par khayein Beans in Hindi

कब्ज होने पर खाएं बीन्स - kabj hone par khayein Beans in Hindi

बीन्स में फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है और इसका सेवन करने से मल भी कठोर नहीं होता है। इसके अलावा बीन्स में प्रोटीन और जरूरी पोषक तत्व की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो शरीर की कोशिकाओं को विकसित करने में तथा मांसपेशियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है और कब्ज की समस्या को भी दूर करता है।

बेकिंग सोडा पानी कब्ज में फायदेमंद – Baking Soda and Warm Water for constipation in Hindi

बेकिंग सोडा पानी कब्ज में फायदेमंद - Baking Soda and Warm Water for constipation in Hindi

आधे गिलास पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर पीने से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है। यह घोल कब्ज के कारण पेट में होने वाले दर्द, जी मिचलाना और पेट में ऐंठन की समस्या को भी दूर करने में मदद करता है और इसमें मौजूद बाइकार्बोनेट कब्ज के कारण सीने में जलन (chest sensation) की भी समस्या को दूर करता है। इसलिए बेकिंग सोडा और पानी का नियमित सेवन कब्ज का रामबाण इलाज है।

(और पढ़े – बेकिंग पाउडर और बेकिंग सोडा में अंतर)

कब्ज दूर करने के लिए हेल्दी फैट खाएं – Healthy fats for constipation in Hindi

कब्ज दूर करने के लिए हेल्दी फैट खाएं - Healthy fats for constipation in Hindi

ऑलिव ऑयल, अखरोट और एवोकैडो में हेल्दी फैट पाया जाता है जो आंत को चिकना बनाता है और कब्ज की समस्या को दूर करता है। कब्ज से निजात पाने के लिए फाइबर युक्त हरी पत्तेदार सब्जियां, ऑलिव ऑयल और मुट्ठी भर अखरोट (nut) का सेवन सलाद के रूप में करना चाहिए। यह उपाय कब्ज के घरेलू इलाज में काफी लाभदायक है।

कब्ज का देशी इलाज है सीसम के बीज – Sesame seeds for constipation in Hindi

कब्ज का देशी इलाज है सीसम के बीज - Sesame seeds for constipation in Hindi

आंतों को मॉश्चराइज करने में सीसम ऑयल बहुत फायदेमंद होता है। यह मल को सूखने नहीं देता है और पेट में कब्ज बनने से बचाता है। कब्ज दूर करने के लिए सीसम के बीज का सेवन सलाद के रूप में भी किया जाता है। अतः यदि आप कब्ज की आयुर्वेदिक दवा खोज रहे है, तो इसके लिए सीसम के बीज का चुनाव करना काफी उचित है।

(और पढ़े – पेट साफ करने और कब्ज दूर करने के योग)

कब्ज से परेशान हैं तो गुड़ खाएं – Molasses for constipation in Hindi

कब्ज से परेशान हैं तो गुड़ खाएं - Molasses for constipation in Hindi

रात में सोने से पहले प्रतिदिन गुड़ (jaggery) का सेवन करने से सुबह पेट साफ आसानी से होता है और कब्ज की समस्या नहीं होती है। इसके अलावा गुड़ को पानी में उबालकर भी इसका सेवन किया जा सकता है। इसमें विटामिन, खनिज और मैग्नीशियम पाया जाता है, जो कब्ज का जड़ से इलाज करता है।

 

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration