अगर आपको भी पेट फूलने की समस्या है तो अपनाएं इन टिप्स को – Bloating Causes and Home Remedies in Hindi

अगर आपको भी पेट फूलने की समस्या है तो अपनाएं इन टिप्स को – Bloating Causes and Home Remedies in hindi
Written by Deepanshu

Bloting in hindi पेट का फूलना एक गंभीर समस्या है। आंतों में गैस भर जाने के कारण ये समस्या उत्पन्न होती है। पेट के फूलने का मुख्य कारण गैस जैसी असामान्यताएं हैं जो छोटे से छोटे पेट को फुला सकती हैं। इसे हम पेट की सूजन के नाम से भी जानते हैं। गलत जीवनशैली और गलत चीजों के खाने के कारण ये समस्या आज बहुत आम हो गयी है। अगर आप पेट फूलने की समस्या से पीड़ित है तो इसे हटाने के लिये पेट फूलने की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय Home Remedies for Bloated Stomach को अपना सकते हैं। आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिए पेट फूलने के कारण, इससे होने वाली विभिन्न बीमारियां और इसके उपचार के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

पेट फूलने के कारण – Pet Phoolne Ke Karan in Hindi

अक्सर पेट फूलने का मुख्य कारण गैस होती है लेकिन गैस के आलावा भी पेट फूलने के कई कारण हो सकते है जैसे कब्ज, गलत आहार, जल्दी जल्दी खाना, खाना खाते समय बात करना, गैस ना निकलना, अपच , खाना के साथ अधिक पानी पीना, पेप्टिक अल्सर आदि।

पेट फूलने की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Bloated Stomach in Hindi

पेट फूलने की समस्‍या किसी भी व्‍यक्ति को हो सकती है। हालां‍कि इससे घबराने की आवश्‍यकता नहीं है क्‍योंकि यह सामान्‍य है। लेकिन यदि यह समस्‍या लंबे समय तक बनी रहती है तो इसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं। आइए जाने पेट फूलने की समस्‍या दूर करने के घरेलू उपाय क्‍या हैं।

अजवायन है पेट फूलने का घरेलू इलाज – Carom Seeds For Bloated Stomach in Hindi

शायद ही ऐसा कोई घर हो जहा आजवायन को प्रयोग नहीं होता हो। पेट फूलने के कारण मनुष्य को  बेचैनी और घबराहट तक होने लगती है। अकसर लोगों की शिकायत रहती है कि ज्यादा खाना खा लने क कारण पेट फूल गया है। ऐसे में आप थोड़ी सी अजवायन को सेंधा नमक के साथ अच्छी तरह चबाएं। इसके बाद गुनगुना पानी पी लें। इससे पेट में गैस से जल्दी राहत मिलेगा।

(और पढ़े – अजवाइन के फायदे और नुकसान)

गुनगुने पानी से करें पेट फूलने का घरेलू इलाज – Warm Water For Bloating in Hindi

गर्म पानी का इस्तेमाल हम कई चीजों के लिए करते है  लेकिन पेट के सूजन या पेट फूलने पर यह काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। अगर आपको  पेट में भारीपन या फूलने जैसा अहसास होता है तो यह गर्म या गुनगुने पानी से ठीक हो सकता है।

(और पढ़े – गर्म पानी पीने के फायदे जानकर हैरान हो जायेंगे आप)

पेट फूलने का घरेलू इलाज है आहार में पोटेशियम – Potassium For Bloated Stomach in Hindi

पोटेशियम में शरीर में तरलता को संतुलित करने का गुण होता है जो फूलने की समस्या को दूर रखता है।  केला, टमाटर, पालक, आम , नट आदि में पोटेशियम का प्रचुर मात्रा होता है। इससे पेट फूलने की समस्या से राहत मिलती है।

(और पढ़ें – पोटैशियम के कार्य, मात्रा, स्रोत, फायदे और नुकसान)

पेट फूलने की समस्या को दूर करने के लिए केला खाएं – Banana For Bloating in Hindi

केला फाइबर का बेहतरीन स्त्रोत होता है । ये कब्ज़ से जुड़ी गैस एवं पेट के फूलने की समस्या का उपचार करता है।

(और पढ़े – रोज सुबह केला और गर्म पानी के सेवन के फायदे जानकर दंग रह जाएगे आप)

पेट फूलने का घरेलू उपचार है सौंफ – Fennel Seeds For Bloated Stomach in Hindi

सौंफ के बीजों में एंटी माइक्रोबियल गुण होते हैं, जिसकी वजह से ये पेट के दर्द, गैस की जलन और पेट फूलने की समस्या से आपको निजात दिलाने की क्षमता रखते हैं। यह हाजमे की प्रणाली की मांसपेशियों की अकडन को दूर करके आपके पेट का फूलना ठीक करते हैं।

(और पढ़े – सौंफ खाने के 10 फायदे)

दही खाकर करें पेट फूलने की समस्या को दूर – Curd For Stomach Bloating in Hindi

दही में बैक्‍टीरिया होता है, जिससे पाचन तंत्र हमेशा ठीक रहता है तथा खाना भी हजम हो जाता है। गर्मियों के दिनों में दही का सेवन करने से गैस की समस्या नहीं होती और पेट नहीं फूलता।

(और पढ़े – दही खाने से सेहत को होते हैं ये बड़े फायदे)

पेट की गैस को निकलने के लिए गर्म नींबू पानी – Lemon Water For Bloating in Hindi

जादातर केसों में पेट फूलने का मुख्य कारण गैस बनाना होता है। इसे दूर करने के लिए आप नींबू पानी पी सकते है अगर आप हल्का गर्म नीबू पानी पियेगें तो जल्दी ही गैस पास हो जाएगी और पेट में गैस बनना भी बंद हो जायेगा।

(और पढ़े – गर्म नींबू पानी पीने के फायदे जानकर आप अपने दिन की शुरुआत इसे पीकर ही करेंगे)

पेट फूलने से बचने के लिए ऐसा हो आपका आहार –Diet For Avoid Stomach Bloating in Hindi

पेट फूलने की समस्या से बचने के लिए आपक अपने आहार में फाइबर और फॉलिक एसिड को शामिल करना होगा। फाइबर युक्त आहार आंतों में चिपकी हुई गंदगी को दूर करती है। वही फॉलिक एसिड वाले आहार से और हल्के-फुल्के सुपाच्य आहार से आपके लिवर पर ज्यादा जोर नहीं आता है और वो खाना आसानी से पचा पाता है जिससे पेट फूलने की समस्या जल्दी ठीक हो जाती है। सुबह का नाश्ते ऐसा होना चाहिए जिससे आपको प्रोटीन व फाइबर का भरपूर मात्रा मिले। वहीं ब्रेक फास्ट के बाद और लंच से पहले बीच में अगर कुछ खाना चाहते है तो दही, नाशपाती या अमरूद आदि खा सकते हैं। इन दोनों ही फलों में फाइबर की मात्रा भरपूर होती है और इससे आपका पाचन भी ठीक रहता है।

इसके अलावा फलो का जूस फायदेमंद साबित होगा। इसके बाद दोपहर के खाने में आप दाल जरूर शामिल करें क्योंकि इसमें प्रोटीन और फाइबर होता है। इवनिंग स्नैक्स की बात करे तो आप हल्की-फुल्की चीजें ले सकते हैं। इसके लिए सलाद, फल, लेमन टी, ग्रीन टी आदि के साथ थोड़े से रोस्टेड पीनर या मूंगफली खा सकते हैं। वही रात में आर बिल्कुल हल्का और आसानी से पचने वाला होना चाहिए। इसके अलावा कोशिश करें कि रात का खाना आप सोने से कम से कम 2 घंटे पहले खा लें।

(और पढ़ें – प्रोटीन क्या है, कार्य, कमी के कारण, लक्षण, जाँच, इलाज और आहार)

पेट फूलने पर दिखे ये लक्षण तो डॉक्टर से सम्पर्क करें – Contact The Doctor If These Symptoms Appear On Your Flatulence in Hindi

1. ट्यूमर – Tumor

पेट फूलने की समस्या बहुत आम है। लेकिन ये समस्या लगातार बना रहे तो चिंता का विषय है। जब पेट फूलने के साथ साथ अचानक वजन कम होने लगे तो पेट के ट्यूमर होने का खतरा हो सकता है।

2. लीवर में इन्फेक्शन – Infections in The Liver

लीवर में इंफैक्शन के कई वजह हो सकता है । पीलिया में आंखों व त्वचा का रंग पीला पड़ जाता है जो एक सामान्य बात है लेकिन इसके साथ पेट भी फूलने लगता है तो सावधान हो जाए। ये लक्षण लीवर इंफैक्शन का हो सकता है।

(और पढ़े – लीवर को साफ करने के लिए खाएं ये चीजें)

3. यूटेरस कैंसर (गर्भाशय कैंसर) – Uterus Cancer

पेट फूलने के समय यदि मल के साथ खून आन लगता है साथ ही कब्ज की भी शिकायत है तो ये यूटेरस कैंसर का संकेत हो सकता है। ऐसे स्थिति में तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

(और पढ़ें – बच्चेदानी (गर्भाशय) में सूजन के लक्षण, कारण और घरेलू उपाय)

4. हर्निया – Hernia

पेट फूलने के साथ-साथ अगर खांसी, जुकाम और वजन कम होने लगे तो यह हर्निया रोग के संकेत हैं।

(और पढ़ें – हर्निया के कारण लक्षण इलाज और परहेज)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration