सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Fennel seeds Benefits and side effects in Hindi

सौंफ खाने के फायदे और नुकसान – Fennel seeds Benefits and side effects in Hindi
Written by Pratistha

सौंफ हमारे दैनिक जीवन में उपयोग की जाने वाली खाद्य सामग्रीयों में से एक है। यदि भोजन के बाद सौंफ न मिले तो इसे मेहमान नवाजी में कमी मानी जाती है। लेकिन क्‍या आपको पता है कि सौंफ खाने के फायदे क्‍या हैं। हमारे पूर्वज और आयुर्वेदिक चिकित्‍सक सौंफ खाने की सलाह क्‍यों देते हैं। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि सौंफ (Fennel) में बहुत से पोषक तत्‍व और औषधीय गुण होते हैं जो हमारे शरीर की कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने में मदद करते हैं। सौंफ के फायदे रक्‍तचाप, अस्‍थमा, कैंसर, मुंहासे और अन्‍य गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने में मदद करते हैं। आइए जाने सौंफ के फायदे और नुकसान के बारे में।

1. सौंफ का पौधा – Saunf Ka Podha in Hindi
2. सौंफ के पोषक तत्‍व – Saunf Ke Poshak Tatva in Hindi
3. सौंफ के फायदे – Saunf Ke Fayde in Hindii

4. सौंफ का सेवन कैसे करें – Saunf Ka Sevan Kaise Kare in Hindi
5. सौंफ खाने के नुकसान – Saunf Khane Ke Nuksan in Hindi

सौंफ का पौधा – Saunf Ka Podha in Hindi

सौंफ का पौधा - Saunf Ka Podha in Hindi

जड़ी-बूटियों में अपना प्रमुख स्‍थान रखने वाली सौंफ के पौधे के सभी भाग जैसे जड़, पत्तियां और फल खाने योग्‍य होते हैं। सौंफ का वैज्ञानिक नाम फोएनिकुलम वल्गार मिलर (Foeniculum Vulgare Miller) है जो अजमोद, गाजर और धनिया आदि से संबंधित है। यह एक बारहमासी पौधा है जिसके फूल पीले रंग के होते हैं। इसकी पत्तियां पंख के समान पतली-पतली होती हैं जिनका रंग हरा होता है। इस पौधे के तने का रंग भी हरा होता है। सौंफ का पौधा लगभग 4-5 फीट तक लंबा हो सकता है। सौंफ का उपयोग आयुर्वेदिक दवाओं के साथ-साथ भोजन को स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए मसाले के रूप में भी उपयोग किया जाता है। आइए जाने सौंफ में पाए जाने वाले पोषक तत्‍वों के बारे में।

सौंफ के पोषक तत्‍व – Saunf Ke Poshak Tatva in Hindi

भारतीय घरों में एक आम प्रथा है कि भोजन के बाद सौंफ का सेवन किया जाता है। आपको देखने में लगता होगा कि सौंफ का उपयोग मुंह को साफ करने के लिए किया जाता है। हां यह सच है, लेकिन इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्‍व (Nutrients) जैसे कि कॉपर, पोटेशियम, कैल्शियम, जिंक, मैंगनीज, विटामिन सी, आयरन, सेलेनियम और मैग्‍नीशियम जैसे खनिजों की अच्‍छी मात्रा होती है। जो कि मुंह को साफ रखने से कहीं अधिक आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छे होते हैं। इनके अलावा भी सौंफ में फाइबर, फॉस्‍फोरस, फोलेट, पेंटोथेनिक एसिड (pantothenic acid), आयरन और नियासिन आदि भी मौजूद रहते हैं। आइए जाने इतने पोषक तत्‍वों की उपस्थिति के कारण सौंफ के फायदे हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए किस प्रकार हैं।

(और पढ़े – सेहत के लिए फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ…)

सौंफ के फायदे – Saunf Ke Fayde in Hindi

अपने उच्‍च पौष्टिक मूल्‍यों के कारण सौंफ हमारे दैनिक जीवन में विशेष खाद्य पदार्थ के रूप में उपयोग की जाती है। यह बहुमुखी गुणों के कारण आयुर्वेदिक औषधी, मसाले आदि के रूप में उपयोग की जाती है। इसका एक सामान्‍य लाभ भोजन के बाद मुंह को साफ करने (Mouth freshener) के लिए होता है लेकिन यह स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं और विशेष रूप से गर्भवती (Pregnant) महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। आइए सौंफ के लाभों को जानें।

  1. सौंफ के लाभ पाचन के लिए – Saunf Ke Labh Pachan Ke Liye in Hindi
  2. सौंफ खाने के फायदे अच्‍छी नींद के लिए – Saunf Khane Ke Fayde Neend Ke Liye in Hindi
  3. सौंफ का उपयोग ब्रेस्‍ट मिल्‍क बढ़ाने के लिए –Saunf Ka Upyog Breast Milk Badhane Ke Liye in Hindi
  4. सौंफ के गुण सांस को ताजा करे – Saunf Ke Gun for freshen you breath in Hindi
  5. सौंफ की चाय के फायदे कब्‍ज के लिए – Saunf Ki Chaye Ke Fayde Kabj Ke Liye in Hindi
  6. सौंफ के फायदे फोर स्किन – Saunf Ke Fayde For Skin in Hindi
  7. सौंफ के पानी के फायदे कैंसर को दूर करे – Saunf Ke Pani Ke Fayde for Cancer in Hindi
  8. सौंफ का इस्‍तेमाल आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य रखे – Saunf Ka Istemal Aankho Ko Swasth Rakhe in Hindi
  9. सौंफ के फायदे फॉर वेट लोस – Saunf Ke Fayde For Weight Loss in Hindi
  10. सौंफ का पानी ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करे – Saunf Ka Pani Blood Pressure Control Kare in Hindi
  11. सौंफ के औषधीय गुण रक्‍त शुद्ध करें – Saunf Ke Aushadhiya Gun For Purify Blood in Hindi
  12. सौंफ के लाभ मासिक धर्म को प्रेरित करे – Fennel seeds ForInduces menstruation in Hindi
  13. प्रेगनेंसी में सौंफ खाने के फायदे – Fennel seeds Benefits for Pregnancy in Hindi

सौंफ के लाभ पाचन के लिए – Saunf Ke Labh Pachan Ke Liye in Hindi

सौंफ के लाभ पाचन के लिए – Saunf Ke Labh Pachan Ke Liye in Hindi

यदि आपको पाचन से संबंधित समस्‍याएं जैसे दस्‍त, पेट फूलना आदि हैं तो आपको सौंफ का उपयोग करना चाहिए। सौंफ में मौजूद फाइबर और अन्‍य पोषक तत्‍व आपके पाचन तंत्र को मजबूत कर पाचन प्रकिया को आसान बनाते हैं। पेट से संबंधित समस्‍याओं का निदान करने के लिए आप सौंफ को कच्‍चे ही खा सकते हैं या फिर आप सौंफ के बीजों की चाय का उपयोग भी कर सकते हैं। सौंफ की चाय आपके पाचन समस्‍याओं को शांत कर सकता है। इसलिए आपको सौंफ का उपयोग करना चाहिए।

(और पढ़े – मानव पाचन तंत्र कैसा होता है, और कैसे इसे मजबूत बनायें…)

सौंफ खाने के फायदे अच्‍छी नींद के लिए – Saunf Khane Ke Fayde Neend Ke Liye in Hindi

सौंफ खाने के फायदे अच्‍छी नींद के लिए - Saunf Khane Ke Fayde Neend Ke Liye in Hindi

यदि आप नींद की समस्‍या (Insomnia) से परेशान हैं, तो सौंफ आपके लिए किसी आयुर्वेदिक दवा से कम नहीं है। नियमित रूप से सौंफ की चाय का सेवन करने से यह आपकी नींद की गुणवत्‍ता (Quality of sleep) को सुधारने में मदद करती है। सौंफ का उपयोग करने से आपकी मांसपेशीयों को आराम मिलता है। सौंफ आपके पाचन को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में भी मदद करता है। रात में सोने से पहले 1 कप सौंफ की चाय का सेवन करने से आपको अच्‍छी नींद आ सकती है। अनिद्रा का उपचार करने के लिए प्राचीन समय से ही सौंफ का उपयोग किया जा रहा है।

(और पढ़े – अच्छी नींद के लिए सोने से पहले खाए जाने वाले खाद्य पदार्थ…)

सौंफ का उपयोग ब्रेस्‍ट मिल्‍क बढ़ाने के लिए –Saunf Ka Upyog Breast Milk Badhane Ke Liye in Hindi

सौंफ का उपयोग ब्रेस्‍ट मिल्‍क बढ़ाने के लिए –Saunf Ka Upyog Breast Milk Badhane Ke Liye in Hindi

 

दूध बढ़ाने वाले पोषक तत्‍वों की अच्‍छी मात्रा सौंफ के बीजों में उपस्थित होती हैं जिसके कारण यह गैलेक्‍टैगॉग (galactagogue) के रूप में काम करता है। यह स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध की गुणवत्‍ता और उत्‍पादन बढ़ाने में मदद करता है। लेकिन इसके अभी तक कोई प्रमाणित सबूत नहीं मिले हैं। फिर भी आयुर्वेद में ऐसा माना जाता है कि सौंफ का उपयोग महिलाओं के दूध उत्‍पादन की क्षमता को बढ़ा सकता है।

(और पढ़े – ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बढ़ाने के लिए क्या खाएं…)

सौंफ के गुण सांस को ताजा करे – Saunf Ke Gun for freshen you breath in Hindi

सौंफ के गुण सांस को ताजा करे – Saunf Ke Gun for freshen you breath in Hindi

यदि आपको अपने मुंह की बदबू के कारण शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है तो निराश न हों। इसका सबसे सस्‍ता और प्रभावी इलाज सौंफ के रूप में मौजूद है। सौंफ के फायदे इसके जीवाणुरोधी गुणों के कारण होते हैं। सौंफ के जीवाणुरोधी गुण आपके मुंह में मौजूद रोगजनको को नष्‍ट करते हैं जो आपके मुंह की बदबू का प्रमुख कारण होते हैं। इस तरह से आप सौंफ या सौंफ की चाय का नियमित सेवन करे आपने मुंह की बदबू (Bad breath) को दूर कर सकते हैं।

(और पढ़े – मुँह की बदबू दूर करने के घरेलू उपाय…)

सौंफ की चाय के फायदे कब्‍ज के लिए – Saunf Ki Chaye Ke Fayde Kabj Ke Liye in Hindi

सौंफ की चाय के फायदे कब्‍ज के लिए – Saunf Ki Chaye Ke Fayde Kabj Ke Liye in Hindi

नियमित रूप से सौंफ का सेवन करने पर आपके पेट से संबंधित विभिन्‍न समस्‍याओं (Stomach problems) का उपचार किया जा सकता है। विशेष रूप से यह मल त्‍याग करने में होने वाली परेशानी या कब्‍ज (Constipation) से राहत दिला सकता है। इसके लिए सौंफ की चाय का उपयोग कर सकते हैं। यह आपके शरीर में मौजूद विषाक्‍त पदार्थों को बाहर करने और आपके पाचन को स्‍वस्‍थ्‍य (Digestion Healthy) बनाने में सहायक होती है। यदि आप अपने पेट को स्‍वस्‍थ्‍य रखना चाहते हैं तो अपने दैनिक आहार वाली सूची में सौंफ को प्रमुख रूप से शामिल करें।

(और पढ़े – कब्ज के कारण और इलाज…)

सौंफ के फायदे फोर स्किन – Saunf Ke Fayde For Skin in Hindi

सौंफ के फायदे फोर स्किन – Saunf Ke Fayde For Skin in Hindi

आपको यह जान कर हैरानी हो सकती है कि सौंफ के फायदे आपकी त्‍वचा के लिए भी होते हैं। यदि नियमित रूप से सौंफ का सेवन किया जाता है तो वे शरीर को जस्‍ता, कैल्शियम और सेलेनियम (Calcium and selenium) जैसे उपयोगी खनिजों की अच्‍छी मात्रा उपलब्‍ध कराते हैं। आपके शरीर में हार्मोन और ऑक्‍सीजन के संतुलन के लिए ये सभी खनिज पदार्थ बहुत ही आवश्‍यक होते हैं। सौंफ का सेवन करने पर यह अपने शीतलन प्रभाव के कारण त्‍वचा पर मौजूद मुंहासों की जलन (Irritation of acne) को कम करता है और उनका उपचार करने में भी मदद करता है। जल प्रतिधारण क्षमता होने के कारण यह आपकी त्‍वचा को हाइड्रेट रखने में मदद करता है। इस तरह से आप अपनी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए सौंफ का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – मुँहासों को दूर करने के घरेलू उपाय…)

सौंफ के पानी के फायदे कैंसर को दूर करे – Saunf Ke Pani Ke Fayde for Cancer in Hindi

सौंफ के पानी के फायदे कैंसर को दूर करे - Saunf Ke Pani Ke Fayde for Cancer in Hindi

इस आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी में फ्री-रेडिकल्‍स की सफाई (scavenging) करने वाले शक्तिशाली गुण मौजूद रहते हैं। ये फ्री-रेडिकल्‍स कैंसर के प्रमुख कारकों में से एक हैं। सौंफ में मौजदू सफाई करने वाले गुण ऑक्‍सीडेटि तनाव (Oxidative stress) को दूर करते हैं और शरीर के विभिन्‍न हिस्‍सों में मौजूद कैंसर जैसे त्‍वचा कैंसर, पेट के कैंसर, ब्रेस्‍ट कैंसर आदि से बचाने में मदद करते हैं। यदि नियमित रूप से सौंफ का सेवन किया जाता है तो इसके पोषक तत्‍व और औषधीय गुण कैंसर (Cancer) जैसी गंभीर समस्‍याओं से भी आपको बचा सकते हैं।

(और पढ़े – कैंसर क्या है कारण लक्षण और बचाव के उपाय…)

सौंफ का इस्‍तेमाल आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य रखे – Saunf Ka Istemal Aankho Ko Swasth Rakhe in Hindi

सौंफ का इस्‍तेमाल आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य रखे - Saunf Ka Istemal Aankho Ko Swasth Rakhe in Hindi

इन छोटे-छोटे औषधीय दानों की थोड़ी सी मात्रा का नियमित सेवन करने से आप अपनी आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य (Eyes healthy) रख सकते हैं। सौंफ आपकी आंखों के लिए चमत्‍कारिक औषधी का काम करती है। सौंफ के बीजों में विटामिन ए होता है जो आपकी आंखों की दृष्टि के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। भारत में प्राचीन समय से ही आंख के रोग जिसमें आंखों की पुतली फैल जाती है और दृष्टि धीरे-धीरे कम होने लगती है (glaucoma) इसका उपचार करने के लिए सौंफ का उपयोग किया जाता है।

(और पढ़े –

सौंफ के फायदे फॉर वेट लोस – Saunf Ke Fayde For Weight Loss in Hindi

सौंफ के फायदे फॉर वेट लोस – Saunf Ke Fayde For Weight Loss in Hindi

यदि आप मोटापे (Obesity) के शिकार हैं, और अपना वजन कम करना चाहते हैं तो सौंफ का नियमित सेवन शुरु कर दें। क्‍योंकि सौंफ में वसा को कम करने वाले औषधीय गुण होते हैं जो आपके शरीर में मौजूद अतिरिक्‍त वसा को कम करने में सहायक होते हैं। फाइबर की अच्‍छी मात्रा होने के कारण यह आपकी पाचन प्रणाली को भी स्‍वस्‍थ्‍य रखता है और आपके चयापचय (Metabolism) को उत्‍तेजित करता है। सौंफ के औषधीय लाभों में एक प्रमुख लाभ यह भी है कि यह मूत्रवर्धक का काम करता है। जिस कारण यह आपके शरीर में मौजूद अस्‍थाई वजन को कम करने में सहायक होता है। आप अपना वजन कम करने के लिए सौंफ का नियमित सेवन करें। इसके लिए आप सौंफ को अपनी सुविधानुसार कच्‍चे, चाय बनाकर या भून कर सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – वजन और मोटापा कम करने के लिए क्या खाएं क्या न खाए…)

सौंफ का पानी ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करे – Saunf Ka Pani Blood Pressure Control Kare in Hindi

सौंफ का पानी ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करे – Saunf Ka Pani Blood Pressure Control Kare in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि सौंफ के बीजों में नाइट्राइट (Nitrite) सामग्री होती है जो रक्‍तचाप को नियंत्रित करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा सौंफ के बीजों में पोटेशियम भी अच्‍छी मात्रा में होते हैं जो कि रक्‍तवाहिकाओं में आने वाली समस्‍याओं को दूर करने और उनमें आने वाले अवरोधों के दूर करने में मदद करते हैं। पोटेशियम की अच्‍छी मात्रा हमारे दिल की धड़कनों और रक्‍तचाप (blood pressure) को नियंत्रित करने में मदद करता है।

(और पढ़े – हाइ ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करगे ये आयुर्वेदिक हर्ब्‍स…)

सौंफ के औषधीय गुण रक्‍त शुद्ध करें – Saunf Ke Aushadhiya Gun For Purify Blood in Hindi

सौंफ के औषधीय गुण रक्‍त शुद्ध करें - Saunf Ke Aushadhiya Gun For Purify Blood in Hindi

इन बीजों में फाइबर और आवश्‍यक तेलों की अच्‍छी मात्रा होती है जो हमारे शरीर से विषाक्‍तता को दूर करने में सहायक होती है। ऐसा माना जाता इन गुणों के कारण सौंफ हमारे रक्‍त में मौजूद विषाक्‍त पदार्थों को दूर कर सकता है और हमारे रक्‍त को शुद्ध कर सकता है। आप अपने खाद्य आहारों में ऐसे खाद्य पदार्थ जो रक्‍त को शुद्ध करने में मदद करते हैं उनमें सौंफ को भी शामिल कर सकते हैं। यह आसानी से उपलब्‍ध होने वाली औषधी है।

(और पढ़े – सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या कैसे बढ़ाएं…)

सौंफ के लाभ मासिक धर्म को प्रेरित करे – Fennel seeds ForInduces menstruation in Hindi

सौंफ के लाभ मासिक धर्म को प्रेरित करे - Fennel seeds ForInduces menstruation in Hindi

अनियमित मासिक धर्म बहुत सी महिलाओं की प्रमुख समस्‍या है। यह समस्‍या व्‍यस्‍त जीवन, नींद की कमी, गलत खान-पान, तनाव आदि के कारण होती है। नियमित रूप से सौंफ का सेवन कर मासिक धर्म को प्रेरित किया जा सकता है। महिलाओं को नियमित मासिक धर्म चक्र के लिए सौंफ को अपने दैनिक आहार में शामिल करना चाहिए।

(और पढ़े – पीरियड्स में पेट दर्द का घरेलू उपाय…)

प्रेगनेंसी में सौंफ खाने के फायदे – Fennel seeds Benefits for Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में सौंफ खाने के फायदे - Fennel seeds Benefits for Pregnancy in Hindi

महिलाओं के लिए गर्भावस्‍था एक संवेदनशील स्थिति होती है। इस दौरान उन्‍हें पर्याप्‍त पोषण और देख-रेख की आवश्‍यकता होती है। गर्भावस्‍था के दौरान मतली या सुबह के समय चक्कर आना एक प्रमुख समस्‍या है। आप इस समस्‍या से बचने के लिए सौंफ के बीजों का उपयोग कर सकते हैं। सौंफ की चाय (fennel tea) गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं में सहनशीलता को बढ़ा सकता है। महिलाएं गर्भावस्‍था के दौरान (during pregnancy) नियमित रूप से सौंफ का सेवन कर अपने स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा दे सकती हैं।

(और पढ़े – गर्भावस्था में आहार जो देगा माँ और बच्चे को पूरा पोषण…)

सौंफ का सेवन कैसे करें – Saunf Ka Sevan Kaise Kare in Hindi

स्‍वाद में थोड़ी मीठी और अच्‍छी सुगंध सौंफ में होती है। सौंफ मसाले का एक रूप है जिसे भोजन पकाने के दौरान भोजन को स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। लेकिन आप आप इसकी चाय बनाकर भी उपयोग कर सकते हैं। यह भारतीय समाज की परंपरा है कि भोजन के बाद सौंफ की थोड़ी सी मात्रा का सेवन जरूर किया जाता है। लेकिन यदि आपको अजवाइन या गाजर आदि की एलर्जी है तो आपको सौंफ का सेवन करने से बचना चाहिए। कुछ आयुर्वेदिक सलाहकार सौंफ के बीजों को भूनकर सेवन करने की सलाह देते हैं। यदि आप सामान्‍य रूप से सौंफ का सेवन करना चाहते हैं तो इसे सभी प्रकार से उपयोग कर सकते हैं। लेकिन यदि किसी विशेष समस्‍या के उपचार के लिए उपयोग कर रहे हैं तो चिकित्‍सक के परामर्श के अनुसार ही सौंफ का सेवन करें।

सौंफ खाने के नुकसान – Saunf Khane Ke Nuksan in Hindi

सौंफ खाने के नुकसान - Saunf Khane Ke Nuksan in Hindi

आमतौर पर सौंफ का सेवन करने से कोई गंभीर नुकसान नहीं होते हैं, क्‍योंकि यह एक आयुर्वेदिक औषधी है। लेकिन अधिक मात्रा में सेवन करने से कुछ नुकसान हो सकते हैं।

  • विशेष रूप से उन लोगों को सौंफ का सेवन करने से बचना चाहिए जिन्‍हें अजवाइन और गाजर आदि की एलर्जी होती है।
  • कुछ लोगों में सौंफ के दुष्‍प्रभाव त्‍वचा को संवेदनशील बनाने के रूप में देखे जाते हैं।
  • गर्भवती महिलाओं को सौंफ का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए।
  • क्‍योंकि गर्भावस्‍था के दौरान सौंफ के फायदों के प्रमाणित सबूत नहीं है।
  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो सौंफ का अधिक मात्रा में सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें।

(और पढ़े – गर्भावस्था के समय क्या न खाएं…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration