अजवाइन के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान – Ajwain Benefits and Side Effects in Hindi

अजवाइन के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान - Ajwain Benefits and Side Effects in Hindi
Written by Diksha

Ajwain ke fayde in hindi अजवाइन (Ajwain) को हमने हमेशा ही घरों में मसाले के रूप में उपयोग करते हुए देखा है। लेकिन अजवाइन एक औषधीय जड़ी बूटी है इसलिए आपको अजवाइन के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान की पूरी जानकारी आपको होना चाहिए। क्‍योंकि भारत जैसे देशों में अजवाइन को विशेष मसाले के रूप में व्‍यापक रूप से उपयोग किया जाता है। अजवाइन के फायदे विशेष रूप से पाचन या पेट संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए जाने जाते हैं। अजवाइन का इस्‍तेमाल कई प्रकार की समान्‍य और गंभीर बीमारियों के उपचार के लिए किया जाता है। तो आइये जानते है अजवाइन के फायदे के बारे में।

अजवाइन के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों में पेट के दर्द, ऐंठन, आंत्र की गैस, अपच, उल्टी,  दस्त, साँस लेने में परेशानी और पेट का भारीपन, स्पर्म की कमी को दूर करने वाली, वीर्य को बढ़ाने वाली, दिल के लिए फायदेमंद, कफ को दूर करने वाली, गर्भाशय को उत्तेजना देने वाली, बुखार को दूर करने वाली, उल्टी, पेट के रोग, जोड़ो मे दर्द इन सब समस्याओं को दूर करने वाली एक बहुत ही अच्छी औषधि है। जो विभिन्न स्वास्थ्य स्थितियों के लिए यह एक सामान्य घरेलू उपाय है। यह दस्‍त, कब्‍ज, किड़नी की समस्‍या, सर्दी, खुजली, यौन कमजोरी, मासिक धर्म की परेशानियों आदि को भी ठीक कर सकती है। आज इस लेख में आप औषधीय जड़ी बूटी अजवाइन के फायदे और नुकसान संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें।

1. अजवाइन क्‍या है – Ajwain Kya hai in Hindi
2. अजवाइन की तासीर – Ajwain ki taseer in Hindi
3. अजवाइन के पोषक तत्व – Ajwain ke poshak tatva in Hindi
4. अजवाइन के फायदे – Ajwain ke fayde in Hindi

5. अजवाइन की खुराक – Ajwain ki khurak in Hindi
6. अजवाइन के नुकसान – Ajwain ke Nuksan in Hindi

अजवाइन क्‍या है – Ajwain Kya hai in Hindi

अजवाइन क्‍या है – Ajwain Kya hai in Hindi

हम सभी अजवाइन का उपयोग मसाले के रूप में करते हैं जबकि आयुर्वेद इसे औषधी मानता है। अजवाइन का वैज्ञानिक नाम ट्रेकिस्पर्मम अम्मी (Trachyspermum ammi) है। अजवाइन का पौधा छोटा झाड़ी की तरह दिखाई देता है जो आमतौर पर हरे रंग का होता है। अलग अलग जगहों पर अजवाइन को कई नामों से जाना जाता है जैसे कि विशप के खरपतवार, थाइमोल के बीज या अजवाइन, तेलुगु में इसे वामु, तमिल में ओमम, मलयालम में अयोधमकम और कन्नड़ में ओम कलुगलु आदि नामों से जाना जाता है। अजवाइन के बीज आकार में छोटे और हल्‍के हरे रंग के होते हैं जो भोजन का स्‍वाद बढ़ाने और स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छे होते हैं। इस पौधे की पत्तियां पंख के समान होती हैं। आइए जाने अजवाइन के बारे में अन्‍य जानकारीयां।

(और पढ़े – अजवाइन के घरेलू नुस्खे…)

अजवाइन की तासीर – Ajwain ki taseer in Hindi

अपने विशेष स्‍वाद और गुणों के कारण अजवाइन का उपयोग विभिन्‍न प्रकार की औषधी और पूरक औषधी के रूप में किया जाता है। अजवाइन की तासीर गर्म होती है जिसके कारण अजवाइन का स्‍वाद तीखा होता है। इन्‍हीं गुणों के कारण ही अजवाइन का उपयोग विशेष रूप से सर्दी से बचने और गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं के लिए किया जाता है। आइए जानेते हैं अजवाइन में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व क्‍या हैं।

अजवाइन के पोषक तत्व – Ajwain ke poshak tatva in Hindi

कैरम सीड्स (Carom Seeds) या अजवाइन और इसके तेल में पोषक तत्‍वों की उच्‍च मात्रा होती है। जिसके कारण ही आज अजवाइन का उपयोग पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो रहा है। नियमित रूप से अजवाइन का सेवन करने से यह हमें सभी जरूरी पोषक तत्‍व उपलब्‍ध कराता है। 100 ग्राम अजवाइन में 17.1 % प्रोटीन, 21.8 % फैट, 7.9 खनिज पदार्थ, 21.2 % फाइबर और 24.6 % कार्बोहाइड्रेट होता है। इसके अलावा अजवाइन मे कैल्शियम, थायमिन, राइबोफ्लेविन, फॉस्‍फोरस, आयरन और नियासिन की भी अच्‍छी मात्रा होती है। अजवाइन के तेल को अजवाइन के बीजों से प्राप्‍त किया जाता है। अजवाइन का तेल निकालने के लिए पौधे के फूल और पत्‍ते का उपयोग किया जाता है। इनमें 35-60 प्रतिशत तक थाइमोल होता है। अजवाइन और अजवाइन के तेल का उपयोग विशेष रूप से कीटाणुनाशक और कवक नाशक के रूप में किया जाता है। आइए जानते हैं अजवाइन के फायदे हैं।

अजवाइन के फायदे – Ajwain ke fayde in Hindi

स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने के लिए अजवाइन का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है। अजवाइन के फायदे संक्रामण से फैलने वाली बीमारियों को रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा अजवाइन के फायदे महिला स्‍वास्‍थ्‍य और पुरुषों के लिए भी होते हैं। पुरुषों और महिलाओं में कामेच्‍छा को बढ़ाने के लिए अजवाइन का उपयोग प्राचीन समय से किया जा रहा है। इसके अलावा यह महिलाओं में होने वाले हार्मोन असंतुलन को भी नियंत्रित करने में सहायक होता है। आइए विस्‍तार से जानते हैं मानव स्‍वास्‍थ्‍य के औषधीय अजवाइन के फायदे क्‍या हैं।

अजवाइन के फायदे हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Ajwain ke fayde hirday swasth ke liye in Hindi

अजवाइन के फायदे हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए - Ajwain ke fayde hirday swasth ke liye in Hindi

पारंपरिक रूप से मसाले के रूप में उपयोग की जानेवाल अजवाइन हृदय के लिए लाभकारी होती है। नियमित रूप से उपभोग करने पर यह दिल संबंधी बीमारियों से हमे बचा सकती है। आप अपने हृदय को स्‍वस्‍थ रखने के लिए अजवाइन के बीज को गर्म पानी के साथ सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आप आप 1 चम्‍मच अजवाइन लें और इसे 1 गिलास पानी कुछ देर के लिए गर्म करें। फिर इसे ठंडा करके सीधे ही पी लें। अजवाइन का पानी सीने के दर्द को ठीक करने में भी फायदा मिलता है। सीने के दर्द से जल्‍दी राहत पाने के लिए आप 1 चम्‍मच अजवाइन के साथ गुड़ का भी सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – जानें हार्ट को हेल्‍दी कैसे रखें…)

अजवाइन के गुण कब्‍ज को ठीक करे – Ajwain ke gun kabj ko thik kare in Hindi

अजवाइन के गुण कब्‍ज को ठीक करे - Ajwain ke gun kabj ko thik kare in Hindi

पाचन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए अजवाइन का उपयोग किया जा सकता है। विशेष रूप से अजवाइन कब्‍ज की समस्‍या का प्रभावी इलाज कर सकती है। अजवाइन के औषधीय गुण पेट में होने वाले असंतुलन का ठीक कर मल त्‍याग को आसान बनाने मे सहायक होता है। यदि आप कब्‍ज रोगी हैं तो अजवाइन के गुणों से लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – कब्ज के कारण और इलाज…)

अजवाइन के फायदे डायबिटीज में – Ajwain benefits for Diabetes in hindi

अजवाइन के फायदे डायबिटीज में – Ajwain benefits for Diabetes in hindi

रोज सुबह उठने पर अजवाइन का पानी पीने से डायबिटीज की समस्या दूर होती है। सुबह उठकर आप अजवाइन का पानी का सेवन करेंगे तो ऐसा करने से डायबिटीज की समस्या कुछ ही समय बाद दूर हो जाएगी।

(और पढ़े – टाइप 2 मधुमेह क्या है, कारण, लक्षण, उपचार, रोकथाम और आहार…)

अजवाइन के उपयोग यौन कमजोरी दूर करे – Ajwain ke upyog youn kamjori ko dur kare in Hindi

अजवाइन के उपयोग यौन कमजोरी दूर करे - Ajwain ke upyog youn kamjori ko dur kare in Hindi

आयुर्वेद के अनुसार अजवाइन के बीज का सेवन यौन कमजोरी को दूर करने में मदद कर सकता है। जो लोग यौन कमजोरी का समना करते हैं उनके लिए यह एक प्रभावी औषधी है। इसके लिए आपको अजवाइन के बीज और कुछ इमली के बीजों को शुद्ध मक्खन में भूनना है। इसके बाद इस मिश्रण को पीस कर एक पाउडर बना लें। इस मिश्रण की 1 चम्‍मच मात्रा 1 गिलास दूध और शहद के साथ नियमित रूप से सेवन करें। यह आपकी यौन इच्‍छा में कमी को दूर कर यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने में मदद करता है। अच्‍छे परिणाम प्राप्‍त करने के लिए आप इसे प्रतिदिन रात में सोने से पहले सेवन करें।

(और पढ़े – यौन कमजोरी दूर करने के उपाय…)

अजवाइन के फायदे अपच, दस्त और गैस में – Use of ajwain in Indigestion, diarrhoea and gas in Hindi

अजवाइन के फायदे अपच, दस्त और गैस में – Use of ajwain in Indigestion, diarrhoea and gas in Hindi

100 ग्राम पीसी हुई अजवाइन में 15 ग्राम पिसा हुआ सेंधा नमक मिलाकर चूर्ण बनाएं। इसकी आधा-आधा चम्मच दो बार खाने के बाद पानी में मिलकर पी लें। इस तरह अपच, दस्त और गैस अजवाइन का सेवन से सभी में लाभ होंगे।

(और पढ़े – दस्‍त (डायरिया) के दौरान क्‍या खाएं और क्‍या ना खाएं…)

अजवाइन के घरेलू नुस्खे महिलाओं के लिए – Ajwain ke gharelu nuskhe mahilao ke liye in Hindi

अजवाइन के घरेलू नुस्खे महिलाओं के लिए - Ajwain ke gharelu nuskhe mahilao ke liye in Hindi

कैरम बीजों का उपयोग महिला स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में भी मदद करता है। महिलाओं के लिए मासिक धर्म चक्र की समस्‍याएं बहुत ही कष्‍टदायक होती है। लेकिन अजवाइन के औषधीय गुण महिलाओं को मासिक धर्म के समय होने वाली परेशानियों से बचा सकते हैं। अजवाइन के बीज एक तंत्रिका टॉनिक के रूप में कार्य करते हैं। इस तरह से यह महिलाओं को होने वाली मासिक ऐंठन से छुटकारा दिला सकता है। इस तरह से अजवाइन के बीज के फायदे महिलाओं के लिए लाभकारी होते हैं।

(और पढ़े – पीरियड्स के दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं…)

अजवाइन का उपयोग करे खट्टी डकारों के लिए – Carom Seeds benefits for Burping in Hindi

अजवाइन का उपयोग करे खट्टी डकारों के लिए – Carom Seeds benefits for Burping in Hindi

अजवाइन का सेवन करने के लिए अजवाइन, सेंधा नमक, हींग और सूखे आवलें को लेकर सबको एक साथ पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण की 1 ग्राम की मात्रा को सुबह और शाम के समय शहद के साथ लेने पर जो खट्टी डकार आ रही थी उनका आना बंद हो जाता है।

(और पढ़े – डकार क्यों आती है डकार आने से रोकने के घरेलू उपाय…)

अजवाइन का उपयोग मासिक धर्म में – ajwain for menstrual pain in Hindi

अजवाइन का उपयोग मासिक धर्म में – ajwain for menstrual pain in Hindi

अगर मासिक धर्म में अधिक दर्द होता हो तो 4 चम्मच कच्ची अजवाइन और 2 चम्मच सेंधा नमक पीसकर, मिलाकर मासिक धर्म के दिनों में आधा-आधा चम्मच तीन बार रोजाना लें। दर्द बंद होने पर इसे लेना छोड़ दें।

(और पढ़े – पीरियड्स में दर्द का इलाज…)

अजवाइन के लाभ स्‍तनपान के लिए – Ajwain ke labh stanpaan ke liye in Hindi

अजवाइन के लाभ स्‍तनपान के लिए - Ajwain ke labh stanpaan ke liye in Hindi

जो महिलाएं स्‍तनपान करा रही हैं उनके लिए अजवाइन का उपयोग फायदेमंद होता है। अजवाइन का उपयोग स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध उत्‍पादन की क्षमता को बढ़ाने में सहायक होते हैं। इसके लिए उन्‍हें अजवाइन और सौंफ के बीज को पानी में मिलाकर सेवन करना चाहिए। इसके लिए वे 1 चम्‍मच सौंफ और 1 चम्‍मच अजवाइन को रात में 1 गिलास पानी में भिगों दें और फिर अगली सुबह इसका सेवन करें। यह मिश्रण गर्भाशय को साफ करने और दूध उत्‍पादन को बढ़ाने में सहायक होता है। इस तरह से स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए अजवाइन के औषधीय गुण लाभकारी होते हैं।

(और पढ़े – ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बढ़ाने के लिए क्या खाएं…)

अजवाइन और नींबू के फायदे पेट के लिए – Ajwain aur nimbu ke fayde pet ke liye in Hindi

अजवाइन और नींबू के फायदे पेट के लिए - Ajwain aur nimbu ke fayde pet ke liye in Hindi

पेट संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए प्राचीन समय से ही अजवाइन का उपयोग किया जा रहा है। आप पेट से संबंधित समस्‍याओं को दूर करने के लिए 3 चम्‍मच अजवाइन के बीजों को नींबू के रस में मिलाकर छाया में सुखा लें। जब ये बीज अच्‍छी तरह से सूख जाएं तो आप इन्‍हें पीस कर पाउडर बना लें। इसमें आप अपने स्‍वादानुसार थोड़ा सा काला नमक मिला दें। इसे दिन में दो बार गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। इस औषधी का सेवन कर आप भूख की कमी, पेट फूलना और अन्‍य पेट की समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होता है। इस तरह से आप अपने पेट को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए अजवाइन और नींबू का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – अगर आपको भी पेट फूलने की समस्या है तो अपनाएं इन टिप्स को…)

अजवाइन और गुड़ के फायदे सर्दी के उपाय- Ajwain aur gud ke fayde sardi ke upay in Hindi

अजवाइन और गुड़ के फायदे सर्दी के उपाय- Ajwain aur gud ke fayde sardi ke upay in Hindi

सर्दी होना शरीर की अशुद्धियों को साफ करने के लिए अच्‍छा है। लेकिन यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य और व्‍यक्तिगत जीवन में परेशानियों का भी कारण बन सकती है। लेकिन आप अजवाइन का उपयोग कर सामान्‍य सर्दी के लक्षणों को दूर कर सकते हैं। अजवाइन का उपयोग सर्दी के दौरान आने वाली बलगम को आसानी से साफ कर नाक की रूकावट से बचा सकता है। इसके लिए आपको अजवाइन के बीज और गुड़ को गर्म करें। इस मिश्रण को प्रतिदिन दो बार 2-2 चम्‍मच सेवन करें। यह आपकी सर्दी और स्‍वांश संबंधी समस्‍याओं को प्रभावी रूप से दूर कर सकती है।

(और पढ़े – सर्दी जुकाम और खांसी के घरेलू उपाय…)

सर्दी में नाक बंद होने पर अजवाइन के फायदे – Carom Seeds for cold in hindi

सर्दी में नाक बंद होने पर अजवाइन के फायदे – Carom Seeds for cold in hindi

अजवाइन में तेल होता हैं जो नाक में जमे बैक्टीरिया को ख़त्म कर देता है। बैक्टीरिया के ख़त्म हो जाने पर नाक खुल जाती हैं। सर्दी में नाक बंद होने पर अजवाइन का इस्तेमाल करने के लिए किसी बर्तन में पानी और तीन चम्मच अजवाइन डालकर उबालें। जब भाप निकलने लगे तब तौलिए से सिर ढककर मुंह को बर्तन के पास जितनी गर्मी सहन हो, उतनी दुरी पर रखें। भाप को नाक से सांस लेते हुए खींचें और मुंह खोलकर सांस बाहर निकालें इस तरह भाप में सांस लेने से नाक खुल जायेगी। और सर्दी के कारण होने वाला सिरदर्द या साइनस का दर्द भी ठीक हो जायेगा।

(और पढ़े – बंद नाक खोलने के घरेलू उपाय और नुस्खे…)

अजवाइन का प्रयोग दांत और कान दर्द के लिए – Ajwain ka prayog dant aur kaan dard ke liye in Hindi

अजवाइन का प्रयोग दांत और कान दर्द के लिए - Ajwain ka prayog dant aur kaan dard ke liye in Hindi

कान और दांत में होने वाला दर्द बहुत ही कष्‍टदायक होता है। आप इस प्रकार के दर्द को दूर करने के लिए अजवाइन का फायदेमंद उपयोग कर सकते हैं। इस समस्‍या से बचने के लिए अजवाइन तेल की 2 बूंदें ही काफी हैं। दांत के दर्द का उपचार करने के लिए 1 चम्‍मच अजवाइन और नमक के पानी से कुल्‍ला करने से लाभ मिल सकता है। इसके अलावा आप दर्द से छुटकारा पाने के लिए अजवाइन को जलाएं और इसका धुआं मुंह में लें। यह दांत दर्द का प्रभावी इलाज है इसके अलावा आप अजवाइन के पानी का उपयोग माउथ वॉश के रूप में भी कर सकते हैं।

(और पढ़े – दांत दर्द ठीक करने के 10 घरेलू उपाय…)

अजवाइन का इस्‍तेमाल घाव उपचार में – Ajwain ka istemal ghav upchar me in Hindi

यदि आप किसी चोट या घाव का इलाज करना चाहते हैं तो अजवाइन आपकी मदद कर सकती है। अजवाइन के बीज में थाइमोल नामक एक घटक मौजूद रहता है जो एक कवकनाशी और रोगाणुनाशक का काम करता है। अजवाइन का उपयोग आप त्‍वचा संक्रमण को दूर करने के लिए भी कर सकते हैं। इसके लिए आप अजवाइन के बीजों को कुचल कर त्‍वचा में लगाएं। यह आपके घावों को आसानी से ठीक करने में मदद करता है। इस तरह से आप अजवाइन का उपयोग घावों को ठीक करने के लिए कर सकते हैं।

अजवाइन के लाभ शराब की आदत छुड़ाने के लिए – Carom Seeds benefits for quit alcohol in Hindi

अजवाइन के लाभ शराब की आदत छुड़ाने के लिए – Carom Seeds benefits for quit alcohol in Hindi

जब भी शराब पीने को मन करे, चुटकी भर अजवाइन चबाएं जब तक शराब पीने की इच्छा समाप्त नहीं हो जाये, अजवाइन चबाते रहे और इसका रस चूसते रहे, कुछ दिन ऐसा करने से शराब की आदत छूट जाएगी।

(और पढ़े – शराब पीने के फायदे और नुकसान और शरीर पर इसका प्रभाव…)

अजवाइन के फायदे बालों के लिए – Ajwain ke fayde balo ke liye in Hindi

अजवाइन के फायदे बालों के लिए - Ajwain ke fayde balo ke liye in Hindi

आज अधिकांश लोग अपने बालों को लेकर बहुत ही परेशान रहते हैं। अजवाइन के बीज बालों की समस्‍याओं को दूर करने में प्रभावी माने जाते हैं। विशेष रूप से यह समय से पहले ही बालों को भूरा होने से बचा सकते हैं। अजवाइन का उपयोग बालों में करने के लिए आप एक कप पानी में करी पत्‍ता, किशमिश, चीनी और अजवाइन के बीज मिलाकर उबालें। इस‍ अच्‍छी तरह पकने के बाद आप इस मिश्रण को ठंडा करें और और अपने बालों में लगाएं। इसके अलावा बालों को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए आप नियमित रूप से प्रतिदिन 1 गिलास अजवाइन के पानी का भी सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – स्वस्थ बालों के लिए क्या खाना चाहिए…)

अजवाइन बेनिफिट्स फॉर स्किन – Ajwain benefits for skin in Hindi

अजवाइन बेनिफिट्स फॉर स्किन - Ajwain benefits for skin in Hindi

आप अपने चेहरे को सुंदर बनाने के लिए अजवाइन का उपयोग कर सकते हैं। अजवाइन विशेष रूप से मुंहासों के निशान को दूर करने में सहायक होता है। मुंहसों के दाग हटाने के लिए आप अजवाइन के पाउडर का पेस्‍ट बनाएं और प्रभावित क्षेत्र में 10 से 15 मिनिट के लिए लगाएं। इसके बाद आप इसे सामान्‍य पानी से धो लें। नियमित रूप से उपयोग करने पर यह कुछ ही दिनों में मुंहासों के निशान से आपको छुटकारा दिला सकता है।

(और पढ़े – मुहासे के दाग धब्बे हटाने के घरेलू उपाय…)

अजवाइन का लेप गठिया का उपचार – Ajwain ka lep gathiya ka upchar in Hindi

अजवाइन का लेप गठिया का उपचार - Ajwain ka lep gathiya ka upchar in Hindi

औषधीय गुणों से भरपूर अजवाइन गठिया का इलाज करने में सहायक होता है। अजवाइन में 2 प्रकार के विशेष गुण होते हैं जो उन्‍हें गठिया के प्रभाव करने में सक्षम बनाते हैं। अजवाइन में एंटीबायोटिक गुण होते हैं जो लालिमा को कम करते हैं और सूजन से राहत दिलाते हैं। दूसरा गुण संवेदनहारी गुण है जो दर्द और सूजन दोनों से राहत दिलाते हैं। आप गठिया के घरेलू इलाज के लिए अजवाइन का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप अजवाइन के बीजों को पीस कर पाउडर बना लें। इस पाउडर को पानी में मिलाकर पेस्‍ट बनायें और अपने जोड़ों में लगाएं। विकल्‍प के रूप में आप टब में अजवाइन बीज डालें और अच्‍छी तरह से बीजों के फूलने के बाद अपने जोड़ों को टब में ड़बोएं। यह गठिया के दर्द और सूजन दोनो से राहत दिलाने में मदद करता है।

(और पढ़े – गठिया का आयुर्वेदिक उपचार…)

अजवाइन और जीरा पेट की गैस की दवा – Ajwain aur jeera pet ki gas ki dawa in Hindi

अजवाइन और जीरा पेट की गैस की दवा - Ajwain aur jeera pet ki gas ki dawa in Hindi

पेट में गैस बनना आमतौर पर सामान्‍य जीवन को प्रभावित करता है। इसका उपचार करने के लिए अजवाइन का प्रयोग फायदेमंद होता है। इसके लिए आप 1 चम्‍मच अजवाइन बीज और 1 चम्‍मच जीरा को मिलाएं। नियमित रूप से अदरक पाउडर के साथ इस मिश्रण का सेवन करने से आपको पेट की गैस से राहत मिल सकती है। यह प्राकृतिक उपचार अपच से संबंधित सभी प्रकार की समस्‍याओं को दूर करने का सबसे अच्‍छा तरीका है। आप भी अजवाइन और जीरा के लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – पेट की गैस के कारण और दूर करने के आसान घरेलू उपाय…)

अजवाइन की चाय से अस्‍थमा का इलाज करें – Ajwain ki chai se asthma ka ilaj kare in Hindi

अजवाइन की चाय से अस्‍थमा का इलाज करें - Ajwain ki chai se asthma ka ilaj kare in Hindi

यदि आप अस्‍थमा रोगी हैं तो अस्‍थमा के लक्षणों को कम करने के लिए अजवाइन की चाय का सेवन करें। प्रभावी तरीके से अजवाइन की चाय अस्‍थमा का इलाज कर सकती है। इसके लिए आप 1 कप पानी में अजवाइन के कुछ बीज लें और इसे उबालें। इसके बाद इसे छानकर इसका सेवन करें। अतिरिक्‍त स्‍वाद और लाभ बढ़ाने के लिए आप इसमें शहद भी शामिल कर सकते हैं। यह तुरंत ही सर्दी से राहत दिलाने में भी सहायक होती है। यह ब्रोंकाइटिस और अस्‍थमा के इलाज में बहुत ही फायदेमंद होती है। इस तरह से आप अस्‍थमा का घरेलू उपचार करने के लिए अजवाइन की चाय का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – अस्थमा (दमा) के कारण, लक्षण, उपचार एवं बचाव…)

शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए अजवाइन के फायदे – Carom Seeds to increase sperm count in Hindi

शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए अजवाइन के फायदे – Carom Seeds to increase sperm count in Hindi

अजवाइन का सेवन शुक्राणुओं की संख्या में सुधार करने और समय पूर्व स्खलन का इलाज के लिए एक सिद्ध विधि है।

(और पढ़े – शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने का घरेलू उपाय…)

अजवाइन है फायदेमंद खुजली के लिए – Ajwain hai faydemand khujli ke liye in Hindi

अजवाइन है फायदेमंद खुजली के लिए - Ajwain hai faydemand khujli ke liye in Hindi

खुजली और एक्जिमा जैसी समस्‍याओं से बचने के लिए अजवाइन का पेस्‍ट फायदेमंद होता है। अजवाइन का पेस्‍ट बनाने के लिए गुनगुने पानी के साथ अजवाइन को पीस लें। इस पेस्‍ट को चेहरे या शरीर के किसी भी प्रभावित हिस्‍से में लगाएं। यह आपको त्‍वचा की खुजली और अन्‍य त्‍वचा संक्रमण से बचाने में सहायक होता है। इसके अलावा आप अजवाइन के पानी से भी प्रभावित क्षेत्र को धुल सकते हैं। खुजली या एक्जिमा की सूजन दूर करने के लिए आप अवाइन पाउडर और नींबू के रस को प्रभावित क्षेत्र में लगाएं। यह खुजली से होने वाली सूजन को दूर करने का सबसे अच्‍छा तरीका है।

(और पढ़े – खुजली से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय…)

अजवाइन की खुराक – Ajwain ki khurak in Hindi

अजवाइन एक औषधी है जिसका सेवन हमें औषधी के अनुसार ही करना चाहिए।

क्‍योंकि अधिक या कम मात्रा में सेवन करने से हमें पर्याप्‍त लाभ प्राप्‍त नहीं हो पाते हैं।

इसके लिए हमें निश्चित मात्रा में अजवाइन का सेवन करना चाहिए।

  • सामान्‍य रूप से स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति को प्रतिदिन 1 से 3 ग्राम अजवाइन का सेवन करना चाहिए।
  • यदि चिकित्‍सीय खुराक ली जा रही है तो अजवाइन की मात्रा 2 से 4 ग्राम प्रतिदिन होनी चाहिए।
  • यदि आप अजवाइन के पानी का सेवन करते हैं तो इसकी मात्रा 10 से 100 मिली ग्रा. प्रतिदिन होना चाहिए।

अजवाइन के नुकसान – Ajwain ke Nuksan in Hindi

अजवाइन के नुकसान – Ajwain ke Nuksan in Hindi

सामान्‍य रूप से अजवाइन का सेवन करने पर यह सुरक्षित है

लेकिन कुछ विशेष स्थितियों में अजवाइन के दुष्‍प्रभाव भी हो सकते हैं।

  • गर्भवती महिलाओं को अजवाइन का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए। क्‍योंकि ऐसा माना जाता है कि गर्म तासीर होने के कारण यह गर्भापात का कारण बन सकती है।
  • बच्‍चों के लिए अजवाइन की सही खुराक निश्चित नहीं की जा सकती है। लेकिन फिर भी आपको सलाह दी जाती है कि बच्‍चों को भी बहुत ही कम या नियंत्रित मात्रा में अजवाइन का सेवन करना च‍ाहिए।
  • यदि आप खून को पतला करने संबंधी दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो इस दौरान अजवाइन का सेवन न करें। यह आपके रक्‍त को और अधिक पतला बना सकता है।
  • थाइमोल की अच्‍छी मात्रा होने के कारण कुछ लोगों को अजवाइन का सेवन करने या उपयोग करने से त्‍वचा में जलन, खुजली या चकते आदि की समस्‍या हो सकती है।
  • अधिक मात्रा में अजवाइन का सेवन करने से चक्‍कर आना, उल्‍टी और मतली आदि की परेशानी भी हो सकती है।
  • कुछ लोगों को अजवाइन का अधिक मात्रा में सेवन पेट दर्द, मुंह के छाले और जलन आदि का अनुभव करा सकता है।

(और पढ़े – चक्कर आने के कारण, लक्षण, निदान और इलाज…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration