मसाले और जड़ी-बूटीयां जो आपको खाना चाहिए - Spices And Herbs You Must Eat In Hindi - Healthunbox
मसाले

मसाले और जड़ी-बूटीयां जो आपको खाना चाहिए – Spices And Herbs You Must Eat In Hindi

मसाले और जड़ी-बूटीयां जो आपको खाना चाहिए - Spices And Herbs You Must Eatin Hindi

आप अपने दैनिक जीवन में कुछ विशेष मसालों और जड़ी बूटी का सामान्‍य रूप से उपयोग करते हैं। लेकिन कुछ मसाले और जड़ी-बूटियां आपको विशेष रूप से खाना चाहिए। क्‍योंकि इन औषधीय मसालों में पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थों के साथ ही विशेष गुण भी होते हैं। जिनके कारण इन मसालों और जड़ी–बूटी का नियमित सेवन आपको कई स्वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचा सकता है। यदि आप पूरा और स्‍वस्‍थ जीवन जीना चाहते हैं तो मसालों और औषधीय जड़ी बूटियों को अपने दैनिक आहार में शामिल करें। आज इस लेख में आप मसाले और जड़ी-बूटियों की जानकारी प्राप्‍त करेगें जिन्‍हें आप अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

मसाले जो आपको खाना चाहिए हल्‍दी – Masale jo apko khane chahiye Haldi

मसाले जो आपको खाना चाहिए हल्‍दी – Masale jo apko khane chahiye Haldi

हल्‍दी देखने में सामान्‍य मसाला लगता है जिसे लगभग सभी लोग अपने आहार में उपयोग करते हैं। लेकिन हल्‍दी के गुण सामान्‍य नहीं हैं। हल्‍दी बहुमुखी गुणों से भरपूर एक औषधीय जड़ी बूटी भी है। हल्‍दी एक विशेष मसाला है जिसे आपको खाना चाहिए। पीले रंग की दिखने वाली हल्‍दी आपके लिए सोने के समान ही कीमती है जो कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर कर सकती है। आइए जाने क्‍यों नियमित रूप से मसाले के रूप में हल्‍दी आपको खाना चाहिए।

  • हल्‍दी में करक्‍यूमिनोइड्स (curcuminoids) होते हैं जिनमें एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं। जिसके कारण यह सूजन और दर्द से बचाते हैं।
  • नियमित रूप से हल्‍दी का सेवन आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाता है।
  • हल्‍दी मसाले का उपयोग आपकी क्षतिग्रस्‍त मांसपेशियों और ऊतकों की मरम्‍मत करते हैं।
  • हल्‍दी के औषधीय गुण आपकी संज्ञानात्‍मक क्षमताओं को बढ़ाने और मनोभ्रंश या अल्‍जाइमर के प्रभाव को कम करते हैं। इसलिए इस मसाले का सेवन आपको विशेष रूप से करना चाहिए।
  • एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा के कारण हृदय के लिए हल्‍दी लाभकारी होती है। इसलिए हल्‍दी आपको खाना चाहिए।
  • टरमरिक में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट उम्र बढ़ने संबंधी लक्षणों को कम करने में प्रभावी होती है। साथ ही कैंसर के विकास को रोकने के लिए आप इस मसाले का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़ें – हल्‍दी का पानी पीने के फायदे और नुकसान)

रोज खाने वाला मसाला है दालचीनी – Roj Khane bala masala haidalchini in Hindi

रोज खाने वाला मसाला है दालचीनी –Roj Khane bala masala haidalchini in Hindi

दैनिक आहार में उपयोग किये जाने वाले मसाले में दालचीनी भी शामिल है। यदि आप इसका सेवन नहीं करते हैं तो अब से आप इसे रोज खाएं। क्‍योंकि दालचीनी मसाले में भी औषधीय गुण और खनिज पदार्थ उच्‍च मात्रा में होते हैं। जिसके कारण दालचीनी मसाला आपको रोज खाना चाहिए।

  • मधुमेह रोगी अपनी चाय में चीनी के स्‍थान पर दालचीनी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इसमें मौजूद प्राकृतिक चीनी शरीर को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचाती है।
  • दालचीनी मसाले को खाना चाहिए क्‍योंकि यह दर्द को दबाने में सक्षम होती है।
  • एंटी-इंफ्लामेटरी गुणों के कारण दालचीनी भी सूजन को कम करने में मदद करती है।
  • इस मसाला में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट मांसपेशियों की क्षति और कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने में प्रभावी होते हैं।
  • उच्‍च रक्‍तचाप को नियंत्रित करने दालचीनी मसाले का इस्‍तेमाल किया जा सकता है।

(और पढ़ें – दालचीनी चाय के फायदे और नुकसान)

काली मिर्च मसाला डेली खाना चाहिए – Black pepper spices should be served daily in Hindi

काली मिर्च मसाला डेली खाना चाहिए - Black pepper spices should be served daily in Hindi

भारतीय मसालों की बात की जाए तो काली मिर्च को छोड़ा नहीं जा सकता है। काली मिर्च भी एक बहुमुखी मसाला और जड़ी-बूटी है जिसे आपको खाना चाहिए। काली मिर्च भी औषधीय गुणों से भरपूर जड़ी बूटी है। आइए जाने काली मिर्च मसाला को क्‍यों आहार में शामिल करना चाहिए।

काली मिर्च में एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा होती है जो हमारे शरीर को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाते हैं।

  • इस मसाले में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो हृदय विकार, गठिया और कैंसर आदि के लक्षणों को कम कर सकते हैं।
  • बच्‍चों को ब्‍लैक पेपर का सेवन करना चाहिए। क्‍योंकि यह मसाला मस्तिष्‍क कार्य क्षमता को बढ़ाने में सहायक होता है।
  • हमारे शरीर में पोषक तत्‍वों को अवशोषित करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए काली मिर्च को नियमित आहार में शामिल करना चाहिए।
  • काली मिर्च में दर्द निवारक गुण होते हैं जो शारीरिक दर्द को कम करने में प्रभावी माने जाते हैं।

जड़ी बूटी जो आपको खाना चाहिए पुदीना – Peppermint Herb Which You Need to Eat in Hindi

जड़ी बूटी जो आपको खाना चाहिए पुदीना - Peppermint Herb Which You Need to Eat in Hindi

पुदीना एक चमत्‍कारिक जड़ी बूटी है जिसका नियमित सेवन किया जा सकता है। आप पुदीना जड़ी बूटी के लाभ जानकर उपयोग किये बिना नहीं रह पाएगें। पुदीना के कुछ सामान्‍य लाभ इस प्रकार हैं।

  • पुदीना आपको खाना चाहिए क्‍योंकि यह आपके पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में सहायक होता है। इसके लिए आप पुदीने की कुछ ताजा पत्तियां लें और चबाएं।
  • नियमित रूप से पुदीना की पत्तियों का सेवन शरीर में एंडोर्फिन हार्मोन के स्राव को बढ़ाता है। जिससे तनाव दूर करने और आपके मूड़ को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।
  • रोज पुदीना जड़ी बू‍टी का सेवन उल्‍टी, मतली और मॉर्निंग सिकनेस आदि का इलाज करने में मदद करता है।
  • स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने के लिए आप पुदीना की पत्तियों का उपयोग चाय के रूप में भी कर सकते हैं।

(और पढ़ें – पुदीना के तेल के फायदे और नुकसान)

रोज खाने वाली जड़ी बूटी है तुलसी – Roj Khane bali Jadi-butihai Tulsi

रोज खाने वाली जड़ी बूटी है तुलसी –Roj Khane bali Jadi-butihai Tulsi

तुलसी एक ऐसी जड़ी बूटी है जो भारत में लगभग हर घर के आगन में उपलब्‍ध होती है। तुलसी को पवित्र जड़ी बूटी की संज्ञा दी गई है। प्राचीन ग्रंथों में तुलसी की पत्तियों से प्राप्‍त होने वाले स्‍वास्‍थ्‍य लाभों को बताया गया है। हालांकि विज्ञान भी तुलसी जड़ी बूटी को नियमित रूप से खाने की सलाह देता है। क्‍योंकि इसमें कई प्रकार के एंटीऑक्‍सीडेंट, जीवाणुरोधी और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं।

  • आपको जड़ी बूटी के रूप में तुलसी के पत्‍तों को खाना चाहिए। क्‍योंकि यह सामान्‍य सर्दी, खांसी आदि का प्रभावी उपचार करने में सहायक हैं।
  • तुलसी का नियमित सेवन ब्रोंकाइटिस, अस्‍थमा और अन्‍य श्वसन समस्‍याओं से बचा सकता है।
  • रोज तुलसी खाना आपके उच्‍च रक्‍तचाप को नियंत्रित कर सकता है।
  • तुलसी आपको खाना चाहिए क्‍योंकि यह हृदय को स्‍वस्‍थ रखने में सहायक होती है।
  • यदि आपको सिर दर्द या कान दर्द की समस्‍या है तब भी आप तुलसी के पत्‍तों का सेवन कर सकते हैं।

रोज के खाने में मेथी का उपयोग करें – Use fenugreek in daily food in Hindi

रोज के खाने में मेथी का उपयोग करें - Use fenugreek in daily food in Hindi

मेथी एक सामान्‍य मसाला है जिसका उपयोग विभिन्‍न व्‍यंजनों को तैयार करने में किया जाता है। लेकिन मेथी के दाने मसाला होने के साथ ही जड़ी-बूटियों वाले गुण भी रखते हैं। जिसके कारण मेथी खाना आपको कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचा सकता है।

रोजमेरी जड़ी बूटी का सेवन करना चाहिए – Rosemary herbs should be consumed in Hindi

रोजमेरी जड़ी बूटी का सेवन करना चाहिए - Rosemary herbs should be consumed in Hindi

रोजमैरी बहुमुखी गुणों से भरपूर एक औषधीय जड़ी बूटी है जिसका सेवन मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा होता है। इस जड़ी बूटी में आवश्‍यक तेल (essential oil) की उच्‍च मात्रा होती है। इस पौधे को आप अपने घर के बाहर भी लगा सकते हैं क्‍योंकि इस पौधे को बढ़ने के लिए बहुत ही कम जगह की आवश्‍यकता होती है। रोजमैरी को जड़ी बूटी के रूप में उपयोग किया जाता है जिसमें इसे सुखा कर, पीस कर, ताजा या पकाकर इस्‍तेमाल किया जाता है। रोजमैरी के अर्क में पॉलीफेनॉल्‍स होते हैं जो अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य लाभों जैसे कि पाचन में सुधार, रक्‍तचाप नियंत्रण, मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य और कैंसर विरोधी प्रभाव दिला सकता है। आपको रोजमैरी का नियमित सेवन करना चाहिए क्‍योंकि इसमें जीवाणुरोधी और एंटीऑक्‍सीडेंट रोजमारिनिक एसिड (rosmarinic acid) भी होते हैं।

(और पढ़ें – रोजमेरी तेल के फायदे गुण लाभ और नुकसान)

रोज खाने के लिए हेल्‍दी मसाला लाल मिर्च – Healthy masala red chilli for everyday in Hindi

रोज खाने के लिए हेल्‍दी मसाला लाल मिर्च - Healthy masala red chilli for everyday in Hindi

लाल मिर्च भी मसाला है जिसका व्‍यापक रूप से उपयोग हर भारतीय रसोई घर में किया जाता है। लाल मिर्च में कैपेसिसिन (Capsaicin) नामक एक यौगिक होता है जिसके कारण लाल मिर्च में तीखा स्‍वाद होता है। नियमित रूप से लाल मिर्च का आहार के साथ उपयोग करने पर यह आपके चयापचय को बेहतर बनाती है। जिससे आपके शरीर में जमा अतिरिक्‍त वसा और फैट को कम करने में मदद मिलती है। एक अध्‍ययन के अनुसार भोजन के साथ आधा चम्‍मच लाल मिर्च का उपयोग करने से शरीर में मौजूद वसा को आंशिक रूप से कम करने में मदद मिलती है। आप भी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी और मसाले के रूप में लाल मिर्च का सेवन कर कई प्रकार के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

जीरा हेल्‍दी मसाला जिसे रोज खाना चाहिए – Cumin Should Be Eaten Every day in Hindi

जीरा हेल्‍दी मसाला जिसे रोज खाना चाहिए - Cumin Should Be Eaten Every day in Hindi

जीरा को प्रमुख खाद्य मसालों की श्रेणी में रखा जाता है। जीरा भी अन्‍य मसालों की तरह भोजन को स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। लेकिन जीरा में भी बहुत से औषधीय गुण होते हैं जो आपको स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में अहम भूमिका निभाते हैं। एक अध्‍ययन के अनुसार नियमित रूप से 8 सप्‍ताह तक जीरा का निश्चित मात्रा का सेवन कराया गया। जिससे पता चलता है मोटे लोगों के वजन को कुछ मात्रा में कम किया जा सकता है। इसके अलावा जीरा का उपयोग मधुमेह और कैंसर आदि के लक्षणों को कम करने में भी किया जा सकता है। जीरा के यह लाभ इसमें मौजूद फिनोल और फलेवानोल्‍स (phenols and flavanols) के कारण होते हैं।

(और पढ़ें – जीरा पानी पीने के फायदे और नुकसान)

आपके रोज खाने वाले मसालों में उन मसाले और जड़ी-बूटीयां जो आपको खाना चाहिए जो आपकी सेहत के लिए अच्‍छे होते हैं।

(और पढ़ें – जड़ी बूटियां जो आपका वजन कम करने और मोटापा घटाने में हैं मददगार)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration