पाचन शक्ति बढ़ाने के योग – Yoga Asana To Improve Digestive System In Hindi

पाचन शक्ति बढ़ाने के योग - Yoga Asana To Improve Digestive System In Hindi
Written by Shivam

आज हम आपको पाचन शक्ति को मजबूत और दुरुस्त बनाने के लिए कुछ योगासनों के बारे में बता रहे हैं। जो पाचन क्रिया को मजबूत कर इम्युनिटी बढ़ाते हैं। पाचन शक्ति को मजबूत करने के लिए योग आसन बहुत ही अच्छा माध्यम हैं। अपच आमतौर पर तब होता है जब आप बहुत अधिक खा लेते हैं, या फिर बहुत सारा तैलीय और मसालेदार भोजन खाते हैं। इसके अलावा धूम्रपान, शराब का सेवन, तनाव और चिंता अपच की समस्या के कुछ प्रमुख कारण हैं। अपच (indigestion) को बदहजमी (Dyspepsia) भी कहा जाता है। कमजोर पाचन शक्ति के सामान्य लक्षणों में पेट में दर्द, सूजन, पेट की गैस और पेट फूलना, उल्टी और पेट का बढ़ना शामिल है।

अपनी जीवनशैली में बदलाव करके आप इस समस्या को दूर कर सकते है, इसके अतिरिक्त आप स्थाई रूप से इस अपच की समस्या से छुटकारा पाने के लिए लिए योग का सहारा ले सकते हैं। आइये इस योग आसन को विस्तार से जानते हैं जो आपकी पाचन शक्ति को मजबूत करते हैं।

मजबूत पाचन शक्ति के लिए योग – Yoga for increasing digestive power in Hindi

  1. अर्धमत्स्येन्द्रासन योग के फायदे पाचन शक्ति बढ़ाने में – Ardha Matsyendrasana Yoga Ke Fayde Pachan Shakti Badhane Me in Hindi
  2. पाचन शक्ति बढ़ाने में लाभदायक योग पवनमुक्तासन – Pawanmuktasana yoga For Better Digestion in Hindi
  3. सपाचन क्रिया ठीक करने का योग मयूरासन – Pachan kriya thik karne ka yoga Mayurasana in Hindi
  4. मजबूत पाचन शक्ति के लिए योग उत्तानासन – Majboot Pachan Shakti Ke Liye Yoga Uttanasana in Hindi
  5. पाचन क्रिया सुधारे पश्चिमोत्तानासन योग – Seated forward fold Yoga asana to improve digestive system in Hindi
  6. त्रिकोणासन योग स्‍वस्‍थ पेट के लिए – Trikonasana yoga swasth pet ke liye in Hindi
  7. पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए योग शवासन – Pachan shakti badhane ke liye swasana yoga in Hindi
  8. बेहतर पाचन के लिए योग मार्जरासन – Behtar pachan ke liye yoga Marjariasana in Hindi

हम सभी जानते हैं कि योग आसन पीठ दर्द, तनाव से राहत, ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाने के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत बढ़िया है। योग आसन करने से पेट की मांसपेशियों में खिंचाव पड़ता हैं जो की आपके पेट के अंगों की एक प्रकार से मालिश करता हैं। यह मालिश हमारे पेट के पाचन अंगों को उत्तेजित करता हैं जिससे पाचन शक्ति में वृद्धि होती हैं।

अर्धमत्स्येन्द्रासन योग के फायदे पाचन शक्ति बढ़ाने में – Ardha Matsyendrasana Yoga Ke Fayde Pachan Shakti Badhane Me in Hindi

अर्धमत्स्येन्द्रासन योग के फायदे पाचन शक्ति बढ़ाने में - Ardha Matsyendrasana Yoga Ke Fayde Pachan Shakti Badhane Me in Hindi

पाचन में सुधार के लिए सामान्य रूप से अर्धमत्स्येन्द्रासन योग बहुत सहायक है, इसमें पाचन तंत्र को शुद्ध करने की एक विशिष्ट क्षमता है। अर्ध मत्स्येन्द्रासन योग करने से आपके पाचन तंत्र पर एक कपड़े को मोड़ने के समान प्रभाव पड़ता हैं जो पेट से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकल देता है। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को बिछा के उस पर दण्डासन में बैठ जाएं। अपने दायं पैर को बाएं पैर के घुटने के साइड में बाहर की ओर रखें। रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें अपने गर्दन कंधे और कमर को दाहिनी ओर घुमा लें। कुछ सेकंड के लिए इस मुद्रा में रहे और फिर यही पूरी प्रक्रिया दूसरे पैर से करें।

(और पढ़े – अर्ध मत्स्येन्द्रासन के फायदे और करने का तरीका…)

पाचन शक्ति बढ़ाने में लाभदायक योग पवनमुक्तासन – Pawanmuktasana yoga For Better Digestion in Hindi

पाचन शक्ति बढ़ाने में लाभदायक योग पवनमुक्तासन – Pawanmuktasana yoga For Better Digestion in Hindi

पवनमुक्तासन योग गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं को दूर करता है। यह आसन पेट की मांसपेशियों को मजबूत करता है। यह मुद्रा पेट से गैस को बाहर करने में मदद करती हैं। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को बिछा के उस पर सीधे लेट जाएं। अपने दोनों पैर को घुटने से मुड़े और घुटने को अपने मुँह की ओर कर लें। अपने कंधों को ऊपर उठायें अपनी नाक से घुटने को छूने का प्रयास करें। इस आसन को आप 10 से 60 सेकंड के लिए करने का प्रयास करें।

(और पढ़े – पवनमुक्तासन करने का तरीका, फायदे और सावधानियां…)

पाचन क्रिया ठीक करने का योग मयूरासन – Pachan kriya thik karne ka yoga Mayurasana in Hindi

पाचन क्रिया ठीक करने का योग मयूरासन - Pachan kriya thik karne ka yoga Mayurasana in Hindi

मयूरासन या मयूर पोज़ पाचन में सुधार करता है, आप इस मुद्रा का लगातार अभ्यास करते हैं, तो आप अपनी इच्छानुसार कुछ भी खा सकते हैं और सही पाचन कर सकते हैं। इस आसन के दौरान आप अपने हाथों पर अपने धड़ के वजन को संतुलित करके पाचन अंगों पर दबाव डालते हैं जिससे पाचन अंगों को रक्त की आपूर्ति में कुछ समय के लिए कटौती होगी फिर जब आप मुद्रा को छोड़ते हैं तो बहुत अधिक ताजे ऑक्सीजन युक्त रक्त पाचन अंगों में प्रवाहित होगा जिससे पाचन तंत्र के कार्य में सुधार होगा।

मयूरासन करने के लिए आप किसी स्वच्छ स्थान पर चटाई बिछा के घुटनों बल बैठ जाएं। अपने हाथों को जमीन पर रखें और हाथ की उंगली को अपने पैरों की ओर रखना हैं। दोनों घुटनों के बीच में अपने दोनों हाथ रखें और कोहिनी को अपने पेट पर अच्छे सेट करें। अपने दोनों पैरों को पीछे की ओर फैला के सीधा कर लें। शरीर को आगे की ओर झुकाएं और अपने दोनों हाथों पर शरीर का पूरा वजन रखें। अपनी क्षमता के अनुसार इस मुद्रा में आप कुछ सेकंड के लिए करें।

(और पढ़े – मयूरासन करने की विधि और फायदे…)

मजबूत पाचन शक्ति के लिए योग उत्तानासन – Majboot Pachan Shakti Ke Liye Yoga Uttanasana in Hindi

मजबूत पाचन शक्ति के लिए योग उत्तानासन - Majboot Pachan Shakti Ke Liye Yoga Uttanasana in Hindi

उत्तानासन योग मुद्रा आपके रक्त परिसंचरण को तुरंत बढ़ावा देती हैं और पाचन अंगों में रक्त के प्रवाह में सुधार करती हैं। फॉरवर्ड फोल्ड विश्राम और मन की शांति को बढ़ावा देने के लिए बहुत बढ़िया आसन हैं। इस आसन से अपने शरीर के प्रत्येक हिस्से को धीरे-धीरे तनाव मुक्त कर सकते हैं जिसमें आपका पेट भी शामिल है। उत्तानासन करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट पर सीधे खड़े हो जाएं। अपने दोनों पैरों को पास-पास रखें और अपने दोनों हाथों को ऊपर सीधा कर लें। अब धीरे-धीरे सामने को ओर कमर से नीचे झुकते जाएं और अपने दोनों हाथों से पैर के पंजों को छूने की कोशिश करें। इस आसन में आप 60 से 90 सेकंड के लिए रहें फिर आसन से बाहर आयें।

(और पढ़े – उत्तानासन (हस्तपादासन) करने का तरीका और फायदे…)

पाचन क्रिया सुधारे पश्चिमोत्तानासन योग – Seated forward fold Yoga asana to improve digestive system in Hindi

पाचन क्रिया सुधारे पश्चिमोत्तानासन योग - Seated forward fold Yoga asana to improve digestive system in Hindi

पश्चिमोत्तानासन एक महान पाचन सहायता आसन है। यह आसन पेट के अंगों की मालिश करता है और पेट की चर्बी कम करता है। यह कब्ज दूर करने में मदद करता है और पेट फूलने से राहत देता है। पश्चिमोत्तानासन करने के लिए आप किसी साफ स्थान पर योगा मैट को बिछा के दोनों पैरों को सामने की ओर सीधा करके दण्डासन में बैठ जाएं। अपने दोनों हाथों को ऊपर उठा के सीधे कर लें। अब धीरे-धीरे आगे की ओर झुके और अपने दोनों हाथों से पैर के पंजे पकड़ लें। अपनी सिर को घुटनों पर रख दें। इस आसन को 20 से 60 सेकंड के लिए करें।

(और पढ़े – पश्चिमोत्तानासन करने का तरीका, फायदे और सावधानियां…)

त्रिकोणासन योग स्‍वस्‍थ पेट के लिए – Trikonasana yoga swasth pet ke liye in Hindi

त्रिकोणासन योग स्‍वस्‍थ पेट के लिए - Trikonasana yoga swasth pet ke liye in Hindi

त्रिकोणासन योग या त्रिभुज मुद्रा IBS, या चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम से पीड़ित व्यक्तियों के लिए महान आसन है। यह पेट के अंगों, विशेष रूप से यकृत और आंतों के मार्ग को सक्रिय करता है। यह आसन पाचन में सुधार करता है और कब्ज को दूर करता है। इस आसन को करने के लिए आप एक स्थान पर योगा मैट को बिछा के दोनों पैरों को दूर-दूर करके सीधे खड़े हो जाएं, अपने दाएं पैर की तरफ झुकें और अपने हाथ को फर्श पर रखें। दूसरे हाथ को ऊपर सीधा करें जिससे दोनों हाथ एक सीधी रेखा में हो जाएं। इस आसन में कुछ सेकंड से एक मिनिट के लिए रहें।

(और पढ़े – त्रिकोणासन के फायदे और करने का तरीका…)

पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए योग शवासन – Pachan shakti badhane ke liye swasana yoga in Hindi

पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए योग शवासन - Pachan shakti badhane ke liye swasana yoga in Hindi

शवासन योग या लाश मुद्रा पाचन अंगों को ऑक्सीजन प्रदान करता है। यह आसन पाचन और पेट की सफाई के उपचार हेतु आदर्श वातावरण भी बनाता है। इस आसन को “रेस्ट एंड डाइजेस्ट” प्रतिक्रिया के रूप में भी जाना जाता है। इस आसन को करने के लिए आप एक योगा मैट को फर्श पर बिछा के उस पर पीठ के बल लेट जाएं। अपने दोनों पैरों और हाथों को सीधा रखें। अब अपने दोनों पैरों के बीच में 1.5 से 2 फिट की दूरी रखें। अपने दोनों हाथों को शरीर से 40 डिग्री पर रखें और हथेलियों को ऊपर की ओर रखें। शवासन में आप अपनी क्षमता के अनुसार रह सकते है। शवासन मुद्रा का अर्थ सोना नहीं हैं बस आपको ऑंखें बंद रखना हैं।

(और पढ़े – शवासन योग करने के फायदे और तरीका…)

बेहतर पाचन के लिए योग मार्जरासन – Behtar pachan ke liye yoga Marjariasana in Hindi

बेहतर पाचन के लिए योग मार्जरासन – Behtar pachan ke liye yoga Marjariasana in Hindi

मार्जरासन योग आंतरिक अंगों, विशेष रूप से पेट और आंतों की मालिश करती है जो भारी भोजन या अन्य आंतों की समस्या जैसे दर्द और सूजन को कम करने में मदद कर सकती है। इस आसन को बिल्ली और गाय की मुद्रा के रूप में भी जाना जाता है। इस आसन को करने के लिए आप एक चटाई पर अपने सिर को सीधा रखें हुयें घुटने टेक के अपने दोनों हाथों को जमीन पर रख लें। अब साँस को अन्दर लेते हुए अपने सिर को पीछे की ओर तथा अपनी ठोड़ी को ऊपर करें। अब साँस छोड़ते हुए अपने सिर को नीचे करें और अपनी ठोड़ी को अपनी छाती से लगाने का प्रयास करें। इस आसन को कम से कम 5 से 6 बार करें।

और पढ़े –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration