भूख बढ़ाने के लिए योग - Yoga Poses To Increase Appetite In Hindi
योग

भूख बढ़ाने के लिए योग – Yoga Poses To Increase Appetite In Hindi

भूख बढ़ाने के लिए योग - Yoga Poses To Increase Appetite In Hindi

Bhukh Badhane Ke Liye Yoga भूख बढ़ाने के लिए योगासन बहुत ही अच्छा माध्यम हैं। यह आपके पेट की पाचन क्रिया को बढ़ाते हैं जिससे आपको भूख लगने लगती है। भूख ना लगना या भूख का कम जाना, यह आपके स्वस्थ के लिए बहुत ही चिंता की बात हो सकती हैं। इस समस्या का मुख्य कारण आपके पेट का स्वस्थ ना होना होता हैं। पेट के पाचन तंत्र का ठीक से कार्य ना करना जिसके कारण आपके द्वारा खाया हुआ भोजन सही से पच नहीं पाता और भूक कम जाती हैं। अधिकांश लोग अपने भारी वजन से परेशान हैं पर कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने कम वजन और दुबले शरीर से परेशान हैं। योग एक ऐसा अविश्वसनीय व्यायाम है, जिसमें स्वास्थ्य संबंधी लगभग सभी समस्याओं का समाधान है।

आइये भूख बढ़ाने के लिए योग को विस्तार जानते हैं जो आपकी भूख बढ़ाने में बहुत ही लाभदायक साबित होंगें।

विषय सूची

1. भूख कम होने पर होने वाली समस्याएं – Not feeling hungry problems in Hindi
2. भूख बढ़ाने के लिए योग – Yoga Poses to increase appetite in Hindi

भूख कम होने पर होने वाली समस्याएं – Not feeling hungry problems in Hindi

भूख कम होने पर होने वाली समस्याएं - Not feeling hungry problems in Hindi

भूख में कमी होने से अनेक प्रकार की समस्या उत्पन्न हो सकती हैं। आपके कम भोजन करने से शरीर को आवश्यक पोषक पदार्थ नहीं मिल पाते है और आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है जिसके कारण आपका संक्रमण और बीमारी से लड़ना मुश्किल हो जाता। यदि ऊतकों को पुनर्निर्माण या मरम्मत के लिए पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व उपलब्ध नहीं होता है तो आपको फ्लू और निमोनिया होने का खतरा भी होगा। लड़कियों का बेहद पतला होना आपके पीरियड्स को भी प्रभावित कर सकता है। वह अनियमित हो सकता है या पूरी तरह से बंद भी हो सकता है। यदि आपका आहार आपको पर्याप्त कैलोरी नहीं देता है तो आपके गुर्दे, हृदय, जठरांत्र, अंतःस्रावी और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र अनेक प्रकार के रोगों से ग्रस्त हो सकते हैं।

(और पढ़े – भूख बढ़ाने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय…)

भूख बढ़ाने के लिए योग – Yoga Poses to increase appetite in Hindi

योग खराब चयापचय, तनाव, भूख की कमी और पाचन संबंधी समस्याओं को ठीक करता है। योगासन वजन को स्थिर करता है और आपको सही वजन के लक्ष्यों को सुनिश्चित करता है। योग ऑक्सीजन और रक्त के परिसंचरण को बढ़ाता है और इससे पोषक तत्वों के अवशोषण में सुधार होता है। यह मांसपेशियों को मजबूत करता है और लचीला बनाता है। यह आपकी सहनशक्ति को भी बेहतर बनाता है। आइये भूख बढ़ाने के लिए योगासन को करने की विधि और उसके लाभ को जानते हैं।

भूख बढ़ाने के लिए योग सर्वांगासन – Bhukh badhane ke liye yoga Sarvangasana in Hindi

भूख बढ़ाने के लिए योग सर्वांगासन – Bhukh badhane ke liye yoga Sarvangasana in Hindi

सर्वांगासन अपच से संबंधित सभी समस्याओं में मदद करता है और मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को भी पोषण देता है। सर्वांगासन एक उलटा करने वाला आसन है यह रक्त को बहुत दुर्गम क्षेत्रों में पहुंचता है जो उनके पोषक तत्वों को बढ़ावा देता है। इससे सभी ऊर्जा ब्लॉक साफ हो जाते हैं और भूख बढ़ने लगती है जिससे शरीर मजबूत होता है। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट के सीधे पीठ के बल लेट जाएं। अपने दोनों हाथों को सीधा रखें। अब अपने दोनों पैरों को कमर के यहाँ से मुड़े और उनकों ऊपर करें। इसके बाद अपने दोनों हाथों से पीठ को सहारा देते हुए उठायें। अपने पैरों को अधिकतम ऊंचाई तक ऊपर करें। इस स्थिति में आपकी रीड की हड्डी और आपके पैर एक सीधी रेखा में रहने चाहियें।

आपके शरीर का पूरा वजन कन्धों पर होगा और दोनों हाथ पीठ को ऊपर की ओर सीधा रखने में सहायता करेगें। इस आसन में आपको कम से कम 30 सेकंड तक रुकना हैं उसेक बाद पैरों को नीचे करते हुए अपनी प्रारंभिक अवस्था में आना हैं।

(और पढ़े – सर्वांगासन करने का तरीका और फायदे…)

भूख बढ़ाने के लिए योग पवनमुक्तासन – Pawanmuktasana yoga poses to increase appetite in Hindi

भूख बढ़ाने के लिए योग पवनमुक्तासन - Pawanmuktasana yoga poses to increase appetite in Hindi

पवनमुक्तासन पाचन तंत्र पर काम करता है जिससे यह उत्तेजित और नियमित होता है। यह आसन अतिसक्रिय चयापचय को शांत करता है और शरीर में पोषक तत्वों के बेहतर अवशोषण के लिए एक अनुकूल वातावरण बनाता है। पवनमुक्तासन आपकी भूख में सुधार करेगा और पाचन समस्याओं के लिए एक उपाय के रूप में कार्य करेगा। इस आसन से निचले पेट में रक्त परिसंचरण में सुधार होता है। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को बिछा के उस पर सीधे लेट जाएं। अपने दोनों पैर को घुटने से मोड़ें और घुटने को अपने मुँह की ओर कर लें। अपने कंधों को ऊपर उठायें, अपनी नाक से घुटने को छूने का प्रयास करें। इस आसन को आप 10 से 60 सेकंड के लिए करने का प्रयास करें।

(और पढ़े – पवनमुक्तासन करने का तरीका, फायदे और सावधानियां…)

भूख बढ़ाने में फायदेमंद योग शवासन – Bhukh badhane me faydemand yoga Shavasana in Hindi

भूख बढ़ाने में फायदेमंद योग शवासन – Bhukh badhane me faydemand yoga Shavasana in Hindi

शवासन शरीर और मन को आराम से रखने के लिए सबसे प्रभावी मुद्रा में से एक माना जाता है। यह आराम और ध्यान वाली मुद्रा शरीर का वजन बढ़ाने के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह तनाव को कम करता है जो वजन कम करने का एक महत्वपूर्ण कारण है। यह आसन पाचन अंगों को ऑक्सीजन प्रदान करता है। इस आसन को करने के लिए आप एक योगा मैट को फर्श पर बिछा के उस पर पीठ के बल लेट जाएं। अपने दोनों पैरों और हाथों को सीधा रखें। अब अपने दोनों पैरों के बीच में 1.5 से 2 फिट की दूरी रखें। अपने दोनों हाथों को शरीर से 45 डिग्री पर रखें और हथेलियों को ऊपर की ओर रखें। शवासन में आप अपनी क्षमता के अनुसार रह सकते है। शवासन मुद्रा का अर्थ सोना नहीं हैं बस आपको ऑंखें बंद रखना हैं।

(और पढ़े – शवासन योग करने के फायदे और तरीका…)

भूख बढ़ाने के उपाय में करने वज्रासन योग – Vajrasana yoga for increase Hunger in Hindi

भूख बढ़ाने के उपाय में करने वज्रासन योग - Vajrasana yoga for increase Hunger in Hindi

वज्रासन एकमात्र ऐसा आसन है जिसका भोजन के तुरंत बाद अभ्यास किया जा सकता है। यह पाचन तंत्र पर काम करता है और चयापचय को नियंत्रण में रखने में मदद करता है। यह आसन रक्त परिसंचरण, भूख और पाचन में सुधार करने में मदद करता है। वज्रासन के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को बिछा के उस पर घुटने टेक के बैठ जाएं। अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें और अपने दोनों हाथों को अपने घुटनों पर रख लें। इस आसन को 5 से 10 मिनट तक करें।

(और पढ़े – वज्रासन करने का तरीका और फायदे…)

भूख बढ़ाने के लिए योग भुजंगासन – Bhukh badhane ke liye yoga Bhujangasana in Hindi

भूख बढ़ाने के लिए योग भुजंगासन - Bhukh badhane ke liye yoga Bhujangasana in Hindi

भुजंगासन पाचन तंत्र पर काम करता है, जिससे भूख में सुधार होता है जिससे भूख बढ़ाने में मदद मिलती है यह चयापचय को नियंत्रित करता है। इस आसन से प्रजनन प्रणाली भी उत्तेजित होती है। जब आप ऊपर की ओर झुकते हैं और अपने दिल को खोलते हैं तो आपकी सांस लेने की क्षमता में सुधार होता है। बेहतर रक्त परिसंचरण और पोषक तत्व अवशोषण होते हैं। इस आसन को करने लिए आप एक योगा मैट को बिछा के उस पर पेट के बल लेट जाएं जिसमे आपकी पीट ऊपर के ओर रहे। अपने दोनों हाथों को जमीन पर रखें। अब अपने दोनों हाथों पर वजन डालते हुयें धीरे-धीरे अपने सिर को पीछे के ओर करें और ठुड्डी को ऊपर की ओर करने का प्रयास करें। आप इस आसन में 20 से 30 सेकंड तक रुकने का प्रयास करें।

(और पढ़े – भुजंगासन के फायदे और करने का तरीका…)

वीरभद्रासन के फायदे के फायदे भूख बढ़ाने में – Virabhadrasana yoga poses to increase appetite in Hindi

वीरभद्रासन के फायदे के फायदे भूख बढ़ाने में - Virabhadrasana yoga poses to increase appetite in Hindi

वीरभद्रासन योग मुद्रा बहुत अधिक कैलोरी जलाती है और शरीर को आवश्यक ऊर्जा प्रदान करती है। इसलिए यह आपकी भूख बढ़ाने में मदद करता है। वीरभद्रासन करने के लिए आप एक साफ स्थान पर योग मेट को बिछा के उस पर सीधे खड़े हो जाएं। अपने दोनों पैरों के बीच लगभग 3.5 फिट की दूरी रखें। अब अपने दोनों हाथों की हथेलियों को उठा के अपने सिर के ऊपर जोड़ लें। इसके बाद अपने दाएं पैर के पंजे को 90 डिग्री के कोण पर घुमाएं और बाएं पैर के पंजे को 45 डिग्री घुमा लें। इसके बाद अपने सिर को भी अपने दायं पैर की ओर घुमाएं और दाएं घुटने से पैर को मोड़ के जांघ को फर्श के समान्तर आयें। अब अपने सिर को पीछे की ओर झुका दें और आसमान की ओर देखें।

इस मुद्रा में आप 40 से 60 सेकंड तक रहें। फिर से यही पूरी क्रिया दूसरे वाले पैर से करें।

(और पढ़े – वीरभद्रासन 1 करने का तरीका और लाभ…)

भूख बढ़ाने के लिए योग मत्स्यासन – Bhukh badhane ke liye yoga Matsyasana in Hindi

भूख बढ़ाने के लिए योग मत्स्यासन - Bhukh badhane ke liye yoga Matsyasana in Hindi

मत्स्यासन वजन बढ़ाने के लिए योग में एक अत्यधिक फायदेमंद मुद्रा है। यह थायरॉयड ग्रंथि सहित कई प्रणालियों पर काम करता है। यह एक अति सक्रिय थायरॉयड ग्रंथि को नियंत्रित करता है जो वजन कम करने का कारण भी बन सकता है। यह पाचन, संचार, प्रजनन और हृदय प्रणाली को मजबूत करता है। इससे चयापचय और पोषक तत्वों के अवशोषण में सुधार होता है। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले एक योगा मैट को बिछा के उस पर पद्मासन में बैठ जाएं। अपने दोनों हाथों से पैर के अंगूठे को पकड़े और पीछे की ओर लेट जाएं। अपने सिर को जमीन पर रखें। इस आसन को आप कुछ देर के लिए करें।

(और पढ़े – मत्स्यासन के फायदे और करने का तरीका…)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration