निमोनिया के लिए घरेलू उपाय – Pneumonia Ke Liye Gharelu Upay in Hindi

निमोनिया के लिए घरेलू उपाय – Pneumonia Ke Liye Gharelu Upay in Hindi
Written by Sneha

निमोनिया के एक बहुत ही घातक बीमारी हैं जो किसी बच्चे, व्यस्क और 65 वर्ष के व्यक्ति को भी हो सकती हैं, वैसे तो निमोनिया का इलाज चिकित्सक के बिना पूर्णत: संभव नहीं हैं पर कुछ घरेलू उपचार कर के इसे कम और नियंत्रित किया जा सकता हैं। इन उपायों को जानने से पहले हमें इसके कारण को जनना जरूरी हैं ।

1. निमोनिया क्या हैं – What is pneumonia in Hindi
2. निमोनिया के कारण – Causes of Pneumonia in Hindi
3. निमोनिया के लक्षण – Symptoms of pneumonia in Hindi
4. निमोनिया के घरेलू उपचार इन हिंदी – Home Remedies For Pneumonia in Hindi

निमोनिया क्या हैं – What is pneumonia in Hindi

निमोनिया एक संक्रमण से होने वाली बीमारी हैं, यह संक्रमण वायु के माध्यम से फैलता हैं निमोनिया एक वायरल और बैक्टीरिया से होने वाला एक रोग हैं यह छींकने या खांसने से फैलता हैं।

निमोनिया एक या दोनों फेफड़ों में संक्रमण है। यह बैक्टीरिया, वायरस, या कवक के कारण हो सकता है। जीवाणु निमोनिया वयस्कों में सबसे आम प्रकार है। निमोनिया आपके फेफड़ों में वायु कोशिकाओं में सूजन का कारण बनता है, जिसे अल्वेली (alveoli) कहा जाता है। अल्वेली तरल पदार्थ या पुस से भरता है, जिससे सांस लेने में मुश्किल होती है।

(और पढ़े – बच्चों में निमोनिया के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव…)

निमोनिया के कारण – Causes of Pneumonia in Hindi

निमोनिया एक संक्रमण से होने वाली बीमारी हैं, यह कई प्रकार से फ़ैल सकती हैं ये मुख्यतः वायरस, वैक्टेरिया और कवक के कारण से होती हैं, ये हवा के माध्यम से व्यक्ति के शरीर में चले जाते हैं, ये भोजन के माध्यम से और पानी से भी शरीर में जा सकते हैं, किसी भी निमोनिया संक्रमित व्यक्ति से संपर्क में आने से यह उसकी प्रयोग कि हुई वास्तु के प्रयोग से भी यह हो सकता हैं।

(और पढ़े – बुखार कम करने के घरेलू उपाय…)

निमोनिया के लक्षण – Symptoms of pneumonia in Hindi

निमोनिया के लक्षण - Symptoms of pneumonia in Hindi

निमोनिया एक किसी भी व्यक्ति के शरीर में धीरे धीरे बढ़ने वाली बीमारी हैं इसके लक्षण कुछ समय के बाद समझ में आ पाते हैं शुरुआत में यह आसानी से समझ में नहीं आते हैं। इसके कुछ लक्षण जैसे बुखार होना, सीने में दर्द होना, धड़कन का तेज होना, साँस लेने में परेशानी होना, खांसी होना, खांसी में खून आना आदि लक्षण हो सकते हैं।

(और पढ़े – सूखी खांसी के लिए घरेलू उपचार…)

निमोनिया के घरेलू उपचार इन हिंदी – Home Remedies For Pneumonia in Hindi

  1. निमोनिया से बचने के उपाय लहसुन – Pneumonia Se Bachne Ke Upay Garlic In Hindi
  2. निमोनिया के घरेलू उपचार के लिए सेब का सिरका – Apple Cider Vinegar for Pneumonia in Hindi
  3. निमोनिया के लिए घरेलू नुस्खे पुदीना का तेल – Pneumonia Ke Gharelu Nuskhe Peppermint oil in Hindi
  4. निमोनिया का रामबाण इलाज अदरक – Ginger For Pneumonia Home Remedies in Hindi
  5. हल्दी निमोनिया के लिए घरेलू उपाय – Pneumonia Ayurvedic Treatment Turmeric in Hindi
  6. बच्चे को निमोनिया का इलाज के लिए गाजर – Pneumonia ke liye Gunkari Carrots in Hindi
  7. कपूर से करे निमोनिया का आयुर्वेदिक उपचार – Camphor for Nimoniya Ka Ayurvedic Upchar In Hindi
  8. निमोनिया में खाना चाहिए मेथी होगा लाभ – Fenugreek for Treatment of Pneumonia in Hindi
  9. निमोनिया में सब्जी (वेजिटेबल) का जूस गुणकारी – Vegetable juice for Pneumonia in Hindi
  10. शहद खाने से होगा बच्चे के निमोनिया का इलाज – Benefits of Pneumonia by Eating honey in Hindi
  11. निमोनिया का आयुर्वेदिक उपचार भाप लेना – Steam Inhalation Benefits for Treatment of Pneumonia in Hindi

निमोनिया के उपचर के लिए आप कुछ घरेलू तरीके अपना सकते हैं कुछ घरेलू उपचार नीचे दिए जा रहे हैं जिनको अपना के आप निमोनिया पर नियंत्रण कर सकते हैं।

निमोनिया से बचने के उपाय लहसुन – Pneumonia Se Bachne Ke Upay Garlic In Hindi

निमोनिया से बचने के उपाय लहसुन - Pneumonia Se Bachne Ke Upay Garlic In Hindi

लहसुन एक बहुत ही गुणकारी खाद्य पदार्थ हैं जो कि हमारे घर में होता ही हैं इसका उपयोग घर में सब्जी बनाने में प्रयोग किया जाता हैं, निमोनिया के लिए सबसे अच्छा उपचार लहसुन हैं यह एंटीऑक्सीडेंट और एंटी फंगल के कारण संक्रमण को खत्म करने में असरदायक हैं। इसे लेने का तरीका आप लहसुन कि 3-4 कलि खाए या आप इसका पेस्ट बना के अपने सीने पर लगाये, यह आपको दिन में सिर्फ एक बार करना हैं।

(और पढ़े – जानिए लहसुन के चमत्कारी स्वास्थ्यवर्धक गुणों के बारे में…)

निमोनिया के घरेलू उपचार के लिए सेब का सिरका – Apple Cider Vinegar for Pneumonia in Hindi

निमोनिया के घरेलू उपचार के लिए सेब का सिरका - Apple Cider Vinegar for Pneumonia in Hindi

निमोनिया में सेब के सिरका का प्रयोग बहुत लाभकारी होता हैं, सेब का सिरका एक बहुत ही गुणकारी उपचार हैं, बहुत से रोगों में इसका उपयोग किया जाता हैं, यह एक एंटी इंफ्लामेटरी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरिया हैं जो कि आपको बीमारी से लड़ने में मदद करता हैं। इसे लेने के लिए एक चम्मच सेब सिरका लेकर इसे ½ ग्लास गर्म पानी में डाले और आधा चम्मच शहद मिला के इसका उपयोग करें।

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान…)

निमोनिया के लिए घरेलू नुस्खे पुदीना का तेल – Pneumonia Ke Gharelu Nuskhe Peppermint oil in Hindi

निमोनिया के लिए घरेलू नुस्खे पुदीना का तेल - Pneumonia Ke Gharelu Nuskhe Peppermint oil in Hindi

पुदीना के तेल में एंटीमाइक्रोबायल और एनाल्जेसिक जैसे गुण होने के कारण यह हमें निमोनिया जैसी संक्रमण से होने वाली बीमारी से बचाता हैं, पुदीना का तेल संक्रमण को फैलने से रोकता हैं इसका उपयोग करने के लिए पुदीना के तेल कि 2-3 बुँदे लेकर किसी भी अन्य तेल में मिला लें और इसको अपनी छाती और पीठ पर लगाये जिस से निमोनिया में लाभ होगा।

(और पढ़े – पुदीना के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

निमोनिया का रामबाण इलाज अदरक – Ginger For Pneumonia Home Remedies in Hindi

निमोनिया का रामबाण इलाज अदरक - Ginger For Pneumonia Home Remedies in Hindi

अदरक तो हम सभी के घर में आसानी से उपलब्ध हो जाता हैं, घर में सभी लोग अदरक का प्रयोग अधिकतर चाय में करते हैं, अदरक एक बहुत ही गुणकारी जड़ी बूटी हैं, यह घरेलू उपचार में बहुत प्रयोग किया जाता हैं, एंटी इंफ्लामेटरी तथा जीवाणु रोधी गुणों के कारण यह निमोनिया में लाभदायक होता हैं, यह संक्रमण से लड़ने में मदद करता हैं। अदरक को लेने के लिए इसे एक कप पानी में एक से दो इंच अदरक को डाल के उबले उसके अपने स्वाद के अनुसार इसमे शहद मिला ले और इसके सेवन दिन में दो से तीन बार करे, इससे निमोनिया में लाभ होता हैं।

(और पढ़े – अदरक के फायदे, औषधीय गुण, उपयोग और नुकसान…)

हल्दी निमोनिया के लिए घरेलू उपाय – Pneumonia Ayurvedic Treatment Turmeric in Hindi

हल्दी निमोनिया के लिए घरेलू उपाय - Pneumonia Ayurvedic Treatment Turmeric in Hindi

निमोनिया को ठीक करने के सभी घरेलू उपचार हमारे रसोई घर से ही प्रारंभ हो जाते हैं, उन्ही में से एक और अत्यंत गुणकारी खाद्य पदार्थ हल्दी हैं। वैसे तो हल्दी बहुत फायदेमंद होने के कारण सभी प्रकार से लाभकरी होता हैं. यह निमोनिया के लिए भी बहुत अच्छी औषधि हैं, हल्दी में पाए जाने वाले एंटी इंफ्लामेटरी और एंटीमाइक्रोबायल गुण निमोनिया में पाए जाने वाले जीवाणु से लड़ने में सहायता करता हैं, हल्दी में पाया जाने वाला म्यूकोलिटिक (mucolytic ) शरीर के ब्रोन्कियल नलिकाओं (bronchial ducts ) से कफ और सर्दी जुखाम (catarrh)  निकालने में सहायता करता हैं। हल्दी का प्रयोग निमोनिया में करने के लिए एक चम्मच हल्दी पाउडर को लेकर एक ग्लास गर्म दूध में मिला ले और इसे बादाम के साथ दिन में कम से कम एक बार जरूर पीयें।

(और पढ़े – हल्दी और दूध के फायदे और नुकसान…)

बच्चे को निमोनिया का इलाज के लिए गाजर – Pneumonia ke liye Gunkari Carrots in Hindi

बच्चे को निमोनिया का इलाज के लिए गाजर - Pneumonia ke liye Gunkari Carrots in Hindi

सलाद के रूप में प्रयोग वाले गाजर को हम बच्चे के निमोनिया के लिए घरेलू उपचारों में कर सकते हैं, यह आसानी से बाजार में मिल जाती हैं। गाजर में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट और एंटीमाइक्रोबायल गुण हमारे शरीर को बीमारी से लड़ने में सहायता करते हैं, गाजर ने फाइबर कि मात्रा अधिक पाई जाती हैं और यह विटामिन, खनिज पदार्थ से भरपूर होते हैं गाजर से हमें विटामिन A व B प्राप्त होते हैं। एक कप कटा हुआ गाजर खाए इसे आप दिन में दो तीन बार खा सकते है।

(और पढ़े – गाजर खाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ और नुकसान…)

कपूर से करे निमोनिया का आयुर्वेदिक उपचार – Camphor for Nimoniya Ka Ayurvedic Upchar In Hindi

कपूर से करे निमोनिया का आयुर्वेदिक उपचार – Camphor for Nimoniya Ka Ayurvedic Upchar In Hindi

कपूर एक बहुत ही गुणकारी पदार्थ हैं यह अनेक प्रकार के रोगों के उपचार में प्रयोग किया जाता हैं, यह हमें बाजार में आसानी से मिल जाता हैं। कपूर में बहुत ही शक्तिशाली एंटीसेप्टिक गुण हैं और यह सर्दी खाँसी की दवा के रूप में प्रयोग किया जाता हैं। कपूर के गुण के कारण इसका प्रयोग निमोनिया के उपचार में किया जाता हैं। कपूर का उपयोग करने के लिए इसके तेल कि 2-3 बुँदे ले और इसे एक चम्मच किसी भी तेल जैसे जैतून का तेल आदि में मिला के रोगी कि छाती और पीठ पर लगाये, यह आप को रात में सोते समय करना हैं।

(और पढ़े – कपूर के फायदे और नुकसान…)

निमोनिया में खाना चाहिए मेथी होगा लाभ – Fenugreek for Treatment of Pneumonia in Hindi

निमोनिया में खाना चाहिए मेथी होगा लाभ - Fenugreek for Treatment of Pneumonia in Hindi

मेथी का उपयोग हम रोज खाना में करते ही हैं, इसके बहुत से गुण होते हैं जो कि कुछ रोगों के उपचारों में प्रयोग में लाया जाता हैं, मेथी में पाए जाने वाले एंटी इंफ्लामेटरी गुण के कारण कारण इसके प्रयोग निमोनिया के उपचार में किया जा सकता हैं। यह सूजन के कम करने में मदद करता हैं। मेथी के प्रयोग करने के लिए एक चम्मच मेथी के लेकर एक कप गर्म पानी में 10 मिनिट तक गर्म करे फिर इसे ठंडा करने के बाद इसमें अपने स्वाद अनुसार शहद मिला के इसके सेवन करे। यह आपको दिन में दो से तीन बार करना हैं।

(और पढ़े – अंकुरित मेथी के फायदे और नुकसान…)

निमोनिया में सब्जी (वेजिटेबल) का जूस गुणकारी – Vegetable juice for Pneumonia in Hindi

निमोनिया में सब्जी (वेजिटेबल) का जूस गुणकारी - Vegetable juice for Pneumonia in Hindi

बहुत सारी सब्जियों के जूस में बहुत अच्छे एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं जो कि आप के शरीर कि प्रतिरक्षा में मदद करते हैं, और आपकि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देते हैं जिनसे संक्रमण का खतरा कम हो जाता हैं। ककड़ी, पालक, गाजर, चुकंदर आदि निमोनिया में लाभदायक होते हैं और यही जूस वैक्टीरिया वायरस से भी लड़ता हैं।

(और पढ़े – सर्दियों में पालक, चुकंदर और गाजर रखेगें शरीर स्वस्थ्य…)

शहद खाने से होगा बच्चे के निमोनिया का इलाज – Benefits of Pneumonia by Eating honey in Hindi

शहद खाने से होगा बच्चे के निमोनिया का इलाज - Benefits of Pneumonia by Eating honey in Hindi

शहद से तो हम सब अच्छे से परिचित हैं और इसका उपयोग हम किसी न किसी रूप में करते ही हैं, शहद एक बहुत ही गुणकरी औषधी हैं, यह एक प्रकार के यौगिकों का मिश्रण है शहद में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण पाया जाता है यह खांसी सर्दी जुखाम में असरदायक होती हैं। शहद को लेने के लिए आप एक चम्मच शहद को ¼ ग्लास गर्म दूध में मिला के पीना हैं।

(और पढ़े – शहद के फायदे उपयोग स्वास्थ्य लाभ और नुकसान…)

निमोनिया का आयुर्वेदिक उपचार भाप लेना – Steam Inhalation Benefits for Treatment of Pneumonia in Hindi

निमोनिया का आयुर्वेदिक उपचार भाप लेना - Steam Inhalation Benefits for Treatment of Pneumonia in Hindi

फेफेड़ो में जमे हुए कफ पिघला के बहार निकलने और खांसी को ठीक करने के लिए भाप एक बहुत ही अच्छा उपचार होती हैं, यह एंटीमाइक्रोबायल हैं जो कि संक्रमण को भी खत्म कर देती हैं। इसके लिए गर्म पानी को एक कटोरे में लेके अपना सिर उसमे झुकाये और अपने सिर को किसी कपड़े से ढक ले फिर भाप कि साँस अन्दर तक ले।

(और पढ़े – चेहरे पर भाप लेने के फायदे, तरीका और नुकसान…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration