हल्दी और दूध के फायदे और नुकसान – Turmeric and milk Benefits and side effects in hindi 

हल्दी और दूध के फायदे और नुकसान - Turmeric and milk Benefits and side effects in hindi 
Written by Sneha

हल्के पीले रंग की हल्दी के कारण दूध और हल्दी के अद्भुत स्वास्थ्य लाभ है। हल्दी में हजारों गुण होते हैं और सदियों से इसका इस्तेमाल किया जाता आ रहा है। हल्दी में एंटीकैंसर और एंटीऑक्सिडेंट गुण होते है जो अत्यधिक पौष्टिक दूध से पूरी तरह मिल जाती है। हल्दी और दूध के फायदे अनेक है और नुकसान ना के बराबर चुटकी भर हल्दी के कारण सफेद दूध का रंग हल्का पीला हो जाता है एक बार जब आप अपने आहार में हल्दी दूध शामिल करते हैं तो आपको अनेक स्वास्थ्य लाभ देखने को मिलेगें इस लेख को पढ़ने के बाद आप इसका सेवन जरुर करेंगे तो चलिए जानते है (Turmeric milk) हल्दी और दूध के फायदे के बारे में

हल्दी और दूध के फायदे – Turmeric and milk Benefits in hindi

पाचन के लिए हल्दी और दूधTurmeric milk for digestion in Hindi

आप जितना खाना खाते हैं लेकिन अगर इसे ठीक से पचा नहीं पाते है तो पेट में अम्लता, अपच और गैस की तरह समस्याएं पैदा हो सकती है  रात के खाने के बाद सोने से पहले हल्का दूध हल्दी के साथ लेने से भोजन को आसानी से पचाने में मदद मिलती है हल्दी पेट में पित्त के प्रवाह को बढ़ाता है, जो वसा के पाचन में मदद करता है। एसिड रिफ्लेक्स और अपच जैसी समस्याएं हल्दी वाले दूध को लेने से समाप्त हो जाती हैं। बच्चों में पेट कीड़े और जठरांत्र संबंधी संक्रमण इस दूध को लेने से ठीक हो जाते हैं।

(और पढ़े – क्या आप जानते है पेट में खाना पच रहा है या सड़ रहा है)

हल्दी और दूध के फायदे त्वचा के लिए  Turmeric milk for skin in Hindi

हर कोई स्वस्थ, निखरी और चमकदार त्वचा चाहता है लेकिन झुर्रियां, मुंहांसे , रुखी त्वचा और त्वचा संक्रमण जैसे एक्जिमा, छालरोग जैसे कारक हैं जो सौंदर्य को प्रभावित करते हैं।

हल्दी में एंटीऑक्सिडेंट एंटी इंफ्लैमेटरी गुण होते है जो रक्त को शुद्ध करने में मदद करता है। शुद्ध और स्वस्थ रक्त स्वस्थ कोशिकाओं को जन्म देता है जो त्वचा को प्राकृतिक सौंदर्य प्रदान करते हैं।

(और पढ़े – रातों रात पिंपल से छुटकारा दिलाएंगे ये घरेलू उपाय)

मजबूत हड्डियों और जोड़ों के दर्द के लिए हल्दी और दूध के फायदे – Turmeric milk for joint pain problems in Hindi

हल्दी वाला दूध कैल्शियम का बहुत अच्छा स्रोत है जो हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए आवश्यक है। यह शरीर में रीढ़ की हड्डी और जोड़ों को मजबूत करता है और शरीर में होने वाले जोड़ो के दर्द को रोकता है।

जोड़ों का दर्द रुमेटी संधिशोथ के बहुत आम लक्षण है। गठिया के रोगी को पाने आहार में इस दूध को शामिल करना चाहिए यह गठिया के दर्द से राहत में दिलाने में मदद कर सकता है।

(और पढ़े – कैल्शियम की कमी के लक्षण और इलाज)

हल्दी वाला दूध बढ़ाये रोग प्रतिरोधक क्षमता को Turmeric milk for immunity in Hindi

रोग और संक्रमण के खिलाफ लड़ने की क्षमता को प्रतिरोधक क्षमता कहते है। उच्च रोग प्रतिरोधक क्षमता का मतलब है कि रोग होने का बहुत कम चांस होना।

हल्दी वाला दूध उच्च स्तर पर आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के लिए सबसे अच्छा पेय में से एक है आम सर्दी , खाँसी और वायरल बुखार, संक्रमण कुछ मौसमी समस्याएं होती हैं जो सामान्य रूप से हर किसी को परेसान करती हैं

घरों में हल्दी और दूध सर्दी, खांसी और अन्य जैसे गले के संक्रमणों के लिए इस्तेमाल किया जाने वाल बहुत ही पारंपरिक उपाय है। इस संक्रमण में गले की बलगम मुख्य समस्या है जो सांस में बाधा बनती है। गर्म हल्दी वाला दूध आसानी से बलगम को निकलने में मदद करता है। (और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय)

हल्दी और दूध में होते है एंटीकेन्सर गुणTurmeric milk for cancer in hindi

कर्क्यूमिन (Curcumin), हल्दी का घटक होता है, जिसमे कैंसर विरोधी गुण है। हल्दी वाला दूध स्तन कैंसर, प्रोस्टेट, त्वचा, बृहदान्त्र, और फेफड़ों के कैंसर के काफी प्रभावी होता है।

दूध और हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट और अन्य सक्रिय पदार्थ होते हैं जो कि मुक्त कोशिका क्षति को रोकने में मदद करते हैं जो की कैंसर पैदा कर सकता है।

(और पढ़े – स्तन कैंसर कारण, लक्षण और बचाव के तरीके)

मासिक धर्म के दौरान हल्दी और दूधTurmeric milk for period pain in Hindi

मासिक धर्म में हल्दी और दूध पीने से आराम मिलता है क्योंकि यह दूध गर्भाशय को उत्तेजित करता है जो मासिक धर्म के निर्वहन के मुक्त प्रवाह को बढ़ावा देता है।

हल्दी और दूध के फायदे उन महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ती है जिनको हार्मोनल अपर्याप्तता के कारण गर्भ धारण करने में परेशानी होती है।

(और पढ़े – पीरियड्स में दर्द का इलाज)

हल्‍दी वाला दूध बनाने का सही तरीका – perfect way to make turmeric milk in hindi

हल्दी के टुकडो को बारीक काट ले अगर टुकड़े नहीं मिल पा रहे है तो अच्छी क्वालिटी का हल्दी पाउडर का उपयोग कर सकते है अब आधा गिलास दूध लेकर उसमे इसे डाल दे और 20 मिनिट तक उबाले अगर आपका दूर जादा गाढ़ा हो तो उसमे एक कप पानी मिला लीजिये और जब वह आधा गिलास बचे तब इस गैस से उतारकर पीने के बर्तन में ले लिजीये आपका हल्दी वाला दूध तैयार है

(और पढ़े – अगर आप दूध पीते है तो इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो फायदे की जगह होगा नुकसान)

हल्दी और दूध के नुकसान – Turmeric and milk side effects in hindi

हल्‍दी और दूध बीमारियों के साथ दर्द से तुरंत आराम देता है, लेकिन हल्दी और दूध के बहुत अधिक सेवन करने से बचना चाहिए।

एक रिसर्च के मुताबिक, यह बात सामने आई है कि अधिक हल्दी के सेवन से आपकी त्वचा रूखी और खुजलीदार हो सकती है। सामान्यता 240 से 500 मिग्रा हल्दी वो भी तीन बार में प्रयोग करने की हिदायत दी जाती है।

अगर आपको मसालों के सेवन से एलर्जी हो जाती है तो हल्दी का भी प्रयोग बंद कर दें। यह आपकी एलर्जी को और बढ़ा सकती है।

कई प्रेग्‍नेंट महिलाएं दूध में हल्दी डाल कर पीती हैं, जिससे उन्हें गोरा बच्चा पैदा हो। लेकिन हल्दी गर्भाशय का संकुचन, गर्भाशय में रक्त स्रव या गर्भाशय में ऐंठन पैदा कर सकता है।

ज्यादा हल्दी खाने से पुरुषों को इंर्फटिलिटी की भी समस्या हो जाती है। इससे स्पर्म का प्रोडक्शन कम हो जाता है, ऐसा रिसर्च में कहा गया है। ज्यादा हल्दी खाने से पेट में गैस की समस्या होती है।

हल्दी और दूध के फायदे आपने जाने खासकर रात को सोने से पहले इसे पीना सेहत के लिए काफ़ी अच्छा माना जाता है। विशेषकर सर्दियों में इसे पीना ज़्यादा लाभदायक है, हल्दी की तासीर गर्म होती है इसलिए इसे गर्मियों में पीने से शरीर में गर्माहट पैदा हो सकती है जिससे आप असहज महसूस कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration