कपूर के फायदे और नुकसान - Kapoor (Camphor) Benefits Side Effects in Hindi

कपूर के फायदे और नुकसान – Kapoor (Camphor) Benefits and Side Effects in Hindi

कपूर के फायदे और नुकसान - Kapoor (Camphor) Benefits and Side Effects in Hindi
Written by Jaideep

कपूर का उपयोग केवल पूजन के लिए नहीं किया जाता है बल्कि कपूर में कई ऐसे औषधीय गुण होते है जो इसे आयुर्वेदिक औषधी बनाते है, सुंदर और गोरी त्वचा हर किसी का सपना होता है। और इसे प्राप्त करने के लिए हम ना जाने कितने प्रयत्न करते हैं, लेकिन आपको यह जान कर हैरानी होगी कि हमारी सुंदरता को बढ़ाने के लिए कपूर के फायदे अनेक हैं। यह आपकी त्वचा, बाल और स्‍वास्‍थ्‍य के लिए गुणकारी होता है। इसमें उपस्थित पोषक तत्व हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी लाभकारी होते है। कपूर में एंटीबैक्‍टीरियल, एंटीऑक्‍सीडेंट (Anti-oxidant) गुण होते है। यह हमें डायरिया, अस्थमा, और गठिया जैसे रोगों से बचाता है। आइए जाने कपूर के फायदे, जो आपकी सुंदरता और स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने में मदद करते हैं।
1. कपूर का पेड़ – Camphor tree in Hindi

2. कपूर के फायदे फोर स्किन – kapoor ke fayde for skin

3. कपूर के फायदे बालों के लिए – Camphor for Hair Care in Hindi

4. कपूर के स्वास्थ्य लाभ – Camphor Health Benefits in Hindi

4. कपूर के नुकसान – Kapoor Ke Nuksan in Hindi

कपूर का पेड़ – Camphor tree in Hindi

कपूर का पेड़ – Camphor tree in Hindi

कपूर तीन अलग वर्गों की वनस्पति से प्राप्त होता है। कपूर के प्रकार निम्न है;-

चीनी अथवा जापानी कपूर – Chinese or Japanese camphor in Hindi

यह जिस वृक्ष से प्राप्त किया जाता है उसे सिनामोमस कैफ़ोरा (Cinnamomum camphora) कहते हैं। यह वृक्ष चीन, तथा जापान में पाया जाता है। भारत में यह देहरादून, सहारनपुर, नीलगिरि तथा मैसूर आदि जगहों में पाया जाता है। भारतीय कर्पूर के पेड़ छोटे, उनकी पत्तियाँ ढाई से चार इंच लंबी, आधार से कुछ ऊपर तीन मुख्य शिराओं वाली, लम्बी और मसलने पर कपूर की तरह गंधवाली होती हैं। कपूर के फूल सफेद, और सुन्दर होते हैं। जापान में लगभग 50 वर्ष पुराने वृक्षों के लकड़ी के आसवन (distillation) से कपूर प्राप्त किया जाता है। किंतु भारत में यह पत्तियों से ही प्राप्त किया जाता है।

भीमसेनी कपूर – Bhimseni Kapur in Hindi

जिस पेड़ से यह प्राप्त होता है उसे ड्रायोबैलानॉप्स ऐरोमैटिका (Dryobalanops aromatica) कहते हैं। जो सुमात्रा तथा बोर्निओ आदि में स्वत: उत्पन्न होता है। इस पेड़ की लकड़ी में जहाँ चीरे पड़े रहते हैं वहीं कपूर पाया जाता है। यह सफेद एवं अर्धपारदर्शक टुकड़ों में चिपका रहता है और खुरचकर लकड़ी से निकाला जाता है। इसलिए इसे प्राकृतिक कपूर, देशी कपूर या अपक्व कपूर कहा जाता है। यह अनेक बातों में जापानी कपूर से मिलता है और उसी के समान चिकित्सा में इसका उपयोग किया जाता है। इसकी मुख्य विशेषता यह है कि यह पानी में डालने पर नीचे बैठ जाता है। आयुर्वेदीय चिकित्सा में यह अधिक गुणवान भी माना गया है।

हिंदुस्तानी अथवा पत्री कपूर – Hindustani or Patri Kapoor in Hindi

भारत में कंपोज़िटी (Compositae) कुल की कुकरौंधा प्रजातियों (Blumea species) से प्राप्त किया जाता है, जो पत्तेदार शाक जाति की वनस्पतियाँ होती हैं।

कपूर के फायदे और नुकसान – kapoor ke Fayde aur nuksan in Hindi

अपने पोषक तत्‍वों के कारण कपूर हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के साथ-साथ सौंदर्य को भी बढ़ाने में मदद करता है। इस लेख में आप जानेगें कि क्‍यों कपूर को त्‍वचा और बालों के उत्‍पादों में जगह मिलती है और कैसे इसके इस्तेमाल से कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं से राहत मिलती है।

कपूर के फायदे फोर स्किन – kapoor ke fayde for skin

  1. मुँहासों के इलाज में कपूर के फायदे – Camphor For Cures Acne in Hindi
  2. कपूर के लाभ फटी एड़ियों को करें ठीक – Camphor Good for Cracked Hells in Hindi
  3. कपूर के औषधीय गुण त्वचा की जलन शांत करें – camphor for Soothes Skin Rashes in Hindi
  4. नारियल तेल और कपूर के फायदे संक्रमण दूर करने में –  kapoor and coconut oil for Infection in Hindi

मुँहासों के इलाज में कपूर के फायदे – Camphor For Cures Acne in Hindi

मुँहासों के इलाज में कपूर के फायदे – Camphor For Cures Acne in Hindi

औषधीय गुणों वाले कपूर का उपयोग कर आप जिद्दी मुँहासों (stubborn acne) से छुटकारा पा सकते हैं। यह आपके मुँहासे के लिए एक उत्‍कृष्‍ट उपाय माना जाता है। क्‍योंकि यह लाली और जलन (redness and irritation) को कम कर देता है।

कपूर की मदद से आप अपनी खूबसूरत (flawless and blemish-free) त्वचा वापस पा सकते हैं। कपूर एंटीआक्‍सीडेंट गुणों से भरपूर होता हैं यह फुंसी और मुंहासों को होने से रोकने में मदद करते हैं।

(और पढ़े – मुहांसों के प्रकार और उनका इलाज)

कपूर के लाभ फटी एड़ियों को करें ठीक – Camphor Good for Cracked Hells in Hindi

कपूर के लाभ फटी एड़ियों को करें ठीक – Camphor Good for Cracked Hells in Hindi

क्‍या आप अपनी फटी ए‍ड़ीयों (cracked heel) को छिपाने के लिए कई प्रकार के जूते और मोजे का उपयोग करते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने अच्‍छे कपड़े पहने हुए हैं, फटी एड़ीया आपके आत्‍मविश्‍वास को कम कर सकती है। लेकिन कपूर (camphor) आपकी फटी एड़ीयों को ठीक कर सकता है।

फटी एड़ियों से राहत के लिए, आपको अपने पैरों को कपूर और पानी के मिश्रण में भिगोना होगा और फिर पैरों को साफ करना होगा। इसके बाद आप उन पर एक क्रीम माइस्‍चराइजर (moisturizer) या पेट्रोलियम जेली लगा सकते हैं। यह आपकी त्‍वचा को नम रखेगा और दरारें होने से रोक देगा।

कपूर की एंटीसेप्टिक और शीतलता वाले (antiseptic and cooling) गुण क्रैक एड़ीयों के उपचार में फायदेमंद होते है।

कपूर के औषधीय गुण त्वचा की जलन शांत करें – camphor for Soothes Skin Rashes in Hindi

कपूर के औषधीय गुण त्वचा की जलन शांत करें – camphor for Soothes Skin Rashes in Hindi

त्‍वचा की जलन दूर करने के लिए कपूर बहुत ही प्रभावी होता है। कपूर को पानी में घोलने के बाद इसे त्वचा के उस स्थान पर लगायें जहां पर जलन हो रही हो। कपूर विशेष रूप से अत्‍यधिक गर्मी और पसीने के कारण होने वाली त्वचा की जलन के लिए अच्छा होता है। कपूर के एंटीआक्‍सीडेंट (anti-oxidant) गुण स्किन में जलन के खिलाफ कार्य करते हैं।

नारियल तेल और कपूर के फायदे संक्रमण दूर करने में –  kapoor and coconut oil for Infection in Hindi

नारियल तेल और कपूर के फायदे संक्रमण दूर करने में –  kapoor and coconut oil for Infection in Hindi

ठंडा और शांत प्रभाव के कारण कपूर का उपयोग कई त्वचा से सम्बंधित समस्याओं को दूर करने में किया जाता है। कपूर फंगल और बैक्‍टीरिया संक्रमण (bacterial infection) के उपचार के लिए लाभकारी होता है।

(और पढ़े – नारियल के तेल के फायदे और उपयोग )

कपूर के फायदे बालों के लिए – Camphor for Hair Care in Hindi

  1. कपूर तेल के फायदे बालों को मजबूत करने में  – Camphor for Strengthens Hair Roots in Hindi
  2. बालों को लम्बा करने के लिए कपूर के फायदे – Camphor oil for Hair Growth in Hindi
  3. नारियल तेल में कपूर के फायदे जूँ को मारने में – Camphor oil to Kills Lice and Bugs in Hindi

कपूर तेल के फायदे बालों को मजबूत करने में  – Camphor for Strengthens Hair Roots in Hindi

कपूर तेल के फायदे बालों को मजबूत करने में  – Camphor for Strengthens Hair Roots in Hindi

बालों का गिरना अधिकतर लोगों की समस्या है। कपूर के तेल (camphor Oil) का उपयोग बालों को नुकसान पहुंचाए बिना इनके गिरने की दर को कम कर सकता है।

कपूर का तेल बालों की जड़ो को मजबूत करता है। कपूर के तल के साथ अंडे या दही का उपयोग आपके बालों की आवश्यक पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है। कपूर तेल न केवल बाल विकास को बढ़ावा देता है, बल्कि यह बालों का झड़ना (fight hair-loos) भी कम करता है।

(और पढ़े – बालों को खूबसूरत बनाने के लिए अंडे का मास्क करें इस्तेमाल)

बालों को लम्बा करने के लिए कपूर के फायदे – Camphor oil for Hair Growth in Hindi

बालों को लम्बा करने के लिए कपूर के फायदे – Camphor oil for Hair Growth in Hindi

लम्बे और घने बाल कौन नहीं चाहता है। लेकिन हम सभी जानते हैं कि ऐसा कहना आसन है और  करना कठिन होता है। आज के प्रदूषित वातावरण में लंबे बाल एक ख्वाब की तरह हैं। आपकी इस समस्या का समाधान कपूर (camphor) के रूप में हमारे पास है ।

जब कपूर के तेल को आवश्यक तेलों (essential oils) के साथ मिलाया जाता है, तो बालों के बढ़ने की दर को बढ़ावा दे सकता है। आप किसी भी आवश्यक तेल जैसे की नारियल का उपयोग कर सकते हैं। इसके साथ ही लैवेंडर और कैमोमाइल (lavender and chamomile ) तेल आपके बालों को ताजा और सुगंधित कर सकते हैं।

(और पढ़े – बालों को लम्बे और घने बनाने के लिए आवश्यक तेल का इस्तमाल कैसे करें )

नारियल तेल में कपूर के फायदे जूँ को मारने में – Camphor oil to Kills Lice and Bugs in Hindi

नारियल तेल में कपूर के फायदे जूँ को मारने में – Camphor oil to Kills Lice and Bugs in Hindi

क्‍या आप कुछ तत्काल राहत के लिए अपने सिर को (itchy scalp) खरोंच रहे हैं, तो शायद आपको जूँ हो सकते हैं। यदि एंटी-जूँ शैम्‍पू आपकी मदद करने में असफल हैं तो कपूर को आजमाएं। वे जूँ को मारने में उपयोगी पाए गए हैं।

पानी में कपूर का तेल मिला कर स्‍नान किया जा सकता है। यह एक अच्‍छी सफाई और कीटाणुशोधक (disinfecting) ऐजेंट के रूप में कार्य करता है। यह जूँ भी मार सकता है और खुजली को भी रोक सकता है।

कपूर के स्वास्थ्य लाभ – Camphor Health Benefits in Hindi

  1. कपूर के गुण एंटीआक्‍सीडेंट से भरपूर – Camphor For Antioxidant properties in Hindi
  2. गैस्ट्रिक परेशानी के लिए कपूर खाने के लाभ – Camphor Relief from Gastric Trouble in Hindi
  3. कपूर के फायदे दर्द को कम करने में –  kapoor ke fayde For Pain Relief in Hindi
  4. कपूर का तेल गर्भवती महिलाओं के लिए – Camphor For Pregnant Women in Hindi
  5. सर्दी खांसी को रोकने में कपूर सूंघने के फायदे – Camphor Treats Cold and Cough in Hindi
  6. कपूर के फायदे दस्त को करें ठीक – kapoor ke fayde treats Diarrhoea in Hindi
  7. कपूर के लाभ दिल के इलाज में – Camphor treat Cardiac Failure in Hindi
  8. भीमसेनी कपूर के फायदे रक्त परिसंचरण के लिए – Camphor Promotes Blood Circulation in Hindi
  9. कपूर जलाने के फायदे मच्छरों को भागने में – Camphor Used for Mosquito Repellent in Hindi

कपूर के गुण एंटीआक्‍सीडेंट से भरपूर – Camphor For Antioxidant properties in Hindi

कपूर के गुण एंटीआक्‍सीडेंट से भरपूर – Camphor For Antioxidant properties in Hindi

Camphor (कपूर) में एंटीआक्‍सीडेंट गुण होते हैं जो शरीर में ऑक्‍सीकरण (Oxidation) की प्रक्रिया को कम करने में मदद करते हैं, जिससे मुक्त कणों को कम करने में मदद मिलती है जो ऊतको के टूटने, लीवर की बीमारियों और कार्डियोवैस्‍कुलर (cardiovascular) परेशानीयों जैसे स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी मुद्दों के लिए जिम्‍मेदार हैं।

गैस्ट्रिक परेशानी के लिए कपूर खाने के लाभ – Camphor Relief from Gastric Trouble in Hindi

गैस्ट्रिक परेशानी के लिए कपूर खाने के लाभ – Camphor Relief from Gastric Trouble in Hindi

अनियमित खाने की आदतों और खाने-पीने के गलत तरीकों के कारण हम में अधिकांश लोगों को पेट की परेशानियों (gastric troubles) का सामना करना पड़ता है। यदि आपको इस प्रकार की समस्‍या हो तो कपूर (camphor) का उपयोग करें यह आपकी समस्‍या को ठीक कर सकता है।

पेट की समस्या बाले लोगों को कपूर से राहत मिलती है। यह गैस के गठन को कम करने में मदद करता है।

(और पढ़े – पेट की गैस के कारण और आसान घरेलू इलाज)

कपूर के फायदे दर्द को कम करने में –  kapoor ke fayde For Pain Relief in Hindi

कपूर के फायदे दर्द को कम करने में –  kapoor ke fayde For Pain Relief in Hindi

हम सभी दर्द या सूजन से छुटकारा पाने के लिए कई प्रकार के बाम और स्‍प्रे को लगाते हैं, लेकिन क्‍या आप जानते थे कि इनमें से अधिकतर बाम कपूर से बने होते हैं।

दर्द से राहत के लिए विशेष रूप से पीठ दर्द के लिए कपूर तेल का उपयोग किया जा सकता है। इसके एंटीआक्‍सीडेंट गुणों के कारण यह मांसपेशीय तनाव को दूर करने में मदद करता है।

कपूर का तेल गर्भवती महिलाओं के लिए – Camphor For Pregnant Women in Hindi

कपूर का तेल गर्भवती महिलाओं के लिए – Camphor For Pregnant Women in Hindi

कपूर गर्भवती महिला का सबसे अच्छा दोस्त होता है क्योंकि यह मांसपेशी की ऐंठन (cramps ) को कम करता है। पेट पर हल्के हाथ से मलने से पेट का दर्द शांत होता है और आपको राहत मिलती है। यह वास्तव में एक बहुत कुशल दर्द रोधक होता (antispasmodic) है।

(और पढ़े – जल्दी और आसानी से गर्भवती होने के तरीके)

सर्दी खांसी को रोकने में कपूर सूंघने के फायदे – Camphor Treats Cold and Cough in Hindi

सर्दी खांसी को रोकने में कपूर सूंघने के फायदे – Camphor Treats Cold and Cough in Hindi

शर्दी और खांसी के खिलाफ कपूर बहुत ही प्रभावी माना जाता है। इसमें कोई आश्‍चर्य की बात नहीं है कि इसका उपयोग भाप लेने और बाम की तरह किया जाता है।

खांसी और कफ (cough) से छुटकारा पाने के लिए कपूर का उपयोग करने के कई तरीके हैं, जिनमें भाप के रूप में इनहेलिंग, बाम की तरह मलना शामिल है। दस मिनट के लिए गर्म पानी में कपूर को मिला कर भाप के माध्‍यम से इसे सांस द्वारा लेना सर्दी दूर करने के लिए अच्छा काम कर सकता है। यह गले की जलन को भी ठीक कर सकता है।

(और पढ़े – खांसी का घरेलू उपचार, ड्राई कफ हो या वेट कफ)

कपूर के फायदे दस्त को करें ठीक – kapoor ke fayde treats Diarrhoea in Hindi

कपूर के फायदे दस्त को करें ठीक – kapoor ke fayde treats Diarrhoea in Hindi

दस्त थकाऊँ स्थितियों में से एक हो सकता है। कपूर का उपयोग दस्त ठीक करने का घरेलू उपाय हो सकता है।

इसका सेवन आपके शरीर में गैस के गठन को रोकता है। इस प्रकार आप गैस से संबंधित बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं। जो बाद में गैस्‍ट्रोएंटेरिटिस और दस्त (gastroenteritis and diarrhea) जैसे गंभीर परिस्थितियों का कारण बनता है।

(और पढ़े – दस्त ठीक करने के घरेलू उपाय)

कपूर के लाभ दिल के इलाज में – Camphor treat Cardiac Failure in Hindi

कपूर के लाभ दिल के इलाज में – Camphor treat Cardiac Failure in Hindi

कपूर अन्‍य दवाओं के साथ मिलकर कार्डियक विफलता का इलाज करने के लिए उपयोग जाता है। यह निम्‍न लिखित स्थितयों के इलाज में भी उपयोगी है: खसरा , फ्लू , भोजन विषाक्तता, मिरगी आदि।

(और पढ़े – कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक में अंतर )

भीमसेनी कपूर के फायदे रक्त परिसंचरण के लिए – Camphor Promotes Blood Circulation in Hindi

भीमसेनी कपूर के फायदे रक्त परिसंचरण के लिए – Camphor Promotes Blood Circulation in Hindi

हम सभी जानतें हैं कि हमारे शरीर में असामान्य रक्त प्रवाह (abnormal blood flow) कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को बढ़ावा देता है। लेकिन कपूर का उपयोग कर आप इन समस्‍याओं को दूर कर सकते हैं।

कपूर रक्त परिसंचरण तंत्र को उत्‍तेजित (stimulates) करता है। जब रक्‍त परिसंचरण में सुधार होता है तो यह गठिया आदि को कम करने में मदद करता है। कपूर शरीर के अन्‍य अंगों की सूजन (swelling of body) को भी कम करने में मदद करता है।

(और पढ़े – गठिया (आर्थराइटिस) कारण लक्षण और वचाब)

कपूर जलाने के फायदे मच्छरों को भागने में – Camphor Used for Mosquito Repellent in Hindi

कपूर जलाने के फायदे मच्छरों को भागने में – Camphor Used for Mosquito Repellent in Hindi

अगर आपके घर पर मच्छरों की तादाद अधिक हो गई है और आप उन्हें प्राकृतिक तरीके से बाहर करना चाहते है तो आप कपूर को जलाकर अपने कमरे के किसी भी कोने में रख दीजिये इसका इस्तेमाल सदियों से मच्छर और कीट पतंगों से छुटकारा पाने के लिए किया जाता रहा है।

(और पढ़े – मच्छर भगाने के घरेलू उपाय ,मच्छरों को कहें अलविदा)

कपूर के नुकसान – Kapoor Ke Nuksan in Hindi

कपूर के नुकसान – Kapoor Ke Nuksan in Hindi

त्‍वचा, बाल और समग्र स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कपूर के गुण बहुत ही फायदेमंद होते हैं, लेकिन यह हमारे लिए तभी फायदेमंद हो सकता है जब हम इसका उपयोग सीमित मात्रा में करें। यदि हम इसका अधिक मात्रा में उपयोग करते है तो परिणाम स्‍वरूप हमें कुछ दिक्‍कतें हो सकती हैं जैसे कि शरीर के तापमान में कमी और उल्‍टी आदि।

कपूर उत्पादों को बच्चों से दूर रखना चाहिए, क्योंकि इसकी अधिक मात्रा का सेवन करने से बच्चों में दौरे पड़ सकते हैं। आमतौर पर अधिक मात्रा में लेने के लक्षण तुरंत ही दिखाई देते हैं। कपूर का अधिक मात्रा में सेवन करने से आंखों, त्वचा और श्‍लेष्‍म झिल्‍ली (mucous membrane) में जलन हो सकती है। इससे दस्त, मितली, सिरदर्द यहां तक की झटके भी लग सकते है।

इसका सेवन अधिक मात्रा में जहरीला हो सकता है  इसलिए इसका मौखिक रूप से सेवन करने से बचना चाहिए।

(और पढ़े – एलोवेरा के फायदे और नुकसान)

Subscribe for daily wellness inspiration