खाने के बाद पेट में दर्द होने के कारण और बचाव के तरीके – Stomach pain in Hindi
बीमारी

खाने के बाद पेट में दर्द होने के कारण और बचाव के तरीके – Stomach pain after eating causes and prevention in Hindi

खाने के बाद पेट में दर्द होने के कारण और वचाव के तरीके – Stomach pain after eating causes and prevention in Hindi

अक्‍सर भोजन करने के बाद कुछ लोंगो को पेट में दर्द (stomach pain) की शिकायत होती है। खाना खाने के बाद पेट में धीरे-धीरे या अचानक तेज दर्द शुरु हो सकता है। पेट में अधिक दर्द होने की स्थिति में तुरंत ही इलाज करना आवश्यक होता है। यदि पेट के दायी ओर दर्द हो तो यह किडनी स्टोन, अपेंडिक्स या फिर अल्सर के संकेत हो सकते हैं। यदि पेट में बांयी तरफ दर्द हो तो यह कोलन कैंसर, डायरिया या कब्ज का संकेत हो सकता है। पेट दर्द की समस्या असहज हो सकती है जिसका इलाज करना महत्पूर्ण होता है।

आज हम इस लेख में खाने के बाद पेट में दर्द होने के बारे में बात करेगें और जानेगें कि पेट में दर्द के कारण क्या हैं और दर्द को कम करने के लिए घरेलू उपाय कौन-कौन से हैं।

विषय सूची

खाने के बाद पेट में दर्द के मुख्य कारण – Causes of abdominal pain after eating in Hindi

खाने के बाद पेट में दर्द के मुख्य कारण - Causes of abdominal pain after eating in Hindi

जरुरत से ज्यादा भोजन करने से पेट दर्द होना सामान्य बात है, लेकिन अगर सामान्य मात्रा में खाना खाते समय पेट दर्द का अनुभव हो रहा है, तो यह किसी आंतरिक स्वास्थ्य समस्याओं का संकेत हो सकता है। जिनका समय पर निदान किया जाना आवश्यक है। खाने के बाद पेट में दर्द अनेक कारणों से हो सकता है, जिसमें से कुछ इस प्रकार हैं:

खाने के बाद पेट दर्द का कारण है कब्‍ज – constipation cause stomach pain after eating in Hindi

कब्‍ज की समस्‍या के चलते खाना खाने के बाद पेट में दर्द होना आम बात है। कडा़ मल होने की वजह से कब्‍ज की समस्‍या पैदा होती है। यदि मल त्‍यागने में परेशानी हो तो, ऐसे में खाना खाने के बाद उदर में दर्द होना आम बात है।

(और पढ़ें: कब्ज कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय)

पेप्टिक अल्सर के कारण खाने के बाद पेट में दर्द होना – Peptic ulcers cause stomach pain after eating in Hindi

खाने के बाद दर्द की ज्‍यादातर वजह छाले (अल्सर) होना बताई जाती है। यह अल्‍सर या तो पेट में होते हैं, या फिर ऊपरी आंत में होते हैं। खाना खाते समय पेट में बनने वाला एसिड, अल्‍सर को प्रभावित कर पेट का दर्द पैदा कर सकता है।

गैस्‍ट्रिक समस्‍या या एसिडिटी बनती है खाने के बाद पेट दर्द का कारण – Acidity cause stomach pain after eating in Hindi

यदि आपके पेट में गैस बन रही है तो अपने आप पेट फूल जाएगा और आपको उल्‍टी, पेट दर्द और डायरिया होने की संभावना रहती है।

मसालेदार खाने से पेट में जलन और दर्द का होना – spicy food cause stomach pain in Hindi

तीखा-मसालेदार भोजन, अपच और आंत या पेट में जलन का कारण बन सकता है जिसकी वजह से पेट में दर्द उत्पन्न हो सकता है। इसके अलावा खाना खाने के तुरंत बाद सो जाना भी पेट में दर्द का कारण हो सकता है।

कच्चा खाना भी होता है पेट में दर्द का कारण – Raw food causes stomach pain after eating in Hindi

कच्चा व आधा पका खाना भी पेट में दर्द का कारण होता है। भोजन करते समय अधपका खाना खाने से बचें। कच्चा भोजन पेट मैं जल्दी नहीं पचता है और कब्ज, एसिडिटी का कारण बनता है जिसके कारण पेट में दर्द हो सकता है। अकेले रहने वाले व्यक्तियों और स्टूडेंट में यह समस्या ज्यादा देखने को मिलती है।

पेट में दर्द का कारण है पथरी (किडनी स्टोन) – kidney stone may cause stomach pain after eating in Hindi

जिन व्यक्तियों को पथरी की सिकायत होती है, उनको अक्सर पेट दर्द की समस्या बनी रहती है। खाना खाने के बाद यह दर्द काफी अधिक बढ़ जाता है। अतः पेट में तीव्र दर्द होने पर डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

खाने के बाद पेट दर्द से बचने के तरीके – How to relieve stomach pain after eating in Hindi

भोजन करने के बाद सामान्य दर्द को महसूस करने वाले व्यक्ति कुछ सामान्य बातों को ध्यान में रखकर तथा उन्हें दैनिक जीवन में अपनाकर पेट दर्द की समस्या से बच सकते हैं। पेट दर्द से बचने के तरीके इस प्रकार हैं:

  • खाना खाने के बाद पेट में दर्द से बचने के लिए ज्यादा भोजन एक साथ ना खाएं – जब भी आप भोजन करे तो इस बात का खास ध्यान रखें कि एक ही बार में ज्यादा खाना न खाएं। हो सके तो थोड़ी-थोड़ी देर में कम-कम खाना खाने की आदत डालें।
  • खाने के बाद पेट दर्द होने से रोकने के लिए खाना खाने में जल्दबाजी न करें – अक्सर देखा गया है कि कुछ लोग जल्दी-जल्दी खाना खाते हैं, जो कि बहुत गलत आदत मानी जाती है। खाना धीरे-धीरे अच्छे से चबाकर खाने से भोजन में लार अच्छे से मिल जाती है, जिससे भोजन का पाचन तेज और सही तरीके से होता है।
  • भोजन के बाद पेट में दर्द से बचने के लिए लैक्टोज असहिष्णुता से बचें – अगर आपको डेयेरी प्रोडक्ट से बने पदार्थ के सेवन से एलर्जी है तो इन्हें खाने से बचें। कई बार दूध से बने खाद्य पदार्थ पेट में गैस और सूजन का कारण बन सकते हैं और पेट दर्द को उत्पन्न कर सकते हैं।
  • खाने के तुरंत बाद पेट दर्द से बचने के लिए सही समय पर पानी पीना जरुरी – खाने के तुरंत बाद पानी पीने से बचें। खाना खाने और पानी पीने के बीच कुछ समय का अन्तराल रखें, और जब प्यास लगे तो सादा पानी पीयें, सोडे वाले पेय पदार्थ से दूर रहे। अल्कोहल और कैफीनयुक्त पेय पदार्थ पेट में जलन और दर्द का कारण बन सकते है, इसलिए अगर आपको पेट दर्द की समस्या है तो इसके सेवेन से बचें।

(और पढ़ें: गर्म पानी पीने के फायदे जानकर हैरान हो जायेंगे आप)

पेट दर्द दूर करने के घरेलू उपाय – Home remedies for stomach pain after eating in Hindi

 

पेट दर्द दूर करने के घरेलू उपाय - Home remedies for stomach pain after eating in Hindi

खाने के बाद पेट दर्द की समस्या को दूर करने के लिए व्यक्ति निम्न घरेलू उपाय अपना सकते हैं, जैसे:

  • अक्सर खाने के बाद पेट दर्द की समस्या का सामना करने वाले व्यकियों को खाने के बाद नींबू रस का सेवन करना चाहिए। नींबू की फांक के ऊपर काला नमक, काला जीरा तथा काली मिर्च का थोड़ा-सा चूर्ण डालकर धीरे-धीरे चूंसने से पेट दर्द से राहत मिलती है।
  • साधारण रूप से पेट में दर्द होने पर चार ग्राम पुदीने में आधा-आधा चम्मच सौंफ, अजवाइन मिलायें। इसमें थोड़ा-सा काला नमक और दो रत्ती हींग डालें और सभी को पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को हल्के गर्म पानी में मिलाकर पीने से पेट में दर्द की समस्या से जल्द आराम मिलता है।
  • किसी भी प्रकार के पेट दर्द की समस्या का घरेलू इलाज करने के लिए आप सौंफ, जीरा तथा सेंधा नमक पीसकर गर्म पानी के लें सकते हैं। यह उपाय पेट दर्द के लिए रामबाण इलाज है। इसमें स्वाद के लिए आप शेहद का भी उपयोग कर सकते है।
  • घरेलू उपचार के अंतर्गत पेट दर्द होने पर एक चम्मच नींबू व अदरक का रस मिलाकर धीरे-धीरे चाटने की सलाह दी जाती है।
  • लहसुन का रस खाने के बाद पेट दर्द को दूर करने के लिए एक असरदार आयुर्वेदिक इलाज है। यदि किसी व्यक्ति को पेट का दर्द परेशान कर रहा है, तो आधा चम्मच लहसुन का रस पानी में मिलाकर पीने की सलाह दी जाती है।

(और पढ़ें: जानिए लहसुन के चमत्कारी स्वास्थ्यवर्धक गुणों के बारे में)

हल्के पेट दर्द के लिए घरेलू इलाज – Home Remedies for mild stomach pain in Hindi

कुछ अन्य घरेलू उपाय जो हल्के पेट दर्द के उपचार में सहायक हो सकते हैं, उनमें शामिल हैं

  • तुलसी के पत्ते का रस आधा चम्मच, अदरक का रस चौथाई चम्मच लेकर, दोनों को मिलाकर गुनगुना करके पीने से पेट दर्द की समस्या से जल्द छुटकारा मिलता है।
  • दो चुटकी काला नमक, दस लौंग, आधी चुटकी हींग-तीनों को पीसकर दो खुराक बना लें। पेट दर्द की स्थिति में इसे सुबह-शाम गुनगुने पानी के साथ सेवन करें।
  • नारियल के पानी में सेंधा नमक डालकर पीने से खाने के बाद होने वाले पेट दर्द से जल्द राहत मिलती है।
  • किसी भी व्यक्ति को यदि पेट दर्द की बीमारी है, तो वह इसके इलाज के लिए अनार के छिलकों का चूर्ण बनाकर, रोज आधा चम्मच चूर्ण, शहद के साथ सेवन करना चाहिए।
  • पेट दर्द के इलाज में हींग सबसे असरदार घरेलू उपचार है। एक चुटकी हींग को एक ग्लास पानी में घोलकर स्वाद अनुसार थोडा सेंधा नमक मिलाकर सेवन करें। पेट दर्द की स्थिति में यह उपाय दिन में तीन बार अपनाने से जल्द राहत मिलती है।
  • गैस की समस्या से छुटकारा पाने के लिए खाना खाने के बाद अदरक के टुकड़ों को नींबू के रस में डुबोकर खाएं। चूँकि अदरक में पाचक एंजाइम होते हैं, जिससे गैस की समस्या जल्द दूर हो जाती है।
  • पेट की सूजन को दूर करने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए।
  • भोजन के बाद अजवायन में काला नमक मिलाकर खाने से पाचन एकदम दुरुस्त हो जाता है और पेट की सूजन भी नहीं होती है। अजवाइन खाकर उपर से गर्म पानी पीने से पेट दर्द जल्दी ठीक होता है।
  • इन सब उपाय के साथ ही सुबह सो कर उठने के तुरंत बाद 2-3 गिलास पानी पीने की आदत डालें। उसके बाद ही कुछ खाएं। ऐसा करने से आपके पेट के सारे रोग दूर हो जायेगें और मोटापा भी कम होगा।

खाने के बाद पेट में दर्द होने के कारण और बचाव के तरीके (Stomach pain after eating causes and prevention in Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration