पेट में सूजन के घरेलू उपाय - Pet Me Sujan Ke Gharelu Upay - Healthunbox
घरेलू उपाय

पेट में सूजन के घरेलू उपाय – Pet Me Sujan Ke Gharelu Upay

पेट में सूजन के घरेलू उपाय - Pet Me Sujan Ke Gharelu Upay

Pet Me Sujan Ke Gharelu Upay: पाचन संबंधी समस्‍याओं में पेट की सूजन सबसे प्रमुख है। क्‍या आप भी पेट में सूजन के घरेलू उपाय जानना चाहते हैं। पेट में सूजन होना एक आम समस्‍या है जो पेट के इंफेक्शन के कारण होती है। लेकिन आप पेट की सूजन कम करने के उपाय अपनाकर इस समस्‍या से छुटकारा पा सकते हैं। पेट में आंत की सूजन यहां मौजूद बैक्‍टीरिया और विषाणुओं की मौजूदगी के कारण होते हैं। लेकिन आप इस प्रकार के बैक्‍टीरियल प्रभाव को कम करने में और आंत में सूजन का आयुर्वेदिक इलाज भी कर सकते हैं। आज इस आर्टिकल में आप पेट की सूजन और इंफेक्शन दूर करने के उपाय संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें।

विषय सूची

पेट की सूजन क्‍या है – Pet ki Sujan kya hai in Hindi

पेट की सूजन क्‍या है – Pet ki Sujan kya hai in Hindi

हमारे पेट में होने वाली सूजन मुख्‍य रूप से पेट की आंतरिक परत की सूजन होती है। पेट के आंतरिक हिस्‍से में सूजन होना पेट के अल्‍सर की संभावना को बढ़ा देता है। हमारे पेट की आंतरिक झिल्‍ली पेट के एसिड और पाचन के लिए विभिन्‍न एंजाइमों का उत्पादन करती है। लेकिन पेट में सूजन होने के दौरान यह इन रसायनों का उत्‍पादन कम कर देती है जिससे पेट संबंधी कई समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है। (1)

(और पढ़ें – पेट में सूजन (गेस्ट्राइटिस) के लक्षण, कारण, उपचार, घरेलू इलाज और बचाव)

पेट की सूजन के प्रकार – Pet ki sujan ke prakar in Hindi

 

पेट की सूजन के प्रकार – Pet ki sujan ke prakar in Hindi

गैस बनना या पेट फूलना भी पेट की सूजन से ही संबंधित है। गैस्‍ट्राइटिस (Gastritis) मुख्‍य रूप से दो प्रकार के होते हैं।

तीव्र जठरशोथ (Acute Gastritis) – पेट में इस प्रकार की सूजन अचानक शुरु होती है और कुछ समय के बाद अपने आप ही ठीक हो जाती है।

क्रोनिक गैस्ट्राइटिस (Chronic Gastritis) – यह परेशानी तब होती है जब पेट की सूजन का समय पर इलाज नहीं किया जाता है। धीरे-धीरे यह समस्‍या स्‍थाई रूप लेने लगती है जो कई वर्षों तक चल सकती है। (2)

(और पढ़े – पेप्टिक अल्सर या पेट में अल्सर (छाले) क्या है, कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार…)

पेट की सूजन के कारण – Pet ki sujan ke karan in Hindi

पेट की सूजन के कारण – Pet ki sujan ke karan in Hindi

पेट की सूजन और दर्द का प्रमुख कारण पेट के आंतरिक अस्‍तर का क्षतिग्रस्‍त होना हो सकता है। इसके अलावा पेट में इंफैक्‍शन और सूजन के अन्‍य कारण इस प्रकार हैं :

  • अरूचिकर और अपौष्टिक भोजन करना।
  • अधिक मात्रा में नशीले पदार्थ जैसे धूम्रपान और शराब आदि का उपयोग।
  • इबुप्रोफेन और एस्पिरिन (ibuprofen and aspirin) जैसी दर्द निवारक दवाओं का अधिक सेवन।
  • हेलिकोबैक्‍टर पाइलोरी (Helicobacter pylori) संक्रमण होना।
  • ऑटोइम्‍यून विकार (Autoimmune disorders) होना।
  • अधिक मात्रा में तनाव ग्रस्‍त रहना।
  • वायरल इंफैक्‍शन जैसे सिंप्‍लेक्‍स वायरस वाला संक्रमण या दाद होना। (3)

(और पढ़े – एसिडिटी के कारण, लक्षण और बचाव के घरेलू उपाय…)

पेट में सूजन के लक्षण – Pet me sujan ke lakshan in Hindi

पेट में सूजन के लक्षण – Pet me sujan ke lakshan in Hindi

सूजा हुआ पेट आपके लिए कई प्रकार की बीमारियों का कारण हो सकता है। हालांकि पेट की सूजन के लक्षण सामान्‍य होते हैं जिन्‍हें आप अनुभव कर सकते हैं। पेट में होने वाली सूजन के प्रमुख लक्षण में पेट की जलन और गंभीर दर्द हो सकता है। इस प्रकार के संकेत पेट की अंदरूनी परत में छेद के संकेत हो सकते हैं। सूजे हुए पेट के अन्‍य लक्षण इस प्रकार हैं।

  • पेट में सूजन होने पर जीमिचलना जैसी समस्‍या हो सकती है।
  • यह उल्‍टी का भी कारण हो सकता है।
  • पेट की सूजन के लक्षण भूख की कमी भी होती है।
  • बहुत समय तक हिचकी आना।
  • मल त्‍याग के दौरान काला मल निकलना।
  • खून की उल्‍टी होना।

इनमें से अंतिम 2 लक्षण बहुत ही गंभीर होते हैं। जिनका तुरंत ही इलाज किया जाना चाहिए। यदि आपको भी पेट की सूजन संबंधी इस प्रकार के लक्षण मिलते हैं तो इसे सामान्‍य न समझें तुरंत ही डॉक्‍टरी चिकित्‍सा लें। हालांकि पेट की सूजन के घरेलू उपाय भी होते हैं। इन उपायों का इस्‍तेमाल कर आप पेट के इंफैक्‍शन और सूजन का इलाज घर पर ही कर सकते हैं। (4)

(और पढ़े – पेट की गैस के कारण और दूर करने के आसान घरेलू उपाय…)

पेट में सूजन के घरेलू उपाय – Pet me sujan ke gharelu upay in Hindi

आप अपने दैनिक जीवन में उपयोग किये जाने वाले बहुत से खाद्य पदार्थों, जड़ी बूटियों और औषधीयों का उपयोग कर सकते हैं। पेट की सूजन दूर करने के घरेलू उपाय में उपयोग किये जाने वाले खाद्य पदार्थ पेट की सूजन के लक्षणों को कम करने में सहायक होते हैं। आइए विस्‍तार से जाने आंत की सूजन का आयुर्वेदिक इलाज क्या है।

(और पढ़े – अपच या बदहजमी (डिस्पेप्सिया) के कारण, लक्षण, इलाज और उपचार…)

पेट में सूजन की दवा विनेगर – Pet me sujan ki dawa Vinegar in Hindi

पेट में सूजन की दवा विनेगर – Pet me sujan ki dawa Vinegar in Hindi

एप्‍पल साइडर विनेगर पेट में एसिड के अतिरिक्‍त उत्‍पादन को कम करता है। साथ ही यह इंसुलिन के उत्‍पादन को भी बढ़ाता है। पेट की सूजन दूर करने के उपाय में इसका सेवन करने से यह सूक्ष्‍मजीवों को भी मारता है। ये सूक्ष्‍म जीव पेट की आंतरकि सतह को नुकसान पहुंचाते हैं। आप सेब के सिरका में थोड़ा शहद मिलाकर सेवन करें।

पेट की सूजन कम करने के लिए आपको 1 बड़ा चम्‍मच सेब का सिरका, 1 चम्‍मच शहद और 1 गिलास पानी की आवश्‍यकता होती है। आप इन सभी को आपस में अच्‍छी तरह से मिलाएं और दिन में 1 या दो बार सेवन करें। इस मिश्रण का उपयोग कर आप बड़ी आंत की सूजन से भी छुटकारा पा सकते हैं। (5)

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान…)

पेट की सूजन कम करने के उपाय एलोवेरा – Pet ki sujan kam karne ke upay Aloe Vera in Hindi

पेट की सूजन कम करने के उपाय एलोवेरा – Pet ki sujan kam karne ke upay Aloe Vera in Hindi

एलोवेरा की पत्तियों से निकाला गया जूस पेट की सूजन का इलाज करने में सहायक होता है। एलोवेरा के औषधीय गुण पेट को सुखद अनुभव कराता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पेट की सूजन को रोकने और पेट के अंदरूनी अस्‍तर की क्षति को रोकने में सहायक होते हैं। इसके अलावा एलोवेरा एक एंटीसेप्टिक होने के कारण पेट में संक्रमण पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया को भी नष्‍ट करता है। पेट की सूजन और इंफैक्‍शन दूर करने के लिए आपको चाहिए 2 चम्‍मच ताजा एलोवेरा पत्तियों का जूस और 1 गिलास पानी। आप इन दोनों के मिश्रण का सेवन कर पेट के इंफैक्‍शन का प्राकृतिक इलाज कर सकते हैं। (6)

(और पढ़ें – एलोवेरा है 10 स्वास्थ्य फायदों से भरपूर)

बड़ी आंत की सूजन के उपाय बेकिंग सोडा – Badi aant ki sujan ke upay Baking soda in Hindi

बड़ी आंत की सूजन के उपाय बेकिंग सोडा – Badi aant ki sujan ke upay Baking soda in Hindi

पेट से संबंधित सूजन का इलाज करने के लिए आप बेकिंग सोड़ा का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। बेकिंग सोड़ा पेट की जलन को शांत करने का सबसे अच्‍छा उपाय है। क्‍योंकि बेकिंग सोड़ा एक एंटासिड के रूप में कार्य करता है और पेट के एसिड की उच्‍च मात्रा को नियंत्रित करता है। पेट फूलने का इलाज करने क लिए आपको 1 चम्‍मच बेकिंग सोड़ा और 1 गिलास पानी की जरूरत होती है।

आप पानी में बेकिंग सोड़ा को अच्‍छी तरह से मिलाएं और दिन में 1 से दो बार इस मिश्रण का सेवन करें। (7)

(और पढ़े – बेकिंग सोडा के फायदे और नुकसान…)

पेट की सूजन और दर्द कम करे नारियल पानी – Pet ki sujan aur dard kam kare nariyal pani in Hindi

पेट की सूजन और दर्द कम करे नारियल पानी – Pet ki sujan aur dard kam kare nariyal pani in Hindi

जिन लोगों को पेट में जलन या सूजन की समस्‍या होती है वे नारियल पानी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। नारियल पानी में मौजूद औषधीय गुण पेट के अस्‍तर को आराम दिलाने में सहायक होते हैं। आप पेट फूलने संबंधी समस्‍याओं का इलाज करने के लिए भोजन के बीच में 1 गिलास नारियल पानी का सेवन कर सकते हैं। उचित लाभ प्राप्‍त करने के लिए आप दिन में 3-4 गिलास नारियल पानी का सेवन करें। (8)

(और पढ़े – नारियल पानी के फायदे और स्वास्थ्य लाभ…)

पेट में सूजन के घरेलू उपाय रोजमैरी – Pet ki sujan ka ilaj Rosemary in Hindi

पेट की सूजन का इलाज रोजमैरी – Pet ki sujan ka ilaj Rosemary in Hindi

रोजमैरी में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफलामेटरी की उच्‍च मात्रा होती है। इस कारण रोजमैरी का इस्‍तेमाल पेट के अल्‍सर और पेट की सूजन को ठीक कर सकता है। आप भी पेट की सूजन संबंधी लक्षणों को दूर करने के लिए रोजमैरी का प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए आपको 1 चम्‍मच रोजमैरी के पत्‍ते और 1 कप गर्म पानी की आवश्‍यकता होती है। आप रोजमैरी के पत्‍तों को कुछ देर तक गर्म पानी में डुबो कर रखें और एक काढ़ा बनाएं। इस काढ़े का सेवन आपको पेट की सूजन से राहत दिला सकता है। (9)

(और पढ़ें – रोजमेरी तेल के फायदे गुण लाभ और नुकसान)

गैस्ट्राइटिस के लिए आलू का रस – Potato Juice For Gastritis in Hindi

गैस्ट्राइटिस के लिए आलू का रस - Potato Juice For Gastritis in Hindi

आलू के जूस में क्षारीय गुण होते हैं जो पेट में मौजूद अत्‍याधिक एसिड के साथ प्रतिक्रिया करते हैं। जिससे पेट की अंदरूनी परत की सूजन को कम करने में मदद मिलती है। आलू के जूस का उपयोग करने के लिए आपको 2 से 3 कच्चे आलू और गरम पानी चाहिए। आप आलू का छिलका अलग करके इसे अच्‍छी तरह से पीस लें। अब इस मिश्रण को पानी में डालें और अच्‍छी तरह से निचोड़ कर आलू को अलग कर लें। अब आप इस आलू के जूस का सेवन भोजन से आधा घंटा पहले करें। आप आलू के जूस को दिन में 1 से 2 बार सेवन कर सकते हैं। (10)

आंत में सूजन का आयुर्वेदिक इलाज मुलैठी – Mulethi pet ki sujan kam kare in Hindi

आंत में सूजन का आयुर्वेदिक इलाज मुलैठी – Mulethi pet ki sujan kam kare in Hindi

आयुर्वेद में मुलैठी का उपयोग विशेष जड़ी बूटी के रूप में किया जाता है। इस जड़ी बूटी का उपयोग पाचन तंत्र को स्‍वस्‍थ रखने और पेट की अंदरूनी सतह की सूजन को कम करने में प्रभावी होती है। मुलैठी में बहुत अधिक श्‍लेष्‍म होता है जो अन्‍नप्रणाली को नरम और फिसलनयुक्‍त बनाता है। जिससे आपको भोजन निगलने में आसानी होती है। पेट की सूजन को दूर करने के उपाय के लिए आपको 1 चम्‍मच मुलैठी पाउडर और 1 गिलास गर्म पानी की आवश्‍यकता होती है। आप गर्म पानी में मुलैठी पाउडर को मिलाएं और 10 से 15 मिनिट के लिए छोड़ दें। इसके बाद इस मिश्रण ठंडा होने के बाद छान लें और इसका सेवन करें। यह पेट की आंतरिक सूजन को कम करने में सहायक होता है। (11)

(और पढ़ें – मुलेठी के फायदे और नुकसान)

पेट फूलने का इलाज करे हल्‍दी – Pet Fulne ka ilaj kare Haldi in Hindi

पेट फूलने का इलाज करे हल्‍दी – Pet Fulne ka ilaj kare Haldi in Hindi

हल्‍दी में करक्‍यूमिन नामक एक घटक होता है। इस घटक में एंटीऑक्‍सीडेंट, एंटी-इंफ्लामेटरी, जीवाणुरोधी और एंटीफंगल गुण होते हैं। इन गुणों की मौजूदगी के कारण हल्‍दी पेट की सूजन संबंधी लक्षणों को प्रभावी रूप से कम कर सकती है। पेट में इंफैक्‍शन और सूजन को दूर करने के लिए आपको 1 चम्‍मच हल्‍दी पाउडर, 1 गिलास पानी, थोड़ा दही या केला चाहिए। आप इन सभी घटकों को आपस में मिलाकर एक पेस्‍ट तैयार करें। पेट की सूजन दूर करने के उपाय में आप इस मिश्रण का सेवन दिन में 2 बार कर सकते हैं। (12)

(और पढ़े – हल्दी के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

पेट की सूजन और दर्द दूर करे अनानास – Pineapple For Gastritis in Hindi

पेट की सूजन और दर्द दूर करे अनानास - Pineapple For Gastritis in Hindi

अनानास में ब्रोमेलैन जैसे पाचक एंजाइम की अच्‍छी मात्रा होती है। ये एंजाइम पेट की परत में जलन जलन और दर्द को कम करने में सहायक होते हैं। यदि आप गैस्‍ट्राइटिस से ग्रसित हैं तो इस फल का सेवन करें। क्‍योंकि अनानास प्र‍कृति में क्षारीय होता है और पेट में बढ़े हुए एसिड की अतिरिक्‍त मात्रा को कम कर सकता है। पेट की सूजन को दूर करने के लिए आपको नियमित रूप से प्रतिदिन 1 कप पके हुए अनानास का सेवन करना चाहिए। (13)

(और पढ़े – अनानास के फायदे उपयोग और नुकसान…)

पेट की सूजन के लक्षण दूर करे दलिया – Daliya for pet ki sujan ke liye in Hindi

पेट की सूजन के लक्षण दूर करे दलिया – Daliya for pet ki sujan ke liye in Hindi

दलिया में फाइबर और खनिज पदार्थों की उच्‍च मात्रा होती है। जिसके कारण यह पाचन प्रक्रिया को बेहतर बनाने का सबसे अच्‍छा उपाय है। इसके अलावा यह पेट के आंतरिक अस्‍तर की सूजन और संक्रमण को भी दूर करने में मदद करता है। पेट की सूजन का प्राकृतिक उपचार करने के लिए आपको आधा कप दलिया, 1 कप दूध या पानी की आवश्‍यकता होती है। आप पानी या दूध के साथ दलिया को पकाएं और इसका सेवन करें। इसके अलावा आप अपने आहार में केला, नाशपाती और सेब जैसे कुछ गैर-अम्‍लीय फलों को भी शामिल कर सकते हैं। (14)

पेट की सूजन का उपचार जीरा पानी – Per ki sujan ka Upchar Jeera pani in Hindi

पेट की सूजन का उपचार जीरा पानी – Per ki sujan ka Upchar Jeera pani in Hindi

जीरा एक औषधीय मसाला है जो कुछ समस्‍याओं में जड़ी बूटी के रूप में इस्‍तेमाल किया जाता है। जीरा में जीवाणुरोधी और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। जिसके कारण यह पेट की सूजन संबंधी लक्षणों को प्रभावी रूप से दूर कर सकता है। पेट की गैस और पेट की जलन का उपचार करने के लिए आपको 1 बड़ा चम्‍मच जीरा और 1 गिलास पानी की आवश्‍यकता होती है। आप 1 चम्‍मच जीरा को अच्‍छी तरह से भून लें और फिर इसका पाउडर तैयार करें। इस पाउडर को पानी के साथ मिलाकर भोजन के बाद या भोजन के पहले दिन में 2 से 3 बार पिएं। (15, 16)

(और पढ़ें – जीरा पानी पीने के फायदे और नुकसान)

स्‍टोमच इंफ्लामेशन फॉर हनी – Stomach inflammation for Honey in Hindi

स्‍टोमच इंफ्लामेशन फॉर हनी – Stomach inflammation for Honey in Hindi

पेट से संबंधित सूजन का घरेलू उपचार करने के लिए आप शहद का प्रयोग भी कर सकते हैं। शहद पेट में हानिकारक बैक्‍टीरिया को प्रभावी ढंग से नष्‍ट कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि शहद प्रकृति में जीवाणुनाशक होता है। इसके अलावा शहद में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण भी होते हैं जो पेट के आंतरिक अस्‍तर की सूजन का उपचार कर सकते हैं। पेट की सूजन का इलाज करने के लिए आपको 2 बड़े चम्‍मच शहद और 1 गिलास गर्म पानी चाहिए। आप पानी में शहद को अच्‍छी तरह से मिलाएं और नियमित रूप से प्रतिदिन खाली पेट इस मिश्रण का सेवन करें। यह आपको पेट की सूजन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने का सबसे सरल उपाय है। (17)

(और पढ़ें – शहद के फायदे चेहरे और त्वचा के लिए)

पेट की सूजन का घरेलू इलाज दही – Pet ki sujan ka gharelu ilaj Dahi in Hindi

पेट की सूजन का घरेलू इलाज दही – pet ki sujan ka gharelu ilaj Dahi in Hindi

प्राकृतिक प्रोबायोटिक (probiotic) का सबसे अच्‍छा स्रोत दही को माना जाता है। प्रोबायोटिक पेट के अल्‍सर की उपचार प्रक्रिया को गति दिलाते हैं। इसके अलावा यह एच.प्‍लोरी (H.pylori) बैक्‍टीरिया के विकास को रोकने में भी असरदार होते हैं। यह बैक्‍टीरिया पेट की आंतरिक सतह को नुकसान पहुंचाने और पेट की सूजन को बढ़ाने वाले कारणों में से एक है। पेट की सूजन से छुटकारा पाने के लिए आप अपने भोजन या नाश्‍ते के साथ ताजे दही को शामिल कर सकते हैं। (18)

(और पढ़े – दही खाने से सेहत को होते हैं ये बड़े फायदे…)

जठरशोथ का घरेलू उपचार अदरक – Gastritis Home remedy for Ginger in Hindi

जठरशोथ का घरेलू उपचार अदरक - Gastritis Home remedy for Ginger in Hindi

अदरक एक बहुमूल्‍य जड़ी बूटी है जिसे मसाले के रूप में भी उपयोग किया जाता है। जिन लोगों को पेट की सूजन या पेट फूलने की समस्‍या है उनके लिए अदरक एक आयुर्वेदिक दवा से कम नहीं है। अदरक में जीवाणुरोधी और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो हेलिकोबैक्‍टर पाइलोर (Helicobacter pylori) बैक्‍टीरिया के कारण होने वाली पेट की सूजन को कम करते हैं। पेट में सूजन संबंधी समस्‍याओं का उपचार करने के लिए आपको ताजे अदरक का 1 इंच लंबा टुकड़ा और 1 कप पानी की आवश्‍यकता होती है। अदरक के टुकड़े को कुचल लें और फिर इसे 1 कप पानी में कुछ देर के लिए छोड़ दें। इसके अलावा आप अदरक पाउडर, सेंधा नमक और हींग को 1 कप गर्म पानी में मिलाकर भी एक घोल तैयार कर सकते हैं। यह आपको पेट की सूजन और अन्‍य समस्‍याओं से तुरंत ही राहत दिला सकता है। (19)

(और पढ़े – अदरक के फायदे, औषधीय गुण, उपयोग और नुकसान…)

पेट की गैस और जलन का उपाय ग्रीन टी – Pet ki gas aur jalan ka upay Green tea in Hindi

पेट की गैस और जलन का उपाय ग्रीन टी – Pet ki gas aur jalan ka upay Green tea in Hindi

आप अपने पेट को स्‍वस्‍थ रखने और पेट की जलन से छुटकारा पाने ग्रीन टी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। ग्रीन टी में एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा होती है। जिसके कारण यह पेट के आंतरिक अस्‍तर को सुरक्षात्‍मक प्रभाव डालते हैं। आप पेट की सूजन के घरेलू उपाय में ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आपको 1 चम्‍मच ग्रीन टी, 1 चम्‍मच शहद और 1 कप गर्म पानी चाहिए। आप कुछ देर के लिए ग्रीन टी को गर्म पानी में छोड़ दें और फिर इसे छानकर अलग कर लें। इसके बाद आप अपने स्‍वादानुसार इसमें शहद मिलाएं और इसका सेवन करें। यह कुछ ही देर में पेट की गैस, पेट की सूजन और अन्‍य पेट संबंधी समस्‍याओं का इलाज कर सकता है। (20)

(और पढ़े – सुबह खाली पेट ग्रीन टी पीने के फायदे…)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration