जीरा खाने के फायदे, उपयोग और नुकसान – Jeera (Cumin) Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi

जीरा खाने के फायदे और नुकसान – Jeera (Cumin) ke Fayde Aur Nuksan in Hindi
Written by Deepanshu

Cumin Benefits in Hindi जीरा एक प्रमुख खाद्य मसाला है जिसके लाभ औषधीय जड़ी बूटी के रूप में भी होते हैं। केवल जीरा का नाम सुनते ही मन में किसी चटपटे और स्‍वादिष्‍ट खाद्य पदार्थ की याद आना स्‍वाभाविक है। क्‍योंकि जीरा का उपयोग व्‍यंजनों का स्‍वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। लेकिन क्‍या आप जीरा खाने के फायदे और नुकसान से वाकिफ हैं। जीरा के औषधीय गुणों के कारण इसे आयुर्वेद में औषधी के रूप में उपयोग किया जाता है। जीरा के फायदे हमें कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में मदद करते हैं। नियमित रूप से जीरा का इस्‍तेमाल पाचन को स्‍वस्‍थ रखने, सूजन से बचाने, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने, नींद को बेहतर करने, मधुमेह को रोकने और कोलेस्‍ट्रॉल संबंधी समस्‍याओं को कम करने में मदद करता है। इस लेख में आप जीरा का उपयोग करने के फायदे और इससे होने वाले नुकसान संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेंगें।

  1. जीरा क्‍या है – What is Cumin in Hindi
  2. जीरा के पोषक तत्‍व – Cumin Nutrition in Hindi
  3. जीरे की तासीर गर्म है या ठंडी – Jeera Ki Taseer Garm Hai Ya Thandi in Hindi
  4. घर में जीरा पाउडर कैसे बनाये – How to Make Cumin Powder At Home in Hindi
  5. क्‍यूमिंग या जीरा के फायदे – Jeera ke Fayde in Hindi
  6. जीरा खाने के नुकसान – Jeera Ke Nuksan in Hindi

जीरा क्‍या है – What is Cumin in Hindi

क्‍यूमिंग या जीरा एक औषधीय पौधा है जो एपियासी (Apiaceae) फैमिली से संबंधित है। जीरा का वनस्‍पतिक नाम कम्‍यूनिकम सिम्‍यूनम (Cuminucum cyminum) यह एक बहुत ही लोकप्रिय मसाला है जिसका आकार बहुत ही छोटा होता है। इन छोटे बीजों में बहुत से पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ उच्‍च मात्रा में होते हैं। जीरा के बीजों से आवश्‍यक तेल भी प्राप्‍त किया जाता है जिसका उपयोग कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के उपचार में होता है। आइए जाने जीरा में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व कौन-कौन से हैं।

(और पढ़ें – जीरा पानी पीने के फायदे और नुकसान)

जीरा के पोषक तत्‍व – Cumin Nutrition in Hindi

हम सभी जानते हैं कि जीरा का मसाले के साथ ही विभिन्‍न प्रकार की औषधियों के निमार्ण में भी उपयोग किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि जीरा में पर्याप्‍त मात्रा में पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थों की मौजूदगी होती है। इसमें आयरन, कैल्शियम, मैंगनीज, मैग्नीशियम और फॉस्‍फोरस आदि की अच्‍छी मात्रा होती है। जीरे के फायदे इसमें उपलब्‍ध विटामिन के कारण भी होते हैं जिनमें थायमिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन K और विटामिन बी6 भी होते हैं। इसके अलावा जीरा में तांबा, जस्‍ता, और पोटेशियम जैसे खनिज भी अल्‍प मात्रा में होते हैं। इन सभी खजिन पदार्थों और पोषक तत्‍वों के कारण जीरा हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है।

(और पढ़ें – कैल्शियम की कमी के लक्षण और इलाज)

जीरे की तासीर गर्म है या ठंडी – Jeera Ki Taseer Garm Hai Ya Thandi in Hindi

औषधीय गुणों से भरपूर जीरा की तासीर गर्म होती है। नियमित रूप से जीरा का सेवन करने से इसकी गर्म तासीर वात और कफ दोषों को नियंत्रित करने में सहायक होती है। यही कारण है कि पाचन संबंधी और सामान्‍य सर्दी जुखाम का उपचार के लिए सदियों से गर्म तासीर वाले जीरा का उपयोग किया जा रहा है।

घर में जीरा पाउडर कैसे बनाये – How to Make Cumin Powder At Home in Hindi

अपने दैनिक उपयोग के लिए आप जीरा पाउडर को बाजार से खरीद सकते हैं। हालांकि बाजार में मिलने वाले जीरा पाउडर की शुद्धता पर संदेह हो सकता है। क्‍योंकि बाजार में मिलने वाला जीरा पाउडर रसायनों से दूषित हो सकता है। जो आपके स्‍वास्‍थ्‍य को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए बेहतर है कि आप अपने घर पर ही जीरा का पाउडर तैयार कर सकते हैं। आइए जाने घर पर जीरा पाउडर तैयार करने की विधि क्‍या है।

सामग्री – जीरा पाउडर बनाने के लिए आपको ½ कप जारा के बीज चाहिए।

जीरा पाउडर बनाने का तरीका

  • एक बर्तन में जीरा के बीज लें और इसे मध्‍ययम आंच में अच्‍छी तरह भून लें।
  • भुने हुए जीरा को ठंडा होने दें और फिर एक ब्‍लेंडर की मदद से इसे पीस लें।
  • इससे प्राप्‍त पाउडर को छान्‍नी से छान लें और बचे हुए मोटे मिश्रण को एक बार फिर ब्‍लेंडर में ब्‍लेंड करें।
  • इस तरह से जीरा पाउडर तैयार है जिसे किसी हवा बंद बोतल या जार में स्‍टोर करें।

जीरा के फायदे – Jeera ke Fayde in Hindi

अक्‍सर हम घर में जीरा का उपयोग केवल व्‍यंजनों को बनाने के दौरान ही करते हैं। लेकिन आपने कभी स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने की दृष्टि से जीरा का इस्‍तेमाल किया है। यदि नहीं किया है तो अब करने लगेगें। क्‍योंकि हम यहां जीरा से प्राप्‍त होने वाले फायदों की बात कर रहे हैं। जिन्‍हें जानकर आप हैरान हो जाएगें कि आकार छोटा दिखने वाला जीरा हमारे लिए कितना उपयोगी है। आइए जाने जीरा के हेल्‍थ बेनिफिट्स क्‍या हैं।

भुना हुआ जीरा पेट के लिए है अच्‍छा – Roasted Cumin Is Good For The Stomach in Hindi

भुना हुआ जीरा पेट के लिए है अच्‍छा - Roasted Cumin Is Good For The Stomach in Hindi

पेट से संबंधित समस्‍याओं को दूर करने के लिए भुना हुआ जीरा एक अच्‍छा और प्रभावी घरेलू उपचार माना जाता है। जानकारों के अनुसार जीरा का सेवन करने से अम्‍लता और पेट की सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है। साथ ही यह अपच से भी छुटकारा दिला सकता है। पेट का दर्द होने के दौरान जीरा का उपयोग दर्द नाशक के रूप में भी इस्‍तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए आप जीरा के पानी का भी सेवन कर सकते हैं। जीरा पानी आमतौर पर पाचन एंजाइमों के स्राव को उत्‍तेजित करने और पाचन प्रक्रिया को तेज करने में मदद करता है। इस तरह से आप अपने पेट को स्‍वस्थ्‍य रखने के लिए जीरा के लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़ें – पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय)

जीरा खाने का फायदा प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाये – Jeera Khane Ka Fayda Immunity Badhaye in Hindi

जीरा खाने का फायदा प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाये – Jeera Khane Ka Fayda Immunity Badhaye in Hindi

जीरा में मौजूद पोषक तत्‍वों में आयरन, विटामिन सी, और विटामिन ए की भरपूर मात्रा होती है। इसलिए जीरा का इस्‍तेमाल करना आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। विटामिन सी एक शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो सफेद रक्‍त कोशिकाओं के कार्य और गतिविधि को उत्‍तेजित करता है। इसके अलावा जीरा के एंटीऑक्‍सीडेंट उन फ्री रेडिकल्‍स को भी बेअसर करते हैं जो सफेद रक्‍त कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं। यदि आप भी अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना चाहते हैं तो जीरा का सेवन करना एक प्राकृतिक उपाय हो सकता है।

(और पढ़ें – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय)

जीरा के फायदे अस्‍थमा के लिए – Cumin Benefits For Asthma in Hindi

जीरा के फायदे अस्‍थमा के लिए - Cumin Benefits For Asthma in Hindi

जीरा में मौजूद पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ अस्‍थमा और ब्रोंकाइटिस जैसी श्वसन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में लाभ दिला सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि जीरा में एंटी-कंजेस्टिव गुण होते हैं। यह एक एक्‍सफोलिएट के रूप में कार्य करता है जिसका मतलब यह है कि यह श्वसन पथ में जमा बलगम और कफ को ढीला करके बाहर निकालने में मदद करता है। नियमित रूप से जीरा का सेवन करना श्वसन पथ में कफ के गठन को रोकने में सहायक होता है। यदि आप भी श्वसन संबंधी संक्रमण का इलाज करना चाहते हैं तो अपने दैनिक आहार में जीरा की कुछ मात्रा को शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़ें – अस्थमा (दमा) के कारण, लक्षण, उपचार एवं बचाव)

जीरा के लाभ मधुमेह के लिए – Jeera Ke Labh Diabetes Ke Liye in Hindi

जीरा के लाभ मधुमेह के लिए – Jeera Ke Labh Diabetes Ke Liye in Hindi

डायबिटिक रोगियों के लिए जीरा एक आयुर्वेदिक औषधि हो सकती है। क्‍योंकि जीरा का सेवन करने से यह हाइपोग्‍लाइसीमिया (hypoglycemia) की संभावना को कम करके मधुमेह के लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है। एक पशू अध्‍ययन से भी यह पता चलता है कि जीरा में ऐसे औषधीय गुण होते हैं जो मधुमेह के प्रभाव को कम करने में प्रभावी होते हैं। अध्‍ययनों से यह स्‍पष्‍ट होता है कि मौखिक रूप से जीरा का सेवन करने से रक्‍त शर्करा में और ग्‍लूकोसुरिया में उल्‍लेखनीय कमी आई, जो एक ऐसी स्थिति है जिसमें मूत्र में बहुत अधिक ग्‍लूकोज होता है। जिसके परिणामस्‍वरूप हाइपोग्‍लाइसीमिया और मधुमेह भी होता है। यदि आप भी मधुमेह रोगी हैं तो जीरा के औषधीय गुणों का लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़ें – शुगर ,मधुमेह लक्षण, कारण, निदान और बचाव के उपाय)

भुना जीरा के फायदे खाद्य जनित बीमारियों के लिए – Bhuna Jeera ke Fayde for Food borne illness in Hindi

भुना जीरा के फायदे खाद्य जनित बीमारियों के लिए – Bhuna Jeera ke Fayde for Food borne illness in Hindi

आयुर्वेद में जीरा का उपयोग विभिन्‍न प्रकार के संक्रमण को रोकने के लिए प्रमुख रूप से किया जाता है। आप भी भोजन आधारित होने वाले संक्रमण या अन्‍य समस्‍याओं को रोकने के लिए भुने हुए जीरे का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। भुना जीरा खाने के फायदे इसमें मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल, एंटीवायरल और जीवाणुरोधी गुणों के कारण होते हैं। इसलिए जीरा का इस्‍तेमाल संक्रमण और खाद्य जनित बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। जीरे का प्रयोग आप कीटाणुनाशक के रूप में भी कर सकते हैं।

(और पढ़ें – फूड पॉइजनिंग के कारण, लक्षण, निदान, दवा और इलाज)

जीरा के गुण कोलेस्‍ट्रॉल कम करे – Jeera ke Gun Cholesterol Kam Kare in Hindi

जीरा के गुण कोलेस्‍ट्रॉल कम करे – Jeera ke Gun Cholesterol Kam Kare in Hindi

जिन लोगों को उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल संबंधी समस्‍याएं होती हैं उनके लिए जीरा बहुत ही लाभकारी होता है। जीरे में हाइपोलिपिडेमिक गुण होते हैं। इस गुण के कारण जीरा शरीर में कोलेस्ट्रॉल के उच्‍च स्‍तर को को नियंत्रित करने में मदद करता है। आप अपने नियमित आहार में जीरा को शामिल करने के साथ ही खाली पेट भी जीरा का सेवन कर सकते हैं। खाली पेट जीरा खाने के फायदे आपके शरीर में खराब कोलस्‍ट्रॉल को कम करने और मोटेपा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में भी प्रभावी होता है।

(और पढ़ें – हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय)

जीरा के औषधीय गुण एनीमिया को रोके – Jeera Ke Aushadhiya Gun Anemia Ko Roke in Hindi

जीरा के औषधीय गुण एनीमिया को रोके – Jeera Ke Aushadhiya Gun Anemia Ko Roke in Hindi

चुटकी भर जीरा के फायदे आपको कई गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचा सकते हैं। एनीमिया भी एक गंभीर बीमारी है जो शरीर में रक्‍त की कमी से संबंधित है। अपने दैनिक आहार में नियमित रूप से जीरे को शामिल करना आपको एनीमिया के प्रभाव से बचा सकता है। जीरा में आयरन की भरपूर मात्रा होती है जो हमारे दैनिक आहार के लिए सबसे महत्‍वपूर्ण है। जीरा खाने के फायदे आपको न केवल एनीमिया बल्कि थकान, चिंता और संज्ञानात्‍मक खराबी जैसे लक्षणों से बचा सकता है।

(और पढ़ें – क्या है एनीमिया? कारण, लक्षण और आहार)

जीरा का उपयोग हड्डियों को स्‍वस्‍थ रखे – Jeera For Healthy Bone in Hindi

जीरा का उपयोग हड्डियों को स्‍वस्‍थ रखे – Jeera For Healthy Bone in Hindi

जो लोग अपनी हड्डियों को स्‍वस्‍थ रखने के लिए कैल्शियम युक्‍त खाद्य पदार्थों की तलाश कर रहे हैं। उनके लिए जीरा एक बेहतरीन विकल्‍प हो सकता है। क्‍योंकि जीरा में कैल्शियम की पर्याप्‍त मात्रा होती है। नियमित रूप से जीरा का सेवन करने पर यह बढ़ती उम्र के दौरान ऑस्टियोपोरोसिस की शुरुआती लक्षणों को रोकने में सहायक हो सकता है। आप भी अपनी हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जीरा का इस्‍तेमाल खाद्य औषधीय जड़ी बूटी के रूप में कर सकते हैं।

(और पढ़ें – हड्डियों को मजबूत बनाने के घरेलू उपाय)

जीरे से करें फोड़े फुंसी का उपचार – Jeera For Treats Boils in Hindi

जीरे से करें फोड़े फुंसी का उपचार – Jeera For Treats Boils in Hindi

दैनिक आहार में जीरा का नियमित उपयोग करना आपको विभिन्‍न प्रकार के त्‍वचा संक्रमणों से बचा सकता है। जीरा के औषधीय गुण फोड़े, चकत्ते, फुंसियों और अन्‍य प्रकार के संक्रमणों की रोकथाम में मदद करते हैं। जीरा में क्‍यूमिनाल्डिहाइड (cuminaldehyde), थाइमोल (thymol) और फास्‍फोरस जैसे डिटॉक्सिफाइंग एजेंट होते हैं। जो हमारे शरीर में मौजूद विषाक्‍त पदार्थों को आसानी से दूर करने और शरीर को संक्रमण से बचाने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें – फोड़े फुंसी का घरेलू उपचार, उपाय और नुस्खे)

जीरा खाने के लाभ कैंसर से बचाये – Jeera Khane Ke Labh Cancer Se Bachaye in Hindi

जीरा खाने के लाभ कैंसर से बचाये – Jeera Khane Ke Labh Cancer Se Bachaye in Hindi

कैंसर रोगियों के लिए जीरा एक आयुर्वेदिक औषधि साबित हो सकती है। क्‍योंकि जीरा में एंटीऑक्‍सीडेंट, केमोप्रेंटिव और एंटी-कार्सिनोजेनिक गुण होते हैं। इन गुणों के कारण जीरा का इस्‍तेमाल विभिन्‍न प्रकार के कैंसर और विशेष रूप से बृहदान्‍त्र और स्‍तन कैंसर के बचाव में मदद कर सकता है। एक अध्‍ययन से पता चलता है कि जीरे के बीजों में मौजूद थाइमोक्विनोन एंटीट्यूमर, एंटीकैंसर और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। इस तरह से जीरा कैंसर रोगियों को फायदा दिला सकता है।

(और पढ़ें – क्या खाने से कैंसर का खतरा कम किया जा सकता है)

जीरा के औषधीय गुण बवासीर के लिए – Cumin benefits for Treat Piles in Hindi

जीरा के औषधीय गुण बवासीर के लिए - Cumin benefits for Treat Piles in Hindi

बवासीर के लक्षणों को कम करने और इसका उपचार करने के लिए जीरा बहुत ही लोकप्रिय औषधी के रूप में उपयोग किया जाता है। जीरा में फाइबर की पर्याप्‍त मात्रा होती है इसके अलावा इसमें कर्मिनिटिव, उत्‍तेजक, एंटीफंगल और रोगाणुरोधी गुण भी होते हैं। इसलिए जीरा पाउडर के फायदे एक प्रभावी और प्राकृतिक लैक्सेटिव (laxative) के रूप में भी होते हैं।

(और पढ़ें – बवासीर के लिए घरेलू इलाज, उपचार और उपाय)

जीरा पानी के फायदे सूजन के लिए – Cumin Water For Swelling in Hindi

जीरा पानी के फायदे सूजन के लिए – Cumin Water For Swelling in Hindi

शरीर के विभिन्‍न हिस्‍सों में होने वाली सूजन का उपचार करने के लिए जीरा का उपयोग कई प्रकार से किया जा सकता है। जीरा का पानी भी सूजन और इससे होने वाले दर्द संबंधी लक्षणों को कम करने में प्रभावी होता है। जीरे के पानी में एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। जिसके कारण यह गठिया के कारण होने वाली सूजन और दर्द से राहत दिलाने में सहायक हो सकता है।

(और पढ़ें – सूजन के कारण, लक्षण और कम करने के घरेलू उपाय)

जीरा के फायदे मां का दूध बढ़ाये – Jeera ke Fayde For Increases Lactation in Hindi

जीरा के फायदे मां का दूध बढ़ाये – Jeera ke Fayde For Increases Lactation in Hindi

हम सभी जान चुके हैं कि जीरा में आयरन की उच्‍च मात्रा होती है। इस कारण ही जीरा स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं के साथ ही गर्भवती और मासिक धर्म से गुजर रही महिलाओं के लिए फायदेमंद होता है। जीरा में थाइमोल (thymol) की मौजूदगी के कारण यह स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध के उत्‍पादन को बढ़ाने में मदद करता है। जीरा की 1 चम्‍मच (लगभग 60 ग्राम) मात्रा में इतना कैल्शियम होता है जो महिलाओं की दैनिक आवश्‍यकता का लगभग 20 प्रतिशत होता है। इसलिए स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए जीरे का सेवन करना अतिरिक्‍त लाभ दिला सकता है।

(और पढ़ें – ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बढ़ाने के लिए क्या खाएं)

जीरा खाने का फायदा मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Jeera Khane Ka Fayda Brain Health ke liye in Hindi

जीरा खाने का फायदा मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Jeera Khane Ka Fayda Brain Health ke liye in Hindi

जीरे में आयरन की उच्‍च मात्रा होती है, जिसके कारण दैनिक आहार में इसे शामिल करना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा होता है। आयरन की पर्याप्‍त मात्रा के कारण शरीर के सभी हिस्‍सों सहित मस्तिष्‍क में भी रक्‍त का उचित संचार होता है, जिससे संज्ञानात्‍मक प्रदर्शन में वृद्धि हो सकती है। एक अध्‍ययन के अनुसार जीरा में एंटी-स्‍ट्रेस, एंटीऑक्‍सीडेंट ओर मेमोरी बढ़ाने वाले गुण भी होते हैं। जिसके कारण यह न केवल तनाव को कम करने बल्कि मस्तिष्‍क को स्‍वस्‍थ रखने में भी सहायक होते हैं।

(और पढ़ें – दिमाग तेज करने के घरेलू नुस्खे)

जीरा पाउडर के फायदे वजन घटाये – Cumin Powder For Weight Loss in Hindi

जीरा पाउडर के फायदे वजन घटाये – Cumin Powder For Weight Loss in Hindi

जीरा पाउडर एक सबसे अच्‍छा विकल्‍प है जो शरीर के स्‍वस्‍थ वजन को बनाए रखने में मदद करता है। जीरा शरीर में मौजूद अतिरिक्‍त वसा को जलाने में सक्षम होता है। अध्‍ययनों से पता चलता ह‍ै कि जो लोग अपने दैनिक आहार में जीरा पाउडर का उपयोग करते हैं, उनके मोटापे में लगभग 15 प्रतिशत तक की कमी हो सकती है। मोटापा घटाने के लिए जीरा पाउडर एक प्राकृतिक उपाय हो सकता है। आप जीरा पाउडर का उपयोग जीरा पानी बनाने के लिए भी कर सकते हैं।

(और पढ़ें – मोटापा और वजन कम करने के आयुर्वेदिक टिप्स)

जीरा का इस्‍तेमाल शुक्राणु गुणवत्ता में सुधार करे – Cumin Powder For Improves Quality Of Sperm in Hindi

जीरा का इस्‍तेमाल शुक्राणु गुणवत्ता में सुधार करे - Cumin Powder For Improves Quality Of Sperm in Hindi

पुरुषों के यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर बनाने के लिए भी जीरा का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। जीरा खाने के फायदे पुरुषों की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। जीरा के बीजों में जस्‍ता होता है जो शुक्राणुओं के उत्‍पादन को बढ़ाता है। साथ ही जस्‍ता की मदद से न्‍यूक्लिक एसिड को संश्‍लेषित किया जाता है। यह पुरुषों के मूड में भी सुधार करने और अनिद्रा का इलाज करने में प्रभावी योगदान दे सकता है। आप अपने दैनिक आहार में प्रतिदिन 2 चम्‍मच जीरा पाउडर को शामिल कर सकते हैं, यह आपके शरीर में शुक्राणुओं की गुणवत्ता और संख्‍या में सुधार कर सकता है। जिससे पुरुष अपनी प्रजनन क्षमता में वृद्धि कर सकते हैं।

(और पढ़ें – शुक्राणु बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए)

भुना हुआ जीरा लिवर के लिए अच्‍छा – Bhuna Hua Jeera Liver Ke liye Achha in Hindi

भुना हुआ जीरा लिवर के लिए अच्‍छा – Bhuna Hua Jeera Liver Ke liye Achha in Hindi

डिटॉक्सिफिकेशन गुण होने के कारण प्राचीन समय से ही जीरा का उपयोग शरीर की विषाक्‍तता दूर करने के लिए किया जा रहा है।  इसके अलावा जीरा में पाचन एंजाइमों के उत्‍पादन को बढ़ाने की क्षमता भी होती है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि नियमित रूप से जीरा पानी का सेवन करना शरीर की विषाक्‍तता को बाहर निकालने में सहायक होता है। इसके अलावा जीरा के औषधीय गुण शरीर में पित्त के स्‍तर को संतुलित करने में भी सहायक होते हैं इसलिए जीरा का सेवन करना लिवर के लिए अच्‍छा माना जाता है।

(और पढ़ें – लिवर (यकृत या जिगर) क्या है, कार्य, रोग और स्वास्थ्य रखने के तरीके)

जीरा के फायदे दिलाएं सर्दी में राहत – Jeera Benefits For Cold Relief in Hindi

जीरा के फायदे दिलाएं सर्दी में राहत – Jeera Benefits For Cold Relief in Hindi

सर्दियों में नाक बंद होने की समस्या तो बहुत ही आम है। लेकिन ये समस्या लंबे समय तक लोगों परेशान कर सकती है। यदि आप इससे राहत पाना चाहते हैं तो जीरे का इस्तेमाल करना ना भूलें। जीरे को अच्छी तरह से भून ले और इसकी एक पोटली बना ले। फिर समय समय पर इसे संघूते रहें। ऐसा करने से छींक आना बंद हो जाएगी। इसके साथ ही जीरा कब्ज (Constipation) को दूर करने में भी सहायक है। कब्ज को दूर करने के लिए एक गिलास छाछ में काला नमक (Black salt) व भूना जीरा मिलाकर पी ले। ऐसा करने से आपको जल्दी राहत मिलेगी।

(और पढ़ें – सर्दी जुकाम और खांसी के घरेलू उपाय)

जीरा पाउडर के फायदे पेट दर्द में – Jeera Powder For Stomach Pain in Hindi

जीरा पाउडर के फायदे पेट दर्द में – Jeera Powder For Stomach Pain in Hindi

पेट में दर्द कभी भी हो सकता है। लेकिन जब पेट दर्द असहनीय हो जाए तो एक बार घरेलू नुस्‍खे भी आजमाकर जरूर देखने चाहिए। पेट दर्द में जीरा और चीनी (Jeera aur sugar) को समान मात्रा में मिलाकर इस मिश्रण का सेवन किया जा सकता है। इस मिश्रण को खूब चबा-चबा कर खाना चाहिए जिससे जीरे से निकलने वाला रस आपको तुरंत फायदा पहुंचाता है।

(और पढ़ें – पेट दर्द के घरेलू उपाय और नुस्खे)

जीरा के फायदे बुखार में दे तुरंत आराम – Jeera Benefits For Fever in Hindi

जीरा के फायदे बुखार में दे तुरंत आराम – Jeera Benefits For Fever in Hindi

बुखार में बदन टूट सा जाता है। साथ ही कई बार शारीरिक कमजोरी का भी अनुभव होता है। ऐसे में जीरे के साथ गुड़ (Jeera aur gud) को मिलाकर इसकी गोलियां बना कर दिन में कम से कम दो से तीन बार खाने से शरीर का तापमान नियंत्रित हो जाता है। आप भी बुखार के लक्षणों को कम करने के लिए जीरा का इस्‍तेमाल प्राकृतिक घरेलू उपाय के रूप में कर सकते हैं।

(और पढ़ें – बुखार कम करने के घरेलू उपाय)

जीरा के फायदे जी मिचलाने पर – Jeera Benefits For Morning Sickness in Hindi

जीरा के फायदे जी मिचलाने पर – Jeera Benefits For Morning Sickness in Hindi

यदि किसी का जी मिचला रहा हो तो जीरे को चबा चबा कर खाने से राहत मिल सकती है। जीरा के रस (Jeera juice) चूसने से जी मिचलाना काफी हद तक कम हो जाता है इसके अलावा पानी में इलाइची को उबालकर पीने से भी जी मचलाना बंद हो जाता है। जिन महिलाओं को मॉर्निग सिकनेंस जैसी समस्‍याएं होती हैं उनके लिए जीरा और जीरा पानी का सेवन करना एक अच्‍छा घरेलू उपाय हो सकता है।

(और पढ़ें – मतली (जी मिचलाना) के लिए घरेलू उपचार)

जीरा के फायदे पाचन क्रिया सुधारने में – Cumin Seeds Benefits For Digestion in Hindi

जीरा के फायदे पाचन क्रिया सुधारने में – Cumin Seeds Benefits For Digestion in Hindi

जीरे में पाए जाने वाले पोषक तत्व (Nutrients in cumin) और एंटी-ऑक्‍सीडेंट पाचन तंत्र को मजबूत बनाते हैं | जीरा इम्यूनि सिस्टम को बढ़ाता है साथ ही पेट से संबंधित रोगों को भी दूर कर सकता है | जीरा का सेवन करने से भोजन जल्दी और अच्छी तरह से पच (Digest) जाता है। इसके अलावा  जीरा के साथ आंवला, अजवाइन, और काला नमक मिलाकर खाने से भूख बढ़ती है। यह मिश्रण दस्त में भी राहत दिला सकता है।

(और पढ़ें – मानव पाचन तंत्र कैसा होता है, और कैसे इसे मजबूत बनायें)

जीरा के फायदे बचाए त्वचा के इंफेक्शन से – Cumin Seeds Benefits For Skin Infection in Hindi

जीरा के फायदे बचाए त्वचा के इंफेक्शन से – Cumin Seeds Benefits For Skin Infection in Hindi

जीरा में कई प्रकार के मिनिरल्स और विटामिन पाए जाते है। त्वचा को खूबसूरत बनाए रखने के लिए विटामिन ई की जरूरत होती है। जीरा में पाया जाना वाला विटामिन ई त्वचा को स्वस्थ्य रखने में मदद करता है। इसके साथ ही यह मुंहासे व फुंसियों को त्वचा पर आने से रोकता है। जीरा में एंटी फंगल गुण भी होते है जिससे आपकी त्वचा इंफेक्शन (Skin infections) से बच सकती है। इन सब के अलावा जीरा का उपयोग एक्जिमा और सोराइसिस (Eczema and psoriasis) को ठीक करने में भी किया जाता है। आप चाहे तो जीरा पाउडर को अपने फेसपैक के साथ मिलाकर भी इस्तेमाल कर सकते है।

(और पढ़ें – एक्जिमा क्या है, कारण, लक्षण, बचाव और घरेलू उपचार)

जीरा के लाभ से बालों  झड़ना हो जाएगा कम – Jeera Benefits For Hair in Hindi

जीरा के लाभ से बालों  झड़ना हो जाएगा कम – Jeera Benefits For Hair in Hindi

त्वचा को खूबसूरत बनाने के साथ साथ जीरा हमारे बालों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। बालों के लिए मार्केट में एक अलग प्रकार का काला जीरा आता है। काले जीरा का तेल सिर में लगाने से बालों का झड़ना काफी कम हो सकता है। इसके साथ ही प्रति दिन काले जीरे का सेवन करने से बाल घने , काले और मजबूत बनाने में मदद मिल सकती है। इन सब के अलावा जो व्यक्ति रूसी (dandruff) से परेशान है उसके लिए भी काला जीरा काफी फायदेमंद हो सकता है। रूसी को भगाने के लिए तेल के साथ जीरा को भी गर्म कर ले और गुनगुने तेल से सिर की मसाज करे। दिन में 2 से 3 बार ऐसा करने से सिर की रूसी को कम करने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़ें – बाल झड़ना कैसे रोकें, कारण और घरेलू उपाय)

जीरा खाने के नुकसान – Jeera Ke Nuksan in Hindi

हर चीज का फायदा तब ही होता है जब उसे संतुलित तरीके से सेवन किया जाए। ऊपर आपने जीरा के फायदे के बारे में जाना आईए अब जानते है अत्याधिक जीरा के सेवन से शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है। और जीरा खाने के नुकसान क्या है (Cumin seeds side effects in hindi )

  • गर्भवती महिलाओं को जीरे का सेवन कम करना चाहिए। जीरे का ज्यादा सेवन समय से पहले डिलिवरी या भी गर्भपात का कारण बन सकता है।
  • पीरियड के समय जीरे का कम प्रयोग करना चाहिए क्योंकि जीरा ब्लीडिंग का कारण बन सकता है।
  • किसी किसी को जीरे से एलर्जी भी हो सकता है।
  • ज्यादा मात्रा में लंबे समय तक जीरे का उपयोग किडनी व लीवर को हानि पहुंचाता है।
  • जीरे के बेतहर प्रभाव के कारण यह अत्याधिक डकार का कारण बन सकता है।
  • अधिक मात्रा में जीरा का सेवन करना जी मिलचलाना संबंधी लक्षणों को बढ़ा सकता है।
  • कुछ मामलों में जीरा का सेवन करने से उल्‍टी और मुंह में कड़वाहट आदि भी हो सकती है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration