क्या है एनीमिया? कारण, लक्षण और आहार- What is anemia? Causes, symptoms and diet in Hindi

क्या है एनीमिया? कारण, लक्षण और आहार- What is anemia? Causes, symptoms and diet in Hindi
Written by Deepak

एनीमिया या खून की कमी भारत और कई देशो में कुपोषण की गंभीर समस्या बनी हुई है बच्चो को जन्म देने बाली 51 फीसदी महिलाये एनीमिया से ग्रस्त है इसलिय सवाल यह आता है की क्या है एनीमिया रोग? शरीर में किसी भी कारण वश आयरन की कमी हो जाती है और आयरन की कमी के कारण हीमोग्लोबिन का बनना सामान्य से कम हो जाता है, जिससे शरीर में खून की कमी होना शुरू हो जाती है जो एनीमिया का कारण बनती है| एनीमिया सामान्य स्तर से नीचे के स्तर, जो रक्त में हीमोग्लोबिन के अभाव के कारण या खून में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी के कारण होता है एनीमिया कहा जाता है। और इस कमी के कारण चेहरा पीला या सफेद पड़ जाता है, शरीर बहुत कमज़ोर हो जाता है। हीमोग्लोबिन रक्त में ऑक्सीजन ले जाने में मदद करता है। यह हीमोग्लोबिन oxygen को शरीर की प्रत्येक कोशिका तक पहुचता है

एनीमिया के प्रकार – Types of Anemia

  • एनीमिया कम या दोषपूर्ण लाल रक्त कोशिका RBCs उत्पादन के कारण होता है
  •  खून की कमी
  • RBCs का अत्यधिक विनाश होना

एनीमिया रोग के कारण – Causes of Anemia Disease in Hindi

एनीमिया सबसे अधिक पोषण संबंधी समस्याओं के कारण उत्पन्न होती है। लोहे की कमी एनीमिया का आम रूप है।

प्रोटीन, विटामिन बी 6, विटामिन सी, विटामिन 12, विटामिन ई, कॉपर मिनिरल जैसे पोषक तत्वों से युक्त आहार का सेवन न करने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण एनीमिया रोग हो सकता है।

  • अत्यधिक RBCs के विनाश से भी एनीमिया हो सकता है
  • एनीमिया के कुछ रूप, जैसे कि थेलेसीमिया या सिकल सेल एनीमिया, जो कि अनुवांशिक हो सकते हैं
  • धीमी गति से होने वाली खून की हानि (उदाहरण के लिए, माहवारी में ज्यादा खून जाना या पेट के छालों द्वारा)
  • दैनिक आहार में आयरन से युक्त खाद्य पदार्थ जैसे हरे पत्तेदार सब्जियां, मांस, खजूर और चावल आदि को शामिल न करने से भी एनीमिया रोग हो सकता हैं।
  • अचानक किसी कारण से रक्तस्राव अधिक होने या मासिक धर्म और प्रसव के दौरान अत्यधिक खून की कमी हो जाए तो भी एनीमिया रोग हो सकता है।
  • सर्जरी के बाद खून की कमी होना भी एनीमिया का कारण हो सकता है

गरीब देशों के 30-70% लोगों की लोहे की कमी बाले एनीमिया से ग्रस्त है।

(और पढ़े: शुगर ,मधुमेह लक्षण, कारण, निदान और बचाव के उपाय)

एनीमिया के लक्षण  – Symptoms of anemia in Hindi

  • जब किसी व्यक्ति को
  • बहुत कमजोरी हो जाए
  • थकावट महसूस हो
  • चक्कर आना
  • लेट के उठने पर आँखों के सामने अन्धेरा छा जाए
  • सिर दर्द हो
  • हृदय की धड़कन का असामान्य होना
  •  त्वचा व नाखून का पीला पड़ना
  • आंखों का पीला हो जाना
  • कानो में तेज आबाज होना या सीटी बजना
  • सांस फूलना या सांस लेने में कठिनाई होना
  • खड़े होते समय सिर घूमना
  • आदि लक्षण महसूस हो तो उस व्यक्ति को एनीमिया रोग हो सकता है। क्योंकि ये सभी एनीमिया रोग के लक्षण है और इन लक्षणों से बचने के लिए अपने आहार में आयरन युक्त खाद्य पदार्थों को ज़रूर शामिल कर लें।
  • बच्चों में एनीमिया व्यावहारिक और बौद्धिक विकास की समस्याओं के कारण बन सकते हैं।
  • गंभीर एनीमिया कई जटिलताएं पैदा कर सकते हैं। एनीमिया प्रतिरोधक क्षमता को कमकर सकता है और एक मरीज को संक्रमण होने की संभावना बढ़ सकती हैं।
  • गंभीर मामलों palpitations और यहां तक कि दिल की विफलता का कारण भी बन सकता हैं। एसी विफलता तब होती है जब  दिल शरीर के आसपास रक्त कुशलता से पंप नहीं कर पाता है।
  • गर्भवती महिलाओं में बच्चे के जन्म के पहले और जन्म के बाद होने बाली जटिलताओं में एनीमिया एक अतिरिक्त जोखिम पैदा करता है।

एनीमिया के उपचार – Treatment of Anemia in Hindi

उपचार रक्ताल्पता के कारण पर निर्भर करता है। यदि रक्ताल्पता लोहे की कमी के कारण, तो आयरन युक्त भोजन  खाना या आयरन की गोलीयां या सीरप की खुराक दी जा सकती है।

एनीमिया दूर करने के लिए आहार – Diet to remove anemia in Hindi

एनीमिया दूर करने के लिए आहार - Diet to remove anemia in hindi

फलों का सेवन रखेगा दूर एनीमिया से  – Anemia away from fruit consumption in Hindi

एनीमिया के इलाज के दौरान फल जैसे कि आयरन युक्त सेब और टमाटर का सेवन करना अत्यंत उपयोगी होता है। एनीमिया के इलाज हेतु आप या तो सेब और टमाटर खा सकते हैं अथवा उनके 100% शुद्ध रस का सेवन भी कर सकते हैं। अन्य फल जो एनीमिया के इलाज में असरकारी हैं, आलूबुखारा, केले, नीबू, अंगूर, किशमिश, संतरे, अंजीर, गाजर, और किशमिश अधिक मात्रा में खाए जाने पर

शहद एनीमिया दूर के लिये Honey for anemia in Hindi  शहद आयरन, कॉपर और मेंगनीज़ का शक्तिशाली स्रोत है। जब इन तत्वों को मिलाया जाता है, ये हीमोग्लोबिन के संश्लेषण में सहायक होते हैं। इसलिए शहद एनीमिया के लिये शक्तिशाली अस्त्र है। एनीमिया की चिकित्सा के दौरान आप शहद को सेब के टुकड़ों के साथ अथवा केले के साथ ले सकते हैं।

एनीमिया दूर करने के लिए मीट – Red meat in Hindi

लाल गोश्त जैसे कि किडनी, दिल और जिगर एनीमिया के इलाज में असरकारक हैं। लाल गोश्त, जैसे कि नाम बताता है, आयरन से भरपूर होता है और एनीमिया के रोगियों के लिए डॉक्टर्स इसे सुझाते हैं। इनके साथ ही मुर्गियाँ, मछली, और घोंघे भी एनीमिया के लिए असरदार हैं.

चुकंदर खाने से शरीर में नहीं होगी खून की कमी eating Beetroot for anemia in Hindi

अगर किसी को एनीमिया रोग हो जाए तो वह चुकन्दर ज़रूर खाए। क्योंकि आयरन युक्त चुकंदर को खाने से शरीर में खून की कमी नहीं होती। इसीलिए चुकन्दर को सलाद में डालकर खाए या चुकन्दर का रस पिए। इससे शरीर में तेजी से खून बनता है। 

(और पढ़े: डेंगू और प्लेटलेट्स के बीच संबंध और बचाव के उपाय)

पालक बचाएगा एनीमिया से – Spinach will save from anemia in Hindi

एनीमिया से बचने के लिए पालक का ख़ूब सेवन करें। क्योंकि पालक में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन ई, विटामिन सी, आयरन, फाइबर और बीटा कैरोटीन मौजूद होते है जो शरीर में खून की कमी को दूर कर एनीमिया से बचाते हैं।

अनार का सेवन एनीमिया दूर करने के लिए – Pomegranate intake to remove anemia in Hindi

अनार में विटामिन सी और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जिससे शरीर में रक्‍त का संचार तेजी से होने लगता है और आप एनीमिया के शिकार होने से बच जाते हैं।

मछली का सेवन बढ़ाये आयरन की मात्रा increase Iron intake of fish in Hindi

समुद्री मछली जैसे टूना और सालमन मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिससे इनका सेवन करने वाले एनीमिया से बचे रहते हैं।

सब्जियो का सेवन – Consumption of vegetables in Hindi

सब्जियाँ जैसे कि पालक, लेट्यूस, चुकंदर, ब्रोकोली, मेथी, अजमोदा और केल आदि, आयरन में समृद्ध ऊर्जा से भरपूर सब्जियाँ हैं जो एनीमिया के इलाज में अत्यंत असरदार हैं। ये सब्जियाँ ना केवल आयरन बल्कि विटामिन B-12 और फोलिक एसिड जैसे ऊर्जादायी पोषक तत्वों से भी भरी होती हैं, जिनकी शरीर को एनीमिया को ठीक करने के लिए आवश्यकता होती है। चुकंदर का रस आयरन से भरपूर वनस्पति रस है जिसे एनीमिया ग्रस्त रोगी थकान और आलस के विरुद्ध टॉनिक की तरह ले सकते हैं।

फलियाँ और सूखे मेवे – Beans and dried fruits in Hindi

फलियाँ और मेवे जैसे कि दालें, बादाम, साबुत अनाज, सूखे खजूर, मूंगफली और अखरोट आदि एनीमिया के कारणों और लक्षणों के विरुद्ध लाभकारी हैं।

एनीमिया रोग से बचने के लये इनसे परहेज करें Avoid these in Hindi

पाश्चुरीकृत दूध, कड़क कॉफ़ी व चाय, रिफाइंड स्टार्च, खासकर मैदा, कैन में रखे, परिरक्षित, और अन्य तरह के प्रोसेस्ड आहार।

चाय, कॉफ़ी, कोल ड्रिंक व कैल्शियम से युक्त खाद्य पदार्थ आयरन के अवशोषण में बाधा पहुंचा सकते हैं। इसलिए इनके अत्यधिक सेवन करने से बचें।

एनीमिया रोग में योग और व्यायाम Yoga and Exercise in Hindi

कम जोर डालने वाले व्यायाम जैसे कि साइकिल चलाना, तैरना, स्केटिंग, पैदल चलना किये जा सकते हैं। कूदने वाले व्यायाम कम करने चाहिए।

एनीमिया सीधे तौर पर जीवन को खतरा नहीं है जब तक कि गंभीर रक्तस्राव ना हो रहा हो।

आयरन और B-काम्प्लेक्स युक्त वस्तुओं वाले पोषक आहार का सेवन रक्त की पर्याप्त मात्रा को बढ़ाने और बनाये रखने के लिए आवश्यक है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration