जानिये विटामिन ई के स्रोत और स्वास्थ्य लाभ – Vitamin E Rich Foods and Benefits in Hindi

जानिये विटामिन ई के स्रोत और स्वास्थ्य लाभ - Vitamin E Rich Foods and Benefits in Hindi
Written by Jaideep

vitamin e ke srot hindi me विटामिन हमारे शरीर और स्किन के लिए बहुत ही आवश्‍यक होते हैं। आप इन विटामिनों को प्राप्त करने के लिए बहुत से खाद्य पदार्थों का उपभोग करते हैं। लेकिन क्‍या आपको विटामिन ई के स्रोत और इसके फायदे पता है। अक्‍सर हम इन पोषक तत्‍वों को प्राप्‍त करना चाहते हैं लेकिन हमें यह पता नहीं होता है कि यह में किस खाद्य पदार्थ से प्राप्‍त हो सकता है। आपकी इस समस्‍या का समाधान इस लेख में हैं। यहां आप जानेंगे विटामिन ई के फायदे और स्रोत के बारे में। विटामिन ई के फायदे मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने, हृदय रोग को दूर करने, प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाने, आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य रखने, अल्‍जाइमर का इलाज करने और त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य बनाने के लिए जाने जाते हैं। आइए जाने विटामिन ई के बारे में अन्‍य जानकारीयां।

1. विटामिन ई क्या है – What Is Vitamin E in Hindi
2. विटामिन ई के स्रोत – Source Of Vitamin E in Hindi

3. विटामिन ई के फायदे – Benefits Of Vitamin E in Hindi

4. विटामिन ई की दैनिक खुराक – Daily Dose of Vitamin E in Hindi

विटामिन ई क्या है – What Is Vitamin E in Hindi

विटामिन ई क्या है - What Is Vitamin E in Hindi

यह विटामिन यौगिकों का एक समूह है जिसमें टोकोफेरोल और टोकोट्रियनोल्‍स शामिल होते हैं। ये दोनों विटामिन ई के कई अलग-अलग रूपों का गठन करते हैं। एक घुलनशील वसा एंटीऑक्‍सीडेंट होने के नाते यह फ्री रेडिकल्‍स से लड़ता है और समग्र स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देता है। यह हमारे शरीर में कई प्रकार से कार्य करता है जैसे एंटीऑक्‍सीडेंट के रूप में, एंजाइम गतिविधि को नियंत्रित करने और मांसपेशियों का उचित विकास। यह जीन अभिव्‍यक्ति को भी प्रभावित करता है और आंखों तंत्रिका कार्यों के लिए भी फायदेमंद होता है। यह हमें कई खाद्य पदार्थों से प्राप्‍त हो सकता है। आइये जाने विटामिन ई के स्रोत और फायदे क्‍या हैं।

(और पढ़े – एंटीऑक्सीडेंट युक्त खाद्य पदार्थ, फायदे और नुकसान…)

विटामिन ई के स्रोत – Source Of Vitamin E in Hindi

  1. विटामिन ई के लिए बादाम – Vitamin E Ke Liye Badam in Hindi
  2. जैतून में है विटामिन ई की सही मात्रा – Olive Oil For Vitamin E in Hindi
  3. विटामिन ई के लिए मूंगफली – Peanut For Vitamin E in Hindi
  4. विटामिन ई का स्रोत अजमोद – Parsley For Vitamin E in Hindi
  5. सूरजमुखी है विटामिन ई से भरपूर – Sunflower oil for Vitamin E in Hindi
  6. विटामिन ई के लिए खाएं टमाटर – Vitamin E Ke Liye Tamatar Khaye in Hindi
  7. पाइन नट्स से मिलता है विटामिन ई – Vitamin E Ke Liye Pine Nuts in Hindi
  8. विटामिन ई के लिए फायदेमंद ब्रोकोली – Vitamin E Ke Liye Broccoli in Hindi
  9. विटामिन ई के लिए पपीता – Vitamin E Ke Liye Papita in Hindi
  10. विटामिन ई के लिए सरसों का साग – Vitamin E Ke Liye Mustard Greens in Hindi
  11. शतावरी विटामिन ई के लिए – Asparagus For Vitamin E in Hindi
  12. विटामिन ई के लिए लाल शिमला मिर्च – Vitamin E Rich Foods For Paprika in Hindi
  13. विटामिन ई के लिए उपयोग करें कीवी – Vitamin E Rich Foods For Kiwi in Hindi

विटामिन ई प्राप्‍त करना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है। आपके लिए अच्‍छी बात यह है कि ऐसे बहुत से खाद्य पदार्थ हैं जो पर्याप्‍त मात्रा में विटामिन ई उपलब्‍ध करा सकते हैं। विटामिन ई विशेष रूप से कई प्रकार के तेल, सूखे फल और बीजों से प्राप्‍त होता है। हम आपके लिए ऐसे खाद्य पदार्थों की सूची लाये हैं जो विटामिन ई से भरपूर होते हैं। इनका उचित मात्रा में सेवन कर आप विटामिन ई की कमी को पूरा कर सकते हैं। आइये इन्‍हें जाने।

  • सूरजमुखी के बीज – इसके ¼ कप में 11.6 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • बादाम – 1 औंस (लगभग 28 ग्राम) में 7.3 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • हेज़लनट्स – 1 औंस में लगभग 4.2 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • पालक – 1 कप पकी हुई पालक में 3.7 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • एवोकैडो – 1 कप एवोकैडो में 3.1 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • टर्पिन ग्रीन्‍स – 1 कप पके हुए टर्पिन ग्रीन्स में 2.7 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • पाइन नट्स – 1 औंस में 2.6 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • पाम ऑयल – 1 बड़े चम्‍मच मे 2.2 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • मूंगफली – 1 औंस में 1.9 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • जैतून का तेल – 1 बड़ा चम्‍मच में 1.9 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • शकरकंद – पके हुए 1 कप शकरकंद में 1.4 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।
  • टमाटर – पके हुए 1 कप टमाटर में 1.3 मिली ग्राम विटामिन ई होता है।

इन खाद्य पदार्थों का सेवन कर आप शरीर में विटामिन ई की कमी को दूर कर सकते हैं। हालांकि इन खाद्यों के अलावा भी अन्‍य पदार्थों में विटामिन ई की मात्रा मौजूद होती है। लेकिन उपर बताए गए पदार्थों में विटामिन ई की उच्‍च मात्रा होती है। आइये जाने विटामिन ई युक्त भोजन और उनसे होने वाले फायदे क्‍या हैं।

(और पढ़े – ड्राई फ्रूट्स के फायदे और नुकसान…)

विटामिन ई के लिए बादाम – Vitamin E Ke Liye Badam in Hindi

विटामिन ई के लिए बादाम - Vitamin E Ke Liye Badam in Hindi

जब भी हम विटामिन ई के बारे में किसी से सलाह लेते हैं तो वे बादाम खाने की सलाह देते हैं। क्‍योंकि बादाम ऐसा फल है जो विटामिन ई का सबसे अच्‍छा स्रोत माना जाता है। इसके अलावा बादाम में फाइबर की अच्‍छी मात्रा होती है। इस कारण यह पाचन में भी सहायता करते हैं। अक्‍सर बादाम को कच्‍चे खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन आप बादाम के तेल का भी उपयोग कर सकते हैं या फिर इसके दूध का भी उपभोग कर सकते हैं। अध्‍ययनों से पता चलता है कि लगभग 95 ग्राम बादाम का सेवन करने पर 24.9 मिली ग्राम विटामिन प्राप्‍त किया जा सकता है। यह हमारी दैनिक आवश्‍यकता का 125 प्रतिशत होता है। इसलिए यदि आप विटामिन ई पूर को ढूंढ़ रहे हैं तो बादाम आपकी मदद कर सकता है।

(और पढ़े – बादाम को भिगोकर खाने के फायदे और नुकसान…)

जैतून में है विटामिन ई की सही मात्रा – Olive Oil For Vitamin E in Hindi

जैतून में है विटामिन ई की सही मात्रा - Olive Oil For Vitamin E in Hindi

आप जानते हैं कि जैतून का तेल हमारे‍ लिए कितना फायदेमंद होता है। लेकिन इस तेल के लाभों में विटामिन ई का भी विशेष योगदान होता है। जैतून को फल या तेल के रूप में प्रयोग कर विटामिन ई की दैनिक आवश्‍यकता को पूरा किया जा सकता है। जानकार बताते हैं कि यदि लगभग 8 ग्राम जैतून का सेवन किया जाता है तो इससे 0.1 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्‍त किया जा सकता है। जैतून में ओलेइक एसिड की भी अच्‍छी मात्रा होती है जो कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को नियंत्रित कर दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में सहायक होता है। आप भी जैतून के लाभ विटामिन ई की कमी को दूर करने और दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – जैतून के तेल के फायदे और उपयोग…)

विटामिन ई के लिए मूंगफली – Peanut For Vitamin E in Hindi

विटामिन ई के लिए मूंगफली - Peanut For Vitamin E in Hindi

स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी विभिन्‍न समस्‍याओं के लिए मूंगफली का उपयोग किया जाता है। हालांकि इसमें कैलोरी की मात्रा थोड़ी अधिक होती है लेकिन यह वजन को भी कम कर सकता है। क्‍योंकि इसमें फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है। यह विटामिन ई का अच्‍छा स्रोत होने के साथ ही मैग्‍नीशियम में भी समृद्ध है। इस कारण से यह हड्डियों का निर्माण करने में मदद करता है। मूंगफली पर किये गए अध्‍ययन से पता चलता है कि यदि इसकी 258 ग्राम मात्रा का सेवन किया जाए तो यह हमें 23.2 मिली ग्राम विटामिन ई उपलब्‍ध कराता है जो दैनिक आवश्‍यकता का 116 प्रतिशत है।

आप मूंगफली को अन्‍य व्‍यंजनों में उपयोग करने के साथ ही इसके मक्‍खन का भी उपभोग कर सकते हैं। यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद हो सकता है।

(और पढ़े – मूंगफली के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

विटामिन ई का स्रोत अजमोद – Parsley For Vitamin E in Hindi

विटामिन ई का स्रोत अजमोद - Parsley For Vitamin E in Hindi

कैंसर और मधुमेह जैसी अन्‍य जानलेवा बीमारियों से लड़ने में अजमोद मदद करता है। विटामिन ई की उपस्थिति के साथ ही इसमें विटामिन के, भी होता है जो हड्डियों को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में मदद करता है। लगभग 60 ग्राम अजमोद खाने से दैनिक आवश्‍यकता का लगभग 2 प्रतिशत विटामिन ई प्राप्त किया जा सकता है। वैसे तो ताजा अजमोद का सेवन ज्‍यादा फायदेमंद होता है। लेकिन आप बाजार में उपलब्‍ध सूखे अजमोद का भी उपयोग कर सकते हैं। आप इसे सलाद के साथ मिलाकर अपने भोजन का स्‍वाद बढ़ा सकते हैं।

(और पढ़े – अजमोद खाने के फायदे और नुकसान…)

सूरजमुखी है विटामिन ई से भरपूर – Sunflower oil for Vitamin E in Hindi

सूरजमुखी है विटामिन ई से भरपूर - Sunflower oil for Vitamin E in Hindi

विटामिन ई के उत्‍कृष्‍ट स्रोत में सूरजमुखी का भी प्रमुख स्‍थान है। यह हृदय रोग और कैंसर को रोकने में मदद करते हैं। सूरजमुखी में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट सामग्री हमारे शरीर कई प्रकार के जीवाणुओं के प्रभाव से बचाते हैं। आप सूरजमुखी बीजों को भोजन के दौरान सलाद में मिलाकर सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा आप सूरजमुखी के तेल का भी उपभोग कर सकते हैं। सूरजमुखी बीजों की 46 ग्राम मात्रा का सेवन करने पर 15.3 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्‍त होता है जो दैनिक आवश्‍यकता का 76 प्रतिशत है।

(और पढ़े – सूरजमुखी के फायदे और नुकसान…)

विटामिन ई के लिए खाएं टमाटर – Vitamin E Ke Liye Tamatar Khaye in Hindi

विटामिन ई के लिए खाएं टमाटर - Vitamin E Ke Liye Tamatar Khaye in Hindi

आप इसे फल या सब्‍जी कुछ भी कह सकते हैं। यह आपके व्‍यंजनों में विशेष रूप से उपयोग किया जाने वाला उत्पाद है। विटामिन ई की बात की जाए तो इसकी 149 ग्राम मात्रा का सेवन करने पर 0.8 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्‍त होता है। लेकिन टमाटर में अन्‍य पोषक तत्‍व जैसे लाइकोपीन की अच्‍छी मात्रा होती है। यह एक प्रकार का एंटीऑक्‍सीडेंट है जो कैंसर के प्रभाव को कम करने में मदद करता है। आप भी नियमित रूप से टमाटर का उपभोग कर इन लाभों को प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – टमाटर का सूप पीने के स्वास्थ्यवर्धक लाभ…)

पाइन नट्स से मिलता है विटामिन ई – Vitamin E Ke Liye Pine Nuts in Hindi

पाइन नट्स से मिलता है विटामिन ई - Vitamin E Ke Liye Pine Nuts in Hindi

मैग्नीशियम की अच्‍छी मात्रा पाइन नट्स में होती है। इसके अलावा इसे विटामिन ई के लिए भी उपयोग किया जाता है। पाइन नट्स में मौजूद पोषक तत्‍व थकान को दूर करने में मदद करते हैं। आप इसे अपने आहार में शामिल करने के लिए पास्‍ता या सैंडविच के साथ उपयोग कर सकते हैं। इसके साथ ही आप इन्‍हें अपनी सलाद में भी उपयोग कर सकते हैं। पाइन नट्स की 135 ग्राम मात्रा का सेवन करने पर यह 12.6 मिलीग्राम विटामिन ई दिला सकता है।

(और पढ़े – चिलगोजा खाने के फायदे और नुकसान…)

विटामिन ई के लिए फायदेमंद ब्रोकोली – Vitamin E Ke Liye Broccoli in Hindi

विटामिन ई के लिए फायदेमंद ब्रोकोली - Vitamin E Ke Liye Broccoli in Hindi

आप विटामिन ई की कमी को दूर करने के लिए ब्रोकोली का उपयोग कर सकते हैं। यह विटामिन ई के सबसे समृद्ध स्रोतों में से एक है। इसके अलावा इसमें विटामिन K भी अच्‍छी मात्रा में होता है। इस कारण यह हड्डियों और त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में मदद करता है। आप सुबह के नाश्‍ते के लिए उबले हुए ब्रोकोली का उपयोग कर सकते हैं या फिर इसे भोजन के रूप में भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 91 ग्राम ब्रोकोली का सेवन कर दैनिक आवश्‍यकता का 4 प्रतिशत विटामिन ई प्राप्‍त किया जा सकता है।

(और पढ़े – ब्रोकली के फायदे और नुकसान…)

विटामिन ई के लिए पपीता – Vitamin E Ke Liye Papita in Hindi

विटामिन ई के लिए पपीता - Vitamin E Ke Liye Papita in Hindi

140 ग्राम पके हुए पपीता का सेवन करने पर 1 मिलीग्राम और दैनिक आवश्‍यकता का 5 प्रतिशत विटामिन ई प्राप्‍त होता है। पपीता में शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट गुण भी होते हैं जो कई बीमारियों से शरीर की रक्षा करते हैं। इसके अलावा पपीता अपचन और सूजन के विरूध भी हमारी सहायता करता है। विटामिन ई की प्राप्‍ती और अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के लिए आप पपीता को आहार में शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़े – पपीते के बीज के फायदे गुण लाभ…)

विटामिन ई के लिए सरसों का साग – Vitamin E Ke Liye Mustard Greens in Hindi

विटामिन ई के लिए सरसों का साग - Vitamin E Ke Liye Mustard Greens in Hindi

आप सरसों के साग का स्‍वाद का आनंद तो उठाते हैं, लेकिन क्‍या इसके फायदे जानते हैं। यह हमें कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्रदान करते हैं। इनमें विटामिन ई, फोलेट और विटामिन ए, विटामिन सी और के, आदि अच्‍छी मात्रा में होते हैं। आप सरसों के पत्‍तों को पकार खा सकते हैं जो कि बहुत ही स्‍वादिष्‍ट होते हैं। इसके अलावा आप इन्‍हें सलाद के रूप में उपभोग कर सकते हैं। यह आपको बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में मदद करता है।

(और पढ़े – सरसों के तेल के फायदे स्वास्थ्यवर्धक लाभ और नुकसान…)

शतावरी विटामिन ई के लिए – Asparagus For Vitamin E in Hindi

शतावरी विटामिन ई के लिए - Asparagus For Vitamin E in Hindi

एंटी-इंफ्लामेटरी गुणों के साथ ही शतावरी में विटामिन सी, बीटा कैरोटीन, जिंक, मैंगनीज और सेलेनियम की समृद्ध मात्रा होती है। वास्‍तव में 1 कप शतावरी में दैनिक आवश्‍यकता का 18 प्रतिशत विटामिन ई होता है। यह कैंसर को रोकने में भी सहायक होता है। इसके अलावा शतावरी के फायदे मधुमेह और पाचन में भी होते हैं। आप नियमित रूप से शतावरी को नाश्‍ते या अन्‍य व्‍यंजनों के साथ उपयोग लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – शतावरी के चमत्कारी फायदे जो है अमृत समान…)

विटामिन ई के लिए लाल शिमला मिर्च – Vitamin E Rich Foods For Paprika in Hindi

विटामिन ई के लिए लाल शिमला मिर्च - Vitamin E Rich Foods For Paprika in Hindi

पापिका (लाल शि‍मला मिर्च) में आयरन की अच्‍छी मात्रा होती है जो ऊर्जा उत्‍पादन में विशेष योगदान देता है। लाल शिमला मिर्च में कैप्‍सैकिन होता है जो रक्‍त वाहिकाओं को स्‍वस्‍थ्‍य रखने और रक्‍तचाप को नियंत्रित रखने में मदद करता है। आप शिमला मिर्च का उपयोग अपने व्‍यंजनों के साथ कर सकते हैं या फिर आप घर पर ही इसका सूप तैयार कर लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं। यह विटामिन ई का अच्‍छा स्रोत माना जाता है। अध्‍ययन बताते हैं कि लगभग 7 ग्राम शिमला मिर्च में 2 मिलीग्राम विटामिन ई होता है जो दैनिक आवश्‍यकता का 10 प्रतिशत है।

(और पढ़े – लाल मिर्च के फायदे और नुकसान…)

विटामिन ई के लिए उपयोग करें कीवी – Vitamin E Rich Foods For Kiwi in Hindi

विटामिन ई के लिए उपयोग करें कीवी - Vitamin E Rich Foods For Kiwi in Hindi

पोषक तत्‍वों से भरपूर कीवी के फायदे विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए होते हैं। यह विटामिन ई समृद्ध है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद करता है। कीवी फल में सेरोटोनिन भी होता है, यह नींद को प्रेरित कर अनिद्रा का इलाज करने में मदद करता है। आप इसे दही के साथ मिलाकर खा सकते हैं या इसे सलाद में शामिल कर सकते हैं। इसकी 177 ग्राम मात्रा दैनिक आवशकता का 13 प्रतिशत विटामिन ई दिला सकती है।

(और पढ़े – किवी के फायदे और नुकसान…)

विटामिन ई के फायदे – Benefits Of Vitamin E in Hindi

  1. विटामिन ई के फायदे हृदय रोग के लिए – Vitamin E Benefits For Heart Disease in Hindi
  2. विटामिन ई डिमेंशिया का उपचार करे – Vitamin E Benefits For Dementia in Hindi
  3. आंखों के लिए फायदेमंद विटामिन ई – Vitamin E Benefits For Eye Health in Hindi
  4. विटामिन इ बेनिफिट्स फोर स्किन – Vitamin E Benefits For Skin in Hindi
  5. विटामिन ई से करें घावों का उपचार – Vitamin E Benefits For Wound Healing in Hindi

विभिन्‍न प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने की क्षमता विटामिन ई में होती हैं। यह हमारे शरीर में आवश्‍यक पोषक तत्‍वों में प्रमुख है। विटामिन ई हमारे शरीर के लिए अन्‍य लाभ दिलाने के साथ ही एंटीऑक्‍सीडेंट का काम भी करता है। साथ ही यह त्‍वचा विकारों को दूर करने का सबसे अच्‍छा विकल्‍प होता है। विटामिन ई महिलाओं में मासिक धर्म से जुड़ी कई समस्‍याओं का समाधान करने में मदद कर सकता है। आइये विस्‍तार से जाने विटामिन ई के फायदे जो हमारे स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़े हुए हैं।

विटामिन ई के फायदे हृदय रोग के लिए – Vitamin E Benefits For Heart Disease in Hindi

विटामिन ई के फायदे हृदय रोग के लिए - Vitamin E Benefits For Heart Disease in Hindi

आप अपने दिल को स्‍वस्‍थ्‍य और मबजूत बनाने के लिए विटामिन ई का उपयोग कर सकते हैं। विटामिन ई को कम धनत्‍व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्‍ट्रॉल के ऑक्‍सीकरण को रोकने के लिए जाना जाता है। जिससे यह हृदय रोग की संभावनाओं को कम कर सकता है। इसके अलावा यह रक्‍त के थक्‍के जमने से भी रोकता है जो विशेष रूप से हार्ट अटैक का कारण होता है। अध्‍ययन बताते हैं कि इन सभी समस्‍याओं से बचने के लिए विटामिन ई आधारित खाद्य पदार्थों का सेवन फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – दिल मजबूत करने के उपाय…)

विटामिन ई डिमेंशिया का उपचार करे – Vitamin E Benefits For Dementia in Hindi

विटामिन ई डिमेंशिया का उपचार करे - Vitamin E Benefits For Dementia in Hindi

संज्ञानात्‍मक गिरावट या डिमेंशिया के प्रभाव को कम करने में विटामिन ई फायदेमंद होता है। विटामिन ई की कमी से मानसिक कार्य में बाधा आ सकती है। इसलिए विटामिन ई आधारित खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना चाहिए। यह लोगों की आयु के रूप में मानसिक कार्य पर सुरक्षात्‍मक प्रभाव डालता है।

(और पढ़े – मानसिक रोग के लक्षण, कारण, उपचार, इलाज, और बचाव…)

आंखों के लिए फायदेमंद विटामिन ई – Vitamin E Benefits For Eye Health in Hindi

आंखों के लिए फायदेमंद विटामिन ई - Vitamin E Benefits For Eye Health in Hindi

ऐसे बहुत से अध्‍ययन हैं जो बताते हैं कि दैनिक आधार पर विटामिन ई का सही मात्रा में सेवन आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य रख सकता है। विटामिन ई आंखों के लिए एक महत्‍वपूर्ण घटक है। यह उम्र से संबंधित क्षति के खतरे को 20 प्रतिशत तक कम कर सकता है।

(और पढ़े – आँखों को स्वस्थ रखने के लिए 10 सबसे अच्छे खाद्य पदार्थ…)

विटामिन इ बेनिफिट्स फोर स्किन – Vitamin E Benefits For Skin in Hindi

विटामिन इ बेनिफिट्स फोर स्किन - Vitamin E Benefits For Skin in Hindi

एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होने के कारण यह फ्री रेडिकल्‍स से हमारे शरीर की रक्षा करता है। परिणाम स्‍वरूप यह त्‍वचा की सूजन को कम करता है। इसके अलावा यह त्‍वचा के संक्रमण को फैलने से रोकता है और त्‍वचा कैंसर की संभावना को भी कम करता है। इस तरह से आप अपनी त्‍वचा को स्वस्‍थ्‍य रखने के लिए विटामिन ई के लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – विटामिन ई कैप्सूल के फायदे चेहरे बाल और स्किन को गोरा बनाने के लिए…)

विटामिन ई से करें घावों का उपचार – Vitamin E Benefits For Wound Healing in Hindi

विटामिन ई से करें घावों का उपचार - Vitamin E Benefits For Wound Healing in Hindi

आप शरीर के घावों और चोटों को दूर करने के लिए विटामिन ई तेल का उपयोग फायदेमंद होता है। विटामिन ई घाव, खुजली, एक्जिमा, जलन और अन्‍य त्‍वचा रोग का इलाज करने में सहायक होता है। यह कोशिकाओं की सेल्‍फ लाईफ को भी बढ़ाता है। इसका उपयोग करने पर यह त्‍वचा को प्राकृतिक नमी प्रदान कर शुष्‍क त्‍वचा का भी उपचार करता है।

(और पढ़े – एक्जिमा क्या है, कारण, लक्षण, बचाव और घरेलू उपचार…)

विटामिन ई की दैनिक खुराक – Daily Dose of Vitamin E in Hindi

अधिकांश वयस्‍कों के लिए आमतौर पर कम से कम 15 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त करने की सलाह दी जाती है। हालांकि स्‍तनापन कराने वाली महिलाओं के लिए यह मात्रा 19 मिलीग्राम हो सकती है।

बच्‍चों के लिए विटामिन ई की आवश्‍यकता उम्र के आधार पर व्‍यापक रूप से भिन्न हो सकती है। हालांकि उम्र बढ़ने के साथ ही विटामिन की मात्रा में वृद्धि हो सकती है। बच्‍चों की उम्र के अनुसार विटामिन ई की सेवन मात्रा इस प्रकार है-

  • 0-6 माह की उम्र में – दैनिक 4 मिलीग्राम
  • 7-12 माह की उम्र में – 5 मिलीग्राम दैनिक खपत
  • 1-3 साल की उम्र में – प्रतिदिन 6 मिलीग्राम
  • 4-8 वर्ष की उम्र में – 7 मिलीग्राम प्रतिदिन
  • 9-13 वर्ष की आयु में – 11 मिलीग्राम दैनिक
  • 14 और इससे अधिक उम्र में – 15 मिलीग्राम अधिकतम

(और पढ़े – ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बढ़ाने के लिए क्या खाएं…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration