विटामिन बी1 के फायदे, स्रोत और नुकसान – Vitamin b1 benefits, Sources and side effect in Hindi

विटामिन बी1 के फायदे, स्रोत और नुकसान - Vitamin B1 ke fayde, srot aur nuksan in Hindi
Written by Sourabh

Vitamin B1 In Hindi विटामिन मानव शरीर के लिए बेहद आवश्यक होते हैं, जिसमें से विटामिन बी1 (थायमिन) मस्तिष्क और तंत्रिका कार्यों को नियंत्रित करने के लिए महत्वपूर्ण है। मनुष्यों को विटामिन बी1 की निरंतर आपूर्ति की आवश्यकता होती है, क्योंकि यह शरीर में स्टोर नहीं होता है। अतः इसे दैनिक आहार के माध्यम से प्राप्त किया जाना चाहिए। विटामिन बी1 (थायमिन) की कमी और अधिकता दोनों ही स्थितियां अनेक बीमारियों का कारण बन सकती हैं, अतः विटामिन बी1 या थायमिन सप्लीमेंट की आवश्यक मात्रा को प्राप्त करने के लिए डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

आज का यह लेख विटामिन बी 1 के बारे में ही है इस लेख में आप विटामिन बी 1 क्या है, थायमिन के स्त्रोत, कार्य, विटामिन बी 1 के लाभ, हानि और विटामिन बी 1 कमी के लक्षण और होने वाले रोगों के बारे में जानेगें।

1. विटामिन बी 1 से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य – Important fact of Vitamin B1 in Hindi
2. विटामिन बी1 क्या है – What is vitamin b1 in hindi
3. विटामिन बी1 के स्रोत और खाद्य पदार्थ – Vitamin b1 foods and Sources in hindi
4. विटामिन बी1 की अनुशंसित मात्रा – Vitamin b1 recommended dosage in hindi
5. विटामिन बी1 के कार्य – Vitamin b1 function in Hindi
6. विटामिन बी 1 के लाभ – Vitamin b1 benefits in Hindi
7. विटामिन बी1 का दवा के रूप में उपयोग – Vitamin b1 uses in medicine in Hindi
8. विटामिन बी1 की कमी – Vitamin b1 deficiency in Hindi
9. विटामिन बी1 की कमी के लक्षण – Vitamin b1 deficiency symptoms in Hindi
10. विटामिन बी की कमी से होने वाले रोग – Vitamin b1 deficiency disease in Hindi
11. विटामिन बी1 साइड इफेक्ट – Vitamin b1 (thiamine) side effects in Hindi

विटामिन बी 1 से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य – Important fact of Vitamin B1 in Hindi

विटामिन बी 1 से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य - Important fact of Vitamin B1 in Hindi

  • विटामिन बी1 पानी में घुलनशील विटामिन है।
  • पनीर, चिकन और सेब में विटामिन बी1 नहीं होता है।
  • विटामिन बी1 की कमी से होने वाले रोग बेरीबेरी (beriberi) और वेर्निक कोर्साकोफ सिंड्रोम (Wernicke-Korsakoff syndrome) हैं।
  • जो लोग कोमा में होते हैं, उन्हें थायमिन इंजेक्शन दिया जाता है।
  • विटामिन बी1 या थायमिन को “एंटी-स्ट्रेस” विटामिन (anti-stress Vitamin) कहा जाता है।
  • जहां थायमिन इंजेक्शन दिया जाता है, वहा गांठ का निर्माण होता है।

(और पढ़े – विटामिन और उनकी कमी से होने वाले रोग…)

विटामिन बी1 क्या है – What is vitamin b1 in hindi

विटामिन बी1 क्या है – What is vitamin b1 in hindi

क्या आप जानते है कि, विटामिन बी1 को थायमिन के नाम से भी जाना जाता है। विटामिन बी1 खमीर, अनाज, सेम, नट्स और मांस सहित कई खाद्य पदार्थों में प्राकृतिक रूप में पाया जाता है। थायमिन को कभी-कभी “एंटी-स्ट्रेस” (anti-stress) विटामिन भी कहा जाता है।

विटामिन बी1 एक पानी में घुलनशील विटामिन है। यह विटामिन पानी में घुलनशील होने के कारण रक्तप्रवाह के माध्यम शरीर के विभिन्न हिस्सों तक पहुँचता है, तथा शरीर द्वारा उपयोग नहीं किए जाने पर, इसे मूत्र के माध्यम से बाहर कर दिया जाता है।

थायमिन, शरीर में कार्बोहाइड्रेट को ऊर्जा के रूप में बदलने और ग्लूकोज चयापचय के लिए आवश्यक है, तथा तंत्रिका, मांसपेशियों और हृदय संबंधी कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

थायमिन का उपयोग, विटामिन बी1 की कमी का उपचार करने या अनेक रोगों की रोकथाम में किया जाता है। इसके अतिरिक्त थायमिन इंजेक्शन का उपयोग, विटामिन बी1 की लंबे समय तक कमी के कारण उत्पन्न होने वाले बेरीबेरी (beriberi) रोग की स्थिति का इलाज करने के लिए भी किया जाता है।

खाद्य पदार्थों को गर्म करने, पकाने और पानी में उबालने से उनमें उपस्थित थायमिन (विटामिन बी1) नष्ट हो जाता है। क्योंकि विटामिन बी1 पानी में घुलनशील है, इसलिए यह खाना पकाते समय पानी में घुल जाता है।

(और पढ़े – विटामिन बी कॉम्प्लेक्स के फायदे, स्रोत और नुकसान…)

विटामिन बी1 के स्रोत और खाद्य पदार्थ – Vitamin b1 foods and Sources in hindi

विटामिन बी1 के स्रोत और खाद्य पदार्थ - Vitamin b1 foods and Sources in hindi

विटामिन बी1 के उच्च खाद्य स्त्रोतों में निम्न को शामिल किया जा सकता है, जैसे:

जिन फल और सब्जियों में विटामिन बी1 अच्छी मात्रा में उपस्थित होता है, उनमें शामिल हैं:

(और पढ़े – विटामिन बी 12 की कमी को पूरा करने के लिये खाएं ये खाद्य पदार्थ…)

विटामिन बी1 की अनुशंसित मात्रा – Vitamin b1 recommended dosage in hindi

मनुष्यों को विटामिन बी1 की निरंतर आपूर्ति की आवश्यकता होती है, क्योंकि शरीर में विटामिन बी1 का संचय नहीं होता है। अतः प्रतिदिन इसकी एक निश्चित मात्रा को दैनिक आहार के माध्यम से प्राप्त किया जाना आवश्यक होता है।

थियामिन की कमी को रोकने में मदद करने के लिए अनुशंसित दैनिक सेवन (recommended daily intake (RDI) पुरुषों के लिए 1.2 mg और महिलाओं के लिए 1.1 mg है। इसके अतिरिक्त किसी भी उम्र की गर्भवती या स्तनपान करने वाली महिलाओं को हर दिन 1.4 मिलीग्राम थायमिन के सेवन की सिफारिश की जाती है।

  • फोर्टीफाइड ब्रेकफास्ट की 100 ग्राम सर्विंग थायमिन का 5 मिलीग्राम प्रदान करती है, जो दैनिक अनुशंसित (daily recommended) मात्रा का 100 प्रतिशत से अधिक है।
  • गेहूं की एक रोटी के में 1 मिलीग्राम या दैनिक आवश्यकता का 7 प्रतिशत थायमिन पाया जाता है।
  • पनीर, चिकन और सेब में विटामिन बी1 नहीं होता है।

(और पढ़े – संतुलित आहार के लिए जरूरी तत्व , जिसे अपनाकर आप रोंगों से बच पाएंगे…)

विटामिन बी1 के कार्य – Vitamin b1 function in Hindi

विटामिन बी1 के कार्य - Vitamin b1 function in Hindi

थायमिन, मानव शरीर के लिए बेहद जरूरी होता है, और अनेक प्रकार के शारीरिक कार्यों में अपना योगदान देता है। विटामिन बी1 (थायमिन) के कार्यों में निम्न को शामिल किया जाता है, जैसे:

  • विटामिन बी1 (थायमिन) मांसपेशियों और तंत्रिका कोशिकाओं के बाहर और अंदर इलेक्ट्रोलाइट्स के प्रवाह में भूमिका निभाता है।
  • थायमिन, शरीर में कार्बोहाइड्रेट को ऊर्जा के रूप में बदलने के लिए सक्षम बनाता है।
  • यह ग्लूकोज चयापचय के लिए आवश्यक है, तथा तंत्रिका, मांसपेशियों और हृदय संबंधी कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • मांसपेशियों के संकुचन और तंत्रिका संकेतों के संचालन सम्बन्धी कार्यों में भी विटामिन बी1 अपनी भूमिका अदा करता है।

(और पढ़े – विटामिन बी12 के फायदे स्रोत और स्वास्थ्य लाभ…)

विटामिन बी 1 के लाभ – Vitamin b1 benefits in Hindi

विटामिन बी 1 के लाभ - Vitamin b1 benefits in Hindi

मानव शरीर में विटामिन बी 1 अनेक प्रकार के कार्यों में अपना योगदान देने के साथ-साथ अनेक प्रकार के स्वास्थ्य सम्बन्धी लाभों को भी प्रदान करता है, जिनमें शामिल हैं:

  • विटामिन बी1 या थायमिन तंत्रिका तंत्र, मस्तिष्क, मांसपेशियों, हृदय, पेट और आंतों से संबन्धित जटिलताओं की रोकथाम में मदद करता है।
  • विटामिन बी या थायमिन लिवर, त्वचा, बाल और आंखों को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक है।
  • यह बेरीबेरी रोग के इलाज और इसके लक्षणों को कम में मदद करता है।
  • एथलीट प्रदर्शन को बढ़ावा देने और ऊर्जा बढ़ाने के लिए भी थायमिन सप्लीमेंट का उपयोग किया जा सकता है।
  • शोध में पाया गया है कि विटामिन बी1 प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर सकता है और तनाव के कारण मूड (मन) और शारीरिक दुर्बलता को नियंत्रित करने की क्षमता में सुधार कर सकता है।
  • अल्जाइमर रोग (Alzheimer’s disease) से पीड़ित व्यक्तियों के ज्ञान-संबंधी कार्य में सुधार करने में थायमिन (विटामिन बी1) उपयोगी होता है।
  • थायमिन व्यक्तियों में सकारात्मक मानसिक दृष्टिकोण बनाए रखने, स्मृति हानि को रोकने, सीखने की क्षमता में वृद्धि करने के लिए फायदेमंद होता है।
  • थायमिन इंजेक्शन उन रोगियों को भी दिया जाता है, जिन्हें वेर्निक कोर्साकोफ सिंड्रोम नामक स्मृति विकार होता है।

(और पढ़े – लीवर को मजबूत करने के लिए क्या खाना चाहिए…)

विटामिन बी1 का दवा के रूप में उपयोग – Vitamin b1 uses in medicine in Hindi

विटामिन बी1 का दवा के रूप में उपयोग - Vitamin b1 uses in medicine in Hindi

विटामिन बी1 के निम्न स्तर से सम्बंधित स्थितियों या परिधीय न्यूरोपैथी (Peripheral neuropathy) का इलाज करने के लिए थायमिन सप्लीमेंट या थायमिन दवाओं का उपयोग किया जा सकता है। कोमा में रहने वाले व्यक्तिओं को इलाज के दौरान थायमिन इंजेक्शन दिया जा सकता है।

डॉक्टर द्वारा थायमिन सप्लीमेंट की सिफारिश अनेक स्वास्थ्य स्थितियों के इलाज के दौरान की जा सकती है, जैसे:

(और पढ़े – अल्जाइमर से बचने के लिए खाएं ये हेल्दी फूड…)

विटामिन बी1 की कमी – Vitamin b1 deficiency in Hindi

विटामिन बी1 की कमी - Vitamin b1 deficiency in Hindi

विटामिन बी1 या थायमिन की कमी के विकास का सबसे अधिक खतरा शराबियों तथा क्रोहन या एनोरेक्सिया रोग से पीड़ित व्यक्तिओं को होता है। अर्थात अत्यधिक शराब का सेवन, थायमिन की कमी से सम्बंधित बीमारियों का कारण बन सकता है। इसके अरितिक्त कुछ खाद्य पदार्थ और आहार शरीर में थायमिन अवशोषण में हस्तक्षेप कर, थायमिन की कमी के जोखिम को बढ़ा सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

शरीर में विटामिन बी1 या थायमिन की कमी दिल, दिमाग और तंत्रिका तंत्र के कार्यों को प्रभावित कर सकती है। हालांकि थायमिन की कमी दुर्लभ है। थायमिन की कमी मुख्य रूप से बेरीबेरी और वेर्निक-कोर्साकोफ सिंड्रोम का कारण बनती है।

(और पढ़े – क्रोहन (क्रोन) रोग क्या है, कारण, लक्षण, जांच, उपचार, रोकथाम और आहार…)

विटामिन बी1 की कमी के लक्षण – Vitamin b1 deficiency symptoms in Hindi

विटामिन बी1 की कमी के लक्षण - Vitamin b1 deficiency symptoms in Hindi

विटामिन बी1 की कमी आमतौर पर बेरीबेरी रोग से सम्बंधित लक्षणों के उत्पन्न होने का कारण बनती है, बेरीबेरी रोग परिधीय नसों (peripheral nerves) से सम्बंधित समस्याओं की एक स्थिति है। विटामिन बी1 या थायमिन की कमी व्यक्तिओं में निम्न लक्षणों के प्रगट होने का कारण बन सकती है, जिनमें शामिल हैं

(और पढ़े – भूलने की बीमारी के लक्षण कारण जांच इलाज और उपचार…)

विटामिन बी की कमी से होने वाले रोग – Vitamin b1 deficiency disease in Hindi

विटामिन बी की कमी से होने वाले रोग - Vitamin b1 deficiency disease in Hindi

थायमिन की कमी से दो बड़ी स्वास्थ्य समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं, जिनमें शामिल हैं: बेरीबेरी और वेर्निक कोर्साकोफ सिंड्रोम ।

  • बेरीबेरी (beriberi) – बेरीबेरी रोग पीड़ित व्यक्ति में सांस लेने, आंखों की गति, हृदय की कार्यक्षमता और सतर्कता इत्यादि स्थितियों को प्रभावित कर सकता है। यह बीमारी रक्तप्रवाह में पाइरुविक एसिड (pyruvic acid) के अधिक निर्माण के कारण उत्पन्न होती है, जिसके कारण पीड़ित व्यक्ति का शरीर भोजन को ईंधन के रूप में बदलने के लिए सक्षम नहीं हो पाता है।
  • वेर्निक कोर्साकोफ सिंड्रोम (Wernicke-Korsakoff syndrome) – वेर्निक कोर्साकोफ सिंड्रोम दो अलग-अलग विकारों (वर्निक और कोर्साकोफ सिंड्रोम) का संग्रह है। वर्निक की बीमारी मुख्य रूप से तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करती है और दृष्टि की हानि, मांसपेशियों में सामंजस्य की कमी और मानसिक गिरावट (mental decline) का कारण बनती है। जबकि कोर्साकोफ सिंड्रोम मस्तिष्क में स्मृति कार्यों को स्थायी रूप से नुकसान पहुंचती है।

(और पढ़े – बेरीबेरी रोग क्या है कारण, लक्षण, और उपचार…)

विटामिन बी1 साइड इफेक्ट – Vitamin b1 (thiamine) side effects in Hindi

विटामिन बी1 साइड इफेक्ट - Vitamin b1 (thiamine) side effects in Hindi

खाद्य पदार्थों के माध्यम से विटामिन बी1 का अधिक सेवन किसी भी प्रकार के जोखिम को उत्पन्न नहीं करता है। कुछ व्यक्तियों में विटामिन बी1 सप्लीमेंट का सेवन एलर्जी से संबंधित लक्षणों को उत्पन्न कर सकता है, जो कि चिकित्सकीय आपातकाल की स्थिति हो सकती है। कुछ व्यक्तियों में थायमिन से संबंधित एलर्जी की प्रतिक्रियाओं में निम्न को शामिल किया जा सकता है, जैसे:

विटामिन बी1 या थायमिन के कम गंभीर दुष्प्रभाव में निम्न को शामिल किया जा सकता है, जैसे कि:

(और पढ़े – शीतपित्त यानि अर्टिकेरिया: कारण, लक्षण, जांच और बचाव…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration