विटामिन बी3 (नियासिन) के फायदे, स्रोत और नुकसान - Vitamin b3 (niacin) benefits, Sources and side effect in Hindi
विटामिन

विटामिन बी3 (नियासिन) के फायदे, स्रोत और नुकसान – Vitamin b3 (niacin) benefits, Sources and side effect in Hindi

विटामिन बी3 (नियासिन) के फायदे, स्रोत और नुकसान - Vitamin b3 (niacin) benefits, Sources and side effect in Hindi

विटामिन बी3, जिसे नियासिन के रूप में भी जाना जाता है, एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है, जो शरीर के प्रत्येक अंग को ठीक से काम करने के लिए प्रेरित करता है। सप्लीमेंट के रूप में, नियासिन का उपयोग मस्तिष्क कार्यों को बढ़ावा देने, निम्न कोलेस्ट्रॉल और गठिया (arthritis) के इलाज में किया जा सकता है। गंभीर रूप से विटामिन बी3 या नियासिन की कमी, पेलाग्रा रोग (pellagra) का कारण बन सकती है, जो कि एक घातक स्थिति है। नियासिन के खाद्य स्रोत, जैसे कि पके हुए ब्राउन राइस (brown rice), विटामिन बी 3 की कमी को रोकने में मदद कर सकते हैं। यह लेख विटामिन बी3 (नियासिन) की जानकारी के बारे में है। इस आर्टिकल में आप विटामिन बी3 के फायदे, स्रोत, कमी के लक्षण और नुकसान के बारे में जान सकते हैं।

विषय सूची

विटामिन बी3 क्या है – What is vitamin b3 (niacin) in Hindi

विटामिन बी3 क्या है – What is vitamin b3 (niacin) in Hindi

बी3 विटामिन, का रासायनिक नाम नियासिन है। यह आठ प्रकार के विटामिन B में से एक है। यह व्यक्तियों द्वारा खाए जाने वाले भोजन को ऊर्जा में परिवर्तित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विटामिन बी3 (नियासिन) पानी में घुलनशील है, और शरीर में इसका संग्रह नहीं होता है, इसलिए व्यक्तियों को प्रतिदिन भोजन के रूप में इसका सेवन करने की आवश्यकता होती है। एक स्वस्थ आहार का सेवन कर व्यक्ति विटामिन बी3 की आवश्यकता मात्रा को आसानी से प्राप्त कर सकता है। वर्तमान में विटामिन बी3 की कमी दुर्लभ है।

विटामिन बी3 मुख्य रूप से दो रासायनिक रूपों में पाया जाता हैं और प्रत्येक शरीर पर अलग-अलग प्रभाव डालता है। विटामिन बी3 के दोनों रासायनिक रूप खाद्य पदार्थों के साथ-साथ नियासिन सप्लीमेंट में भी पाया जाता है, जो निम्न हैं:

  • निकोटिनिक एसिड (Nicotinic acid) सप्लीमेंट के रूप में, निकोटिनिक एसिड का उपयोग कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और हृदय रोग के जोखिम को कम करने के लिए किया जाता है(1)।
  • नियासिनमाइड या निकोटिनामाइड (Niacinamide or nicotinamide) – निकोटिनामाइड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम नहीं करता है। हालांकि, यह सोरायसिस (psoriasis) के इलाज में मदद कर सकता है और नॉन मेलेनोमा स्किन कैंसर (non-melanoma skin cancer) के जोखिम को कम कर सकता है (2,3)।

विटामिन बी3 के वैज्ञानिक नाम – Vitamin b3 scientific name in Hindi

वर्तमान में विटामिन बी3 के अन्य नाम इस तरह हैं, जैसे:

  • नियासिन (niacin)
  • निकोटिनामाइड (nicotinamide)
  • निकोटिनिक एसिड (nicotinic acid)
  • विटामिन पीपी (vitamin PP), क्योंकि यह पेलेग्रा (pellagra) को रोकता है।

नियासिन की कमी के लक्षण – Niacin (vitamin B3) deficiency symptoms in Hindi

ज्यादातर लोग, आहार के माध्यम से पर्याप्त विटामिन बी3 को प्राप्त करते है। लेकिन शरीर में विटामिन बी3 की कमी सम्बंधित व्यक्ति में अनेक प्रकार के लक्षणों के उत्पन्न होने का कारण बनती है, जिनमें शामिल हैं:

नियासिन या विटामिन बी3 की गंभीर रूप से कमी पेलाग्रा रोग (pellagra) और मतिभ्रम (Hallucinations) का कारण बन सकती है।

विटामिन बी3 की कमी के कारण – Vitamin B3 Deficiency causes in Hindi

नियासिन की कमी अर्थात विटामिन बी3 के निम्न स्तर का कारण बनने वाले कारकों में निम्न को शामिल किया जा सकता है:

  • आहार में ट्रिप्टोफैन (tryptophans) की कमी।
  • शरीर में ट्रिप्टोफैन को नियासिन में बदलने की क्षमता को कम करने वाली स्थितियां जैसे- हार्टनप रोग (Hartnup disease) या कार्सिनॉइड सिंड्रोम (carcinoid syndrome)।
  • एनोरेक्सिया (anorexia), शराब की लत (alcoholism) और सूजन आंत्र रोग (inflammatory bowel disease) के कारण अल्पपोषण की समस्याएं।
  • विटामिन बी2, विटामिन बी6 या आयरन इत्यादि की कमी, नियासिन में परिवर्तित होने वाले ट्रिप्टोफैन की मात्रा में कमी का कारण बन सकती है।

विटामिन बी 3 के खाद्य स्रोत Vitamin B3 foods in Hindi

विटामिन बी 3 के खाद्य स्रोत - Vitamin B3 foods in Hindi

ट्रिप्टोफैन (tryptophans) की उच्च मात्रा युक्त खाद्य पदार्थ में नियासिन की भी उच्च मात्रा पाई जाती है। प्रोटीन और नियासिन का निर्माण करने के लिए शरीर को ट्रिप्टोफैन की आवश्यकता होती है। विटामिन बी3 के उच्च खाद्य स्रोतों में निम्न को शामिल किया जा सकता है, जैसे कि:

  • पका हुआ ब्राउन राइस (Cooked brown rice) – एक कप ब्राउन राइस 5.2 मिलीग्राम या 26 प्रतिशत दैनिक मूल्य (Percent Daily Value) विटामिन बी3 प्रदान करता है
  • समृद्ध नाश्ता अनाज (Enriched breakfast cereal) – एक सर्विंग में 5.0 मिलीग्राम या 25 प्रतिशत दैनिक मूल्य विटामिन बी3 होता है
  • सूखी भुनी हुई मूंगफली (Dry roasted peanuts) – लगभग 28 ग्राम नट्स में 4.2 मिलीग्राम या 21 प्रतिशत दैनिक मूल्य विटामिन बी3 उपस्थित होता है

इसके अतिरिक्त नियासिन के विभिन्न खाद्य स्रोत में निम्न को शामिल किया जा सकता है, जिनमें शामिल हैं:

नियासिन का दवा के रूप में उपयोग – Niacin Uses in medicine in Hindi

अतीत में, कुछ लोगों कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए स्टेटिन (statin) के साथ विटामिन बी3 का उपयोग किया जाता था। हालांकि, इस पर अनेक शोध किये गए और मिश्रित परिणाम सामने आए। स्टेटिन (statin) के साथ विटामिन बी3 का उपयोग कुछ व्यक्तियों पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है।

विटामिन बी3 से नुकसान – Vitamin B3 (Niacin) side effects in Hindi

भोजन में पाए जाने वाले विटामिन बी3 की मात्रा के फलस्वरूप, किसी भी प्रकार के साइड इफ़ेक्ट (Side effects) उत्पन्न नहीं होते हैं। हालांकि, सप्लीमेंट के रूप में विटामिन बी3 की उच्च मात्रा का सेवन करने से कुछ सामान्य साइड इफ़ेक्ट देखने को मिल सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

नियासिन या विटामिन बी 3 की अधिकता के अन्य दुष्प्रभाव निम्न हैं:

  • ग्लूकोज सहिष्णुता (glucose tolerance) और इंसुलिन प्रतिरोध (insulin resistance) में कमी
  • गाउट (gout) को ट्रिगर करना
  • आंखों की समस्याएं उत्पन्न होना, जैसे धुंधला दृष्टि
  • जठरांत्र संबंधी (gastrointestinal) समस्याओं में योगदान देना
  • लिवर डैमेज (liver damage) का उच्च जोखिम
  • रक्तचाप में कमी, जिसके कारण शरीर का संतुलन बनाने में असुविधा होना।

(और पढ़ें: चेहरे की लालिमा से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय)

विटामिन बी 3 के कार्य – Vitamin b3 function in Hindi

नियासिन अर्थात् विटामिन बी3, शरीर के विभिन्न कार्यों में अपना योगदान देता है। मानव शरीर में विटामिन बी 3 के कार्य निम्न हैं:

  • विटामिन बी 3 (नियासिन) भोजन को ऊर्जा में परिवर्तित करने के लिए एंजाइमों को सहायता प्रदान करता है।
  • नियासिन, सेलुलर मेटाबोलिज्म में शामिल दो कोएंजाइम- NAD (Nicotinamide adenine dinucleotide) और NADP (Nicotinamide adenine dinucleotide phosphate) का एक प्रमुख घटक है।
  • यह एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है।
  • सेल सिग्नलिंग और DNA को बनाने तथा उसकी मरम्मत करने में मुख्य भूमिका निभाता है।
  • यह शरीर द्वारा प्रोटीन और वसा का उपयोग करने में मदद करता है, और त्वचा, बाल तथा तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखता है।

विटामिन बी 3 (नियासिन) के स्वास्थ्य लाभ – Health Benefits of Vitamin B3 in Hindi

कम कोलेस्ट्रॉल, एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण विटामिन बी 3 अनेक प्रकार से शरीर के लिए फायदेमंद होता है। विटामिन बी 3 के स्वास्थ्य लाभ में निम्न को शामिल किया जाता है:

नियासिन के फायदे LDL कोलेस्ट्रॉल कम करने में – Niacin Benefits for Lowers LDL Cholesterol in Hindi

नियासिन (विटामिन बी 3) का उपयोग उच्च कोलेस्ट्रॉल या “खराब” LDL कोलेस्ट्रॉल के स्तर को का इलाज करने के लिए किया जाता है(4)। LDL कोलेस्ट्रॉल को कम करने के साथ ही, यह “अच्छा” HDL कोलेस्ट्रॉल भी बढ़ाता है। हालांकि उच्च कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए नियासिन द्वारा इलाज केवल उन व्यक्तियों के लिए किया जाता है, जो स्टैटिन को सहन नहीं कर सकते हैं।

विटामिन बी 3 के लाभ ट्राइग्लिसराइड्स कम करने में – Benefits of Vitamin B3 Lowers Triglycerides in Hindi

बी3 विटामिन, ट्राइग्लिसराइड संश्लेषण में शामिल एंजाइम के कार्य में हस्तक्षेप उत्पन्न करता है(5), और ट्राइग्लिसराइड्स को 20 से 50% तक कम कर सकता है। कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने के नियासिन (विटामिन बी3) की उचित मात्रा की आवश्यकता होती है।

नियासिन के फायदे हृदय रोग की रोकथाम में – Benefits of niacin Prevent Heart Diseases in Hindi

कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर नियासिन का सकारात्मक प्रभाव, हृदय रोग की रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। इसी वजह से नियासिन थेरेपी (niacin therapy), हृदय रोग या हृदय रोग के उच्च जोखिम वाले लोगों में दिल के दौरे (heart attack), स्ट्रोक (stroke) या मृत्यु की संभावनाओं को कम करने में फायदेमंद होती है(7)।

विटामिन बी3 के फायदे मस्तिष्क कार्यों के लिए – Vitamin B3 Benefits for Brain Function in Hindi

NAD और NADP कोएंजाइम के रूप में नियासिन, मस्तिष्क कार्यों के लिए फायदेमंद होता है। मस्तिष्क की कोशिकाओं में होने वाली क्षति को कम करने में मदद करने के कारण विटामिन बी3 का उपयोग सिज़ोफ्रेनिया (schizophrenia), अल्जाइमर रोग, ब्रेन फॉग (brain fog) और मानसिक रोग के लक्षणों का इलाज करने के लिए किया जा सकता है(8)।

नियासिन के फायदे त्वचा के लिए – Niacin Benefits for Skin in Hindi

सूरज की रोशनी से त्वचा की कोशिकाओं की क्षति को रोकनें के लिए नियासिन का उपयोग मौखिक या लोशन के रूप में किया जा सकता है(9)। एक अध्ययन में पाया गया कि नॉन मेलेनोमा स्किन कैंसर (non-melanoma skin cancer) के उच्च जोखिम वाले व्यक्तियों के लिए निकोटिनमाइड फायदेमंद होता है, जो कि विटामिन बी3 का ही एक रूप है।

विटामिन बी 3 गठिया में फायदेमंद – Vitamin B3 Benefits for Arthritis in Hindi

एक प्रारंभिक अध्ययन में पाया गया है, कि नियासिन (विटामिन बी3) ऑस्टियोआर्थराइटिस (osteoarthritis) के कुछ लक्षणों को कम करने, जोड़ों की गतिशीलता में सुधार करने और नॉनस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स की आवश्यकता को कम करने में लाभदायक होता है (10)। इसके अलावा विटामिन बी 3, गठिया (Arthritis) से संबंधित सूजन को कम कर सकता है(11)।

नियासिन पेलाग्रा के इलाज में फायदेमंद – Niacin Benefits Pellagra in Hindi

गंभीर रूप से विटामिन बी 3 अर्थात् नियासिन की कमी से पेलाग्रा रोग उत्पन्न होता है। अतः पेलग्रा (Pellagra) के लिए मुख्य उपचार के रूप में, नियासिन सप्लीमेंट (niacin supplement) का उपयोग किया जाता है(12)।

इसके अतिरिक्त विटामिन बी3 या नियासिन, एथेरोस्क्लेरोसिस (atherosclerosis) की स्थिति से सम्बंधित ऑक्सीडेटिव तनाव (oxidative stress) और सूजन को कम करने में मदद कर सकता है(6)।

(और पढ़ें: हाई कोलेस्ट्रॉल क्या है, लक्षण, कारण, जांच, इलाज और बचाव)

विटामिन बी 3 की आवश्यक मात्रा – Vitamin B3 (niacin) dosage in Hindi

14 साल या उससे अधिक उम्र का कोई भी व्यक्ति, जो 2000 कैलोरी वाले आहार का सेवन करता है, को प्रतिदिन 16 मिलीग्राम विटामिन बी 3 की सिफारिश की जाती है। अतः जो व्यक्ति एक संतुलित आहार का सेवन करते हैं, वे अपने भोजन में पर्याप्त नियासिन को प्राप्त करते हैं। विटामिन बी3 (नियासिन) की आवश्यक दैनिक मात्रा का सेवन, व्यक्ति की उम्र और लिंग पर निर्भर करती है। विटामिन बी3 की सिफारिश की जाने वाली दैनिक मात्रा इस प्रकार है:

  • 1 से 3 साल के बच्चों के लिए: 6 मिलीग्राम / दिन
  • 4 से 8 साल के बच्चों के लिए: 8 मिलीग्राम / दिन
  • 9 से 13 वर्ष के बच्चों के लिए: 12 मिलीग्राम / दिन
  • 14 वर्ष और अधिक उम्र के पुरुषों के लिए: 16 मिलीग्राम / दिन
  • 14 वर्ष और अधिक उम्र की महिलाओं के लिए: 14 मिलीग्राम / दिन
  • गर्भवती महिलाओं के लिए: 18 मिलीग्राम / दिन
  • स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए: 17 मिलीग्राम / दिन

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Reference

  1. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/18375237
  2. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/12890690
  3. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/26828517
  4. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK114304/
  5. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/18375237
  6. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/18375237
  7. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/23231526
  8. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/25324641/
  9. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/20354654
  10. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/8841834
  11. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK114304/
  12. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/20332283

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration