स्तनपान के दौरान होने वाली समस्याएं व समाधान – Breastfeeding Problems And Solutions In Hindi

स्तनपान के दौरान होने वाली समस्याएं व समाधान - Breastfeeding Problems And Solutions In Hindi
Written by Deepti

Breastfeeding problems in Hindi शिशु को स्तनपान कराना हमेशा आसान नहीं होता। इस दौरान मां को कई समस्याओं और चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इसके लिए एक मां को समस्या के साथ इसके कारण और समाधान भी पता होने चाहिए। स्तनपान से जुड़ी समस्या के लिए वैसे तो आप अपने डॉक्टर की सलाह ले सकतीं हैं, लेकिन कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाकर भी काफी हद तक आप अपना इलाज कर सकतीं हैं।

शिशु को स्तनपान कराना एक मां के लिए बहुत प्यारा और सुखद अहसास होता है। कहा जाता है कि स्तनपान कराने से मां और शिशु के बीच की बॉन्डिंग स्ट्रांग हो जाती है। लेकिन पहली बार मां बनने वाली महिलाओं को ब्रेस्ट फीडिंग कराना थोड़ा मुश्किल साबित हो सकता है साथ ही नवजात शिशु को भी दूध पीने में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ये नई मां के लिए एक चिंता की बात होती है। अगर आप भी स्तनपान से जुड़ी किसी भी समस्या से जूझ रही हैं तो चिंता छोड़ दीजिए। आज हमने इस आर्टिकल में आपके सामने स्तनपान के दौरान होने वाली तमाम समस्याओं को उजागर किया है, साथ ही समस्या के उपचार के लिए कुछ घरेलू नुस्खे भी बताए हैं, जिन्हें आप आसानी से आजमा कर स्तनपान से जुड़ी सभी समस्याओं से राहत पा सकते हैं।

स्तनपान से जुड़ी समस्याएं और घरेलू उपाय – Breastfeeding Problems And Home Remedies In Hindi

  1. स्तनपान के समय निप्पल में दर्द होना – Pain In Nipple During Breastfeeding In Hindi
  2. स्तनपान के समय मिल्क डक्ट का ब्लॉक होने की समस्या – Problem Of Duct Block During Breastfeeding In Hindi
  3. स्तनपान के दौरान स्तन में संक्रमण होना – Infection In Breast During Breastfeeding In Hindi
  4. स्तनपान के दौरान फटे निप्पल की समस्या – Home Remedy Of Nipple Cracked During Breastfeeding In Hindi
  5. ब्रेस्टफीडिंग के दौरान स्तनों में दूध न होने की समस्या – Lack Of Mik In Breast During Breastfeeding In Hindi
  6. स्तनों में दूध की मात्रा ज्यादा होना – High Amount Of Milk In Breasts During Breastfeeding In Hindi
  7. स्तनपान के दौरान निप्पल उलटे होने की समस्या – Stanpan Ke Dauran Nipple Ulte Honi Ki Samasya In Hindi
  8. ब्रेस्टफीडिंग के समय मां को बुखार आना – Mother Have Fever During Breastfeeding In Hindi
  9. घर से बाहर जाकर शिशु को दूध पिलाना – Going Out Of The House To Feed The Infant In Hindi
  10. स्तनपान कराते समय शिशु द्वारा स्तन काटने की समस्या – Breast-Biting Problem When Breastfeeding In Hindi
  11. बच्चे का ठीक से स्तनपान न करना- Infant Do Not Breastfeed Properly In Hindi
  12. स्तनपान कराते समय बच्चे का सो जाना – Infant Falls Asleep At The Breast During Breastfeeding In Hindi
  13. स्तनपान के दौरान बच्चे का उधम मचाना – Baby Is Fussy At Breast During Breastfeeding In Hindi
  14. ब्रेस्टफीडिंग के दौरान स्तनों में सूजन – Breast Swelling During Breastfeeding In Hindi
  15. स्तनपान के दौरान लाल निशान की समस्या – Stanpan Ke Dauran Red Spot Ki Samasya In Hindi
  16. स्तनपान के दौरान निप्पल पर व्हाइट डॉट की समस्या – White Dot Problem On Nipple During Breastfeeding In Hindi
  17. ब्रेस्टफीडिंग के बाद निप्पल सफेद हो जाने की समस्या- Getting White Nipple After Breastfeeding In Hindi
  18. स्तनपान के दौरान स्तनों में भारीपन न लगने की समस्या – Breasts No Longer Feel Full During Breastfeeding In Hindi

स्‍तनपान से जुडी समस्या से माँ और बच्चा दोनों  परेशान हो सकते हैं। स्तनपान के दौरान माँ और बच्चे, दोनों को बहुत सी परेशानियों (breastfeeding problems) का सामना करना पड़ सकता है इसलिए हम आपको बता रहे हैं स्तनपान के दौरान होने वाली समस्याएं और उनके घरेलु उपचार और घरेलू नुस्खे के बारे में। तो आइये जानते हैं नई माँ बनी महिलाओं में स्तनपान से जुड़े कुछ सामान्य कारण और उनके समाधान के बारे में –

स्तनपान के समय निप्पल में दर्द होना – Pain In Nipple During Breastfeeding In Hindi

स्तनपान के समय निप्पल में दर्द होना - Pain In Nipple During Breastfeeding In Hindi

जब महिला पहली बार बच्चे को स्तनपान कराती है तो उसे निप्पल में दर्द होता है, जो काफी आम है। शुरूआत के कुछ हफ्तों तक नई मां ऐसा महसूस कर सकती है। दरअसल यह समस्या उन महिलाओं को ज्यादा होती है जिनके निप्पल संवेदनशील होते हैं। कई बार शरीर में हार्मोनल बदलाव के कारण भी ऐसा होता है। इस समस्या से निपटने के लिए जब बच्चे का पेट भर जाए तो अपनी एक उंगली बच्चे के मुंह में डालकर धीरे से निप्पल निकाल लें। यदि फिर भी आप दर्द महसूस कर रही हों तो यह जरूर देख लें कि स्तन से दूध पूरी तरह से निकल गया है या नहीं। क्योंकि स्तन में दूध भरा होगा तो भारीपन के कारण भी दर्द का अहसास होगा। निप्पल में दर्द की समस्या भले ही आम हो, लेकिन तकलीफदेह होती है। क्योंकि बच्चे को दिन में कई बार स्तनपान कराना होता है।

स्तनपान के समय निप्पल में दर्द होने पर बेहतर है कि आप स्तनों की बर्फ से सिकाई करें। थोड़ी देर के लिए ही सही लेकिन आपको आराम मिलेगा और सूजन भी कुछ कम हो जाएगी।

(और पढ़े – निप्पल में दर्द के 7 बड़े कारण और घरेलू इलाज…)

स्तनपान के समय मिल्क डक्ट का ब्लॉक होने की समस्या – Problem Of Duct Block During Breastfeeding In Hindi

स्तनपान के समय मिल्क डक्ट का ब्लॉक होने की समस्या - Problem Of Duct Block During Breastfeeding In Hindi

यदि किसी महिला को एक ही जगह दर्द महसूस हो रहा है तो ये इस बात का संकेत है कि मिल्क डक्ट ब्लॉक हो रहा है। इसका अर्थ होता है कि स्तन में दूध एक जगह एकत्रित हो जाता है और गांठ पड़ जाती है। इससे निपटने के लिए गर्म पानी से सिकाई या फिर मालिश की जा सकती है। चाहें तो आप अपने स्तन पर हीट पैक का उपयोग भी कर सकती हैं जो कुछ समय तक आपके स्तनों को गर्माहट देता रहे। इस समय ये भी देखें कि आपकी ब्रा बहुत टाइट ना हो

(और पढ़े – स्तन (ब्रेस्ट) में गांठ क्या है कारण, लक्षण, जांच, इलाज और बचाव…)

स्तनपान के दौरान स्तन में संक्रमण होना – Infection In Breast During Breastfeeding In Hindi

स्तनपान के दौरान स्तन में संक्रमण होना - Infection In Breast During Breastfeeding In Hindi

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को संक्रमण की समस्या से भी जूझना पड़ता है। अक्सर स्तनपान कराने से निप्पल कट जाते हैं और उस जगह से स्तन में बैक्टीरिया चले जाते हैं। यदि किसी महिला को स्तन में दर्द के साथ बुखार, फ्लू जैसे लक्षण नजर आएं तो डॉक्टर से संपर्क कर सकतीं हैं। इस समस्या से निपटने के लिए आप घरेलू उपाय अपना सकती है। दिन में कभी भी 15-20 मिनट तक हल्की गर्म सिकाई करें। आराम मिलेगा।

(और पढ़े – बच्चे को स्तनपान कराने से होते हैं ये बड़े फायदे…)

स्तनपान के दौरान फटे निप्पल की समस्या – Home Remedy Of Nipple Cracked During Breastfeeding In Hindi

स्तनपान के दौरान फटे निप्पल की समस्या - Home Remedy Of Nipple Cracked During Breastfeeding In Hindi

लगातार स्तनपान कराने से महिलाओं के निप्पल ड्राई होने के साथ फटने भी लगते हैं। ऐसा हार्मोनल बदलाव के साथ मौसम में बदलाव और निप्पल पर साबुन का ज्यादा उपयोग करने से होता है। अगर स्तनपान कराने के दौरान कभी भी लगे कि निप्पल फट रहे हैं तो आप हल्के हाथों से निप्पल की मसाज कर सकतीं हैं।

(और पढ़े – बच्चे को दूध पिलाने (स्तनपान कराने) के तरीके और टिप्स…)

c के दौरान स्तनों में दूध न होने की समस्या – Lack Of Mik In Breast During Breastfeeding In Hindi

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान स्तनों में दूध न होने की समस्या - Lack Of Mik In Breast During Breastfeeding In Hindi

पहली बार स्तपान करने वाली महिलाओं को स्तनों में पर्याप्त मात्रा में दूध न होने की समस्या होती है। दूध न निकलने पर बच्चे का पेट भी नहीं भर पाता। आमतौर पर यह समस्या थॉयराइड, शरीर में कमजोरी और तनाव के कारण उत्पन्न होती है। अगर स्तनों में दूध नहीं बन रहा तो आप रोजाना अंडे खाएं। इससे दूध बनना शुरू हो जाता है। इसके अलावा सौंफ, जीरा, दाल, तुलसी, शतावरी, सूखे मेवे, हरी सब्जियां, मैथी, लहसुन का सेवन करने से भी स्तनों में दूध बढ़ाया जा सकता है।

(और पढ़े – ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बढ़ाने के लिए क्या खाएं…)

स्तनों में दूध की मात्रा ज्यादा होना – High Amount Of Milk In Breasts During Breastfeeding In Hindi

स्तनों में दूध की मात्रा ज्यादा होना - High Amount Of Milk In Breasts During Breastfeeding In Hindi

कुछ महिलाओं के स्तन में दूध नहीं आता, तो कुछ के स्तन में दूध की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। इसका कारण मां का ज्यादा सेहतमंद होना, बच्चे का दूध ना खींच पाना और बच्चे का कम दूध पीना भी हो सकता है। इसके लिए पत्तागोभी सबसे अच्छा घरेलू उपचार है। इसके लिए ठंडे पत्तागोभी के पत्तों को स्तनों पर लगाएं। बता दें कि पत्तागोभी में दूध को सुखाने के आवश्यक तत्व होते हैं।

(और पढ़े – डिलीवरी के बाद ब्रेस्‍ट से दूध लीक हो रहा है तो करें ये उपाय…)

स्तनपान के दौरान निप्पल उलटे होने की समस्या – Stanpan Ke Dauran Nipple Ulte Honi Ki Samasya In Hindi

स्तनपान के दौरान निप्पल उलटे होने की समस्या - Stanpan Ke Dauran Nipple Ulte Honi Ki Samasya In Hindi

यह समस्या बहुत कम महिलाओं को होती है। स्तनपान के दौरान निप्पल उल्टे होने जैसी समस्या जन्म से ही होती है। इसके लिए आप निप्पल को हल्के हाथों से पकड़कर बाहर निकालने की कोशिश करें और यह भी कोशिश करें कि अपने स्तन मुलायम रहें। इसके लिए आप अच्छी ब्रेस्ट क्रीम का उपयोग कर सकती हैं।

(और पढ़े – महिलाएं अपने स्तन की जांच कैसे करें…)

ब्रेस्टफीडिंग के समय मां को बुखार आना – Mother Have Fever During Breastfeeding In Hindi

ब्रेस्टफीडिंग के समय मां को बुखार आना - Mother Have Fever During Breastfeeding In Hindi

अगर मां बच्चे को स्तनपान कराती है, उसे बुखार आ जाए तो स्तनपान कराने के लिए मना किया जाता है। लेकिन ऐसा नहीं है। मां चाहे तो बच्चे को स्तनपान करा सकती है। हां, अगर कोई इंफेक्शन है तो डॉक्टर से पूछ लें कि स्तनपान कराने से आपके दूध के जरिए बच्चे पर कोई गलत असर तो नहीं होगा।

(और पढ़े – बुखार कम करने के घरेलू उपाय…)

घर से बाहर जाकर शिशु को दूध पिलाना – Going Out Of The House To Feed The Infant In Hindi

घर से बाहर जाकर शिशु को दूध पिलाना - Going Out Of The House To Feed The Infant In Hindi

कई बार ऐसा होता है कि मजबूरन बच्चे को घर से बाहर कहीं ब्रेस्ट फीड कराना पड़ सकता है। ऐसे में घर से बाहर जाने से पहले एक बार बच्चे को स्तनपान जरूर करा दें। जरूरत पड़ने पर अगर बाहर स्तनपान कराना भी पड़े तो ऐसे ढीले कपड़े पहनें ताकि शिशु को आसानी से स्तनपान करा सकें। आप चाहें तो किसी से ऐसी जगह के बारे में पता करें जहां आप बच्चे को अच्छे से स्तनपान करा सकें।

(और पढ़े – नवजात शिशु की देखभाल कैसे करें…)

स्तनपान कराते समय शिशु द्वारा स्तन काटने की समस्या – Breast-Biting Problem When Breastfeeding In Hindi

स्तनपान कराते समय शिशु द्वारा स्तन काटने की समस्या - Breast-Biting Problem When Breastfeeding In Hindi

बच्चे को दूध पिलाते समय शिशु द्वारा स्तन काटना सबसे आम समस्या होती है अक्सर शिशु दूध पीते समय मां के स्तन काटते हैं। इसका मुख्य कारण होता है कि आपके स्तन में दूध नहीं बन रहा और ये भी हो सकता है कि उस समय आपके शिशु के दांत निकल रहे हों। इस समस्या से बचने के लिए कटे हुए स्तन से दूध न पिलाएं। आप चाहें तो कटे हुए स्तन पर गर्म पानी या बर्फ का सेक भी कर सकती हैं। इससे बहुत आराम मिलेगा।

(और पढ़े – स्तन (ब्रेस्ट) से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य और मिथक…)

बच्चे का ठीक से स्तनपान न करना – Infant Do Not Breastfeed Properly In Hindi

बच्चे का ठीक से स्तनपान न करना- Infant Do Not Breastfeed Properly In Hindi

ये शिकायत ज्यादातर माओं को रहती है कि बच्चा ठीक से दूध नहीं पीता। लेकिन कई बार वे इसका कारण नहीं जान पातीं। तो हम आपको बता दें कि ऐसा आपके स्तन के निप्पल का छोटा होने के कारण होता है। निप्पल का आकार छोटा होने के कारण निप्पल बच्चे के मुंह में सही से नहीं जा पाते, जिससे बच्चा ठीक से दूध नहीं पीता और भूखा रह जाता है। दूसरा कारण आपके स्तनों से ठीक से दूध ना आना भी हो सकता है। इस संबंध में आप घरेलू उपचार के साथ अपने डॉक्टर से भी सलाह ले सकती हैं।

(और पढ़े – नवजात शिशुओं के बारे में रोचक तथ्य…)

स्तनपान कराते समय बच्चे का सो जाना – Infant Falls Asleep At The Breast During Breastfeeding In Hindi

स्तनपान कराते समय बच्चे का सो जाना - Infant Falls Asleep At The Breast During Breastfeeding In Hindi

कई बार बच्चे दूध पीते-पीते सो जाते हैं। जिससे बच्चे का पेट नहीं भर पाता। स्तनपान के दौरान ये बड़ी समस्या है। बच्चा लगातार दूध पीता रहे इसके लिए अपने अंगूठे और उंगलियों के बीच अपने स्तन को निचोड़ें, जिससे आपका बच्चा फिर से चूसने और निगलने की प्रतिक्रिया करने लगेगा। जब बच्चा चूसना बंद कर दे तो फिर से स्तन को निचोड़ें। बच्चे को उसकी ठुड्डी के नीचे फंसाना कभी-कभी नींद में बच्चे को चूसने को प्रोत्साहित कर सकता है।

(और पढ़े – शिशु के रोने के कारण और उसे चुप कराने के तरीके…)

स्तनपान के दौरान बच्चे का उधम मचाना – Baby Is Fussy At Breast During Breastfeeding In Hindi

स्तनपान के दौरान बच्चे का उधम मचाना - Baby Is Fussy At Breast During Breastfeeding In Hindi

कई माओं की समस्या होती है कि दूध पीते समय बच्चा उधम मचाता है। इसका सही कारण और उपचार हम आपको बताते हैं। कुछ मांए जरूरत से ज्यादा दूध का उत्पादन करती हैं, इससे दूध इतनी तेजी से बहता है कि बच्चा जल्दी-जल्दी पीने की कोशिश करता है। इसके लिए आप हर दो से तीन मिनट में स्तन का साइड बदलती रहें। चाहें तो हर चार घंटे में बच्चे को पहले बायां और फिर अगले चार घंटे में दायां स्तन से दूध पिलाएं।

(और पढ़े – नवजात बच्चों को इंफेक्शन से बचाता है मां का दूध…)

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान स्तनों में सूजन – Breast Swelling During Breastfeeding In Hindi

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान स्तनों में सूजन - Breast Swelling During Breastfeeding In Hindi

यह समस्या आमतौर पर तब उभरती है जब दूध का उत्पादन बच्चे के जन्म के तीन दिन बाद होता है। यदि लेबर के दौरान आपके शरीर में शिरा तरल पदार्थ थे, तो आपके स्तन ऊतक के साथ-साथ दूध में भी एडिमा हो सकता है। सूजन से बचने के लिए गोभी की पत्ते अच्छा घरेलू नुस्खा है। फीडिंग के बीच में गोभी के पत्ते ब्रा में फंसा लें। ये स्तनों की सूजन को कम करने में मदद करेगी। आप अपनी उंगलियों का उपयोग अपने निप्पल के चारों ओर तरल पदार्थ से भरे टिशू पर दबा सकते हैं। बार-बार स्तनपान या हाथ से एक्सफोलिएशन से असहजता से राहत मिलेगी।

(और पढ़े – डिलीवरी के बाद स्तन को टाइट कैसे करें…)

स्तनपान के दौरान लाल निशान की समस्या – Stanpan Ke Dauran Red Spot Ki Samasya In Hindi

स्तनपान के दौरान लाल निशान की समस्या - Stanpan Ke Dauran Red Spot Ki Samasya In Hindi

स्तनों पर लाल प्लग डक्ट के कारण होता है। अगर प्लग डक्ट की समस्या हल नहीं हुई है या निप्पल क्षतिग्रस्त या फट गए हैं तो आगे चलकर यह संक्रमण में बदल जाते हैं। यहां मास्टिटिस के लिए घरेलू उपचार फायदेमंद साबित होगा। जितना हो सके आराम करें। यदि 24 घंटे के भीतर कोई सुधार नहीं दिखता तो डॉक्टर से संपर्क करें।

(और पढ़े – क्या स्तनों को दबाने से उनका आकार बढ़ जाता है…)

स्तनपान के दौरान निप्पल पर व्हाइट डॉट की समस्या – White Dot Problem On Nipple During Breastfeeding In Hindi

स्तनपान के दौरान निप्पल पर व्हाइट डॉट की समस्या - White Dot Problem On Nipple During Breastfeeding In Hindi

निप्पल के एंड पर व्हाइट डॉट होने का मतलब दूध की कमी या दूध के छाले से है। यह त्वचा की परतों के कारण होता है जो एक नलिका के खुलने या उसके पीछे दूध के फंसने से होती है। यह बहुत चोट पहुंचाता है। इसे निकालने के लिए मालिश करें।

(और पढ़े – महिला शरीर के बारे मे जानकारी…)

ब्रेस्टफीडिंग के बाद निप्पल सफेद हो जाने की समस्या- Getting White Nipple After Breastfeeding In Hindi

ब्रेस्टफीडिंग के बाद निप्पल सफेद हो जाने की समस्या- Getting White Nipple After Breastfeeding In Hindi

यह तापमान में अचानक बदलाव के कारण होता है। क्योंकि इस दौरान निप्पल को बच्चे के मुंह से गर्म जगह से ठंडी जगह लाया जाता है। इस स्थिति को रेनाउड के रूप में भी जाना जाता है। इस सफेदी और दर्द के कारण खून स्तन से अचानक बहने लगता है। इस दौरान निप्पल पर एक गर्म कपड़ा लगाने की कोशिश करें या ब्लड फ्लो को वापस लाने के लिए निप्पल की जैतून के तेल से मालिश करें।

(और पढ़े – स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए ब्रेस्ट मसाज कैसे करें…)

स्तनपान के दौरान स्तनों में भारीपन न लगने की समस्या – Breasts No Longer Feel Full During Breastfeeding In Hindi

स्तनपान के दौरान स्तनों में भारीपन न लगने की समस्या - Breasts No Longer Feel Full During Breastfeeding In Hindi

कई महिलाओं को स्तनपान कराने के कुछ समय बाद फील होता है कि उनके स्तन भरे हुए नहीं है। यह आमतौर पर छह से दस सप्ताह तक होता है। लेकिन इससे डरने की जरूरत नहीं है बल्कि ये आपके लिए अच्छी और राहत की बात है कि वास्तिवकता में आपके स्तन आपके बच्चे की भूख को पूरा करने के लिए समायोजित हो गए हैं। बस अपने बच्चे के वजन बढ़ाने और डायपर सामग्री को लेकर ध्यान दें।

इस आर्टिकल में हमारे द्वारा स्तनपान के दौरान होने वाली समस्याएं और उनके घरेलू उपचारों के बारे बताया गया है। एक बार इन सभी घरेलू उपचारों को आप ट्राय कर सकते हैं और फिर भी असर न दिखे तो अपने डॉक्टर से सलाह लेने से संकोच न करें। वो आपकी स्थिति के बारे में आपको अच्छी सलाह दे सकते हैं।

(और पढ़े – शिशु को डायपर रैशेज से बचाने के लिए घरेलू उपाय…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration