निप्पल में दर्द के 7 बड़े कारण और घरेलू इलाज – Nipple pain causes and Home treatment in Hindi

निप्पल में दर्द के 7 बड़े कारण और घरेलू इलाज - Nipple pain causes and Home treatment in Hindi
Written by Anamika

Nipple mein dard in Hindi ज्यादातर महिलाओं को स्तन के निप्पल में दर्द महसूस हता है। यह दर्द आमतौर पर कई कारणों से होता है, जैसे कि स्तन पर अधिक रगड़, हार्मोन का असंतुलन, सूजन की समस्या, पर्यावरणीय कारक, एलर्जी, स्किन से जुड़ी समस्या, इंफेक्शन, खुजली, सेसिटिविटी, यौन क्रिया, प्रेगनेंसी और ब्रेस्टफीडिंग आदि। इस लेख में आप जानेगे निप्पल में दर्द का कारण (Causes of Nipple pain in Hindi ) और निप्पल में दर्द का घरेलू इलाज (Nipple mein dard ka gharelu upchar in Hindi) के बारें में।

निप्पल कैंसर होने की संभावना बहुत कम होती है लेकिन यदि दोनों स्तनों (breast) के निप्पल में लंबे समय तक दर्द बना रहे तो यह ब्रेस्ट कैंसर का लक्षण हो सकता है और यह सामान्यरूप से एक स्तन को प्रभावित करता है।

1. निप्पल में दर्द के कारण – Nipple mein dard ka karan in Hindi
2. निप्पल में दर्द का घरेलू इलाज – Nipple mein dard ka gharelu upchar in Hindi

अगर महिला प्रेगनेंट नहीं है इसके बावजूद निप्पल से तरल या द्रव (fluid) निकलता है और तेज दर्द होता है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। निप्पल से दूधिया, सफेद, पीला, हरा और खूनी तरल पदार्थ निकल सकता है। इसके अलावा निप्पल में खुजली, पीड़ा, सूजन और उसके आकार में भी बदलाव दिखता है।

निप्पल में दर्द के कारण – Nipple mein dard ka karan in Hindi

causes of Nipple pain in Hindi निप्पल में दर्द होना कुछ मामलों में बहुत सामान्य माना जाता है लेकिन अगर लंबे समय तक दर्द बना रहे तो इसके पीछे कोई बड़ी वजह जरूर हो सकती है। आइये जानते हैं कि आखिर निप्पल में दर्द का कारण क्या होता है।

1) प्रेगनेंसी के कारण निप्पल में दर्द – Pregnancy causes Nipple pain in Hindi

प्रेगनेंसी के दौरान ब्रेस्ट और निप्पल में दर्द होना आम शिकायत है और आमतौर पर पूरी तरह सामान्य होता है। स्तन की कोशिकाएं हार्मोन के प्रति अधिक संवेदनशील होती हैं इसलिए जब जब प्रेगनेंसी हार्मोन शरीर में तेजी से बनना शुरू होने लगता है तो रक्त की मात्रा भी बढ़ जाती है और यह स्तन को अधिक भारी और फुला हुआ बना देती है। यह महीनों तक वैसे ही बना रहता है और निप्पल के किनारे के क्षेत्र अधिक गहरे रंग (dark colour) के हो जाता है। इस दशा में निप्पल में दर्द होना भी स्वाभाविक होता है।

2) निप्पल में दर्द का कारण यौन संबंध – Sexual activity causes Nipple pain in Hindi

शारीरिक संबंध बनाने के दौरान स्तन में अधिक रगड़ या दबाव के कारण निप्पल में दर्द होने लगता है। आमतौर पर यह दर्द अस्थायी होता है और ठीक भी हो जाता है। अगर अधिक समय तक यह दर्द बना रहता है तो स्तन पर जेल या मॉश्चराइजर लगाकर एवं एंटीसेप्टिक की सहायता से ठीक किया जा सकता है।

3) हार्मोन में परिवर्तन से निप्पल में दर्द – Nipple pain due to Hormonal changes in Hindi

महिलाओं के हर महीने के मासिक चक्र के कारण निप्पल में दर्द या परेशानी का अनुभव होना सामान्य बात है। इस दौरान निप्पल में दर्द एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रॉन के स्तर में परिवर्तन के कारण होता है। पीरियड से पहले ब्रेस्ट एवं निप्पल अधिक मुलायम (tenderness) हो जाता है, यह सामान्य होता है और चिंता करने की जरूरत नहीं होती है। लेकिन यदि निप्पल में दर्द पीरिडय खत्म होने के बाद भी लंबे समय तक बना है तो हार्मोन टेस्ट करवाकर दवा लेनी चाहिए। (और पढ़े – एस्ट्रोजन हार्मोन की महिलाओं के शरीर में भूमिका)

4) स्तन में सूजन निप्पल में दर्द का कारण – causes of Nipple pain in Hindi

Breast स्तन की नलिकाओं (breast ducts) में सूजन के कारण आमतौर पर स्तनपान के दौरान स्तन से पर्याप्त दूध नहीं निकल पाता है। सूजन तेजी से बढ़ने के कारण स्तन के लाल या गहरे भाग में दर्द शुरू हो जाता है, और स्तन का निप्पल छूने में अधिक गर्म लगता है। हालांकि स्तन के निप्पल में लालिना महज इंफेक्शन का ही संकेत नहीं है।

5) स्तन से पस निकलने से निप्पल में हो सकता है दर्द –  Breast abscess causes Nipple pain in Hindi

Breast स्तन से पस निकलने के कारण भी निप्पल में दर्द होता है। स्तन में सूजन होने के कारण स्तन से पस निकलता है और बच्चे को स्तनपान कराने वाली महिलाएं ही इससे अधिक प्रभावित होती है। दर्द के साथ निप्पल से मवाद (pus) निकलने के कारण निप्पल में चुभन भी होती है। यह आमतौर पर बैक्टीरिया के कारण होता है जो ब्रेस्ट टिशू में प्रवेश कर जाता है और स्तन नलिका को ब्लॉक कर देता है। इसके कारण निप्पल में दर्द होने लगता है। निप्पल में सूजन, लालिमा और अधिक गर्म होना इसके मुख्य लक्षण होते हैं।

6) निप्पल में दर्द का कारण एक्जिमा – Nipple pain due to Eczema in Hindi

स्तनपान के दौरान कभी-कभी ब्रेस्ट में एक्जिमा हो जाता है, हालांकि यह बहुत दुर्लभ स्थिति में ही होता है। स्तनपान कराने वाली महिलाओं में से करीब आधी संख्या में महिलाएं एक्जिमा से ग्रसित होती हैं, इसे एटोपिक एक्जिमा (atopic eczema) कहते हैं। इसके कारण निप्पल में तेज जलन होती है। एलर्जिक रिएक्शन के कारण भी एक्जिमा हो जाता है। निप्पल में सूखापन, पपड़ी निकलना और जलन होना निप्पल में एक्जिमा होने के लक्षण हैं।

7) कैंडिडियासिस के कारण निप्पल में दर्द – Candidiasis causes Nipple pain in Hindi

स्तनपान कराते समय निप्पल में दर्द होना कैंडिडियासिस(Candidiasis) के लक्षण हैं। कुछ हफ्तों में ही कैंडिडियासिस के लक्षण तेजी से बढ़ जाते हैं और निप्पल में दर्द के साथ दोनों स्तनों में जलन और चुभन होने लगती है। स्तनपान के एक घंटे बाद तक दर्द बना रहता है और निप्पल में दर्द के साथ ही मृत त्वचा जैसी पपड़ी निकलती है।

निप्पल में दर्द का घरेलू इलाज – Nipple mein dard ka gharelu upchar in Hindi

Home Remedies for Nipple pain in Hindi निप्पल और स्तन में दर्द हो तो इसकी अनदेखी नहीं करनी चाहिए और अगर निप्पल का दर्द कई दिनों बाद भी ठीक न हो तो तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। अगर दर्द के पीछे कोई गंभीर कारण नहीं है तो इन घरेलू उपायों (Home treatment) से भी निप्पल का सामान्य दर्द ठीक किया जा सकता है।

  • यदि ब्रेस्ट में अधिक रगड़ के कारण निप्पल में दर्द हो रहा हो तो उचित नाप का और अच्छी क्वालिटी का ब्रा पहनें। क्रीम या मलहम लगाने से भी स्तनों के बीच रगड़ (friction) कम हो जाती है।
  • बच्चे को दूध पिलाने से पहले अपने स्तन का दूध निप्पल के ऊपर लगा लें इससे दर्द नहीं होगा। स्तनपान कराने के बाद भी निप्पल पर अपने स्तन का दूध लगाकर सूखने दें, दर्द खत्म हो जाएगा।
  • तुलसी की पत्तियों को पीसकर पेस्ट तैयार कर लें और इसे निप्पल के ऊपर लगाएं, सूखने के बाद धो लें, निप्पल के दर्द में राहत मिलेगी।
  • बर्फ के टुकड़े (ice cube) को एक कपड़े में लपेटकर पोटली बना लें और निप्पल के ऊपरी हिस्से पर बर्फ से सिंकाई करें, दर्द से निजात मिल जाएगा।
  • निप्पल के ऊपर एलोवेरा जेल लगाकर कुछ देर सूखने दें फिर इसके बाद गर्म पानी से धो लें। यह प्रक्रिया कई बार दोहराएं, निप्पल का दर्द खत्म हो जाएगा।
  • अपनी पसंद के किसी भी ऑयल को माइक्रोवेब में गर्म करें और फिर इस ऑयल से निप्पल और स्तन (breast) के ऊपर मालिश करें। दिन में कई बार मसाज करने से निप्पल का दर्द खत्म हो जाता है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration