ड्राई फ्रूट्स के फायदे और नुकसान – Dry Fruits Benefits And Side effects in Hindi

ड्राई फ्रूट्स के फायदे और नुकसान – Dry Fruits Benefits And Side effects in Hindi
Written by Jaideep

Dry Fruits in Hindi सूखे मेवे या ड्राई फ्रूट्स का हम सभी बहुत उपयोग करते हैं। लेकिन क्‍या सभी ड्राई फ्रूट्स हमारे लिए फायदेमंद होते हैं। क्‍या आपको ड्राई फ्रूट्स के फायदे और नुकसान पता हैं। सभी लोगों को इनके फायदे पता होना चाहिए। क्‍योंकि ये सभी सूखे मेवे हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होते हैं। किसी भी बीमारी से ग्रसित व्‍यक्ति को डॉक्‍टर द्वारा कई बार इन सूखे फलों के सेवन की सलाह दी जाती है। ड्राई फ्रूट्स के फायदे वजन कम करने, मधुमेह को नियंत्रित करने, हृदय को स्‍वस्‍थ्‍य रखने, संक्रमण से बचाने, कैंसर की रोकथाम करने आदि के लिए जाने जाते हैं। इस लेख में आप ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे और नुकसान के बारे जानेगें।

1. ड्राई फ्रूट क्या है इन हिंदी – What Is Dry Fruits in Hindi
2. ड्राई फ्रूट के नाम – List Of Dry Fruits in Hindi
3. ड्राई फ्रूट्स के फायदे – Dry Fruits Ke Fayde in Hindi

4. ड्राई फ्रूट्स खाने का सही समय – Dry fruits khane ka sahi samay in Hindi
5. ड्राई फ्रूट्स खाने के नुकसान- Dry Fruits Ke Nuksan in Hindi

ड्राई फ्रूट क्या है इन हिंदी – What Is Dry Fruits in Hindi

ड्राई फ्रूट क्या है इन हिंदी - What Is Dry Fruits in Hindi

जिन्‍हें हम ड्राई फ्रूट कहते हैं वे वास्‍तव में निर्जलित करके बनाये जाते हैं। सूखे फल वह फल है जिसमें से अधिकांश जल को प्राकृतिक रूप से सूर्य के प्रकाश के माध्यम से या विशेष सुखाने वालों या डीहाइड्रेटर्स के उपयोग के माध्यम से हटा दिया जाता है इन्‍हें निर्जलित करने की आवश्‍यकता इसलिए होती है क्‍योंकि हर मौसम में ये फल उपलब्‍ध नहीं होते हैं। इसलिए इन्‍हें कमरे के तापमान में सुरक्षित और लंबे समय तक उपयोग करने के लिए निर्जलित किया जाता है। क्‍योंकि पके हुए फल कुछ ही दिनों में खराब हो जाते हैं।

हालांकि सभी ड्राई फ्रूट फायदेमंद होते हैं लेकिन कुछ ड्राई फ्रूट का अधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए। यदि आप अपनी सेहत में सुधार के लिए एक स्‍वस्‍थ और आसान नाश्‍ता ढूंढ़ रहे हैं तो ये ड्राई फ्रूट आपकी मदद कर सकते हैं। इनमें बहुत से पोषक तत्‍व मौजूद रहते हैं जो हमारी बहुत सी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लक्षणों को दूर या कम कर सकते हैं। आइये जाने सूखे मेवे के फायदे क्‍या हैं।

ड्राई फ्रूट के नाम – List Of Dry Fruits in Hindi

अक्‍सर हम में से अधिकतर लोग ड्राई फ्रूट में भ्रमित होते हैं। वो इसलिए कि अधिकतर फलों को हम सूखे या ड्राई रूप में ही उपयोग करते हैं। लेकिन ऐसे बहुत से खाद्य पदार्थ हैं जिन्‍हें हम अन्‍य खाद्ययान के रूप में उपयोग करते हैं जबकि वे एक ड्राई फ्रूट हैं। हम आपको कुछ विशेष ड्राई फ्रूट के नामों से अवगत करा रहे हैं। आइये जाने ड्राई फ्रूट के नाम जो अक्‍सर आपको भ्रमित करते हैं।

सामान्‍य ड्राई फ्रूट के नाम जिन्‍हें हम सभी जानते हैं

ड्राई फ्रूट्स के फायदे – Dry Fruits Ke Fayde in Hindi

  1. ड्राई फ्रूट के लाभ हृदय रोग के लिए – Dry Fruits Benefits For Heart Diseases in Hindi
  2. सूखे मेवे के फायदे कोलेस्ट्रॉल के लिए – Dry Fruits Benefits For Maintain Cholesterol in Hindi
  3. ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे महिलाओं के लिए – Dry Fruits Benefits For Women in Hindi
  4. ड्राई फ्रूट के गुण एंटीऑक्‍सीडेंट से भरपूर – Dry Fruits Benefits Full Of Antioxidants in Hindi
  5. ड्राई फ्रूट उपयोग वजन कम करने के लिए – Dry Fruits Benefits For Weight Loss in Hindi
  6. प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे – Dry Fruits Benefits During Pregnancy in Hindi
  7. सूखे मेवे एनीमिया का इलाज करे – Dry Fruits Benefits For Treat Anaemia in Hindi
  8. ड्राई फ्रूट के फायदे वजन बढ़ाने में – Dry Fruits Benefits For Weight Gain in Hindi
  9. ड्राई फ्रूट के लाभ कैंसर की रोकथाम करे – Dry Fruits Benefits For Prevent Cancer in Hindi
  10. ड्राई फ्रूट्स कब्‍ज के लिए फायदेमंद – Dry Fruits Benefits For Constipation in Hindi

स्वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होने के साथ ही ड्राई फ्रूट हमें त्‍वरित ऊर्जा भी दिलाते हैं। इनके अलावा यह शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ भी उपलब्‍ध कराते हैं। यह आपके लिए पूरक आहार का काम करते हैं। हालांकि ये थोड़े महंगे हो सकते है लेकिन आपके स्‍वास्‍थ्‍य से बढ़कर नहीं। कुछ लोग इसे अपने दैनिक आहार के साथ उपभोग करते हैं। लेकिन क्‍या सभी लोग इन ड्राई फ्रूट के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में जानते हैं। इनके फायदे जानना आवश्‍यक है क्‍योंकि इन्‍हें अपने आहार में शामिल कर आप अपने स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा दे सकते हैं। आइये जाने ड्राई फ्रूट खाने के फायदे क्‍या हैं।

ड्राई फ्रूट के लाभ हृदय रोग के लिए – Dry Fruits Benefits For Heart Diseases in Hindi

ड्राई फ्रूट के लाभ हृदय रोग के लिए - Dry Fruits Benefits For Heart Diseases in Hindi

कार्डियोवैस्‍कुलर समस्‍याओं को दूर करने का सबसे अच्‍छा तरीका ड्राई फ्रूट का सेवन हो सकता है। इन फलों में मौजूद पोषक तत्‍व हृदय स्‍वास्‍थ्‍य से संबंधित बहुत सी समस्‍याओं को कम कर सकते हैं। काजू जैसे सूखे मेवे में मोनो-असंतृप्‍त वसा या अच्‍छा वसा मौजूद रहता है। यह वसा कार्डियोवैस्‍कुलर स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में मदद करता है। इसके अलावा पिस्‍ता में विटामिन बी6 की अच्‍छी मात्रा होती है जो हृदय को स्‍वस्‍थ्‍य बनाने और हृदय रोगों को दूर करने में सहायक होता है। खजूर का नियमित सेवन करने पर यह एथेरोस्‍क्‍लेरोसिस (atherosclerosis) से बचाता है यह स्‍ट्रोक का प्रमुख कारण होता है। आप अपने हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए ड्राई फ्रूट का नियमित सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – दिल मजबूत करने के उपाय…)

सूखे मेवे के फायदे कोलेस्ट्रॉल के लिए – Dry Fruits Benefits For Maintain Cholesterol in Hindi

सूखे मेवे के फायदे कोलेस्ट्रॉल के लिए - Dry Fruits Benefits For Maintain Cholesterol in Hindi

ड्राई फ्रूट आपके आहार का प्रमुख हिस्‍सा होना चाहिए। यह आपके लिए इसलिए फायदेमंद होते हैं क्‍योंकि ये कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को नियंत्रित करते हैं। आपके शरीर में दो प्रकार के कोलेसट्रॉल होते हैं अच्‍छे और बुरे। इनका नियमित उपभोग करने पर यह आपके शरीर में खराब कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने और अच्‍छे कोलेस्‍ट्रॉल को बढ़ाने में सहायक होते हैं। इसके अलावा काजू में कोलेस्‍ट्रॉल बहुत ही कम मात्रा में होता है। जबकि पिस्‍ता में वसा होती हैं जो कोलेस्‍ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा ड्राई फ्रूट से आयरन, फास्‍फोरस, पोटेशियम, मैग्‍नीशियम आदि भी प्राप्‍त होते हैं जो रक्त परिसंचरण को बढ़ावा देते हैं। बादाम, किशमिश और पिस्‍ता का नियमित सेवन कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं।

(और पढ़े – जानें कि क्या होता है अच्छा (HDL) एवं बुरा (LDL) कोलेस्ट्रॉल…)

ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे महिलाओं के लिए – Dry Fruits Benefits For Women in Hindi

ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे महिलाओं के लिए - Dry Fruits Benefits For Women in Hindi

काजू फल सामान्‍य रूप से सभी के घरों में उपलब्‍ध होते हैं। ये सूखे फल ऊर्जा में समृद्ध हैं साथ ही आवश्‍यक प्रोटीन और फाइबर उपलब्‍ध कराते हैं। ड्राई फ्रूट कार्डियोवैस्‍कुलर स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के साथ ही रजोनिवृत्ति के कारण होने वाले तनाव का इलाज भी कर सकते हैं। इस तरह से ड्राई फ्रूट रजोनिवृत्ति के लक्षणों से ग्रसित महिलाओं के लिए फायदेमंद होते हैं। आप इन्‍हें अपने दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं। या फिर एक नये फैशन के रूप में इन्‍हें किसी मित्र या परिजनों को गिफ्ट कर सकते हैं। यह उनके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है।

(और पढ़े – रजोनिवृत्ति के कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय…

ड्राई फ्रूट के गुण एंटीऑक्‍सीडेंट से भरपूर – Dry Fruits Benefits Full Of Antioxidants in Hindi

ड्राई फ्रूट के गुण एंटीऑक्‍सीडेंट से भरपूर - Dry Fruits Benefits Full Of Antioxidants in Hindi

कई अध्‍ययनों से साबित होता है कि सूखे मेवों में एंटीऑक्‍सीडेंट की अच्‍छी मात्रा होती है। इनमें फेनोल्‍स की मात्रा ताजे फलों की अपेक्षा अधिक होती है। कुछ पोषण विश्‍लेषक सलाह देते हैं कि आहार के रूप में ड्राई फ्रूट को शामिल करना फायदेमंद होता है। इसके एंटीऑक्‍सीडेंट कैंसर, दिल की बीमारियों, मधुमेह, ऑक्‍सीडेटिव तनाव और मस्तिष्‍क से संबंधित समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होते हैं। इन सभी लाभों को देखते हुए ड्राई फ्रूट का सेवन करना लाभकारी हो सकता है।

(और पढ़े – एंटीऑक्सीडेंट युक्त खाद्य पदार्थ, फायदे और नुकसान…)

ड्राई फ्रूट उपयोग वजन कम करने के लिए – Dry Fruits Benefits For Weight Loss in Hindi

ड्राई फ्रूट उपयोग वजन कम करने के लिए - Dry Fruits Benefits For Weight Loss in Hindi

सूखे फलों में फाइबर की उतनी ही या उससे अधिक मात्रा होती है जितना कि उनके ताजे फलों में होती है। इसका मतलब यह है कि ड्राई फ्रूट में फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है जो आपके पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद होते हैं। फाइबर की उच्‍च मात्रा आपके पाचन तंत्र को सुचारू रूप से काम करने में मदद करते हैं। उदाहरण के लिए सूखे खुबानी की 1 कप मात्रा में 6.5 ग्राम फाइबर होता है जबकि ताजे खुबानी में 3.1 ग्राम होता है। इसी तरह किशमिश में 5.4 ग्राम फाइबर होता है जबकि ताजे अंगूर में केवल 1.4 ग्राम फाइबर होता है। फाइबर न केवल आपके पाचन में मदद करता है बल्कि यह मोटापा, हृदय रोग और कैंसर के कुछ रूपों को रोकने में सहायक होता है। इस तरह से आप ड्राई फ्रूट का उपयोग अपना वजन कम करने के लिए कर सकते हैं।

(और पढ़े – वजन घटाने वाले उच्च फाइबर खाद्य पदार्थ…

प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे – Dry Fruits Benefits During Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में ड्राई फ्रूट्स खाने के फायदे - Dry Fruits Benefits During Pregnancy in Hindi

आप सभी को पता है कि गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं को अतिरिक्त पोषण की आवश्‍यकता होती है। ये पोषक तत्‍व महिला और उसके गर्भ के विकास व स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। इसलिए अक्‍सर गर्भवती महिलाओं को ड्राई फ्रूट सेवन करने की सलाह दी जाती है। इस दौरान खजूर का सेवन अधिक किया जाता है क्‍योंकि यह स्‍वाद में मीठे होने के साथ ही फाइबर, पोटेशियम, आयरन और बहुत से पोषक तत्‍वों से भरपूर होता है। सूखे फलों में एंटीऑक्‍सीडेंट की अच्‍छी मात्रा होती है जो आक्‍सीडेटिव तनाव को कम करने में सहायक होते हैं। यह मधुमेह को भी नियंत्रित करने में सहायक होते हैं। यही कारण है कि गर्भवती महिलाओं को प्रसव के पूर्व और प्रसव के बाद ड्राई फ्रूट से बने हुए लड्डू खिलाये जाते हैं। इसके अलावा ये पुरुषों में बांझपन की समस्‍या का भी इलाज कर सकते हैं।

(और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान खाये जाने वाले आहार और उनके फायदे…)

सूखे मेवे एनीमिया का इलाज करे – Dry Fruits Benefits For Treat Anaemia in Hindi

सूखे मेवे एनीमिया का इलाज करे - Dry Fruits Benefits For Treat Anaemia in Hindi

लगभग सभी ड्राई फ्रूट में आयरन की अच्‍छी मात्रा होती है। इसलिए ये शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। काजू भी इसी तरह का ड्राई फ्रूट है जो शरीर में लाल रक्‍त कोशिकाओं के उत्‍पादन में सहायक होता है। एनीमिया पीड़ित लोगों को इसलिए ड्राई फ्रूट का सेवन करने की सलाह दी जाती है। किशमिश में भी आयरन की अच्‍छी मात्रा होती है। यह एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन ए से भरपूर होती है जो आंखों के लिए फायदेमंद माना जाता है। इसके अलावा नियमित रूप से ड्राई फ्रूट का सेवन करने पर कब्‍ज, पेट की गैस और पाचन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होते हैं।

(और पढ़े – क्या है एनीमिया? कारण, लक्षण और आहार…)

ड्राई फ्रूट के फायदे वजन बढ़ाने में – Dry Fruits Benefits For Weight Gain in Hindi

ड्राई फ्रूट के फायदे वजन बढ़ाने में - Dry Fruits Benefits For Weight Gain in Hindi

क्‍या आप दुबले हैं और अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं। यदि ऐसा है तब भी ड्राई फ्रूट आपकी मदद कर सकते हैं। कुछ विशेष प्रकार ड्राई फ्रूट हैं जो आपको अधिक ऊर्जा दिलाने के साथ ही आपकी मांसपेशियों का विकास करने में मदद करते हैं। इसके अलावा यह आपके शरीर को उचित आकार देते हैं। इन ड्राई फ्रूट की सहायता से आप स्‍वस्‍थ्‍य वजन प्राप्‍त कर सकते हैं और अपनी बॉडी को फिट रख सकते हैं।

(और पढ़े – जल्दी वजन बढ़ाने के घरेलू उपाय और मोटा होने के तरीके…)

ड्राई फ्रूट के लाभ कैंसर की रोकथाम करे – Dry Fruits Benefits For Prevent Cancer in Hindi

ड्राई फ्रूट के लाभ कैंसर की रोकथाम करे - Dry Fruits Benefits For Prevent Cancer in Hindi

कई प्रकार के कैंसर का इलाज शायद संभव नहीं है लेकिन ड्राई फ्रूट का उपभोग कर इसकी रोकथाम की जा सकती है। इसके लिए बादाम बहुत ही फायदेमंद होता है। शुष्‍क फलों में आपके शरीर के लिए आवश्‍यक सभी पोषक तत्‍व होते हैं। लेकिन बादाम विशेष रूप से कैंसर का उपचार करने में सहायक होता है। बादाम और काजू में मौजूद पोषक तत्‍व स्‍तन कैंसर के विकास को रोकने में सहायक होते हैं। बादाम नई रक्‍त कोशिकाओं के साथ ही हीमोग्‍लोबिन के उत्पादन में सहायक होता है। एक अध्‍ययन से पता चलता है कि बादाम में ऐसे पदार्थ होते हैं जो कैंसर के विकास को रोकने और कैंसर की रोकथाम करने में सहायक होते हैं।

(और पढ़े – कैंसर क्या है कारण लक्षण और बचाव के उपाय…)

ड्राई फ्रूट्स कब्‍ज के लिए फायदेमंद – Dry Fruits Benefits For Constipation in Hindi

ड्राई फ्रूट्स कब्‍ज के लिए फायदेमंद - Dry Fruits Benefits For Constipation in Hindi

सूखे फल और यहां तक की ताजे फलों का सेवन आपके पेट के स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देते हैं। यह आपके मल त्‍याग प्रक्रिया को सुचारू और स्‍वस्‍थ्‍य बनाये रखने में सहायक होते हैं। कुछ अध्‍ययनों से पता चलता है कि सूखे फल पाचन तंत्र को नियंत्रित करने में प्रभावी योगदान देते हैं। इसलिए ये कब्‍ज की समस्‍या को भी नियंत्रित कर सकते हैं। कब्‍ज का उपचार करने वाले ड्राई फ्रूट्स में अंजीर, सूखे खुबानी आदि आते हैं जो मल त्‍याग को प्रोत्‍साहित करने में सहायक होते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि सभी ड्राइफ फूड्स में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। पिस्‍ता जैसे सूखे मेवे आंत्र प्रणाली की लचीलापन बढ़ाने के लिए भी फायदेमंद होते हैं। इस तरह से अपने नियमित आहार में ड्राई फ्रूट को शामिल कर आप कब्‍ज की समस्‍या से राहत पा सकते हैं।

(और पढ़े – कब्ज के लिए उच्च फाइबर फल और खाद्य पदार्थ…)

ड्राई फ्रूट्स खाने का सही समय – Dry fruits khane ka sahi samay in Hindi

ड्राई फ्रूट कब खाना चाहिए ये ऐसा सवाल है जिसका जबाव बढ़ा ही आसान है आप किसी भी समय अपनी हल्‍की भूख को शांत करने के लिए ड्राई फ्रूट का सेवन कर सकते हैं। लेकिन सबसे अच्‍छा समय सुबह का होता है। ड्राई फ्रूट के अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए इन्‍हें सुबह के समय खाना चाहिए। आप इन्‍हें रात में पानी में भिगों कर सुबह इस्‍तेमाल कर सकते हैं, या फिर इन्‍हें सूखे भी खा सकते हैं। लेकिन इन्‍हें बहुत ही कम मात्रा में सेवन करना चाहिए। क्‍योंकि ताजा फलों की अपेक्षा इनमें कैलोरी बहुत अधिक होती है।

दुनिया भर में उपयोग किये जाने वाले ड्राई फ्रूट में से लगभग आधे लाभ किशमिश में होते हैं इसके बाद खजूर, सूखे आलूबुखारा, अंजीर, खुबानी और आड़ू (peaches) में। इस तरह से आप अन्‍य सभी ड्राई फ्रूट को अपने दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़े – जानें फल खाने का सही समय क्या है…)

ड्राई फ्रूट्स खाने के नुकसान- Dry Fruits Ke Nuksan in Hindi

ड्राई फ्रूट्स खाने के नुकसान- Dry Fruits Ke Nuksan in Hindi

यह जरूरी नहीं है कि ड्राई फ्रूट हमेशा फायदेमंद हों। यह इनके सेवन करने की मात्रा और सेवन करने वाले की क्षमता पर भी निर्भर करता है। आइये जाने कुछ ड्राई फ्रूट से होने वाले नुकसानों के बारे में।

बादाम : बादाम पूर्ण रूप से प्राकृतिक पोषक तत्‍वों से भरा हुआ है जिसके कोई दुष्‍प्रभाव नहीं होते हैं। लेकिन 1 दिन में यदि 12-14 से अधिक बादाम का सेवन किया जाता है तो यह आपके पेट की परेशानियों को बढ़ा सकता है।

काजू : यह एक प्राकृतिक भोजन है जिसके कोई विशेष दुष्‍प्रभाव नहीं हैं। लेकिन मधुमेह रोगी को इनका अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लेना आवश्‍यक है।

किशमिश : यह एक प्राकृतिक शुष्‍क फल है। लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन मधुमेह रोगी के लिए हानिकारक हो सकता है। इससे रक्‍त शर्करा के स्‍तर को बढ़ाने की संभावना अधिक होती है। इसका सेवन करने से पहले रोगी को डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए।

खजूर : अधिक मात्रा में खजूर का सेवन आपके शरीर में रक्‍त शर्करा को बढ़ा सकता है। इसलिए इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए।

अखरोट : इसमें फाइबर की अधिक मात्रा होती है। इस कारण आवश्‍यकता से अधिक मात्रा में सेवन करने पर यह पेट से जुडी समस्‍याएं जैसे अपचन, दस्‍त, पेट की गैस आदि समस्‍याओं को बढ़ा सकता है।

खुबानी : गर्भवती और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं को खुबानी का सेवन करने से बचना चाहिए। क्‍योंकि वे रक्‍त शर्करा के स्‍तर में बाधा पहुंचा सकते हैं। साथ ही रक्‍तचाप को बहुत अधिक कम कर सकते हैं।

(और पढ़े – मधुमेह को कम करने वाले आहार…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration