रजोनिवृत्ति के कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय – Menopause Causes, symptoms and  Home remedies in Hindi

रजोनिवृत्ति के कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय – Menopause Causes, symptoms and  Home remedies in Hindi
Written by Jaideep

Menopause in Hindi रजोनिवृत्ति ( मासिक धर्म का बंद होना ) तब होता है जब एक महिला को लगातार 12 महीनों में मासिक धर्म नहीं आता है और वे स्‍वाभाविक रूप से गर्भवती नहीं हो सकती है। यह आमतौर पर 45 से 55 वर्ष की आयु के बीच शुरु होता है, लेकिन मेनोपॉज इस समय सीमा के पहले या बाद में भी हो सकता है। आइऐ जानते हैं कि आखिर रजोनिवृत्ति क्‍या है, इसके लक्षण क्‍या है और इसकी रोकथाम किस प्रकार से की जा सकती है।

रजोनिवृत्ति (मीनोपॉज) के समय महिलाओं को कई असामान्‍य लक्षणों का सामना करना पड़ता है जैसे कि वजन बढ़ना और हॉट फ्लैस (hot flashes) (इस दौरान महिलाओं को बहुत ही गर्मी का एहसास होता है जो थोड़ी-थोड़ी देर में आता है और वापिस चला जाता है।)। ज्यादातर मामलों में रजोनिवृत्ति के लिए किसी भी प्रकार के चिकित्‍सकीय उपचार की आवश्‍यकता नहीं होती है।

1. रजोनिवृत्ति की उम्र – Menopause age in hindi
2. रजोनिवृत्ति (मीनोपॉज) के शुरु और खत्‍म होने का समय – Menopause start and end time in Hindi
3. प्रीमीनोपॉज और पोस्ट मीनोपॉज में अंतर – Difference in Perimenopause and Postmenopause in Hindi
4. रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के लक्षण क्‍या है – What are the symptoms of Menopause in Hindi
5. जल्दी रजोनिवृत्ति के लक्षण – Symptoms of per menopause in hindi
6. रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज)  की जटिलताएं – Complications for Menopause in Hindi
7. रजोनिवृत्ति के कारण क्‍या हैं – What are the causes for Menopause in Hindi
8. रजोनिवृत्ति का निदान कैसे करें – How is menopause diagnosed in Hindi
9. रजोनिवृत्ति (मीनोपॉज) का उपचार – Treatment for Menopause in Hindi
10. रजोनिवृत्ति के घरेलू उपाय और उपचार – Menopause Home remedies in Hindi

रजोनिवृत्ति की उम्र – Menopause age in hindi

रजोनि‍वृत्ति के लिए औसत आयु 51 वर्ष होती है। रजोनिवृत्ति प्रारंभ होने के बाद लगभग 10 वर्षो तक महिलाएं इसके लक्षणों को महसूस करती है और कुछ महिलाओं के लिए यह अवधि 12 वर्ष तक हो सकती है।

रजोनिवृत्ति (मीनोपॉज) के शुरु और खत्‍म होने का समय – Menopause start and end time in Hindi

अधिकतर महिलाओं में रजोनिवृत्ति शुरु होने के चार साल पहले से ही इसके लक्षण विकसित होने लगते हैं।

ऐसे कई कारक हैं जो यह निर्धारित करने में मदद करते हैं कि आपकी रजोनिवृत्ति कब शुरु होगी। प्रीमीनोपॉज (perimenopause) (महिलाओं में जब लगातार 1 वर्ष तक मासिक धर्म या पीरियड आना बंद हो जाए तो उसे प्रीमीनोपॉज कहते हैं।) अक्‍सर रजोनिवृत्ति के पहले होता है। प्रीमीनोपॉज एक ऐसा समय है जब आपके हार्मोन रजोनिवृत्ति की तैयारी में बदलना शरु कर देते हैं। यह कुछ महीनों से कई वर्षों तक रह सकता है। कई महिलाओं में 40 वर्ष की आयु के बाद प्रीमीनोपॉज शुरु होता है। प्रीमीनोपॉज पूरा होते ही अचानक रजोनिवृत्ति (Menopause) की शुरुआत हो जाती है।

लगभग 1 प्रतिशत महिलाएं 40 वर्ष से पहले रजोनिवृत्ति शुरु होने का अनुभव करती हैं और लगभग 5 प्रतिशत महिलाएं 40 से 45 वर्ष की आयु में इसे प्रारंभ करती हैं। इसे प्रारंभिक या समय से पहले रजोनिवृत्ति, या प्राथमि‍क डिम्‍बग्रंथि अपर्याप्‍तता (primary ovarian insufficiency) कहा जाता है।

(और पढ़े – पीरियड्स की जानकारी और अनियमित पीरियड्स के लिए योग और घरेलू उपचार…)

प्रीमीनोपॉज और पोस्ट मीनोपॉज में अंतर – Difference in Perimenopause and Postmenopause in Hindi

प्रीमेनोपोज (Per menopause) और रजोनिवृत्ति दोनों ही महिलाओं के मासिक धर्म चक्र से संबंधित स्थितियां हैं लेकिन इनमे कुछ अंतर है जो कि इस प्रकार है :

प्री मीनोपॉज (Perimenopause) :  इस स्थिति के दौरान, मासिक धर्म (Menstrual) की अवधि अनियमित हो जाती है। आपका पीरियड आने में देरी हो सकती है या आप पूरी तरह से एक या इससे अधिक महीने के लिए बिना पीरियड्स के रह सकती हैं। इस दौरान आपका मासिक धर्म भी भारी या हल्‍का (heavier or lighter) हो सकता है।

रजोनिवृत्ति (Menopause) एक ऐसी स्थिति होती है जहां महिलाओं में पूरे 1 वर्ष तक मासिक धर्म नहीं आता है।

पोस्ट मीनोपॉज (Postmenopause) : रजोनिवृत्ति के बाद पोस्ट मीनोपॉज की स्थिति कई वर्षो तक बनी रह सकती है।

(और पढ़े – पीरियड्स में पेट दर्द का घरेलू उपाय…)

रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) के लक्षण क्‍या है – What are the symptoms of Menopause in Hindi

सभी महिलाओं के लिए रजोनिवृत्ति (menopause) का अनुभव अलग-अलग होता है। रजोनिवृत्ति के अचानक होने या कम अवधि के लिए होने पर इसके लक्षण आमतौर पर गंभीर होते हैं। यह ऐसी स्थिति होती है जो अंडाशय के स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करती हैं, जैसे कैंसर, हिस्‍टरेक्‍टॉमी (cancer or hysterectomy) या कुछ जीवनशैली विकल्‍पों जैसे धूम्रपान इसकी गंभीरता और लक्षणों को बढ़ा सकता है।

मासिक धर्म परिवर्तनों के अलावा प्रीमीनोपॉज, रजोनिवृत्ति और पोस्ट मीनोपॉज (post menopause) के लक्षण आमतौर पर समान होते हैं। प्रीमीनोपॉज के सबसे प्रारंभिक लक्षण इस प्रकार हैं:

जल्दी रजोनिवृत्ति के लक्षण – Symptoms of per menopause in hindi

  • कम मासिक धर्म का हों
  • सामान्‍य रूप से अनुभव करने की तुलना में भारी या हल्‍का अनुभव करना
  • वासोमोटर के लक्षण, जैसे अधिक गर्मी का लगाना, रात में पसीना आना, और फ्लशिंग आदि
  • स्तन में कोमलता
  • सिर दर्द
  • सेक्स ड्राइव का कम होना
  • भार बढ़ना
  • विस्मृति का होना
  • मांसपेशियों के दर्द
  • मूत्र मार्ग में संक्रमण
  • बाल झड़ना या पतले होना
  • दिल की धड़कन में वृद्धि होना
  • एकाग्रता में कठिनाइयों का होना
  • प्रजनन संबंधी मुद्दे (उन महिलाओं में जो गर्भ धारण करने की कोशिश कर रहे हैं)

लगभग 75 प्रतिशत महिलाएं रजोनिवृत्ति के साथ वासोमोटर के लक्षणों का अनुभव करती हैं। रजोनिवृत्ति के अन्‍य सामान्‍य लक्षणों में शामिल हैं :

(और पढ़े – गर्भाशय की जानकारी, रोग और उपचार…)

रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज)  की जटिलताएं – Complications for Menopause in Hindi

रजोनिवृत्ति की सामान्‍य जटिलताओं में शामिल हैं :

  • वैजाइनल एट्रोफी (योनि के अस्तर का पतला होना)
  • डिस्‍पैर्यूनिया (dyspareunia,) या दर्दनाक संभोग
  • अतिसक्रीय मूत्राशय (overactive bladder)
  • दिल या रक्त वाहिका रोग
  • चयापचय मे कमी
  • पेरिओडॉंटल रोग
  • ऑस्टियोपोरोसिस या कमजोर हड्डीयां
  • मोतियाबिंद
  • मनोदशा में अचानक भावनात्‍मक परिवर्तन होना

(और पढ़े – योनि के साथ कभी नहीं करना चाहिए ये 7 चीजें…)

रजोनिवृत्ति के कारण क्‍या हैं – What are the causes for Menopause in Hindi

मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जो अंडाशय की आयु (ovaries age) और कम प्रजनन हार्मोन (less reproductive hormones) का उत्‍पादन दर्शाती है।

इस स्थिति में शरीर को निम्‍न प्रकार के परिवर्तनों से गुजरना पड़ता है:

सबसे प्रमुख परिवर्तनों में से एक सक्रिय डिम्‍बग्रंथि follicles का नुकसान है। डिम्‍बग्रंथि की रोम संरचनाएं हैं जो मासिक धर्म और प्रजनन क्षमता को बढ़ाते हुए अंडाशय की दीवार से अंडे उत्‍पन्‍न करती हैं और उन्‍हें छोड़ती हैं।

ज्‍यादातर महिलाओं को पहली बार उनकी मासिक धर्म की आवृति अलग लगती हैं, क्‍योंकि इस समय प्रवाह बहुत ज्‍यादा और लंबे समय तक रहता है। जो कि लगभग 40 वर्ष की आयु के मध्‍य होता है। 52 वर्ष की आयु तक अधिकांश महिलाएं रजोनिवृत्ति प्राप्‍त कर चुकी होती हैं।

कुछ मामलों में, रजोनिवृत्ति प्रेरित होती है, या अंडाशय और संबंधित श्रोणि संरचनाओं की चोट या सर्जिकल प्रक्रिया के द्वारा हटाने के कारण होती है।

प्रेरित रजोनिवृत्ति के सामान्‍य कारणों में शामिल हैं :

  • द्विपक्षीय डिम्‍बग्रन्थि-उच्‍छेदन (oophorectomy) या अंडाशय के शल्‍य चिकित्‍सा द्वारा हटाये जाने पर
  • डिम्‍बग्रंथि अंग काटना (ovarian ablation) या अंडाशय स्‍वास्‍थ्‍य कमजोर होना जो एस्‍ट्रोजेन रिसेप्‍टर-पॉजिटिव ट्यूमर के साथ महिलाओं में हार्मोन थेरेपी, सर्जरी या रेडियोथेरेपी तकनीकों द्वारा किया जा सकता है।
  • श्रोणि चोटें (pelvic injuries) जो अंडाशय को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाती हैं या नष्‍ट करती हैं।

(और पढ़े – योनि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी…)

रजोनिवृत्ति का निदान कैसे करें – How is menopause diagnosed in Hindi

यदि आप रजोनिवृत्ति के लक्षणों का अनुभव करते हैं तो आप अपने डॉक्‍टर से संपर्क कर सकती हैं, या आप ऐसे लक्षणों को 45 वर्ष की आयु के पहले ही अनुभव करती हैं तब भी आप अपने डॉक्‍टर से संपर्क कर सकते हैं।

रजोनिवृत्ति के निदान के लिए कोई भी परिक्षण नहीं है, लेकिन आपका डॉक्‍टर रक्‍त परिक्षण के लिए कह सकता है जो रक्‍त में उपस्थित कुछ हार्मोन के स्‍तर को माप सकता है। रजोनिवृत्ति की पुष्टि लार परिक्षण, ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) और मूत्र परिक्षण के द्वारा की जाती है लेकिन ये परिक्षण महंगे और अवश्र्व्‍सनीय होते हैं।

प्रीमनोपॉज के दौरान एफएसएच और एस्‍ट्रोजेन के स्‍तर प्रतिदिन उतार-चढ़ाव करते हैं, इसलिए अधिकांश डॉक्‍टर पिछली चिकित्‍सा और मासिक धर्म की जानकारी के आधार पर इस स्थिति का निदान करते हैं।

आपके लक्षणों और स्‍वास्‍थ्‍य के आधार पर आपका डॉक्‍टर अन्‍य अंतर्निहित स्थितियों को ठीक करने के लिए अतिरिक्‍त रक्‍त परीक्षण भी करा सकता है जो आपके लक्षणों के लिए जिम्‍मेदार हैं। रजोनिवृत्ति की पुष्टि करने में सहायता के लिए आमतौर पर उपयोग किए जाने वाले अतिरिक्‍त रक्‍त परिक्षणों में शामिल हैं :

  • थायराइड परीक्षण (thyroid function tests)
  • रक्‍त लिपिड प्रोफाइल (blood lipid profile)
  • लिवर परीक्षण (liver function tests)
  • गुर्दे का परीक्षण (kidney function tests)
  • टेस्‍टोस्‍टेरोन, प्रोजेस्‍टेरोन, प्रोलैक्टिन, एस्‍ट्राडियोल और कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन परीक्षण

(और पढ़े – ट्राइकोमोनिएसिस के कारण, लक्षण, इलाज एवं बचाव…)

रजोनिवृत्ति (मीनोपॉज) का उपचार – Treatment for Menopause in Hindi

यदि आपके लक्षण गंभीर हैं और आपके दैनिक जीवन को प्रभावित करते हैं तो आपको इसके इलाज की आवश्‍यकता है। 60 वर्ष से कम आयु की महिलाओं और जिन महिलओं में रजोनवृत्ति शुरु हुए 10 वर्षो से अधिक का समय हो गया है उन महिलाओं के लिए हार्मोन थेरेपी एक प्रभावी उपचार हो सकता है। इसके अलावा आप निम्‍न समस्‍याओं को कम कर अपने रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम या दूर कर सकते हैं।

  • गर्म चमक (hot flashes)
  • रात का पसीना (night sweats)
  • फ्लशिंग (flushing)
  • योनि एट्रोफी (vaginal atrophy)
  • आस्टियोपोरोसिस (osteoporosis)

बालों के झड़ने और योनि सूखापन जैसे अधिक विशिष्‍ट मेनोपॉज के लक्षणों के इलाज के लिए अन्‍य दवाओं का उपयोग किया जा सकता है जैसे कि :

  • कमजोर और झड़ते बालों के लिए शैम्‍पू का उपयोग करें
  • रूसी को दूर करने के लिए (केटोकोनाजोल 2 प्रतिशत और जिंक पाइरिथियोन 1 प्रतिशत ) का उपयोग किया जा सकता है।
  • चिंता अवसाद और हॉट फ्लैश को दूर करने से संबंधित दवाओं का सेवन जिसमें सेरोटोनिन रीपटेक इनहिबिटर (serotonin reuptake inhibitors) मुख्‍य रूप से शामिल हैं।
  • नोन हार्मोनल वजाइनल मॉइस्‍चराइजर और लुब्रीकेंट का उपयोग करना।
  • कम एस्‍ट्रोजेन आधारित क्रीम, रिंग और गोलियों का उपयोग कर योनि के सूखापन का उपचार किया जा सकता है।
  • अनिद्रा को दूर करने के‍ लिए नींद से संबंधित दवाओं का सेवन किया जा सकता है।
  • ऑस्टियोपोरोसिस से संबंधित समस्‍याओं के लिए कैल्शियम आधारित दवाओं का उपयोग किया जा सकता है।

(और पढ़े – गोनोरिया (सूजाक) के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव…)

रजोनिवृत्ति के घरेलू उपाय और उपचार – Menopause Home remedies in Hindi

जीवनशैली और घरेलू उपचारों का उपयोग करके मेनोपॉज के लक्षणों को कम किया जा सकता है। आइए जाने रजोनिवृत्ति के लक्षणों को दूर करने वाले घरेलू उपाय क्‍या हैं।

रजोनिवृत्ति के घरेलू उपाय है आरामदायक स्थिति में रहना – Keeping cool and staying comfortable for Menopause in Hindi

अपने शरीर की गर्मी (hot flashes) को नियंत्रित करने के लिए आप अपने कमरे को वातानुकूलित बना सकते हैं, साथ ही आपको ऐसी स्थिति में पहनने के लिए शुद्ध काटन के ढ़ीले कपड़ों का इस्‍तेमाल करना चाहिए। आप रात के पसीने की संभावनाओं को दूर करने के लिए कंबल या मोटे चादरों का उपयोग नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से आप अपने शरीर मे अचानक से बढ़ने वाली गर्मी को नियंत्रित कर सकती हैं।

(और पढ़े –गर्मी से बचने के आसान उपाय…)

रजोनिवृत्ति के प्रभाव को कम करे नियमित व्‍यायाम – Exercising for Menopause in Hindi

आप अपने वजन को कम करके भी मेनोपॉज के लक्षणों को कम कर सकती हैं। इसके लिए आप ज्‍यादा कैलोरी वाले भोजन को खाने से बचे और साथ ही साथ नियमित रूप से प्रतिदिन 30 मिनिट तक व्‍यायाम करें। ऐसा करने से आपको निम्‍न लक्षणों को दूर करने में मदद मिल सकती है :

  • ऊर्जा में वृद्धि
  • अच्‍छी नींद को बढ़ावा
  • मनोदशा में सुधार
  • आपके शरीर के संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा

(और पढ़े – स्‍ट्रेचिंग एक्‍सरसाइज, आखिर क्यों जरूरी है स्ट्रेचिंग…)

रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करने वाले पूरक आहार – Supplementing your diet for Menopause in Hindi

रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करने वाले पूरक आहार - Supplementing your diet for Menopause in Hindi

ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम करने, अपनी ऊर्जा शक्ति को बढ़ाने और अपनी अनिंद्रा को दूर करने के लिए आप कैल्शियम, विटामिन डी और मैग्‍नीशियम आदि को अपने आहार मे पूरक की तरह उपयोग कर सकते हैं। पूरक आहार के बारे मे आप अपने डॉक्‍टर से जानकारी ले सकते हैं जो आपकी व्‍यक्तिगत स्‍वास्‍थ्‍य आवश्‍यक्‍ताओं की पूर्ति करने में आपकी मदद करते हैं।

(और पढ़े – एंटीऑक्सीडेंट युक्त खाद्य पदार्थ और उनके फायदे…)

मेनोपॉज के लक्षण कम करने के लिए तनाव से बचे – Communicating your needs for Menopause in Hindi

आप अपने शा‍रीरिक और मानसिक परिवर्तनों जैसे अवसाद, चिंता, तनाव, और अनिंद्रा आदि परेशानियों के बारे में अपने डॉक्‍टर या मनोवैज्ञानिक से बात कर सकती हैं।

आपको चिंता या आपकी मनोस्थिति में होने वाले परिवर्तनों के बारे में अपने परिवार के सदस्‍यों, दोस्‍तों या प्रीयजनों से बात करनी चाहिए जिससे कि वे आपकी परेशानियों को दूर करने में आपकी मदद कर सकें।

(और पढ़े – मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय…)

मेनोपॉज के लक्षणों को कम करने के लिए योग – Yoga for Menopause in Hindi

मेनोपॉज के लक्षणों को कम करने के लिए योग – Yoga for Menopause in Hindi

योग तकनीक का उपयोग कर आप रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम कर अपनी परेशानियों को दूर कर सकते हैं। इसके लिए आप योग अभ्‍यास कर सकते हैं, स्‍वशन संबंधि अभ्‍यास जिनमें सांस लेना और सांस छोडना जैसी क्रिया शामिल होती हैं, या फिर ध्‍यान मुद्रा का उपयोग कर सकते हैं जो आपके मन को शांत और स्थिर बनाने में मदद करता है और मेनोपॉज के लक्षणों को भी कम करने में मदद करता है।

(और पढ़े – योग के द्वारा वजन बढ़ाने के तरीके…)

रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करे त्‍वचा देखभाल से – Taking Care of your skin for Menopause in Hindi

रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करे त्‍वचा देखभाल से – Taking Care of your skin for Menopause in Hindi

आप अपनी त्‍वचा के सूखेपन को दूर करने के लिए नियमित रूप से मॉइस्‍चराइजर का उपयोग कर सकती हैं। रजोनिवृत्ति के लक्षणों वाली महिलाओं को अधिक स्‍नान और तैराकी से बचना चाहिए क्‍योंकि यह उनके त्‍वचा के सूखापन को और अधिक बढ़ा सकता है।

(और पढ़े – त्‍वचा में निखार के लिए सल्‍फर युक्‍त भोजन…)

मेनोपॉज से बचने के लिए अच्‍छी नींद ले – Managing Sleeping issues for Menopause in Hindi

मेनोपॉज से बचने के लिए अच्‍छी नींद ले – Managing Sleeping issues for Menopause in Hindi

यदि आप अनिंद्रा से परेशान हैं तो यह आपके रजोनिवृत्ति के लक्षणों को बढ़ा सकता है। आप अपनी अनिंद्रा को दूर करने के लिए ओटीसी नींद की दवाओं का उपयोग करे या अपने डॉक्‍टर से प्राकृतिक नींद उपचार की जानकारी लें। अगर आपको नियमित रूप से सोने में परेशानी होती है तो अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें ताकि वे आपकी अच्‍छी नींद को प्रबंधित करने में आपकी मदद कर सकें और आप आराम से नींद ले सकें।

(और पढ़े – अनिद्रा के कारण, लक्षण और उपचार…)

मेनापॉज के लिए हानिकारक है धूम्रपान और शराब – Quitting smoking and alcohol for Menopause in Hindi

मेनापॉज के लिए हानिकारक है धूम्रपान और शराब - Quitting smoking and alcohol for Menopause in Hindi

ऐसी महिलाएं जो रजोनिवृत्ति के लक्षणों से परेशान हैं उन्‍हें धूम्रपान से बचना चाहिए साथ ही उन्‍हें ऐस स्‍थान से बचना चाहिए जहां धूम्रपान से संबंधित धुआं होता है। सिगरेट का धुआं आपके लक्षणों को और अधिक बढ़ा सकता है। इसी प्रकार ऐसी म‍हिलाओं को शराब के सेवन को सीमित करना चाहिए या बिल्‍कुल भी नहीं करना चाहिए। रजोनिवृत्ति के समय ज्‍यादा मात्रा में पानी का सेवन करने से स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याएं बढ़ सकती हैं।

(और पढ़े – स्मोकिंग की आदत कैसे लगती है, इसके नुकसान और छोड़ने के तरीके…)

रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करने वाले खाद्य पदार्थ – Other remedies for Menopause in Hindi

रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करने वाले खाद्य पदार्थ - Other remedies for Menopause in Hindi

कुछ सीमित अध्‍ययनों ने एस्‍ट्रोजेन की कमी के कारण रजोनिवृत्ति के लक्षणों के लिए हर्बल उपायों के उपयोग की सलाह देते हैं। प्राकृतिक खुराक और पोषक तत्‍व जो रजोनिवृत्ति के लक्षणों को सीमित करने में मदद कर सकते हैं उनमें शामिल हैं :

ऐसे दावे भी हैं कि ओमेगा -3 फैटी एसिड रजोनिवृत्ति से जुड़े वासोमोटर के लक्षणों में सुधार कर सकते हैं।

लेकिन इन दावों के समर्थन के बहुत ही कम सबूत मिले हैं।

(और पढ़े – ओमेगा 3 फैटी एसिड के फायदे और स्वास्थ्य लाभ…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration