मानसिक व्यग्रता (चिंता) – Anxiety in Hindi

मानसिक व्यग्रता (चिंता) - Anxiety in Hindi
Written by Rajat

Anxiety disorders in hindi व्याकुलता विकार मानसिक व्यग्रता के नाम से भी जाना जाता है, जो की मानसिक बीमारियों से सम्बंधित होती है इसमें बहुत ज़्यादा डर और बैचैनी की स्थिति होती है। ये अचानक ही आती हैं परंतु अधिकांशत: किसी परिस्थिति के कारण या कुछ होने वाला है यह सोचने के कारण आती है। जो लोग एनज़ाइटी (Anxiety) से ग्रस्त होते हैं उन्हें, निरंतर चिंता और भय रहता है जिससे उसे सामान्य जीवन व्यतीत करने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है इसको हम कई नाम से जानते है जैसे चिंता, उत्कंठा, घबराहट, उत्सुकता, व्याकुलता, मानसिक व्यग्रता आदि।

मानसिक व्यग्रता के लक्षण Anxiety symptoms in Hindi

व्यग्रता विकार के प्रकार के आधार पर लक्षण अलग-अलग होते हैं, लेकिन सामान्य लक्षणों में

  • घबराहट, भय और असहजता की अनुभूति।
  • कष्ट और आघात के अनुभवों के विचार या पिछली यादें बार-बार आना।
  • नींद में बुरे सपने और नींद सम्बंधित समस्याएँ।
  • साँस लेने में कठिनाई
  • ठन्डे पसीना युक्त हाथ और/या पैर।
  • कमजोरी और सुस्ती।
  • पेल्पिटेशंस (तेज अथवा अनियमित हृदयगति)।
  • स्थिर और शांत रहने में असमर्थता।
  • मुँह सूखना।
  • हाथों या पैरों में झुनझुनी या सनसनाहट होना।
  • मतली। उल्टी और मतली को रोकने के उपाय
  • मांसपेशियों में तनाव।
  • चक्कर आना।

मानसिक व्यग्रता के कारण Anxiety causes in Hindi

मानसिक विकारों  से कारको की तरह इसमें भी खुछ चीजे समान होती है क्योकि अभी तक एनज़ाइटी के कारण का पता नहीं लगाया जा सका है फिर भी कुछ एसे कारण है जिनका संबंध मानसिक व्यग्रता से होता है

  • जैविक (आनुवंशिकता)।
  • तनाव मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय
  • घटनाओं से आघात जैसे कि दुर्व्यवहार, शोषण, या किसी प्रिय व्यक्ति की मृत्यु।
  • व्यक्तिगत संबंधों, विवाह, मित्रता में तनाव या तलाक।
  • कार्य के समय तनाव।
  • विद्यालय से तनाव।
  • वित्त अथवा धन सम्बन्धी तनाव।
  • प्राकृतिक आपदा से तनाव।
  • चिकित्सीय कारण।
  • किसी गंभीर बीमारी का तनाव।
  • दवाओं के दुष्प्रभाव।
  • बीमारी के लक्षण।

मानसिक व्यग्रता से बचाव के उपाय –Prevention of Anxiety in Hindi

चिंता विकार से बचने के लिए निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं –

अपने अन्दर की नकारात्मकता को ख़त्म करें

सकारात्मक रहना जीवन जीने का एक अच्छा तरीका है, परंतु आपको आने वाली नकारात्मक परिस्थितियों के लिए भी तैयार रहना चाहिए। अपने अन्दर के नकारात्मक विचारो को बाहर निकालें इसका यह अर्थ नहीं की आप हमेशा चिंताओं से घिरे रहें। इसे इस प्रकार स्वीकार करें कि यह एक गलत निर्णय का परिणाम है। और पढ़े – नकारात्‍मक विचारों से मुक्ति पाने के उपाय

अपने खाने पर ध्यान दे

अच्छा और स्वस्थ आहार आपको नई उर्जा और सकती देता है अपने आहार में फल और सब्जियों को सामिल करें नाश्ता पोषक और भारी होना चाहिए। भोजन के बीच में थोडा थोडा खाते रहें। इससे रक्त में ग्लूकोज़ की मात्रा स्थिर रहती है और आपका मूड अच्छा रहता है। चिकना, मीठा, उच्च वसा, संसाधित खाद्य पदार्थों के सेवन से दूर रहें

तनाव के स्तर को कम करें

चिंता इंसान को अन्दर से कमजोर बना देती है इसलिए आपको अपने तनाव को कम करना चाहिए इसके लिए आप बहर जांयें व्यायाम करें अच्छी नींद लें, कम के बीच में ब्रैक ले और आराम के तरीको को खोजें आप उन चीजों को करें जो आपको पसंद हो|

बुरी लत को छोड़ें

किसी भी प्रकार की लत का शिकार होना (ऐसी कोई चीज़ जिसके बिना आप नहीं रह सकते), इसके कारण मानसिक व्यग्रता की आशंका बढ़ जाती है। अत: आपको शराब, तंबाकू, सिगरेट और निकोटिन का उपयोग कम करना चाहिए।

योग को अपने दैनिक जीवन में सामिल करें

नियमित योगाभ्यास आपको शांत एवं निश्चिंत रहने में मदद कर सकता है।नियमित योगाभ्यास आपको शांत एवं निश्चिंत रहने में मदद कर सकता है और साथ ही अविचलित हुए समस्याओं का सामना करने की शक्ति प्रदान करता है। योगाभ्यास आदर्श रूप से योगासन, प्राणायाम (Pranayama), ध्यान, एवं प्राचीन योग विज्ञान का संपूर्ण समन्वय है और इन सभी से कई चिंता ग्रसित व्यक्तियों को पुनः स्वस्थ करने के साथ साथ जीवन को फिर से सकारात्मक रूप से जीने की क्षमता प्रदान की जा चुकी हैl

घर से बाहर जाएँ

जब आप बाहर जायेगे तो आपको वहां बहुत कुछ देखने को मिलेगा आपको यह सलाह दी जाती है कि आप अपने दैनिक कार्यों से कुछ समय निकालकर अपने चारों ओर की नकारात्मक बातें देखें। यह इसलिए क्योंकि यह स्वीकार करना कि क्या नकारात्मक है, आपको नकारात्मक चीज़ों से दूर करने में सहायक होता है। इसे अनदेखा न करें। इससे आपको चिंता को कम करने में मदद मिलेगी

मानसिक व्यग्रता से बचने के लिए इन चीजो को खाना चाहिए Treating anxiety disorder with these foods

वैज्ञानिकों ने भोजन और हमारे मस्तिष्क के बीच संबंध को पहचानना शुरू कर दिया है। इन पोषक तत्वों भावनाओं को शांत करने के लिए खाएं जो चिंता को दूर रखती हैं।

  1. ओमेगा 3 फैटी एसिड युक्त खाद्य पदार्थ ये आपके मस्तिष्क को खुश रखने में मदद करता है
  2. प्रोबायोटिक वाले खाद्य पदार्थ प्रोबायोटिक पेट के लिए अच्छे होते है
  3. खूब सारा पानी जादा पानी पीने से आपका मन शांत रहेगा और ब्लड सर्कुलेसन सही बना रहेगा
  4. एंटीऑक्सीडेंट युक्त खाद्य पदार्थ। एंटीऑक्सिडेंट superfoods हैं जो तनाव को कम करने में मदद करता है मैग्नीशियम वाले खाद्य पदार्थ।
  5. मैग्नीशियम युक्त पदार्थ। अनुसंधान में पाया गया है कि मैग्नीशियम भी मनुष्यों में मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज कर सकता है
  6. गाजर, मीठे आलू, स्क्वैश, पालक और काले जैसे बीटा कैरोटीन में समृद्ध आहार, खट्टे फल, लाल मिर्च, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, ब्रोकोली और स्ट्रॉबेरी जैसे विटामिन बी, सी और विटामिन ई जैसे बादाम, avocado, पालक, सूरजमुखी के बीज, मानसिक व्यग्रता को कम करने के लिए आवश्यक हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration