अचार खाने के फायदे और नुकसान – Pickle Benefits And Side Effects in Hindi

अचार खाने के फायदे और नुकसान - Achar Khane Ke Fayde Aur Nuksan
Written by Jaideep

Achar Khane Ke Fayde Aur Nuksan भारतीय आहार में अचार का अपना एक विशेष स्‍थान है। लेकिन क्‍या आप अचार खाने के फायदे और नुकसान जानते हैं। भोजन के साथ अचार का उपयोग न केवल स्‍वाद के लिए किया जाता है बल्कि यह विभिन्‍न प्रकार के स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी लाभ दिलाने में मदद करता है। हालांकि अचार कई प्रकार के होते हैं। जिन्‍हें अ‍लग अलग विधियों द्वारा तैयार किया जाता है। लेकिन इन अचार बनाने के लिए उपयोग किये जाने वाले मसाले और अन्‍य जड़ी बूटीयां हमारे लिए फायदेमंद होती हैं। अचार खाने के फायदे मधुमेह नियंत्रण, बेहतर पाचन, यकृत स्‍वास्‍थ्‍य, प्रोबायोटिक की आपूर्ति और अल्‍सर जैसी समस्‍याओं को ठीक करने के लिए जाने जाते हैं। इस लेख में आप अचार खाने के फायदे और नुकसान के बारे में जानेंगे, जिन्‍हें बहुत ही कम लोग जानते हैं।

1. अचार के पोषक तत्‍व – Nutrients of Pickle in Hindi
2. अचार खाने के फायदे – Achar Khane Ke Fayde In Hindi

3. अचार खाने के नुकसान – Achar Khane Ke Nuksan in Hindi

अचार के पोषक तत्‍व – Nutrients of Pickle in Hindi

विशेषज्ञों के अनुसार अचार में ऊर्जा, प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, आहार फाइबर और शर्करा आदि की अच्‍छी मात्रा होती है। इसके अलावा अचार में मिलाए जाने वाले अन्‍य पदार्थों के कारण खनिज पदार्थ जैसे कि आयरन, मैग्‍नीशियम, फॉस्‍फोरस, पोटेशियम और सोडियम आदि भी होते हैं। आइए जाने अचार का सेवन किस प्रकार हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है।

अचार खाने के फायदे – Achar Khane Ke Fayde In Hindi

  1. अचार के फायदे वजन कम करने में – Achar Khane Ke Fayde for Weight Loss in Hindi
  2. अचार खाने के फायदे पाचन के लिए – Pickle Benefits For Digestion in Hindi
  3. अचार खाने के लाभ डायबिटीज के लिए – Achar Khane Ke Labh Shugar Me in Hindi
  4. अचार का सेवन लीवर को स्वस्थ रखे – Pickle Benefits For Healthy Liver in Hindi
  5. अचार का इस्‍तेमाल अल्‍सर को ठीक करे – Pickle Use For Ulcers in Hindi
  6. अचार खाने के लाभ गर्भावस्‍था में – Benefits Of Eating Pickle During Pregnancy in Hindi
  7. अचार के औषधीय गुण प्रतिरक्षा बढ़ाएं – Pickle Benefits For Boost Immunity in Hindi
  8. अचार का उपयोग मसल्‍स पेन का इलाज करे – Pickle For Relieve Muscle Cramps in Hindi
  9. अचार के फायदे तनाव को कम करे – Pickles Benefits for Relieve Stress in Hindi
  10. अचार खाने से फायदा कब्‍ज को दूर – Pickles remove constipation in Hindi

अचार के फायदे वजन कम करने में – Achar Khane Ke Fayde for Weight Loss in Hindi

अचार के फायदे वजन कम करने में - Achar Khane Ke Fayde for Weight Loss in Hindi

यदि आप अपने बढ़ते वजन को नियंत्रित करना चाहते हैं तो अचार का नियमित सेवन करें। अचार के फायदे वजन को कम करने में सहायक होते हैं। इसके साथ ही आप अचार के माध्‍यम से शरीर के लिए अन्‍य कई प्रकार के फलों का सेवन कर सकते हैं जिनसे अचार बनाया जाता है। उदाहरण के लिए आम, ककड़ी, आंवला, नींबू, शिमला मिर्च आदि से बने अचार का सेवन कर सकते हैं। इन सभी खाद्य पदार्थों में फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है जो आपके पाचन को तेज करते हैं साथ ही अपके वजन को नियंत्रित करने में भी सहायक होते हैं।

(और पढ़े – वजन कम करने के लिए नाश्ते में क्या खाएं…)

अचार खाने के फायदे पाचन के लिए – Pickle Benefits For Digestion in Hindi

अचार खाने के फायदे पाचन के लिए - Pickle Benefits For Digestion in Hindi

जिन लोगों को पाचन संबंधी समस्‍याएं होती हैं उनके लिए अचार का सेवन लाभदायक होता है। नियमित रूप से अचार का सेवन पाचन समस्‍याओं को रोकने में मदद करता है। अचार में प्रोबायोटिक जीवाणु होते हैं जो हमारे शरीर में अच्‍छे बैक्‍टीरिया के लिए अच्‍छे होते हैं। प्रोबायोटिक हमारे अच्‍छे पाचन में मदद करने के साथ ही हानीकारक जीवाणुओं को नष्‍ट करने में मदद करते हैं। बिना सिरका का उपयोग किये बनाए गए अचार का सेवन प्रोबायोटिक वृद्धि में मदद करते हैं। इस तरह से आप अपने शरीर प्रोबायोटिक के स्‍तर को बढ़ाने के लिए अचार का सेवन कर सकते हैं। पाचन संबंधी समस्‍याओं के लक्षणों में कमी लाने के लिए अचार बेहद प्रभावी माना जाता है।

(और पढ़े – मानव पाचन तंत्र कैसा होता है, और कैसे इसे मजबूत बनायें…)

अचार खाने के लाभ डायबिटीज के लिए – Achar Khane Ke Labh Shugar Me in Hindi

अचार खाने के लाभ डायबिटीज के लिए - Achar Khane Ke Labh Shugar Me in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि सिरका की मदद से बनाए गए अचार का सेवन मधुमेह रोगी के लिए फायदेमंद होता है। यह अचार रोगी में हीमोग्लोबिन के स्‍तर में सुधार करता है जिससे रक्‍त शर्करा के स्‍तर को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। सिरका में उपस्थित एसिटिक एसिड को इस लाभ का जिम्‍मेदार माना जाता है। हालांकि मधुमेह रोगी को अचार सेवन करते समय सावधानी रखना चाहिए। क्‍योंकि अचार में अक्‍सर नमक की मात्रा बहुत अधिक होती है। अत: मधुमेह रोगी को बहुत ही नियंत्रित मात्रा में अचार का सेवन करना चाहिए।

(और पढ़े – मधुमेह को कम करने वाले आहार…)

अचार का सेवन लीवर को स्वस्थ रखे – Pickle Benefits For Healthy Liver in Hindi

अचार का सेवन लीवर को स्वस्थ रखे - Pickle Benefits For Healthy Liver in Hindi

भारत में कई प्रकार के अचारों का सेवन किया जाता है। जिनके अलग अलग गुण होते हैं जो मानव स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। इसी तरह से आंवले का अचार भी लाभकारी होता है। पाचन तंत्र के लिए अच्‍छा होने के साथ ही आंवले के अचार लीवर को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में मदद करता है। आंवले के अचार में हेपेट्रोप्रोटेक्‍टीव गुण भी होते हैं। अध्‍ययनों से पता चलता है कि यकृत के क्षतिग्रसत होने के दौरान आंवले का अचार खाना फायदेमंद होता है। इस तरह से आप भी अपने यकृत को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए आंवले के अचार को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़े – लीवर को साफ करने के लिए खाएं ये चीजें…)

अचार का इस्‍तेमाल अल्‍सर को ठीक करे – Pickle Use For Ulcers in Hindi

अचार का इस्‍तेमाल अल्‍सर को ठीक करे - Pickle Use For Ulcers in Hindi

पेट में होने वाले अल्‍सर बहुत ही कष्‍टदायक और गंभीर हो सकते हैं। लेकिन यदि नियमित रूप से अचार का सेवन किया जाए तो अल्‍सर के लक्षणों को कुछ हद तक कम किया जा सकता है। अचार खाने के फायदे अल्‍सर को ठीक करने में मदद करते हैं। श्‍लेष्‍म झिल्‍ली और ऊतकों पर एसिड की प्रतिक्रिया के फलस्‍वरूप आंतरिक घाव हो जाते हैं जिन्‍हें अल्‍सर कहा जाता है। इस दौरान आंवले का अचार खाना आपको राहत दिला सकता है। यदि आप भी इसी तरह की समस्‍या से ग्रसित हैं तो आंवले के अचार के लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – पेप्टिक अल्सर या पेट में अल्सर (छाले) क्या है, कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार…)

अचार खाने के लाभ गर्भावस्‍था में – Benefits Of Eating Pickle During Pregnancy in Hindi

अचार खाने के लाभ गर्भावस्‍था में - Benefits Of Eating Pickle During Pregnancy in Hindi

महिलाओं के लिए गर्भावस्‍था एक विशेष स्थिति है जब उन्‍हें पर्याप्‍त पोषण और आराम की आवश्‍यकता होती है। गर्भवती महिलाओं के लिए अचार का सेवन अच्‍छा होता है। गर्भावस्‍था के प्रथम तिमाही के दौरान उल्‍टी और मतली होना एक आम बात है। लेकिन इस समस्‍या से निपटने के लिए अचार का उपयोग किया जा सकता है। शायद इसी लिए गभ्रावस्‍था के दौरान महिलाओं को खट्टे आहार बहुत पसंद आते हैं। अचार का नियमित सेवन महिलाओं को सुबह की बीमारी (Morning sickness) से छुटकारा दिला सकता है। यह भूख को बढ़ाने में भी मदद करता है। इस प्रकार गर्भवती महिलाएं अचार का सेवन कर लाभ प्राप्‍त कर सकती हैं।

(और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान खाये जाने वाले आहार और उनके फायदे…)

अचार के औषधीय गुण प्रतिरक्षा बढ़ाएं – Pickle Benefits For Boost Immunity in Hindi

अचार के औषधीय गुण प्रतिरक्षा बढ़ाएं - Pickle Benefits For Boost Immunity in Hindi

कुछ विशेष प्रकार के अचार जैसे कि सुगुकी या जापानी टर्निप (Suguki or Japanese Turnip) अचार आदि प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करते हैं। इन अचारों का नियमित सेवन करने से शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले हानिकारक जीवाणुओं के प्रसार को रोका जा सकता है। क्‍योंकि अचार में बहुत ही शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट मौजूद होते हैं। ये एंटीऑक्‍सीडेंट फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव को कम करने में मदद करते हैं। अध्‍ययनों से पता चलता है कि कुछ विशेष प्रकार के अचारों का सेवन कैंसर कोशिकाओं को नष्‍ट करने में सहायक होते हैं। इस तरह से मानव प्रतिरक्षा तंत्र के लिए अचार फायदेमंद होते हैं।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

अचार का उपयोग मसल्‍स पेन का इलाज करे – Pickle For Relieve Muscle Cramps in Hindi

अचार का उपयोग मसल्‍स पेन का इलाज करे - Pickle For Relieve Muscle Cramps in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि मांसपेशीयों की ऐंठन को दूर करने में अचार की विशेष भूमिका होती है। एथलीटों में ऐंठन और अभ्‍यास के दौरान दर्द एक आम समस्‍या है जिसे रोकने के लिए अभ्‍यास पूर्व अचार का सेवन किया जाता है। अचार में कैल्शियम क्‍लोराइड और पोटेशियम (calcium chloride and potassium) की प्रचुर मात्रा होती है। यही कारण है मांसपेशीय दर्द और ऐंठन को ठीक करने के लिए अचार का व्‍यापक उपभोग किया जाता है। आप भी अपनी मांसपेशीय जकड़न और दर्द का उपचार के लिए अचार का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़े – मांसपेशियों में खिंचाव (दर्द) के कारण और उपचार…)

अचार के फायदे तनाव को कम करे – Pickles Benefits for Relieve Stress in Hindi

अचार के फायदे तनाव को कम करे - Pickles Benefits for Relieve Stress in Hindi

आप अपने मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के लिए नियमित रूप से अचार का सेवन करें। क्‍योंकि अचार खाने के फायदे तनाव को कम करने में मदद करते हैं। हमारे पेट और मस्तिष्‍क का सीधा संबंध होता है। मानसिक तनाव की स्थिति में इसका प्रभाव हमारे पेट और पाचन तंत्र पर भी पड़ता है जिससे अपच, उल्‍टी और मतली आदि की समस्‍या हो सकती है। लेकिन आप इन सभी प्रकार की समस्‍याओं से निपटने के लिए अपने आहार में अचार को शामिल कर लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

(और पढ़े – मानसिक तनाव दूर करने के घरेलू उपाय…)

अचार खाने से फायदा कब्‍ज को दूर – Pickles remove constipation in Hindi

अचार खाने से फायदा कब्‍ज को दूर - Pickles remove constipation in Hindi

फाइबर की उच्‍च मात्रा होने के कारण अचार का सेवन शरीर में पानी की कम नहीं होने देता है। साथ ही यह पाचन तंत्र को मजबूत कर कब्‍ज की समस्‍या का प्रभावी इलाज करने में मदद करता है। अचार का सेवन करने से शरीर में प्रोबायोटिक के स्‍तर में वृद्धि होती है जिससे आंतों के कार्य और स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा मिलता है। नियमित रूप से अचार का सेवन मल त्‍याग (Bowel movement) को आसान बनाता है। इस तरह से आप अचार का सेवन कर कब्‍ज का उपचार कर सकते हैं।

(और पढ़े – कब्ज के लिए उच्च फाइबर फल और खाद्य पदार्थ…)

अचार खाने के नुकसान – Achar Khane Ke Nuksan in Hindi

अचार खाने के नुकसान - Achar Khane Ke Nuksan in Hindi

सामान्‍य रूप से देखा जाए तो अचार खाना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन यदि आवश्‍यकता से अधिक इसका सेवन किया जाता है तो इसके कुछ दुष्‍प्रभाव भी हो सकते हैं।

  • अधिक मात्रा में अचार का सेवन एसोफेजेल कैंसर और गैस्ट्रिक कैंसर के लक्षणों को बढ़ा सकता है।
  • अचार में बहुत से उत्‍तेजक मसालों और नमक का अधिक मात्रा में उपयोग किया जाता है। जिसके कारण उच्‍च रक्‍तचाप रोगी को बहुत ही कम मात्रा में अचार का सेवन करना चाहिए।
  • बाजार से खरीदे गए अचार की बजाए घर पर बनाए गए अचार का सेवन करना चाहिए। क्‍योंकि बाजार में उपलब्‍ध अचारों में रासायनिक उत्पादों को मिलाया जाता है जो आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हो सकते हैं।
  • गठिया रोगी को अचार का सेवन करने से बचना चाहिए।

(और पढ़े – गठिया (आर्थराइटिस) कारण लक्षण और वचाब…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration