रसभरी (रास्पबेरी) के फायदे और नुकसान – Raspberry Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi

रसभरी (रास्पबेरी) के फायदे और नुकसान – Raspberry Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi
Written by Jaideep

Raspberry in Hindi रसभरी जिसे हम रास्‍पबेरी के नाम से भी जानते हैं। इसे प्राकृतिक कैंडी कहा जाता है। रसभरी के फायदे विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए जाने जाते हैं। प्राचीन समय से इस औषधीय फल का उपभोग किया जा रहा है। इनका उज्‍जवल रंग, मीठा रसदार स्‍वाद और इसमें मौजूद पोषक तत्‍वों के कारण इसे दुनिया भर में पसंद किया जाता है। रास्‍पबेरी के फायदे हृदय को स्‍वस्‍थ्‍य रखने, मधुमेह को नियंत्रित करने, मोटापा कम करने, यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने, प्रतिरक्षा और आंखों के स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने आदि के लिए होते हैं। इस लेख में आप रसभरी से प्राप्‍त होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में जानेगें।

1. रास्‍पबेरी क्‍या है – What Is Raspberry in Hindi
2. रसभरी का पौधा – Raspberry plant in Hindi
3. रास्‍पबेरी के पोषक तत्‍व – Raspberry Nutrition in Hindi
4. रास्‍पबेरी के फायदे – Raspberry Benefits in Hindi

5. रसभरी के नुकसान – Raspberry Khane Ke Nuksan in Hindi

रास्‍पबेरी क्‍या है – What Is Raspberry in Hindi

रास्‍पबेरी क्‍या है - What Is Raspberry in Hindi

रसभरी गुलाब परिवार से संबंधित पौधा है जो कि बारहमासी फलदार पौधा है। यह झाड़ीनुमा पौधा माना जाता है। यह पौधा बहुत ही रसदार और स्‍वादिष्‍ट फल देता है इस कारण यह दुनिया में उपभोग करने वाले प्रमुख फलों में शामिल किया जा सकता है। रास्‍पबेरी आपके अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। आइए जाने रसभरी के पौधे के बारे में।

रसभरी का पौधा – Raspberry plant in Hindi

इस पौधे की ऊंचाई लगभग 1 मीटर से 2 मीटर तक होती है जो कि कांटेदार झाड़ी की तरह होता है। इस पौधे में अंडाकर पत्तियां होती हैं जिनका गहरा हरा रंग होता है। इसके फूल सफेद होते हैं जिनकी पुखुडियां छोटी-छोटी होती है। इसके फल छोटे जामुन की तरह होते हैं जिनका रंग लाल या पीला हो सकता है। इस पौधे के फल तो फायदेमंद होते ही हैं साथ ही इस पौधे के विभिन्‍न भाग भी हर्बल दवाओं में उपयोग किये जाते हैं। गर्मीयों के मौसम में होने वाले फलों को सुखा कर भी उपयोग किया जा सकता है। आइए जाने रसभरी फल में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व क्‍या हैं।

रास्‍पबेरी के पोषक तत्‍व – Raspberry Nutrition in Hindi

इस औषधीय फल में बहुत से पोषक तत्‍व मौजूद रहते हैं जो हमें कई प्रकार के स्वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में मदद करते हैं। 1 कप पके हुए रसभरी (लगभग 134 ग्राम) में 64 कैलोरी होती है। इसके अलावा इसमें 1.5 ग्राम प्रोटीन, 0.8 ग्राम वसा, और 15 ग्राम कार्बोहाइड्रेट (8 ग्राम फाइबर और 5 ग्राम चीनी सहित) होते हैं।

कच्‍चे रसभरी के 1 कप मात्रा का सेवन करने पर दैनिक आवश्कता का 54 प्रतिशत विटामिन सी, 12 प्रतिशत विटामिन K, फोलेट का 6 प्रतिशत, विटामिन ई का 5 प्रतिशत प्राप्‍त किया जा सकता है। खनिज पदार्थों में आयरन, पोटेशियम और मैंगनीज आदि की अच्‍छी उपस्थिति होती है। इसके अलावा इसमें थियामिन, रिबोफ्लाविन, नियासिन, पेंटोथेनिक एसिड,, विटामिन बी6, कैल्शियम, मैग्‍नीशियम, फॉस्‍फोरस, जस्‍ता और कॉपर भी कम मात्रा में होते हैं। रसभरी में एंटीऑक्‍सीडेंट अल्‍फा और बीटा कैरोटीन, ल्‍यूटिन, जेक्‍सैंथिन और कोलाइन होते हैं। इस तरह से यह हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद फल माना जाता है।

रास्‍पबेरी के फायदे – Raspberry Benefits in Hindi

  1. रसभरी के फायदे हृदय के लिए – Raspberry benefits for heart health in Hindi
  2. रास्‍पबेरी बेनिफिट्स फॉर वेट लॉस – Raspberry Benefits For Weight Loss in Hindi
  3. रसभरी के लाभ यौन स्‍वास्‍थ्‍य में – Raspberry Benefits For Sexual Health in Hindi
  4. रास्‍पबेरी फल के फायदे मधूमेह में – Benefits of raspberry for Diabetes in Hindi
  5. रसभरी फ्रूट के फायदे प्रतिरक्षा बढ़ाने में – Raspberry Fruit Benefits For Immunity in Hindi
  6. गोल्‍डन बेरीज फार आई हेल्‍थ – Golden Berries For Eye Health in Hindi
  7. रसभरी की पत्ती के फायदे महिलाओं के लिए – Raspberry Leaf Benefits For Women Health in Hindi
  8. रसभरी के गुण करें गठिया का इलाज – Raspberry Benefits For Arthritis in Hindi
  9. रसभरी फल के फायदे बालों के लिये – Raspberry Benefits For Hair in Hindi
  10. रास्पबेरी फल के फायदे याददाश्त बढ़ाएं – Rasbhari Benefits For Memory in Hindi

अपने स्‍वादिष्‍ट स्‍वाद और उपचार गुणों के कारण रसभरी सामान्‍य और गंभीर स्‍वासथ्‍य समस्‍याओं को दूर कर सकती है। इसके अलावा इस फल का उपभोग करने पर अन्‍य खाद्य पदार्थों की अपेक्षा दुष्‍प्रभाव भी बहुत ही कम होते हैं। आइए जाने रसभरी खाने के फायदे और स्‍वास्‍थ्‍य लाभ क्या हैं।

रसभरी के फायदे हृदय के लिए – Raspberry benefits for heart health in Hindi

रसभरी के फायदे हृदय के लिए - Raspberry benefits for heart health in Hindi

फाइबर की उच्‍च मात्रा होने के कारण रसभरी हमारे समग्र स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होती है। पर्याप्‍त मात्रा में इसका सेवन करने पर यह दिल को स्‍वास्‍थ्‍य बनाए रखने में मदद करती है। फाइबर के अलावा दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए इसमें एंथोकाइनिन (anthocyanins) भी होता है। एंथेकाइनिन रक्‍तवाहिकाओं और प्‍लेटलेट्स पर सकारात्‍मक प्रभाव डालते हैं। एक अध्‍ययन से पता चलता है कि नियमित रूप से रसभरी का उपभोग करने पर यह रक्‍तचाप के स्‍तर को कम करती है जो स्‍वस्‍थ्‍य दिल के लिए फायदेमंद होता है। रसभरी में मौजूद पोषक तत्‍व रक्‍तवाहिकाओं को चौड़ा करने में मदद करते हैं जिससे स्‍वतंत्र रक्‍त प्रवाह बना रहता है। यह रक्‍त वाहिकाओं में प्‍लेक के संचय को रोकता है। यह रक्‍त के थक्‍के के गठन को रोकता है। इस तरह से रसभरी आपके दिल के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है।

(और पढ़े – दिल मजबूत करने के उपाय…)

रास्‍पबेरी बेनिफिट्स फॉर वेट लॉस – Raspberry Benefits For Weight Loss in Hindi

रास्‍पबेरी बेनिफिट्स फॉर वेट लॉस - Raspberry Benefits For Weight Loss in Hindi

मोटापा आज एक बड़ी समस्‍या बन चुकी है। अधिक मोटापा आपके शरीर को गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं की तरफ लें जाता है। यदि आप मोटापा से बचना चाहते हैं या वजन कम करना चाहते हैं तो रसभरी एक अच्‍छा विकल्‍प है। रास्‍पबेरी में वसा की मात्रा बहुत ही कम होती है जबकि यह फाइबर में उच्‍च होते हैं। इसलिए इनका उपभोग करने पर यह बिना वजन बढ़ाए अतिरिक्‍त कैलोरी दिला सकता है। इनके अलावा रसभरी में पानी और पोटेशियम भी अच्‍छी मात्रा में होते हैं जो आपके शरीर को निर्जलीकरण और इससे होने वाले दुष्‍प्रभावों से बचा सकता है। इस तरह से आप अपने वजन को नियंत्रित करने के लिए रसभरी का नियमित उपभोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – वजन और मोटापा कम करने के लिए क्या खाएं क्या न खाए…)

रसभरी के लाभ यौन स्‍वास्‍थ्‍य में – Raspberry Benefits For Sexual Health in Hindi

रसभरी के लाभ यौन स्‍वास्‍थ्‍य में - Raspberry Benefits For Sexual Health in Hindiरसभरी के लाभ यौन स्‍वास्‍थ्‍य में - Raspberry Benefits For Sexual Health in Hindi

कुछ शोधों से पता चलता है कि रास्‍पबेरी यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है। रेस्‍पबेरी में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट के उच्‍च स्‍तर शुक्राणुओं को ऑक्‍सीडेटिव क्षति से बचा सकते हैं। इसके अलावा इसमें मौजदू विटामिन सी और मैग्‍नीशियम पुरुषों में टेस्‍टोस्‍टेरोन के स्‍तर को बढ़ता है जिससे प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद मिलती है। इसके अलावा यह महिलाओं की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में भी रसभरी बहुत ही फायदेमंद होती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट शुक्राणु स्‍वास्‍थ्‍य की रक्षा करते हैं और गर्भाधारण को बढ़ावा देते हैं जिससे गर्भपात के जोखिम को कम किया जा सकता है।

(और पढ़े – पुरुषों में सेक्सुअल स्टेमिना (सेक्स पावर) बढ़ाने के आसान तरीके…)

रास्‍पबेरी फल के फायदे मधूमेह में – Benefits of raspberry for Diabetes in Hindi

रास्‍पबेरी फल के फायदे मधूमेह में - Benefits of raspberry for Diabetes in Hindi

अध्‍ययनो से पता चलता है कि रसभरी मधुमेह रोगी के लिए फायदेमंद है। रिपोर्ट के मुताबिक रसभरी में मौजूद फाइटोन्‍यूट्रिएंट इंसुलिन संतुलन और रक्‍त शर्करा संतुलन में सुधार के लिए शरीर में कुछ निष्क्रिय हार्मोन के साथ काम करते हैं। जिससे मधुमेह प्रकार 2 से ग्रस्‍त व्‍यक्तियों के स्वास्‍थ्‍य में सुधार होता है। इस तरह से मधुमेह रोगी अपने नियमित आहार में रसभरी को शामिल कर लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं। यह मधुमेह के प्रारंभिक स्‍तर में बहुत ही प्रभावी होता है। इस तरह से रसभरी का नियमित उपभोग मधुमेह की संभावनाओं को रोक सकता है।

(और पढ़े – शुगर ,मधुमेह लक्षण, कारण, निदान और बचाव के उपाय…)

रसभरी फ्रूट के फायदे प्रतिरक्षा बढ़ाने में – Raspberry Fruit Benefits For Immunity in Hindi

रसभरी फ्रूट के फायदे प्रतिरक्षा बढ़ाने में - Raspberry Fruit Benefits For Immunity in Hindi

रास्‍पबेरी फल का इस्‍तेमाल आपको कई सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को बचा सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि रसभरी फल में विटामिन सी की अच्‍छी मात्रा होती है जो कि एक एंटीऑक्‍सीडेंट की तरह कार्य करता है। यह हमारी सामान्‍य बीमारियों और संक्रमणों के लिए सामान्‍य प्रतिरक्षा मे वृद्धि करता है। विटामिन सी रक्‍त कोशिकाओं को साफ करने में मदद करता है जिससे वे अवांछित वायरल संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं। इसमें मौजूद फिनोल और एंथोसाइनिन जैसे एंटीऑक्‍सीडेंट हमें स्‍वस्‍थ्‍य रख सकते हैं और उम्र बढ़ने के प्रभावों को कम कर सकते हैं। इस तरह से रसभरी फ्रूट हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को सुधार कर हमें स्‍वस्‍थ्‍य रखने का अच्‍छा विकल्‍प है।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

गोल्‍डन बेरीज फार आई हेल्‍थ – Golden Berries For Eye Health in Hindi

गोल्‍डन बेरीज फार आई हेल्‍थ - Golden Berries For Eye Health in Hindi

यह एक औषधीय फल है जो विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर कर सकता है। इसमें विटामिन सी और विटामिन ए की अच्‍छी मात्रा होती है। ये विटामिन हमारी आंखों के स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। इसके अलावा गोल्‍डन बेरीज में फिनोल जैसे एंटीऑक्‍सीडेंट आंखों की झिल्‍ली की रक्षा करता है। यह आंखों में पानी के तरल पदार्थ का उत्‍पादन करता है जिससे आंखों की सफाई में मदद करता है। इसमें मौजूद इलैजिक एसिड (Ellagic acid) भी स्‍वस्‍थ द्रष्टि का एक सक्रिय घटक है। इस प्रकार यह कहा जा सकता है कि रेस्‍पबेरी फल आंखों के लिए बहुत ही फायदेमंद हो सकता है।

(और पढ़े – आँखों को स्वस्थ रखने के लिए 10 सबसे अच्छे खाद्य पदार्थ…)

रसभरी की पत्ती के फायदे महिलाओं के लिए – Raspberry Leaf Benefits For Women Health in Hindi

रसभरी की पत्ती के फायदे महिलाओं के लिए - Raspberry Leaf Benefits For Women Health in Hindi

जैसा कि हम पहले ही जानते हैं कि रसभरी के पौधे में औषधीय गुण होते हैं। विशेष रूप से इस पौधे की पत्तियां गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। एक अध्‍ययन से पता चलता है रसभरी की पत्तियों का सेवन करने पर महिलाओं को प्रसव के दौरान दर्द से राहत मिलती है। जिससे महिलाएं सीजे़रियन सेक्‍शन या बैक्‍यूम जन्‍म से बचने में मदद मिलती है। सबसे अच्‍छी बात यह है कि इसके मां और बच्‍चे पर किसी प्रकार के दुष्‍प्रभाव नहीं होते हैं।

प्रसव दर्द को कम करने के लिए महिलाएं रसभरी पौधे की पत्तियों की चाय का सेवन कर सकती हैं। यह एक सबसे अच्‍छा हर्बल उत्‍पाद होता है। यह गर्भावस्‍था के दौरान मतली से निपटने में भी मदद करता है।

(और पढ़े – नॉर्मल डिलीवरी करने के उपाय…)

रसभरी के गुण करें गठिया का इलाज – Raspberry Benefits For Arthritis in Hindi

रसभरी के गुण करें गठिया का इलाज - Raspberry Benefits For Arthritis in Hindi

अमेरिका में हुए एक अध्‍ययन से पता चलता है कि रास्‍पबेरी मे पॉलीफेनॉल (polyphenols) की अच्‍छी मात्रा होती है जो नरम हड्डियों (cartilage) को सुरक्षा प्रदान करता है। इसलिए रसभरी गठिया के प्रभाव को कम कर सकता है। लाल रेस्‍पबेरी का नियमित सेवन करने पर जोड़ों को स्‍वस्‍थ्‍य बनाए रखता है। इसके अलावा लाल रेस्‍पबेरी हड्डी के अवशोषण को भी रोकता है। यह एक ऐसी स्थिति होती है जिसमें हड्डी से कैल्शियम को स्‍थानांतरित किया जाता है। यह तब होता है जब हड्डियों में कैल्शियम की अपर्याप्‍त मात्रा होती है।

(और पढ़े – गठिया (आर्थराइटिस) कारण लक्षण और वचाब…)

रसभरी फल के फायदे बालों के लिये – Raspberry Benefits For Hair in Hindi

रसभरी फल के फायदे बालों के लिये - Raspberry Benefits For Hair in Hindi

आप अपने बालों को स्‍वस्‍थ्‍य और सुंदर बनाने के लिए भी रसभरी का उपयोग कर सकते हैं। रसभरी में फोलेट की अच्‍छी मात्रा होती है यह शरीर में लाल रक्‍त कोशिकाओं के गठन में मदद करता है। लाल रक्‍त कोशिकाएं शरीर के सभी अंगों में ऑक्‍सीजन को पहुंचाने में मदद करती हैं। यह बालों के विकास में भी मदद करता है। क्‍योंकि उचित रक्‍त प्रवाह से बालों को पर्याप्‍त पोषण और आक्‍सीजन प्राप्‍त होता है। इसके अलावा लाल रसभरी में मैग्‍नीशियम और सिलिकॉन की उच्‍च सामग्री होती है। ऐसा माना जाता है कि सिलिकॉन बालों को मोटा करने और उन्‍हें तेजी से विकास करने में मदद करता है। इस तरह से आप अपने बालों को स्‍वस्‍थ्‍य और सुंदर बनाने के लिए रसभरी का उपभोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – बालों को लंबा और घना करने के घरेलू उपाय…)

रास्पबेरी फल के फायदे याददाश्त बढ़ाएं – Rasbhari Benefits For Memory in Hindi

रास्पबेरी फल के फायदे याददाश्त बढ़ाएं - Rasbhari Benefits For Memory in Hindi

मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के लिए भी रसभरी के फायदे जाने जाते हैं। इसमें मौजूद फॉइटोन्‍यूट्रिएंस स्‍मृति कार्य को बढ़ाने और बनाए रखने में मदद करते हैं। रास्‍पबेरी में पॉलीफेनॉल उम्र बढ़ने संबंधित संज्ञानातमक गिरावट में सुधार के लिए जाने जाते हैं। इस तरह से आप अपनी मेमोरी को बढ़ाने के लिए रसभरी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – याददाश्त बढ़ाने के घरेलू उपाय, दवा और तरीके…)

रसभरी के नुकसान – Raspberry Khane Ke Nuksan in Hindi

रसभरी के नुकसान - Raspberry Khane Ke Nuksan in Hindi

गोल्‍डन बेरीज आपके लिए बहुत ही फायदेमंद और स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक पौधा है। लेकिन यदि अधिक मात्रा में इसका सेवन किया जाता है तो यह हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक भी हो सकता है। आइए जाने अधिक मात्रा में रसभरी का सेवन करने से किस प्रकार के नुकसान हो सकते हैं।

  • यदि आप एंटीबायोटिक्स दवाओं का उपयोग कर रहे हैं तो रसभरी फल का सेवन करने से बचना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि फल में ट्रामराइन (tyramine) नामक एक यौगिक होता है जो रक्‍तचाप के स्‍तर को बढ़ा सकता है।
  • गर्भवती और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं को रसभरी का अधिक मात्रा में सेवन प्रभावित कर सकता है। गर्भवती महिलाओं में यह गर्भाशय संकुचन को उत्‍तेजित कर सकता है। इसलिए उन्‍हें रेस्‍पबेरी का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए।
  • रसभरी फल और विशेष रूप से इसके पत्‍तों में पेट साफ करने वाले और मूत्रवर्धक गुण होते हैं। इसलिए यदि इस प्रकार की दवाओं के साथ रसभरी और इसके पत्‍तों का सेवन नहीं किया जाना चाहिए। ऐसा करने से दस्‍त की समस्‍या हो सकती है।

(और पढ़े – ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बढ़ाने के लिए क्या खाएं…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration