ब्रैस्ट फीडिंग के दौरान निप्पल में क्रेक और रक्तस्त्राव - Nipple Crack or Bleeding During Breast Feeding In Hindi - Healthunbox
मातृत्व

ब्रैस्ट फीडिंग के दौरान निप्पल में क्रेक और रक्तस्त्राव – Nipple Crack or Bleeding During Breast Feeding In Hindi

ब्रैस्ट फीडिंग के दौरान निप्पल में क्रेक और रक्तस्त्राव - Nipple Crack or Bleeding During Breast Feeding In Hindi

Nipple Crack or Bleeding During Breast Feeding In Hindi: क्या ब्रैस्ट फीडिंग के दौरान निप्पल क्रेक होना या फटना सामान्य है? नहीं, यह सामान्य नहीं है। यदि निपल्स में दरारें, क्रेक (cracked) और रक्तस्राव (bleeding) के कारण दर्द और असुविधा होती है, तो संभवतः इसका मतलब है कि आपका बच्चा स्तनों का सही तरीके से मुह में नहीं ले पा रहा है।

स्तनपान कराने के दौरान कोई दर्द नहीं होना चाहिए, हालांकि जब आप ब्रैस्टफीड कराना सीख रही हैं तो आपको शुरू में निपल्स संवेदनशील महसूस हो सकते हैं। लेकिन आपको ब्रैस्ट फीडिंग के दौरान लगातार दर्द सहन करने की आवश्यकता नहीं है।

स्तनपान के शुरुआती दिनों में कई बार, जिन माताओं द्वारा दूध को निकलकर (एक्सप्रेस) बेबी को पिलाया जाता है, उन्हें स्तन के दूध में थोड़ा सा खून मिल सकता है, जिससे दूध गुलाबी हो जाता है। यदि आपके निप्पल में दर्द या दरार नहीं है, तो आमतौर पर चिंता की कोई बात नहीं होती है।

यह स्तनों में रक्त के प्रवाह में वृद्धि और आपके निपल्स से रक्तस्राव के बजाय दूध-उत्पादन ऊतक में वृद्धि के कारण है। ब्रैस्ट फीडिंग शुरू करने के पहले सप्ताह के बाद भी रक्तस्राव ठीक नहीं होने पर अपने डॉक्टर से बात करें।

स्तनपान के दौरान निप्पल में क्रेक या ब्लीडिंग क्यों होती है?Why do cracked or bleeding nipples happen in breastfeeding in Hindi

स्तनपान के दौरान निप्पल में क्रेक या ब्लीडिंग क्यों होती है? - Why do cracked or bleeding nipples happen in breastfeeding in Hindi

यदि आपका बच्चा ब्रैस्ट फीडिंग के दौरान स्तन का एक बड़ा हिस्सा मुंह में लेने में सक्षम नहीं है, तो आपका निप्पल बच्चे की जीभ और तालु के बीच में आ सकता है।

इससे आपके निपल्स में दर्द होगा और उसमे जल्द ही दरारें (क्रेक) और रक्तस्राव हो सकता है।

बच्चे को निप्पल को सही तरीके से मुंह में लेने में मदद करके इस समस्या को हल किया जा सकता है। अपने डॉक्टर या एक स्तनपान सलाहकार से मदद लें। स्तनपान के दौरान निप्पल में क्रेक या ब्लीडिंग से बचने के लिए आपको केवल स्तनपान कराने के तरीके में एक छोटा सा बदलाव करने की आवश्यकता है।

(और पढ़े – स्तन (ब्रेस्ट) में गांठ क्या है कारण, लक्षण, जांच, इलाज और बचाव…)

निप्पलों के कटने-फटने या खून आने की और क्या वजह हो सकती है? – What else causes cracked and bleeding nipples in Hindi?

निप्पलों के कटने-फटने या खून आने की और क्या वजह हो सकती है? - What else causes cracked and bleeding nipples in Hindi?

बहुत अधिक शुष्क त्वचा या एक्जिमा के कारण भी निपल्स में दरारें, दर्द और रक्तस्राव हो सकता है। यदि आपके पास निपल्स या स्तनों पर एक्जिमा जैसी स्थिति है, तो इसका कारण हो सकता है:

एरोला और निप्पल की सामान्य से अधिक सफाई

क्रीम, लोशन, तेल, साबुन या इत्र का इस्तेमाल

कपड़े पर डिटर्जेंट लगा रह जाना

ब्रेस्ट पंप या स्तन पंप का गलत उपयोग भी निपल्स को नुकसान पहुंचा सकता है। पंप से दूध निकलने में सावधानी बरतें।

यदि आप बच्चे को ठीक से गोदी नहीं लेती हैं, तो बच्चा ग्रिप बनाने के लिए कई बार निप्पल को काट देता है। यदि आपके शरीर का तापमान अचानक बढ़ जाता है या कम हो जाता है या मौसम में अचानक परिवर्तन होता है। इसलिए ब्रेस्ट के सूखने के कारण स्तन पर कट लग जाता है या वह क्रेक हो जाते हैं।

(और पढ़े – निप्पल में दर्द के 7 बड़े कारण और घरेलू इलाज…)

क्रेक निप्पलों के उपचार के लिए मैं क्या कर सकती हूं? – What can I do to heal my cracked nipples in Hindi?

क्रेक निप्पलों के उपचार के लिए मैं क्या कर सकती हूं? - What can I do to heal my cracked nipples in Hindi?

अपने चिकित्सक से परामर्श करें। वे आपको एक स्तनपान विशेषज्ञ के पास जाने के लिए कह सकते हैं। क्रेक निप्पलों के उपचार के लिए एकमात्र उपचार यह सुधारना है कि शिशु स्तनों को मुंह में कैसे ले जाता है।

हमारे ‘स्तनपान कैसे करवाएं‘ लेख में दी गयी जानकारी आपको सही लैचिंग में मदद कर सकती है।

अपने क्रेक निप्पलों में थोड़ा सा ब्रैस्ट मिल्क डालें। स्तन के दूध में ऐसे तत्व होते हैं जो उन्हें ठीक करने और संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं।

आप नरम सफेद पैराफिन जेली की एक पतली परत भी निपल्स पर लगा सकती हैं। इसकी केवल थोड़ी मात्रा आपके दर्द को कम करने में मदद कर सकती है और दर्द के बिना उन्हें जल्दी से ठीक कर सकती है।

स्तनपान कराने से पहले आपको हर बार इस परत को धोने की भी आवश्यकता नहीं है। लेकिन इसके ज्यादा इस्तेमाल से बच्चे को सही तरीके से लिक करने में समस्या हो सकती है, क्योंकि यह स्तनों को चिकना बनाता है। इस कारण से, निपल्स बच्चे के मुंह में और नीचे जाते हैं और तालु के नीचे दबते हैं, जिससे दर्द बढ़ सकता है।

कुछ माताएं अपने कटे-फटे निपल्स के इलाज के लिए अत्यधिक शुद्ध निर्जल (एचपीए) लैनोलिन (highly purified anhydrous ) का उपयोग करती हैं। हालांकि, दर्द को कम करने या दरारें जल्दी से ठीक करने के लिए लैनोलिन के उपयोग का कोई सबूत नहीं है। यदि आपको एक्जिमा होने का खतरा है, तो यह संभावना है कि लैनोलिन आपकी त्वचा में जलन कर सकता है, जिससे दर्द बढ़ सकता है।

अगर आपकी डिलीवरी के बाद मालिश हो रही है, तो स्तनों और निपल्स पर कोई तेल न लगाएँ। इसके अलावा, निपल्स में दरार या रक्तस्राव के लिए मालिश या बाई द्वारा बताये गए हर्बल उपचार या पेस्ट का उपयोग न करना बेहतर होता है। इन घरेलू उपचारों और उत्पादों में ऐसी सामग्री हो सकती है जो आपकी स्थिति या आपके स्तनपान करने वाले बच्चे के लिए उपयुक्त न हो।

कई लोगों का मानना है कि फटे हुए निप्पलों पर शहद लगाने से वे जल्दी ठीक हो जाते हैं और स्तनपान के दौरान होने वाला दर्द भी कम हो जाता है। हालांकि, इस विश्वास को साबित करने के लिए कोई सबूत उपलब्ध नहीं है। वास्तव में, एक वर्ष से कम उम्र के शिशुओं के लिए शहद का सेवन सुरक्षित नहीं होता है और इससे बोटुलिज़्म (botulism) नामक बहुत गंभीर लेकिन दुर्लभ प्रकार का भोजन विषाक्तता (food poisoning) हो सकता है।

यह उन जगहों पर शहद या किसी अन्य हर्बल उपचार को नहीं लगाना बेहतर है जहां बच्चा संपर्क में है। इससे किसी भी तरह के दुष्प्रभाव या एलर्जी को रोका जा सकेगा।

निपल्स को साबुन से न धोएं या उन पर सुगंधित लोशन न लगाएं। स्तनों और निपल्स को साफ रखने के लिए साफ पानी से धोना या नहाना ही काफी है।

यदि दर्द बहुत अधिक है, तो एनाल्जेसिक दवा ली जा सकती है, लेकिन डॉक्टर से बात करें कि कौन सी दवा आपके लिए उपयुक्त होगी। यदि सभी प्रयासों के बावजूद दरारें (क्रेक) या घाव ठीक नहीं होते हैं, तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए।

(और पढ़े – बच्चे को दूध पिलाने (स्तनपान कराने) के तरीके और टिप्स…)

क्या निप्पल कटे-फटे होने पर भी मैं शिशु को ब्रैस्ट फीड करवा सकती हूं? – Can I still breastfeed my baby with cracked nipples in Hindi?

क्या निप्पल कटे-फटे होने पर भी मैं शिशु को ब्रैस्ट फीड करवा सकती हूं? - Can I still breastfeed my baby with cracked nipples in Hindi?

आपके निप्पल के कटने और फटने का असर आपके बच्चे पर नहीं पड़ेगा। कुछ खून होने पर वह दूध पीना बंद नहीं करेगा, जब तक आप दर्द को सहन करने में सक्षम होती हैं, तब तक आप स्तनपान जारी रख सकती हैं। यह जरुरी है कि आपका बेबी ठीक से स्तनपान करे, ताकि आपके निपल्स को ठीक होने का मौका मिले। कुछ माताओं द्वारा निप्पल शील्ड का उपयोग उपयोगी माना जाता हैं जब उनके निपल्स ठीक हो रहे होते हैं।

यदि आप निप्पल शील्ड का उपयोग करती हैं, तो डॉक्टर या स्तनपान सलाहकार से पूछें कि क्या आपके बच्चे की लैचिंग सही है, ताकि आप निप्पल शील्ड के बिना स्तनपान जल्द से जल्द शुरू कर सकें।

निप्पल शील्ड बेबी को स्तनपान के बजाय निप्पल से दूध पीने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, जिससे समस्या और बढ़ सकती है। इसलिए, यह केवल एक अस्थायी समाधान है।

ब्रैस्ट फीडिंग के दौरान अपने बच्चे को सही तरीके से लिटाने से न केवल उसे बल्कि आपको भी फायदा होगा। यदि आपको गलत तरीके से लिटाने के कारण आपके निपल्स में दरारें हैं, तो इसका मतलब है कि आपके बच्चे को पर्याप्त दूध नहीं मिल रहा है। वह स्तनपान के अंत में पिछले कैलोरी दूध की पर्याप्त मात्रा में लेने में सक्षम नहीं हो सकता है। उसे अपने विकास और वजन बढ़ाने के लिए इस दूध की आवश्यकता होती है। बच्चा ठीक से दूध नहीं पी पाता है, इसलिए उसे स्तनपान कराने में अधिक समय लगेगा।

यदि आपको लगता है कि आपके लिए स्तनपान कराना असंभव है, तो आसानी से अपने दूध को खाद से निकालें और अपने बच्चे को कप या बोतल में भरकर पिलाएं।

अधिकतर, निप्पल में क्रेक उपचार के बिना, सात से 10 दिनों में ठीक हो जाते है। जब आप मुख्य कारण के लिए उपचार अपनाती हैं, तो आप और आपका बच्चा जल्द ही फिर से स्तनपान का आनंद लेना शुरू कर देंगे।

(और पढ़े – डिलीवरी के बाद ब्रेस्‍ट से दूध लीक हो रहा है तो करें ये उपाय…)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration