सरसों के तेल की मालिश के फायदे - Mustard Oil Massage Benefits In Hindi
आयुर्वेदिक उपचार

सरसों के तेल की मालिश के फायदे – Mustard Oil Massage Benefits In Hindi

सरसों के तेल की मालिश के फायदे - Mustard Oil Massage Benefits In Hindi

सरसों के तेल में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो दर्दनिवारक की तरह काम करते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, शरीर की मालिश के लिए सरसों के तेल का उपयोग करने से रक्त परिसंचरण और त्वचा की बनावट में सुधार होता है साथ ही मांसपेशियों के दर्द में भी कमी आती है। सरसों के तेल की मालिश के फायदे पसीने की ग्रंथियों को सक्रिय करते है और शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करते हैं। इस तरह यह एक प्राकृतिक क्लींजर के रूप में भी काम करती है। सरसों के तेल से की गयी मालिश औषधि की तरह काम करती है।

सरसों के तेल का उपयोग ज्यादातर घरों में खाना बनाने में किया जाता है। इसे मस्टर्ड ऑयल के नाम से भी जाना जाता है। सदियों से इस तेल का इस्तेमाल चिकित्सा में किया जाता रहा है। सरसों का तेल सेहत और सुंदरता दोनों के ही लिए बहुत फायदेमंद है।

इस तेल में औषधीय गुण पाये जाते हैं जिसके कारण यह स्किन, हेयर और कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। अभी भी घर में दादी, नानी अपने बालों में सरसों का ही तेल लगाती हैं। बच्चे की मालिश भी सरसों के ही तेल से की जाती है। इस लेख में हम आप सरसों के तेल की मालिश के फायदों के बारे में चर्चा करने वाले हैं। समय के साथ सरसों के तेल का उपयोग और अधिक होने लगा है। बड़े बुजुर्ग अभी भी नहाने से पहले शरीर में सरसों के तेल की मालिश करते हैं। तो आइये जानते हैं मस्टर्ड ऑयल से मसाज के फायदे क्या हैं।

विषय सूची

सरसों का तेल क्या है? – What is Mustard Oil in Hindi

सरसों का तेल क्या है? - What is Mustard Oil in Hindi

सरसों के पौधे के बीजों से सरसों का तेल निकाला जाता है। रसोई के साथ-साथ यह तेल कई रोगों के उपचार में भी उपयोग किया जाता है। सरसों के तेल का वैज्ञानिक नाम ब्रैसिका जुंसिया है। सरसों के तेल को अलग अलग भाषाओं में अलग अलग नामों से जाना जाता है। इसका रंग गहरा पीला, गंध तीक्ष्ण और स्वाद शार्प होता है। सरसों का तेल सरसों के बीज से निकाला जाता है और आसवन (distillation) के माध्यम से शुद्ध किया जाता है।

सरसों का तेल कैसे बनता है – How Mustard Oil Is Made in Hindi

मुख्य रूप से सरसों का तेल बनाने के दो तरीके हैं: दबाकर (pressing) और पीसकर (grinding)।

पहली विधि में वनस्पति तेल पाने के लिए सरसों के बीज को कुचला या दबाया जाता है। जबकि दूसरी विधि में सरसों को पीसकर उसमें पानी मिलाया जाता है और आसवन द्वारा तेल निकाला जाता है। इससे सरसों के तेल में वसा की मात्रा कम होती है।

सरसों के तेल में पाये जाने वाले पोषक तत्व – Nutritional Value of Mustard Oil in Hindi

सरसों के तेल में कई तरह के पोषक तत्व पाये जाते हैं। 100 ग्राम सरसों के तेल में 884 कैलोरी पायी जाती है। इसके साथ ही इसमें 100 ग्राम फैट पाया जाता है जिसमें 12 ग्राम सैचुरेटेड फैट, 21 ग्राम पॉलीसैचुरेटेड फैट और 59 ग्राम मोनोअनसैचुरेटेड फैट पाया जाता है। सरसों के तेल में सोडियम, प्रोटीन और  कार्बोहाइड्रेट नहीं पाया जाता है। इसके अलावा इसमें शरीर के लिए जरुरी विटामिन और मिनरल भी नहीं पाया जाता है। हालांकि सरसों के तेल में कुछ आवश्यक रासायनिक घटक मौजूद होते हैं। इसमें फैटी एसिड जैसे ओलेरिक, लिनोलिक और इरुसिक एसिड के साथ ही एलिल आइसोथियोसिनेट भी पाया जाता है।

सरसों के तेल से मालिश के फायदे – Sarso ke tel se malish ke fayde in hindi

सरसों के तेल से मालिश के फायदे - Sarso ke tel se malish ke fayde in hindi

मस्टर्ड ऑयल से मसाज के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। यह शरीर को गर्म रखता है, बालों को बढ़ाने में मदद करता है और गठिया की समस्या को दूर करने के साथ ही हड्डियों को मजबूत रखता है और विषाक्त पदार्थों को निकालता है। इसके अलावा भी सरसों के तेल की मालिश से कई फायदे होते हैं। तो आइये जानते हैं सरसों के तेल की मालिश के फायदे क्या हैं।

सरसों के तेल से मालिश का लाभ जोड़ों के दर्द और गठिया में – Mustard Oil massage for Joint Pain And Arthritis in Hindi

सरसों के तेल से मालिश का लाभ जोड़ों के दर्द और गठिया में - Mustard Oil massage for Joint Pain And Arthritis in Hindi

बढ़ती उम्र के साथ ज्वाइंट पेन और अर्थराइटिस की समस्या होना आम बात है। लेकिन सरसों के तेल की मालिश गठिया और जोड़ों के दर्द को दूर करने में फायदेमंद है। वास्तव में घुटने और जोड़ों पर मस्टर्ड ऑयल से रेगुलर मालिश करने से पूरे शरीर में ब्लड फ्लो और सर्कुलेशन दोनों बढ़ता है। सरसों के तेल में प्रचुर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है जो एंटी इंफ्लैमेटरी गुण के कारण जोड़ों में दर्द, अकड़न और अर्थराइटिस को दूर करने में मदद करता है।

सरसों के तेल की मालिश टॉक्सिन दूर करने में – Mustard Oil Massage Releasing Toxins From Body in Hindi

मस्टर्ड ऑयल से मसाज हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद है। बॉडी पर मस्टर्ड ऑयल से मसाज करने से पसीने के रोम छिद्र (sweat pores) खुल जाते हैं जिससे पसीना और विषाक्त पदार्थ शरीर से बाहर निकल जाता है। इसलिए हर मौसम में शरीर पर मस्टर्ड ऑयल से मालिश करनी चाहिए ताकि शरीर में जमा सभी विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाएं और बॉडी हेल्दी रहे।

(और पढ़े – बॉडी मसाज के लिए बेस्ट तेल और इनके फायदे…)

सरसों के तेल की मालिश के फायदे त्वचा को मॉइस्‍चोराइज करे – Benefits of mustard oil massage Moisturize the skin in Hindi

सरसों के तेल की मालिश के फायदे त्वचा को मॉइस्‍चोराइज करे - Benefits of mustard oil massage Moisturize the skin in Hindi

अगर आपकी स्किन रूखी और ड्राई है तो आपको अपने शरीर की मालिश सरसों के तेल से करनी चाहिए। इससे आपके शरीर की त्वचा नमी मिलेगी और वह ड्राई होने से बची रहेगी। इसके आलावा आप अपने फेस पैक में सरसों के तेल की कुछ बूंदे मिलाकर उसका इस्तेमाल करें ऐसा करने पर आप ग्‍लोइंग चेहरा पा सकती हैं। अगर आप फेस पैक नहीं बनाना चाहती हैं तो फिर सिर्फ सरसों का तेल लेकर अपने चेहरे और गर्दन पर दो से तीन मिनट तक के लिये उँगलियों को गोलाई में घुमाते हुए मालिश करें। और इसे 10 मिनट के लिये ऐसे ही छोड़ दें और फिर फेस किसी सॉफ्ट फेस वॉश से चेहरे को धो लें।

सरसों के तेल की मालिश के लाभ हड्डियों में मजबूती के लिए – Mustard Oil massage Strengthening Bones in Hindi

सरसों के तेल की मालिश के लाभ हड्डियों में मजबूती के लिए - Mustard Oil massage Strengthening Bones in Hindi

आमतौर पर ज्यादातर घरों में बच्चे की मालिश सरसों के तेल से की जाती है। सरसों के तेल की मालिश बच्चों के लिए कई मायनों में लाभकारी है। यह बच्चों की कोमल और नाजुक हड्डियों को मजबूत बनाता है जिससे हड्डियां स्वस्थ रहती हैं। इसके अलावा सरसों के तेल से की गई मालिश से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और बच्चे का संपूर्ण स्वास्थ्य बेहतर होता है। मस्टर्ड ऑयल से रेगुलकर मसाज करने से आपका बच्चा हेल्दी और स्ट्रांग हो सकता है।

(और पढ़े – शिशु की मालिश कैसे करें, स्टेप और फायदे…)

लंबे बालों के लिए सरसों के तेल की मालिश – baalon ke liye sarso ke tel ki malish ke fayde in Hindi

लंबे बालों के लिए सरसों के तेल की मालिश के फायदे - baalon ke liye sarso ke tel ki malish ke fayde in Hindi

पुराने समय से ही सरसों के तेल की मालिश बालों के लिए बहुत फायदेमंद रही है। सरसों के तेल को बालों की जड़ों में लगाकर फिंगर टिप से मसाज करने से बाल भूरे नहीं होते और बालों के टूटने और झड़ने की समस्या भी काफी हद तक दूर हो जाती है। इसके अलावा मस्टर्ड ऑयल से हेयर में मसाज करने से बाल तेजी से बढ़ते हैं।

(और पढ़े – बालों में तेल कैसे और कब लगाएं, बालों में तेल लगाने का सही तरीका…)

सरसों के तेल की मालिश के फायदे सन टैनिंग दूर करने में – Mustard Oil massage for tanning in Hindi

सरसों के तेल की मालिश के फायदे सन टैनिंग दूर करने में - Mustard Oil massage for tanning in Hindi

मस्टर्ड ऑयल से मसाज का लाभ सन टैनिंग दूर करने में मिलता है। सरसों के तेल में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व एवं ऐसे विशेष यौगिक पाये जाते हैं जो स्किन की टैनिंग दूर करके चेहरे के रंग को लाइट करते हैं। सन टैन हटाने के लिए एक चम्मच सरसों के तेल में एक चम्मच नारियल का तेल मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं और 10 से 12 मिनट तक सर्कुलर मोशन में हल्के हाथों से मसाज करें। इसके बाद गीले टिशू से चेहरे को पोछ लें। रेगुलर चेहरे पर सरसों के तेल से मालिश करने से जल्द ही आपको अपने चेहरे में बदलाव नजर आएगा।

सरसों के तेल की मालिश के लाभ त्वचा के परिसंचरण में सुधार करे – Mustard Oil massage for Circulation in Hindi

आपको बता दें सरसों का तेल बहुत मजबूत उत्तेजक होता है, और सरसों के तेल की मालिश त्वचा के रक्त परिसंचरण को प्रोत्साहित करने में मदद करती है। सरसों के तेल की मालिश करने पर तेल त्वचा को गर्म कर देता है और बढ़े हुए रक्त प्रवाह के कारण मालिश वाले क्षेत्र को गुलाबी रंग दिखने लगता है।

मस्टर्ड ऑयल से मसाज के फायदे त्वचा पर चकत्ते को ठीक करने में – Mustard Oil massage for skin rashes in Hindi

मस्टर्ड ऑयल से मसाज के फायदे त्वचा पर चकत्ते को ठीक करने में - Mustard Oil massage for skin rashes in Hindi

सरसों के तेल की मालिश त्वचा पर चकत्तों के इलाज के लिए किया जाता है। सरसों के तेल में एंटी बैक्टीरियल, एंटी फंगल और एंटीइंफ्लैमेटरी गुण पाए जाते हैं। यदि नमी के कारण या फिर गीले कपड़े पहने से त्वचा पर चकत्ते पड़ जाएं या फिर कीड़ा काट लेने से स्किन पर पड़े चकत्ते को दूर करने के लिए सरसों के तेल से मालिश कराना बहुत ही लाभकारी है। स्किन पर मस्टर्ड ऑयल लगाकर मसाज करने से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और स्किन का इंफेक्शन, रैशेज, खुजली और जलन सब खत्म हो जाता है।

(और पढ़े – फेस मसाज करने का तरीका और इसके फायदे…)

सरसों के ऑयल से मसाज होठों को मॉश्चराइज करने में – Mustard Oil massage Moisturises lips in Hindi

सरसों के ऑयल से मसाज के फायदे होठों को मॉश्चराइज करने में - Mustard Oil massage Moisturises lips in Hindi

मस्टर्ड ऑयल से मसाज करने के फायदे होठों को माश्चराइज करने में भी मिलते हैं। सर्दियों के समय तापमान में गिरावट और हवा में नमी के कारण होठ शुष्क होने के साथ ही फटने लगते हैं। ऐसे में कई बार होठों से खून भी निकलने लगता है। इस तरह की समस्या होने पर रात को सोते समय अपने बेली बटन में सरसों के तेल की कुछ बूंदें डालें और पेट पर भी अच्छे तरीके से सरसों के तेल की मालिश करें। रेगुलर यह घरेलू उपाय आजमाने से आपके होंठ ना तो फटेंगे और ना ही शुष्क होंगे।

एंटी एजिंग प्रभाव के कारण मस्टर्ड ऑयल से मसाज है लाभकारी – Mustard Oil massage Has Anti-Aging Effects in Hindi

अपने चेहरे की हफ्ते में दो बार सरसों के तेल से मसाज करें, क्योंकि एंटी एजिंग को प्रमोट करने के लिए सरसों के तेल से मालिश करना बेहद फायदेमंद है। प्राचीन काल से ही लोग नहाने से पहले और नहाने के बाद पूरे शरीर और चेहरे में सरसों के तेल से मालिश करते आ रहे हैं। मस्टर्ड ऑयल में उच्च मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है जो बढ़ती उम्र के कारण चेहरे और शरीर पर पड़ी झुर्रियों को कम कर देता है और व्यक्ति के शरीर को जवान बनाता है। सरसों के तेल से रेगुलर मसाज करने से एजिंग से जुड़े सभी लक्षण समाप्त हो जाते हैं।

फेस मास्क बनाने के लिए अन्य अवयवों के साथ सरसों के तेल का उपयोग किए जाने पर यह चेहरे से टैन और काले धब्बे को हटाने में मदद करता है। इसके अलावा, स्किन को गोरा बनाने के लिए सरसों के तेल और नारियल के तेल की समान मात्रा से त्वचा की मालिश भी की जा सकती है।

(और पढ़े – बढ़ती उम्र के लिए घरेलू एंटी एजिंग फेस मास्क…)

सरसों के तेल की मालिश का उपयोग फंगल संक्रमण ठीक करे – Mustard Oil massage for Fungal Infections in Hindi

सरसों के तेल की मालिश का उपयोग फंगल संक्रमण ठीक करे - Mustard Oil massage for Fungal Infections in Hindi

मस्टर्ड ऑयल से मसाज का उपयोग कवक के कारण होने वाली त्वचा की समस्याओं के लिए किया जा सकता है, जैसे कि एथलीट फुट या चकत्ते। सरसों के तेल के एंटी-फंगल प्रभाव का यौगिक एलिल आइसोथियोसाइनेट (allyl isothiocyanate) पाया जाता है, जो सरसों को तीखा स्वाद देता है। आप फंगस से प्रभावित क्षेत्र पर सीधे सरसों के तेल की मालिश कर सकते हैं।

बॉडी हीट स्टोर करने में सरसों के तेल की मालिश के फायदे – Sarso ke tel ki malish ke fayde Body Heat store karne mein in Hindi

हम अक्सर सुनते हैं कि सरसों के तेल से मालिश करना शरीर की गर्माहट को स्टोर करने के लिए फायदेमंद होता है। सरसों के तेल में पाए जाने वाले तत्व बॉडी में अच्छी तरह अवशोषित हो जाते हैं और बॉडी को वार्म और हीट बनाते हैं। यही कारण है कि ज्यादातर ठंडे प्रदेशों में लोग शरीर को गर्म रखने के लिए सरसों के तेल की मालिश का लाभ उठाते हैं।

(और पढ़े – जानें क्या होता है लड़कियों की बॉडी मसाज करने का सही तरीका…)

सरसों के तेल की मालिश से नुकसान – Side effects of Mustard Oil massage in Hindi

सरसों के तेल की मालिश से नुकसान - Side effects of Mustard Oil massage in Hindi

अगर आपकी त्वचा बहुत संवेदनशील है तो सरसों के तेल से मालिश करने से आपको एलर्जी हो सकती है। इससे आपकी स्किन पर चकत्ते आ सकते हैं, त्वचा लाल हो सकती है और कुछ गंभीर परिस्थितियों में त्वचा पर जलन हो सकती है। इसलिए सरसों के तेल से मालिश करने से पहले पैच टेस्ट जरुर कर लेना चाहिए।

बच्चों की त्वचा बेहद नाजुक और कोमल होती है। अगर बच्चे की स्किन सेंसिटिव है तो सरसों के तेल से मसाज करने से बच्चे को स्किन एलर्जी और रिएक्शन हो सकता है।

यदि सरसों का तेल गाढ़ा और चिपचिपा है, तो इस तेल से मालिश करने से त्वचा के रोम छिद्र बंद भी हो सकते हैं। इसलिए सरसों के तेल से मालिश करने के बाद गुनगुने पानी से स्नान करना चाहिए अन्यथा यह नुकसानदायक हो सकता है।

सरसों के बीजों से निकाला गया सरसों का तेल, खाना पकाने के साथ इसक चिकित्सीय अनुप्रयोगों में इस्तेमाल किया जा सकता है। सरसों के तेल का उपयोग आम बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। सरसों के तेल में एक सुखद गंध होती है और त्वचा पर मालिश तेल के रूप में उपयोग किए जाने पर बहुत कम अवशेष छोड़ते हैं। सरसों के तेल से मालिश करना त्वचा और आंतरिक ऊतकों से जुड़ी कई स्थितियों के लिए फायदेमंद है। यदि आप इसे किसी विशेष उद्देश्य के लिए इस्तेमाल कर रहें हैं और आपकी स्थिति में सुधर नहीं होता है, तो एक चिकित्सा पेशेवर से परामर्श करें।

(और पढ़े – एलर्जी के लक्षण, कारण इलाज और घरेलू उपचार…)

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

 

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration