एथलीट फुट के कारण, लक्षण, बचाव और उपचार – Athlete’s foot in Hindi

एथलीट फुट के कारण, लक्षण, बचाव और उपचार - Athlete’s foot in Hindi
Written by Rajendra Patel

Athlete’s Foot In Hindi – एथलीट्स फुट – एथलीट फुट रोग (पैरों में फंगल इन्फेक्शन) के कारण, लक्षण, जांच, इलाज, उपचार और बचाव के बारे में संपूर्ण जानकारी पायें। एथलीट फुट एक फंगल इन्फेक्शन है, जो पैरों को प्रभावित करता है। यह अधिक पसीने के कारण होता है। यह पैर की अंगुलियों के मध्य एक संक्रामक रोग है, जो बहुत ही तेजी से फैलता है। इसे एथलीट फुट इसलिए कहा जाता है, क्योंकि इसकी शुरुआत खिलाड़ियों से हुई थी। परन्तु आजकल यह एक आम समस्या हो गई है। चूँकि यह टीनिया नामक कवक से होता है इसलिए इसे  Tinea pedis (टिनिया पेडीस) भी कहा जाता है। यदि इसका समय पर इलाज नहीं किया गया तो यह दिन- प्रतिदिन बढ़ता ही जाता है।

आइये आज के इस लेख के माध्यम से जानते हैं Athlete foot के लक्षण, कारण, बचाव और उपचार के बारे में।

  1. एथलीट्स फुट (पैरों में फंगल इन्फेक्शन) के कारण – Causes of Athlete’s foot in Hindi
  2. एथलीट्स फुट के लक्षण – Symptoms of Athlete’s foot in Hindi
  3. एथलीट फुट (पैरों में फंगल इन्फेक्शन) का परीक्षण – Diagnosis of athlete foot in Hindi
  4. एथलीट्स फुट का उपचार- Treatment of Athlete’s foot in Hindi
  5. एथलीट फुट से कैसे बचें – Prevention of Athlete’s foot in Hindi
  6. एथलीट फुट के घरेलू उपचार – Home remedies for Athlete  foot in Hindi

एथलीट्स फुट (पैरों में फंगल इन्फेक्शन) के कारण – Causes of Athlete’s foot in Hindi

Athlete’s foot टीनिया नामक कवक के संपर्क में आने से होता है। यह नमी वाले स्थानों में होता है। इसके निम्न कारण हो सकते हैं-

  • संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से।
  • लगातार नमी वाले स्थान में रहने से।
  • कई दिनों तक लगातार मोज़े पहनने से।
  • स्विमिंग पूल में स्नान करने से।
  • टाइट जूते पहनने के कारण।

(और पढ़े – कुष्ठ रोग के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव)

एथलीट्स फुट के लक्षण – Symptoms of Athlete’s foot in Hindi

एथलीट फुट के लक्षण निम्न हैं-

  • पैर की अँगुलियों के बीच में लालिमा (redness)
  • पैर में खुजली (Itching)
  • उँगलियों के बीच में घाव का निशान
  • पैर की त्वचा में सूखापन (Dryness)

(और पढ़े – घर पर पेडीक्योर करने के 5 आसान तरीके)

एथलीट फुट (पैरों में फंगल इन्फेक्शन) का परीक्षण – Diagnosis of athlete foot in Hindi

एथलीट फुट का परीक्षण करने के लिये पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड (KOH) घोल का उपयोग करते हैं। KOH में K पोटेशियम , O ऑक्सीजन और H हाइड्रोजन के लिए है। KOH घोल सामान्य त्वचा हो गला देता है, किन्तु फंगस द्वारा संक्रमित त्वचा को नहीं गलाता है। इस प्रकार से KOH घोल परीक्षण से एथलीट फुट का Diagnosis किया जा सकता है। यदि आप परीक्षण में positive आते हैं तो आप ऊपर बताये गए लक्षणों से तुलना करके पुष्टि कर सकते हैं और उपचार ले सकते हैं।

(और पढ़े – पैर में दर्द का कारण और आसान घरलू उपचार)

एथलीट्स फुट का उपचार- Treatment of Athlete’s foot in Hindi

एथलीट्स फुट चूँकि फंगल इन्फेक्शन है, जिसका उपचार एंटी फंगल दवा है। अतः Doctor की सलाह antifungal tablets/lotion ले सकते हैं। जिनमें  सम्मिलित हैं-

  • माइक्रोनोजोल (डेसेनेक्स)
  • क्लोट्रिमाज़ोल (लोट्रिमिन एएफ)
  • टोल्नाफ्फ्ट (टिनैक्टिन)
  • हाइड्रोजन पेरोक्साइड- Hydrogen peroxide एथलीट्स फुट की बीमारी के मुख्य कारक फंगस को नष्ट कर देता है।

(और पढ़े – पैरों में जलन होने का कारण, निदान और उपचार)

एथलीट फुट से कैसे बचें – Prevention of Athlete’s foot in Hindi

  • नंगे पैर नमी वाले स्थानों पर जाने से बचें, क्योंकि एथलीट फुट जिस फंगस से होता है वह नमी वाले स्थानों पर हो सकता है।
  • प्रतिदिन मोज़े धोकर पहनें।
  • संक्रमित व्यक्ति के कपड़े, मोज़े-जूते, या तौलिये के उपयोग से बचें।
  • लगातार गीले जूते और मोज़े पहनने से बचें।

(और पढ़े – पैरों की देखभाल के लिए अपनाएं कुछ आसान टिप्स)

एथलीट फुट के घरेलू उपचार – Home remedies for Athlete  foot in Hindi

एथलीट फुट के घरेलू उपचार - Home remedies for Athlete  foot in Hindi

एथलीट फुट के कुछ घरेलू उपचार भी हैं जो निम्नानुसार हैं-

  • नीम का तेल: नीम के तेल में antifungal गुण पाया जाता है जिसको प्रभावित स्थान पर लगाने से प्रभाव को कम किया जा सकता है। (और पढ़े – नीम के फायदे और नुकसान)
  • लहसुन: कच्चे लहसुन के रस को लगातार 7 दिनों तक लगाने से एथलीट्स फुट रोग में आराम मिलता है।
  • पैर को सूखा रखकर: अपने पैर को सूखा रखकर आप रोग के प्रभाव को कम कर सकते हैं।
  • सिरका: सिरका को पानी में मिलाकर उसमें पैर डुबाकर रखने से Athlete foot में आराम मिलता है। (और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे)
  • हल्दी: हल्दी में भी antifungul का गुण पाया जाता है अतः आप हल्दी का उपयोग करके भी एथलीट फुट से छुटकारा पा सकते हैं। (और पढ़े – हल्दी फेस पैक चेहरे को गोरा और खूबसूरत बनाने के लिए)
  • फिटकरी: फिटकरी का उपयोग करके आप एथलीट फुट को फैलने से रोक सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration