सफर के दौरान उल्टी आने के कारण और रोकने के उपाय – Safar Ke Dauran Ulti Rokne Ke Upay in Hindi

फर के दौरान उल्टी आने के कारण और रोकने के उपाय – Safar Ke Dauran Ulti Rokne Ke Upay in Hindi
Written by Anvita

हममें से कई लोग यात्रा के दौरान होने वाली मतली या उल्टी के कारण, बस में या कार में सफर करना अवॉयड करते हैं। मोशन सिकनेस बीमारी (Motion sickness)(यात्रा संबंधी मतली) एक ऐसी स्थिति है जिसमें आँखों के द्वारा मूवमेंट को भापना और वेस्टिबुलर सिस्टम की मूवमेंट की भावना के बीच के अंतर के कारण होता है। इसके कई कारण हो सकते हैं जिनके बारे में हम आमतौर पर ध्यान नहीं देते। यात्रा के दौरान उल्टी को कार सिकनेस (बीमारी), सिमुलेशन सिकनेस या एयर सिकनेस के रूप में भी समझा जा सकता है।

चक्कर आना, थकान और मतली, मोशन सिकनेस के सबसे आम लक्षण हैं। सोपाइट सिंड्रोम (Sopite syndrome), जिसमें एक व्यक्ति थकान या थकावट महसूस करता है, मोशन सिकनेस से भी जुड़ा हुआ है। ग्रीक में “मतली”(nausea) का अर्थ सी-सिकनेस (See-sick syndrome) है। अगर मतली पैदा करने वाली गति का समाधान नहीं होता है, तो पीड़ित को आमतौर पर उल्टी हो जाएगी। उल्टी से अक्सर कमजोरी और मतली की भावना से छुटकारा नहीं मिलता है, जिसका मतलब है कि जब तक मतली का इलाज नहीं किया जाता है तब तक व्यक्ति को उल्टियां आती रहेगी।

1. यात्रा के दौरान उल्टी (मोशन सिकनेस) के लक्षण क्या हैं – Motion sickness symptoms in Hindi
2. सफर के दौरान उल्टियां (मोशन सिकनेस) किस को प्रभावित करता है – Who gets motion sickness in Hindi
3. यात्रा के दौरान उल्टी होने के कारण – What causes motion sickness in Hindi
4. सफर के दौरान उल्टियां आने का निदान – How to treat motion sickness in Hindi
5. सफर के दौरान उल्टियां होने पर क्या करें – Treatment of vomiting while traveling in Hindi

6. यात्रा संबंधी उल्टी और मतली में आपको डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए – When to see doctor if suffering from motion sickness due to travel in Hindi

यात्रा के दौरान उल्टी (मोशन सिकनेस) के लक्षण क्या हैं – Motion sickness symptoms in Hindi

यात्रा के दौरान उल्टी (मोशन सिकनेस) के लक्षण क्या हैं - Motion sickness symptoms in Hindi

मोशन सिकनेस आमतौर पर पेट के खराब होने का कारण बनती है। इसके अन्य लक्षणों में ठंडा पसीना और चक्कर आना शामिल है। मोशन सिकनेस वाले व्यक्ति को सिरदर्द, और पीले पड़ने की शिकायत हो सकती है। मोशन सिकनेस के परिणामस्वरूप निम्न लक्षणों का अनुभव करना भी आम है:

यात्रा सम्बन्धी मतली के गंभीर लक्षणों में शामिल हैं:

(और पढ़े – बेचैनी और घबराहट दूर करने के उपाय…)

सफर के दौरान उल्टियां (मोशन सिकनेस) किस को प्रभावित करता है – Who gets motion sickness in Hindi

किसी को भी यात्रा के दौरान उल्टी (मोशन सिकनेस) हो सकती है, लेकिन यह बच्चों और गर्भवती महिलाओं में सबसे आम है। यह संक्रामक नहीं है।

2 से 12 वर्ष की उम्र के बच्चों को मोशन सिकनेस से ग्रस्त होने की सबसे अधिक संभावना है। गर्भवती महिलाओं को भी इसका सामना करने की संभावना अधिक होती है।

(और पढ़े – नवजात शिशु को उल्टी होना, कारण, लक्षण और घरेलू उपाय…)

यात्रा के दौरान उल्टी होने के कारण – What causes motion sickness in Hindi

यात्रा के दौरान उल्टी होने के कारण - What causes motion sickness in Hindi

आपकी इंद्रियों के बीच में संघर्ष होने पर आपको मोशन सिकनेस की बीमारी होती है। मान लें कि आप मेले में एक झूले पर हैं, और यह आपको चारों ओर और ऊपर घुमाया जा रहा है। आपकी आंखें एक चीज को देखती हैं, आपकी मांसपेशियों को कुछ और महसूस होता है, और आपके कान के भीतर कुछ और समझ आता है।

आपका दिमाग उन मिश्रित संकेतों को एक साथ नहीं ले सकता है। यही कारण है कि आप को चक्कर आना और बीमार महसूस होने जैसा लगता है।

(और पढ़े – चक्कर आने के कारण, लक्षण, निदान और इलाज…)

सफर के दौरान उल्टियां आने का निदान – How to treat motion sickness in Hindi

सफर के दौरान उल्टियां होने पर (मोशन सिकनेस) अधिकांश मामले में आप खुद इलाज कर सकते हैं।

बहुत गंभीर मामले, और जो प्रगतिशील रूप से बदतर हो जाते हैं, जैसे कान में असंतुलन और तंत्रिका तंत्र की बीमारियों में, अपने चिकित्सक से जाकर मिले।

मोशन सिकनेस का निदान करने में मदद के लिए, डॉक्टर आपके लक्षणों के बारे में पूछेगा और पता लगाएगा कि आम तौर पर समस्या का कारण क्या होता है (जैसे नाव में सवारी करना, विमान में उड़ना, या कार में सफर करना और गाड़ी चलाना)।

(और पढ़े – कान बहने के कारण, लक्षण और इलाज…)

सफर के दौरान उल्टियां होने पर क्या करें – Treatment of vomiting while traveling in Hindi

  1. यात्रा के दौरान उल्टियां न हो इसके लिए ले एक्यूप्रेशर थेरेपी – Take acupressure therapy to avoid vomiting while on tour in Hindi
  2. सफर के दौरान उल्टी, मतली, चक्कर आने पर ताजी हवा ले – While traveling breathe fresh air to avoid dizziness and vomiting in Hindi
  3. यात्रा के दौरान उल्टी रोकने के लिए च्युइंगगम चबायें – Chew gum if face motion sickness while travelling in Hindi
  4. बस या ट्रेन में उलटी आने पर क्षितिज को देखिये – Look at horizon to avoid sickness in bus or train travel in Hindi
  5. गाड़ी में उल्टी रोकने के उपाय अदरक का सेवन – To cure vomit, dizziness and tiredness eat ginger while on travel in Hindi
  6. समुद्री यात्रा या हवाई यात्रा के दौरान उल्टी रोकने के लिए आँखें बंद करें और झपकी ले – Close your eyes to nap while traveling through sea or flight in Hindi

मोशन सिकनेस के लक्षण आमतौर पर तब बंद हो जाते हैं जब आप रुक जाते हैं। लेकिन यह हमेशा सच नहीं है। ऐसे लोग हैं जो यात्रा खत्म होने के कुछ दिनों बाद भी लक्षण से पीड़ित रहते हैं। अतीत में यात्रा के दौरान उल्टी (मोशन सिकनेस) वाले ज्यादातर लोग अपने डॉक्टर से पूछते हैं कि अगली बार सफर के दौरान उल्टियां होने पर क्या करें और कैसे रोकें। निम्नलिखित उपचार आपकी यात्रा के दौरान उल्टी और मतली ठीक करने में मदद कर सकते हैं:

(और पढ़े – उल्टी और मतली को रोकने के उपाय…)

यात्रा के दौरान उल्टियां न हो इसके लिए ले एक्यूप्रेशर थेरेपी – Take acupressure therapy to avoid vomiting while on tour in Hindi

यात्रा के दौरान उल्टियां न हो इसके लिए ले एक्यूप्रेशर थेरेपी - Take acupressure therapy to avoid vomiting while on tour in Hindi

एक्यूप्रेशर में सुइयों को डालने के बजाये उंगली के दबाव से मतली में राहत मिलती है। कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि एक्यूप्रेशर एक्यूपंक्चर के समान मोशन सिकनेस के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है।

(और पढ़े – एक्यूप्रेशर के फायदे विशेष पॉइंट्स और नुकसान…)

सफर के दौरान उल्टी, मतली, चक्कर आने पर ताजी हवा ले – While traveling breathe fresh air to avoid dizziness and vomiting in Hindi

सफर के दौरान उल्टियां होने पर ताजा, ठंडी हवा भी मोशन सिकनेस में थोड़ी राहत दे सकती है। यदि आप कार, बस, ट्रेन में सफर कर रहें हैं तो खिड़की से ताजी हवा ले सकते हैं।

यात्रा के दौरान उल्टी रोकने के लिए च्युइंगगम चबायें – Chew gum if face motion sickness while travelling in Hindi

यात्रा के दौरान उल्टी रोकने के लिए च्युइंगगम चबायें – Chew gum if face motion sickness while travelling in Hindi

च्यूइंग गम मोशन सिकनेस को कम करने का एक आसान तरीका है। सफर के दौरान उल्टियां होने पर सामान्य और हल्की कार सिकनेस से मुक्त होने के लिए यह एक सरल विधि है। च्यूइंग गम या लौंग या इलायची चबाने से कार में वोमिटिंग के हल्के प्रभाव से छुटकारा पाने में मदद मिलती है।

(और पढ़े – बड़ी इलायची के फायदे और नुकसान…)

बस या ट्रेन में उलटी आने पर क्षितिज को देखिये – Look at horizon to avoid sickness in bus or train travel in Hindi

यात्रा के दौरान उल्टी रोकने के लिए एक आम सुझाव है कि चलती गाड़ी की खिड़की से बाहर यात्रा की दिशा में क्षितिज (सामने की तरफ) की ओर देखे। यह गति की द्रश्य में नयापन लाकर आपके संतुलन की भावना को फिर से चालू करने में मदद करता है।

गाड़ी में उल्टी रोकने के उपाय अदरक का सेवन – To cure vomit, dizziness and tiredness eat ginger while on travel in Hindi

गाड़ी में उल्टी रोकने के उपाय अदरक का सेवन - To cure vomit, dizziness and tiredness eat ginger while on travel in Hindi

अदरक यात्रा के दौरान उल्टी (मोशन सिकनेस) को कम करने के लिए असरदार पाया गया है। यह टैबलेट रूप में भी उपलब्ध है, या अदरक के ताजा तने को सफर के दौरान उल्टी के लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए चबाया जा सकता है।

(और पढ़े – अदरक के फायदे, औषधीय गुण, उपयोग और नुकसान…)

समुद्री यात्रा या हवाई यात्रा के दौरान उल्टी रोकने के लिए आँखें बंद करें और झपकी ले – Close your eyes to nap while traveling through sea or flight in Hindi

यात्रा या हवाई यात्रा के दौरान उल्टी रोकने के लिए जहाज में, आंखों को बंद करना उपयोगी होता है, इसलिए यदि संभव होतो झपकी लें। यह आंखों और आंतरिक कान के बीच के इनपुट संघर्ष को हल करता है।

यात्रा संबंधी उल्टी और मतली में आपको डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए – When to see doctor if suffering from motion sickness due to travel in Hindi

यात्रा संबंधी उल्टी और मतली में आपको डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए - When to see doctor if suffering from motion sickness due to travel in Hindi

एक बार यात्रा खत्म होने के बाद मोशन सिकनेस बीमारी आमतौर पर दूर हो जाती है। लेकिन अगर आप को अभी भी चक्कर आ रहे हैं, सिरदर्द है, उल्टी, सुनने में कमी या छाती में दर्द है, तो अपने डॉक्टर से मिले।

यात्रा के दौरान मितली होने पर, यात्रा के दौरान आप कहां बैठते हैं इससे भी फर्क पड़ता है। कार की आगे की सीट, ट्रेन-बस में खिड़की वाली सीट, नाव में ऊपरी डेक या विमान में विंग सीट आपको यात्रा के दौरान उल्टी के बिना एक आसान सवारी का मजा दे सकती है। यात्रा करते वक्त खिड़की के बहार दाए और बाए दिशा में देखें। वाहन में कुछ पढ़ने या देखने की कोशिश ना करें, और यात्रा के पहले भारी भोजन, शराब और अन्य सॉफ्ट ड्रिंक्स से बचें। इसके अलावा यात्रा के दौरान उल्टी से बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पियें

(और पढ़े – सर्दियों में गर्म पानी पीने के फायदे और नुकसान…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration