इलायची के फायदे और नुकसान - Cardamom (Elaichi) Benefits And Side Effect In Hindi
मसाले

इलायची के फायदे और नुकसान – Cardamom (Elaichi) Benefits And Side Effect In Hindi

इलायची के फायदे और नुकसान - Cardamom (Elaichi) Benefits And Side Effect In Hindi

Cardamom In Hindi: इलायची कई भारतीय मसालों में से एक है। इसके मीठे और अनोखे स्वाद की वजह से सिर्फ भारतीय पकवानों में ही नहीं होता है बल्कि प्राकृतिक माउथ फ्रेशनर के रूप में भी इलायची का उपयोग किया जाता है। माना जाता है कि इलायची की प्राकृतिक महक भोजन का स्वाद और ज्यादा बढ़ा देती है जिसकी वजह से इसकी मांग ज्यादा होती है।

इसके अलावा स्वास्थ्य की दृष्टि से हरी इलायची ज्यादा लाभदायक मानी जाती है। यहाँ हम आपको इलायची के प्रकार, इलायची का सेवन के इलायची के फायदे (Elaichi ke fayde) और इलायची के नुकसान (Elaichi ke nuksan) के बारे में बताएंगे।

विषय सूची

इलायची के प्रकार – Types Of Cardamom in Hindi

इलायची के प्रकार - Types Of Cardamom in Hindi

आमतौर पर हरी और काली दो तरह की इलायची उगायी जाती है।

हरी इलायची (Green Cardamom) को ही वास्तविक इलायची माना जाता है। यह कई किस्मों में मौजूद है। इलायची का प्रयोग नमकीन तथा मीठे इन दोनों तरह के खाद्य पदार्थों में किया जाता है। इसके अलावा यह दूध से बनाए जाने वाले खाद्य पदार्थों में अपने अनोखे महक के कारण उपयोग किया जाता है। चाय और कॉफी में भी इलायची का उपयोग किया जाता है।

काली इलायची (Black Cardamom) आमतौर पर पूर्वी हिमालय में अधिक पायी जाती है। इसका उपयोग करी और बिरयानी जैसे व्यंजनों में किया जाता है। गरम मसाले में इसका उपयोग विशेष रूप से किया जाता है। काली इलायची में वोलाटाइल ऑयल, कैल्शियम और आयरन पाया जाता है इसकी वजह से इसके गहरे भूरे बीजों का औषधीय रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।

इलायची की तासीर – Elaichi ki taseer in Hindi

शायद आपको यकीन न हो लेकिन छोटी इलायची यानी हरी इलायची की तासीर गर्म होती है। अधिकांश लोगों को लगता है कि इलायची ठंडी होती है, लेकिन यह गलत है इसकी प्रकृति गर्म होती है।

इलाइची के फायदे – Elaichi ke fayde in Hindi

Elaichi/इलायची सिर्फ व्यंजनों को सुगंधित बनाने में ही नहीं इस्तेमाल किया जाता है, बल्कि आयुर्वेद में औषधीय रूप में भी इलायची को फायदेमंद माना गया है। तो आइये जाने इलायची के फायदे 

इलायची के फायदे पाचन क्रिया सुधारने में – Benefits Of Cardamom to Improve digestion in Hindi

इलायची के फायदे पाचन क्रिया सुधारने में - Benefits Of Cardamom to Improve digestion in Hindi

प्रकृति में इलायची अग्निवर्धक होती है और भोजन को तेजी से पचाने में मदद करती है। यह पेट की जलन और सूजन को कम करता है। इसके अलावा यह सीने में जलन और मिचली में भी काफी फायदेमंद है। इलायची म्यूकस झिल्ली में दर्द को कम करता है और एसिडिटी के लक्षणों को कम करता है और पेट गड़बड़ होने से बचाता है।

आयुर्वेद में इलायची को काफी लाभप्रद माना जाता है। यह पेट की वायु को दूर करता है और पेट की पाचन क्षमता को आसान बनाता है जिससे की भोजन आसानी से पच जाता है और पेट में कब्ज की समस्या नहीं होती है।

(और पढ़ें – पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय)

इलायची के गुण सांसों की बदबू दूर करने में – Elaichi ke fayde for Beats bad breath in Hindi

इलायची के गुण सांसों की बदबू दूर करने में - Elaichi ke fayde for Beats bad breath in Hindi

अगर आपकी सांसों में बदबू आती है और आप इसे दूर करने की हर एक कोशिश करके थक चुके हैं। तो एक बार इलायची का उपयोग कीजिए। इलायची में एंटीबैक्टीरियल गुण पाया जाता है। इसके अलावा यह अपने अनूठे स्वाद और महक की वजह से सांसों की बदबू को दूर करने में बहुत फायदेमंद है।

यह भोजन को सही तरीके से पचाता है जिसकी वजह से आपकी सांसों में महक नहीं आती है। यह इस समस्या को जड़ से खत्म करने में भी काफी प्रभावी है।

(और पढ़े – मुँह की बदबू दूर करने के घरेलू उपाय)

इलायची के लाभ एसिडिटी दूर करने में – Elaichi ke fayde for Relieves acidity in Hindi

इलायची के लाभ एसिडिटी दूर करने में - Elaichi ke fayde for Relieves acidity in Hindi

इलायची ऑयल पेट की म्यूकस की परत को शक्तिशाली बनाने में मदद करता है और मुंह में लार को बढ़ाता है। जब आप इलायची चबाते हैं तो यह मुंह की लार में महत्वपूर्ण ऑयल को स्रावित करता है। जिससे की लार ग्रंथियां उत्तेजित होती हैं जो पेट की लाइनिंग को बेहतर कार्य के लिए स्टीमूलेट करती हैं।

इलायची आपकी भूख की समस्या को भी दूर बनाता है और पेट में होने वाली जलन, खट्टी डकार और एसिडिटी से होने वाली समस्या को दूर करता है।

(और पढ़े – एसिडिटी के कारण, लक्षण और बचाव के घरेलू उपाय)

इलायची का उपयोग हृदय गति को रेगुलेट करने में – Benefits Of Cardamom for heart in Hindi

इलायची का उपयोग हृदय गति को रेगुलेट करने में - Benefits Of Cardamom for heart in Hindi

इलायची में पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे मिनरल पाये जाते हैं। इसके अलावा इलायची में सभी तरह के इलेक्ट्रोलाइट्स मौजूद होते हैं। हमारे शरीर के रक्त, शरीर के तरल पदार्थ और शरीर की कोशिकाओं की मजबूती के लिए पोटैशियम जरूरी होता है।

भरपूर मात्रा में खनिज लवणों से युक्त इलायची हृदय की गति को रेगुलेट करता है और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद करता है। इसलिए हृदय रोगियों के लिए इलायची का सेवन फायदेमंद माना जाता है।

(और पढ़े – हाइ ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करगे ये आयुर्वेदिक हर्ब्‍स)

इलायची के फायदे एनीमिया के इलाज में – Elaichi ke fayde in hindi for anaemia in Hindi

इलायची के फायदे एनीमिया के इलाज में - Elaichi ke fayde in hindi for anaemia in Hindi

इसमें कॉपर, आयरन सहित कई महत्वपूर्ण कंपाउंड और राइबोफ्लेविन, विटामिन सी और नियासिन मौजूद होता है। ये महत्वपूर्ण यौगिक शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं और सेलुलर मेटाबोलिज्म के उत्पादन में सहायता करते हैं।

आयरन के अतिरिक्त इलायची में पाये जाने वाले कॉपर, राइबोफ्लेविन, विटामिन सी और नियासिन एनीमिया से लड़ने में मदद करते हैं और शरीर में इसके गंभीर लक्षणों को कम करते हैं। जिसकी वजह से शरीर में खून की कमी नहीं होती है।

(और पढ़ें – शरीर में खून (हीमोग्‍लोबिन) कैसे बढ़ाएं)

इलायची का इस्तेमाल करता है सेक्स लाइफ को बेहतर – Elaichi ke fayde Improves sex life in Hindi

इलायची का इस्तेमाल करता है सेक्स लाइफ को बेहतर - Elaichi ke fayde Improves sex life in Hindi

ज्यादातर लोगों को यह बात नहीं मालूम होती है कि इलायची शक्तिवर्धक टॉनिक और उत्तेजक के रूप में काम करता है। यह सिर्फ शरीर को ही मजबूत नहीं रखता है बल्कि यौन समस्याओं को भी दूर करने में काफी फायदेमंद है।

इलायची का सेवन करने से व्यक्ति खुद को काफी ऊर्जावान महसूस करता है और उसकी यौन शक्ति अधिक मजबूत होती है जिससे वह बिस्तर पर अपने पार्टनर का काफी देर तक साथ देता है। इसलिए यौन संबंधी समस्याओं से पीड़ित लोगों को इलायची का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए।

(और पढ़े – यौन शक्ति बढ़ाने के लिए प्राक्रतिक जड़ी बूटी)

इलायची के नुकसान – Elaichi ke nuksan in Hindi

आमतौर पर इलायची कई मायनों में सेहत के लिए फायदेमंद है। लेकिन अगर अधिक मात्रा में इलायची का सेवन किया जाये तो यह काफी नुकसानदायक भी हो सकता है। तो आइए जानें कि इलायची के क्या नुकसान हैं।

इलायची के नुकसान के कारण एलर्जी हो सकती है – Cardamom causes Allergies in Hindi

इलायची का अधिक मात्रा में सेवन करने से शरीर में एलर्जी हो सकती है। अगर आप कई महीनों या कई सालों तक इलायची अधिक मात्रा में खाते हैं तो इसकी वजह से पूरे शरीर में एलर्जिक रिएक्शन हो सकता है।

ज्यादातर लोगों में यह रिएक्शन देखा गया है कि जो लोग ज्यादा इलायची खाते हैं उनकी त्वचा पर बड़े-बड़े चकत्ते आ जाते हैं और उनमें दर्द और जलन होने लगता है। कुछ मामलों में इलायची के सेवन से गले में भारीपन भी हो जाता है।

(और पढ़े-  एलर्जी लक्षण, बचाव के तरीके और उपचार)

इलायची का साइड इफेक्ट से स्किन में सूजन होना  – Cardamom causes Swelling Of  Skin in Hindi

इलायची का साइड इफेक्ट से स्किन में सूजन होना  - Cardamom causes Swelling Of  Skin in Hindi

यदि आपका शरीर इलायची के प्रति संवेदनशील है तो आपको इसे अपने आहार में शामिल नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है। स्टडी में पाया गया है कि इलायची के अत्यधिक उपयोग से स्किन सूज सकती है जिससे कभी-कभी त्वचा में बहुत ज्यादा दर्द होने लगता है।

यह परेशानी सर्दियों में अधिक बढ़ जाती है। इसलिए इलायची का सेवन करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें कि यदि आपकी त्वचा इलायची के प्रति संवेदनशील है तो इसका सीमित मात्रा में सेवन करें।

(और पढ़ें – चेहरे पर सूजन के लक्षण, कारण, इलाज और घरेलू उपचार)

इलायची के साइड इफेक्ट से जी मिचलाना और उल्टी होना – Elaichi ke nuksan Se Vomiting in Hindi

इलायची के साइड इफेक्ट से जी मिचलाना और उल्टी होना - Elaichi ke nuksan Se Vomiting in Hindi

जी मिचलाना भी इलायची ज्यादा खाने का एक नुकसान हो सकता है। इलायची खाने के बाद यदि आपको किसी तरह की परेशानी हो रही हो या इलायची का स्वाद अलग लग रहा हो तो इसका मतलब कि आपने अधिक इलायची का सेवन कर लिया है। इसकी वजह से आपको जी मिचलाने और मूड खराब होने जैसी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

(और पढ़े – उल्टी और मतली को रोकने के उपाय)

अधिक इलायची के सेवन से सांस लेने में परेशानी – Excess Cardamom causes Respiratory Troubles in Hindi

अधिक इलायची के सेवन से सांस लेने में परेशानी - Excess Cardamom causes Respiratory Troubles in Hindi

इलायची को अधिक खाने से व्यक्ति को सांस संबंधी समस्या हो सकती है। उसे सांस लेने में तकलीफ, दर्द, सीने में कड़ापन जैसी अनेक श्वसन से जुड़ी दिक्कतें उत्पन्न हो सकती हैं। इसलिए इलायची का सेवन करते समय हमेशा ध्यान देना चाहिए और सीमित मात्रा में ही इलायची खानी चाहिए।

(और पढ़ें – अस्थमा (दमा) के कारण, लक्षण, उपचार एवं बचाव)

इलायची के नुकसान से पित्ताशय में स्टोन होने का खतरा – Cardamom causes Gallstone Complications in Hindi

इलायची के नुकसान से पित्ताशय में स्टोन होने का खतरा - Cardamom causes Gallstone Complications in Hindi

अधिक मात्रा में इलायची खाने से पित्ताशय में स्टोन हो सकता है। एक स्टडी के अनुसार इलायची के अधिक सेवन से डाइजेस्टिव सिस्टम इसे पूरी तरह अवशोषित नहीं कर पाता है जिसके कारण गाल ब्लैडर के अंदर स्टोन बनने की आशंका बढ़ जाती है।

अगर कोई व्यक्ति पहले से ही पित्ताशय की पथरी से ग्रसित है तो उसे इलायची का सेवन नहीं करना चाहिए, नहीं तो उसे पेट में भयानक दर्द हो सकता है और कभी-कभी पित्ताशय में संक्रमण के वजह से ब्लीडिंग भी होने लगती है।

(और पढ़े – पथरी होना क्या है? (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम)

इलायची के फायदे और नुकसान (Cardamom (Elaichi) Benefits And Side Effect In Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration