अंकुरित अनाज खाने के फायदे और नुकसान – Sprouts Benefits and side effects in Hindi

अंकुरित अनाज खाने के फायदे और नुकसान - Sprouts Benefits and side effects in Hindi
Written by Ramkumar

Sprouts Benefits In Hindi अंकुरित अनाज खाने के फायदे आपके बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही महत्‍वपूर्ण हैं। यदि आप अपने और अपने बच्‍चों के लिए अंकुरित बीज का उपयोग खाने में नहीं करते हैं तो इसे जल्‍दी ही शुरु करें, यह आपके संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होते हैं। अंकुरित अनाजों में सामान्‍य या कच्‍चे अनाजों से ज्‍यादा पोषक तत्‍व मौजूद रहते हैं। अंकुरित भोजन का सेवन करने से आप पाचन को स्‍वस्‍थ्‍य बना सकते हैं साथ ही प्रतिरक्षा तंत्र (Immune system) को मजबूत कर सकते हैं। हृदय रोग और ऑस्टियोपोरोसिस आदि समस्‍याओं को दूर करने के लिए भी आप अंकुरित अनाज के फायदे (Ankurit Anaj Ke Fayde) ले सकते हैं। आइए जाने अंकुरित अनाज क्‍या हैं।

1. अंकुरित अनाज क्‍या हैं – What are Sprouts in Hindi
2. अंकुरित अनाज के पोषक तत्‍व – Ankurit Anaj Ke Poshak Tatva in Hindi
3. अंकुरित अनाज के प्रकार – Ankurit Anaj Kon Kon Se Hai in Hindi
4. अंकुरित अनाज के नाम – List Of Sprouts In Hindi
5. अंकुरित अनाज कैसे बनाये – Ankurit Anaj Kaise Banaye in Hindi
6. अंकुरित अनाज कब खायें – Ankurit Anaj Kab Khaye in Hindi
7. अंकुरित अनाज के फायदे – Ankurit Anaj Ke Fayde in Hindi

8. अंकुरित अनाज के नुकसान – Ankurit Anaj Ke Nuksan in Hindi

अंकुरित अनाज क्‍या हैं – What are Sprouts in Hindi

अंकुरित अनाज क्‍या हैं – What are Sprouts in Hindi

स्‍पाउट्स जिन्‍हें हिंदी में अंकुरित अनाज (Sprouts) या अंकुरित बीज भी कहा जाता है। ये अनाज या फलियों के अंकुरित बीज होते हैं, जिन्‍हें उच्‍च पौष्टिकता होने के कारण प्रमुख रूप से खाने के लिए उपयोग किया जाता है। अंकुरित अनाज रक्‍त शुद्धिकरण (Blood purification) करने में अपना प्रमुख योगदान देते हैं और कई बीमारियों से बचाने के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत करते हैं। प्राकृतिक चिकित्सा (naturopathy) में अंकुरित अनाज को दवाओं के रूप में जाना जाता है।

अंकुरित अनाज ऐसे बीज होते हैं जिनसे छोटे-छोटे अंकुर निकलने शुरु हो जाते हैं। यह अंकुरण प्रक्रिया आमतौर पर कई घंटों तक बीजों को भिगोने से शुरू होती है। भीगे हुए बीज सही तापमान और नमी के संपर्क में आते हैं तो कुछ दिनों के बाद इनमें अंकुर निकलने लगते हैं, अंकुरित अनाज की लंबाई 2 इंच या लगभग 2 से 5 सेमी हो सकती है। इनमें पोषक तत्‍वों (Nutrients) की मात्रा बहुत अधिक होती है। आइए जाने अंकुरित अनाज के पोषक तत्‍वों के बारे में।

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

अंकुरित अनाज के पोषक तत्‍व – Ankurit Anaj Ke Poshak Tatva in Hindi

यदि आप अंकुरित अनाज का सेवन कर रहे हैं तो यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होता है, क्‍योंकि अंकुरित अनाज में सबसे ज्‍यादा पोषक तत्‍व होते हैं। अंकुरित बीजों में विटामिन ई, पोटेशियम, आयरन, फाइटोकेमिकल्‍स, एंटीआक्‍सीडेंट (Antioxidant), बायोफ्लावोनोइड्स, केमोप्रोटेक्‍टेंट्स और प्रोटीन आदि की बहुत ही अच्‍छी मात्रा मौजूद रहती है। इनमें फोलिक एसिड, जिंक, नियासिन, रिबोफ्लाविन, तांबा और मैग्‍नीशियम जैसे अन्‍य पोषक तत्‍व भी होते हैं जो आपकी त्‍वचा और बालों के लिए भी फायदेमंद होते हैं। इस लेख में आप जानेगें अंकुरित अनाज के फायदे जिन्‍हें आप अब तक नहीं जानते थे। आइए जाने अंकुरित अनाज कितने प्रकार के होते हैं।

(और पढ़े – मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थ और मैग्नीशियम के फायदे…)

अंकुरित अनाज के प्रकार – Ankurit Anaj Kon Kon Se Hai in Hindi

यदि आप सोच रहे हैं कि अंकुरित अनाज किसी एक प्रकार के अनाज से बनाए जा सकते हैं तो ऐसा नहीं है। स्‍प्राउट्स की कई किस्‍में उपलब्‍ध हैं जिनका उपयोग आप अपने शरीर को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए कर सकते हैं। अंकुरित अनाज में आप सभी प्रकार के अनाज, फलियां, नट, सब्जियों के बीज आदि का उपयोग कर सकते हैं। इस प्रकार से तैयार किये गए अंकुरित आहार को आप कच्‍चे ही खा सकते हैं या फिर अपनी सुविधा के अनुसार पकाकर भी इनका उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – ग्वार फली खाने के फायदे, गुण और नुकसान…)

अंकुरित अनाज के नाम – List Of Sprouts In Hindi

अंकुरित अनाज के नाम – List Of Sprouts In Hindi

जैसा की आप जानते ही हैं कि अंकुरित अनाज विभिन्‍न प्रकार के खाद्य अनाजों की अंकुरित अवस्‍था को कहा जाता है। आप अपने उपयोग के लिए अनाज को घर पर ही अंकुरित कर सकते हैं जिनमें उपयोग किये जाने वाले अनाजों के नाम इस प्रकार हैं :

अंकुरित मूंग : अंकुरित अनाजों के रूप में आप मूंग का उपयोग कर सकते हैं, क्‍योंकि इसमें पोषक तत्‍व तो अच्‍छी मात्रा में होते ही हैं साथ ही इसमें एक विशिष्‍ट स्‍वाद (Special taste) होता है जिस कारण इसे अन्‍य खाद्य पदार्थों के साथ भी उपयोग किया जा सकता है।

चने अंकुरित : आपके द्वारा उपयोग किये जाने वाले अंकुरित अनाजों में चने का उपयोग बहुत ही प्रसिद्ध है। अंकुरित चने यौन शक्ति और जीवन शक्ति को बढ़ाने में मदद करते हैं।

अंकुरित ब्रसेल्स : आप ब्रसेल्‍स को अंकुरित (Brussels sprouts) कर उपयोग कर सकते हैं यह बालों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है।

सेम और मटर परिवार : आप सेम और मटर परिवार से जुड़े हुए बीज जैसे कि मसूर, सोयाबीन, मूंग, चने, राजमा, हरी मटर और अन्‍य प्रकार के अनाजों को अंकुरित कर आप इनका उपयोग कर सकते हैं।

अंकुरित अनाज : इसके लिए आप ब्राउन चावल (Brown rice), अनाज, बाजरा, जई आदि को भी अंकुरित करके उपयोग किया जा सकता है।

नट और बीज : आप सभी प्रकार के नट्स जैसे कि बादाम, मूली बीज, अल्‍फाल्‍फा बीज, कद्दू बीज (Pumpkin seeds), तिल के बीज और सूरजमुखी के बीज आदि को अंकुरित करके उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – बादाम को भिगोकर खाने के फायदे और नुकसान…)

अंकुरित अनाज कैसे बनाये – Ankurit Anaj Kaise Banaye in Hindi

आपको अनाज अंकुरित करने के लिए के लिए ज्‍यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं है। आप बस जिस अनाज को अंकुतिर करना चाहते हैं उसे चार से पांच बार पानी में धोएं और किसी गीले कपड़ें में इसे अच्‍छी तरह से लपेट कर पूरी रात के लिए पानी में भीगनें दें। अगली सुबह इन्‍हें पानी से बाहर निकल कर रखें। यदि कपड़े की नमी कम हो तो आप इसमें समय समय पर पानी का छिड़काव (sprinkle) भी कर सकते हैं। एक दिन के बाद आपके द्वारा गीले किये गए अनाज अंकुरित हो जाते हैं। ठंड के मौसम की अपेक्षा गर्मी के मौसम में बीजों को अंकुरित करना ज्‍यादा आसान होता है। इस तरह से आप अपने लिए प्रतिदिन अंकुरित अनाज तैयार कर सकते हैं।

(और पढ़े – फावा बीन्स अर्थात बाकला के फायदे और नुकसान…)

अंकुरित अनाज कब खायें – Ankurit Anaj Kab Khaye in Hindi

आप अपने स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के लिए अंकुरित बीजों का उपयोग कर सकते हैं। सामान्‍य रूप से आप अंकुरित बीजों को दिन में कभी भी सेवन कर सकते हैं। लेकिन यदि आप सुबह के समय अंकुरित बीजों का सेवन करते हैं तो यह आपके संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अतिरिक्‍त लाभ प्रदान कर सकते हैं। आप अपने सुबह के व्‍यायाम (Exercise) के बाद इन्‍हें नाश्‍ते के रूप में उपयोग कर सकते हैं। यदि आप इन्‍हें सबुह उपयोग नहीं कर पाते हैं तो आप भोजन के साथ सलाद के रूप में भी इनका सेवन कर सकते हैं।

लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप अंकुरित भोजन को केवल सुबह या भोजन के समय ही कर सकते हैं। आप अपनी सुविधा के अनुसार जब भी आपको समय मिले इनका सेवन कर सकते हैं। यह जरूर है कि सुबह यदि अंकुरित अनाजों का सेवन किया जाता है तो इसके फायदे बहुत अधिक होते हैं।

(और पढ़े – सुबह के नाश्ते में ये खाएंगे तो रहेंगे फिट…)

अंकुरित अनाज के फायदे – Ankurit Anaj Ke Fayde in Hindi

गलत खान-पान, गलत रहन-सहन, जंक और फास्‍ट फूड (Junk and fast food) आदि का सेवन आपके स्‍वास्‍थ्‍य पर नकारात्‍मक प्रभाव डाल सकते हैं। इनके अंतर्गत मोटापा, मधुमेह, जीवन शैली संबंधी समस्‍याएं आदि हो सकती है। अंकुरित अनाजों का सेवन करने से अम्‍लता और अति-अम्‍लता (acidity and hyper-acidity) के बीच संतुलन बनाए रखने में मदद मिलती है। आप अपने दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले पोषक तत्‍वों की पूर्ति करने के लिए अंकुरित अनाज की मदद ले सकते हैं। इनका सेवन करने से विभिन्‍न प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचा जा सकता है। आइए जाने अंकुरित अनाज खाने के फायदे और नुकसान के बारे में।

(और पढ़े – एसिडिटी के कारण, लक्षण और बचाव के घरेलू उपाय…)

वजन कम करने में अंकुरित अनाज के फायदे – Sprouts Benefits for Weight loss In Hindi

वजन कम करने में अंकुरित अनाज के फायदे - Sprouts Benefits for Weight loss In Hindi

यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो फाइबर की मात्रा से भरपूर अंकुरित अनाजों का सेवन करें। इनमे फाइबर की अच्‍छी मात्रा होने के साथ ही पर्याप्‍त पोषक तत्‍व, एंजाइम, प्रोटीन, सूक्ष्‍म पोषक तत्‍व (Micro nutrients) होते हैं। अंकुरित अनाजों में कैलोरी की मात्रा बहुत ही कम होती है। इसलिए अंकुरित अनाज के फायदे वजन कम करने वाले लोगों के लिए बहुत अधिक होते हैं। क्‍योंकि इनका सेवन करने से आपको पर्याप्‍त पोषण मिलता है साथ ही आपकी भूख की भावना को कम किया जा सकता है।

(और पढ़े – वजन कम करने के लिए नाश्ते में क्या खाएं…)

अंकुरित अनाज के उपयोग मधुमेह के लिए – Ankurit Anaj Ke Upyog Madhumeh Ke Liye in Hindi

अंकुरित अनाज के उपयोग मधुमेह के लिए - Ankurit Anaj Ke Upyog Madhumeh Ke Liye in Hindi

यदि आप उच्‍च रक्‍त शर्करा के प्रभाव से ग्रसित हैं तो आपके लिए अं‍कुरित अनाज फायदेमंद हो सकते हैं। कुछ अध्‍ययन बताते हैं कि अंकुरित अनाज कार्बोस की कुल मात्रा को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा अंकुरित अनाज में एमिलेज एंजाइम की कार्य क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है जो ग्‍लूकोज को तोड़ने और पचाने में मदद करता है। यदि मधुमेह टाइप 2 वाले लोग नियमित रूप से प्रतिदिन 60 ग्राम अंकुरित अनाज का सेवन सामान्‍य आहार के साथ करते हैं तो उनमें मधुमेह के प्रभाव में कमी हो सकती है। इसलिए अंकुरित अनाज का सेवन कर मधुमेह (diabetes) को नियंत्रित किया जा सकता है। मधुमेह में मेथी को अंकुरित कर खाना अधिक फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – मधुमेह को कम करने वाले आहार…)

अच्‍छे पाचन के लिए अंकुरित अनाज खाने के फायदे – Ankurit Anaj khane Ke fayde Pachan Ke Liye in Hindi

अच्‍छे पाचन के लिए अंकुरित अनाज खाने के फायदे - Ankurit Anaj khane Ke fayde Pachan Ke Liye in Hindi

यदि आपकी पाचन प्रणाली (Digestive system) कमजोर है, तो आपके द्वारा लिए जाने वाले खाद्य पदार्थों का पूरा फायदा आपको प्राप्‍त नहीं हो सकता है। इसलिए अपने आहार को अच्‍छी तरह से पचाने और उसके पोषक तत्‍वो को प्राप्‍त करने के लिए आपको पहले अपने पाचन तंत्र को स्‍वस्‍थ्‍य और मजबूत बनाना होगा। इसके लिए आप अंकुरित अनाजों का उपयोग कर सकते हैं। अध्‍ययन बताते हैं कि जब अनाज अंकुरित होते हैं तो उनमें फाइबर की मात्रा बढ़ जाती है। अंकुरित भोजन में विशेष रूप अघुलनशील फाइबर अच्‍छी मात्रा में होते हैं जो आपके मल को बनाने में मदद करते हैं। इस तरह से आप अपनी पाचन शक्ति (digestion) को बढ़ाने के लिए अंकुरित अनाजों का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – मानव पाचन तंत्र कैसा होता है, और कैसे इसे मजबूत बनायें…)

अंकुरित अनाज के गुण दिल के लिए – Ankurit Anaj Ke Gun Dil Ke Liye in Hindi

अंकुरित अनाज के गुण दिल के लिए - Ankurit Anaj Ke Gun Dil Ke Liye in Hindi

आपको यह जान कर आर्श्‍चय हो सकता है कि अंकुरित अनाज का सेवन आपके दिल के लिए फायदेमंद होता है। आप अपने दैनिक आहार में अंकुरित अनाज को शामिल कर अपने हृदय को स्‍वस्‍थ्‍य (Heart healthy) बना सकते हैं। अंकुरित अनाज में उपस्थित पोषक तत्‍व आपके रक्‍त उपस्थित उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम कर सकते हैं। कुछ अध्‍ययनों से पता चला है कि अंकुरित आहार लेने से शरीर में अच्‍छे कोलेस्‍ट्रोल एचडीएल (HDL) को बढ़ाया जा सकता है साथ ही खराब कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को कम किया जा सकता है। यदि आप नियमित रूप से प्रतिदिन अंकुरित भोजन का सेवन करते है तो यह कोलस्‍ट्रॉल के कारण होने वाले दिल से संबंधित रोगों (heart disease) की संभावनाओं को कम कर सकता है।

(और पढ़े – जानें कि क्या होता है अच्छा (HDL) एवं बुरा (LDL) कोलेस्ट्रॉल…)

यौन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अंकुरित अनाज के लाभ – Ankurit Anaj Ke Labh Youn Swasth Ke Liye in Hindi

यौन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अंकुरित अनाज के लाभ - Ankurit Anaj Ke Labh Youn Swasth Ke Liye in Hindi

यदि आप अंकुरित अनाजों का नियमित सेवन करते हैं तो यह आपके सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने के साथ ही आपकी यौन समस्‍याओं को भी ठीक करने में मदद करते हैं। अंकुरित अनाज आपके जननांगों में रक्‍त प्रवाह में वृद्धि करने में मदद करते हैं। उचित रक्‍त प्रवाह होने के कारण आपके स्तंभन दोष का निवारण किया जा सकता है। उचित रक्‍त प्रवाह होने के कारण आपके लिए दिल का दौरा होने की संभावनाओं को भी कम किया जा सकता है। इस प्रकार के लाभ के साथ ही यह आपके शरीर में उचित कोलेस्‍ट्रॉल (Cholesterol) के स्‍तर को भी नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

(और पढ़े – इरेक्टाइल डिसफंक्शन नपुंसकता (स्तंभन दोष) कारण और उपचार…)

अंकुरित आहार के फायदे एनीमिया के लिए – Sprouts Benefits for Anemia in Hindi

अंकुरित आहार के फायदे एनीमिया के लिए – Sprouts Benefits for Anemia in Hindi

खून की कमी आपके शरीर के लिए बहुत ही गंभीर स्थिति हो सकती है। आप अपने शरीर में खून की कमी को पूरा करने के लिए ताजे फलों और दवाओं का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन अंकुरित भोजन इनसे भी अधिक प्रभावी होते हैं। बल्कि यदि आप अंकुरित अनाज का नियमित सेवन करते हैं तो आपको ऐसी दवाओं की आवश्‍यकता ही नहीं होगी। क्‍योंकि अंकुरित आहार उन सुपर फुड में से एक हैं जो एनीमिया को रोक सकता है। शरीर में लाल रक्‍त कोशिकाओं की कमी के कारण आपको थकान और विभिन्‍न प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं हो सकती हैं। यदि आपके शरीर में आयरन की उचित मात्रा मौजूद रहती है तो आप इस प्रकार की समस्‍याओं का मुकाबला कर सकते हैं। अंकुरित अनाज लेने से आपके शरीर में आयरन (Iron) की कमी को पूरा किया जा सकता है जो कि खून की कमी का सबसे बड़ा कारण होता है।

(और पढ़े – क्या है एनीमिया? कारण, लक्षण और आहार…)

अंकुरित अनाज का इस्‍तेमाल फैटी एसिड के लिए – Sprouts Rich in Omega 3 fatty acids in Hindi

अंकुरित अनाज का इस्‍तेमाल फैटी एसिड के लिए - Sprouts Rich in Omega 3 fatty acids in Hindi

ओमेगा-3 फैटी एसिड अंकुरित अनाजों में उच्‍च मात्रा में मौजूद रहता है, इस कारण ये दिल के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही महत्‍वपूर्ण होते हैं। ओमेगा-3 फैटी एसिड कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित करते हैं। अंकुरित भोजन का सेवन करने से हृदय की मांसपेशयों (Heart muscles) को मजबूत करने में मदद मिलती है साथ ही हृदय में होने वाले तनाव को कम किया जा सकता है। अंकुरित अनाज में पोटेशियम भी अच्‍छी मात्रा में जो रक्‍तचाप को नियंत्रित करता है और स्‍ट्रोक की संभावना को भी कम करता है। इस तरह से आयरन, पोटेशियम और ओमेगा-3 फैटी एसिड (Omega-3 Fatty Acid) की अच्‍छी मात्रा होने के कारण अंकुरित अनाज हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं।

(और पढ़े – ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर 10 खाद्य पदार्थ…)

गर्भवती महिला के लिए अंकुरित अनाज के फायदे – Garvbati Mahila Ke Liye Ankurit Anaj Ke Fayde in Hindi

गर्भवती महिला के लिए अंकुरित अनाज के फायदे - Garvbati Mahila Ke Liye Ankurit Anaj Ke Fayde in Hindi

यदि अंकुरित अनाज का सेवन गर्भवती महिलाओं (Pregnant) द्वारा किया जाता है तो यह उनके लिए किसी सुपर फुड से कम नहीं होता है। अंकुरित अनाज में फोलेट की मात्रा कम होती है जिसके कारण तंत्रिका ट्यूब (neural tube) दोषों से बचा जा सकता है। गर्भवती महिलाओं के लिए अंकुरित अनाज बहुत अच्‍छे होते हैं क्‍योंकि यह महिला के स्‍वास्‍थ्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य के साथ-साथ भ्रूण (Embryo) में पल रहे बच्‍चे को पर्याप्‍त पोषक तत्‍व उपलब्‍ध कराते हैं और उसके विकास को गति भी दिलाते हैं। इस तरह से गर्भवती महिलाएं अंकुरित अनाज का सेवन कर फायदे प्राप्‍त कर सकती हैं। लेकिन गर्भावस्था के समय अंकुरित भोजन खाते समय सफाई का विशेष ध्यान रखें।

(और पढ़े – गर्भावस्था में आहार जो देगा माँ और बच्चे को पूरा पोषण…)

अंकुरित अनाज का सेवन आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य रखे – Sprouts Good for eyesight in Hindi

अंकुरित अनाज का सेवन आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य रखे - Sprouts Good for eyesight in Hindi

विटामिन ए की भरपूर मात्रा अंकुरित भोजन में मौजूद रहती है। विटामिन ए आपकी आंखों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यदि नियमित रूप से अंकुरित अनाजों का सेवन किया जाए तो यह रात के अंधापन की समस्‍या को दूर कर आपकी देखने की क्षमता को बढ़ा सकता है। इसके साथ ही विटामिन ए मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी बहुत ही महत्‍वपूर्ण होता है। यदि बुजुर्ग व्‍यक्तियों द्वारा अंकुरित अनाजों का सेवन किया जाता है तो यह मोतियाबिंद (cataracts) की संभावना को कम करता है। इसलिए अपनी आंखों को स्‍वस्‍थ्‍य और तेज द्रष्टि बनाने के लिए अंकुरित अनाज का सेवन फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – आँखों को स्वस्थ रखने के लिए 10 सबसे अच्छे खाद्य पदार्थ…)

बालों के लिए अंकुरित अनाज खाने के फायदे – Sprouts khane ke fayde Balo Ke Liye in Hindi

बालों के लिए अंकुरित अनाज खाने के फायदे - Sprouts khane ke fayde Balo Ke Liye in Hindi

यदि आप अनाजों को अंकुरित करके सेवन करते हैं तो यह आपके सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य के साथ-साथ आपके बालों के विकास (Hair growth) में भी मदद करते हैं। अंकुरित अनाजों में विटामिन सी की पर्याप्‍त मात्रा होती है जो स्‍वस्‍थ्‍य बालों के विकास में मदद करते हैं। यह शरीर में उपस्थित फ्री रेडिकल्‍स को नष्‍ट करते हैं जो आपके बालों को कमजोर, भंगुर और पतला बनाते हैं। इस तरह से अंकुरित अनाज आपके बालों के लिए भी उपयोगी होते हैं।

(और पढ़े – बालों को लम्बे और घने बनाने के लिए आवश्यक तेल का इस्तमाल कैसे करें…)

अंकुरित अनाज के लाभ त्‍वचा के लिए – Sprouts benefits for skin in Hindi

अंकुरित अनाज के लाभ त्‍वचा के लिए - Sprouts benefits for skin in Hindi

आप अपनी त्‍वचा को गोरा (Skin whitening), चमकदार और सुदंर बनाने के लिए अंकुरित अनाज का फायदेमंद उपयोग कर सकते हैं। अंकुरित अनाज का सेवन करने से आप अपनी त्‍वचा को हाइड्रेट रख सकते हैं क्‍योंकि अंकुरित अनाजों में विटामिन बी की अच्‍छी मात्रा होती है जो अतिरिक्‍त सेबम के उत्‍पादन को रोकता है और स्‍वस्‍थ्‍य त्‍वचा के विकास में मदद करता है। अपनी त्‍वचा को हाइड्रेट (Hydrate) रखने के लिए अंकुरित अनाज तैयार किये जाने वाले पानी की 1 गिलास मात्रा का प्रतिदिन सेवन करें।

(और पढ़े – त्‍वचा में निखार के लिए सल्‍फर युक्‍त भोजन…)

स्प्राउट्स के फायदे त्‍वचा कैंसर के लिए – Sprouts Benefits for Cancer in Hindi

स्प्राउट्स के फायदे त्‍वचा कैंसर के लिए - Sprouts Benefits for Cancer in Hindi

आपके शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल्‍स सूरज की रोशनी और पर्यावरण प्रदूषण के निरंतर संपर्क में आने के कारण होते हैं। अंकुरित अनाजों में पाए जाने वाले एंटीऑक्‍सीडेंट त्‍वचा को सूर्य की क्षति और त्‍वचा कैंसर से बचाने के लिए फ्री रेडिकल्‍स (Free radicals) को नष्‍ट करते हैं और त्‍वचा की विभिन्‍न समस्‍याओं से हमे बचाते हैं।

(और पढ़े – कैंसर क्या है कारण लक्षण और बचाव के उपाय…)

अंकुरित अनाज के नुकसान – Ankurit Anaj Ke Nuksan in Hindi

अंकुरित अनाज के नुकसान - Ankurit Anaj Ke Nuksan in Hindi

अंकुरित अनाज हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं लेकिन अधिक मात्रा में सेवन करने पर इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। आ‍इए जाने अंकुरित अनाज का सेवन करने से हमें किस प्रकार के नुकसान (Side effects) हो सकते हैं।

कुछ जानकारों का मानना है कि अंकुरित अनाजों का सेवन करने से विषाक्‍तता पैदा हो सकती है, जिसका अर्थ यह है कि स्प्राउट्स सभी प्रकार के बैक्‍टीरिया, विषाक्‍त पदार्थों और अन्‍य हानिकारक रसायनों को आपके शरीर तक पहुंचा सकते हैं। अंकुरित अनाज से आमतौर पर दो प्रकार के जीवाणु ई. कोलाई और साल्‍मोनेला के फैलने की संभावना होती है।

ई. कोलाई बैक्‍टीरिया पेट की ऐंठन और दस्‍त (Stomach cramps and diarrhea) आदि समस्‍याओं का कारण होता है। ई. कोलाइ बैक्‍टीरिया नवजात शिशुओं (New born babies) के स्‍वास्‍थ्‍य को भी प्रभावित कर सकता है जिससे गुर्दे की हानि, रक्‍तस्राव, एनीमिया आदि लक्षण हो सकते हैं।

गर्भावस्था के समय इनके सेवन से बचना चाहिये क्योकि इनमे बैक्‍टीरिया जल्दी ग्रोथ कर सकते हैं जो प्रेगनेंसी में पेट की ऐंठन और दस्‍त जैसी समस्याओं को बढ़ा सकते हैं।

(और पढ़े – किडनी फ़ैल, कारण, लक्षण, निदान और उपचार…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration