मसूर की दाल के फायदे और नुकसान – Masoor Dal (Red Lentil) Benefits and Side Effects in Hindi

मसूर दाल के फायदे और नुकसान - Masoor Dal (Red Lentil) Benefits and Side Effects in Hindi
Written by Ramkumar

Masoor Dal Khane Ke Fayde aur Nuksan In Hindi मसूर की दाल के फायदे इन हिंदी मसूर की दाल (Red Lentil) हमारे खाद्य आहार का प्रमुख हिस्‍सा है, आप भले ही मसूर के फायदे और नुकसान के बारे में न जानते हों लेकिन इसका सेवन जरूर करते होगें। क्‍या आप यह जानते हैं कि मसूर के फायदे हमारे लिए किसी इलाज करने वाली दवा से कम नहीं होते हैं। मसूर दाल को भारत जैसे देशों में विभिन्‍न प्रकार के व्‍यंजनों को बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। मसूर दाल का सेवन करने से मधुमेह (diabetes), कैंसर, वजन कम करना आदि अनेक समस्‍याओं का समाधान किया जा सकता है। आज हमारा यह लेख मसूर के फायदे और नुकसान पर केंद्रित है। जो आपको मसूर दाल (Masoor dal) का उपभोग करने के उन विशेष कारणों से अवगत कराएगा जिन्‍हें आप अब तक नहीं जानते थे।

आइए जाने मसूर की दाल खाने के फायदे क्‍या हैं।

1. मसूर क्‍या है – What is Masoor in Hindi
2. मसूर के पोषक तत्‍व – Lentil Nutrition Facts in Hindi
3. मसूर की दाल के फायदे इन हिंदी – Masoor Ki Dal Ke Fayde In Hindi

4. मसूर की दाल के नुकसान – Masoor Ki Dal Ke Nuksan in Hindi

मसूर क्‍या है – What is Masoor in Hindi

मसूर क्‍या है – What is Masoor in Hindi

Masoor Dal In Hindi एक विशेष खाद्य आहार जिसे हम दाल या बीज कह सकते हैं जो कि फलियां परिवार (Legumes family) से संबंधित है। यह एक विशेष प्रकार के पतले छिल्‍के से ढ़का हुआ बीज है जो दो भागों में बंटा हुआ होता है, इनका आकार लैंस की तरह होता है। मसूर को छिल्‍के के साथ या बिना छिल्‍के के साथ खाया जा सकता है। इसके छिल्‍के में फाइबर (dietary fiber) अच्‍छी मात्रा में मौजूद होते हैं। लेकिन आजकल इन्‍हें बिना छिल्‍कों के ज्‍यादा पसंद किया जाता है।

मसूर कई प्रकार की होती है जैसे काली मसूर, लाल मसूर, पीली मसूर, भूरे रंग की मसूर, हरे मसूर आदि कई प्रजातियां शामिल हैं। मसूर को उच्‍च प्रोटीन वाला स्रोत माना जाता है। इनमें आवश्‍यक अमीनो एसिड और लाइसिन अच्‍छी मात्रा में होते हैं साथ ही इसमे खनिजों और सूक्ष्‍म पोषक तत्‍वों (Micronutrients) की अच्‍छी मात्रा मौजूद रहती है। आइए जाने मसूर दाल के फायदे और उनके पोषक तत्‍व के बारे में।

(और पढ़े – सेहत के लिए फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ…)

मसूर के पोषक तत्‍व – Lentil Nutrition Facts in Hindi

ऐसा माना जाता है किसी पौधों से प्राप्‍त प्रोटीन की मात्रा से उच्‍च मात्रा मसूर में पाई जाती है। मसूर में पाए जाने वाले प्रोटीन की मात्रा लगभग अधिकतम 35 % है (प्रति 100 ग्राम 15-25 ग्राम) जो कि चिकिन, मटन और मछली आदि से तुलनीय है। मसूर में कार्बोहाइड्रेट (carbohydrate), फाइबर अच्‍छी मात्रा में होते हैं लेकिन इनमें कम मात्रा में कैलोरी होती है। मसूर के फायदेमंद पोषक तत्‍वों में मोलिब्‍डेनम (Molybdenum), फोलेट, ट्राइपोफान (Tryptophan), मैंगनीज, लौह (Iron), फॉस्‍फोरस, तांबे, विटामिन बी1 और पोटेशियम होते हैं।

मसूर फाइटोकेमिकल्स और फिनोल का स्रोत भी हैं। इन दोनों कार्बनिक रसायनों को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने के लिए जाना जाता है जो हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लाभकारी होते हैं। आइए जानते हैं मसूर के फायदे और स्‍वास्‍थ्‍य लाभ क्‍या हैं।

(और पढ़े – पोटैशियम के कार्य, मात्रा, स्रोत, फायदे और नुकसान…)

मसूर की दाल के फायदे इन हिंदी – Masoor Ki Dal Ke Fayde In Hindi

  1. मसूर दाल खाने के फायदे वजन घटाने में – Red Lentil For Weight Loss In Hindi
  2. मसूर की दाल के फायदे कैंसर को रोके – Masoor Dal Ke Fayde Cancer Ko Roke in Hindi
  3. मसूर दाल के फायदे मधुमेह के लिए – Masoor Dal Ke Fayde Madhumeh Ke Liye in Hindi
  4. मसूर दाल खाने के फायदे दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखे – Masoor Dal Khane Ke Fayde Dil Ko Swasth Rakhe In Hindi
  5. मसूर की दाल के फायदे कोलेस्‍ट्रोल को कम करे – Masoor Ki Dal Ke Fayde Cholesterol Kam Kare In Hindi
  6. मसूर के दाल के फायदे पाचन के लिए – Masoor Dal Pachan Ke Liye Labhkari In Hindi
  7. मसूर दाल का उपयोग मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Masoor Dal Ka Upyog Mastishk Swasth Ke Liye In Hindi
  8. मसूर दाल के गुण ऊर्जा बढ़ाने में मदद करे – Masoor Dal Ke Gun Urja Badhaye In Hindi
  9. लाल मसूर के फायदे महिलाओं के लिए – Lal Masoor Ke Fayde Mahilaon Ke Liye In Hindi
  10. काली मसूर की दाल के फायदे चयापचय को बढ़ाए – Kali Masoor Ki Daal Ke Fayde For Metabolism In Hindi
  11. मसूर दाल फोर स्किन – Red Lentil For Skin In Hindi

मसूर दाल खाने के फायदे वजन घटाने में – Red Lentil For Weight Loss In Hindi

पोषक तत्‍वों से भरपूर होने के कारण मसूर हमारे संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होती है, लेकिन कुछ लोग समझते हैं कि यह उनके वजन को बढ़ा सकता है। जबकि ऐसा नहीं है। अगर आपके मन में ऐसी कोइ भ्रांति है तो इसे भूल जाएं। और वजन कम करने वाले प्रयासों के साथ-साथ मसूर दाल का सेवन करें। मांस और पोल्ट्री उत्‍पादों का अधिक मात्रा में सेवन करने से वजन बढ़ता है, जो कि इनमें मौजूद संतृप्‍त वसा (saturated fats) के कारण होता है। यदि नियमित रूप से मसूर दाल का सेवन किया जाता है तो यह आपके शरीर में वसा के निर्माण को रोकने में मदद करता है जिससे आपका वजन कम हो सकता है।

मसूर दाल का उपयोग आप विभिन्‍न प्रकार व्‍यंजनों या सलाद के रूप में कर सकते हैं। यह भोजन में वसा या कार्बोहाइड्रेट (fat or carbohydrate) के स्‍तर को कम करने में मदद करता है। मोटापे से ग्रस्‍त लोगों को मसूर का सेवन करना फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – वजन कम करने के लिए नाश्ते में क्या खाएं…)

मसूर की दाल के फायदे कैंसर को रोके – Masoor Dal Ke Fayde Cancer Ko Roke in Hindi

हमारे अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए मसूर के फायदे जाने जाते हैं जिनमें कैंसर का सामना करने की क्षमता भी शामिल है। पहले के कुछ अध्‍ययन बताते हैं कि मसूर, मटर, सोयाबीन, मूंगफली और गेहूं जैसे प्रोटीन में समृद्ध खाद्य पदार्थ कैंसर की कोशिकाओं के विकास को रोकने में मदद करते हैं। इसके साथ ही लेक्टिन या प्रोटीन (Lectins Or Protein) साइटोटोक्सिसिटी और एपोप्‍टोसिस (Cytotoxicity And Apoptosis) का कारण बन सकता है जिसका अर्थ है कि वे कैंसर के विकास को प्रतिबंधित कर सकते हैं। इसके साथ एक अन्‍य अध्‍ययन में पाया गया कि मसूर में एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा होती है जो कैंसर को रोकने में मदद करती है।

(और पढ़े – कैंसर क्या है कारण लक्षण और बचाव के उपाय…)

मसूर दाल के फायदे मधुमेह के लिए – Masoor Dal Ke Fayde Madhumeh Ke Liye in Hindi

यदि आप मधुमेह (Diabetes) से बचना चाहते हैं तो अपने नियमित आहार में मसूर की दाल को शामिल करें। मसूर दाल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों में एक लाभ यह भी है कि मसूर आपके रक्‍त प्रवाह में चीनी के स्‍तर (Sugar levels) को नियंत्रित कर सकता है, जो बदले में मधुमेह जैसी घातक बीमारियों को रोकने में मदद करता है। यदि आप में मधुमेह टाइप-2 के लक्षण हैं तो आपको नियमित रूप से मसूर दाल का सेवन करना चाहिए। क्‍योंकि मसूर में घुलनशील फाइबर अच्‍छी मात्रा में होती हैं साथ ही यह इंसुलिन और प्‍लाज्‍मा ग्‍लूकोज (Insulin and Plasma Glucose) को नियंत्रित करने में मदद कर सकती हैं जिससे रक्‍त शर्करा को नियंत्रित किया जा सकता है। यदि आप अपने जीवन में मधुमेह के संकट का अनुभव नहीं करना चाहते हैं तो मसूर दाल का नियमित सेवन आपके लिए एक अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है।

(और पढ़े – मधुमेह को कम करने वाले आहार…)

मसूर दाल खाने के फायदे दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखे – Masoor Dal Khane Ke Fayde Dil Ko Swasth Rakhe In Hindi

फाइबर युक्‍त खाद्य पदार्थों का सेवन करने से हृदय रोगों (Heart diseases) का खतरा कम हो जाता है। मसूर में फाइबर के साथ-साथ फोलेट और मैग्‍नीशियम भी अच्‍छी मात्रा में मौजूद रहते हैं जो हृदय स्‍वास्‍थ्‍य (Cardiovascular Health) को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। फोलेट हमारे शरीर में होमोसिस्‍टी के स्‍तर को कम करने में मदद करता है, जो हृदय रोगों के लिए गंभीर कारक होता है। मैग्‍नीशियम (Magnesium) पूरे शरीर में रक्‍त प्रवाह, ऑक्‍सीजन और पोषक तत्‍वों को बढ़ाने में मदद करता है। यदि आपके शरीर में मैग्‍नीशियम की कमी होती है तो यह हृदय रोगों (Heart Diseases) की संभावनाओं को बढ़ा देता है। इसलिए आप अपने दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए मसूर दाल का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – दिल मजबूत करने के उपाय…)

मसूर की दाल के फायदे कोलेस्‍ट्रोल को कम करे – Masoor Ki Dal Ke Fayde Cholesterol Kam Kare In Hindi

स्‍वस्‍थ्‍य और निरोगी शरीर के लिए कोलेस्‍ट्रॉल की अधिक मात्रा घातक हो सकती है। कोलेस्‍ट्रॉल की अधिक मात्रा हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के साथ-साथ अन्‍य बीमारियों को भी निमंत्रण देता है। लेकिन आप यदि नियमित रूप से मसूर की दाल का सेवन करते हैं तो यह आपके शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल (Cholesterol) को नियंत्रित कर सकता है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि यदि मसूर दाल का सेवन करने से खराब कोलेस्‍ट्रॉल को 5 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है। इसके अलावा मसूर दाल का सेवन करने से तांबे की दैनिक जरूरत का 50 प्रतिशत हिस्‍सा प्राप्‍त किया जा सकता है। आप अपने शरीर को स्‍वस्‍थ्‍य रखने और खराब कोलेस्‍ट्रॉल को दूर हटाने के लिए मसूर को अपने नियमित आहार में शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़े – कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए भारतीय घरेलू उपाय और तरीके…)

मसूर के दाल के फायदे पाचन के लिए – Masoor Dal Pachan Ke Liye Labhkari In Hindi

स्‍वस्‍थ्‍य पाचन के लिए फाइबर (Dietary Fiber) महत्‍वपूर्ण है, मसूर में फाइबर अच्‍छी मात्रा में मौजूद रहते हैं जो आपके पाचन तंत्र को साफ करने और उसे मजबूत करने के लिए जाने जाते हैं। यदि आप अपनी पाचन समस्‍याओं जैसे कि कब्‍ज, सूजन, दस्‍त, आंतों की सूजन (Inflammatory Bowel Diseases) आदि का उपचार करना चाहते हैं तो अपने आहार में मसूर दाल को शामिल करें। यह आपके पेट से सं‍बंधित समस्‍याओं (Stomach problems) को दूर करने में मदद करती है।

(और पढ़े – मानव पाचन तंत्र कैसा होता है, और कैसे इसे मजबूत बनायें…)

मसूर दाल का उपयोग मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Masoor Dal Ka Upyog Mastishk Swasth Ke Liye In Hindi

मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य (Brain Health) को बनाए रखने के लिए मसूर का उपयोग बहुत ही फायदेमंद होता है। यह आर्श्‍चय की बात है‍ कि मसूर में अन्‍य खाद्य पदार्थों की तुलना में सबसे ज्‍यादा फोलेट उपस्थित रहता है क्‍योंकि दैनिक जरूरत के आधार पर केवल 1 कम मसूर दाल का सेवन करने 90 प्रतिशत फोलेट प्राप्‍त किया जा सकता है। फोलेट, न्‍यूरोट्रांसमीटर (Neurotransmitters)  के उत्‍पादन में एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है जो मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देता है। मसूर में उपस्थित फोलेट और विटामिन बी गर्भवती महिलाओं में रक्‍त विकारों और जन्‍म दोष (Birth Defects) को दूर करने में मदद करता है।

यदि आप यह सोचते हैं कि विटामिन, खनिज और सूक्ष्‍म पोषक तत्‍व (Micronutrients) आपके मस्तिष्‍क या तंत्रिका तंत्र को प्रभावित नहीं करते हैं तो आप गलत सोच रहे हैं। अध्‍ययन बताते हैं कि मसूर में उपस्थित पोषक तत्‍व और विटामिन मस्तिष्‍क के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होते हैं। इसलिए न केवल मानसिक विकार वाले लोगों के लिए बल्कि सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य बाले लोगों के लिए भी मसूर का सेवन फायदेमंद होता है।

(और पढ़े – मानसिक रोग के लक्षण, कारण, उपचार, इलाज, और बचाव…)

मसूर दाल के गुण ऊर्जा बढ़ाने में मदद करे – Masoor Dal Ke Gun Urja Badhaye In Hindi

ऐसे लोग जिन्‍हें दैनिक गतिविधियों के लिए अधिक ऊर्जा की आवश्‍यकता होती है, उनके लिए मसूर एक अच्‍छा खाद्य विकल्‍प होता है। मसूर में बहुत से पोषक तत्‍व भरपूर मात्रा में होते हैं जिनमें आयरन और कॉपर भी शामिल हैं। ये खनिज पदार्थ हमारे शरीर में ऊर्जा उत्‍पादन को बढ़ाने में मदद करते हैं। आयरन हमारे शरीर में रक्‍त की कमी को दूर करके एनिमिया (Anemia) के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है। मसूर दाल का नियमित सेवन कर आप अपनी ऊर्जा को बढ़ा सकते हैं।

(और पढ़े – क्या है एनीमिया? कारण, लक्षण और आहार…)

लाल मसूर के फायदे महिलाओं के लिए – Lal Masoor Ke Fayde Mahilaon Ke Liye In Hindi

महिलाओं के लिए मसूर एक स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक (Health booster) खाद्य के रूप में उपयोग किया जा सकता है। विशेष तौर पर यह गर्भवती और स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए फायदेमंद होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि मसूर में आयरन की अच्‍छी मात्रा होती है। यदि 200 ग्राम मसूर का सेवन किया जाता है तो इससे लोहे की दैनिक जरूरत का 36 प्रतिशत भाग प्राप्‍त किया जा सकता है। मासिक धर्म और स्‍वस्‍थ्‍य गर्भावस्‍था के लिए महिलाओं को आयरन की विशेष आवश्‍यकता होती है। इस तरह मसूर का सेवन कर महिलाएं अपने स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा दे सकती हैं।

(और पढ़े – पीरियड्स में पेट दर्द का घरेलू उपाय…)

काली मसूर की दाल के फायदे चयापचय को बढ़ाए – Kali Masoor Ki Daal Ke Fayde For Metabolism In Hindi

विटामिन बी3 सहित बहुत से विटामिनों की अच्‍छी मात्रा मसूर दाल में उपस्थित रहती है, जो पाचन और तंत्रिका तंत्र (digestive and nervous systems) आदि को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। विटामिन बी3 कोलेस्‍ट्रॉल नियंत्रण सहित कई अन्‍य लाभ प्रदान करता है। काली मसूर का उपयोग कर आप अपने शरीर चयापचय की दर को बढ़ा सकते हैं साथ ही साथ इसका सेवन करने से अल्‍जाइमर, मोतियाबिंद, ऑस्टियोआर्थराइटिस (osteoarthritis) और मधुमेह जैसी बीमारियों को रोका जा सकता है।

(और पढ़े – चयापचय (मेटाबॉलिज्म) को बढ़ाने के तरीके…)

मसूर दाल फोर स्किन – Red Lentil For Skin In Hindi

स्‍वास्‍थ्‍य के लिए मसूर के फायदे तो आप जान ही चुके हैं लेकिन यह भी जान लें कि यह आपकी सुंदरता को बढ़ाने में महत्‍वपूर्ण योगदान देती है। मसूर दाल में बहुत से पोषक तत्‍व (Nutrients) मौजूद हैं जो आपकी त्‍वचा संबंधी विकारों को दूर करने में मदद करते हैं। आप मसूर दाल के आटे का पेस्‍ट बनाकर अपनी त्‍वचा में चेहरा मास्‍क के रूप में उपयोग कर सकते हैं। मसूर दाल आपके चेहरे की त्‍वचा के विकारों को दूर करने के साथ-साथ मुंहासों, फुंसीयों को मिटाने में मदद करती है। चेहरे पर इसका उपयोग करके आप अपनी त्‍वचा को चिकना और मुलायम बना सकते हैं। आपके चेहरे पर मुंहासे आने का प्रमुख कारण आपकी तेलीय त्‍वचा होती है। मसूर आपके चेहरे से तेल को हटाने में मदद करती है साथ उम्र बढ़ने के लक्षणों जैसे कि त्‍वचा की लकीरों और झुर्रियों (Wrinkles) कम करने में लाभकारी होती है।

(और पढ़े – मसूर दाल के बेहतरीन बॉडी स्क्रब…)

मसूर की दाल के नुकसान – Masoor Ki Dal Ke Nuksan in Hindi

मसूर की दाल के नुकसान – Masoor Ki Dal Ke Nuksan in Hindi

स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने के लिए मसूर की दाल का उपयोग किया जाता है, लेकिन इसके स्‍वास्‍थ्‍य लाभ तब प्राप्‍त किये जा सकते हैं जब इसका सेवन नियमित और कम मात्रा में किया जाए।

अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से कुछ हानिकारक प्रभाव सामने आ सकते हैं।

इसके साथ ही यह कुछ विशेष लोगों के लिए हानिकारक हो सकता है। मसूर दाल के नुकसान निम्न हैं

  • अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से गुर्दे पर दबाव हो सकता है, और यह गुर्दे की विफलता का कारण बन सकता है।
  • मसूर का सेवन करने के बाद मसूर पाचन तंत्र में किण्‍वन शुरू करते हैं, जिससे पेट मे गैस बनती है।
  • यदि आप जरूरत से ज्‍यादा मसूर का सेवन करते हैं तो आपको गैस की समस्‍या से जूझना पड़ सकता है।
  • ऑक्‍सालेट योगिकों की अच्‍छी खासी मात्रा मसूर में मौजूद रहती है। ऑक्‍सालेट यौगिक गुर्दे के पत्‍थरों का निर्माण करते हैं।
  • यदि आप पहले से ही पेट की पथरी से ग्रसित हैं तो आपको मसूर का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो मसूर का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें, कहीं यह आपकी समस्‍या को और न बढ़ा दें।

(और पढ़े – पथरी होना क्या है? (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम…)

Subscribe for daily wellness inspiration