खांसी के घरेलू उपाय और इलाज – Home Remedies for Cough in Hindi

खांसी के घरेलू उपाय और इलाज - Home Remedies for Cough in Hindi
Written by Deepti

Khansi ke gharelu upay in hindi : खांसी एक बहुत ही आम समस्या है। एक बार अगर ये हो जाए, तो आसानी से इससे छुटकारा मिल पाना मुश्किल है। अगर आप भी इस बदलते मौसम में खांसी से परेशान हैं, तो कोई दवा या कफ स‍िरप लेने से पहले कुछ प्राकृतिक घरेलू उपाय और उपचार (Khansi ke gharelu upay) को आजमा सकते हैं, जो आपकी खांसी को जल्दी ही बिना किसी खर्चे के ठीक कर देंगें। खांसी आमतौर पर दो तरह की होती है। सूखी खांसी और गीली खांसी। सूखी खांसी कुछ समय में सही हो जाती है, लेकिन गीली खांसी का वक्त रहते इलाज नहीं किया गया, तो यह बीमारी का रूप भी धारण कर सकती है। कभी-कभी तो अगर गीली या बलगम वाली खांसी की समस्या बढ़ जाए, तो यह दो से तीन महीने तक सही नहीं होती, जिसके लिए फिर सही इलाज ही लेना पड़ता है।

लेकिन अगर आपको बार-बार खांसी होती है, तो दवाओं में पैसे खर्च करने से अच्छा है कि आप इसके लिए घरेलू उपचारों की मदद लें। मौसम में होने वाला जरा सा बदलाव सबसे पहले हमारे शरीर को प्रभावित करता है। सर्दी होने पर नाक और गला पूरी तरह से बंद हो जाता है और सांस लेने में तकलीफ होती है। कई बार सर्दी तो ठीक हो जाती है, लेकिन सर्दी -जुकाम के ठीक होने के बाद खांसी पीछा नहीं छोड़ती है। ऐसे में अगर आप सूखी खांसी और बलगम वाली खांसी की समस्या को जड़ से खत्म करने के कोई नुस्खे तलाश रहे हैं, तो आज का हमारा ये आर्टिकल आपकी बहुत मदद करेगा। यहां खांसी को दूर करने के लिए बताएं जा रहे घरेलू नुस्खे बड़ी-बड़ी बीमारियों को तक ठीक कर देते हैं। लेकिन सबसे पहले जानते हैं खांसी के कारण और इसके प्रकार।

  1. खांसी के कारण – What causes of cough in Hindi
  2. खांसी के प्रकार- Types of cough in Hindi
  3. खांसी से बचने के टिप्स – Prevention Tips For Cough in Hindi

खांसी के कारण – What causes of cough in Hindi

खांसी के कारण - What causes of cough in Hindi

खांसी कई कारणों से हो सकती है। फिर वह चाहे सूखी खांसी हो या गीली या बलगम वाली खांसी। नीचे हम आपको खांसी के कारणों से अवगत करा रहे हैं, ताकि समय रहते आप इसका इलाज कर सकें।

(और पढ़े – खांसी का घरेलू उपचार, ड्राई कफ हो या वेट कफ…)

खांसी के प्रकार- Types of cough in Hindi

खांसी कई प्रकार की होती है। खासतौर पर लोगों को तीव्र खांसी, पुरानी खांसी, सूखी खांसी, कफ वाली खांसी, कुक्कर खांसी और रात को होने वाली खांसी की समस्या होती है। लेकिन आज हम अपने लेख में बताएंगे सूखी खांसी और बलगम खासी से छुटकारा पाने के घरेलू नुस्खों के बारे में। लेकिन इससे पहले जानिए क्या होती है सूखी खांसी और बलगम खांसी।

सूखी खांसी क्या होती है – What is dry cough in Hindi

सूखी खांसी क्या होती है - What is dry cough in Hindi

सूखी खांसी कोई बीमारी नहीं है, बल्कि कई बार वायरल इंफेक्शन व सर्दी के कारण, स्मोकिंग करने या धूल मिट्टी के संपर्क में रहने से भी सूखी खांसी हो जाती है। असल में यह बिना बलगम वाली खांसी होती है। छाती के बीच से उठने वाली खांसी श्वासन नली में गड़बड़ी होने से उठती है। खांसी अगर लगातार हो, तो सीने में दर्द तक होने लगता है। आपको बता दें, कि सूखी खांसी से सबसे ज्यादा संक्रमण फैलने का डर रहता है। खांसते वक्त इसके कीटाणु मुंह से निकलकर हवा में फैल जाते हैं और दूसरे व्यक्ति के शरीर में सांस के द्वारा अंदर चले जाते हैं, जिससे दूसरा व्यक्ति भी इससे संक्रमित हो जाता है। इसलिए जब भी किसी व्यक्ति को सूखी खांसी हो, तो उससे दूर रहने की सलाह दी जाती है।

(और पढ़े – सूखी खांसी के लिए घरेलू उपचार…)

सूखी खांसी के लक्षण- Symptoms of dry cough in Hindi

सूखी खांसी के लक्षण- Symptoms of dry cough in Hindi

सूखी खांसी काफी परेशान करती है, इसलिए अगर इसके लक्षणों को पहले से जान लिया जाए, तो काफी हद तक इस समस्या से राहत मिल सकती है।

  • सोने में परेशानी होना
  • गले में कुछ अटका हुआ सा लगना
  • हांफने जैसी खांसी हो
  • नाक बहना
  • सिरदर्द, उल्टी और जी मिचलाना

(और पढ़े – उल्टी और मतली को रोकने के उपाय…)

सूखी खांसी के घरेलू नुस्खे – Home remedies for dry cough in Hindi

वैसे तो खांसी होने पर लोग बाजार में उपलब्ध कई दवाओं का सेवन करते हैं, लेकिन दवा खाने के बाद भी सूखी खांसी एक या दो दिन में ठीक नहीं होती, कई बार तो 10-15 दिन तो कई बार महीनों लग जाते हैं, ऐसे में अगर घर में ही इसका इलाज मिल जाए, तो क्या बुरा है। घरेलू इलाज की मदद से सूखी खांसी को जड़ से खत्म किया जा सकता है।

सूखी खांसी का घरेलू नुस्खा शहद – Sukhi khansi ka gharelu nuskha honey in Hindi

सूखी खांसी का घरेलू नुस्खा शहद - Sukhi khansi ka gharelu nuskha honey in Hindi

आयुर्वेद के अनुसार शहद खांसी में किसी दवा से कम नहीं है। शहद खांसी के लिए एक लोकप्रिय और प्राचीन घरेलू नुस्खा है। इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण खांसी के कीटाणुओं को नष्ट कर देते हैं। खांसी के इलाज के लिए शहद का उपयोग करने के लिए गर्म पानी या एक कप हर्बल चाय के साथ दो चम्मच शहद मिलाएं। खांसी होने पर इस मिश्रण को दिन में एक या दो बार पीएं। बच्चों की खांसी के लिए भी ये कारगार इलाज है, लेकिन एक साल से कम उम्र के बच्चे को शहद देने से बचें।

(और पढ़े – शहद के फायदे उपयोग स्वास्थ्य लाभ और नुकसान…)

सूखी खांसी बंद करने का घरेलू तरीका हल्दी – Sukhi khansi band karne ka tarika haldi

सूखी खांसी बंद करने का घरेलू तरीका हल्दी - Sukhi khansi band karne ka tarika haldi

आयुर्वेद में हल्दी का उपयोग सदियों से होता आ रहा है। खांसी दूर करने के लिए आधा कप गर्म पानी में एक चम्मच हल्दी, एक चम्मच दालचीनी और एक चम्मच काली मिर्च मिलाएं। इसे एक से दो मिनट और उबालें और फिर इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं। इस मिश्रण को दिन में तब तक दो बार पीएं, जब तक की खांसी पूरी तरह से सही न हो जाए।

(और पढ़े – हल्दी के फायदे गुण लाभ और नुकसान…)

सूखी खांसी का घरेलू उपाय अदरक – Ginger Home remedy for dry cough in Hindi

सूखी खांसी का घरेलू उपाय अदरक - Ginger Home remedy for dry cough in Hindi

अदरक सूखी मुंह की अचूक दवा है। यह सूखी खांसी और दमा खांसी को कम कर सकता है। इसमें मौजूद एंटीइंफ्लेमेट्री गुण खांसी के दौरान झिल्ली को आराम देते हैं, जिससे मतली और दर्द से राहत मिलती है। इसका उपयोग करने के लिए एक कप गर्म पानी में ताजा अदरक की स्लाइस मिलाकर अदरक की चाय बना लें। पीने से कुछ मिनट पहले इसे ठंडा करें। स्वाद लाने के लिए इसमें शहद या नींबू का रस मिला सकते हैं, ऐसा करने से खांसी बहुत जल्दी ठीक हो जाएगी।

(और पढ़े – अदरक के फायदे, औषधीय गुण, उपयोग और नुकसान…)

खांसी में नमक के पानी का उपयोग फायदेमंद – Sukhi khansi me salt water faydemand in Hindi

खांसी में नमक के पानी का उपयोग फायदेमंद - Sukhi khansi me salt water faydemand in Hindi

सूखी खांसी होने पर नमक के पानी का इस्तेमाल करना बहुत अच्छा माना जाता है। यह गले में दर्द को दूर करने के साथ कफ में भी आराम देता है। इसके लिए एक कप गर्म पानी में एक चम्मच नमक मिलाएं और मुंह में लेकर 15 मिनट तक गरारे करें। इससे गले को बहुत आराम मिलेगा। आप चाहें तो इस प्रक्रिया को रोजाना कर सकते हैं।

(और पढ़े – नमक के पानी के फायदे और नुकसान…)

सूखी खांसी में बेहद असरदार है नींबू – Sukhi khansi ka ilaj lemon in Hindi

सूखी खांसी में बेहद असरदार है नींबू - Sukhi khansi ka ilaj lemon in Hindi

नींबू में मौजूद विटामिन सी कफ के संक्रमण को दूर करने में मदद करता है। खांसी दूर करने के लिए दो चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच शहद मिलाएं। इसे दिन में कई बार पीने से खांसी दूर हो जाएगी।

(और पढ़े – नींबू के फायदे और नुकसान…)

सूखी खांसी का घरेलू उपचार लहसुन – Sukhi khansi ka gharelu upchar garlic in Hindi

सूखी खांसी का घरेलू उपचार लहसुन - Sukhi khansi ka gharelu upchar garlic in Hindi

लहसुन सूखी खांसी में एक बहुत अच्छा घरेलू उपचार है। लहसुन में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण, बहुत जल्दी खांसी को ठीक कर देते हैं। इसके लिए एक कप पानी में लहसुन की दो से तीन कलियां उबालें। इसे थोड़ा ठंडा कर शहद डालें और पी जाएं। ऐसा करने से आपको काफी आराम मिलेगा।

(और पढ़े – लहसुन के फायदे और नुकसान…)

सूखी खांसी से राहत दिलाए गर्म दूध – Sukhi khansi se rahat dilaye garam doodh in Hindi

सूखी खांसी से राहत दिलाए गर्म दूध - Sukhi khansi se rahat dilaye garam doodh in Hindi

सूखी खांसी कफ को दूर करने में बहुत मददगार है। गर्म दूध पीने से खांसी के दौरान होने वाले सीने में दर्द से राहत मिलती है। खांसी दूर करने के लिए एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर पीएं। खांसी में बहुत आराम मिलेगा।

(और पढ़े – दूध के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान…)

सूखी खांसी का बढ़ियां घरेलू उपचार काली मिर्च – Sukhi khansi ka upchar black pepper in Hindi

सूखी खांसी का बढ़ियां घरेलू उपचार काली मिर्च - Sukhi khansi ka upchar black pepper in Hindi

खांसी दूर करने के लिए काली मिर्च एक खतरनाक तरीका लगता है, लेकिन काली मिर्च को अगर शहद के साथ लिया जाए, तो यह बहुत प्रभावी है। हालांकि इसे लेने से गले में थोड़ी चुबन हो सकती है, लेकिन इससे आपकी खांसी घंटो के लिए सही हो जाएगी। इसके लिए आपको एक कप गर्म पानी में दो चम्मच शहद और एक छोटी चम्मच काली मिलाएं। कप को 10-15 मिनट के लिए ढंक कर रख दें और फिर इसे पीए जाएं। हर रोज एक से दो कप पीने से खांसी चुटकियों में दूर हो जाएगी।

(और पढ़े – काली मिर्च के फायदे और नुकसान…)

सूखी खांसी से छुटकारा दिलाए गाजर का जूस – Sukhi khansi se chutkara dilaye carrot juice in Hindi

सूखी खांसी से छुटकारा दिलाए गाजर का जूस - Sukhi khansi se chutkara dilaye carrot juice in Hindi

गाजर का जूस भी आपकी खांसी का अच्छा इलाज कर सकता है। इसके लिए सबसे पहले दो गाजर का जूस निकालें और इसमें थोड़ा पानी मिला लें। अब इसमें शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार पीएं। खांसी में बहुत आराम मिलेगा।

(और पढ़े – गाजर के जूस के फायदे और नुकसान…)

सूखी खांसी की देसी दवा बादाम – Sukhi khansi ki desi dawa badam in Hindi

सूखी खांसी की देसी दवा बादाम - Sukhi khansi ki desi dawa badam in Hindi

बादाम में मौजूद पोषक तत्व खांसी से बहुत जल्दी छुटकारा दिलाते हैं। इसके लिए चार से पांच बादाम को रात में भिगोकर रख दें। सुबह उठकर इन्हें पीस लें और इसमें एक चम्मच मक्खन मिलाकर चाट लें। इसे दिन में तीन से चार बार लें, जब तक की आपको खांसी में आराम न मिल जाए।

(और पढ़े – बादाम को भिगोकर खाने के फायदे और नुकसान…)

सूखी खांसी का घरेलू उपाय लौंग – Sukhi khansi ke liye best laung in Hindi

सूखी खांसी का घरेलू उपाय लौंग - Sukhi khansi ke liye best laung in Hindi

अगर आपको मौसम बदलते ही सूखी खांसी शुरू हो जाती है, तो आप लौंग का घरेलू उपाय अपना सकते हैं। लौंग में एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेट्री गुण होते हैं, जो सूखी खांसी की समस्या से राहत पहुंचाते हैं। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है, बल्कि जब भी आपको खांसी हो या खांसी होने के लक्षण नजर आ रहे हों, तो लौंग को मुंह में चबाकर रखें। इससे गले को आराम मिलेगा और थोड़ी देर के लिए सूखी खांसी से राहत जरूर मिलेगी।

(और पढ़े – लौंग के फायदे, औषधीय गुण और नुकसान…)

कफ या बलगम वाली खांसी क्या होती है – What is wet cough in Hindi

कफ या बलगम वाली खांसी क्या होती है - What is wet cough in Hindi

वैसे तो खांसी कोई बीमारी नहीं है, यह बहुत आम है। लेकिन एक समय पर आकर जब यह ज्यादा परेशान करने लगे, तो यह बेहद दर्दनाक हो जाती है। ज्यादातर ऐसी खांसी में खांसते वक्त बलगम यानि कफ भी निकलता है, जिसे गीला, कफ या बलगम वाली खांसी कहते हैं। इस खांसी में ज्यादातर लोगों को सांस लेने में बहुत तकलीफ होती है। बलगम वाली खांसी आमतौर पर संक्रमण या निमोनिया के कारण होती है। अगर कभी गले में खराश हो, या आप स्मोकिंग करते हो, तो भी आप गीली खांसी के मरीज बन सकते हैं। कफ वाली खांसी के इलाज के लिए घरेलू उपचारों पर भरोसा किया जा सकता है। इन्हें अपनाकर आप जल्द ही गीली या बलगम वाली दर्दनाक खांसी से छुटकारा पा सकेंगे।

(और पढ़े – बलगम वाली खांसी के घरेलू उपचार…)

बलगम वाली खांसी के लक्षण- Symptoms of wet cough in Hindi

बलगम वाली खांसी के लक्षण- Symptoms of wet cough in Hindi

नीचे हम आपको बलगम व कफ वाली खांसी के लक्षणों के बारे में बता रहे हैं। इनकी मदद से आप इस समस्या को समय रहते ठीक कर सकते हैं।

(और पढ़े – सांस फूलने के कारण, लक्षण, जांच, उपचार, और रोकथाम…)

कफ वाली खांसी का घरेलू उपचार – Cough khansi ka gharelu upay in Hindi

कफ वाली खांसी काफी तकलीफदेह होती है, इससे छुटकारा पाने के लिए नीचे बताए जा रहे प्राकृतिक उपचार आजमाएं, बहुत आराम मिलेगा।

गीली खांसी में फायदेमंद फिटकरी – Wet cough me faydemand fitkari in Hindi

गीली खांसी में फायदेमंद फिटकरी - Wet cough me faydemand fitkari in Hindi

फिटकरी का इस्तेमाल वैसे तो चोट लगने या खरोच आने पर बहते खून को रोकने के लिए किया जाता है, लेकिन गीली खांसी में भी यह बहुत असर दिखाती है। आयुर्वेद के अनुसार, फिटकरी एक एंटीबैक्टीरियल औषधि है, जो बलगम वाली खांसी को दूर करने में आपकी मदद करती है। इसके लिए फिटकरी का बारीक पेस्ट बनाकर उसमें आधा चम्मच शहद मिलाएं और चाट लें। ऐसा दिन में दो से तीन बार कर सकते हैं। इससे खांसी में बहुत लाभ मिलता है।

(और पढ़े – फिटकरी के फायदे और नुकसान…)

बलगम खांसी का प्राकृतिक उपचार सरसों के बीज – Balgam khansi ka prakratik upchar mustard seed in Hindi

बलगम खांसी का प्राकृतिक उपचार सरसों के बीज - Balgam khansi ka prakratik upchar mustard seed in Hindi

सरसों के बीज काफी समय से चल रही बलगम वाली खांसी को चुटकियों में दूर कर सकते हैं। दरअसल, सरसों के बीज में सल्फर होता है, जो बलगम के प्रवाह को प्रोत्साहित करता है। खांसी होने पर आपको ज्यादा कुछ नहीं, बस इतना करना है कि एक कप पानी में एके कप सरसों के बीज डालें। बलगम या गीली खांसी या कफ वाली खांसी से आराम पाने के लिए इस मिश्रण को पी लें।

(और पढ़े – सरसों के बीज के फायदे और स्वास्थ्य लाभ…)

बलगम वाली खांसी को जड़ से खत्म करे सोंठ – Gale mein balgam ka ilaj kare sonth in Hindi

बलगम वाली खांसी को जड़ से खत्म करे सोंठ - Gale mein balgam ka ilaj kare sonth in Hindi

अगर आप काफी समय से सीने में बलगम जमने की समस्यसा से परेशान हैं, तो सोंठ का पाउडर बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसका उपयोग करने के लिए सबसे पहले एक कटोरी में आधा चम्मच सोंठ का पाउडर लें। इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं। इस मिश्रण को आपको नाश्ते के एक से दो घंटे के बाद चाटना है और इसके बाद आपको पानी नहीं पीना है।

(और पढ़े – सोंठ के फायदे और नुकसान…)

खांसी भगाए सेब का सिरका – Khansi bhagaye apple cider vinegar in Hindi

खांसी भगाए सेब का सिरका - Khansi bhagaye apple cider vinegar in Hindi

सेब का सिरका यानि एप्पल साइडर विनेगर खांसी भगाने के लिए बहुत फायदेमंद है। अगर आपके पास सेब का सिरका नहीं है, तो आप इसकी जगह सफेद या लाल सिरका भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए दो चम्मच सिरका पानी में मिलाएं और इससे गरारे करें। ध्यान रखें,  गरारे करते समय इसे पीएं नहीं। ज्यादा खांसी होने पर दिन में एक या दो बार इस पानी से कुल्ला करें।

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान…)

गीली खांसी दूर करने का घरेलू नुस्खा प्याज – Khansi door karne ka gharelu nuskha onion in Hindi

गीली खांसी दूर करने का घरेलू नुस्खा प्याज - Khansi door karne ka gharelu nuskha onion in Hindi

प्याज खांसी दूर करने का सबसे अच्छा घरेलू नुस्खा है। यह अपने आसपास के क्षेत्र में मौजूद किसी भी कीटाणु को मारने के लिए जानी जाती है। खांसी में प्याज का उपयोग करने के लिए अपने पैरों के नीचे प्याज के कुछ स्लाइस रखें और इन्हें मौजों से ढंक लें। रोजाना ऐसा करने से खांसी बहुत जल्दी सही हो जाएगी।

(और पढ़े – प्याज के फायदे और नुकसान…)

खांसी का रामबाण इलाज हल्दी का दूध – Khansi ka rambad ilaj haldi ka doodh in Hindi

खांसी का रामबाण इलाज हल्दी का दूध - Khansi ka rambad ilaj haldi ka doodh in Hindi

गीली खांसी में गर्म दूध गले को हाइड्रेट कर खांसी से राहत देने में मदद करता है। यह बलगम को निकालने में भी मदद करता है। वहीं हल्दी अपने एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण बुरी खांसी को ठीक करने में बहुत मदद करती है। खांसी को दूर करने के लिए एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पी लें और सो जाएं। जब तक खांसी पूरी तरह से ठीक न हो जाए, इसे रोज पीएं।

(और पढ़े – हल्दी और दूध के फायदे और नुकसान…)

बलगम वाली खांसी को दूर करेगा गुड़ – Balgam khansi ko door kare gud in hindi

बलगम वाली खांसी को दूर करेगा गुड़ - Balgam khansi ko door kare gud in hindi

गुड़ में एंटी एलर्जिक गुण होते हैं, जो फेफड़ों में जमा बलगम को निकालने में मददगार हैं। इससे खांसी में आराम मिलता है और सांस लेने में भी तकलीफ नहीं होती। इसका उपयोग करने के लिए आधी प्याज को पिसे हुए गुड़ में मिलाकर खाएं। इसे रोज दिन में दो से तीन बार खाने से कफ वाली खांसी से बेहद आराम मिलेगा।

ऊपर हमारे द्वारा बताए गए सभी घरेलू नुस्खे बच्चेों के लिए भी उतने ही फायदेमंद हैं, जितने की बड़ों के लिए। लेकिन अगर दो हफ्तों में भी आपको आराम न मिले, तो आप अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

(और पढ़े – गुड़ खाने के फायदे और नुकसान…)

खांसी से बचने के टिप्स – Prevention Tips For Cough in Hindi

खांसी से बचने के टिप्स - Prevention Tips For Cough in Hindi

खांसी सूखी हो या बलगम वाली, इससे हमेशा बच पाना मुश्किल है, क्योंकि इसके होने के कई कारण हो सकते हैँ।

इसलिए हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं, जो खांसी के जाखिम को कुछ हद तक कम कर सकते हैं।

  • खांसी से बचने के लिए हमेशा बीमार लोगों से दूर रहें। खासतौर से उन लोगों से दूरी बनाए रखें, जिन्हें जुकाम, फ्लू या खांसी हो।
  • त्वचा से बैक्टीरिया और वायरस को हटाने के लिए साबुन और गर्म पानी का उपयोग करें। बच्चों को भी ठीक से हाथ धोना सिखाएं। जरूरत हो तो घर के बाहर आप एल्कोहल युक्त  सेनेटाइजर का उपयोग करें।
  • जब घर का कोई सदस्य बीमार हो, तो बैक्टीरिया से बचने के लिए नियमित रूप से किचन की सफाई और बाथरूम की सफाई करें।
  • ठंड और फ्लू के मौसम में जिंक, विटामिन सी और प्रोबायोटिक्स का सेवन करें।
  • जब भी खांसी या छीक आए, तो अपनी नाक और मुंह ढंक लें।
  • बाहर धूप में से आकर तुरंत ठंडा पानी ना पीएं।
  • कुछ भी गर्म खाने के बाद एकदम से कुछ भी ठंडा खाने से बचें।
  • घर में बीमार व्यक्ति की देखभाल करने के बाद हमेशा अपने हाथ धोएं।

(और पढ़े – बच्चों की खांसी के घरेलू उपाय…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration