पैरों के छालों के घरेलू इलाज और उपाय – Home remedies for foot blisters in Hindi

पैरों के छालों के घरेलू इलाज और उपाय - Home remedies for foot blisters in Hindi
Written by Pratistha

पैरों के छालों को घरेलू उपायों की मदद से ठीक कर सकते हैं। तलवों के फफोले या पैर के छाले एक दर्दनाक समस्‍या है जिसमें पैर के छोटे से हिस्‍से में तरल पदार्थ जमा हो जाता है। पैर में छाले बुलबुले की तरह होते हैं जो कि कई अलग-अलग कारण से होते हैं। पैरों में छाले पड़ने का प्रमुख कारण त्‍वचा का जल जाना या नए स्‍लीपर या जूते पहनने से अधिक घर्षण होना है। पैर के छाले कवक या बैक्‍टीरिया के साथ संक्रमण, किसी कीड़े के काटने या अन्‍य प्रभावों के कारण अधिक गंभीर हो सकते हैं। हालांकि पैर में छालों को ठीक करने के घरेलू उपाय भी होते हैं। आप पैरों के छालों का इलाज किसी डॉक्‍टर के माध्‍यम से करा सकते हैं। लेकिन पैरों के छालों के घरेलू इलाज भी संभव हैं। पैर के छालों का इलाज घर पर किया जा सकता है। आज इस आर्टिकल में आप पैरों के छालों का घरलू उपचार कैसे कर सकते हैं यह जानकारी प्राप्‍त करेगें।

  1. पैरों में छाले होने का कारण – Pair me chale hone ka karan in Hindi
  2. पैरों में छाले का निदान – Pair mein chhale padna in Hindi
  3. पैर के छाले दूर करने के घरेलू उपाय – Pair ke chalo ke liye gharelu upchar in hindi

पैरों में छाले होने का कारण – Pair me chale hone ka karan in Hindi

पैर में छाले होने का प्रमुख कारण अधिक घर्षण हो सकता है। दिन में कई घंटों तक लगातार पैदल चलना या लगातार बहुत समय तक खड़े रहने से पैर की एड़ी, तलवे और उंगलियों में दबाव पड़ता है। आप दिन में जितना अधिक पैदल चलेगें यह पैर के फफोले के लिए उतना अधिक गंभीर हो सकता है। स्‍वाभाविक है कि आज अधिकांश लोग बहुत अधिक समय तक न ही खड़े हो सकते हैं और न ही पैदल चलते हैं। फिर भी उन्‍हें पैर के छालों का सामना करना पड़ता है। पैरों में छाले आने का एक और कारण टाइट या गाढ़े जूते पहनना है जिससे पैर की त्‍वचा में घर्षण अधिक होता है। जो कि पैर के छाले या फफोले उत्‍पन्‍न हो सकते हैं। इसके अलावा अधिक नमी या पसीना भी पैर के छालों का कारण बन सकता है। पैरों में छाले आने अन्‍य कारण इस प्रकार हैं।

  • शीतदंश (frostbite)
  • एलर्जी की प्रतिक्रिया (allergic reaction)
  • रासायनिक उत्‍पादों का दुष्‍प्रभव (cosmetics or detergents)
  • फफूंद संक्रमण (fungal infections)
  • जीवाणु संक्रमण (bacterial infection)
  • दाद (herpes)
  • डिहाइड्रोटिक एक्जिमा (dyshidrotic eczema)

(और पढ़े – फंगल इन्फेक्शन क्या है, कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार…)

पैरों में छाले का निदान – Pair mein chhale padna in Hindi

पैरों में छाले का निदान – Pair mein chhale padna in Hindi

अधिक घर्षण के कारण होने वाले पैर के छाले का इलाज आमतौर पर घरेलू उपचार से किया जाता है। पैर के छाले के घरेलू उपाय कुछ ही दिनों में इन्‍हें ठीक कर सकते हैं। लेकिन कई बार पैर के छालों का घरेलू इलाज प्रभावी नहीं हो पाता है और छाले की स्थिति खराब होने लगती है। ऐसी स्थिति में आपको किसी चिकित्‍सक की सलाह लेनी चाहिए। इसके अलावा यदि पैर के छाले बहुत ही दर्द करते हैं तब भी आपको डॉक्‍टरी इलाज लेने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि कई बार पैर के छालों का दर्द बुखार, मतली या अन्‍य प्रकार की स्वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का कारण बन सकता है। आपका डॉक्‍टर फफोले से तरल पदार्थ को बाहर निकाल सकता है। यदि उसे संक्रमण की शंका होती है तो वो आपको संक्रमण रोधी दवाओं की सलाह भी दे सकता है।

(और पढ़े – पैरों में जलन होने का कारण, निदान और उपचार…)

पैर के छाले दूर करने के घरेलू उपाय – Pair ke chalo ke liye gharelu upchar in hindi

कई बार ऐसा होता है जब पैरों में छाले पड़ जाते हैं और जल्‍दी ठीक नहीं होते हैं। पैर के छाले बहुत ही दर्दनाक होते हैं जो आपके व्‍यक्तिगत जीवन में परेशानी का कारण बन सकते हैं। हालांकि पैर में छाले होने पर बहुत से लोग तुरंत ही डॉक्‍टर के पास नहीं जाते हैं। वे पैर के छाले का इलाज घरेलू उपचार के माध्‍यम से करते हैं। ये घरेलू उपचार पैरों के छाले की दवा जितने प्रभावी होते हैं। अच्‍छी बात यह है कि पैर में छाले के घरेलू उपचार करने पर कोई गंभीर दुष्‍प्रभाव नहीं होते हैं। यदि आपको पैर के छाले हैं तो तुरंत ही इसका इलाज करना चाहिए। अन्‍यथा ये गंभीर स्थिति में परिवर्तित हो सकते हैं। आइए विस्‍तार से जाने पैर के छालों के घरेलू इलाज और उपाय क्‍या हैं।

पैर के फफोले का इलाज एलोवेरा – Pair ke fafole ka ilaj Aloe Vera in Hindi

पैर के फफोले का इलाज एलोवेरा – Pair ke fafole ka ilaj Aloe Vera in Hindi

एलोवेरा एक औषधी है जो त्‍वचा के लिए निश्चित रूप से किसी दवा से कम नहीं है। आप पैर के छाले का इलाज करने के लिए एलोवेरा का उपयोग कर सकते हैं। एलोवेरा में एंटी-इंफेलेमेंट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि पैर के छाले को ठीक करने में मदद करते है। एलोवेरा में शीतलन और उपचार (cooling and healing) गुण होते हैं। जो पैरों के छाले प्रभावित क्षेत्र के तापमान या गर्मी को कम करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा पैर के छालों में एलोवेरा का इस्‍तेमाल छाले की सूजन और दर्द को भी कम करता है।

पैर के छाले का घरेलू इलाज करने के लिए आप पैर के छाले में एलोवेरा जेल लगाएं और सूखने दें। हालांकि एलोवेरा का उपयोग करने के दौरान आपको कुछ खुजली या जलन का अनुभव हो सकता है। जब एलोवेरा जेल पूरी तरह से सूख जाए तब आप इसे गर्म पानी से धो लें। पैर के छाले से जल्‍दी छुटकारा पाने के लिए आप एलोवेरा जेल का दिन में दो बार उपयोग करें। ऐसा करने से आपको जल्‍दी ही पैर के छालों से राहत मिल सकती है।

(और पढ़े – एलोवेरा के फायदे और नुकसान…)

पैर के छाले का इलाज करे विच हैजल – Pair ke chale ka ilaj kare witch hazel in Hindi

पैर के छाले का इलाज करे विच हैजल – Pair ke chale ka ilaj kare witch hazel in Hindi

विच हैजल (witch hazel) में टैनिन की अच्‍छी मात्रा होती है। जो पैरों में पड़े छाले को ठीक करने मे मदद करती हैं। टैनिन पैर के छालों की सूजन और दर्द को कम करने में सहायक होता है। इसके लिए आप विच हैजल की छाल के टुकड़ों को पानी में भिगाएं। इस पानी में सूती के कपड़े या रूई को भिगोएं और छाले प्रभावित जगह पर रूई से पोछें। दिन में 2 से 3 बार ऐसा करने पर आपको पैरों के छाले को ठीक करने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़े – पैरों की सूजन के घरेलू उपाय…)

पैर में छाले के उपाय ग्रीन टी – Pair me chale ke upay green tea in Hindi

पैर में छाले के उपाय ग्रीन टी – Pair me chale ke upay green tea in Hindi

पैर के छालों का उपचार करने के लिए ग्रीन टी बहुत ही प्रभावी तरीका है। ग्रीन टी में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। जो पैर के छाले के ठीक होने की प्रक्रिया को गति देने में सहायक होते हैं। इसमें मौजूद विटामिन और एंटीऑक्‍सीडेंट छाले के दर्द को कम करने में और सूजन को रोकने में मदद करते हैं। पैर के फफोले का इलाज करने के लिए गर्म पानी में 1 ग्रीन टी बैग को डुबोएं और इस पानी में थोड़ा सा बेकिंग सोड़ा मिलाएं। इसके बाद टी बैग को ठंडा होने दें और फिर फफोले के ऊपर रखें। बेकिंग सोड़ा में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो संक्रमण को रोकने में प्रभावी होते हैं। इस विधि को दिन में 2 से 3 बार दोहराने में आपको पैर के छाले में आराम मिल सकता है।

(और पढ़े – सुबह खाली पेट ग्रीन टी पीने के फायदे…)

पैरों के छालों का इलाज सेब का सिरका – Pairo me chale ka ilaj Apple cider vinegar in Hindi

पैरों के छालों का इलाज सेब का सिरका – Pairo me chale ka ilaj Apple cider vinegar in Hindi

पैर के छालों का घरेलू उपचार करने के लिए सेब के सिरका का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। सेब का सिरका फफोले की सूजन और दर्द को कम करने में मदद करता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि सिरका में जीवाणुरोधी और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो पैरों के छाले को ठीक करता है और दर्द को कम करने में सहायक हैं। इसके अलावा सेब का सि‍रका पैर के फफोले को संक्रमण ग्रसित होने से भी बचाता है। पैर के छाले का इलाज करने के लिए आप 1 कटोरी में सेब का सिरका लें और इसमें रूई या कपास को भिगोएं। इस भीगी हुई रूई को आप फफोले के ऊपर रखें या इससे थपथपाएं। यह पैर के छाले का दर्द कम करने के साथ ही उपचार प्रक्रिया को बढ़ाने में सहायक होता है।

विकल्‍प के रूप में आप प्‍याज का पेस्‍ट और सेब के सिरका सरिका को मिलाकर भी पैर के छाले में रख सकते हैं। मिश्रण के सूखने के बाद आप गर्म पानी से इसे धो लें। ऐसा करना भी पैर के छालों के उपचार में मदद करता है।

(और पढ़े – सेब के सिरके के फायदे, लाभ, गुण और नुकसान…)

पैरों के छालों का उपाय अरंडी का तेल – Pairo ke chalo ka upay Castor Oil in Hindi

पैरों के छालों का उपाय अरंडी का तेल – Pairo ke chalo ka upay Castor Oil in Hindi

पैरों के छाले को ठीक करने के लिए अरंडी का तेल (Castor Oil) उपयोगी औषधि है। सामान्‍य रूप से अरंडी के तेल का उपयोग बालों में वृद्धि करने के लिए किया जाता है। लेकिन पैरों के छालों के घरेलू उपाय के रूप में भी अंरडी का तेल प्रभावी माना जाता है। पैरों में छाले पड़ने के लक्षण जलन, खुजली और लालिमा आदि भी हो सकते हैं। आप इन सभी लक्षणों को कम करने के लिए फफोलों पर अंडी के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। पैर के छाले का इलाज करने के लिए आप रात में सोने से पहले इसे पैर के छाले में लगाएं और सो जाएं। निश्चित रूप से अगली सुबह आपको पैर के छाले में राहत महसूस होगी।

इसके अलावा आप पैर के छाले का इलाज करने के लिए अंरडी के तेल और सेब के‍ सिरका के मिश्रण का भी उपयोग कर सकते हैं। इस मिश्रण को दिन में 2 से 3 बार उपयोग करना चाहिए।

(और पढ़े – अरंडी के तेल के फायदे त्वचा और बाल में…)

पैर के छालों का घरेलू उपचार नमक – Pair ke chalo ka upay namak in Hindi

पैर के छालों का घरेलू उपचार नमक – Pair ke chalo ka upay namak in Hindi

नमक में हीलिंग (healing) या उपचार गुण होते हैं जो पैर के छाले के कारण होने वाले दर्द को कम करते हैं। पैरों के छाले की दवा के रूप में आप नमक और बर्फ के पानी का इस्‍तेमाल करें। इसके लिए आप एक कटोरी में 1 चम्‍मच खाने वाला नमक लें और इसमें बर्फ के कुछ टुकड़े मिलाएं। जब बर्फ और नमक पूरी तरह से घुल जाए तब इस पानी में एक सूती कपड़ा गीला करें। इस गीले कपड़े को पैर के फफोले पर लगभग 15 मिनिट तक रखें। यह सूजन और दर्द को कम करने में सहायक होता है। जिससे फफोले में मौजूद तरल पदार्थ निकल जाता है और फफोले का आकार कम हो जाता है।

(और पढ़े – शरीर को खूबसूरत बनाने के लिए सी-साल्ट से बने स्क्रब का करें इस्तेमाल…)

पैर के छालों का घरेलू उपाय डियोडोरेंट – Pair ke chalo ka gharelu upay Deodorant in Hindi

पैर के छालों का घरेलू उपाय डियोडोरेंट – Pair ke chalo ka gharelu upay Deodorant in Hindi

पैरों में फफोले आने का एक प्रमुख कारण पसीना और संक्रमण भी हो सकतता है। पैर के छाले नमी और घर्षण से और अधिक गंभीर हो सकते हैं। इसलिए पैर में छाले होने के दौरान आपको पैर पूरी तरह से सूखे हुए रखना चाहिए। ऐसी स्थिति में आप डियोडोरेंट पाउडर का उपयोग कर सकते हैं जो आप अपने अंडर आर्म के लिए इस्‍तेमाल करते हैं। ऐसा करने से आपके पैरों में पसीना आने से रोका जा सकता है। साथ ही यह आपके पैरों में फिसलन भी पैदा करता है जिससे पैरों में घर्षण कुछ कम होता है। इस तरह से आप पैर के छाले दूर करने के घरेलू नुस्‍खे में डियोडोरेंट और पाउडर का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़े – पैर की बदबू दूर करने के उपाय…)

पैर के छाले दूर करने का घरेलू नुस्‍खा टूथपेस्‍ट – Pair ke chale dur karne ka gharelu nuskha toothpaste in Hindi

पैर के छाले दूर करने का घरेलू नुस्‍खा टूथपेस्‍ट – Pair ke chale dur karne ka gharelu nuskha toothpaste in Hindi

दांतों को साफ करने के लिए टूथपेस्‍ट का उपयोग किया जाता है। लेकिन पैर के छाले दूर करने के घरेलू नुस्‍खे में भी टूथपेस्‍ट बहुत ही प्रभावी माना जाता है। बहुत से लोग मुंहासे, घाव आदि को ठीक करने के लिए भी टूथपेस्‍ट इस्‍तेमाल करते हैं। आप अपने पैरों के छालों को भी ठीक करने के लिए टूथ पेस्‍ट का प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप अपने द्वारा उपयोग किये जाने वाले सफेद टूथ पेस्‍ट की थोड़ी सी मात्रा को पैरों के छालों पर लगाएं। दिन में 2 से 3 बार उपयोग करने पर यह पैर के छालों की सूजन या फूलन को ठीक कर सकता है।

(और पढ़े – हाथ और पैरों के तलवों में जलन से निजात पाने के लिए असरदार घरेलु उपाय…)

पैर के छालों की दवा पैट्रोलियम जेली – Pair ke chale ki dawa Petroleum jelly in Hindi

पैर के छालों की दवा पैटोलियम जेली - Pair ke chale ki dawa Petroleum jelly in Hindi

पैट्रोलियम जेली केवल कटे, फटे होठों या त्‍वचा के लिए अच्‍छी होती है। लेकिन यह आपके पैरों के छाले का भी इलाज करने में प्रभावी होती है। यदि आप पैर के छालों से परेशान हैं तो रात में सोने से पहले अपने पैरों के छाले में पैट्रोलियम जेली लगाएं। यह छाले के दर्द को कम करने और त्‍वचा में प्राकृतिक नमी बनाए रखने में सहायक होती है। छालों में पैटोलियम जेली का उपयोग करने से पहले अपने पैरों को गुनगुने पानी में 15 से 20 मिनिट तक अपने पैरों को भिगोएं। इसके बाद अपने पैरों को अच्‍छी तरह से सुखाएं और फिर पैट्रोलियम जैली को लगाएं। ऐसा करने पर कुछ ही दिनों में आपको पैरों के छाले से राहत मिल सकती है।

(और पढ़े – पैरों की देखभाल के लिए अपनाएं कुछ आसान टिप्स…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration