लौंग के तेल के फायदे और नुकसान – Clove oil Benefits and Side Effects in Hindi

लौंग के तेल के फायदे और नुकसान - Clove oil Benefits and Side Effects in Hindi
Written by Anamika

Clove oil Benefits in Hindi लौंग का तेल लौंग की सूखी कलियों से निकाला जाता है। इसमें कई औषधीय गुण पाये जाते हैं और यह दर्द निवारण के लिए मुख्य रूप से उपयोग में लाया जाता है। लौंग के तेल (laung ka tel) में फेनिलप्रोपेनॉयड से भरपूर मात्रा में पाया जाता है और इसके साथ ही यूजीनॉल नामक मुख्य यौगिक भी इसमें मौजूद होता है। इस लेख में आप जानेंगे लौंग के तेल के फायदे और नुकसान Laung ke Tel ke Fayde Aur Nuksan in Hindi के बारे में।

लौंग के तेल का रंग पीला एवं गोल्डेन ब्राउन होता है। यह तेल शरीर के विभिन्न विकारों को दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है। लौंग के तेल में कैल्शियम, आयरन, सोडियम, फास्फोरस, पोटैशियम, विटामिन ए और विटामिन सी पाया जाता है। इसके अलावा इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीसेप्टिक, और एंटीवायरस गुण पाये जाते हैं।

1. लौंग के तेल के फायदे – Benefits of Clove oil in Hindi

2. लौंग के तेल के नुकसान – Clove oil Side Effects in Hindi

लौंग के तेल के फायदे – Benefits of Clove oil in Hindi

हम सभी जानते हैं कि लौंग मसालों (spices) की श्रेणी में आता है और भारतीय व्यंजनों में बहुतायत मात्रा में इसका उपयोग किया जाता है। लेकिन लौंग का तेल औषधी के रूप में अधिक इस्तेमाल किया जाता है। यह शरीर के विभिन्न विकारों को दूर करने में फायदेमंद होता है। आइये जानते हैं लौंग के फायदों के बारे में।

दांतों के दर्द में लौंग का तेल के फायदे – Clove oil for Benefits Toothache in Hindi

दांतों एवं इससे जुड़ी बीमारियों के इलाज में लौंग का उपयोग बड़े पैमाने पर किया जाता है। लौंग के तेल में जीवाणुनाशक (germicidal) गुण पाये जाते हैं जो दांतों के दर्द को दूर करने में बहुत प्रभावी होते हैं। इसके अलावा यह मुंह के दर्द, मुंह के अल्सर (muoth ulcer) एवं मसूढ़ों के दर्द को दूर करने में सहायता करते हैं। लौंग के तेल में यूजीनॉल (eugenol) पाया जाता है जिसका इस्तेमाल डॉक्टर वर्षों से दांतों के इलाज में करते आ रहे हैं। लौंग के तेल में थोड़ा सा पानी मिलाकर कुल्ला करने से सांसों की बदबू दूर हो जाती है।

(और पढ़े – दांत दर्द ठीक करने के 10 घरेलू उपाय)

लौंग के तेल के फायदे संक्रमण दूर करने में – Clove oil Treats Infection in Hindi

लौंग के तेल के फायदे संक्रमण दूर करने में - Clove oil Treats Infection in Hindi

यह तेल कई तरह के इंफेक्शन को दूर करने में बहुत फायदेमंद होता है। लौंग के तेल में एंटीसेप्टिक गुण पाये जाते हैं जो घाव, एथलीट फुट, स्केबीज, खरोंच, संक्रमण, त्वचा के कट जाने एवं अन्य तरह के घावों के उपचार में प्रभावी रूप से कार्य करता है। इसके अलावा लौंग का तेल कीटों के डंक मारने एवं काटने के बाद भी त्वचा पर लगाया जाता है।

(और पढ़े – खाज (स्कैबीज़) दूर करने के घरेलू उपाय)

मुंह के लिए लौंग के तेल के लाभ  – Clove oil for Mouth Inflammation in Hindi

गालों एवं होठों के भीतर मुंह का अल्सर होना सामान्य बात है। ये अल्सर बहुत पीड़ादायक होते हैं जिसके कारण मसूढ़ों में सूजन आ जाती है और वहां बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। इस वजह से मुंह एवं मसूढ़ों में दर्द के साथ खून (gum bleeding) निकलने लगता है। प्रभावित जगहों पर रूई के एक टुकड़े में लौंग का तेल भिगोकर लगाने से यह परेशानी दूर हो जाती है।

(और पढ़े – ऑयल पुलिंग के फायदे, नुकसान और करने का तरीका)

लौंग के तेल का सेवन  इम्यून सिस्टम बढ़ाने में – Clove oil Boost Immune System in Hindi

लौंग के तेल का सेवन  इम्यून सिस्टम बढ़ाने में - Clove oil Boost Immune System in Hindi

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि लौंग एवं लौंग का तेल दोनों इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। लौंग एवं लौंग के तेल में एंटीवायरल गुण पाया जाता है। इसके अलावा इनमें खून को साफ करके शरीर को बीमारियों से दूर रखने की क्षमता भी पायी जाती है। लौंग के तेल में पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट शरीर से हानिकारक मुक्त कणों (free redicals) को बाहर निकालते हैं जिससे हृदय रोगों एवं अन्य बीमारियों से छुटकारा मिलता है।

चेहरे के लिए लौंग के तेल लाभ – Clove oil Treats Acne in Hindi

इस तेल में एंटीबैक्टीरियल एवं एंटीसेप्टिक दोनों गुण एक साथ मौजूद होते हैं जो मुंहासे (pimple) उत्पन्न करने वाले कीटाणुओं (bacteria) को नष्ट कर चेहरे को साफ-सुथरा बनाते हैं। आपको बता दें कि मुंहासे दूर करने के लिए बिकने वाले उत्पादों में भी लौंग के तेल का उपयोग किया जाता है।

(और पढ़े – मुहांसों के प्रकार और उनका इलाज)

बालों को बढ़ाने में लौंग के तेल की मालिश – Clove oil for Hair Growth in Hindi

अगर आपके बाल बहुत पतले एवं कमजोर हैं तो आपको लौंग के तेल का प्रयोग करना चाहिए। लौंग के तेल में हेयर फॉलिकल (hair follicle) को उत्तेजित करने के गुण पाये जाते हैं। यह सिर की त्वचा (scalp) में रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाता है और बालों के रोमों को जीवित रखता है। जब रक्त का प्रवाह बढ़ता है तो हेयर फॉलिकल को पोषण मिलता है जिसके कारण बाल मोटे, घने एवं लंबे होते हैं। लौंग के तेल को ऑलिव आयल में मिलाकर हफ्ते में दो बार बालों की जड़ों में लगाने से बेहतर परिणाम मिलता है।

(और पढ़े – बालों को लम्बे और घने बनाने के लिए आवश्यक तेल का इस्तमाल कैसे करें)

लौंग के तेल के फायदे थकान दूर करने में – Clove oil for Fatigue in Hindi

लौंग के तेल के फायदे थकान दूर करने में - Clove oil for Fatigue in Hindi

शरीर में प्लेटलेट (platelet) के जमाव को कम करके रक्त को पतला करने में लौंग का तेल प्रभावी रूप से कार्य करता है। इसके कारण शरीर को पर्याप्त ऊर्जा मिलती है। यह रक्त परिसंचरण तंत्र को बढ़ाने में भी मदद करता है। इसके अलावा यह मस्तिष्क को उत्तेजक बनाने एवं हृदय वाहिनियों के लिए टॉनिक का कार्य करता है।

(और पढ़े – कमजोरी और थकान के कारण, लक्षण और इलाज )

लौंग के तेल के औषधीय गुण सिर दर्द दूर करने में – Clove oil Alleviates Headache in Hindi

घंटों तक लगातार बैठकर काम करने एवं असामान्य भोजन की आदत से सिरदर्द (headache) की समस्या हो जाती है। इस स्थिति से निपटने के लिए लौंग का तेल बहुत फायदेमंद होता है। एक चम्मच सी साल्ट में दो चम्मच बादाम का तेल  या नारियल का तेल एवं दो से तीन बूंद लौंग का तेल मिलाकर इस मिश्रण से सिर पर मसाज करने से सिर दर्द की समस्या दूर हो जाती है।

(और पढ़े – सिरदर्द दूर करने के घरेलू उपाय)

डायबिटीज में फायदेमंद है लौंग का तेल – Clove oil Controls Diabetes in Hindi

रक्त को शुद्ध (purification)  करने के अलावा लौंग का तेल ब्लड शुगर के स्तर को भी नियंत्रित करने में मदद करता है जो डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। एक रिसर्च में पाया गया है कि अन्य मसालों की अपेक्षा लौंग में फिनॉल अधिक मात्रा में पाया जाता है जो ग्लूकोज को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए लौंग का तेल मधुमेह (diabetes) रोगियों के लिए फायदेमंद है।

(और पढ़े – शुगर ,मधुमेह लक्षण, कारण, निदान और बचाव के उपाय)

लौंग के तेल का उपयोग करता है मितली दूर – Clove oil Treats Nausea in Hindi

प्रेगनेंट महिलाओं में मॉर्निंग सिकनेस एवं जी मिचलाने और उल्टी की समस्या को दूर करने में लौंग का तेल बहुत फायदेमंद होता है। तकिए के नीचे लौंग का तेल मलने से इसकी भीनी खुशबू गर्भवती महिला के नाक में पहुंचती रहती है जिसके कारण उसे जी मिचलाने या उल्टी की समस्या नहीं होती है।

(और पढ़े –गर्भावस्था के दौरान उल्टी रोकने के घरेलू उपाय)

(और पढ़े – उल्टी और मतली को रोकने के उपाय)

लौंग के तेल के नुकसान – Clove oil Side Effects in Hindi

आपको बता दें कि लौंग का तेल शक्तिशाली प्रकृति का होता है जिसके कारण फायदों के साथ ही इसके इस्तेमाल से नुकसान भी हो सकता है। आइये जानते हैं कि लौंग के तेल के दुष्प्रभाव क्या हो सकते हैं।

  • लौंग के तेल का अधिक प्रयोग करने से त्वचा पर एलर्जिक रिएक्शन (skin allergies) उत्पन्न हो सकता है।
  • लौंग के तेल का उपयोग मुंह से अल्सर एवं घावों को ठीक करने के लिए किया जाता है लेकिन अत्यधिक इस्तेमाल करने से होठ को शुष्क पड़ जाते हैं एवं कोशिकाएं क्षतिग्रस्त हो जाती हैं।
  • Clove oil (लौंग का तेल) अधिक सांद्रता वाला (concentrate) होता है इसलिए इसे सीधे इस्तेमाल करने से मुंह में जलन हो सकती है और दांतों को भी नुकसान पहुंच सकता है।
  • लौंग का तेल आंखों के संपर्क में आने से आंखों की रोशनी जाने की संभावना रहती है।
  • लौंग के तेल का अत्यधिक उपयोग करने से ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है।
  • सर्जरी कराने से पहले एवं बाद में लौंग के तेल का सेवन नहीं करना चाहिए अन्यथा यह खून को भी पतला कर सकता है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration