एसिडिटी के घरेलू नुस्खे, एसिडिटी से तुरंत छुटकारा दिलाते है ये घरेलू उपाय - Home remedies for acidity in Hindi - Healthunbox
घरेलू उपाय

एसिडिटी के घरेलू नुस्खे, एसिडिटी से तुरंत छुटकारा दिलाते है ये घरेलू उपाय – Home remedies for acidity in Hindi

एसिडिटी के घरेलू नुस्खे, एसिडिटी से तुरंत छुटकारा दिलाते है ये घरेलू उपाय - Home remedies for acidity in Hindi

Home remedies for acidity: एसिड रिफ्लक्स, जिसे आमतौर पर एसिडिटी (Acidity) के रूप में जाना जाता है, एक ऐसी स्थिति है जिसमें पित्त या पेट का एसिड हमारी भोजन की नली यानी कि एसोफैगस (oesophagus or food pipe) में वापस आ जाता हैं और जलन पैदा करता है। इससे हमारे सीने में जलन होती है जो एसिडिटी का सबसे सामान्य लक्षण है। आइये जानते हैं कि एसिडिटी की समस्या से राहत पाने के लिए कौन-कौन से घरेलू उपाय और नुस्खे (acidity ke gharelu nuskhe) करने चाहिए।

एसिडिटी होना एक आम समस्या है, कई लोग इससे परेशान रहते हैं। वैसे तो मार्केट में एसिडिटी का तुरंत इलाज करने के लिए एसिडिटी की दवा भी मोजूद हैं लेकिन आप इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए एसिडिटी का आयुर्वेदिक उपचार (Ayurvedic Treatment Of Acidity in Hindi) भी कर सकतें हैं। पेट में गैस और एसिडिटी के कई कारण हो सकते हैं आइये सबसे पहले एसिडिटी के लक्षण को समझ लेते हैं, ताकि आप जान सकें की आपको एसिडिटी की समस्या है या कुछ और।

एसिडिटी के लक्षण – Symptoms of Acidity in Hindi

एसिडिटी के लक्षण - Symptoms of Acidity in Hindi

  • छाती, पेट या गले में दर्द और जलन
  • पेट फूलना या गैस
  • खट्टी डकार आना
  • मुंह से बदबू आना
  • कब्ज़
  • मतली या उल्टी की भावना
  • खाने के बाद पेट में भारीपन
  • बार-बार डकार आना
  • अपच भोजन का हमारे मुंह में वापस आना

एसिडिटी के कई कारण हो सकते हैं जैसे तला हुआ या ज्यादा मसालेदार भोजन करना आदि। आइये इसके मुख्य कारणों को समझते हैं।

(और पढ़ें – एसिडिटी (अम्लता) (पेट में जलन) क्या है, लक्षण, कारण, इलाज, और आहार)

एसिडिटी के कारण – Common causes of Acidity in Hindi

एसिडिटी के कारण - Common causes of Acidity in Hindi

  • अधिक भोजन खाना
  • गलत समय पर खाना खाना या भोजन छोड़ना
  • अस्वास्थ्यकर खाने की आदतें जैसे बहुत अधिक चाय, कॉफ़ी, कोल्ड-ड्रिंक, जंक, मसालेदार, तला हुआ भोजन आदि।
  • पेट की बीमारियाँ जैसे अल्सर, गैस्ट्रो-ओओसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (जीईआरडी) आदि।
  • खराब जीवनशैली जैसे बहुत अधिक तनाव लेना, कम सोना, धूम्रपान करना, शराब पीना आदि।

(और पढ़े – एसिडिटी के कारण, लक्षण और बचाव के घरेलू उपाय…)

एसिडिटी के घरेलू उपचार – Home Remedies for Acidity in Hindi

एसिडिटी के घरेलू उपचार - Home Remedies for Acidity in Hindi

आइए, जानते हैं एसिडिटी की समस्या से तुरंत राहत पाने के लिए कौन-कौन से घरेलू उपाय करने चाहिए। अगर आपको भी एसिडिटी की परेशानी है तो इससे राहत पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय, जल्द मिलेगा आराम। एसिडिटी से तुरंत छुटकारा दिलाते है ये घरेलू उपाय।

सौंफ

लगभग 1 चम्मच सौंफ के पाउडर को एक गिलास गर्म पानी के साथ पीने से एसिडिटी और इसके लक्षण जैसे हार्टबर्न, पेट फूलना और पाचन में सुधार होता है। [1]

सौंफ की प्रकृति ठंडी होती है और यह पेट में ठंडक पैदा कर एसिडिटी में राहत देती है। एसिडिटी को जड़ से खत्म करने के उपाय के रूप में आप खाने के बाद सौंफ का सेवन कर सकतें हैं।

काला जीरा

एसिडिटी से तुरंत छुटकारा पाने के लिए जीरे को सीधे चबाएं या जीरे के 1 चम्मच को एक गिलास पानी में उबालें और पीयें, इसे पीने से एसिडिटी से राहत मिलती है।

पेट की समस्याओं में जीरे का पानी बेहद फायदेमंद होता है। एसिडिटी से राहत पाने के लिए जीरे का इस्तेमाल किया जा सकता है।

काला जीरा गैस्ट्रो-प्रोटेक्टिव (gastro-protective) होता है। वे एसिडिटी और अम्लता को कम करने और रोकने में प्रभावी होते हैं और इसके लक्षण जैसे हार्टबर्न, दर्द, मतली, पेट फूलना, कब्ज आदि को दूर करते हैं। [2]

लौंग

पेट की गैस और एसिडिटी के लिए लौंग को असरदार रामबाण इलाज माना जाता है। एसिडिटी और इसके लक्षणों जैसे पेट फूलना, अपच, मतली, गैस्ट्रिक समस्या आदि से छुटकारा पाने के लिए लौंग को मुंह में लेकर चूसें। [3]

गुनगुना पानी

एक गिलास गुनगुना पानी खाली सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले पीने से एसिडिटी से राहत मिलती है।

तरबूज़ का रस

तरबूज के रस का एक गिलास एसिडिटी से राहत पाने का कारगर घरेलू उपाय है और पाचन के लिए भी अच्छा है। [4]

इलायची

प्रतिदिन 1 इलायची की फली चबाने से एसिडिटी, पेट फूलना और पाचन में सुधार होता है [5]

छाछ

छाछ में लैक्टिक एसिड पाया जाता है पेट में होने वाली एसिडिटी को ठीक करता है और सुखदायक प्रभाव देता है। काली मिर्च और धनिया के साथ छाछ का एक गिलास पीना एसिडिटी के लक्षणों को तुरंत कम करने में मदद करता है।  [6]

और पढ़ें: छाछ के स्वास्थ्य लाभ

अदरक

अदरक में प्राकृतिक एंटी इन्फ्लामेट्री गुण होते हैं, और यह एसिडिटी और अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं के लिए एक प्राकृतिक घरेलू उपचार है। आप खाने या स्मूदी या पेय में कसा हुआ या कटा हुआ अदरक जोड़ सकते हैं। एसिडिटी के लक्षणों को कम करने के लिए अदरक की चाय पीना भी फायदेमंद होता है। कच्ची अदरक चबाने या अदरक की चाय पीने से एसिडिटी और इसके लक्षणों को रोकने में मदद मिलती है। यह पाचन में भी सहायक होता है। [7]

और पढ़ें: लहसुन के स्वास्थ्य लाभ

केला

एसिडिटी से तुरंत छुटकारा पाने के लिए केला मददगार होता है। केले का सेवन एसिडिटी को बेअसर करता है और हार्टबर्न से राहत देता है। [8]

दूध और केले का मिश्रण पेट में अतिरिक्त एसिड बनने से रोकने में मदद करता है।

पपीता

पपीता गैस्ट्रिक एसिड के स्राव को कम करता है और एसिडिटी से राहत देता है। [9]

यह प्रभाव पपीते में मौजूद एंजाइम पपैन (papain) के कारण होता है।

अजवाइन

ज्यादातर घरों में दादी नानी के घरेलू नुस्खों में अजवाइन को एसिडिटी की घरेलू दवा माना जाता है। इसलिए एसिडिटी का आयुर्वेदिक उपचार अजवाइन से किया जाता है।

अजवाइन के सेवन से एसिडिटी और पेट फूलने से राहत मिलती है। यह पाचन के लिए बहुत अच्छी होती है और एक प्रभावी एंटी-एसिडिक एजेंट (anti-acidic agent) भी है। [10]

अगर आपको बहुत अधिक एसिडिटी होती है तो गर्म पानी में अजवाइन पाउडर और काला नमक मिलाकर भोजन के बाद लें।

अजवाइन पेट में दर्द (Stomach Pain) होने और पेट की गैस (Acidity) से छुटकारा दिलाने में फायदेमंद हो सकती है।

ठंडा दूध

ठंडा दूध एसिडिटी के लिए रामबाण उपाय है। एक गिलास ठंडा दूध पीने से एसिडिटी से तुरंत राहत मिलती है। [11]

बेकिंग सोडा

1/2 कप पानी में 1/2 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर पीने से एसिडिटी और हार्टबर्न से जल्दी राहत मिलती है। [12]

हल्दी

हल्दी को हमारे आहार में शामिल करने से एसिडिटी और इसके कारण होने वाली हार्टबर्न से राहत मिलती है।  [13]

और पढ़ें: हल्दी के स्वास्थ्य लाभ

नारियल पानी

एसिडिटी से परेशान लोगों के लिए नारियल पानी एक और बढ़िया घरेलू विकल्प हो सकता है। नारियल पानी पोटेशियम जैसे सहायक इलेक्ट्रोलाइट्स का एक अच्छा स्रोत है। ये इलेक्ट्रोलाइट्स शरीर में पीएच संतुलन को बढ़ावा देते हैं, जो एसिडिटी की समस्या को दूर करने के लिए महत्वपूर्ण है।

एसिडिटी से बचाव के उपाय – Natural ways to prevent acidity in Hindi

एसिडिटी से बचाव के उपाय - Natural ways to prevent acidity in Hindi

ऊपर बताये गए एसिडिटी के घरेलू नुस्खे के अलावा, लाइफस्टाइल में कुछ परिवर्तन भी एसिडिटी होने से रोकने में मदद कर सकते हैं। वो हैं:

  • एक्टिव रहें और किसी भी तरह की एक्सरसाइज करते रहें, चाहे वह दौड़ना हो, साइकिल चलाना, डांस या आपका कोई पसंदीदा खेल हो
  • छोटे- छोटे टुकड़े में भोजन करें, दिन में 4 से 5 बार खाएं
  • बिस्तर पर जाने से कम से कम 2 घंटे पहले अपना डिनर ख़त्म कर ले
  • भोजन करते समय अपने भोजन को अच्छे से चबाएं और ज्यादा खाने से बचें
  • भोजन के तुरंत बाद लेटने न जाएं
  • यदि आपका वजन अधिक है या मोटापा है तो वजन कम करें
  • लेटते समय अपने बिस्तर के सिर के सिरे को थोड़ा ऊपर उठाएं
  • धूम्रपान और शराब पीने से बचें

एसिडिटी को ट्रिगर करने वाले खाद्य पदार्थों से बचें – Avoid Foods That Trigger Acidity in Hindi

एसिडिटी को ट्रिगर करने वाले खाद्य पदार्थों से बचें - Avoid Foods That Trigger Acidity in Hindi

अगर आपके घर के किसी सदस्य को एसिडिटी और गैस की समस्या बनी रहती हैं? तो आप इस लेख में बताये गए एसिडिटी के घरेलू नुस्खे आजमा सकते हैं, ये घरेलू उपाय एसिडिटी से तुरंत छुटकारा दिलाते हैं और एसिडिटी को जड़ से खत्म करने में बहुत ही कारगर भी है।

(और पढ़े – अगर आपको भी पेट फूलने की समस्या है तो अपनाएं इन टिप्स को…)

निष्कर्ष

लंबे समय तक काम करना, भोजन स्किप करना, गलत समय पर खाना या अस्वास्थ्यकर आहार सभी हमारे स्वास्थ्य पर गलत प्रभाव डालते हैं और एसिडिटी का कारण बनते हैं। एसिडिटी के घरेलू उपचार कर एसिडिटी के लक्षणों से राहत पायी जा सकती है। एसिडिटी की शुरुआत होने पर ही इसका इलाज घरेलू नुस्खों से करना एसिडिटी से छुटकारा पाने का सबसे तेज़ और आसान तरीका है।

माना जाता है कि एसिडिटी को ठीक करने में मदद के लिए कई घरेलू उपचार किए जाते हैं जो एसिडिटी के लक्षणों और परेशानी को कुछ समय के लिए दूर कर सकते हैं।

एसिडिटी के घरेलू नुस्खे, एसिडिटी से तुरंत छुटकारा दिलाते है ये घरेलू उपाय (Home remedies for acidity in Hindii) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration