पेट में गर्मी होने के क्या कारण है, लक्षण और उपाय - Pet Ki Garmi Ke karan, Lakshan aur Upay - Healthunbox
घरेलू उपाय

पेट में गर्मी होने के क्या कारण है, लक्षण और उपाय – Pet Ki Garmi Ke karan, Lakshan aur Upay

पेट में गर्मी होने के क्या कारण है, लक्षण और उपाय - Pet Ki Garmi Ke karan, Lakshan aur Upay

Pet Ki Garmi Ke karan, Lakshan aur Upay: कभी कभी आपको गर्मियों के मौसम में लगता है कि आपके पेट में गर्मी हो रही है। लेकिन क्या आपको पता है कि ऐसा क्यों होता है? आज हम आपको पेट में गर्मी होने के क्या कारण है? इसके लक्षण और बचने के घरेलू उपायों के बारे में बताएंगे।

जब कभी आप अधिक मसालेदार खाना या कुछ ऐसा भोजन कर लेते है जिसकी वजह से पेट में एसिड बनने लगता है। इसके कारण पेट में गैस, एसिडिटी, कब्ज, लिवर की गर्मी और सूजन होना आदि परेशानी का कारण बनता है।

पेट में गर्मी होने की समस्या अक्सर गर्मियों के मौसम में देखने अधिक मिलती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि तापमान बढ़ाने की वजह से अधिक पसीना आता है जिसकी वजह से पानी की कमी हो जाती है और प्रतिरक्षा शक्ति भी कमजोर होती है। आइये पेट में गर्मी होने के क्या कारण है? और इसे ठीक करने के घरेलू उपाय को विस्तार से जानते है।

पेट में गर्मी होने के क्या कारण है? – Pet Ki Garmi Ke karan

पेट में गर्मी होने के क्या कारण है? - Pet Ki Garmi Ke karan

पेट में गर्मी होने के कई कारण होते है, जिसमें से मुख्य कारण निम्न है

एसिड रिफ्लक्स (Acid reflux)

गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (GERD) तब होता है जब पेट का एसिड आपके घुटकी में वापस आ जाता है। यह आपके सीने या पेट में जलन के साथ-साथ सीने में दर्द, और पेट की गर्मी का कारण बन सकता है। कुछ खाद्य पदार्थ और पेय सामग्री जीईआरडी को खराब कर सकते हैं। जैसे कि

गैस्ट्रिटिस (Gastritis)

गैस्ट्रिटिस एक ऐसी स्थिति है जो आपके पेट के अस्तर में सूजन का कारण बनती है। इसकी वजह से पेट में गर्मी के अलावा भी आप जी मिचलाना और उल्टी का अनुभव कर सकते हैं। कभी-कभी, गैस्ट्रिटिस से पेट में अल्सर, पेट में रक्तस्राव और पेट के कैंसर के लिए खतरा बढ़ सकता है।

शराब (Alcohol)

शराब (Alcohol)

शराब का सेवन आपके पाचन तंत्र को परेशान कर सकता है और आपके पेट में गर्मी पैदा कर सकता है। बहुत अधिक शराब पीने से हो सकता है। पेप्टिक अल्सर, गैस्ट्रिटिस और अन्य जठरांत्र संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं।

धूम्रपान (Smoking)

धूम्रपान (Smoking)

सिगरेट पीने से आपके पूरे शरीर पर असर पड़ता है। जो लोग धूम्रपान करते हैं उनमें पेट की गर्मी और पाचन संबंधी समस्याएं जैसे – पेप्टिक अल्सर, क्रोहन रोग और GERD आदि बढ़ाने की संभावना होती है।

अल्सर (Ulcers)

अल्सर (Ulcers)

पेप्टिक अल्सर ऐसे घाव हैं जो आपके पेट के अंदरूनी परत और आपकी छोटी आंत के ऊपरी हिस्से में विकसित होते हैं। पेट में दर्द एक अल्सर का सबसे आम लक्षण है, लेकिन इसके अलावा भी आप पेट में गर्मी, जी मिचलाना और सूजन आदि का अनुभव कर सकते हैं।

एच. पाइलोरी संक्रमण (H. pylori infection)

हेलिकोबैक्टर पाइलोरी (H. pylori) संक्रमण तब होता है जब बैक्टीरिया आपके पेट को संक्रमित करते हैं। दुनिया भर में लगभग दो-तिहाई लोगों को एच. पाइलोरी है। इसकी वजह से पेट में गर्मी, जी मिचलाना, भूख में कमी और वजन घटना आदि परेशानी होती है।

इर्रिटेबले बाउल सिंड्रोम – Irritable bowel syndrome (IBS)

इर्रिटेबले बाउल सिंड्रोम - Irritable bowel syndrome (IBS)

इर्रिटेबले बाउल सिंड्रोम (IBS) एक आंतों का विकार है जो पेट की परेशानी का कारण बनता है, और कभी-कभी इसकी वजह से पेट में गर्मी होने लगती है। अन्य लक्षणों में गैस, दस्त, कब्ज, मल में बलगम, ऐंठन या सूजन और जी मिचलाना शामिल हैं।

खट्टी डकार (Indigestion)

खट्टी डकार (Indigestion)

खट्टी डकार को बदहजमी या अपच के नाम से भी जाना जाता है। यह एक पाचन समस्या का लक्षण होता है, जिसकी वजह से पेट में गर्मी होती है। पेट की गर्मी के अलावा भी खट्टी डकार आने का कारण जी मिचलाना, सूजन और बिना खाए पेट भरा हुआ महसूस करना आदि।

हर्निया (Hernia)

Hernia

हर्निया तब होता है जब कोई अंग मांसपेशियों या ऊतक के माध्यम से धक्का देता है। हर्निया के कई प्रकार के होते हैं, और कुछ पेट में गर्मी पैदा कर सकते है। हर्निया के अन्य लक्षण में प्रभावित क्षेत्र के पास दर्द या परेशानी, उठाने में दर्द और पेट भरा भरा हुआ लगना आदि शामिल हैं।

खाद्य पदार्थों के प्रति प्रतिक्रिया (Reactions to foods)

खाद्य पदार्थों के प्रति प्रतिक्रिया (Reactions to foods)

कुछ खाद्य पदार्थों के प्रति प्रतिक्रिया या असहिष्णुता (Intolerance) से कुछ व्यक्तियों में पेट में गर्मी पैदा हो सकती है। उदाहरण के लिए यदि आप दूध के प्रति असहिष्णु हैं, तो आप दूध में लैक्टोज को पचाने के लिए आवश्यक एंजाइम का पर्याप्त उत्पादन नहीं करते हैं। इसलिए दूध से बने प्रोडक्ट का सेवन करने से मतली, सूजन, ऐंठन या पेट में जलन हो सकती है।

पेट की गर्मी के लक्षण – Pet Ki Garmi Ke Lakshan In Hindi

पेट की गर्मी के लक्षण - Pet Ki Garmi Ke Lakshan In Hindi

अगर आपको पेट में गर्मी हो रही है तो इसके निम्न लक्षण हो सकते है।

पेट की गर्मी दूर करने के उपाय – Pet Ki Garmi Dur Karne Ke Upay

पेट की गर्मी दूर करने के उपाय - Pet Ki Garmi Dur Karne Ke Upay

अपने पेट की गर्मी को दूर करने के लिए आप निम्न घरेलू उपायों को कर सकते है।

  • पेट की गर्मी का इलाज करने के लिए आप नियमित गुनगुना पानी पियें। खाली पेट गुनगुना पानी पीना बहुत ही लाभदायक होता है, यह पेट से जुड़ी सभी प्रकार की समस्याओं को दूर को करने में मदद करता है।
  • छाछ से करे पेट की गर्मी का इलाज। पेट को ठंडक प्रदान करने के लिए मट्ठा बहुत उपयोगी माना जाता है। छाछ का सेवन करने से गर्मी शांत होती है।
  • यदि आपको पेट में जलन हो रही है तो आप नारियल पानी का सेवन करे, इससे आपको लाभ होगा। नारियल पानी पेट में होने वाली गर्मी को तुरंत शांत करने में बहुत प्रभावी माना जाता है।
  • शहद पेट की गर्मी को भी ख़त्म करने में मदद करता है। इसके लिए आप शहदनींबू, नारियल पानी आदि चीजों का सेवन करें।
  • पेट की गर्मी का घरेलू उपाय काला नमक। काला नमक पाचन के लिए उपयोगी होता है। इसके सेवन से भूख बढ़ती है और गैस की समस्या खत्म हो जाती है।
  • अरहर या तुअर की दाल का इस्तेमाल से भी पेट की गर्मी को शांत किया जा सकता है। पेट में जलन से छुटकारा पाने के लिए आप अरहर की दाल को पीस कर पियें।
  • पेट की गर्मी का घरेलू उपचार में ठंडी चीजों का सेवन करें।

पेट में गर्मी होने के क्या कारण है, लक्षण और उपाय (Pet Ki Garmi Ke karan, Lakshan aur Upay) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration