बालों का गिरना क्या है, प्रकार, कारण, लक्षण, इलाज और बचाव – What is Hair Loss, Types, Cause, Symptoms, Treatment In Hindi

बालों का गिरना क्या है, प्रकार, कारण, लक्षण, इलाज और बचाव - What is Hair Loss, Types, Cause, Symptoms, Treatment And Prevention In Hindi
Written by Sourabh

बालों का झड़ना (Hair Loss in hindi) आज के समय में एक सामान्य समस्या है। यह किसी भी उम्र में व्यक्तियों को प्रभावित कर सकती है। यद्यपि यह समस्या वयस्कों में अधिक प्रचलित है। एक दिन में 50 से 100 बालों का झड़ना एक सामान्य बात है। यह सिर पर उपस्थित लगभग 100,000 बाल की अपेक्षा बहुत ही कम तथा ध्यान देने योग्य नहीं है। नए बाल आमतौर पर खोए हुए (झड़े) बालों की जगह ले सकते हैं, लेकिन यह हमेशा संभव नहीं होता है। बालों के झड़ने की समस्या धीरे-धीरे या अचानक उत्पन्न हो सकती है। तथा बालों का झड़ना (Hair Loss) स्थायी या अस्थायी हो सकता है। यदि बालों की हानि सामान्य से अधिक हो रही है, तो सम्बंधित व्यक्ति को डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। बालों का गिरना (Hair Loss) कुछ अंतर्निहित कारणों पर निर्भर करता है। अतः यह समस्या अन्तर्निहित समस्यों की और भी संकेत करती है।

आज के इस लेख में आप जानेंगे कि बालों का झड़ना (Hair Loss) क्या है, इसके कारण, लक्षण क्या हैं, तथा इस समस्या का निदान, उपचार और रोकथाम के लिए क्या किया जा सकता है।

1. बालों का गिरना क्या है – What is Hair Loss in Hindi
2. बाल झड़ने के प्रकार – Hair Loss types in hindi
3. बाल गिरने के कारण इन हिंदी – Causes of Hair Loss in hindi

4. बाल झड़ने के लक्षण – Symptoms of hair loss in hindi
5. बाल गिरने के जोखिम कारक – Hair Loss Risk factors in hindi
6. बाल झड़ने का निदान – Hair Loss Diagnosis in hindi
7. बाल गिरने का इलाज – Hair Loss treatments in hindi
8. बाल झड़ने से रोकने के उपाय – Hair Loss Prevention in hindi

बालों का गिरना क्या है – What is Hair Loss in Hindi

बालों का गिरना क्या है - What is Hair Loss in Hindi

बालों का झड़ना (Hair Loss) एक ऐसी समस्या है जिसमें शरीर के बाल त्वचा के रोम को छोड़ देते हैं। यह समस्या शरीर के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकती है। औसतन रूप से प्रत्येक वयस्क के सिर में लगभग 100,000 से 150,000 बाल होते हैं और उनमें से 100 बाल प्रति दिन गिरना, बालों के झड़ने की समस्या की ओर संकेत कर सकता हैं। गंजापन, बालों के झड़ने (Hair Loss) की गंभीर समस्या को संबोधित करता है।

बालों का निर्माण एक प्रकार के प्रोटीन से होता है जिसे केराटिन (keratin) कहा जाता है जो त्वचा की बाहरी परत में बालो के रोम (हेर फॉलिकल) (hair follicles) में उत्पादित होता है। चूंकि रोम (follicles) त्वचा पर नई बाल कोशिकाओं का उत्पादन करते हैं, इसलिए प्रतिवर्ष छः इंच की दर से त्वचा की परत से रोम के माध्यम से पुरानी कोशिकाओं को बाहर निकाला जाता है। वास्तव में जो बाल हमें दिखाई देते हैं वह मृत केराटिन कोशिकाओं की एक शृंखला होती है।

बालों के झड़ने (Hair Loss) की समस्या सिर्फ आपके खोपड़ी (scalp) या पूरे शरीर को प्रभावित कर सकती है। यह समस्या आनुवंशिकता, हार्मोनल परिवर्तन, चिकित्सा परिस्थितियों या दवाओं के परिणाम स्वरुप उत्पन्न हो सकता है। यह समस्या किसी को भी प्रभावित कर सकती है, लेकिन पुरुषों में यह समस्या अधिक आम है।

(और पढ़े – बालों का असमय झड़ने का कारण और उपचार…)

बाल झड़ने के प्रकार – Hair Loss types in hindi

बाल झड़ने के प्रकार – Hair Loss types in hindi

व्यक्तियों में बालों का झड़ना निम्न प्रकार का हो सकता है:

इनवानुस्नल एलोपीशिया (Involutional alopecia) यह एक प्राकृतिक स्थिति है जिसमें बाल धीरे-धीरे उम्र के साथ पतले और कम होते जाते हैं। समय के साथ, बालों के रोम (hair follicles) की एक बड़ी संख्या मृत अवस्था में स्थानांतरित हो जाती है और शेष बालों की संख्या कम होती जाती है।

एंड्रोजेनिक एलोपेसिया (Androgenic alopecia) – यह बालों के झड़ने की एक अनुवांशिक स्थिति है, जो पुरुषों और महिलाओं दोनों को प्रभावित कर सकती है। पुरुष को लिए इस स्थिति को पुरुष पैटर्न गंजापन (male pattern baldness) के नाम से भी जाना जाता है। इस स्थिति से सम्बंधित व्यक्ति, किशोरावस्था या शुरुआती 20 के दशक में बाल झड़ने की समस्या से पीड़ित हो सकते हैं। इस स्थिति में सिर के बाल धीरे-धीरे गायब होते जाते हैं।

एलोपेशीया एरेटा (Alopecia areata) – बालों से सम्बंधित यह समस्या अचानक शुरू होती है, तथा बच्चों और युवाओं में बालों के झड़ने का कारण बनती है। इस बीमारी में व्यक्ति के सिर में जगह-जगह बाल जड़ से उखड़ जाते हैं, यह स्थिति पूर्ण गंजापन का कारण बन सकती है।

एलोपेशीया सार्वभौमिक (Alopecia universalis) – यह स्थिति भौहें, पलकें और जांघ के बाल सहित सम्पूर्ण शरीर के बाल गिरने का कारण बनती है।

ट्रीकोटिलोमनिया (Trichotillomania) – ट्रीकोटिलोमनिया (Trichotillomania) समस्या अक्सर बच्चों में बालों के झड़ने का कारण बनती है। एक मनोवैज्ञानिक विकार (psychological disorder) है, जिसमें व्यक्ति स्वयं के बाल खींचता है।

टेलोजन एफ्लुवियम (Telogen effluvium) – यह समस्या बालों के विकास में परिवर्तन की वजह से सम्पूर्ण सिर (खोपड़ी) पर अस्थायी पतले बाल का कारण बनती है। इस स्थिति में बालों की एक बड़ी संख्या एक ही समय में अविकसित अवस्था में आ जाती है, जिसके कारण बाल पतले हो जाते हैं।

(और पढ़े – एलोपेशीया एरेटा (बाल झड़ना) के कारण, लक्षण और इलाज…)

बाल गिरने के कारण इन हिंदी – Causes of Hair Loss in hindi

  1. बाल गिरने के कारण हार्मोन – Hormones Causes of Hair Loss in hindi
  2. बाल झड़ने के कारण जीन – Genes Causes of Hair Loss in hindi
  3. महिलाओं में बाल झड़ने के कारण तनाव, बीमारी, और प्रसव – Stress, illness, and childbirth Causes of Hair Loss in hindi
  4. बाल गिरने का कारण दवाएं – Drugs Causes of Hair Loss in hindi
  5. बालों के झड़ने का कारण चिकित्सा की स्थिति – Medical conditions Causes of Hair Loss in hindi
  6. बालों के झड़ने का कारण बनता है जलन, चोटें, और एक्स-रे – Burns, injuries, and X-rays Causes of Hair Loss in hindi
  7. महिलाओं में बाल झड़ने के कारण गर्भावस्था – Pregnancy Causes of Hair Loss in hindi
  8. अचानक बाल झड़ने के कारण ऑटोम्यून्यून बीमारी – Autoimmune disease Causes of Hair Loss in hindi
  9. बाल झड़ने के कारण कॉस्मेटिक प्रक्रियाएं – Cosmetic procedures Causes of Hair Loss in hindi
  10. बाल झड़ने का मुख्य कारण आहार Diet Causes of Hair Loss in hindi

हालांकि, कई कारक बालों के झड़ने (Hair Loss) को प्रभावित कर सकते हैं या बाल झड़ने का कारण बन सकते हैं, जैसे:

बाल गिरने के कारण हार्मोन – Hormones Causes of Hair Loss in hindi

बाल गिरने के कारण हार्मोन - Hormones Causes of Hair Loss in hindi

हार्मोन, जैसे एंड्रोजन (androgens) के असामान्य स्तर, बालों के झड़ने का कारण बन सकते हैं। यह मुख्य रूप से पुरुष हार्मोन है, जो कि पुरुषों और महिलाओं दोनों के द्वारा उत्पन्न किया जाता है।

(और पढ़े – पुरूषों के लिए बालों की देखभाल के टिप्‍स…)

बाल झड़ने के कारण जीन – Genes Causes of Hair Loss in hindi

नर और मादा दोनों के जीन सामान रूप से अपनी संतानों में बालों के गिरने की समस्या को ट्रिगर कर सकते हैं। तथा यह गंजापन का भी कारण बन सकते हैं।

महिलाओं में बाल झड़ने के कारण तनाव, बीमारी, और प्रसव – Stress, illness, and childbirth Causes of Hair Loss in hindi

तनाव, बीमारी, और प्रसव के कारण भी अस्थायी रूप से बालों का झड़ना प्रारंभ हो सकता है। एक फंगल संक्रमण (fungal infection) भी बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

(और पढ़े – डिलीवरी के बाद बालों का झड़ना कैसे रोकें…)

बाल गिरने का कारण दवाएं – Drugs Causes of Hair Loss in hindi

बाल गिरने का कारण दवाएं - Drugs Causes of Hair Loss in hindi

कैंसर उपचार, रक्त पतला करने, बीटा एड्रीनर्जिक ब्लॉकर्स (beta-adrenergic blockers) और रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए प्रयुक्त कीमोथेरेपी दवाओं और जन्म नियंत्रण गोलियों सहित दवाओं का उपयोग अस्थायी रूप से बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानें…)

बालों के झड़ने का कारण चिकित्सा की स्थिति – Medical conditions Causes of Hair Loss in hindi

थायराइड रोग (Thyroid disease), ल्यूपस (lupus), मधुमेह (diabetes), आयरन की कमी (एनीमिया) (anemia) और भोजन सम्बन्धी विकार बालों के झड़ने की समस्या का कारण बन सकते हैं। ज्यादातर मामलों में अंतर्निहित स्थितियों का इलाज करने के बाद, बालों को वापस लाया जा सकता है।

बालों के झड़ने का कारण बनता है जलन, चोटें, और एक्स-रे – Burns, injuries, and X-rays Causes of Hair Loss in hindi

त्वचा पर जलन, चोटें, और एक्स-रे विकरण अस्थायी बालों के गिरने का कारण बन सकते हैं। ऐसी स्थिति में बालों की वृद्धि प्रभावित क्षेत्र पर अवरुद्ध हो सकती है।

(और पढ़े – एक्स-रे क्या है, क्यों किया जाता है, कीमत और तरीका…)

महिलाओं में बाल झड़ने के कारण गर्भावस्था – Pregnancy Causes of Hair Loss in hindi

महिलाओं में बाल झड़ने के कारण गर्भावस्था - Pregnancy Causes of Hair Loss in hindi

गर्भावस्था (pregnancy), प्रसव और रजोनिवृत्ति मुख्य रूप से हार्मोनल परिवर्तन का करना बन सकते हैं जिसके कारण अस्थायी रूप से बालों के गिरने की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

अचानक बाल झड़ने के कारण ऑटोम्यून्यून बीमारी – Autoimmune disease Causes of Hair Loss in hindi

ऑटोम्यून्यून बीमारी, एलोपेशीया एरेटा (alopecia areata) का कारण बन सकती है। एलोपेशीया एरेटा (alopecia areata में, प्रतिरक्षा प्रणाली अज्ञात कारणों से संशोधित होती है और बालों के रोम को प्रभावित करती है। इस बीमारी के तहत ज्यादातर लोगों में, बालों की वृद्धि पुनः होती है।

(और पढ़े – आयुर्वेदिक तरीकों से रुकेगा हेयर लॉस और होगा हेयर रिग्रोथ…)

बाल झड़ने के कारण कॉस्मेटिक प्रक्रियाएं – Cosmetic procedures Causes of Hair Loss in hindi

कॉस्मेटिक प्रक्रियाएं जैसे अधिक बार शैम्पूइंग, perms, ब्लीचिंग (bleaching) और बालों की डाई (dye) करना आदि, बालों को कमजोर और भंगुर बनाकर उन्हें पतले बनाने में योगदान दे सकती हैं। इन सभी प्रक्रियों से बालों को नुकसान पहुंचता है, और वे टूटने लगते है। हालांकि, ये प्रक्रियाएं गंजापन का कारण नहीं बनती हैं।

बाल झड़ने का मुख्य कारण आहार Diet Causes of Hair Loss in hindi

बाल झड़ने का मुख्य कारण आहार Diet Causes of Hair Loss in hindi

कम प्रोटीन आहार या गंभीर रूप से कैलोरी-प्रतिबंधित आहार (calorie-restricted diet) भी अस्थायी रूप से बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

(और पढ़े – बालों के विकास के लिए जरूरी विटामिन…)

बाल झड़ने के लक्षण – Symptoms of hair loss in hindi

बाल झड़ने के लक्षण - Symptoms of hair loss in hindi

बाल झड़ने (Hair Loss) के संकेत और लक्षण पुरुषों, महिलाओं और बच्चों में भिन्न-भिन्न हो सकते हैं।

  • बालों का पतला होना
  • बालों का अचानक टूटना
  • सम्पूर्ण शरीर के बालों का झड़ना
  • सिर पर घोड़े की नाल के आकार का गंजापन
  • सर के बालों का धब्बे के रूप में झड़ना
  • तेजी से वजन घटाना
  • एनीमिया
  • पूर्ण गंजापन

(और पढ़े – महिलाओं में गंजेपन का कारण और उपचार…)

बाल गिरने के जोखिम कारक – Hair Loss Risk factors in hindi

बाल गिरने के जोखिम कारक - Hair Loss Risk factors in hindi

अनेक प्रकार के कारक बालों के झड़ने (Hair Loss) के जोखिम को बढ़ा सकते हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं:

  • मधुमेह और ल्यूपस जैसी कुछ चिकित्सीय स्थितियां
  • पारिवारिक इतिहास
  • वजन में अत्यधिक कमी
  • आयु
  • तनाव, इत्यादि।

(और पढ़े – मानसिक तनाव दूर करने के घरेलू उपाय…)

बाल झड़ने का निदान – Hair Loss Diagnosis in hindi

बाल झड़ने का निदान - Hair Loss Diagnosis in hindi

लगातार बालों का गिरना (Hair Loss), एक अंतर्निहित स्वास्थ्य समस्या को इंगित करता है। डॉक्टर या त्वचा विशेषज्ञ एक शारीरिक परीक्षण कर और स्वास्थ्य इतिहास की जानकारी प्राप्त कर सम्बंधित व्यक्ति में बालों के झड़ने का कारण निर्धारित कर सकता है। हल्के मामलों में, आहार परिवर्तन, चिकित्सकीय दवाओं में परिवर्तन की सलाह दी जा सकती है।

यदि त्वचा विशेषज्ञ को मरीज में बाल झड़ने के अन्तर्निहित कारणों जैसे- ऑटोम्यून्यून या त्वचा से समबन्धित बीमारी पर संदेह है, तो वे बायोप्सी की भी सलाह दे सकते हैं। बायोप्सी के अंतर्गत प्रयोगशाला परीक्षण के लिए त्वचा के एक छोटे नमूने की आवश्यकता होती है। चूँकि बालों का विकास एक जटिल प्रक्रिया है, इसलिए बालों के झड़ने के सटीक कारणों को निर्धारित करने में समय लग सकता है।

बालों के टूटने या झड़ने (Hair Loss) की समस्या का निदान करने के लिए निम्न परीक्षणों का आदेश दिया जा सकता है:

बाल झड़ने की जांच के लिए रक्त परीक्षण (Blood test) – डॉक्टर रक्त परीक्षण (Blood test) के माध्यम से बालों के झड़ने से संबंधित चिकित्सकीय स्थितियों का निदान कर सकता है।

बाल गिरने की जांच के लिए पुल टेस्ट (Pull test) – बालों के ढीलेपन का निर्धारण करने के लिए डॉक्टर धीरे-धीरे कई दर्जन बालों को खींचता है। यह प्रक्रिया बाल झड़ने की दर को निर्धारित करने में मदद करती है।

बाल झड़ना गंजेपन का रोग का पता लगाने के लिए स्कैल्प बायोप्सी (Scalp biopsy) – इस प्रक्रिया के तहत् परीक्षण करने के लिए डॉक्टर ऊतक नमूना लेने के लिए त्वचा को खरोंचते हैं या बालों को उखाड़कर उनकी जड़ों की जांच की जा सकती है। यह प्रक्रिया संक्रमण की स्थिति को निर्धारित करने में मदद कर सकती है जो कि बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

बाल झड़ने का पता लगाने के लिए लाइट माइक्रोस्कोपी (Light microscopy) – लाइट माइक्रोस्कोपी के अंतर्गत डॉक्टर बाल की जांच करने के लिए एक विशेष प्रकार के उपकरण का उपयोग करता है। माइक्रोस्कोपी की मदद से बालों की जड़ के संभावित विकारों का निदान करने में मदद करती है।

(और पढ़े – टूटते बालों से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू उपाय…)

बाल गिरने का इलाज – Hair Loss treatments in hindi

बाल गिरने का इलाज – Hair Loss treatments in hindi

कुछ दवाएं बालों के झड़ने (Hair Loss) की दर को धीमा कर सकती हैं, और उपचार प्रक्रिया बालों को स्वस्थ तथा मजबूत रखने में योगदान दे सकती है। अतः डॉक्टर बालों को झड़ने से रोकने के लिए निम्नलिखित उपचार अपना सकता है:

सिर के बाल गिरने का इलाज रोगेन (मिनॉक्सिडिल) (Rogaine (minoxidil) – रोगेन (Rogaine) बालों के रोम पर काम करता है, तथा नए बाल विकास को प्रोत्साहित कर सकता है। इस दवा का प्रभाव उन युवा व्यक्तियों के लिए सबसे अधिक लाभदायक है, जो गंजेपन (balding) या छोटे गंजे पैच (bald patches) के संकेत प्रदर्शित करते हैं। डॉक्टर द्वारा इस दवा को दिन में दो बार गंजेपन के धब्बों (balding spots) पर लागू करने की सलाह दी जा सकती है। यह दवा बालों को मोटा कर सकती है और बालों के झड़ने की दर को धीमा कर सकती है, लेकिन यह स्थाई गंजापन वाले पुरुषों के लिए प्रभावी नहीं है। इसके साइड इफेक्ट्स कम से कम दिखाई देते हैं, लेकिन कुछ स्थितियों में यह दवा त्वचा की जलन पैदा कर सकती है।

पैटर्न हेयर लॉस के उपचार प्रोपेसिया (फिनास्टेराइड) (Propecia (finasteride)) – प्रोपेसिया पुरुष पैटर्न गंजापन के लिए उपयोग किया जाने वाली दवा है। प्रोपेसिया बालों के झड़ने (Hair Loss) का कारण बनने वाले पुरुष हार्मोन का त्वचा पर गठन होने से रोकती हैं। प्रोपेसिया को गोली के रूप में लिया जाता है। प्रोपेसिया का उपयोग प्रसव क्षमता वाली महिलाओं द्वारा नहीं किया जा सकता है, क्योंकि दवा जन्म दोष पैदा कर सकती है।

स्पैरोनोलाक्टोंन (Spironolactone) – यह त्वचा में पुरुष हार्मोन को अवरुद्ध करने के लिए रोजाना उपयोग की जाने वाली एक दवा है, यह पुरुष हार्मोन्स बालों के झड़ने का कारण बन सकते हैं। इस दवा का प्रयोग पुरषों और कभी कभी महिलाओं के द्वारा किया जा सकता है।

एन्थ्रालिन (Anthralin) – यह एक सामयिक दवा (Topical medicine) है, जो बाल रोम के आधार पर उत्पन्न सूजन को नियंत्रित करने के लिए प्रयोग की जाती है। इसका उपयोग एलोपेशीया एरेटा (alopecia areata) जैसी स्थितियों में उपचार के रूप में किया जाता है।

हेयर लॉस के उपचार के लिए बाल प्रत्यारोपण (Hair transplantation) – यह एक प्रकार की शल्य चिकित्सा (surgery) है बालों के प्रत्यारोपण सर्जरी में त्वचा के छोटे प्लग (plugs) को प्रत्येक बाल के साथ, खोपड़ी के गंजे भागों में स्थानांतरित किया जाता है। यह वंशानुगत गंजापन वाले व्यक्तियों के लिए एक अच्छा उपाय है। इस प्रक्रिया में प्रत्यारोपित बाल बाहर निकल सकते हैं, लेकिन कुछ बाल कई महीनों के बाद प्रत्यारोपित रोम से बढ़ने लगते हैं। कुछ डॉक्टर प्रत्यारोपण के बाद बालों का झड़ना कम करने के लिए मिनॉक्सिडिल (minoxidil) का उपयोग करने की सलाह दे सकते हैं। गंजापन के इलाज के लिए सर्जिकल प्रक्रियाएं (Surgical procedures) बहुत महंगी हैं और दर्दनाक हो सकती हैं। इसके संभावित जोखिमों में रक्तस्राव और घाव को शामिल किया जा सकता है।

बालों को झड़ने से रोकने का इलाज लेजर थेरेपी (Laser therapy) – डॉक्टर पुरुषों और महिलाओं में वंशानुगत बालों के झड़ने की समस्या का इलाज करने के लिए लेजर थेरेपी (Laser therapy) की सलाह दे सकता है। इस थेरेपी के माध्यम से बालों के घनत्व में सुधार होता है। इसके अंतर्गत लेजर कंघी (laser comb) उपकरण की भी सलाह दी जा सकती है जो नए बालों के विकास को उत्तेजित करने में प्रभावी हो सकती है।

नोट – ऊपर बताये गए किसी भी इलाज को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना अति आवश्यक है। डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी प्रकार की दवा का सेवन न करें ये आपके लिए घातक साबित हो सकता हैं।

(और पढ़े – हेयर ट्रांसप्लांट के फायदे और नुकसान…)

बाल झड़ने से रोकने के उपाय – Hair Loss Prevention in hindi

बाल झड़ने से रोकने के उपाय – Hair Loss Prevention in hindi

अधिकांश गंजापन आनुवांशिकी के कारण उत्पन्न होता है। इस प्रकार के बालों के झड़ने (Hair Loss) को रोका नहीं जा सकता है। बालों के झड़ने के अन्य कारणों का उपचार कर तथा इन कारणों के खिलाफ घरेलू उपचार अपनाकर बाल झड़ने की समस्या पर रोक लगाई जा सकती है। अतः बाल के झड़ने की समस्या की रोकथाम के लिए निम्न उपाय अपनाये जा सकते हैं:

  • बालों को मजबूती से घुमाने, रगड़ने या खींचने से बचें।
  • एक विस्तृत दांत वाली कंघी बाल बनाने के लिए उपयोग में लें।
  • टाइट हेयरस्टाइल से बचें, जैसे- ब्राइड (braids), बन्स (buns) या पनीरेल (ponytails)
  • हॉट रोलर्स (hot rollers), कर्लिंग आयरन (curling irons) और गर्म तेल जैसे कठोर उपचार से बचें।
  • बालों के झड़ने का कारण बनने वाली दवाओं के सेवन से बचें।
  • धूम्रपान और गंजापन के बीच एक संबंध होता है, अतः धूम्रपान बंद करें
  • बालों को सूरज की रोशनी और अन्य स्रोतों से उत्पन्न पराबैंगनी प्रकाश से सुरक्षित रखें।
  • केमोथेरेपी (chemotherapy) से इलाज किये जाने की स्थिति में शीतलन टोपी (cooling cap) का प्रयोग करें। यह टोपी केमोथेरेपी के दौरान बालों के झड़ने के जोखिम को कम कर सकती है।

(और पढ़े – उलझे बालों को सुलझाने के घरेलू टिप्स ताकि वो टूटे नहीं…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration