गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानें – contraceptive pills benefits and side effects in Hindi

गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानें - what is contraceptive pills and how they affects our body in Hindi
Written by Anshika sarda

what is contraceptive pills in Hindi अनचाहे गर्भधारण से बचने के लिए लोग अक्सर गर्भनिरोधक का इस्तेमाल करते हैं। अनचाहे गर्भाधारण से बचने के कई तरीके होते हैं जैसे कंडोम का इस्तेमाल करना जो कि सबसे सुरक्षित तरीका माना जाता है। अगर बिना किसी सावधानी के यौन संबंध बना लिए जाते हैं तो इससे महिलाओं के गर्भवती होने की संभावना बढ़ जाती है ऐसे में महिलाएं अक्सर गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन करती है। आज हम आपको गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में बताएँगे (what is contraceptive pills and how they affects our body in Hindi)। 

आज हम आपको गर्भनिरोध दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले अच्छे और बुरे प्रभावों के बारे में बताएंगें। साथ ही हम आपको सबसे ज्यादा प्रचलित इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवाओं के बारे में भी बताएंगें। गर्भनिरोधक दवाओं को सही समय और सही तरीके से लेने पर अनचाहे गर्भधारण से तो बचा जा सकता है लेकिन साथ ही इनके कई तरह के दुष्प्रभाव भी होते हैं। आइए जानते हैं गर्भनिरोधक दवाओं के बारे में और इनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभावों के बारे में

1.गर्भनिरोधक दवा क्या होती है – What are the contraceptive pills in Hindi

गर्भनिरोधक दवा क्या होती है - What are the contraceptive pills in Hindi

यौन संबंध बनाने के बाद अवांछित गर्भाधारण से बचने के लिए जिन दवाओं का सेवन किया जाता है उन्हें गर्भनिरोधक दवा कहा जाता है। ये दो प्रकार कि होती है साधारण गर्भनिरोधक दवा जिनका सेवन सुरक्षित यौन संबंध के बाद रोजाना किया जाता है वहीं इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा का सेवन कभी-कभी असुरक्षित यौन संबंध बन जाने के अनचाहे गर्भधारण को रोकने के लिए किया जाता है इनका सेवन रोजाना नहीं किया जाता।

2.गर्भनिरोधक दवाएं कैसे काम करती है – How does contraceptive medicines works in Hindi

गर्भनिरोधक दवाएं कैसे काम करती है - How does contraceptive medicines works in Hindi

गर्भनिरोधक दवाएं सर्विकल म्यूकस को मोटा कर देती है जिससे स्पर्म अंडे तक नहीं पहुंच पाता। इन गोलियों में मौजूद साल्ट के कारण पैदा होने वाले हार्मोन्स गर्भाशय की परत को भी बदल देते हैं जिससे कि अंडे के फर्टिलाइज होने की संभावनाएं कम हो जाती हैं। कुछ मामलों में मिनी पिल्स अंडो को रिलीज होने से ही रोक देती हैं। साधारण गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन नियमित रुप से किया जाता है।

3. सबसे ज्यादा प्रचलित गर्भनिरोधक दवाएं Most popular contraceptive pills in Hindi

सबसे ज्यादा प्रचलित गर्भनिरोधक दवाएं - Most popular contraceptive pills in Hindi

यहां हम आपको कुछ ऐसी गर्भनिरोधक दवाओं और इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि बाजार में सबसे ज्यादा बिकने वाली और सबसे लोकप्रिय हैं।

गर्भनिरोधक दवा ‘रासमिन’ –  Contraceptive Pill Rasmin in Hindi

इस दवा में एस्ट्रोडियल और ड्रोसपायरनन का मिश्रण होता है जो कि असामान्य पीरियड्स और अनचाहे गर्भाधारण दोनों से बचाता है।

गर्भनिरोधक दवा ‘चॉइस’ – Contraceptive Pill Choice in Hindi

यह बाजार में आसानी से मिलने वाली गर्भनिरोधक दवा है। इसमें मौजूद लेवोनोरजेस्ट्रेल अनचाहे गर्भाधारण से बचाता है।

गर्भनिरोधक दवा  ‘एमटी पिल’ – Contraceptive Pill MT pill in Hindi      

इसमें संश्लेषित स्टेरोइड होते हैं जो कि हार्मोन्स के साथ मिलकर अनचाहे गर्भधारण को रोकने में मदद करते हैं।

गर्भनिरोधक दवा ‘बंधन’ – Contraceptive Pill Bandhan in Hindi 

इस गर्भनिरोधक दवा में लेवोनोरजेस्ट्रेल होता है जो कि गर्भनिरोधक के रुप में शरीर की मदद करता है। इस गर्भनिरोधक दवा का भी काफी प्रयोग किया जाता है।

4.सबसे ज्यादा प्रचलित इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवाएं  Most popular Emergency Contraceptive Pills in Hindi

सबसे ज्यादा प्रचलित इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवाएं -  Most popular Emergency Contraceptive Pills in Hindi

इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा आइपिल – Emergency Contraceptive Pill I-Pill in Hindi

सबसे ज्यादा प्रचलिक इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवाओं में से एक है। इस दवा में  लेवोनोरजेस्ट्रेल हार्मोन होता है जो कि प्रोटेक्शन देता है। इस दवा को असुरक्षित यौन-संबंध बनाने के 72 घंटे के भीतर लिया जाना चाहिए जिससे इसका सटीक प्रभाव पड़ता है। (और पढ़े – आई पिल टैबलेट की जानकारी)

इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा अनवॉटेड 72 – Emergency Contraceptive Pill Unwanted -72 in Hindi

इस इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा के दुष्प्रभाव काफी कम होते हैं।  इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा अनवॉटेड 72 सेवन भी असुरक्षित यौन संबंध बनाने के 72 घंटे के भीतर ही किया जाना सही रहता है।

(और पढ़े – Unwanted 72 गोली लेने के बाद पीरियड लेट होना)

इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा नोविल पिल – Emergency Contraceptive Pill No will-pill in Hindi

नो-विल पिल इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा के रुप में काफी लोकप्रिय है।  इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा नो-विल पिल को भी  असुरक्षित यौन संबंध बनाने के 24 घंटे के भीतर ही किया जाना सही रहता है।

इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा ‘प्रवेंटोल – Emergency Contraceptive Pill preventol in Hindi

प्रेवेंटोल की दो गोलियों का सेवन असुक्षित यौन संबंध बनाने के 24 घंटे के भीतर करना चाहिए। प्रवेंटोल को भी काफी प्रभावशाली गर्भनिरोधक दवा माना जाता है।

5. साधारण गर्भनिरोधक दवा और इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा के बीच अंतरDifference between ordinary contraceptive Pills and emergency contraceptive pills in Hindi

साधारण गर्भनिरोधक दवा और इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवा के बीच अंतर - Difference between ordinary contraceptive Pills and emergency contraceptive pills in Hindi

साधारण गर्भनिरोधक दवा यौन संबंध बनाने के बाद अवांछित गर्भाधारण से बचने के लिए किया जाता है। इन दवाओं को रोजाना बर्थ कंट्रोल के रुप में इस्तेमाल किया जाता है यह आपके पीरियड्स को प्रभावित नहीं करती है और इसे रोजाना खाना पड़ता है । इमरजेंसी गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटे के भीतर करना होता है, ये अत्यंत प्रभावशाली तो होती है लेकिन इनका प्रभाव तभी अच्छा से पड़ता है जब असुरक्षित यौन संबंध बनाने के बाद इनका जल्द से जल्द सेवन किया जाए, इनका सेवन रोजाना नहीं किया जा सकता। इन दवाओं के शरीर पर कई तरह के दुष्प्रभाव पड़ते हैं।

6. गर्भनिरोधक दवाओं के सेवन के लाभ Benefits of contraceptive pills in Hindi

गर्भनिरोधक दवाओं के सेवन के लाभ - Benefits of contraceptive pills in Hindi

गर्भनिरोधक दवाएं आपके अनचाहे गर्भधारण से सुरक्षा प्रदान करती है। इनका इस्तेमाल अगर सही तरीके से और सही समय पर किया जाए तो असुरक्षित यौन संबंध बनाने के बावजूद भी गर्भधारण से बचा जा सकता है। अवांछित गर्भाधारण को रोकने का यह काफी कारगर और सुरक्षित उपाय होता है। (और पढ़े – प्रेगनेंसी टेस्ट किट का सही उपयोग जाने)

7. गर्भनिरोधक दवाओं के शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभावSide effects of contraceptive medicines in Hindi

गर्भनिरोधक दवाओं के शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव - Side effects of contraceptive medicines in Hindi

गर्भनिरोधक दवाएं शरीर आपको अवांछित गर्भधारण से बचाती है लेकिन ये दवाएं शरीर के पर कई तरह के दुष्प्रभाव डालती हैं। आइए गर्भनिरोधक दवाओं के दुष्प्रभावों के बारे में जानते हैं।

गर्भनिरोधक दवाओं के शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव के कारण जी मिचलाना – Nausea side effects of contraceptive pills in Hindi

इन दवाओं के सेवन से एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ जाता है इसलिए आपको जी-मिचलाने की परेशानी हो सकती है।

गर्भनिरोधक दवाओं के शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव के कारण वजन का घटनाबढ़ना – weight gain side effects of contraceptive pills in Hindi

contraceptive pills/ गर्भनिरोधक दवाओं के सेवन के दुष्प्रभाव के कारण वजन में भी अंतर आता है और वजन घटता-बढ़ता रहता है। आमतौर पर इन दवाओं के सेवन के कारण वजन बढ़ता ही है।

गर्भनिरोधक दवाओं के शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव के कारण पीरियड्स में रक्त स्राव कम होना –   Low bleeding in periods side effects of contraceptive pills in Hindi

contraceptive pills /गर्भनिरोधक दवाओं के सेवन के कारण पीरियड्स में रक्त स्राव बहुत कम हो जाता है। पीरियड्स के दौरान रक्त स्राव में यह परिवर्तन अक्सर दवाएं लेने और बंद करने के दौरान अधिक देखा जाता है।

(और पढ़े – पीरियड्स की जानकारी और अनियमित पीरियड्स के लिए योग और घरेलू उपचार)

गर्भनिरोधक दवाओं के शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव के कारण दर्द होना – Pain side effects of contraceptive pills in Hindi

contraceptive pills / गर्भनिरोधक दवाओं के सेवन के कारण मूड स्वींग, पेट में दर्द, सीने में दर्द होना और आंखों का कमजोर होना जैसी समस्याएं हो सकती है।

Subscribe for daily wellness inspiration