गर्भनिरोधक इंजेक्शन क्या है, प्रकार, कैसे कम करता है, लाभ और साइड इफ़ेक्ट – What is Contraceptive Injection, Types, Advantage, Side Effect in Hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन क्या है, प्रकार, कैसे कम करता है, लाभ और साइड इफ़ेक्ट - What is Contraceptive Injection, Types, How It Works, Advantage, Side Effect in Hindi
Written by Sourabh

Garbh nirodhak injection in hindi महिलाओं के लिए गर्भनिरोधक इंजेक्शन गर्भावस्था को रोकने का सबसे अच्छा माध्यम है। जो महिलाएं गर्भावस्था को धारण नहीं करना चाहती है वे गर्भनिरोधक गोली की अपेक्षा गर्भनिरोधक इंजेक्शन पर ज्यादा विश्वास कर सकती हैं। इन इंजेक्शन में विशेष प्रकार के हार्मोन पाए जाते हैं, जो गर्भावस्था पूरी तरह से रोक देते हैं। गर्भ निरोधक इंजेक्शन का उपयोग लगभग 3 महीनों में एक बार किया जाता है। गर्भनिरोधक इंजेक्शन कुछ विशेष स्थितियों में फायदेमंद होता ,हैं तथा कुछ स्थितियों में इसके विभिन्न साइड इफ़ेक्ट भी देखे जा सकते है। अतः गर्भनिरोधक इंजेक्शन का प्रयोग करने से पहले इसके फायदे और नुकसान के बारे में जानना अतिआवश्यक होता है।

आज के इस लेख में आप जानेगें कि गर्भनिरोधक इंजेक्शन क्या है, गर्भनिरोधक इंजेक्शन के प्रकार हैं, यह कैसे कम करता है, इसके लाभ, हानियाँ और साइड इफ़ेक्ट क्या हैं।

  1. गर्भनिरोधक इंजेक्शन की जानकारी – Contraceptive injection information in hindi
  2. गर्भनिरोधक इंजेक्शन क्या है – Garbh nirodhak injection kya hai in hindi
  3. गर्भनिरोधक इंजेक्शन कैसे काम करता है – Garbh nirodhak injection kaise kam karta hai in hindi
  4. गर्भनिरोधक इंजेक्शन के साइड इफ़ेक्ट – Garbh nirodhak injection ke side effect in hindi
  5. महिलाओं के लिए गर्भनिरोधक इंजेक्शन के प्रकार – garbh nirodhak injection ke prakar in hindi
  6. गर्भनिरोधक इंजेक्शन के फायदे – Garbh nirodhak injection ke fayde in hindi
  7. गर्भनिरोधक इंजेक्शन के नुकसान – Garbh nirodhak injection ke nuksan in hindi
  8. गर्भनिरोधक इंजेक्शन का प्रयोग कब नहीं करना चाहिए – When should use contraceptive injection in hindi
  9. गर्भनिरोधक इंजेक्शन की कीमत – Contraceptive injection cost in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन की जानकारी – Contraceptive injection information in Hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन हर 3 महीने में एक बार तथा साल में 4 बार प्राप्त किये जाने वाले इंजेक्शन है। तथा इन्हें प्राप्त करने के लिए एक डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए। डॉक्टर या नर्स इस इंजेक्शन को प्राप्त करने से पहले सभी प्रकार के जोखिमों और लाभों पर चर्चा करनी चाहिए। किसी भी प्रकार की चिकित्सकीय स्थिति के बिना कोई भी महिला जन्म नियंत्रण इंजेक्शन का उपयोग करना शुरू कर सकती हैं। गर्भनिरोधक इंजेक्शन को पीरियड्स (periods) के दौरान तथा विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य समस्याएँ उत्पन्न होने के दौरान प्राप्त नहीं किया जाना चाहिए।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक के सभी उपाय और तरीके…)

गर्भनिरोधक इंजेक्शन क्या है – Garbh nirodhak injection kya hai in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन क्या है – Garbh nirodhak injection kya hai in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन जैसे – डेपो-प्रोवेरा (Depo-Provera), सयाना प्रेस (Sayana Press) और नोरिस्टरैट (Noristerat), गर्भावस्था को रोकने का सुरक्षित, सुविधाजनक और निजी जन्म नियंत्रण उपाय है। यह रक्त प्रवाह में प्रोजेस्टेरोन (progesterone) हार्मोन को जारी करता है। गर्भनिरोधक इंजेक्शन एक हार्मोनल दवा है, जो गर्भधारण करने की क्षमता को अवरुद्ध करता है।

किसी भी प्रकार की चिकत्सकीय स्थिति न होने पर यह इंजेक्शन महिलाओं के लिए गर्भावस्था रोकने का यह एक भरोसेमंद और सुविधाजनक माध्यम है। इस हेतु विभिन्न प्रकार के इंजेक्शन मौजूद हैं, जिनकी कार्य क्षमता अलग-अलग होती हैं। इन गर्भनिरोधक इंजेक्शन में से डेपो-प्रोवेरा की कार्य क्षमता 13 सप्ताह तक, नोरिस्टरैट (Noristerat) की कार्यक्षमता 8 सप्ताह तक एवं सयाना प्रेस की कार्यक्षमता 13 सप्ताह तक रहती है।

(और पढ़े – बिना गोली और कंडोम के प्रेगनेंसी रोकने और गर्भधारण से बचने के उपाय…)

गर्भनिरोधक इंजेक्शन कैसे काम करता है – Garbh nirodhak injection kaise kam karta hai in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन कैसे काम करता है - Garbh nirodhak injection kaise kam karta hai in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन एक गर्भनिरोधक गोली की तरह ही काम करता है। इसमें प्रोजेस्टेरोन (progesterone) नामक सेक्स हार्मोन होता है, जो निम्न प्रकार कार्य करता है:

  • गर्भ (womb) के प्रवेश द्वार पर श्लेष्म को मोटा करता है, जिससे शुक्राणु गर्भ में प्रवेश नहीं कर पाते हैं।
  • ओव्यूलेशन (ovulation) को रोकता है।
  • गर्भ के अस्तर को बदल देता अर्थात पतला कर देता है, जिससे निषेचित अंडाणु प्रत्यारोपित नहीं हो पाते है।
  • इन तीन तरीकों में से किसी एक के विफल होने पर भी गर्भधारण को रोका जा सकता है। वास्तव में, गर्भनिरोधक इंजेक्शन 99% से भी अधिक प्रभावी है। जब शुक्राणु और अंडाणु एक साथ नहीं मिल सकते हैं, तो गर्भधारण नहीं हो सकता है। आमतौर पर डेपो-प्रोवेरा (Depo-Provera) और नोरिस्टरैट (Noristerat injections) नामक गर्भनिरोधक इंजेक्शन उपयोग में लाये जाते हैं।

(और पढ़े – प्रोजेस्टेरोन के कार्य एवं गर्भावस्था में इसकी भूमिका…)

गर्भनिरोधक इंजेक्शन के साइड इफ़ेक्ट – Garbh nirodhak injection ke side effect in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन के साइड इफ़ेक्ट - Garbh nirodhak injection ke side effect in hindi

सभी हार्मोनल गर्भनिरोधकों (hormonal contraceptives) की तरह, यह इंजेक्शन भी विभिन्न प्रकार के साइड इफेक्ट का कारण बन सकते है।

गर्भनिरोधक इंजेक्शन के साइड इफ़ेक्ट में निम्न को शामिल किया जा सकता है, जैसे:

(और पढ़े – महिलाओं में कामेच्छा (सेक्स की इच्छा) की कमी के कारण और इलाज…)

महिलाओं के लिए गर्भनिरोधक इंजेक्शन के प्रकार – garbh nirodhak injection ke prakar in hindi

महिलाओं के लिए गर्भनिरोधक इंजेक्शन के प्रकार - garbh nirodhak injection ke prakar in hindi

मुख्य रूप से तीन सबसे सामान्य गर्भनिरोधक इंजेक्शन डेपो प्रोवेरा(Depo-Provera), सयाना प्रेस (Sayana Press) और नोरिस्टरैट (Noristerat) उपयोग में लाये जा सकते है।

ज्यादातर महिलाएं डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन का उपयोग करती हैं।

डिपो प्रोवेरा गर्भनिरोधक इंजेक्शन (Depo Provera) – डेपो प्रोवेरा (Depo Provera) एक गर्भनिरोधक इंजेक्शन (contraceptive injection) है, जो गर्भावस्था को 12 से 14 सप्ताह तक के लिए अवरुद्ध कर देता है। गर्भनिरोधक अवस्था बनाये रखने के लिए सम्बंधित महिला को 12 सप्ताह के बाद पुनः दूसरा इंजेक्शन प्राप्त करने की आवश्यकता होती है।

नोरिस्टरैट गर्भनिरोधक इंजेक्शन (Noristerat) – नोरिस्टरैट (Noristerat) में डेपो प्रोवेरा (Depo Provera) की तुलना में एक अलग प्रोजेस्टेरोन हार्मोन्स होता है। यह आमतौर पर 8 सप्ताह तक गर्भावस्था से रक्षा करता है, 8 सप्ताह के बाद दूसरा इंजेक्शन लेने की आवश्यकता होती है।

सयाना प्रेस गर्भनिरोधक इंजेक्शन (Sayana Press) – सयाना प्रेस इंजेक्शन भी एक प्रकार का गर्भनिरोधक इंजेक्शन है, जो 13 सप्ताह अपना प्रभाव रखता है। लेकिन यह गर्भनिरोधक इंजेक्शन का एक नया प्रकार है, इसलिए यह सभी क्लीनिक में उपलब्ध नहीं है।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक दवाओं और उनके शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानें…)

गर्भनिरोधक इंजेक्शन के फायदे – Garbh nirodhak injection ke fayde in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन के फायदे – Garbh nirodhak injection ke fayde in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन महिलाओं के लिए निम्न तरीकों से फायदेमंद होता है:

  • एक बार इंजेक्शन लेने पर महिलाओं को लगभग 3 महीने तब गर्भनिरोधक के बारे में विचार करने की आवश्यकता नहीं होती है।
  • इसकी कार्यक्षमता अन्य दवाओं से प्रभावित नहीं होती है।
  • यह इंजेक्शन काफी दर्दनाक पीरियड्स (periods) को दूर कर सकता है और कुछ लोगों के लिए प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (premenstrual Syndrome) के लक्षणों को भी कम करने में मदद कर सकता है।
  • स्तनपान (breastfeeding) कराने वाली महिलाएं इस इंजेक्शन का इस्तेमाल कर सकती हैं।

(और पढ़े – प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (पीएमएस) के कारण, लक्षण और इलाज…)

गर्भनिरोधक इंजेक्शन के नुकसान – Garbh nirodhak injection ke nuksan in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन के नुकसान – Garbh nirodhak injection ke nuksan in hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन प्राप्त करने वाली महिलाओं को निम्न प्रकार की मुश्किलों या असुविधाओं का सामना करना पड़ सकता है:  

  • इंजेक्शन बंद करने के कुछ महीनों बाद अनियमित रूप से रक्तस्राव हो सकता है।
  • जब महिलाएं डेपो-प्रोवेरा या सयाना प्रेस इंजेक्शन का उपयोग करते हैं, तो यह इंजेक्शन कभी कभी वजन में कमी का कारण बन सकते हैं।
  • चूँकि इंजेक्शन 13 या 8 सप्ताह तक काम करता है। अतः इसके प्रभाव को समय से पहले दूर नहीं किया जा सकता है।
  • इंजेक्शन लेना बंद करने के बाद पीरियड्स (periods) और प्रजनन क्षमता की वापसी में लगभग एक वर्ष तक की देरी हो सकती है।
  • गर्भनिरोधक इंजेक्शन, यौन संचारित रोग (sexually transmitted  Diseases) के खिलाफ रक्षा प्रदान नहीं करते हैं, इसलिए सेक्स के दौरान कंडोम (condoms) का भी उपयोग करना पड़ सकता है।
  • कुछ महिलाओं में इसके साइड इफेक्ट्स के रूप में स्पॉटी त्वचा (spotty skin), बालों के झड़ने, कामेच्छा में कमी (decreased libido), मूड स्विंग्स (mood swings) और सिरदर्द का अनुभव हो सकता है।
  • डेपो-प्रोवेरा या सयाना प्रेस का उपयोग हड्डियों को प्रभावित कर सकता है।
  • गर्भनिरोधक इंजेक्शन शरीर पर एलर्जी प्रतिक्रिया उत्पन्न कर सकते हैं, लेकिन यह दुर्लभ है।

(और पढ़े – यौन संचारित रोग एसटीडी को रोकने के तरीके…)

गर्भनिरोधक इंजेक्शन का प्रयोग कब नहीं करना चाहिए – When should use contraceptive injection in Hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन का प्रयोग कब नहीं करना चाहिए - When should use contraceptive injection in hindi

निम्न स्थितियों को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक महिला को गर्भनिरोधक इंजेक्शन का उपयोग नहीं करना चाहिए, इन स्थितियों में शामिल हैं :

(और पढ़े – गर्भवती होने के लिए पूरा गाइड…)

गर्भनिरोधक इंजेक्शन की कीमत – Contraceptive injection cost in Hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन की कीमत - Contraceptive injection cost in Hindi

गर्भनिरोधक इंजेक्शन को मुफ्त में नगरपालिका क्लिनिक (municipal clinic), गर्भनिरोधक क्लीनिक, यौन स्वास्थ्य क्लीनिक या जीपी सर्जरी क्लीनिक से प्राप्त कर सकते हैं।

भिन्न-भिन्न स्थानों के आधार पर गर्भनिरोधक इंजेक्शन की कीमत Rs.30 से Rs. 250 तक हो सकती है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration