जानें कॉपर टी का इस्तेमाल, इसके फायदे और नुकसान- What is Copper -T, Benefits And Side-Effects in Hindi

जानें कॉपर टी का इस्तेमाल, इसके फायदे और नुकसान- what is Copper -T,  Benefits and side-effects in hindi
Written by Anshika sarda

Copper -T in hindi जब भी बात गर्भनिरोध की होती है हम सब के दिमाग में कंडोम, इमरजेंसी पिल्स, बर्थ कंट्रोल पिल्स आदि के बारे में आता है। अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए कई तरह के अन्य सुरक्षित उपाय भी होते हैं उन्हीं में से एक है कॉपर टी। इंट्रायूटेरिन डिवाइस जिसे आईयूएसडी भी कहते हैं एक सुरक्षित गर्भनिरोधक उपाय माना जाता है। यह सबसे सुरक्षित, कारगर और लंबे समय तक टिकाऊ उपाय माना जाता है। इस आर्टिकल में आज हम कॉपर टी और उससे जुड़ी सभी बातें, कॉपर टी क्या होती है, कॉपर टी का इस्तेमाल, कॉपर टी के स्वास्थ्य लाभ, कॉपर टी के फायदे और कॉपर टी के नुकसान (what is Copper -T uses, Benefits and side effects in hindi) के बारे में बताएंगें।

यह उपकरण प्लास्टिक का बना होता है जिसके एक कोने पर कॉपर की एक टी आकार की शेप होती है जो कि प्लास्टिक के अंदर होती है और एक कॉपर के पतले तार में बंधी होती है। भारत में कॉपर टी का इस्तेमाल काफी मात्रा में किया जाता है।

कॉपर टी क्या होती है? – What is Copper -T in Hindi

गर्भनिरोधक उपाय के रूप में कॉपर टी (Copper -T) एक इंट्रायूटेरिन डिवाइस होता है जो कि महिलाओं के लिए एक कारगर गर्भनिरोधक माना जाता है। इसके इस्तेमाल की सलाह उन महिलाओं को दी जाती है जो एक बार मां बन चुकी होती है। इसका इस्तेमाल किसी एक्सपर्ट के द्वारा किया जाना चाहिए क्योंकि इसे लगाना काफी मुश्किल होता है। कॉपर टी को महिलाओं के यूट्रस (गर्भाशय) में लगाया जाता है।

(और पढ़े – बिना गोली और कंडोम के प्रेगनेंसी रोकने और गर्भधारण से बचने के उपाय)

कॉपर टी का इस्तेमाल कैसे किया जाता है – Copper T Use in Hindi

कॉपर टी का इस्तेमाल कैसे किया जाता है - copper t use in hindi

महिलाओं के लिए Copper -T प्लास्टिक की एक स्ट्रॉ के आकार की प्लास्टिक स्ट्रीप होती है। जिसके एक सिरे पर एक कॉपर का टी आकार का शेप होता है। एक बार यथास्थान पर फिट होने के बाद कॉपर के शुक्राणुनाशी गुण प्रभावी हो जाते हैं और यह बर्थ कंट्रोल डिवाइस की तरह काम करता है। इसका आकार गर्भाश्य के लिए एकदम सही होता है और यह अपनी जगह पर टिका रहता है।

(और पढ़ें – बर्थ कंट्रोल इम्प्लांट का उपयोग, फायदे, नुकसान और सावधानीयां)

इंट्रायूटेरिन डिवाइस के प्रकार  Different kinds of IUDs in Hindi

  • हार्मोनल इंट्रायूटेरिन डिवाइस – Hormonal Intrauterine Device in Hindi

यह इंट्रायूटेरिन डिवाइस एक प्रकार का हार्मोन रिलीज करता है जिसे प्रोजेस्टीन कहा जाता है। यह हार्मोन अंडे को फर्टीलाइज होने से रोकता है और यूट्रस की दीवारों पर जमा होने से रोकता है।

  • कॉपर इंट्रायूटेरिन डिवाइस – Copper Intrauterine Device in Hindi

स्पर्म के लिए कॉपर एक टॉक्सिन की तरह काम करता है। इसे लगाने से यूट्रस में बनने वाले द्रव में कॉपर के आयन मिल जाते हैं और यह स्पर्म किलर की तरह काम करता है और गर्भाधारण से बचाता है।

कॉपर टी कैसे काम करता है – How Copper T Work in Hindi

इसको गर्भाश्य में लगाने पर कॉपर आयन यूटेरिन फ्लूइड और सर्विक म्यूकस में मिल जाते हैं। कॉपर स्पर्म के संपर्क में आकर इन्हें खत्म कर देता है और शरीर को गर्भधारण से बचाता है।

कॉपर टी कितना कारगर है How Effective is a Copper T in Hindi

एक बार गर्भाशय में लगाने के बाद यह कई सालों तक अनचाहे गर्भधारण से सुरक्षा देता है। इसका इस्तेमाल अनचाहे गर्भ से 98 प्रतिशत तक सुरक्षा देता है। इसके इस्तेमाल से फर्टीलिटी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

कॉपर टी के फायदे Copper T Benefits in Hindi

कॉपर टी का इस्तेमाल काफी प्रभावशाली होता है– Copper T is  Extremely Effective in Hindi

इसका इस्तेमाल काफी कारगर और प्रभावशाली होता है। इसका प्रभाव काफी शीघ्र होता है और यह असुरक्षित यौन संबंध के बाद गर्भाधारण से सुरक्षा देता है।

(और पढ़े – सुरक्षित सेक्स करने के तरीके)

कॉपर टी के फायदे बर्थ कंट्रोल हार्मोन्स को प्रभावित नहीं करते – Copper T Dose Not Affect Hormones in Hindi

यह एक दीर्घकालीन गर्भ निरोधक होता है जो कि हार्मोन्स को प्रभावित नहीं करता है। बहुत से लोग जो हार्ट अटैक, ब्लड क्लॉट की परेशानियों से जूझ रहे होते हैं उनके लिए हार्मोन इंबैलेंस करने वाले गर्भनिरोधक हानिकारक होते हैं।

कॉपर टी के फायदे त्वचा, सेक्स ड्राइव को प्रभावित नहीं करता है– Copper T Dose Not Affect Skin, Sex-Drive in Hindi

बहुत सारे गर्भनिरोधक गोलियों आदि के कारण फर्टीलिटी और त्वचा पर बुरा असर पड़ता है। कॉपर टी का इस्तेमाल करने से त्वचा और फर्टीलिटी पर बुरा असर नहीं पड़ता है। साथ ही इससे वजन बढ़ना, मुंहासे और सेक्स ड्राइव पर विपरीत असर पड़ने जैसी परेशानियां भी नहीं होती है।

कॉपर टी के फायदे लंबे समय तक काम करता हैCopper t is Long Lasting in Hindi

इसका इस्तेमाल लंबे समय तक प्रभावी रहता है 3 से 5 साल तक इसका उपयोग किया जा सकता है। साथ ही यह बहुत मंहगा भी नहीं होता है।

कॉपर टी के नुकसान – copper -T Side-effects in Hindi

कॉपर-टी के दुष्प्रभाव से असमय रक्तस्राव होना Copper -T  Side-Effects Untimely Bleeding in Hindi

बहुत सी महिलाओं के कॉपर टी लगाने के बाद असमय रक्तस्राव और पीरियड्स के दर्द जैसी शिकायतें होती है। अक्सर ऐसा कॉपर टी लगाने के कुछ महीनों के बाद तक होता है लेकिन कुछ महीनों बाद सब सही हो जाता है।

कॉपर टी के नुकसान से एलर्जी होनाCopper -T Side Effects allergy in Hindi

कुछ महिलाओं को कॉपर टी का इस्तेमाल करने से रैशेज और खुजली जैसी शिकायतें भी हो जाती हैं। ऐसे में डॉक्टर का परामर्श जरुर लें।

कॉपर टी के नुकसान से संक्रमण होना Copper -T Side Effects Infection in Hindi

वैसे तो यह बहुत कम होता है लेकिन Copper -T के फिसल कर नीचे चले जाने के कारण संक्रमण का खतरा भी  रहता है।

कॉपर टी के नुकसान से खून के धब्बे लगना – Copper -T Side Effects Spotting in Hindi

कई बार आईयूडी लगाने के कुछ महीनों बाद तक महिलाओं को खून के दाग लगने जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration