स्परमिसिडिस क्या है शुक्राणुनाशक का उपयोग और सावधानियां – Spermicide (Shukranu Nashak) Uses And Benefits In Hindi

स्परमिसिडिस क्या है शुक्राणुनाशक का उपयोग और सावधानियां – Spermicide (Shukranu Nashak) Uses And Benefits In Hindi
Written by Sourabh

Spermicide in Hindi शुक्राणुनाशक गर्भ निरोध का एक प्रकार है, स्परमिसिडिस का उपयोग कर बिना कंडोम के सेक्स किया जा सकता है, स्परमिसिडिस एक तरह का गर्भनिरोधक पदार्थ है, जो संभोग से पूर्व, योनी में डालने से, शुक्राणु का नाश करता या उन्हें योनि के अंदर प्रवेश करने से रोकता है और इस तरह, यह गर्भावस्था को रोकने का कार्य करता है। सेक्‍स मानव जीवन एक अहम हिस्‍सा है जो कि प्रजनन का भी एक माध्‍यम है। लेकिन गर्भनिरोधक विधियों का उपयोग भी जरूरी है। शुक्राणुनाशक जन्‍म नियंत्रण का एक बेहतर विकल्‍प है लेकिन क्‍या आपको शुक्राणुनाशक का उपयोग और सावधानियां पता है। अगर नहीं पता तो कोई बात नहीं यह आर्टिकल आपकी मदद कर सकता है।

आज हम यहां जन्‍म नियंत्रण के लिए शुक्राणुनाशक या स्परमिसिडिस का उपयोग और सावधानियां संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें। जिससे आप भी इनका उपयोग कर गर्भाधारण की संभावनाओं को दूर कर सकते हैं। आइए समझें शुक्राणुनाशक क्‍या है और यह कैसे काम करता है।

1. शुक्राणुनाशक (स्परमिसिडिस) क्‍या है – Spermicide Kya Hai in Hindi
2. शुक्राणुनाशक (स्परमिसिडिस) कैसे काम करता है – Shukranu Nashak kaise kaam karta hai in Hindi
3. शुक्राणुनाशक के प्रकार क्‍या हैं – Shukranu Nashak ke prakar kya hai in Hindi
4. शुक्राणुनाशक (स्परमिसिडिस) कितना प्रभावी है – How effective is spermicide in Hindi

5. शुक्राणुनाशक (स्परमिसिडिस) का उपयोग – Shukranu Nashak ka upyog in Hindi

6. शुक्राणुनाशक कैसे प्राप्‍त हो सकता है – Shukranu Nashak kaise prapt ho sakta hai in Hindi
7. शुक्राणुनाशक कहां से खरीदा जा सकता है – Where can spermicidal be purchased in Hindi
8. शुक्राणुनाशक की कीमत क्‍या है – How much does spermicide cost in Hindi
9. शुक्राणुनाशक के फायदे क्‍या हैं – Shukranu Nashak ke Fayde Kya Hai in Hindi

10. शुक्राणुनाशक का उपयोग करने के नुकसान – Shukranu Nashak Ka Upyog Karne Ke Nuksan in Hindi

शुक्राणुनाशक (स्परमिसिडिस) क्‍या है – Spermicide Kya Hai in Hindi

हम और आप कई प्रकार के जन्‍म नियंत्रण विधियों का उपयोग करते हैं जिनमें शुक्राणुनाशक भी शामिल है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि वास्‍तव में शुक्राणुनाशक क्‍या है। स्परमिसिडिस एक ऐसा जन्‍म नियंत्रण है जिसमें ऐसे रसायन होते हैं जो शुक्राणुओं को अंडाणुओं तक पहुंचने से रोकते हैं। गर्भावस्‍था को रोकने के लिए सेक्‍स से पहले शुक्राणुनाशक को योनि में डाला जाता है। हालांकि स्परमिसिडिस कई प्रकार के होते हैं जो बाजार में विभिन्‍न ब्रांडों में उपलब्‍ध हैं। आप अपनी जरूरत के हिसाब से इन्‍हें बाजार से खरीद सकते हैं। आइए जाने शुक्राणुनाशक से संबंधित अन्‍य जानकारीयां।

(और पढ़े – गर्भाधारण से बचने के लिए प्रजनन जागरूकता विधि…)

शुक्राणुनाशक (स्परमिसिडिस) कैसे काम करता है – Shukranu Nashak kaise kaam karta hai in Hindi

शुक्राणुनाशक (स्परमिसिडिस) कैसे काम करता है – Shukranu Nashak kaise kaam karta hai in Hindi

बहुत से लोग जन्‍म नियंत्रण के लिए शुक्राणुनाशक का उपयोग करते हैं जो कि प्रभावी है। लेकिन क्‍या आपको पता है कि स्परमिसिडिस कैसे काम करता है। जैसा कि आप जानते हैं शुक्राणुनाशक एक रसायन है जिसे आप ठीक सेक्‍स के पहले योनि में उपयोग करते हैं। शुक्राणुनाशक 2 प्रकार से गर्भावस्‍था को रोकता है :

पहला यह कि शुक्राणुनाशक गर्भाशय ग्रीवा के प्रवेश द्वार को बंद कर देता है जिससे शुक्राणु अंडे तक नहीं पहुंच सकता है। और दूसरा तरीका यह है कि शुक्राणुओं की गतिशीलता को कम करना जिससे ये तैरते हुए अंडों तक न पहुंच सकें।

महिलाओं द्वारा केवल शुक्राणुनाशक का प्रयोग किया जा सकता है। इसके अलावा वे अन्‍य जन्‍म नियंत्रण विधयों के साथ भी शुक्राणुनाशक का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। यदि आप गर्भनिरोधक के लिए स्परमिसिडिस का उपयोग करते हैं तो आपको इसके साथ कंडोम का उपयोग भी करना चाहिए। यह आपको गर्भावस्‍था से दोहरी सुरक्षा दिला सकता है। कंडोम का उपयोग करने का फायदा यौन संक्रमण से बचाने में भी होता है।

(और पढ़े – शुक्राणु क्या है, कैसे बनते है, कार्य और संचरना…)

शुक्राणुनाशक के प्रकार क्‍या हैं – Shukranu Nashak ke prakar kya hai in Hindi

उपयोग और सुविधा के आधार पर शुक्राणुनाशक का उपयोग किया जाना चाहिए। आपको यह भी पता होना चाहिए कि शुक्राणुनाशक के विभिन्‍न प्रकार क्‍या हैं जिन्‍हें आप उपयोग कर सकते हैं। स्परमिसिडिस कई अलग-अलग रूपों में आते हैं जैसे क्रीम, जैल, फिल्‍म (film), फोम और सपोसिटरी (suppositories) जो कि एक नरम आवेषण है जो योनि के अंदर क्रीम की तरह पिघलते हैं। हालांकि ये शुक्राणुनाशक विभिन्‍न ब्रांडों में उपलब्‍ध हैं लेकिन सभी समान तरीके से काम करते है। ये सभी गर्भाशय ग्रीवा को कवर करते हैं और शुक्राणुओं को अंडाशय तक पहुंचने से रोकते हैं। अन्‍य जन्‍म नियंत्रणों की अपेक्षा शुक्राणुनाशक का उपयोग करना बहुत ही सरल और सुविधाजनक होता है।

(और पढ़े – गर्भाशय ग्रीवा टोपी का उपयोग और सावधानियां…)

शुक्राणुनाशक (स्परमिसिडिस) कितना प्रभावी है – How effective is spermicide in Hindi

  1. शुक्राणुनाशक गर्भावस्‍था रोकने में कितना प्रभावी है – How effective is spermicide at preventing pregnancy in Hindi
  2. शुक्राणुनाशक को अधिक प्रभावी कैसे बनाये – Shukranu Nashak ko adhik prabhavi kaise Banaye in Hindi
  3. क्‍या शुक्राणुनाशक यौन संक्रमण से बचाता है – Does spermicide protect against STDs in Hindi

कुछ लोगों के मन में यह प्रश्‍न उठता है कि महिला गर्भनिरोधक के लिए शुक्राणुनाशक कितना प्रभावी है। उनकी जानकारी के लिए बता दें कि यदि सही तरीके से उपयोग किया जाये तो शुक्राणुनाशक आपको गर्भावस्‍था से सुर‍क्षा दिला सकता है। लेकिन पूर्ण सुरक्षा प्राप्‍त करने के लिए शुक्राणुनाशक के साथ अन्‍य जन्‍म नियंत्रण जैसे कंडोम आदि भी गर्भावस्‍था को रोकने में मदद करते हैं। आइए जाने शुक्राणुनाशक की प्रभावशीलता के बारे में अन्‍य जानकारीयां क्‍या हैं।

शुक्राणुनाशक गर्भावस्‍था रोकने में कितना प्रभावी है – How effective is spermicide at preventing pregnancy in Hindi

शुक्राणुनाशक गर्भावस्‍था रोकने में कितना प्रभावी है - How effective is spermicide at preventing pregnancy in Hindi

उपयोग करने से महिलाओं के मन में यह प्रश्‍न जरूर उठता होगा कि शुक्राणुनाशक गर्भावस्‍था को रोकने में कितना प्रभावी है। इसका जबाव यह है कि अन्‍य जन्‍म नियंत्रण विधियों की तरह ही शुक्राणुनाशक गर्भावस्‍था को रोकने में सहायक होता है। लेकिन इसके लाभ प्राप्‍त करने के लिए महिलाओं को हर बार योनि सेक्‍स के दौरान शुक्राणुनाशक का उपयोग करने की आवश्‍यकता होती है। उपयोग करने के दौरान पैकिट पर दिये गए सभी निर्देशों का पालन करें।

यदि स्परमिसिडिस की प्रभावशीलता की बात करें तो इसका उपयोग करने वाली 100 महिलाओं में से 18 महिलाएं प्रति वर्ष गर्भवती हो सकती हैं। भले ही वे इसका सही तरीके से उपयोग कर रहीं हों। लेकिन यदि इसका सही तरीके से उपयोग नहीं किया जाता है तो 100 में से लगभग 28 महिलाएं गर्भवती हो सकती हैं। क्‍योंकि केवल शुक्राणुनाशक अकेले ही गर्भावस्‍था को रोकने का प्रभावी तरीका नहीं है। लेकिन यदि अन्‍य जन्‍म नियंत्रण के साथ उपयोग किया जाये तो इसकी प्रभावशीलता बढ़ सकती है। यदि आप शुक्राणुनाशक के साथ गर्भावस्‍था को लेकर चिंतित हैं तो अन्‍य जन्‍म नियंत्रण विधि जैसे पुल आऊट विधि या कंडोम आदि का भी उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – पुल आउट मेथड अनचाहे गर्भ से बचने का प्राकृतिक तरीका…)

शुक्राणुनाशक को अधिक प्रभावी कैसे बनाये – Shukranu Nashak ko adhik prabhavi kaise Banaye in Hindi

शुक्राणुनाशक को अधिक प्रभावी कैसे बनाये – Shukranu Nashak ko adhik prabhavi kaise Banaye in Hindi

उपयोग करने वाली सभी महिलाओं को पता होना चाहिए कि शुक्राणुनाशक को अधिक प्रभावी कैसे बनाये। स्परमिसिडिस की प्रभावशीलता को बढ़ाने के लिए हर बार सेक्‍स के दौरान इसका सही तरीके से उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा गर्भावस्‍था से बचने के लिए आप शुक्राणुनाशक के साथ अन्‍य जन्‍म नियंत्रणों का भी उपयोग करना चाहिए। आप अपने साथी को स्‍खलन के पहले लिंग को बाहर खीचने के लिए कह सकते हैं। जिससे शुक्राणु आपकी योनि के अंदर प्रवेश नहीं कर सकते हैं। जिससे आप गर्भावस्‍था से बच सकते हैं। गर्भावस्‍था से बचने के लिए कंडोम और शुक्राणुनाशक का एक साथ उपयोग करना अधिक प्रभावी होता है।

(और पढ़े – सुरक्षित सेक्स करने के तरीके…)

क्‍या शुक्राणुनाशक यौन संक्रमण से बचाता है – Does spermicide protect against STDs in Hindi

क्‍या शुक्राणुनाशक यौन संक्रमण से बचाता है - Does spermicide protect against STDs in Hindi

गर्भावस्‍था से सुरक्षा प्राप्‍त करने में शुक्राणुनाशक मदद करते हैं। लेकिन क्‍या शुक्राणुनाशक यौन संक्रमण से बचाता है। ऐसा नहीं है, स्परमिसिडिस यौन संक्रमण या यौन संचारित संक्रमण से किसी भी प्रकार की सुर‍क्षा नहीं देता है। बल्कि दिन में कई बार शुक्राणुनाशक का उपयोग करने पर यह एड्स और अन्‍य यौन संक्रमण की संभावनाओं को बढ़ा सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि शुक्राणुनाशक में नोनोक्‍सीनॉल-9 नामक घटक मौजूद रहता है। यह रसयान महिलाओं की योनि जलन पैदा कर सकता है और एसटीडी के कीटाणुओं के लिए आपके शरीर में अनुकूल वातावरण बनाता है।

यदि आप शुक्राणुनाशक के उपयोग के साथ ही यौन संक्रमण से सुरक्षा चाहते हैं तो कंडोम एक बेहतर विकल्‍प हो सकता है। इसके लिए आप महिला या पुरुष कंडोम का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। यह आपको गर्भावस्‍था से अतिरिक्‍त सुरक्षा भी दिलाता है।

(और पढ़े – एसटीडी रोग लक्षण, प्रकार और बचाव के तरीके, जानकर आप भी हो जाये सावधान!)

शुक्राणुनाशक (स्परमिसिडिस) का उपयोग – Shukranu Nashak ka upyog in Hindi

  1. शुक्राणुनाशक का उपयोग कैसे करें – Shukranu Nashak ka upyog kaise kare in Hindi
  2. शुक्राणुनाशक और कंडोम उपयोग कर सकते हैं – spermicide aur condoms ka Upyog kar sakte hai in Hindi

यह तो सभी जानते हैं कि शुक्राणुनाशक का उपयोग गर्भावस्‍था को रोकने के लिए किया जाता है। लेकिन शुक्राणुनाशक का उपयोग कैसे करें यह बहुत सी महिलाओं की समस्‍या होती है। हालांकि बाजार में विभिन्‍न प्रकार के शुक्राणुनाशक मौजूद हैं इसलिए आप इनके पैकिट पर दिये गए निर्देशों का अच्‍छी तरह से पालन करें। क्‍योंकि यदि आप सही तरीके से इनका उपयोग नहीं करते हैं तो यह प्रभावी नहीं होगा।

शुक्राणुनाशक का उपयोग कैसे करें – Shukranu Nashak ka upyog kaise kare in Hindi

आमतौर पर शुक्राणुनाशक का उपयोग बहुत ही आसान है। किसी भी महिला को योनि में शुक्राणुनाशक डालने के दौरान आरामदायक स्थिति में बैठना चाहिए। जैसा टैम्‍पोन को डालते समय बैठते हैं। आप चाहें तो कुर्सी में एक पैर रखकर खड़े हो सकते हैं या फिर बिस्‍तर में लेटकर भी शुक्राणुनाशक को योनि में डाल सकते हैं। इसके बाद आप अपनी उंगलियों या ऐप्लिकेटर (applicator) की मदद से योनि में शुक्राणुनाशक को डालें।

शुक्राणुनाशक का उपयोग करने के दौरान टाइमिंग बहुत ही महत्‍वपूर्ण होती है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि कुछ शुक्राणुनाशक तुरंत ही सक्रिय नहीं होते हैं और इसे आपकी योनि में कम से कम 10 से 15 मिनिट पहले डालना चाहिए। बहुत से स्परमिसिडिस या शुक्राणुनाशक केवल 1 घंटे के लिए ही प्रभावी होते हैं। इसलिए यदि आप एक से अधिक बार सेक्‍स करना चाहते हैं तो आपको अतिरिक्‍त शुक्राणुनाशक उपयोग करने की आवश्‍यकता है। लेकिन दिन में कई बार शुक्राणुनाशक का उपयोग करने पर योनि में जलन हो सकती है जो यौन संक्रमण का कारण बन सकती है। इसलिए शुक्राणुनाशक का उपयोग करने के दौरान पैकिट के निर्देशों का पालन करना अनिवार्य है।

(और पढ़े – डायाफ्राम क्या है, कार्य, उपयोग और सावधानियां…)

शुक्राणुनाशक और कंडोम उपयोग कर सकते हैं – spermicide aur condoms ka Upyog kar sakte hai in Hindi

शुक्राणुनाशक और कंडोम उपयोग कर सकते हैं - spermicide aur condoms ka Upyog kar sakte hai in Hindi

यदि आपका प्रश्‍न है कि शुक्राणुनाशक और कंडोम का उपयोग कर सकते हैं तो इसका जबाव हॉं है। शुक्राणुनाशक कंडोम को नुकसान नहीं पहुंचाता है बल्कि वे एक दूसरे के साथ मिलकर गर्भावस्‍था से पूर्ण सुरक्षा दिलाते हैं। इसके अलावा यह आपको यौन संक्रमण से भी बचाता है।

(और पढ़े – कैसे करें महिला कंडोम का इस्तेमाल…)

शुक्राणुनाशक कैसे प्राप्‍त हो सकता है – Shukranu Nashak kaise prapt ho sakta hai in Hindi

शुक्राणुनाशक सस्‍ता और प्रभावी विकल्‍प है जो आपको गर्भावस्‍था से बचा सकता है। आप इसे आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। आमतौर पर यह किसी भी दवा दुकानों से आसानी से प्राप्‍त किया जा सकता है।

शुक्राणुनाशक कहां से खरीदा जा सकता है – Where can spermicidal be purchased in Hindi

शुक्राणुनाशक कहां से खरीदा जा सकता है - Where can spermicidal be purchased in Hindi

बहुत से लोगों की समस्‍या होती है कि शुक्राणुनाशक को कहां से खरीदा जा सकता है। उनकी जानकारी के लिए बता दें कि आप शुक्राणुनाशक को ऑनलाइन और फार्मेसियों, दवा की दुकानों आदि से खरीद सकते हैं। इसके अलावा आप कुछ चिकित्‍सा संस्‍थानों और परिवार नियोजन क्‍लीनिक से भी शुक्राणुनाशक को खरीद सकते हैं। इसके लिए आपको डॉक्‍टर से लिखी पर्ची लेने की आवश्‍यकता नहीं है। साथ ही स्परमिसिडिस के उपयोग पर आयु का कोई प्रतिबंध भी नहीं है।

(और पढ़े – क्या आप जानते है कंडोम का सही इस्तेमाल? अगर नहीं तो ये खबर आपके लिए है!)

शुक्राणुनाशक की कीमत क्‍या है – How much does spermicide cost in Hindi

बाजार में कई प्रकार के शुक्राणुनाशक मौजूद हैं जो कि अलग ब्रांड और कीमतों के हो सकते हैं। लेकिन फिर भी शुक्राणुनाशक की लागत आमतौर पर 250 रूपे से लेकर 1200 रूपे तक हो सकती है। लेकिन बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍थानों और संगठनों द्वारा नि:शुल्‍क शुक्राणुनाशकों को वितरण किया जाता है। आप चाहें तो इन्‍हें वहां से प्राप्‍त कर सकते हैं।

शुक्राणुनाशक के फायदे क्‍या हैं – Shukranu Nashak ke Fayde Kya Hai in Hindi

  1. शुक्राणुनाशक सस्‍ता और सुविधाजनक है – Shukranu Nashak sasta aur suvidhajanak hai in Hindi
  2. शुक्राणुनाशक सेक्‍स को प्रभावित नहीं करते हैं – Spermicide doesn’t interrupt sex in Hindi
  3. शुक्राणुनाशक में हार्मोन नहीं होते हैं – Shukranu Nashak Hormones Free Hote hai in Hindi

बहुत सी महिलाओं को यह संशय होता है कि शुक्राणुनाशक के फायदे क्‍या हैं या यह प्रभावी है या नहीं। शुक्राणुनाशक का पहला फायदा यह है कि अन्‍य जन्‍म नियंत्रण विधियों की अपेक्षा यह सस्‍ता होता है। इसे सभी महिलाओं द्वारा आसानी से उपयोग किया जा सकता है। साथ ही शुक्राणुनाशक उपयोग करने का एक फायदा यह भी है कि यह हार्मोन फ्री होता है। जिन महिलाओं को हार्मोनल जन्‍म नियंत्रण उपयोग करने में परेशानी होती है उनके लिए यह एक बेहतर विकल्‍प है। आइए जाने शुक्राणुनाशक के लाभ को विस्‍तार से जाने।

(और पढ़े – वर्थ कंट्रोल रिंग (जन्म नियंत्रण अंगूठी) का उपयोग और सावधानीयां…)

शुक्राणुनाशक सस्‍ता और सुविधाजनक है – Shukranu Nashak sasta aur suvidhajanak hai in Hindi

अन्‍य जन्‍म नियंत्रणों की अपेक्षा शुक्राणुनाशक बहुत ही सस्‍ता होता है। एक बार उपयोग की जाने वालीशुक्राणुनाशक की मात्रा लगभग 40 से 45 रूपे की होती है। हालांकि शुक्राणुनाशकों की कीमत उनके ब्रांडों पर आधारित होती है। इसके अलावा किसी भी महिला को शुक्राणुनाशक उपयोग करने के लिए अन्‍य नुस्‍खों को अजमाने की आवश्‍यकता नहीं होती है। उन्‍हें केवल पैकिट पर दिये निर्देशों को पालन करना चाहिए। आपको शुक्राणुनाशक का उपयोग करने के लिए डॉक्‍टर की लिखी पर्ची की आवश्‍यकता नहीं होती है। यह अधिकांश दवा दुकानों में आसानी से प्राप्‍त हो सकता है।

शुक्राणुनाशक सेक्‍स को प्रभावित नहीं करते हैं – Spermicide doesn’t interrupt sex in Hindi

शुक्राणुनाशक सेक्‍स को प्रभावित नहीं करते हैं - Spermicide doesn’t interrupt sex in Hindi

बहुत सी महिलाओं के मन में यह प्रश्‍न उठता है कि शुक्राणुनाशक सेक्‍स के लिए उपयुक्‍त है या नहीं। लेकिन इसका उपयोग पूरी तरह से सुरक्षित है और शुक्राणुनाशक सेक्‍स को प्रभावित नहीं करते हैं। आप यौन संबंध बनाने से पहले अपनी योनि में शुक्राणुनाशक डाल सकते हैं। इसलिए आपको अपने जन्‍म नियंत्रण प्राप्‍त करने के लिए सेक्‍स को रोकने की आवश्‍यकता नहीं है। महिलाएं अपनी योनि में शुक्राणुनाशक का उपयोग कर सेक्‍स का पूरा आनंद ले सकती हैं।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक के सभी उपाय और तरीके…)

शुक्राणुनाशक में हार्मोन नहीं होते हैं – Shukranu Nashak Hormones Free Hote hai in Hindi

बहुत सी महिलाओं को हार्मोनल जन्‍म नियंत्रण उपयोग करने में परेशानी होती है। लेकिन शुक्राणुनाशक का उपयोग करना सुरक्षित है क्‍योंकि यह हार्मोन फ्री होता है। इस तरह से शुक्राणुनाशक का उपयोग लगभग सभी महिलाएं कर सकती हैं। इसके अलावा इसका उपयोग करने पर किसी भी प्रकार के उम्र संबंधी पाबंदी नहीं है। इसका मतलब यह है कि सभी उम्र की महिलाएं इसका उपयोग कर सकती हैं।

शुक्राणुनाशक का उपयोग करने के नुकसान – Shukranu Nashak Ka Upyog Karne Ke Nuksan in Hindi

  1. सेक्‍स में हर बार शुक्राणुनाशक का उपयोग – Use of spermicide every time in sex in Hindi
  2. शुक्राणुनाशक योनि को नुकसान पहुंचा सकता है – Shukranu Nashak yoni ko Nuksan pahucha sakta hai in Hindi
  3. शुक्राणुनाशक यौन संक्रमण से रक्षा नहीं करते हैं – Spermicide doesn’t protect against STDs in Hindi

यदि सही तरीके से उपयोग किया जाये तो शुक्राणुनाशक एक प्रभावी जन्‍म नियंत्रण का काम करता है। हालांकि कुछ लोगों को स्परमिसिडिस या शुक्राणुनाशक का अधिक उपयोग करने से नुकसान हो सकता है। इसके अलावा बहुत से लोगों को शुक्राणुनाशक का सही तरीके से उपयोग करना भी नहीं आता है। जिससे उन्‍हें कुछ दुष्‍प्रभावों का सामना करना पड़ सकता है। आइए जाने शुक्राणुनाशक का उपयोग करने के नुकसान क्‍या हैं।

सेक्‍स में हर बार शुक्राणुनाशक का उपयोग – Use of spermicide every time in sex in Hindi

शुक्राणुनाशक के लाभ प्राप्‍त करने के लिए आपको हर बार सेक्‍स के दौरान इसका उपयोग करने की आवश्‍यकता होती है। इसके अलावा इसे सही तरीके से उपयोग भी किया जाना चाहिए। यदि आप सुनिश्चित नहीं है कि आप हर बार सेक्स के दौरान शुक्राणुनाशक का उपयोग कर पाएंगे तो आपको अन्‍य जन्‍म नियंत्रण विधयों का भी उपयोग करना चाहिए जो आपको गर्भावस्‍था से बचा सकते हैं। लेकिन इस बात का विशेष ध्‍यान रखें क‍ि किसी भी जन्‍म नियंत्रण का उपयोग करने के साथ ही कंडोम का उपयोग करना आपको अतिरिक्‍त लाभ दिला सकता है।

(और पढ़े – जाने कंडोम के इस्तेमाल के बारे में सब कुछ…)

शुक्राणुनाशक योनि को नुकसान पहुंचा सकता है – Shukranu Nashak yoni ko Nuksan pahucha sakta hai in Hindi

शुक्राणुनाशक योनि को नुकसान पहुंचा सकता है – Shukranu Nashak yoni ko Nuksan pahucha sakta hai in Hindi

रासयनिक घटकों की मौजूदगी के कारण शुक्राणुनाशक महिलाओं की योनि को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए उन्‍हें सलाह दी जाती है कि शुक्राणुनाशक का अधिक मात्रा में उपयोग न करें। शुक्राणुनाशक में विषैले घटक होते हैं जो संवेदनशील जननांग ऊतकों को परेशान कर सकते हैं। विशेष रूप से यह योनि में जलन पैदा कर सकते हैं। इसके अलावा अधिक बार उपयोग करने पर यह एड्स और अन्‍य यौन संक्रमण की संभावना को बढ़ा सकता है। यदि शुक्राणुनाशक का उपयोग करने के दौरान आप दोनों में से किसी को भी योनि या लिंग में दर्द या जलन महसूस हो तो आप शुक्राणुनाशक के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं। इसके लिए आप शुक्राणुनाशक के ब्रांड को बदल सकते हैं। यदि इसके बाद भी आपको राहत न मिले तो आपको अपने डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए।

(और पढ़े – योनी में खुजली, जलन और इन्फेक्शन के कारण और घरेलू इलाज…)

शुक्राणुनाशक यौन संक्रमण से रक्षा नहीं करते हैं – Spermicide doesn’t protect against STDs in Hindi

नियमित रूप से सेक्‍स के दौरान शुक्राणुनाशक का उपयोग करने पर यह यौन संक्रमण से सुरक्षा नहीं दिलाता है। बल्कि दिन में कई बार इसका उपयोग करने पर यह यौन संक्रमण और एड्स की संभावनाओं को बढ़ाता है। ऐसा शुक्राणुनाशक में मौजूद रासायनिक घटकों की मौजूदगी के कारण होता है। ये योनि में जलन, दर्द या लाल चकते का कारण बन सकते हैं। शुक्राणुनाशक के साथ कंडोम का उपयोग आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। क्‍योंकि यह गर्भावस्‍था के साथ ही आपको यौन संक्रमण से भी सुरक्षा दिलाता है। यदि आप सेक्‍स के साथ हर बार शुक्राणुनाशक और कंडोम का उपयोग करते हैं तो यह जन्‍म नियंत्रण का सबसे बेहतर तरीका हो सकता है।

(और पढ़े – कंडोम के बिना सेक्स करने के फायदे और नुकसान…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration