गर्भाशय ग्रीवा टोपी का उपयोग और सावधानियां – Cervical Cap in Hindi

गर्भाशय ग्रीवा टोपी (सर्वाइकल कैप) का उपयोग और सावधानियां - Cervical Cap in Hindi
Written by Diksha

Cervical Cap in Hindi जन्म नियंत्रण की बहुत सी विधियां मौजूद हैं जिनमें से सर्वाइकल कैप या गर्भाशय ग्रीवा टोपी (Cervical Cap) भी एक है। लेकिन अधिकांश महिलाओं को सर्वाइकल कैप या गर्भाशय ग्रीवा टोपी का उपयोग और सावधानियां पता नहीं है। सर्वाइकल कैप या गर्भाशय ग्रीवा टोपी जन्म नियंत्रण का एक प्रभावी तरीका है। जिसे उपयोग और जरूरत के हिसाब से अधिकांश महिलाएं उपयोग कर सकती हैं। जो महिलाएं गर्भधारण नहीं करना चाहती हैं उनके लिए ग्रीवा टोपी एक अच्‍छा विकल्‍प है। आज इस आर्टिकल के माध्‍यम से आप बर्थ कंट्रोल के लिय गर्भाशय ग्रीवा टोपी  का उपयोग, फायदे और नुकसान संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें। आइए जाने गर्भाशय ग्रीवा टोपी क्‍या है।

1. ग्रीवा टोपी क्‍या है – Cervical Cap Kya Hai in Hindi
2. सर्वाइकल कैप कैसे काम करता है – Cervical Cap kaise kaam karta hai in Hindi
3. सर्वाइकल कैप के शुक्राणुनाशक कैसे काम करता है – How Do Cervical Caps Work with spermicide in Hindi
4. सर्वाइकल कैप और डायाफ्राम में अंतर क्‍या है – Cervical Caps Aur Diaphragm Me Anter kya Hai in Hindi
5. गर्भाशय ग्रीवा कैप की प्रभावशीलता  – Effectiveness of cervical cap in Hindi
6. सर्वाइकल कैप कितने प्रभावी होते हैं – How effective are cervical caps in Hindi
7. ग्रीवा कैप को अधिक प्रभावी कैसे बनाएं – Greeva Cape ko adhik prabhavi kaise Banaye in Hindi
8. क्‍या ग्रीवा कैप यौन संक्रमण से बचाता है – Kya Cervical Cap STDs Se Bachata Hai in Hindi
9. ग्रीवा टोपी का उपयोग कैसे करें – Cervical Cap Ka Upyog kaise kare in Hindi
10. सर्वाइकल कैप को योनि में कैसे डालें – How to insert cervical cap in the vagina in Hindi
11. ग्रीवा कैप को योनि में कब तक छोड सकते हैं – How long can cervical caps in the vagina in Hindi
12. सर्वाइकल कैप को योनि से कैसे निकालें – How to remove cervical cap from vagina in Hindi
13. ग्रीवा कैप की देखभाल कैसे करें – How to care for cervical cap in Hindi
14. ग्रीवा कैप कैसे प्राप्‍त कर सकते हैं – How to get a cervical cap in Hindi
15. सर्वाइकल कैप कहां से खरीद सकते हैं – Where can the cervical cap be purchased in Hindi
16. सर्वाइकल कैप की लागत कितनी है – How much is the cost of cervical caps in Hindi
17. सर्वाइकल कैप कितने सुरक्षित हैं – How safe are cervical caps in Hindi
18. क्‍या सर्वाइकल कैप सभी के लिए सुरक्षित है – Kya Cervical Caps sabhi ke liye surakshit hai in Hindi
19. ग्रीवा टोपी का उपयोग करने के जोखिम क्‍या हैं – What are the risks of using a cervical cap in Hindi
20. सर्वाइकल कैप के फायदे क्‍या हैं – Cervical Caps Benefits in Hindi

21. सर्वाइकल कैप उपयोग करने के नुकसान – Cervical Caps Use karne ke Nuksan in Hindi

22. ग्रीवा टोपी का आकार – Cervical Caps ka Size in Hindi

ग्रीवा टोपी क्‍या है – Cervical Cap Kya Hai in Hindi

बहुत से लोग गर्भाशय ग्रीवा टोपी का उपयोग कर गर्भावस्‍था की संभावनाओं को दूर कर सकते हैं। आज इस लेख में हम जानेगें कि गर्भाशय ग्रीवा टोपी क्‍या है और यह किस प्रकार प्रभावी होता है। सर्वाइकल कैप या गर्भाशय ग्रीवा टोपी (Cervical Cap) नरम सिलिकॉन से बना एक कप है जो कि एक नाविक की टोपी (sailor’s hat) के आकार का होता है। ग्रीवा टोपी का उपयोग महिलाएं अपने गर्भाशय ग्रीवा को ढकने के लिए योनि के अंदर डालती हैं। जिसके कारण शुक्राणु गर्भाशय ग्रीवा तक नहीं पहुंच पाता है जिससे गर्भाधारण करने की संभावना खत्‍म हो जाती है।

(और पढ़े – गर्भनिरोधक के सभी उपाय और तरीके…)

सर्वाइकल कैप कैसे काम करता है – Cervical Cap kaise kaam karta hai in Hindi

गर्भाधारण की संभावनाओं को दूर करने के लिए सर्वाइकल कैप या गर्भाशय ग्रीवा टोपी (Cervical Cap) का उपयोग किया जाता है। लेकिन सर्वाइकल कैप कैसे काम करता है यह जानना भी जरूरी है। गर्भाशय ग्रीवा की टोपी आपके गर्भाशय ग्रीवा को कवर करती है। जिससे कोई भी शुक्राणु अंडो तक नहीं पहुंच पाता है। जिससे शुक्राणु और अंडाणु का मिलन नहीं हो पाता है। सवाईकल कैप की प्रभावशीलता का मुख्‍य कारण इसमें उपयोग किये गए शुक्राणुनाशक होते हैं। यह एक प्रकार की क्रीम या जेल होता है जो शुक्राणुओं को नष्‍ट करने में सहायक होता है।

(और पढ़े – जल्द ही आने वाला है दुनिया का पहला पुरुष गर्भनिरोधक जेल, कैसे करेगा काम जाने पूरी जानकारी…)

सर्वाइकल कैप के शुक्राणुनाशक कैसे काम करता है – How Do Cervical Caps Work with spermicide in Hindi

सर्वाइकल कैप के शुक्राणुनाशक कैसे काम करता है – How Do Cervical Caps Work with spermicide in Hindi

आज हम जानेगें कि गर्भावस्‍था को रोकने के लिए सर्वाकइल कैप के शुक्राणुनाशक कैसे काम करते हैं। क्‍योंकि ऐसा माना जाता है कि सर्वाइकल कैप गर्भाधान को रोकने का एक प्रभावी तरीका है। गर्भाशय ग्रीवा की टोपी महिलाओं के गर्भाशय ग्रीवा को कवर करती है। इसमें मौजूद शुक्राणुनाशक घटक शुक्राणुओं को अंडों से संपर्क करने से रोकती है। योनि में सर्वाइकल कैप को डालने से पहले इसमें शुक्राणुनाशक का उपयोग करना इसे और अधिक प्रभावी बनाता है। शुक्राणुनाशक में मौजूद रासायनिक घटक शुक्राणुओं को निष्क्रिय करने या नष्‍ट करने में सहायक होते हैं। इस तरह से सर्वाइकल कैप के शुक्राणुनाशक गर्भावस्‍था को रोकने का काम करते हैं।

(और पढ़े – स्खलन के बाद शुक्राणु कितनी देर तक जीवित रह सकता है…)

सर्वाइकल कैप और डायाफ्राम में अंतर क्‍या है – Cervical Caps Aur Diaphragm Me Anter kya Hai in Hindi

उपयोग के आधार पर सर्वाइकल कैप और डायाफ्राम दोनों ही गर्भावस्‍था को रोकने में मदद करते हैं। लेकिन फिर भी सर्वाइकल कैप और डायाफ्राम में अंतर क्‍या है यह भी समझना आवश्‍यक है। सर्वाकइल कैप डायाफ्राम से छोटी होती हैं और इनका आकार कुछ अलग होता है। डायाफ्राम का आकार एक डिश (dish) की तरह होता है जबकि ग्रीवा टोपी एक नाविक की टोपी के आकार की होती है। लेकिन यदि इनकी समानता की बात की जाये तो इन दोनों में शुक्राणुनाशकों का उपयोग किया जाता है। साथ ही ये दोनों किसी महिला को गर्भावस्‍था से बचाने के लिए गर्भाशय ग्रीवा को कवर करने का काम करते हैं। डायाफ्राम की तरह ही आप ग्रीवा टोपी को योनि में 2 दिन तक के लिए छोड़ सकते हैं। लेकिन डायाफ्राम गर्भावस्‍था को रोकने में थोड़ा अधिक प्रभावी होता है। उपयोग करने से पहले आप अपने डॉक्‍टर या नर्स से सलाह लें। वे आपको यह तय करने में मदद करेगें कि कौन सा विकल्‍प आपके लिए बेहतर है।

(और पढ़े – गर्भवती होने से कैसे बचें…)

गर्भाशय ग्रीवा कैप की प्रभावशीलता  – Effectiveness of cervical cap in Hindi

बर्थ कंट्रोल के लिए अन्‍य विधियों की तरह ही ग्रीवा कैप जन्‍म नियंत्रण भी एक अच्‍छा विकल्‍प है। लेकिन यह भी जानना आवश्‍यक है कि गर्भाशय ग्रीवा कैप की प्रभावशीलता क्‍या है। महिलाओं को हर बार सेक्‍स करने के दौरान सर्वाइकल कैप का सही तरीके से उपयोग करना चाहिए। यदि सही ढंग से इसे इस्‍तेमाल नहीं किया जाता है तो यह प्रभावी नहीं होगा। आइए जाने आप सर्वाइकल कैप को अधिक प्रभावी कैसे बना सकते हैं।

सर्वाइकल कैप कितने प्रभावी होते हैं – How effective are cervical caps in Hindi

महिलाओं के लिए सर्वाकइकल कैप कितने प्रभावी हैं यह सामान्‍य सा प्रश्न है। लेकिन जो महिलाएं अभी तक एक बार भी मां नहीं बनी हैं उनके लिए यह बहुत ही प्रभावी होता है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि जिन महिलाओं ने बच्‍चे को जन्‍म नहीं दिया है उनके लिए गर्भाशय ग्रीवा की टोपी 86 प्रतिशत तक प्रभावी होती है। इसका मतलब यह है कि गर्भाशय ग्रीवा टोपी का उपयोग करने वाली 100 महिलाओं में से 14 महिलाओं के गर्भवती होने की संभावना है जबकि 86 महिलाएं पूर्ण रूप से गर्भावस्‍था से बच सकती हैं। लेकिन जो महिलाएं बच्‍चे को जन्‍म दे चुकी हैं उनके लिए सर्वाइकल कैप की प्रभाविता लगभग 71 प्रतिशत होती है।

सभी जन्‍म नियंत्रण विधियों की तरह ही हर बार सेक्‍स के दौरान सर्वाइकल कैप का उपयोग किया जाता है। यदि आप उचित निर्देषों के आधार पर ग्रीवा टोपी का उपयोग नहीं करती हैं तो आपके गर्भवती होने की संभावना अधिक होती है। यदि आप जन्‍म नियंत्रण का और भी प्रभावी रूप चाहते हैं तो आईयूडी और प्रत्‍यारोपण आदि जन्‍म नियंत्रणों का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़े – जानें कॉपर टी का इस्तेमाल, इसके फायदे और नुकसान…)

ग्रीवा कैप को अधिक प्रभावी कैसे बनाएं – Greeva Cape ko adhik prabhavi kaise Banaye in Hindi

बहुत सी महिलाओं को ग्रीवा कैप का उचित ढंग से उपयोग करने में असुविधा हो सकती है। इसलिए इसकी प्रभावशीलता भी पर्याप्‍त होना चाहिए। ग्रीवा कैप को अधिक प्रभावी कैसे बनाएं यह भी बहुत जरूरी है। आपकी ग्रीवा टोपी का उपयोग करते समय इसकी प्रभाशीलता बढ़ाने के कई तरीके हैं। जो इस प्रकार हैं :

  • जब भी आप सेक्‍स करें तब सर्वाइकल कैप का उपयोग करें।
  • ग्रीवा टोपी को योनि में डालने से पहले इसमें शुक्राणुनाशक का इस्‍तेमाल करें।
  • सेक्‍स करने से पहले या यौन उत्‍तेजना बढ़ने के पहले ही आपको ग्रीवा टोपी का इस्‍तेमाल करना चाहिए।
  • योनि के अंदर ग्रीवा टोपी को डालने के बाद यह सुनिश्चित करें कि यह गर्भाशय ग्रीवा को अच्‍छी तरह से कवर कर चुकी है।
  • ग्रीवा टोपी को अधिक प्रभावी बनाने के लिए आप सेक्स के दौरान अन्‍य जन्‍म नियंत्रण विधि का भी उपयोग कर सकते हैं। जैसे कि पुल आऊट विधि, महिला कंडोम या पुरुष कंडोम आदि। कंडोम का उपयोग करने का अतिरिक्‍त लाभ यह है कि यह आपको यौन संक्रमणों से भी बचा सकता है।
  • सेक्‍स करने के बाद भी लगभग 6 घंटों तक सर्वाइकल कैप को योनि में अपनी जगह पर छोड़ना चाहिए।

(और पढ़े – पुल आउट मेथड अनचाहे गर्भ से बचने का प्राकृतिक तरीका…)

क्‍या ग्रीवा कैप यौन संक्रमण से बचाता है – Kya Cervical Cap STDs Se Bachata Hai in Hindi

क्‍या ग्रीवा कैप यौन संक्रमण से बचाता है – Kya Cervical Cap STDs Se Bachata Hai in Hindi

असुरक्षित यौन संबंध बनाने के दौरान यौन संक्रमण फैलने की अधिक संभावना होती है। लेकिन क्‍या ग्रीवा कैप यौन संक्रमण से बचाता है या नहीं यह भी महत्‍वपूर्ण हैं। सर्वाइकल कैप यौन संचारित संक्रमणों से सुरक्षा नहीं दिलाते हैं। यदि आप ग्रीवा कैप का उपयोग करते हैं और साथ ही यौन संक्रमण से सुरक्षा चाहते हैं तो आपको कंडोम का उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा आपको समय समय पर यौन संक्रमणों के लिए जांच भी करानी चाहिए। यौन संक्रमणों से बचने का यह सबसे बेहतर तरीका है।

(और पढ़े – एसटीडी रोग लक्षण, प्रकार और बचाव के तरीके, जानकर आप भी हो जाये सावधान!)

ग्रीवा टोपी का उपयोग कैसे करें – Cervical Cap Ka Upyog kaise kare in Hindi

गर्भावस्‍था से बचने के लिए जन्‍म नियंत्रण सर्वाइकल कैप का उपयोग करना बहुत ही आसान और सुविधाजनक है। एक बार सही तरीके से योनि के अंदर प्रवेश कराने के बाद आप सुरक्षित रूप से सेक्‍स का आनंद उठा सकते हैं। यह आपको गर्भावस्‍था से पूर्ण सुरक्षा दिलाने में सहायक होता है। लेकिन यदि आपके मन में ग्रीवा टोपी का उपयोग कैसे करें यह प्रश्‍न उठता है तो आप डॉक्‍टर या नर्स की मदद ले सकते हैं। वे आपको इसका सही तरीके से उपयोग करने की विधि को स्‍पष्‍ट कर सकते हैं।

सर्वाइकल कैप को योनि में कैसे डालें – How to insert cervical cap in the vagina in Hindi

सर्वाइकल कैप को योनि में कैसे डालें - How to insert cervical cap in the vagina in Hindi

सभी लोग जानते हैं कि ग्रीवा टोपी का सही तरीके से उपयोग करने पर ही यह गर्भावस्‍था से बचाव कर सकता है। इसलिए महिलाओं के मन में यह प्रश्‍न भी उठना लाजमी है कि सर्वाइकल कैप को योनि में कैसे डालें। महिलाओं को योनि में ग्रीवा टोपी लगाने के लिए अभ्‍यास की आवश्‍यकता है। इसके अलावा आप ग्रीवा टोपी का सही ढंग से इस्‍तेमाल करने की विधि जानने के लिए डॉक्‍टर या नर्स के पास जा सकते हैं। वे आपको इसे उपयोग करने की श्रेष्‍ठतम विधि बताएगें। इसके अलावा ग्रीवा टोपी का उपयोग करने के लिए इसके पैकिट में भी पर्याप्‍त निर्देश होते हैं। इन निर्देशों का सावधानी से पूरी तरह पालन किया जाना चाहिए।

  • उपयोग करने से पहले अपने हाथों को अच्‍छी तरह साबुन से धो लें।
  • ग्रीवा टोपी में ¼ चम्‍मच शुक्राणुनाशक डालें और इसकी सतह पर पतली परत फैलाएं।
  • ½ चम्‍मच शुक्राणुनाशक को गुंबद (dome) और नाली (groove) के बीच में डालें।
  • ग्रीवा कैप के किनारों पर एक पतली परत में शुक्राणुनाशक को फैलाएं।
  • एक आरामदायक स्थिति में बैठें जैसे आप टैम्‍पोन को लगाते समय बैठते हैं।
  • इसके अलावा आप किसी कुर्सी में एक पैर रखकर खड़े हो जाएं जिससे ग्रीवा टोपी को योनि में डालना आसान हो जाता है। आप चाहें तो बिस्‍तर पर लेटकर भी ग्रीवा टोपी को योनि में लगा सकते। आपको जो भी स्थिति सुविधाजनक लगे आप उसका उपयोग कर सकते हैं।
  • आप ग्रीवा टोपी को लें और इसे निचोड़ते हुए मोड़ें और उभरे हुए भाग को योनि के अंदर डालें।
  • जब ग्रीवा टोपी पूरी तरह से योनि के अंदर पहुंच जाये तब आप इसे और गहराई में पहुंचाने के लिए धक्‍का दें। जिससे कि यह आपके गर्भाशय ग्रीवा को पूरी तरह से ढक ले।

(और पढ़े – योनि में कितने छेद होते हैं और क्या होता है उनका काम…)

ग्रीवा कैप को योनि में कब तक छोड सकते हैं – How long can cervical caps in the vagina in Hindi

यह बहुत सी महिलाओं का प्रश्‍न होता है कि उपयोग के बाद ग्रीवा कैप को योनि में कब तक छोड सकते हैं। उनकी जानकारी के लिए बता दें कि सेक्‍स करने के बाद कम से कम 6 घंटे तक ग्रीवा कैप को योनि के अंदर ही छोड़ा जाना चाहिए। नहीं तो यह पूर्ण रूप से प्रभावी नहीं होता है। लेकिन इस बात का भी विशेष ध्‍यान देना चाहिए कि ग्रीवा टोपी को 2 दिन या लगभग 48 घंटों से अधिक समय तक योनि में नहीं रखा जाना चाहिए। यदि आप 24 घंटे के अंदर एक बार सेक्‍स करने के बाद दूसरी बार भी सेक्‍स करना चाहते हैं तो ग्रीवा टोपी को बदलने की आवश्‍यकता नहीं है। लेकिन इस दौरान आपको योनि में अतिरिक्‍त शुक्राणुनाशक उपयोग करना चाहिए।

सर्वाइकल कैप को योनि से कैसे निकालें – How to remove cervical cap from vagina in Hindi

सर्वाइकल कैप को योनि से कैसे निकालें - How to remove cervical cap from vagina in Hindi

ग्रीवा टोपी का उपयोग करते समय विशेष सावधानी की आवश्‍यकता होती है। लेकिन यह भी एक प्रश्‍न है कि बिना असुविधा के ग्रीवा कैप को योनि से कैसे निकालें। बहुत सी महिलाओं का मानना है कि ग्रीवा टोपी को योनि के अंदर डालने की अपेक्षा बाहर निकालना अधिक आसान है। आइए जाने सर्वाइकल कैप को योनि से कैसे निकालें।

आप किसी कुर्सी या जमीन पर बैठें और अपनी उंगलियों को योनि के अंदर डालकर ग्रीवा कैप के किनारों को हुक करें। इन किनारों को उंगली में फंसाए और धीरे से बाहर की तरफ खीचें। इस तरह से आप बहुत ही आसानी के साथ ग्रीवा टोपी को योनि से बाहर निकाल सकते हैं। ग्रीवा टोपी को योनि से बाहर निकालने के बाद आप इसे किसी पेपर में लपेटें और कचरे में फेंक दें।

(और पढ़े – कैसे करें महिला कंडोम का इस्तेमाल…)

ग्रीवा कैप की देखभाल कैसे करें – How to care for cervical cap in Hindi

जो महिला या पुरुष वर्तमान में बच्‍चे के जन्‍म से परेशान हैं वे दंम्‍पत्ति ग्रीवा कैप का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन उन्‍हें इस बात की जानकारी नहीं होती है कि ग्रीवा कैप की देखभाल कैसे करें। यहां बताया गया है कि आप ग्रीवा टोपी को टिप-टॉप आकार में कैसे रख सकते हैं या उनकी देखभाल कैसे कर सकते हैं।

  • ग्रीवा कैप को योनि से बाहर निकालने के बाद आप इसे अच्‍छी तरह से साबुन और गर्म पानी से धो लें।
  • इसे सूर्य की धूप से बचाकर हवा में सूखने दें।
  • आप अपने ग्रीवा टोपी में किसी प्रकार के पाउडर का न करें क्‍योंकि इससे संक्रमण होने का खतरा बढ़ सकता है।
  • ग्रीवा कैप को अधिक गर्म और अधिक ठंडे स्‍थान में न रखें। इसका मतलब यह है कि इस पर ना ही सूरज की सीधी धूप आने दें और न ही इसे फ्रिज या फ्रिजर में रखें। बल्कि इसे सामान्‍य कमरे के तापमान में सुरक्षित जगह पर रखें।
  • उपयोग करने से पहले हर बार अपनी ग्रीवा टोपी की अच्‍छी तरह से जांच कर लें। अंधेरी जगह पर ग्रीवा टोपी को प्रकाश स्रोत की तरफ कर इसमें छेद है या नहीं यह चेक करें।
  • इसके अलावा आप ग्रीवा टोपी के लीकेज को चेक करने के लिए इसमें पानी भरकर भी जांच सकते हैं।
  • बार-बार उपयोग करने पर ग्रीवा टोपी का रंग कुछ बदल सकता है लेकिन यह अभी भी उपयोग की जा सकती है।

(और पढ़े – गर्भवती न होने के 10 तरीके…)

ग्रीवा कैप कैसे प्राप्‍त कर सकते हैं – How to get a cervical cap in Hindi

सर्वाइकल कैप का उपयोग महिलाओं के लिए बहुत ही आसान होता है। लेकिन उनके लिए एक समस्‍या यह भी होती है कि ग्रीवा कैप कैसे प्राप्‍त कर सकते हैं। वैसे जानकारी के लिए बता दें कि सर्वाइकल कैप विभिन्‍न आकारों में आते हैं जिनका चुनाव करना महिलाओं के लिए मुश्किल हो सकता  है। इसलिए आपको किसी डॉक्‍टर या नर्स की मदद लेनी चाहिए। आपका डॉक्‍टर आपके शरीर के अनुसार सही आकार वाले ग्रीवा कैप की सलाह दे सकता है। इसके अलावा आप फार्मेसियों और स्‍वास्‍थ्‍य केद्रों में जाकर भी ग्रीवा टोपी प्राप्‍त कर सकते हैं।

सर्वाइकल कैप कहां से खरीद सकते हैं – Where can the cervical cap be purchased in Hindi

सर्वाइकल कैप कहां से खरीद सकते हैं – Where can the cervical cap be purchased in Hindi

आप अपने डॉक्‍टर या नर्स से सलाह लेने के बाद किसी फार्मेसी, दवा की दुकान या स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र आदि में जाकर सर्वाइकल कैप को प्राप्‍त कर सकते हैं।

सर्वाइकल कैप एक आकार के नहीं होते हैं। सर्वाइकल कैप तीन आकारों में उपलब्‍ध होते हैं जो इस प्रकार हैं।

  • छोटा : उन महिलाओं के लिए उपयुक्‍त होता है जिन्‍होंनें अभी तक बच्‍चे को जन्‍म नहीं दिया है।
  • मध्‍यम : इस आकार का ग्रीवा कैप उन महिलाओं के लिए अच्‍छा होता है जिन्‍हों ने हाल ही में गर्भापात कराया है या सिजेरियन डिलीवरी हुई है।
  • बड़े : बड़े आकार के ग्रीवा टोपी उन महिलाओं के लिए प्रभावी होते हैं जिन्‍होंने योनि से बच्‍चों को जन्‍म दिया है।

जन्‍म नियंत्रण के लिए ग्रीवा टोपी का उपयोग करने के साथ ही आपको शुक्राणुनाशक का भी इस्‍तेमाल करना चाहिए। ग्रीवा टोपी के साथ शुक्राणुनाशक के अलावा किसी भी प्रकार के नुस्‍खे आजमाने की आपको आवश्‍यकता नहीं है। आप किसी मेडिकल स्‍टोर्स पर जाकर शुक्राणुनाशक क्रीम या जेल खरीद सकते हैं।

इसके अलावा इस बात का विशेष ध्‍यान दें कि ग्रीवा टोपी को किसी और के साथ साझा नहीं करना चाहिए। क्‍योंकि इसके आकार फिटिंग पर आधारित होते हैं। साथ ही यौन संक्रमण से बचने के लिए आप न ही ग्रीवा कैप को दें और न ही किसी का कैप लें।

(और पढ़े – गर्भपात (मिसकैरेज) के कारण, लक्षण और इसके बाद के लिए जानकारी…)

सर्वाइकल कैप की लागत कितनी है – How much is the cost of cervical caps in Hindi

बर्थ कंट्रोल के लिए सर्वाइकल कैप का उपयोग प्रभावी होता है। लेकिन महिलाओं को यह भी पता होना चाहिए कि सर्वाइकल कैप की लागत कितनी है। किसी भी महिला को एक ग्रीवा कैप खरीदने के लिए 0 ₹ लेकर लगभग 20000 ₹ तक खर्च करने पड़ सकते हैं। जिसमें जांच शुल्‍क भी शामिल है। इसके साथ उपयोग करने वाले शुक्राणुनाशक किट की कीमत लगभग 350 ₹ से ले कर 1200 ₹ तक हो सकती है। लेकिन कुछ शासकीय चिकित्‍सा संस्‍थानों से आप इन्‍हें मुफ्त में भी प्राप्‍त कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ ऑनलाइन बेव साइट भी कम कीमत पर इनकी बिक्रि करती हैं। जहां से आप रियायती दरों पर इन्‍हें प्राप्‍त कर सकते हैं।

सर्वाइकल कैप कितने सुरक्षित हैं – How safe are cervical caps in Hindi

गर्भावस्‍था को रोकने के लिए सर्वाइकल जन्‍म नियंत्रण एक प्रभावी विकल्‍प है। लेकिन इसमें उपयोग किये जाने वाले शुक्राणुनाशक में मौजूद घटकों के कुछ दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं। लेकिन अधिकांश महिलाओं के लिए यह पूरी तरह से सुरक्षित हैं। हालांकि यदि सही तरीके से इसका उपयोग नहीं किया जाता है तो इसके प्रभावी होने का प्रतिशत कम हो सकता है।

क्‍या सर्वाइकल कैप सभी के लिए सुरक्षित है – Kya Cervical Caps sabhi ke liye surakshit hai in Hindi

अधिकांश महिलाओं के लिए ग्रीवा कैप का उपयोग सुरक्षित होता है। लेकिन कुछ विशेष परिस्थितियों में ग्रीवा टोपी कुछ महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है।

  • योनि में उंगली डालना बहुत सी महिलाओं के लिए सहज नहीं होता है।
  • सर्वाइकल कैप लगाने में बहुत सी परेशानी आती हैं।
  • जिन महिलाओं ने लगभग 6 सप्‍ताह पहले ही किसी बच्‍चे को जन्‍म दिया हो या गर्भापात कराया हो। उनहें भी ग्रीवा टोपी का उपयोग करने में परेशानी हो सकती है।
  • महिला या पुरुष साथी को यदि एड्स है तब भी ग्रीवा टोपी का उपयोग करने में परेशानी हो सकती है।
  • यदि महिला को टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम की समस्‍या थी या है। ऐसी स्थिति में भी ग्रीवा कैप का उपयोग करने में महिला को दिक्‍कतें हो सकती है।
  • किसी भी महिला को अवधि के दौरान ग्रीवा कैप का उपयोग नहीं करना चाहिए। यह आपके संक्रमण के जोखिम को बढ़ा सकता है। इसके अलावा महिलाओं को अपने ग्रीवा कैप किसी अन्‍य महिला मित्र के साथ साझा भी नहीं करना चाहिए।
  • पूरी जानकारी प्राप्‍त करने के लिए आप अपने डॉक्‍टर या नर्स से संपर्क करें। आपके नर्स या डॉक्‍टर आपको यह तय करने में मदद कर सकते हैं कि ग्रीवा टोपी आपके लिए सुरक्षित है या नहीं।

(और पढ़े – महिलाओं में एचआईवी एड्स के लक्षण…)

ग्रीवा टोपी का उपयोग करने के जोखिम क्‍या हैं – What are the risks of using a cervical cap in Hindi

ग्रीवा टोपी का उपयोग करने के जोखिम क्‍या हैं - What are the risks of using a cervical cap in Hindi

स्‍वाभाविक रूप से गर्भावस्‍था को रोकने के लिए ग्रीवा टोपी एक सुरक्षित और प्रभावी जन्‍म नियंत्रणों में से एक है। लेकिन अधिक मात्रा में उपयोग करने पर इसमें उपयोग किये जाने वाले शुक्राणुनाशक महिलाओं की योनि को परेशान कर सकते हैं। क्‍योंकि शुक्राणुनाशक में मौजूद रसायन नॉनॉक्सिनॉल-9 होता है जो योनि की समस्‍याओं को बढ़ा सकता है। यदि आप दिन में कई बार शुक्राणुनाशक का उपयोग करते हें तो योनि की समस्‍याओं के बढ़ने की संभावना अधिक होती है। यह एचआइवी और अन्‍य यौन संक्रमण को बढ़ा सकता है। यदि आप यौन संक्रमण को लेकर परेशान हैं तो ग्रीवा टोपी के उपयोग के साथ ही कंडोम का उपयोग भी कर सकते हैं। यह गर्भावस्‍था के साथ ही आपको यौन संक्रमण से भी बचा सकता है।

ग्रीवा टोपी का उपयोग करने पर कुछ महिलाओं को योनि में दर्द या परेशानी हो सकती है। यदि आपको ऐसा महसूस हो तो हो सकता है कि आपके द्वारा उपयोग किये जाने वाले शुक्राणुनाशक के प्रति आप संवेदनशील हैं। इसलिए आप शुक्राणुनाशक को बदल सकते हैं। यदि इसके बाद भी आपको योनि में जलन या दर्द हो रहा हो तो आपको डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाहिए। इसके अलावा यदि इनमें से कोई भी लक्षण हो तब भी आपको तुरंत ही डॉक्‍टर से सलाह लेना चाहिए।

  • आप योनि के अंदर ग्रीवा टोपी लगाने पर असहज महसूस कर रहे हों।
  • आपकी योनि में दर्द, खुजली, लाल चकते या सूजन हो।
  • आपकी योनि से डिस्‍चार्ज होता है जो आपके सामान्‍य डिस्‍चार्ज से भिन्‍न है।
  • ग्रीवा टोपी उपयोग करने के दौरान आपको मूत्र प‍थ संक्रमण हो गया हो।

इस प्रकार के लक्षण आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए ठीक नहीं हैं। इसलिए आपको तुरंत ही डॉक्‍टर से इलाज कराने की आवश्‍यकता है। इसके अलावा विषाक्‍त शॉक सिंड्रोम के संकेत होने पर भी आपको डॉक्‍टर के पास जाना चाहिए। हालांकि इस प्रकार के लक्षण प्राप्त करना किसी महिला के लिए बहुत ही दुर्लभ हैं।

(और पढ़े – चक्कर आने के कारण, लक्षण, निदान और इलाज…)

सर्वाइकल कैप के फायदे क्‍या हैं – Cervical Caps Benefits in Hindi

  1. ग्रीवा टोपी गर्भावस्‍था रोकने में प्रभावी है – Cervical cap is effective in preventing pregnancy in Hindi
  2. सर्वाइकल कैप सेक्‍स में रूकावट नहीं बनता है – Cervical caps don’t interrupt sex in Hindi
  3. सर्वाइकल कैप हार्मोन मुक्‍त है – Cervical Caps Hormones Free hai in Hindi
  4. ग्रीवा टोपी लंबे समय तक उपयोग की जा सकती है – Cervical cap can be used for a long time in Hindi

उपयोगिता और प्रभावशीलता के आधार पर बहुत सी महिलाएं सर्वाइकल कैप का उपयोग करती हैं। लेकिन क्‍या वास्‍तव में उन्‍हें सर्वाइकल कैप के फायदे क्‍या हैं यह पता है। सर्वाइकल कैप पोर्टेबल और फिर से उपयोग करने योग्‍य होते हैं। इसका मतलब यह है कि आप अपनी इच्‍छानुसार इन्‍हें अपने साथ कभी भी कहीं भी ले जा सकते हैं। क्‍योंकि ये आकार में बहुत ही छोटे होते हैं जिन्‍हें आप अपने जेब में या बैग के पॉकिट में रख सकते हैं। इसके अलावा ग्रीवा कैप को कई बार उपयोग किया जा सकता है। यानि आपको हर बार नये ग्रीवा कैप खरीदने की आवशकता नहीं है। बस आपको हर बार उपयोग करने के दौरान शुक्राणुनाशक का उपयोग करना है।

सर्वाइकल कैप के फायदे यह भी हैं कि आप अपनी इच्‍छा से इसका उपयोग बंद कर सकते हैं और गर्भाधान प्राप्‍त कर सकते हैं। आइए सर्वाइकल कैप के फायदे क्‍या हैं इन्हें विस्‍तार से जाने।

ग्रीवा टोपी गर्भावस्‍था रोकने में प्रभावी है – Cervical cap is effective in preventing pregnancy in Hindi

ग्रीवा टोपी गर्भावस्‍था रोकने में प्रभावी है – Cervical cap is effective in preventing pregnancy in Hindi

सर्वाइकल कैप और शुक्राणुनाशक का उपयोग करना बहुत ही सुविधाजनक होता है। साथ ही यह गर्भावस्‍था को रोकने में प्रभावी भी है। यह लाने लेजाने में भी हल्‍का है। जैसे ही आप इसका उपयोग करते हैं यह अपना काम करना शुरु कर देता है जिससे कि आप गर्भवती नहीं हो पाती हैं। ग्रीवा टोपी का उपयोग बंद करना भी आसान है जो आपकी अच्‍छा अनुसार आपको गर्भवती होने की स्‍वतंत्रता देता है। जब भी आप गर्भवती होना चाहें ग्रीवा टोपी का उपयोग करना बंद कर दें।

(और पढ़े – गर्भवती न होने के पीछे मिथक और सच्‍चाई…)

सर्वाइकल कैप सेक्‍स में रूकावट नहीं बनता है – Cervical caps don’t interrupt sex in Hindi

कुछ लोगों के मन में यह संशय रहता है कि ग्रीवा टोपी सेक्‍स में परेशानी पैदा कर सकता है। लेकिन ऐसा नहीं है सर्वाइकल कैप सेक्‍स में रूकावट नहीं बनता है। सेक्‍स करने से पहले आप अपनी सर्वाइकल कैप का उपयोग करें। यह आपको गर्भावस्‍था से तो बचाता ही है लेकिन यह सेक्‍स में किसी प्रकार का व्‍यवधान नहीं बनता है। इसलिए यदि आप सही तरीके से ग्रीवा टोपी का उपयोग करते हैं तो आपको जन्‍म नियंत्रण के लिए परेशान होने की आवश्‍यकता नहीं है। अधिकांश लोग सेक्‍स के दौरान ग्रीवा टोपी का अनुभव नहीं करते हैं। साथ ही यह नरम होने के कारण कुछ हद तक योनि का ही अनुभव कराता है। इसलिए आप ग्रीवा कप का उपयोग करने के दौरान भी सेक्‍स का पूरा आनंद ले सकते हैं।

सर्वाइकल कैप हार्मोन मुक्‍त है – Cervical Caps Hormones Free hai in Hindi

बहुत सी महिलाओं को हार्मोन युक्‍त जन्‍म नियंत्रण का उपयोग करना पसंद नहीं होता है। सर्वाइकल कैप उपयोग करने के फायदे यह हैं कि सर्वाइकल कैप हार्मोन मुक्त है। इसलिए अधिकांश जन्‍म नियंत्रण की तरह इसके हार्मोनल दुष्‍प्रभाव नहीं होते हैं। इस तरह से महिलाओं के लिए जन्‍म नियंत्रण के रूप में उपयोग करने के लिए ग्रीवा टोपी एक अच्‍छा विकल्‍प है।

ग्रीवा टोपी लंबे समय तक उपयोग की जा सकती है – Cervical cap can be used for a long time in Hindi

ग्रीवा टोपी लंबे समय तक उपयोग की जा सकती है - Cervical cap can be used for a long time in Hindi

बहुत से लोगों में ग्रीवा टोपी के उपयोग को लेकर कई तरह से प्रश्‍न होते हैं। लेकिन उनके लिए ग्रीवा टोपी के फायदे लंबे समय तक उपयोग करने में मदद करते हैं। इसका मतलब यह है कि ग्रीवा टोपी एक रियूज उत्‍पाद है। कंडोम और स्‍पंज जैसे अन्‍य गर्भनिरोधक डिस्‍पोजेबल होते हैं। इनका एक बार उपयोग करने के बाद फेंक दिया जाता है। लेकिन यदि सही तरीके से उपयोग किया जाये तो ग्रीवा टोपी को 1 या 2 साल तक उपयोग किया जा सकता है। आपको केवल इसमें उपयोग करने वाले शुक्राणुनाश को बार-बार खरीदने की आवश्यकता है।

(और पढ़े – प्रेगनेंसी से बचने के घरेलू उपाय…)

सर्वाइकल कैप उपयोग करने के नुकसान – Cervical Caps Use karne ke Nuksan in Hindi

  1. हर सेक्‍स के दौरान ग्रीवा टोपी उपयोग करना – Use cervical cap during every sex in Hindi
  2. ग्रीवा टोपी का सही उपयोग करना मुश्किल है – Cervical Caps ka sahi Upyog karna muskil hai in Hindi
  3. शुक्राणुनाशक के दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं – Spermicide Ke Side effects Ho sakte Hai in Hindi

सामान्‍य रूप से देखा जाये गर्भावस्‍था को रोकने के लिए सर्वाइकल कैप के फायदे होते हैं। लेकिन कुछ परिस्थितियों में सर्वाइकल कैप का उपयोग करने के नुकसान भी होते हैं। सेक्‍स करते समय हर बार सही तरीके से इस्‍तेमाल करने पर सर्वाइकल कैप प्रभावी होता है। लेकिन इसे स‍ही तरीके से उपयोग न किया जाये तो यह गर्भावस्‍था की संभावनाओं को बढ़ा सकता है। इसके अलावा ग्रीवा टोपी में उपयोग किये जाने वाले कुछ शुक्राणुनाशक भी असुविधा का कारण बन सकते हैं। आइए जाने कि सर्वाइकल कैप उपयोग करने के नुकसान और क्‍या हैं।

हर सेक्‍स के दौरान ग्रीवा टोपी उपयोग करना – Use cervical cap during every sex in Hindi

हर सेक्‍स के दौरान ग्रीवा टोपी उपयोग करना - Use cervical cap during every sex in Hindi

बेशक ग्रीवा टोपी का उपयोग आपको गर्भावस्‍था से बचा सकता है। लेकिन गर्भावस्‍था से बचने के लिए महिलाओं को हर सेक्‍स के दौरान ग्रीवा टोपी का उपयोग करना जरूरी है। नहीं तो यह गर्भावस्‍था को रोकने में प्रभावी नहीं हो सकती है। इसके अलावा ग्रीवा टोपी उपयोग करने का एक नुकसान यह भी है कि बहुत सी महिलाओं को यह विश्‍वास नहीं होता है कि ग्रीवा टोपी का सही तरीके से उपयोग किया गया है या नहीं। अगर आपको भी ऐसी ही दुविधा है तो ग्रीवा टोपी के साथ ही अन्‍य जन्‍म नियंत्रण जैसे पुरुष या महिला कंडोम आदि का उपयोग कर सकते हैं। यह आपको गर्भावस्‍था के साथ ही यौन संक्रमण से भी बचा सकता है।

(और पढ़े – सुरक्षित सेक्स करने के तरीके…)

ग्रीवा टोपी का सही उपयोग करना मुश्किल है – Cervical Caps ka sahi Upyog karna muskil hai in Hindi

पूरी जानकारी या सही अभ्‍यास न होने के कारण महिलाओं को ग्रीवा टोपी का सही उपयोग करने में मुश्किल हो सकती है। इसके अलावा सेक्‍स के दौरान अधिक धक्‍के लगने के कारण ग्रीवा टोपी अपने स्‍थान से खिसक सकती है। साथ ही यदि शुक्राणुनाशक की सही मात्रा का उपयोग न किया जाये या शीर्ष में पर्याप्‍त शुक्राणुनाशक घटक न हों तब भी ग्रीवा टोपी की प्रभाविता कम हो सकती है। इसलिए ग्रीवा टोपी में पर्याप्‍त शुक्राणुनाशक का उपयोग कर सेक्‍स के कम से कम 6 घंटे पहले उपयोग करना चाहिए। यदि आप फिर से सेक्‍स करना चाहते हैं तो आपको फिर से शुक्राणुनाशक का उपयोग करना पड़ सकता है।

शुक्राणुनाशक के दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं – Spermicide Ke Side effects Ho sakte Hai in Hindi

शुक्राणुनाशक के दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं – Spermicide Ke Side effects Ho sakte Hai in Hindi

यदि आप दिन में कई बार शुक्राणुनाशक का उपयोग करते हैं तो य‍ह योनि की परेशानियों को बढ़ा सकता है। अधिक मात्रा में उपयोग करने पर यह योनि में जलन, यौन संक्रमण और यहां तक की एड्स की संभावनाओं को बढ़ा सकता है। शुक्राणुनाशक उपयोग करने के नुकसान यह भी हैं कि यह संक्रमण के लिए अनुकूल वातावरण बना सकता है।

यदि आपको ग्रीवा टोपी उपयोग करने के दौरान योनि में दर्द या जलन हो रही हो तो आपको शुक्राणुनाशक बदल कर देखना चाहिए। यदि इसके बाद भी आपको यह समस्‍या आये तो आपको अपने चिकित्‍सक या नर्स से बात करनी चाहिए।

(और पढ़े – योनी में खुजली, जलन और इन्फेक्शन के कारण और घरेलू इलाज…)

ग्रीवा टोपी का आकार – Cervical Caps ka Size in Hindi

सर्वाइकल कैप विभिन्‍न आकारों में उपलब्‍ध होते हैं। इसलिए यह हर महिला के लिए अलग अलग हो सकते हैं। इसके अलावा समय के साथ शारीरिक परिवर्तनों के कारण ग्रीवा टोपी की फिटिंग गड़बड हो सकती है। इसके अलावा यदि आपने हाल ही में गर्भापात कराया है या बच्‍चे को जन्‍म दिया है तब भी आपको पहले की अपेक्षा दूसरे साइज की ग्रीवा टोपी उपयोग करनी पड़ सकती है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration